शराब को हाथ तक न लगाया लेकिन लीवर फेल हो गया!

Ashwini Kumar Srivastava

मेरे बचपन का अभिन्न मित्र और लखनऊ के महानगर ब्वॉयज इंटर कॉलेज (अब Montfort) में सहपाठी रह चुके ध्रुव प्रकाश श्रीवास्तव, जिसे हम सब मित्र मंडली में डीपी या बॉबी के नाम से भी पुकारते हैं, इन दिनों हस्पताल में भर्ती है। डीपी ने अपनी जिंदगी में कभी शराब को हाथ तक नहीं लगाया लेकिन अचानक क्रोनिक लिवर फेल्योर जैसी असाध्य बीमारी के गिरफ्त में आ गया।

अस्पताल से छुट्टी मिलने के बाद दवाओं और परहेज से किसी तरह खुद को बचाए रखने की कोशिश के साथ डीपी को पूरी तरह से स्वस्थ होने के लिए डॉक्टर ने लिवर ट्रांसप्लांट ही एकमात्र उपाय बताया है। माता- पिता के कुछ बरस पूर्व ही गुजर जाने के बाद दुर्भाग्य से डीपी की पत्नी और बेटे ने भी छह बरस पहले उसका साथ छोड़ दिया था। बिना किसी की मदद के अकेले ही ऐसी जानलेवा बीमारी का इलाज अस्पताल में भर्ती होकर कराते – कराते डीपी अब आर्थिक रूप से भी विपन्न होकर असहाय हो चुका है।

ऐसे कठिन समय में उसे अपने बचपन के मित्र याद आए और उसने हम सभी से मदद की गुहार लगाई। हम सभी मित्रगण अपने अपने स्तर से उसकी मदद करने की कोशिश कर रहे हैं लेकिन लिवर ट्रांसप्लांट या दवाओं से लिवर को किसी तरह जीवित रखने की कोशिश में लाखों रुपए का खर्च आना है। लिहाजा हम डीपी का अकाउंट नंबर और डिटेल शेयर कर रहे हैं ताकि जिससे जो भी बन पड़े या जितने भी पैसे से उसकी मदद करने की इच्छा हो , वह सीधे उसके ही अकाउंट में डाल सके।

सौ- पचास रुपए हों या हजार- दस हजार रुपए, हर आर्थिक मदद डीपी की जिंदगी में बूंद-बूंद के रूप में इकठ्ठा होकर उसे जीवनदान देने वाला सागर बनने की क्षमता रखती है।

9839212177 इस मोबाइल नंबर पर आप गूगल पे से सीधे ध्रुव प्रकाश यानी कि डीपी को आर्थिक मदद भेज सकते हैं।

इसके अलावा डीपी के अकाउंट की डिटेल भी निम्नलिखित है-
Name – Dhruv prakash
Saving Account number 10122498208
IFSC code- SBIN0003223
State Bank of India, Nishat Ganj branch , Lucknow

पत्रकार और उद्यमी अश्विनी कुमार श्रीवास्तव की एफबी वॉल से.

इस प्रकरण से संबंधित कुछ अन्य पोस्ट्स-प्रतिक्रियाएं देखें-

  • भड़ास की पत्रकारिता को जिंदा रखने के लिए आपसे सहयोग अपेक्षित है- SUPPORT

 

 

  • भड़ास तक खबरें-सूचनाएं इस मेल के जरिए पहुंचाएं- bhadas4media@gmail.com

One comment on “शराब को हाथ तक न लगाया लेकिन लीवर फेल हो गया!”

  • विजय सिंह says:

    ध्रुव प्रकाश श्रीवास्तव जल्दी पूर्ण स्वस्थ होकर अपनी सामान्य दिनचर्या में लौटें ,यही कामना करते हैं।

    Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *