सतर्क रहेंगे तो बात सर्जरी तक नहीं पहुंचेगी

उमेश कुमार सिंह वह जमाना बहुत पीछे छूट चुका है जब गर्दन दर्द, पीठ दर्द, कमर दर्द हो या स्लिप्ड डिस्क जैसी समस्याओं को वृद्धावस्था का लक्षण माना जाता था और जवानी का मतलब था बेपरवाही से उछलते-कूदते जीवन कट जाना। अब 25-30 की उम्र वाले लोग भी कमर पकड़े नजर आ जाते हैं या …

अतिरिक्त फैट की खपत के लिए हर दिन कम से कम 45 मिनट एक्सरसाइज करना जरूरी!

हार्ट अटैक मुख्य रूप से धमनियों में वसा के जमने के कारण होता है, जो न सिर्फ खून के प्रवाह को रोकता है, बल्कि मांसपेशियों को भी कमजोर कर देता है। कोलेस्ट्रॉल और ट्राइग्लिसराइड्स का स्तर दो महत्वपूर्ण कारक हैं, जो धमनियों को ब्लॉक करके खून के प्रवाह में रुकावट का काम करते हैं। इससे …

वर्क फ्रॉम होम के दौरान बढ़ सकती हैं रीढ़ की समस्याएं, बॉडी स्ट्रेच जरूरी

कोविड-19 की विश्वव्यापी महामारी और देशभर में लॉकडाउन के कारण अधिकांश कामकाजी लोगों को घर से ही काम करने की सलाह दी गई है। हालांकि, इस स्थिति में सोशल डिस्टेंसिंग बहुत जरूरी है, लेकिन लोगों को वर्क फ्रॉम होम के दौरान रीढ़ की समस्याओं को लेकर भी सावधान रहने की आवश्यकता है। Share on:

कुछ औरतें शादी के बाद मां क्यों नहीं बन पातीं?

किसी महिला के लिए सृष्टि की सबसे बड़ी नियामत है, उसका मां बनना। अगर किसी भी कारणवश ऐसा नहीं होता है तो उसे बांझ की संज्ञा दे दी जाती है। ऐसे ही महिलाओं की समस्याओं ने आईवीएफ की तकनीक का विकास कराया। आज देश में कृत्रिम विधि से संतान प्राप्ति की कई तकनीकें हैं। Share …

जंक फूड छोड़ें, नमक कम, पैदल चलें… हार्ट अटैक गायब

शहर की जिंदगी में हार्ट अटैक मौत का पैगाम होता है. पर इससे बचने के कुछ मंत्र हैं. पहला तो है ब्लड प्रेशर कम रखें. हाई बीपी से हार्ट अटैक का खतरा ज्यादा होता है. यदि बीपी 120-80 से ज्यादा है तो ये दिल के लिए खतरे की घंटी है. Share on:

कोरोना वायरस : सांप, कुत्ता, चमगादड़ आप खाएंगे तो इनके साइड इफेक्ट कौन झेलेगा?

Sushobhit : जो कोरोना वायरस एक नई महामारी के रूप में उभरकर सामने आया है और जिसने चीन में आपातकालीन स्थितियां निर्मित कर दी हैं, उसका एपिसेंटर वुहान प्रांत का हुआनान सीफ़ूड होलसेल मार्केट बताया गया है। किंतु मैं तो जहां भी नज़र घुमाता हूं, मुझको हुआनान सीफ़ूड होलसेल मार्केट दिखलाई देते हैं। Share on:

कोरोना वायरस की कुंडली जानिए, होम्योपैथी में है इसका इलाज!

मूलतः यह सूअरों में स्वशन तंत्र को आक्रांत कर निमोनिया फैलाने वाला महामारी है। शरद ऋतु में होने वाला यह रोग अत्यंत संक्रामक है। सूअर पालकों और उनका मांस खाने वालों को भी यह वायरस आक्रांत कर सकता है। जहां से यह संपर्क में आने वाली अन्य मनुष्यों तक पहुंच जाता है। एपिडेमिक के रूप …

कोलेस्टेरॉल से डरिए नहीं, इसे समझिए!

विज्ञान जनता की अच्छी-बुरी, दोनों प्रकार की धारणाएँ गढ़ता है। यदि धारणा बुरी हुई तो वह लोगों के अवचेतन में शब्दों की विभीषक छवि उकेर देती है। ऐसी ही एक बुरी वैज्ञानिक धारणा से बुराई झेलता शब्द है कोलेस्टेरॉल। अधिसंख्य जनता अभी भी यह मानकर चलती है कि कोलेस्टेरॉल अर्थात् स्वास्थ्यनाशक ‘कोई’ रसायन या पदार्थ। …

दूसरों को सेहत की सलाह देने वाले डाक्टर खुद नींद के लिए परेशान हैं!

अनिद्रा ने छीना चैन… आज का ज़माना भाग-दौड़ का ज़माना है। व्यस्तता ज़्यादा है, समय कम है। इससे जीवन में आपाधापी है, न खाने का समय है, न सोने का। एक-दूसरे की नकल में, दिखावा करने में, शान जताने में जीवन घुल रहा है। एक तरफ महंगाई का तांडव है दूसरी तरफ मांगों का सिलसिला। …

एम्स ऋषिकेश में 31 वर्षीया महिला की बड़ी आंत के कैंसर की सफलतापूर्वक रोबोटिक सर्जरी

ऋषिकेश : अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान एम्स में कैंसर सर्जरी विभाग ने एक 31 वर्षीया महिला की बड़ी आंत के कैंसर की सफलतापूर्वक रोबोटिक सर्जरी की है। जटिल ऑपरेशन के बाद महिला की स्थिति में काफी हद तक सुधार है, रोगी को अस्पताल से छुट्टी दे दी गई है। Share on:

ब्रेन हैमरेज से ये तीन बातें जान बचा सकती हैं!

ब्रेन-हेमरेज… ब्रेन-स्ट्रोक… मस्तिष्क आघात… दिमाग़ की नस का फटना… ये सब एक ही चीजें हैं. पर सवाल है कि ब्रेन हैमरेज के मरीज़ को कैसे पहचानें? Share on:

हर आठ में से एक महिला में स्तन कैंसर की आशंका!

महिलाओं को स्तन संबंधी समस्या को नजरअंदाज नहीं करना चाहिए… यह लक्षण हैं तो हो सकता है ब्रेस्ट कैंसर… छाती में एक ही जगह कई दिनों तक चुभन व दर्द रहना, छाती के ऊपर लाली आना, ब्रेस्ट में लाल, काले व सफेद चकत्ते पड़ना, ब्रेस्ट के निपल से खून अथवा पानी निकलना, निपल का भीतर …

बाजार का आंवला एवं त्रिफला असर क्यों नहीं करता?

आयुर्वेद की अधिकतर दवाइयों में आंवले के पाउडर का मिश्रण होता है। त्रिफला में तीन औषधीय फल हर्र, बहेड़ा और आंवला, बीमारी के अनुसार निर्धारित अनुपात में मिलाये जाते हैं। मुझे अनेक पेशेंट शिकायत करते हैं कि उनको त्रिफला या आंवले का उपयोग करने के बाद भी कोई फायदा नहीं हुआ या उतना फायदा नहीं …

चबाने वाला तंबाकू 90 प्रतिशत मुंह के कैंसर का प्रमुख कारण!

नई दिल्ली। देश दुनिया में दिन प्रतिदिन बढ़ रही तंबाकू उत्पादों की लत से कैंसर का प्रकोप महामारी का रुप लेता जा रहा है। इसमें खासतौर पर चबाने वाले तंबाकू उत्पादों का उपयेाग प्रमुख है, जिसके कारण 90 प्रतिशत मुंह का कैंसर होता है। इसमें युवा अवस्था में होने वाली मौतों का मुख्य कारण भी …

अत्यधिक प्लास्टिक के इस्तेमाल से कैंसर समेत कई बड़ी बीमारियां तेजी से फैले रहीं!

प्रदूषण को रोकना सरकार की प्राथमिकता में होना चाहिए… वर्तमान समय मे प्लास्टिक हमारे जीवन का सबसे जहरीला प्रदूषण है और फिर भी वो हमारे जीवन का अहम हिस्सा बना हुआ है। यह एक नॉन बायोडिग्रेडेबल पदार्थ है, जो जहरीले रसायनों से बना होता है और हमारी धरती, जल, वायु सबको प्रदूषित करता है। अभी …

फल, भोजन, गंदगी, भीड़, प्रदूषण, सुअर और चमगादड़ से कोमा में डालने वाला निपाह वायरस फैल रहा! देखें एडवाइजरी

बिहार में निपाह वायरस का प्रकोप फैल रहा है. देश के कई हिस्से में इसके मरीज मिल रहे हैं. यह वायरस फल, भोजन, गंदगी, भीड़, प्रदूषण, सुअर और चमगादड़ के चलते फैलता है. इस वायरस से संक्रमित होकर मरीज कोमा तक में चला जाता है. Share on:

धूम्रपान करने वाले युवा व्यवसायी को आफिस जाते ब्रेन अटैक, मिनिमली इनवेसिव ब्रेन सर्जरी से मिला जीवनदान

लखनऊ : 43 वर्षीय श्री मनीष सिंघानिया ब्रेन अटैक के बाद आंशिक रूप से लकवाग्रस्त हो गए थे। एक सुपर स्पेशियलिटी हास्पिटल ने उनका सफलता पूर्वक इलाज कर उन्हें नया जीवन दिया है। उनके मस्तिष्क में एक गंभीर क्लाट को हटाने के लिए उनकी मिनिमली इनवेसिव ब्रेन सर्जरी की गई जो लगभग एक घंटे तक …

दवाओं के ओवरडोज का मायाजाल

जब हम बीमार होते हैं, तो डॉक्टर के पास जाते हैं. डॉक्टर हमारे रोग के अनुसार हमारा उपचार करते हैं, वह हमें ठीक करने के लिए दवाईयां देते हैं. अगर दवाईयों से रोगी ठीक नहीं हो तो डॉक्टर सर्जरी आदि कराने का सुझाव देते हैं. लेकिन ये सब इतना आसान भी नहीं है. डायग्नोसिस, दवाईयों …

स्वैप लीवर ट्रांसप्लांट से एक दूसरे के पतियों को बचा ली जिदंगी!

एक सिख परिवार और दूसरा हिंदू परिवार, दोनों महिलाओं ने एक-दूसरे के पति को दान किया लीवर… कहते हैं धरती पर मरीजों के लिए डॉक्टर भगवान का रूप होते हैं, लेकिन लीवर कैंसर से जूझ रहे दो मरीजों के लिए उनकी पत्नियां ही भगवान बनकर सामने आईं और उनकी जान बचा ली। पतियों की जान …

आज ‘वर्ल्ड लीवर डे’ है : निपटने से बचना है तो भोजन में अदरक और लहसुन का इस्तेमाल बढ़ा दें!

World Liver Day 19 April : हर साल वल्ड लीवर डे पर लीवर से जुड़ी बीमारियों के बारे में जागरुक किया जाता है। लीवर मानव शरीर का दूसरा सबसे बड़ा अंग होता है। लीवर शरीर से हानिकारक और विषाक्त तत्वों को बाहर निकालने में मदद करता है। यह विटामिन, वसा जैसे अन्य पोषक तत्वों को …

Health News अगर कुत्ता काट दे तो घाव वाली जगह को बांधें या स्टिच न करें

Avyact Agrawal : जब भी कुत्ता काटे पहला कदम काटी हुई जगह को पानी एवं साबुन से लगातार 10 मिनट तक बहते पानी (नल के नीचे) रख धोना चाहिए फिऱ चिकित्सक को मिलना चाहिए। कभी भी घाव को बांधना या स्टिच नहीं करना चाहिए। बशर्ते एक्टिव ब्लीडिंग न हो। बांधने से वायरस भीतर रक्त वाहिनी …

क्या कीमोथेरेपी जान ले लेती है?

Avyact Agrawal : क्या कीमोथेरेपी जान ले लेती है? कैंसर होने पर कीमोथेरेपी नहीं करवाना चाहिए? मैं आई सी यू में झटके आने पर एक इन्सेफेलाइटिस के बच्चे को ऑक्सीजन लगा रहा था। तभी मां चिल्लाने लगी “सर ऑक्सीजन मत लगाना. मेरे पड़ोसी के बच्चे को ऑक्सीजन लगी थी और वो मर गया था। यहां …

Just Dial वाले डाक्टरों से पैसे लेकर उन्हें टॉप पर डिस्प्ले करते हैं!

Avyact Agrawal : एक काम का सच… अमिताभ बच्चन जस्ट डायल के एड में कहते दिखते हैं न कि, बेस्ट डॉक्टर आप जस्ट डायल के एक क्लिक से ढूंढ सकते हैं। शहरों में अब बहुत लोग डॉक्टर्स की रेटिंग एवं जानकारियां इन एप्प्स से लेने लगे हैं। लेकिन सच यह है कि यह एक झूठ …

अगर डिप्रेशन में हैं तो दारू न पिएं!

Avyact Agrawal : अवसाद Depression. विश्व स्वास्थ्य संगठन के अनुसार अवसाद मनुष्यों में विभिन्न बीमारियों में से सर्वाधिक होने वाली बीमारी है। लगभग 350 मिलियन लोगों को इस समय अवसाद है। जीवन काल में 70 प्रतिशत लोग कभी न कभी अवसाद ग्रस्त हो सकते हैं। एवं एक वक्त में लगभग 10 प्रतिशत लोग अवसाद ग्रस्त …

सर्दियों में जब सताए जोड़ों का दर्द तो क्या करें

डा. संजय अग्रवालऑर्थोपेडिक सर्जन पी डी हिंदुजा अस्पताल, मुंबई जोड़ों का दर्द एक ऐसी बेचौनी होती है जो किसी भी जोड़ में हो सकती है, जोड़ ऐसा बिंदु जहां दो या अधिक हड्डियां मिलती हैं. जोड़ों के दर्द को कभी-कभी अर्थराइटिस या अर्थरैलजिया कहते हैं. जोड़ों का दर्द सामान्य से गंभीर होता है. ये तब-तब …

भारत में सात करोड़ लोग रोज बीड़ी पीते हैं!

प्रधानमंत्रियों से भी बड़ा काम…. हमारे स्वास्थ्य मंत्रालय और विश्व-स्वास्थ्य संगठन के एक ताजा सर्वेक्षण ने मुझे चौंका दिया। उससे पता चला कि हमारे देश में सात करोड़ से भी ज्यादा लोग रोज बीड़ी पीते हैं। बीड़ी फूंककर वे खुद को फेफड़ों, दिल और केंसर का मरीज तो बनाते ही हैं, हवा में भी जहर …

वरिष्ठ पत्रकार शेष नारायण सिंह लीवर की बीमारी से बाल-बाल बचे तो अब दूसरों को कर रहे जागरूक

हेपेटाइटिस यानि लीवर की एक खतरनाक बीमारी…. जानकारी से ही बचाव संभव है! शेष नारायण सिंह मैं कई बड़े पत्रकारों और शिक्षाविदों को जानता हूँ जिनको या तो स्वयं को या किसी रिश्तेदार को लीवर से सम्बंधित बीमारियों से परेशानी हुई और सही वक़्त पर जानकारी मिलने से जीवन बचाया जा सका लेकिन अपने समुदाय …

ये अस्पताल धरती के नरक हैं और इनके ये डाक्टर तो साक्षात यमराज!

भड़ास के पास एक चिट्ठी आई है, मेल से. किसी ने bhumikaoffsetkhoor@gmail.com मेल आईडी से भेजा है. चिट्ठी में जो कहानी वर्णित है, उसे पढ़ सुन कर रोंगटे खड़े हो जाते हैं. Share on:

बाजार का सोयाचाप या मैदे से बना कोई पकवान खाने से पहले ये वीडियो जरूर देखें

Yashwant Singh : ये वीडियो एक मेडिकल स्टोर वाले ने बनाया है। रेस्टोरेंट में काम करने वाला एक बालक बिटेक्स मलहम लेने गया था। उसका हाथ सड़ रहा था।  Share on:

Health News : जानिए ‘शोग्रेन सिण्ड्रोम’ के बारे में

Skand Shukla : अशोक जोड़ों का दर्द लेकर डॉक्टर के पास पहुँचे थे, लेकिन उन्हें तब ताज्जुब हुआ जब उनसे आँखों और मुँह के कुछ विशिष्ट लक्षणों के बाबत पूछताछ की गयी। डॉक्टर जानना चाहते थे कि क्या उन्हें आँखों में कुछ गड़न सी महसूस होती है। ऐसा लगता है कि कुछ रेत या मिट्टी …