इतने बड़े मीडिया संस्थान की कंजूसी देखिए, युवाओं से अपना लैपटाप लाने को कह रहा!

लाइव हिंदुस्तान ने पत्रकार बनने के इच्छुक युवाओं से लैपटॉप/डेस्कटॉप लाने को कहा…. सोशल और डिजिटल मीडिया की बढ़ती लोकप्रियता के बीच इस क्षेत्र में रोजगार के अवसर भी बढ़े हैं। हिन्दुस्तान अखबार ने डिजिटल पत्रकारों की भर्ती के लिए पत्रकारिता में स्नातक/डिप्लोमा/परास्नातक किए हुए युवाओं से आवेदन मांगे हैं।

भड़ास मीडिया में छपे इसके विज्ञापन में भावी पत्रकारों से लैपटॉप/डेस्कटॉप और इंटरनेट सुविधा की खुद व्यवस्था करने को कहा गया है। इस काम के लिए कोई सैलरी या वेतनमान की घोषणा नहीं की गई है। गरीब औऱ अनुसुचित जनजाति के अभ्यर्थियों के साथ यह अन्याय ही है, जो पत्रकारिता की चोटी पर पहुंचना तो चाहते हैं लेकिन उनके पास इतने पैसे नहीं है, जो खुद का लैपटैप/डेस्कटॉप खरीद सकें।

यह विडंबना ही है कि देश के सबसे पुराने और बड़े मीडिया समूह की ऐसी दयनीय स्थिति हो गई है, जो अपने पत्रकारों और कर्मियों को लैपटॉप भी नहीं दे सकता। एचटी मीडिया प्रबंधन कंजूसी पर उतारू है। वे अपने पत्रकारों को लैपटॉप तो दे ही ही सकते हैं। पत्रकारिता के व्यवसायीकरण में एचटी मीडिया प्रबंधन का इतने निचले स्तर तक गिर जाना चिंताजनक है। उम्मीद है कि हिंदुस्तान के प्रधान संपादक शशि शेखर इस तरफ ध्यान देंगे।

एक पत्रकार द्वारा भेजे गए पत्र पर आधारित.

मूल खबर-

लाइव हिंदुस्तान को डिजिटल पत्रकारों की जरूरत

  • भड़ास की पत्रकारिता को जिंदा रखने के लिए आपसे सहयोग अपेक्षित है- SUPPORT

 

 

  • भड़ास तक खबरें-सूचनाएं इस मेल के जरिए पहुंचाएं- bhadas4media@gmail.com

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *