केजरीवाल से मेरा मोहभंग… दूसरी पार्टियों के आलाकमानों जैसा ही है यह शख्स…

Yashwant Singh : केजरीवाल से मेरा मोहभंग… घटिया आदमी निकला… दूसरे नेताओं जैसा ही है यह आदमी… संजय सिंह, आशुतोष, खेतान जैसे चापलूसों और जी-हुजूरियों की फ़ौज बचेगी ‘आप’ में… सारा गेम प्लान एडवांस में रचने के बाद खुद को बीमार बता बेंगलोर चला गया और चेलों के जरिए योगेन्द्र-प्रशांत को निपटवा दिया… तुम्हारी महानता की नौटंकी सब जान चुके हैं केजरी बाबू… तुम्हारी आत्मा कतई डेमोक्रेटिक नहीं है… तुम सच में तानाशाह और आत्मकेंद्रित व्यक्ति हो… तुममें और दूसरी पार्टियों के आलाकमानों में कोई फर्क नहीं है…

केजरीवाल ने शपथ ग्रहण के दिन दूसरों को उपदेश पेला था कि अहंकार मत करना. लेकिन सबसे पहले अहंकार देवी ने केजरीवाल को ही शिकार बनाया और इस आदमी को पता तक नहीं चला. यह पुराना खेल खेलता रहा. अपने चिंटूओं संजय सिंह, आशीष खेतान, आशुतोष आदि को योगेंद्र यादव व प्रशांत भूषण के खिलाफ सक्रिय कर दिया. उसके बाद खुद के बारे में अफवाह फैला दी कि बहुत बीमार हैं, बहुत मेहनत कर रहे हैं, इलाज कराने जा रहे हैं, बहुत दुखी हैं विवाद से आदि आदि. अंततः अहंकारी अरविंद केजरीवाल ने योगेंद्र यादव और प्रशांत भूषण को पीएसी यानि पोलिटिकल अफेयर्स कमेटी से बाहर का रास्ता दिखवा दिया. खुद चुप्पी साधे महाप्रभु बना बैठा है.

अरविंद केजरीवाल ने अहंकार से ग्रस्त होकर दोनों साथियों को पीएसी से निकलवाकर खुद को भले ही मजबूत और सबसे प्रभावी साबित किया व विजेता घोषित कराया हो लेकिन उनकी इस जीत में भी हार है. मेरे जैसे करोड़ों लोग अरविंद केजरीवाल को बहुत डेमोक्रेटिक और अत्यंत धैर्यवान नेता मानते थे. यह भी मानते थे कि अरविंद दूसरों को गौर से सुनते विचारते हैं. पर यह सब छवि खंडित हो गई और यह एहसास हो गया कि यह आदमी भी बाकी पार्टियों के नेताओं की तरह बहुत छोटे दिल दिमाग का आदमी है. राजनीतिक फायदे के लिए शब्दों की जलेबी छानते हुए केजरीवाल भले ही खुद को खुद की जुबान से इमानदार से लेकर अति आम तक साबित करता फिरता रहा हो पर अब जब सफलता उनके चरणों में लोट रही है और पूरे देश की निगाह उनके क्रिया-कलापों पर है तो केजरीवाल ने अपनी नीच हरकत से खुद को एक्सपोज कर लिया है.

योगेंद्र यादव और प्रशांत भूषण जैसे विचारवान व एक्टिविस्ट लोगों को किनारे करके केजरीवाल मूर्खों व चापलूसों की फौज मात्र ही तैयार करेंगे और अंत में इस पार्टी में वही सारे रोग लग जाएंगे जो दूसरी पार्टियों में हैं. किसी ने सच कहा था कि सारी क्रांतिकारिता का अंत सत्ता में घुसकर पावर एक्वायर कर लेने तक होती है, उसके बाद लोग अपने रीयल फेस, असली चाल चरित्र चेहरे में चले आते हैं. उम्मीद करते हैं कि केजरीवाल को अकल आएगी और अपनी गल्ती सुधारेंगे. अन्यथा, अहंकार बड़े बड़ों को नष्ट भ्रष्ट कर देता है, केजरीवाल क्या चीज हैं.

भड़ास के एडिटर यशवंत सिंह के फेसबुक वॉल से. उपरोक्त स्टेटस पर आए कुछ प्रमुख कमेंट इस प्रकार हैं…

Janardan Yadav शत प्रतिशत समर्थन

Ishan Vidyarthi Uncle I have been following ur posts from long time..and really appreciated ur respect and liking for AK also today’s candid confession corroborates ur strong understanding of politics.!!!

Kamal Kumar Singh देर आये दरुस्त आये।

Vinod Rajput Ashutosh aur Khetan aaj bahot khush hain,bt jis din bahar nikala jayega,us din unka chehra dekhne layak hoga

चंदन एस.डी.आर सूरज चलिए अच्छा है, आपको भी समझ आ गया

Hardeep Siddhu ‘आप’ में ऐसा क्यों हुआ? असली वजह कुछ गिनेचुने लोगों को ही पता है। ये लोग कुछ भी बोलने को तैयार नही है और जिन्हें कुछ नही पता वो चुप होने को तैयार नही है।

Saleem Akhter Siddiqui ये कहना अभी जल्दबाज़ी होगी.

Vinod Rajput Dilip Pandey frm Zamania ye to bechare n ghar ke rahenge n ghat ke

Prakash Bisht Very sad dicision. Saare volunteers iss faisle se khush nhi hain

Arbind Jha der se he sahi nind to khula na bhaiya

Prakash Bisht Bhut dukh hua aaj

Santosh Singh चंपू गिरी जिंदाबाद.. भयउ विभव बिन तबहीं अभागा….अरे जो अन्ना और अरूणा राय के न हुए वो योगेंद्र और प्रशांत के क्या होंगे।

Drigvindu Mani Singh Yashwant bhai hum sabhi bhavuk log thaga hua mahsoos kar rahe hain……koyee kejariwal se to koyee modi se to koyee rahul se….

Yusuf Akhter 8-11 ke score mein nibta diya…koi football match Hai kya?

Vipul Prakash Rrg ye kya ho gaya bhai jaan? AAP to usake bahut bade fan the!!!
 
Mohit Prakash Singh खांग्रेस जैसी
 
Laxmi Narayan Der se hua
 
Ranjana Singh पहली बारिश में मुखौटा धुला
 
आशुतोष मित्रा जहां आँख खुले वहीं सवेरा…
 
Anil Singh Rajneeti badi zalim hoti hai. Etihas ne apne aapko dohra diya. Ek bar fir Akbar ne apne sarankshak Bairam Khan ko doodh ki makkhi ki bhati nikal feka
 
Kamlesh Yadav शातिर बदमाश निकला ,ऐसी उम्मीद नहीं थी।
 
Deepak Khokhar कोई फर्क नहीं है, फर्क है तो सिर्फ चेहरे में। सारा ड्रामा शुरू से ही चला आ रहा है। चोरों की टोली का सरदार है असल में ये।
 
Meena Gautam सर आप बिलकुल ठीक कह रहे है।

Hardeep Siddhu या तो आपको सबकुछ पता है या कुछ नही पता

Vk Sharma मेने पहले ही समझाया था Yashwant Singh भैया जी ये सबको मुर्ख मान रहा है और आप बन भी गए

Yashwant Singh Hardeep Siddhu bhayi. Aap bata dijiye. Mujhe nahi pata.

Santosh Yadav बहुत कुछ सूना है हम ने आस्तीन के ”साँप” के बारे में लेकिन मैं कुछ नही कहूंगा आज ”आप” के बारे में – संतोष यादव
 
Ashok Aggarwal यशवंत भाई वाकई में जौहरी हो ।
 
Dinesh Singh Sab Ek Saman Dal Hai , Bus Mauka Milne Ki Baat Hai
 
राजीव राय AAP ek loktantrik party hai..
 
Mahesh Dubey अब तक का सबसे सटीक विस्लेषण !
 
Shravan Shukla कल जब कहा तब गाली मिली। आज हम आपके पुराने रुख लार कायम हैं खैर… राजनीति में सबकुछ चलता है। केजरीवाल खिलाड़ी निकले
 
Ankit Patel यदि राष्ट्रीय कार्य कारिणी सर्वसम्मति से यह फैसला लेती कि अरविन्द केजरीवाल को संयोजक पद छोड़ देना चाहिये तो भी क्या इतना ही दुःख होता ? …. इसलिये धैर्य रखिये ! @Yashwant Singh Ji
 
Palash Dubey Ab kiski poochh pakde…?
 
Vivek Singh जब केजरीवाल के बगल में हमेशा संजय स‌िंह खड़े रहते थे तभी मुझे केजरीवाल पर शक होता था और 67 सीट जीतने के बाद जब आशुतोष से गले मिल रहे थे तब और समझ में आ गया।
 
Ravi Misra Bhai Maine bahut pehle hi kaha tha ye aadmi sahi nahi h.
 
Hardeep Siddhu Yashwant Singhसर जी मुझे नही पता। और जानने की लिए उत्सुक हूँ। उसके बाद ही सही गलत के बारे में कह पाउँगा। अपने केजरीवाल को घटिया करार दिया तो आपको सबकुछ पता होगा इसलिए पूछ रहा हूँ।
 
Sandeep Baslas हम तो पहले ही कहे रहे कि लुल्ल है ।

Vivek Singh और लड़ना ही था तो सामने से लड़ते केजरीवाल, बैठक में जाते और प्रशांत और योगेंद्र के खिलाफ वोट देते। पर जिसके बाप से पार्टी बनाने के लिए पैसा लिए हों उसके विरोध कर पाने का कलेजा कहां से लाते, इसीलिए भाग गए।
 
Citizen Journalist Jhunjhunu प्रशांत भूषण का कहा मुक़ाबला करेंगे ये !

रामचन्द्र लठवाल ग्रामीण छोटा मुँह बड़ी बात जो यशवंत जी की पोस्ट पर कोमेंट लिख रहा हूँ ……पर मुझे ये थोड़ी जल्दबाजी लग रही है …..अगले दो महीने लाला के कठिनतम हैं ……मगर उसके बाद अप्रत्याशित …..मोदी भी चरम छुयेगा …..अजीब घटनाक्रम के साक्षी बनेगे हम सब

Citizen Journalist Jhunjhunu आम आदमी पार्टी के स्तम्भ , प्रशांत भूषण ( जिनके पिता शांतिभूषण ने इंदिरा गांधी को प्रधानमंत्री पद से हटने के लिए मज़बूर कर दिया था , राजनारायण केस में वकील ) जिनके व्यक्तिगत रूप से उठाये हुए सभी मुद्दो को आम आदमी पार्टी ने स्वयं द्वारा उठाये हुए बता कर जनता में अपनी छवि बनायीं , के साथ आज मुद्दे उठाने के सजा स्वरुप जो किया गया वो बेहद निंदनीय है एवं अनीति की पराकाष्ठा है ! श्री कृष्णा ने महाभारत में नीति अनीति पर कौरवो की सभा में जो कहा , उसे केजरीवाल और उनके लघु ह्रदय के साथीओ को ज़रूर पढ़ लेना चाहिए !

Vinit Utpal कोई बतायगा कि प्रशांत भूषण और योगेंद्र यादव की गलती क्या थी.
 
Sudhir Pradhan Right yashwant ji
 
Sushant Vimukt इस बार तो 49 दिन भी नहीं चले | अहंकार की बू आ रही है..
 
Vinit Utpal #RIPAAP
 
Yashwant Singh Hardeep Siddhu ji. केजरीवाल ने जो घटियापना किया कराया है, उसके बाद उन्हें घटिया आदमी न कहा जाय तो क्या कहा जाय।
 
Richa Mishra दो मदारी देश पर राज कर रहे है बेवक़ूफ़ बना रहे है और जनता तमाशा देख कर खुश है
 
Harish Singh Ho gayan bantdhar
 
Mini Sharma Ufffff yeh politics
 
Dilip Singh C,,h banata hai
 
Bhogendra Thakur आपने मेरे दिल की बात कह दी।
 
Vinod Rajput #AAP = Arvind Alone Party
 
Kishlay Sharma taana shah tab hota jab NE ki voting ko over rule kar ke YY ya PB ko bacha leta ..infact uske so called gang ke Ashish Khetan ,Ashutosh ,Dilip Pandey etc ke vote bhi nahin the NE mein ,Mayank Gandhi ne vote nahin kiya ..shayad Vishwas ne bhi vote nahin kiya…mere hisaab se tanashaah jaisa kuchh nahin hua shayad…ya fir ho bhi sakta hai main galat hoon.
 
Ahmad Ali Samani kejriwal 14 faruary ko ramlila maidan me kaha tha hamari party ko ahankaar nhi aana chahiye ..aaj sab ne dekh liya
 
Alok Pathak Aaa Gaya Humari mitti ka Sher Yashwant Singh wapas apne roop me aur sahi aukat batai Kejriwal ki . Mahadev aur Yashwant bhai ko holy ki badhai
 
Vinay Shri सौ फीसदी सच कहा
 
Arun Srivastava Jo bhee huaa bahut galat huaa….
 
Mantu Soni केजरी कितना अच्छा है उसका जवाब कुछ महीनों मे पता चल जाएगा ।
 
Nakul Chaturvedi अच्छा है Yashwant जी.. देर आए.. दुरुस्त आए… ख़ुशी इस बात की है कि आप जैसा बेबाक पत्रकार फ़र्ज़ी आम आदमी को जल्दी समझ गया… मगर अफ़सोस इस बात का कि आपने फरेबी आदमी का साथ इतने दिनों तक दिया.. वो भी पूरी शिद्दत से.. उम्मीद है भविष्य में आप .. कथित सच्चे आदमियों के चक्कर में नहीं पड़ेंगे..?

डॉ. प्रमोद सिंह अच्छा हुआ । इन माझियों का कोई भरोसा नहीं । न जाने कब नांव डूबोने पे आमादा हो जाएँ ।
 
Chandrabhan Singh Chalo achchha hua bhai samajh to gaya.
 
Jitendra Dave नकाब चढ़ते-उतरते रहे, रहनुमा लड़ते-झगड़ते रहे…

Rupendra Rinku यशवन्त जी आप गलत सावित होंगे। केजरीवाल के मन में ईतनी छोटी बात नही आ सकती, मेरे समझ के अनुसार
 
Arun Rai Bhagoda phir meeting chod kar bhaga ,
 
Praveen Praveen “आप ” ने वही आज किया जो “भाजपा” ने दिल्ली विधानसभा चुनाव में यानी शिर्ष नेतृत्व के आपसी सिर फुटवैल में जमीनी कार्यकर्ता और वोटर के सहानुभूति को नजरअंदाज कर दिया गया और एक फैसला थोप दिया गया ।
 
Gulab Singh भूषण परिवार को केजरीवाल और उनके चापलूस कम ही जानते हैं।सो आप के ठाकुर चापलूसों को शांति भूषण परिवार के इतिहास को गहनता से पढ़ लेना चाहिए।ये वही लोग हैं जो छह दसक से लगातार देश के अधिनायकवादियो से संघर्ष कर रहे हैं।योगेन्द्र यादव।इनके कौशल व आभा से कोन परिचित नही है।
 
Nevil Clarke Is nirnaya se AAP ki kamar toot gayi( volunteers) party se vimukh ho gaye
 
Ayush Kumar विश्वास ने अपने दो बेहतरीन कांटो को हटा अपना राज्यसभा टिकट फाइनल कर लिया।
 
Harish Misra @ Gulab Singh इस देश मे हजारो परिवारो ने कुर्बानियां दी हैं,भूषण के सुर्खाब के पर नहीं लगे है ।”ठाकुर चापलूस ” एक निहायत बेहूदा टिप्पड़ी है । चापलूसों,कमजरफ़ो की जाति धर्म नहीं होता… केजरीवाल जनता के गुस्से की पैदाइस है और कोई ज्यादा…See More
 
Anita Bharati abhi yeh aaklan jaldbaaji hoga. kejari janta ke vishwas par khara utrega
 
Gulab Singh आप मुझे शायद ठीक पढ नही पाए हैं। या मै वैसे लिख नही पाया हूं जिसे आप सरल तरीके से पढ सके है। अपने देश में कई रजवाङे ठाकुरों के हुआ करते थे।जिनके फैसले ऐसे ही होते थे।जैसे कल महाभारत के विदुर,आचार्य और कृपाचार्य को, तानाशाही तरीके से राजनीतिक सूझबूझ की बलि चढ दी।केजरीवाल इतने बीमार नही हो सकते हैं कि संकट भरी, अपनी सभा में नही आ सकते थे।कल भूषण और यादव की क्षति नही हुई।यह आदमी के आधिकारो के लिए लङने वालों पर बङा हमला है।जिसकी नीवं गहरी हो गयी है।
 
Shubh Narayan Pathak मैं बहुत ही खास आदमी हूं। पता है क्यों – मैनें आंधी-तूफां के दौर में भी केजरी वाली टोपी नहीं पहनी।
 
Gulab Singh आरती जी,आमीन…..काश भगवान ऐसा करे।ईश्वर केजरीवालों के दिलों के आकार को बढाए।
 
Manoj Kumar Absolutly right sir
 
Babloo Yadav आआप का मतलब केजरीवाल कतई नहीं रहा मेरे लिए। आआप को एक विचार के रूप में ही लिया। लेकिन सत्ता लोलुप चाटुकारों ने इसे केजरीवाल का पर्याय बना दिया। ऐसी पार्टी का मैं कतई हिस्सा नहीं हो सकता।
 
Sandeep Singh AAP के NE के सदस्य हैं कौन ?
 
Sandeep Singh अरविंद और मनीष के NGO में काम करनेवाले वेतनभोगी कर्मचारी ?
 
Bahu Rani ये भी कोई कजरी वाली चाल तो नहीं Yashwant बाबू … परदे के पीछे छुपे आप विरोधी कोकरोचों को ढूंढ कर हिट से सफाया (block) करने का ???
 
Nawal Kishore It is time to wait
 
Alka Singh ghatiya woh pehle se hi tha – aap so rahe the
 
Ramesh Pandey behad satir hai bholay baba bana rahta hai aur taray taray kaat deta hai
 
Alka Singh farak to hai – doosari partiyan kamini hain to qubool to karti hain yeh ma$%#%#$%$%^&^&^&^ to apne ko acha dikha ke peeche se gala kaat deta hai
 
Suneel Tiwari Satya hai muskan bholi hai pr admi bahut shatir ar tanashah hai. Iski soch hai ye sahi hai baki Sab galat.
 
Kumar Rahman आम आदमी पार्टी के अंदर लोकतंत्र खत्म हो चला है और यहां चापलूसों की जमात इकट्ठा हो गई है… जहां सवाल उठाना मना है…
 
Dinker Srivastava देर से ही सही ज्ञान तो प्राप्त हुआ आपको……वैसे दुनिया में बहुत सारे लोग अपने ही अनुभव से सीखते हैं…..दूसरे लोगों की उचित सलाह भी उन्हें कभी कभी गाली सी लगती है…
 
Suresh Kumar Bijarniya जब केजरीवाल जनता से माफ़ी की नौटंकी करके सर्वोच्च पद पर रह सकते हैं तो यादव जी और प्रशांत को माफ़ क्यूँ नहीं किया जा सकता ? जनता से ज्यादा बडी हो गयी कार्यकारिणी?
 
Harpal Bhatia 1000%सहमत
 
Govind Baboo केजरीवाल ने अपनी प्रकृति के अनुसार किया । सब भौचक्के क्यों हैं । यह तो होना ही था । आगे आगे देखिऐ होता है क्या ।
 
Arun Sathi बंटाधार
 
Vinod Kumar Barai Better .. “AAP should decide on rotational leadership for fixed period” where every capabel leaders can get chance to show their performance, also a new way of leading….Yogendra Yadav is a strong-pillar-personality… (combination of 8:11 proves that)…
 
Vinay Yadav सर केजरीवाल के पास चापलूसों की जमात है। जो सिर्फ केजरीवाल की वजह से ही जाने पहचाने जाते हैं। चाहे वह संजय सिंह हों अथवा दिलीप पांडेय हों अथवा कोई और हो इस पार्टी की पीएसी में कुछ लोगों को छोड़ दिया जाए तो बाकियों को कौन जानता है। सारे केजरीवाल की परछाई हैं। ये संजय सिंह कौन हैं? इनका खुद का वजूद क्या है? लेकिन लोकतंत्र में जो चमचागिरी करने में माहिर हैं वो हमेशा मौज में रहते हैं। इसका उदाहरण संजय सिंह तथा अन्य लोग भी हैं। संजय सिंह ने बड़ी ही चालाकी से अपने रास्ते के सारे काटें निकाल फेंके हैं। सारा ड्रामा सिर्फ राज्य सभा के चुनाव की दावेदारी के लिए है। इन दो के रहते संजय सिंह और कुमार विश्वास की दाल नही गलती इसलिए ये सारा ड्रामा रचा गया।
 
Nilesh Malpani अभी किसी भी निष्कर्ष पर पहुचना जल्दबाजी होगी ।चुनाव के दौरान शांतिभूषण की बयानबाजी को भूलना नहीं चाहिये ।इसके पीछे की कहानी सामने आने दीजिये ।
 
Rubina Saifi Sir mujhe b yahi laga…. y faisla kisi bhi mayne m sahi nahi tha….
 
Ram Dayal Rajpurohit इतना जल्दी मोहभंग ,,,
 
Krishan Kant Upadhyay Sach kaha
 
Nitin Joshi yashvant ji 100% true
 
Shailendra Kumar Nimbalkar Asahmat
 
Sanjay Shukla Politics is the art of possibilities.. They should approach BJP or Congress!
 
Kapildev Tripathi मोह का भंग होना ही अच्‍छा। आप को केजरीवाल से मोह होगया था। टूट गया। अच्‍छा हुआ। वेसे भी अप जैसे मोहासक्‍त लोग हमेंशा अपने मन के अनुरूप देवता की खोज में रहते हैं। केजरीवाल देवता नहीं हैं। और वैसा तो बिलकुल नहीं हैं जैसा कि मोहंभंग के बाद उन्‍हें देख रहे हैं।
 
Pappu Nakhat देर से ही सही असलियत सामने आनी चाहिए
 
Gajendra Kumar Singh abhi eak cm aap ke pass hai use kitne log batenge prasant n yogendra bhi jaldi me hai aur neta 1 hota hai tabhi party chalti hai yah bahas ka bada mudda hai yaha nahi niptega


इसे भी पढें…

योगेंद्र-प्रशांत निष्कासन प्रकरण के बाद अरविंद केजरीवाल की लोकप्रियता का ग्राफ तेजी से नीचे गिरा है



भड़ास व्हाट्सअप ग्रुप- BWG-10

भड़ास का ऐसे करें भला- Donate






भड़ास वाट्सएप नंबर- 7678515849

Leave a Reply

Your email address will not be published.

*

code