नौकरी दिलाने के नाम पर पैसे हड़पने वाला पत्रकार सूरज यादव पीड़ितों द्वारा पैसे वापस मांगने पर कैसे हड़काता है, पढ़ें ये चैट

सूरज यादव उर्फ प्रभु यादव उर्फ राज. ये रायबरेली जिले के पत्रकार हैं. इनका मूल काम वैसे तो पत्रकारिता है लेकिन ये पत्रकारिता की आड़ में हर वक्त इस ताक में रहते हैं कि कहां से किसी से पैसे झटक लिए जाएं. क्या पुलिस, क्या नेता, क्या अफसर, क्या बेरोजगार…. सबसे इसने पैसे ऐंठे हैं.

इनका पैसे ऐंठने का तरीका भी अलग अलग होता है. बेरोजगार युवक से नौकरी दिलाने के नाम पर पैसे वसूल लेता है. अफसर या नेता से अपने घर की समस्या का जिक्र कर पैसे ले लेता है. फिर ये पैसे कभी वापस नहीं करता.

ताजा मामला एक बेरोजगार युवक से साठ हजार रुपये हड़पने का है. जब युवक के घरवालों ने पैसे वापस मांगे तो पहले तो ये किसिम किसिम के बहाने कर टालता रहा. बाद में ये धमकी देने पर उतर आया. नीचे के चैट देखें. ये सीधे सीधे कह देता है कि जो करना हो कर लेना. ये भी लिखा है कि उसे राह चलता आदमी समझा न जाए.

इसी को कहते हैं चोरी और सीनाजोरी. पढ़ें चैट.

पूरा प्रकरण जानने समझने के लिए इसे पढ़ें-

रायबरेली के इस पत्रकार ने नौकरी दिलाने के नाम पर पैसे हड़पे, सुनें आडियो



भड़ास का ऐसे करें भला- Donate

भड़ास वाट्सएप नंबर- 7678515849



Leave a Reply

Your email address will not be published.

*

code