कार्यक्रम में कल्बे कबीर जी काव्य पाठ एक स्प्रिचुअल प्लीजर दे गया

कृष्ण कल्पित उर्फ कल्बे कबीर का काव्य पाठ…

डॉ. अजित : कल भाई Yashwant Singh जी के कार्यक्रम में दिल्ली गया था। भड़ास4मीडिया डॉट कॉम का आठवां स्थापना दिवस था। एक बहुत बढ़िया कार्यक्रम उन्होंने आयोजित किया। गीत संगीत विचार विमर्श कविता सत्संग इन सब के अलग अलग सेशन थे। कल भाई डॉ. नवीन रमण से दूसरी मुलाकात भी हुई हमने अच्छा वक्त साथ बिताया और एक शाम सत्संग करने के वादे पर हम विदा हुए।

कार्यक्रम में कल्बे कबीर जी काव्य पाठ एक कमाल का अनुभव था उन्होंने अपनी बहुचर्चित काव्य कृति शराबी की सूक्तियां का काव्य पाठ किया। उनको सुनना एक स्प्रिचुअल प्लीजर दे गया। अच्छी बात यह भी रही कि उन्होंने मेरी शक्ल देखते ही पहचान लिया और कहा अरे ! डॉ अजित !! फेसबुक की यही खूबसूरती है। उन्होंने अपनी एक सूक्ति सुनाने से पहले मंच से मेरा नाम लिया ये उनका बड़प्पन है जो इस नाचीज़ को तवज्जों नसीब हुई। कुल मिलाकर एक यादगार दिन रहा। शाम इथोपियन सांस्कृतिक केंद्र में बिताई गई वहां एक अन्य मित्र राजन सोलंकी जी सानिध्य प्राप्त हुआ। यारबाशी अड्डेबाजी और आउटिंग को कल का दिन समर्पित रहा।  सन्डे का इससे बढ़िया सदुपयोग और क्या हो सकता था भला।

पत्रकार, शिक्षक और कवि डा. अजित की एफबी वॉल से.

दीप प्रज्जवलन कर कार्यक्रम का उद्घाटन करने के बाद प्रो. निशीथ राय ने दो शब्द कहे.

एडवोकेट परमानंद पांडेय ने कार्यक्रम में मीडियाकर्मियों के संघर्षों का जिक्र किया.

Vivek Dutt Mathuria : भड़ास अब आठ साल का एक समझदार बालक हो चुका है, जो किसी के बहकावे में आने वाला नहीं है। मीडिया हाउसों के शोषणकारी चरित्र को अनावृत करने के मिशन में ईमानदार पत्रकारों में संघर्ष के जज्बे को शक्ति और भरोसा देने का काम कर रहा है और काफिला बढ़ता जा रहा है। यशवंत भाई का एकला चलो का यह सफर अब एक इंकलाबी मिशन बन चुका है। बस हम सब की यह जिम्मेदारी बनती है कि पत्रकारों के संघर्ष का यह मिशन अपने व्यापक रूप में लोकतंत्र की रक्षा का ही मिशन बना रहे।

पत्रकार विवेक दत्त मथूरिया की एफबी वॉल से.

कार्यक्रम में ध्यानेंद्र मणि त्रिपाठी ने अपने गायन से सबका मन मोहा…

Dhyanendra Tripathi : Such a great & auspicious audience. I was truly humbled by the compliments I received post my performance. Our great Guitarist Ripple Barua sizzles in the event whereas our Key board band leader Dipak Singh Dipu dazzled in the event. Viththal Bhai rocked on Naal and Parwez bhai popped up with stunning drum beats.

A 90 minutes without pause solo singing was a bouquet of Sufi, Bhojpuri Folk, Bollywood Oldies, Bollywood Modern & Contemporary songs by me. Thanks dear Bhargava Musicwala for arranging & managing sound for us during the event. Thanks Yashwant Singh brother for your kindness and trust in us. We’ll rock again..

एक मल्टीनेशनल कंपनी में बड़े पद पर आसीन ध्यानेंद्र मणि त्रिपाठी की एफबी वॉल से. ध्यानेंद्र ने भड़ास के कार्यक्रम में म्यूजिक बैंड को लीड किया और अपने गानों से सबका दिल जीत लिया.

इसे भी पढ़ें….

कृपया हमें अनुसरण करें और हमें पसंद करें:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *