एनडीटीवी कांग्रेस परस्त चैनल है, फिर हुआ साबित, देखें ये सुबूत

इस समय देश के 99 फीसदी न्यूज चैनल गोदी चैनल में तब्दील हो चुके हैं. यानि सत्ता के चारण भांट. यानि मोदी सरकार की प्रोपेगंडा मशीनरी. जी न्यूज, रिपब्लिक न्यूज, इंडिया टीवी आदि इत्यादि दर्जनों चैनल.

जो कुछ एक दो चैनल इसमें शामिल नहीं हैं, जैसे एनडीटीवी, वे खुद को निष्पक्ष नहीं कह सकते. एनडीटीवी पर हमेशा से कांग्रेस परस्त होने का आरोप लगता रहा है. यहां कार्य कर चुके कुछ पत्रकारों ने समय समय पर खुलासा भी किया है कि कैसे कांग्रेस राज में एनडीटीवी पर खबरें मैनेज होती थीं, खबरें गिराई जाती थीं…. यही खेल आजकल भी हो रहा है. टेक्नालजी की मदद से ये खेल पकड़ में आ जाता है.

एनडीटीवी ने दो दिन पहले राहुल गांधी के बयान पर कपिल सिब्बल की नकारात्मक टिप्पणी वाली खबर पब्लिश की थी. गूगल न्यूज ने एनडीटीवी की इस खबर को क्रॉल कर अपने यहां अन्य समाचारों के साथ दिखाया था. लेकिन अब जब आप इस समाचार के लिंक पर क्लिक करेंगे तो खबर गायब मिलेगी. राहुल गांधी की कांग्रेसी नेता कपिल सिब्बल द्वारा आलोचना की खबर से कांग्रेस को नुकसान हो सकता था, शायद इसी कारण कांग्रेसियों के दबाव में एनडीटीवी ने इस खबर को हटा दिया होगा.

NDTV managing news for congress…

This news was published on NDTV and crawled by google news 2 days ago, where kapil sibal is criticising Rahul Gandhi.

URL is

https://www.ndtv.com/india-news/kerala-assembly-election-rahul-gandhi-respect-wisdom-of-electors-kapil-sibal-on-rahul-gandhis-kerala-remark-2377866

But today when you visit this URL, it shows page not found error.

इन्हें भी पढ़ें-

‘एनडीटीवी का पतन क्यों हुआ?’ इस पर मैं एक उपन्यास लिख सकता हूं

पत्रकार से पॉवर ब्रोकर बने डॉ प्रणय रॉय का पाखंड और एनडीटीवी का पतन – भाग (1)

पत्रकार से पॉवर ब्रोकर बने डॉ प्रणय रॉय का पाखंड और एनडीटीवी का पतन – भाग (2)

पत्रकार से पॉवर ब्रोकर बने डॉ प्रणय रॉय का पाखंड और एनडीटीवी का पतन – भाग (3)

पत्रकार से पॉवर ब्रोकर बने डॉ प्रणय रॉय का पाखंड और एनडीटीवी का पतन – भाग (4)

पत्रकार से पॉवर ब्रोकर बने डॉ प्रणय रॉय का पाखंड और एनडीटीवी का पतन – भाग (5)

टीवी पत्रकार नवीन कुमार का आरोप- एनडीटीवी समेत ये चार बड़े न्यूज चैनल डरते हैं अंबानी और अडानी से!

एनडीटीवी की इस खबर को स्वास्थ्य मंत्रालय ने FAKE कह दिया

रवीश को एनडीटीवी वालों का बंगला क्यों नहीं दिख रहा है?

रिपब्लिक भारत ने ‘मन की बात’ नहीं दिखाया, एनडीटीवी पर लाइव चला!

पतंजलि ने खरीद रखा है न्यूज़ चैनलों को, रामदेव की कोरोना की अवैध दवा पर एनडीटीवी भी चुप!

भड़ास की खबरें व्हाट्सअप पर पाएंhttps://chat.whatsapp.com/BPpU9Pzs0K4EBxhfdIOldr
  • भड़ास तक कोई भी खबर पहुंचाने के लिए इस मेल का इस्तेमाल करें- bhadas4media@gmail.com

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *