ब्रेन हैमरेज से ये तीन बातें जान बचा सकती हैं!

ब्रेन-हेमरेज… ब्रेन-स्ट्रोक… मस्तिष्क आघात… दिमाग़ की नस का फटना… ये सब एक ही चीजें हैं. पर सवाल है कि ब्रेन हैमरेज के मरीज़ को कैसे पहचानें?

न्यूरोलॉजिस्ट कहते हैं- अगर कोई व्यक्ति ब्रेन में स्ट्रोक लगने के तीन घंटे के अंदर अगर उनके पास पहुँच जाए तो स्ट्रोक के प्रभाव को पूरी तरह से समाप्त किया जा सकता है.

स्ट्रोक के लक्षणों की तुरंत पहचान जरूरी है. पहचान होते ही मरीज़ को जल्द से जल्द यानि तीन घंटे के अंदर डाक्टरी चिकित्सा मुहैया करा दें तो ब्रेन हैमरेज से होने वाली मौत रोक सकते हैं.

मस्तिष्क के चिकित्सा विशेषज्ञों के अनुसार स्ट्रोक के मरीज़ की पहचान के लिए तीन अतिमहत्वपूर्ण बातें जिन्हें वे STR कहते हैं, सदैव ध्यान में रखें. अगर STR नामक ये तीन बातें हमें मालूम हों तो मरीज़ के बहुमूल्य जीवन को बचाया जा सकता है. ये 3 बातें इस प्रकार हैं-

1) S = Smile अर्थात उस व्यक्ति को मुस्कुराने के लिये कहिए।

2) T = Talk यानि उस व्यक्ति को कोई भी सीधा सा एक वाक्य बोलने के लिये कहें, जैसे- ‘आज मौसम बहुत अच्छा है’ आदि।

3) R = Raise अर्थात उस व्यक्ति को उसके दोनों बाजू ऊपर उठाने के लिए कहें।

अगर उस व्यक्ति को उपरोक्त तीन कामों में से एक भी काम करने में दिक्कत है, तो तुरंत ऐम्बुलैंस बुलाकर उसे न्यूरो-चिकित्सक के अस्पताल में शिफ्ट करें. जो आदमी साथ जा रहा है उसे इन लक्षणों के बारे में बता दें ताकि वह पहले से ही डाक्टर को इस बाबत खुलासा कर सके.

इनके अलावा स्ट्रोक का एक लक्षण यह भी है… उस आदमी को अपनी जीभ बाहर निकालने को कहें. अगर उसकी जीभ सीधी बाहर नहीं आकर, एक तरफ़ मुड़ सी रही है, तो यह भी ब्रेन-स्ट्रोक का एक प्रमुख लक्षण है.

कृपया हमें अनुसरण करें और हमें पसंद करें:

Comments on “ब्रेन हैमरेज से ये तीन बातें जान बचा सकती हैं!

  • ब्रेन हेमरेज क्यों होता है। इस बीमारी से बचने के क्या क्या उपाय है

    Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *