जाहिल एंकरों को सुप्रीम कोर्ट की टिप्पणी के बाद चुल्लूभर पानी में डूब मरना चाहिए!

नवीन कुमार-

सुप्रीम कोर्ट की टिप्पणी के बाद टीवी चैनलों के उन जाहिल, मूर्ख और नफरती एंकरों को चुल्लूभर पानी में डूब मर जाना चाहिए जिन्होंने भारतीय लोकतंत्र और संवैधानिक व्यवस्था को गाली दी है। इनमें आजतक से लेकर एबीपी न्यूज और रिपब्लिक से लेकर जी, टीवी18 तक के एक से एक जाहिल एंकर शामिल हैं।

इन सभी चैनलों के निर्लज्ज संपादकों और मालिकों को भी नूपुर शर्मा के साथ ही देश की जनता से माफी मांगनी चाहिए।

अभिषेक श्रीवास्तव-

सुप्रीम कोर्ट की आज की कार्यवाही की बुनियादी बात यह है- पत्रकार की वाणी और प्रवक्ता की वाणी के बीच का अंतर! विडंबना यह है कि गोदी-अगोदी दोनों ओर ज्यादातर पत्रकार प्रवक्ता बने हुए हैं। इसलिए यह टिप्पणी स्वस्थ होते हुए भी दुधारी तलवार है।

अमिताभ श्रीवास्तव-

नूपुर शर्मा को सुप्रीम कोर्ट की कड़ी फटकार की खबर दिखाने वाले न्यूज चैनल यह बात नहीं बता रहे कि अदालत ने उन पर भी कड़ी टिप्पणी की है कि वे एक खास तरह के एजेंडा को बढ़ावा देने के मक़सद से ऐसे विषय पर चर्चा करते हैं जो कोर्ट में विचाराधीन हैं।



 

भड़ास व्हाट्सअप ग्रुप ज्वाइन करने के लिए क्लिक करें- BWG-1

भड़ास का ऐसे करें भला- Donate

भड़ास वाट्सएप नंबर- 7678515849



One comment on “जाहिल एंकरों को सुप्रीम कोर्ट की टिप्पणी के बाद चुल्लूभर पानी में डूब मरना चाहिए!”

  • Ravindra nath kaushik says:

    ठीक। वैसे जनता ने भी सोशल मीडिया पर इन जजों के बारे में अपनी राय बताने में देर नहीं की। बारी सबकी आती है भाई

    Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published.

*

code