माखनलाल के एचओडी पुष्पेंद्रपाल सिंह पद से हटाए गए

माखनलाल पत्रकारिता विवि में एक बार फिर से हाफ चड्ढा छाप कुलपति ने सोशलिस्ट और छात्रों के हितों के रक्षक पुष्पेंद्रपाल सिंह को पत्रकारिता विभाग के एचओडी पद से ऐसे मौके पर हटाया, जब विवि परिसर छात्रों से खाली है। उसके बावजूद सोशल मीडिया पर ‪#‎लड़ाई‬ जारी है का हैशटैग लगा कर छात्र पिछले तीन दिनों से पीपी सिंह के साथ खड़े हैं। 

 

कुठियाला की कुंठा में सहयोगी संजय द्विवेदी, सौरभ मालवीय आदि की नियुक्तियों पर हमेशा सवाल उठे हैं। मालवीय की नियुक्ति पर जबलपुर हाईकोर्ट में केस भी चल रहा है। न तो कैम्पस प्लेसमेंट हो रहे हैं और न ही स्टूडेंट्स को इंटर्नशिप की इजाज़त दी जाती है। जिसकी इजाज़त है, वह है एकात्म मानववाद पर लेक्चर, संघ का कश्मीर पर दृष्टिकोण, नारद की पत्रकारिता, राष्ट्रवाद की अवधारणा। कभी कभी तो पूरा कैम्पस ही भगवा और भाजपाई हो जाता है। व्यापम घोटाले के मुख्य आरोपी शिवराज सिंह चौहान के बेहद नजदीकी कुठियाला फिलहाल दुबई गए हैं। डर कर भागने की कुठियाला की इसी आदत ने उसे पिछली बार शर्मिंदा किया था, जब उसने पीपी सिंह को उनके पद से हटा दिया था। फिर छात्र आंदोलन के दबाव से बहाल किया था। छात्रों, आप लोग संघर्ष करिए और जो जो कुठियाला के प्रिय हैं उनको घेरिए। अख़बारों में अपना विरोध छपवाइए। दबाव ऐसे ही बनेगा। कुठियाला के साथ ही आरएसएस का पुतला फूंकिए, शैक्षणिक संस्थान में राजनीति करने के विरोध में। एक बात और, संघी बहुत डरपोक होते हैं।

माखनलाल से पत्रकारिता की पढ़ाई कर चुके मोहम्मद अनस के एफबी वॉल से

Badal Saroj : यूं तो, माखनलाल चतुर्वेदी पत्रकारिता विश्वविद्यालय से पूरे दशक में कोई अच्छी खबर नहीं आयी है। अब अनस मोहम्मद अनस जैसे मित्रो और इस विवि के अच्छे उत्पादों से पता चला है कि इस विवि के सबसे लोकप्रिय और संयत व्यक्ति माने जाने वाले पुष्पेन्द्र पाल सिंह को पत्रकारिता विभाग के विभागाध्यक्ष पद से हटा दिया गया है। इस निंदनीय और पूर्वाग्रही कार्यवाही में छोटी छोटी बिखरी बिंदियों जैसी टूटी फूटी लकीरों द्वारा खुद को एक स्थापित बड़ी रेखा से ज्यादा बड़ा दिखाने की तिकड़म के सिवाय कुछ नहीं है। इसे तत्काल निरस्त किया जाना चाहिए। एक बार पुनः नए-पुराने माखनलालियों और लालों से अपील है कि वे अपने पुराने कैम्पस को नेत्र-बुद्धि -सोच विहीन संपोलों के अण्डों का भंडारगृह बनने से बचाने के लिए कभी मिलकर बैठें और कुछ तजबीज -कमसेकम इन साजिशियों को बेनकाब करने की तजबीज सोचें।

मध्य प्रदेश के कम्युनिस्ट नेता बादल सरोज के एफबी वॉल से.



भड़ास का ऐसे करें भला- Donate

भड़ास वाट्सएप नंबर- 7678515849



Comments on “माखनलाल के एचओडी पुष्पेंद्रपाल सिंह पद से हटाए गए

  • Mohit Pahade says:

    MCU k sabhi students PP sir k sath hai.. iss jang me jeet humari hee hogi… chahe jo ho jaye., PP sir MCU k journalism department k HOD rahenge… VC toh hamesha se sawalo k katghare me khade hue hai., lekin iss bar waar hoga.. mera ek sehpathi uske pas exam fee k liye paise nhi the., usne VC se exam k ek din pehle tak bahot request kiya but VC toh bahot arrogant hai.. nahi maane., or mera dost ek saal pichhe ho gaya.. aise na jaane kitne students hai jinki gareebi ka VC ne mazak udaaye hai.. or baate karte hai samvedna-vedna ki.. journalism ki koi degree nhi hai fir b kuch culprit politicians ki wajah se humari MCU k VC k padd par baithe hue hai.. or yeh MP k CM Shivrajsingh Chauhan k bahot kareebi maane jaate hai.. lekin koi fayda nhi… yeh ladai Rashtriya istar par jayegi or insaaf b hoga..

    Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *