निजी टीवी चैनल ‘न्यूज चैनल’ की बजाय ‘न्वायज चैनल’ हो गए हैं : प्रसार भारती चेयरमैन

बेंगलूरू। प्रसार भारती के नव नियुक्त चेयरमैन ए. सूर्य प्रकाश ने कहा कि दूरदर्शन एवं आकाशवाणी को स्वायत्तता हासिल करने के लिए अभी लंबा रास्ता तय करना है। “प्रेस से मिलिए” कार्यक्रम में पत्रकारों से बातचीत में उन्होंने कहा कि प्रसार भारती एक स्वायत्त निगम है और इसके गठन के बाद पीछे हटने का सवाल ही पैदा नहीं होता। सूर्यप्रकाश ने कहा कि प्रसार भारती के 90 फीसदी कर्मचारी केंद्र सरकार के हैं, जबकि शेष विभिन्न मीडिया हाउस से हैं जिन्हें करार पर रखा गया है। जब तक यह स्थिति रहेगी तब तक प्रसार भारती की स्वायत्तता की राह नहीं खुलेगी। इस दिशा में कदम उठाए जाने की जरूरत है मगर यह एक प्रक्रिया है। गुणवत्ता के लिए पेशेवर होना पड़ेगा। यह संभव है और इसे अवश्य करेंगे।

डीडी न्यूज के लिए अच्छा मौका है क्योंकि निजी चैनलों से लोग ऊब चुके हैं : सूर्य प्रकाश

प्रसार भारती के नए अध्यक्ष ए. सूर्य प्रकाश ने कहा है कि लोग निजी चैनलों से ऊब चुके हैं। ऐसे में डीडी न्यूज के पास मौका है कि वह खुद को उच्च श्रेणी के चैनल के रूप में पेश कर दर्शकों को अपनी ओर खींच सके। 28 अक्टूबर को प्रसार भारती बोर्ड के अध्यक्ष नियुक्त किए गए सूर्य प्रकाश ने कहा, संघ प्रमुख मोहन भागवत के विजदशमी भाषण का दूरदर्शन पर सजीव प्रसारण बिल्कुल सही था क्योंकि उनका यह भाषण खबर की श्रेणी में आता है। उन्होंने कहा, सालों पहले जब निजी समाचार चैनल अस्तित्व में आए तो कई लोगों ने डीडी न्यूज के भविष्य के बारे में सवाल उठाया, लेकिन अब स्थिति बदल चुकी है।

ए सूर्य प्रकाश को प्रसार भारती का अध्यक्ष नियुक्त किया गया

वरिष्ठ पत्रकार ए सूर्य प्रकाश को प्रसार भारती का नया अध्यक्ष नियुक्त किया गया है. वह वरिष्ठ पत्रकार मृणाल पांडे की जगह लेंगे, जिनका इस साल 30 अप्रैल को कार्यकाल समाप्त हो गया था. इसके बाद से ही अध्यक्ष पद खाली था.  सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय ने मंगलवार को एक बयान जारी कर बताया कि सूर्य प्रकाश का कार्यकाल तीन साल का होगा.

Author of ‘Sonia Under Scrutiny..’ Surya Prakash likely to become Prasar Bharati chief

Prominent right-wing journalist Surya Prakash is all set to become the new boss of Prasar Bharati. According to media reports, Surya Prakash, who is currently a fellow at the Vivekananda International Foundation (VIF) has been sounded out for heading Prasar Bharati. The post of chairperson has been lying vacant for sometime after Mrinal Pandey’s tenure ended in May this year.