मंदी से ऐसे निपटें

बेवजह कुछ न खरीदें और फिजूलखर्ची से तौबा करें

मंदी से बचाव को लेकर एक मैसेज वायरल हो रहा है. इसमें बताया गया है कि मंदी का भयानक असर भारत में दिसंबर से दिखना शुरू होगा और यह मध्य 2020 तक चलेगा. इन सात महीनों की अवधि के दौरान आम आदमी को कुछ एहतियात बरतने की जरूरत है ताकि वह मंदी की मार से निपट सके. सबसे बड़ी सलाह ये है कि आप खरीदने और निवेश करने से तौबा करें. घर में कैश का फ्लो बनाए रखें. फिजूलखर्ची से बचें. शराब, सिनेमा, टूरिज्म पर व्यय होने वाले पैसे को जोड़ कर रखें. देखें, मंदी से बचाव को लेकर वायरल मैसेज में क्या क्या कहा गया है-

It’s may be a hardcore recession this time, which already spreads it’s poison in the economy of India. Almost 13.67 percent fall in overall economic marker is recorded. Foreign exchange, repo rate is also indicating that crisis started. Already 17Lakh of employee lost job in last quarter. Prepare and get ready for the bad times…

You can follow this steps-

  1. Try to minimise extra expenses
  2. Try to avoid big buying in next 6month
  3. Avoid investment now, nobody knows SIP and trading will bring what amount of loss,since all are depends on the recovery.
  4. Don’t buy gold now, likely the price will fall from December
  5. Mediocre people, small business will suffer the most, so make your budget tight.
  6. Online purchase can be risky, since sites are already in loss.
  7. Convert / consume all your digital money( Paytm,Gpay etcetc) into physical fund.
  8. Priorities your family expenses.
  9. Stay alert – snatching on roads,robbery will increase from coming festive season.
  10. Try to cumulate at least your 6 month expenses from now on. The situation may be worst from November December 2019. It may persist till mid of 2020.

Please be alert, and circulate it like a responsible citizen.

इन्हें भी पढ़ें-

जीडीपी 5 फीसदी से भी कम है, तभी मचा है आर्थिक हाहाकार!

मंदी में ‘काम’ ज्यादा : कंडोम की बिक्री में रिकार्ड उछाल

सावधान हो जाइए, अच्छे दिन का झांसा देकर थमा गए आर्थिक मंदी!

मोदी और जेटली के ‘कुशल’ नेतृत्व के कारण विनिर्माण क्षेत्र भयंकर मंदी का शिकार!

भड़ासी चुटकुला : मजीठिया, मंदी, महंगाई और मीडियाकर्मी

करेंसी यूं रद्द करने से देश कैसे आर्थिक मंदी की चपेट में आ सकता है, समझा रहे हैं भड़ास एडिटर यशवंत सिंह

पत्रकार ने होटल रूम में खुफिया छेद पकड़ा

पत्रकार ने होटल रूम में खुफिया छेद पकड़ा, होटलवालों की बदमाशी को भड़ास संपादक ने कैमर में कर लिया रिकार्ड

Posted by Bhadas4media on Tuesday, August 27, 2019
कृपया हमें अनुसरण करें और हमें पसंद करें:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *