राजस्थान पत्रिका के खिलाफ अखबार एजेंट हड़ताल पर बैठे तो दैनिक भास्कर ने दे छाप दी बड़ी सी खबर

राजस्थान का कोटा जिला इन दिनों अखबारबाजी के लिए अखाड़ा बना हुआ है. एजेंट दो गुट में बंट गए हैं. एक गुट भास्कर के खिलाफ आंदोलन करता है तो दूसरा गुट राजस्थान पत्रिका के खिलाफ.

इसे यूं भी कह सकते हैं कि दैनिक भास्कर और राजस्थान पत्रिका ने अखबारी एजेंटों के अपने अपने गुट बना रखे हैं. तो, एक गुट ने जब राजस्थान पत्रिका अखबार के प्रबंधन पर ढेरों आरोप लगाकर धरना शुरू किया तो दैनिक भास्कर ने बिना राजस्थान पत्रिका का नाम लिए, एजेंटों के आंदोलन की लंबी चौड़ी खबर छाप दी…

देखें अखबार की कटिंग…

Tweet 20
fb-share-icon20

भड़ास व्हाटसअप ग्रुप ज्वाइन करें-

https://chat.whatsapp.com/B5vhQh8a6K4Gm5ORnRjk3M

भड़ास तक खबरें-सूचना इस मेल के जरिए पहुंचाएं- bhadas4media@gmail.com

One comment on “राजस्थान पत्रिका के खिलाफ अखबार एजेंट हड़ताल पर बैठे तो दैनिक भास्कर ने दे छाप दी बड़ी सी खबर”

  • Newspapers main source of income is advertising the businesses and paid news. Some of them are having support and help from politicians and some newspapers are totally non political. Print media houses have millions of rupees assets and other lucrative businesses. These are two different groups of powerful vested interests. I have my personal opinion about H’ble Kothariji of Patrika. He is fairly independent personality.

    Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *