यूपी में एटीएस ने कामरेडों को बिना वारंट घर से उठाया, विरोध में हुआ प्रदर्शन

हाल में देवरिया से फासीवाद विरोधी मोर्चा के कृपाशंकर, उनकी जीवन साथी बिन्दा, मजदूर किसान एकता मंच के बृजेश, उनकी जीवनसाथी सावित्रीबाई, संघर्ष समिति की प्रभा को यूपीएटीएस ने बिना वारंट के छापे मार कर विगत 7 जुलाई को सुबह करीब 4 बजे उनके आवास से उठा लिया।

वहीं दूसरी ओर उप्र के ही रहने वाले सामाजिक राजनैतिक कार्यकर्ता मनीष व उनकी जीवनसाथी तथा अनुवादक व लेखिका अमिता को भोपाल से नक्सलियों से संबंध रखने के फ़र्ज़ी मामले मे उठा लिया गया।

इनका कसूर सिर्फ इतना है की ये लोग लगातार दशकों से सरकारों के जनविरोधी नीतियों के खिलाफ बोलते लिखते रहे हैं।

इन सभी लोगों को जिस तरीके से गिरफ्तार किया गया इसे गिरफ्तारी नहीं बल्कि अपहरण ही कहेंगे। भाजपा की दूसरी बार सरकार बनते ही सामाजिक राजनैतिक कार्यकर्ताओं, बुद्धिजीवियों, पत्रकारों, महिलाओं व जनवाद पसंद लोगों पर हमले काफी तेज हो गए हैं। इन हमलों के खिलाफ ही आज 13 जुलाई 2019 को लंका गेट पर एक ‘प्रतिरोध मार्च व सभा’ का आयोजन किया गया।

सभा में अपनी बात रखते हुए भगत सिंह अम्बेडकर विचार मंच के श्री प्रकाश राय ने अपनी बात रखते हुए कहा कि आज के फासीवादी दौर में इस तरह की गिरफ्तारियों का विरोध करना होगा। All india secular forum की ओर से डॉ आरिफ ने बात रखते हुए कहा कि देश को बांटा जा रहा है और लोगों को उनके वास्तविक मुद्दे से भटका कर साम्प्रदायिकता की राजनीति की जा रही है।

SFC IIT BHU से वंदना ने मनीष व अमिता की रिहाई की मांग करते हुए कहा कि सभी राजनैतिक बंदियों को को रिहा किया जाना चाहिए तथा सरकारें कॉरपोरेट व साम्राज्यवादी देशो के लूट में दलाली का काम कर रही है। देश मे मजदूर किसान व सभी मेहनतकश आम जन का जीवन बदतर हो गया है।

BCM से अनुपम ने कहा कि जो भी मजदूर किसान व देश के नागरिको के हक़ अधिकार के लिए आवाज़ उठा रहा है उसको जेलों में डाल दिया जा रहा है। हम छात्र छात्राएं अगर आज उनके साथ नही खड़े हुए तो हम सब बट जाएंगे। हम सबकी लड़ाई बट जाएगी। अभी हाल में इलाहाबाद विवि में छात्र समग्र की मांग करते हुए कई छात्रों को गिरफ्तार कर लिया गया और उनके घर वालो को धमकी दी गयी।

कार्यक्रम का संचालन AIPWA की कुसुम जी ने किया। कार्यक्रम में नीतीश, शशिकांत, इप्शिता, विवेक, वंदना ,दीपक, रणधीर सिंह, चंदन, सौरभ यादव सहित तमाम छात्र छात्राये बुद्धिजीवी , प्रोफेसर, पत्रकार व बनारस के नागरिक उपस्थित रहे।

प्रेस विज्ञप्ति

कृपया हमें अनुसरण करें और हमें पसंद करें:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *