‘रमेश पासवान स्मृति सम्मान 2022’ भास्कर के पत्रकार सुखसागर मन्नेवार को दिया गया

कोरबा। छत्तीसगढ़ के हिंदी दैनिक लोक सदन जो महात्मा गांधी के सिद्धांतों का संवाहक दैनिक अखबार है, द्वारा घोषणा के अनुसार स्व. रमेश पासवान स्मृति सम्मान प्रथम 2022 प्रदान कर दिया गया। 18 मई को अपने 13 वें स्थापना दिवस पर आयोजित एक गरिमामय कार्यक्रम में स्वर्गीय पत्रकार रमेश पासवान की स्मृति में नकद राशि, शाल श्रीफल के साथ यह सम्मान औद्योगिक नगर कोरबा के भास्कर ब्यूरो कार्यालय में पदस्थ सुखसागर मन्नेवार को दिया गया।

इस अवसर पर आयोजित महत्वपूर्ण संगोष्ठी -“महात्मा गांधी और आज की पत्रकारिता की दिशा” को संबोधित करते हुए ईश्वर सिंह दोस्त, अध्यक्ष, साहित्य अकादमी छत्तीसगढ़ ने कहा – 2014 के बाद देश में पत्रकारिता की आंच धीमी पड़ गई है। पत्रकारिता आज संकट के दौर से गुजर रही है। प्रधानमंत्री नरेंद्र दामोदरदास मोदी की सरकार का नाम लिए बगैर कहा कि दुनिया भर के देशों में पत्रकारिता में आज भारत 105 से 150 की गिनती पर नीचे आ गया है और यह सब हुआ है अभी हाल ही के वर्षों में सर्वे के अनुसार जो रिपोर्ट आई है 2016 में भारत 105 में स्थान पर था फिर 136 पर पहुंचा 1 साल पहले 142 पर था आज पाकिस्तान नेपाल नाइजीरिया जैसे खतरनाक मुल्क से भी भारत की स्थिति बदतर हो गई है। उक्त देश भी भारत से ऊपर है।

ईश्वर सिंह दोस्त ने आगे कहा कि देश में पत्रकारिता की आंच धीमी पड़ गई है, आपातकाल में लोगों को अभिव्यक्ति की आजादी का अर्थ समझ में आया था। मगर आज तो हालात बहुत ज्यादा गंभीर है 1980 और 90 के समय में पत्रकारिता का स्वर्णिम काल था। आज खबर के साथ यानी न्यूज़ के साथ न्यूज़ शुरू हुआ जो अपनी पराकाष्ठा पर है आज संपादक की जगह बड़े बड़े अखबारों में मैनेजर नजर आने लगे हैं।

रमेश पासवान की स्मृति को नमन करते हुए ईश्वर सिंह दोस्त ने कहा कि लोक सदस्यों द्वारा प्रारंभ किया गया पत्रकारिता का यह सम्मान अपनी ऊंचाइयों को स्पष्ट करें यह मेरी शुभकामनाएं हैं उन्होंने महात्मा गांधी और देश की पत्रकारिता की दिशा विषय पर विस्तार से अपने विचार व्यक्त करते हुए कहा कि गांधी को समझने के लिए हमें उनके मूल्यों के सिद्धांत को समझना चाहिए उन्होंने राष्ट्र की संकल्पना को उदारता से समझने का प्रयास किया था। गांधी की धर्म की परिभाषा उदारता उदात्त भाव लिए हुए है संकीर्णता, मारकाट धर्म नहीं है। महात्मा गांधी का ईश्वर पर आगाध विश्वास था महात्मा गांधी कहते थे कि ईश्वर ही सत्य है।

दैनिक लोक सदन के कोरबा के ट्रांसपोर्ट नगर स्थित कार्यालय में अंचल के वरिष्ठ पत्रकार रमेश पासवान की स्मृति में दैनिक लोक सदन द्वारा प्रारंभ किए गए सम्मान की प्रथम कड़ी में नगरीय और ग्रामीण पत्रकारिता के महत्वपूर्ण हस्ताक्षर सुखसागर मन्नेवार को ईश्वर सिंह दोस्त, नगर के प्रथम नागरिक राज किशोर प्रसाद, कथाकार कामेश्वर पांडे, ब्रह्मकुमारी बिंदु बहन, समाज सेवी कंवर लाल मनवानी के कर कमलों से अभिनंदन पत्र, शाल श्रीफल के साथ 10,000 रूपए लोक सदन के संपादक सुरेशचंद्र रोहरा द्वारा प्रदान किए गए।

उन्होंने इस अवसर पर कहा कि सुख सागर की पत्रकारिता रमेश पासवान की जमीन से जुड़ी हुई पत्रकारिता के आगे की कड़ी है। इस अवसर पर लोक सदन परिवार संपादक सुरेशचंद्र रोहरा, मनोज ठाकुर, सनंददास दीवान, द्वारा ईश्वर सिंह दोस्त और रमेश पासवान के ज्येष्ठ,सुपुत्र अनूप पासवान का शाल श्रीफल से सम्मान किया गया।

रमेश पासवान स्मृति सम्मान एवं लोक सदन स्थापना दिवस इस नदी कार्यक्रम की अध्यक्षता करते हुए कोरबा नगर के प्रथम नागरिक राज किशोर प्रसाद महापौर ने अपने संबोधन में कहा कि लोक सदन समाचार पत्र कोरबा में अपना एक महत्वपूर्ण मुकाम रखता है मेरी अनंत शुभकामनाएं है उन्होंने रमेश पासवान को याद करते हुए कहा कि उन्होंने देशबंधु, हरिभूमि, पत्रिका, नवभारत आदि समाचार पत्रों में काम किया और पत्रकारिता के महत्वपूर्ण स्तंभ के रूप में होने हमेशा याद किया जाएगा।

अंचल के साहित्यकार कामेश्वर पांडे ने महात्मा गांधी और आज की पत्रकारिता की दिशा पर अपने दीर्घ संबोधन में कहा कि राष्ट्रपिता महात्मा गांधी के पद चिन्हों पर चलना संकट से गुजरने के समान है दैनिक लोक सदन ने महात्मा गांधी की सिद्धांतों को जन जन तक फैलाने का जो संकल्प लिया है वह महत्वपूर्ण है उन्होंने कहा कि महात्मा गांधी ने आजादी के पहले जो अखबार इंडियन ओपिनियन, हरिजन आदि का प्रकाशन संपादन किया वह आज भी एक नजीर है उन्होंने बिना विज्ञापन के समाचार पत्रों को हिंदी, अंग्रेजी, गुजराती, तमिल एवं अन्य भाषाओं में प्रकाशित किया महात्मा गांधी ने पत्रकारिता को आजादी की लड़ाई का एक औजार बनाया उन्होंने सत्य, अहिंसा का जो दिग्दर्शन कराया है वह आज भी दुनिया को रोशनी दे रहा है आगे भी देगा।

आयोजित महत्ती कार्यक्रम में ब्रह्मकुमारी बिंदु बहन विशिष्ट अतिथि के रूप में उपस्थित थीं उन्होंने इस अवसर पर लोक सदन को अपने आशीर्वचन देते हुए कहा कि यह अखबार छत्तीसगढ़ के गांव शहर से देशभर में प्रसारित हो या मेरी शुभकामनाएं हैं उन्होंने रमेश पासवान स्मृति सम्मान का उल्लेख करते हुए कहा कि ऐसे सम्मान पत्रकारिता को समृद्ध बनाते हैं। ब्रह्म कुमारी बिंदु बहन ने इस अवसर पर संपादक सुरेशचंद्र रोहरा और लोक सदन परिवार को एक स्मृति चिन्ह चित्र के रूप में भेंट किया।

सुरेशचंद्र रोहरा
संपादक लोक सदन, छत्तीसगढ़
gandhishwar.rohra@gmail.com



भड़ास व्हाट्सअप ग्रुप ज्वाइन करें-  https://chat.whatsapp.com/JYYJjZdtLQbDSzhajsOCsG

भड़ास का ऐसे करें भला- Donate

भड़ास वाट्सएप नंबर- 7678515849



Leave a Reply

Your email address will not be published.

*

code