लखनऊ के इस पत्रकार पर सांसद ने लगाया फर्जी दस्तावेज से मान्यता लेने का आरोप, जांच के आदेश

संजय पुरबिया-

लखनऊ। लोकसभा सांसद बृजभूषण शरण सिंह ने यूपी के मुख्य सचिव को एक पत्र लिखकर लखनऊ के पत्रकार मो. कामरान के बारे में बताया है कि इस व्यक्ति पर कई गंभीर मुकदमे कई थानों में दर्ज है फिर भी यूपी सरकार ने उसे स्वतंत्र पत्रकार की मान्यता दे दी है।

आरोपी कामरान

आरोप लगाया है कि फर्जी सूचनाओं एवं शपथ पत्र लगाकर मो. कामरान वर्ष 2012 में राज्य मुख्यालय का मान्यता प्राप्त पत्रकार बना। उसके बाद 2019 में स्वतंत्र पत्रकार बन गया।

पता चला है कि मुख्यमंत्री के सूचना सलाहकार, प्रमुख सचिव सूचना संजय प्रसाद ने इन आरोपों की जांच सूचना निदेशक शिशिर सिंह को सौंप दी है।

सांसद बृजभूषण शरण सिंह ने 25 सितंबर 2022 को मुख्य सचिव को जो गोपनीय पत्र लिखा है, उसकी एक प्रति भड़ास के पास भी है। पढ़िए पूरा पत्र-


इस मामले में भड़ास द्वारा सम्पर्क किए जाने पर पत्रकार मोहम्मद कामरान ने सभी आरोपों से इनकार किया। उन्होंने सांसद के पत्र को ही फ़र्ज़ी करार दिया। उधर संजय पुरबिया ने सांसद के पत्र को असली बताते हुए फ़ॉलोअप पत्र को भी जारी किया जिसे नीचे दिया जा रहा है।



भड़ास का ऐसे करें भला- Donate

भड़ास वाट्सएप नंबर- 7678515849



Comments on “लखनऊ के इस पत्रकार पर सांसद ने लगाया फर्जी दस्तावेज से मान्यता लेने का आरोप, जांच के आदेश

  • Izhaar Ahmed Ansari says:

    उत्तर प्रदेश राज्य मुख्यालय पर मान्यता प्राप्त स्वतंत्र एवं वरिष्ठ पत्रकारों की पूरी सूची के सभी पत्रकारों को नोटिस भेजकर निदेशक सूचना ने मान्यता से संबंधित दस्तावेज और शपथ पत्र देने का निर्देश दिया था ताकि इन शिकायतों का निवारण किया जा सके अखबारों और सोशल मीडिया पर भी यह चर्चा में था की आप फर्जी पत्रकारों को निकल बाहर किया जाएगा लेकिन जैसे परंपरा है उसे आदेश को लोग भूल गए और अब नए सिरे से नए आदेश और निर्देश दिए जा रहे हैं यह कोई आज का खेल नहीं पिछले 25-30 सालों से खुला खेल फर्रुखाबादी खुलेआम खेला जा रहा है जांच तो उसकी होती है जिसमें कुछ ढाका छुपाओ। आई एफ व के के के अध्यक्ष श्री के विक्रम राव ने कुछ दिन पहले एक खुला पत्र लिखकर जिसे की उन्होंने सार्वजनिक रूप से सभी पक्षओं को पोस्ट द्वारा भेजा था और शासन के साथ ही साथ ही कंप्लीट को भी भेजा था लेकिन जो पक्ष स्वयं दोषी हूं उनसे किसी निष्पक्ष करवाई की आशा करना बेकार है।

    Reply
    • Rishi Sharma UPCM NEWS says:

      जो फर्जी है उन्ही का जलवा है। मलाई तो वही काट रहे हैं बाकी को तो भाव नहीं देते भ्रष्ट महोदय।

      Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *