इस ‘लेडी पत्रकारा’ से रहें सावधान, लड़कों को फांसती है, शादी न करने पर जेल भिजवाती है!

कुछ महीनों पहले एक पत्रकार पर शादी करने या फिर रेप के आरोप में जेल जाने (पुलिस केस झेलने) के लिए दबाव बनाने वाली कुख्यात लेडी पत्रकारा ने नया कांड जो किया है उससे जुड़ी कुछ सूचनाएं सामने आई हैं. इस कुख्यात लड़की ने अबकी इंस्टाग्राम से गाजियाबाद के एक ठीकठाक परिवार के लड़के को फंसाया. दोनों इंस्टाग्राम से निकलकर धरतीग्राम यानि जमीन पर आमने सामने मिले. फिर शादी के लिए बातचीत हुई. लड़का और उसके परिजन राजी भी हो गए. लड़की ने कानपुर से अपने भाई को बुलाया और शादी की बातचीत तय कर दिसंबर की एक डेट फिक्स करा दी.

इसके बाद लड़की ने अपनी असली रूप दिखाना शुरू कर दिया. उसने कुछ अपने मुंह से, कुछ अपनी हरकतों से और कुछ अपने परिचितों से अपनी हिस्ट्री खोलनी शुरू कर दी. एक के बाद एक उसके पुराने मामले सामने आते गए तो लड़का हैरान परेशान रह गया. उसने शादी टालने की कोशिश की तो लड़की ने वही पुराना सुसाइड वाला ड्रामा शुरू कर दिया. उसने कुछ साइबर एक्सपर्ट लोगों से लड़के वालों को धमकी दिलाना शुरू कर दिया. ब्लैकमेल करना शुरू कर दिया.

फिर उसने आखिरी दांव खेला. थाने में कंप्लेन दे दी रेप की. मीडिया के सामने बोला कि शिकायत दी है थाने में, केस दर्ज नहीं कर रहे थाने वाले. मीडिया वालों ने लड़की के आंसू के चक्कर में खबरें चलाईं और पुलिस ने केस दर्ज कर लड़के को अरेस्ट कर लिया फिर जेल भेज दिया. दस दिन से लड़का जेल में है. लड़के के मां पिता नहीं हैं. केवल एक बड़ी बहन है.

उन लोगों ने बताया कि लड़की ने नोएडा के पत्रकार वाले शादी-पुलिस कांड के बाद एक और कांड किया था. उसमें भी उसने पुलिस में मुकदमा दर्ज करने के लिए अर्जी दी थी जिससे डरे हुए लड़के ने समझौता कर लिया था. लेकिन इस ताजे मामले में जो लड़का फंसा है, वह उतना भाग्यशाली नहीं निकला, उसे डासना जेल जाना पड़ा है. गाजियाबाद कोर्ट में 9 दिसंबर को जमानत के लिए सुनवाई होनी है.

इस कुख्यात महिला पत्रकार के पुराने कांड की झलक इन खबरों में पा सकते हैं-

पत्रकार नितिन ठाकुर और महिला पत्रकार के बीच हुआ समझौता, देखें डिटेल

यशवंत ने फेसबुक पोस्ट लिखकर मेरे खिलाफ माहौल बना दिया : नितिन ठाकुर

  • भड़ास तक अपनी बात पहुंचाएं- bhadas4media@gmail.com

One comment on “इस ‘लेडी पत्रकारा’ से रहें सावधान, लड़कों को फांसती है, शादी न करने पर जेल भिजवाती है!”

  • एकतरफा कानून मीडिया वालों ने इसलिए ही बनवाएं है। लड़कियों द्वारा ब्लैकमेलिंग पर मीडिया ने कभी कोई अभियान चलाया ??मजा तब आएगा जब कोई लड़की इन मीडिया वालों या इनके लड़को को भी झूठे केसों में फँसवायेगी। तब पता लगेगा एकतरफा कानून क्या होता है।

    Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *