The biggest general manager of Hindu religion has raised objection against pK

Jagdish Singh : Saw pK. Great movie. One of the greatest in history of Indian cinema. Here in San Jose, California too, it is running house full. Great imagination. Great story. Great acting. Hilarious. Must watch.

xxx

The biggest general manager of Hindu religion has raised objection against pK. His earnings got effected first by Sai worship. Now, it seems, he has to close his shop altogether. He is scared. The ever flourishing businesses of these managers will get in red very soon. Asha Ram, Ram Pal and others have also contributed to demise of this enterprise. In US and Europe, most of the literature young men have already stopped going to church. Now church is surviving only because of attendance of illiterates from Latin America and other places. Islam, off course is not yet affected, since most of the Muslim countries are poorly literate.

भारतीय प्रशासनिक सेवा से रिटायर जगदीश सिंह के फेसबुक वॉल से.


 

UTKARSH SINHA : फिल्म पीके पर बहुत बवाल कटा जा रहा है।  हम भी देख के आये, बवाल जैसा कुछ लगा नहीं सो कई सवाल मन में खड़े हो रहे हैं।

1-कुछ अरसा पहले आई थी ओ माई गॉड (ओएमजी) बहुत सफल रही और उसमें भी अंध विश्वास और ईश्वर के दुकानदारों को कटघरे में खड़ा किया था तब स्वरूपानंद और हल्ला बिग्रेड को कोई आपत्ति नहीं हुयी। और उसके मुख्य कलाकार परेश रावल भाजपा के सांसद बन जाते हैं।

2-पीके में दिखाए गए तपस्वी बाबा से मिलते-जुलते कई करेक्टर हमें रोज दीखते हैं मसलन निर्मल बाबा, नागिन डांस करने वाला बाबा और भी तमाम जिनमे से कई जेल की रोटी खा रहे हैं। क्या इन्हें कटघरे में लाने का विरोध कर हम उन्हें समर्थन नहीं दे रहे?

3- शंकर जी के भूमिका वाले कलाकार को टॉयलेट में जाते दिखने में क्या गड़बड़ है स्वामी? क्या रामलीला के कलाकार ये काम नहीं करते? और फिर क्या कभी रामलीला के बीच में होने वाले लौंडा डांस को रोकने की कोशिश की है इस हल्ला ब्रिगेड ने।

4- फिल्म का एक ही सन्देश है और वह ये की ईश्वर से हमारा तार जोड़ने से रोकने वाले ये धर्मगुरु ही बदमाश लाईन मैंन की भूमिका निभाते हैं और ये सच भी है।

5- फिल्म की हिन्दू नायिका एक पाकिस्तानी से प्रेम करती है, यह समस्या है मगर जब एक था टाइगर का नायक पाकिस्तानी नायिका को भगा ले जाता है तब हम प्रसन्न हो जाते हैं।

6- आमिर खान को लेकर हम गुस्स्सा करते हैं क्यूंकि वो एक मुस्लिम है मगर फिल्म के निर्माता विधु विनोद चोपड़ा, निर्देशक राज कुमार हिरानी और लेखक अभिजीत जोशी सहित अन्य कलाकारों को बख्श देते हैं।

लखनऊ के वरिष्ठ पत्रकार उत्कर्ष सिन्हा के फेसबुक वॉल से.

कृपया हमें अनुसरण करें और हमें पसंद करें:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *