तिहाड़ की कैद से फिर आजाद न हो सके उपेंद्र राय!

उपेंद्र राय की किस्मत खराब कहें या उन पर सत्ता सिस्टम में बैठे अफसरों के एक प्रभावशाली गुट का प्रचंड कोप मानें, उनका तिहाड़ जेल से निकलना सपना होता जा रहा है. एक बार बहुत पहले वह जमानत पर छूटे थे तो तिहाड़ जेल से निकलते ही गेट पर उनको प्रवर्तन निदेशालय यानि ईडी की एक टीम ने अरेस्ट कर गाड़ी में बिठा लिया और लेकर अनजान जगह चली गई. बाद में उन्हें कोर्ट में पेश कर फिर से जेल में डाल दिया गया.

अब जब आखिरी मामले में भी दिल्ली हाईकोर्ट से जमानत मिल गई तो उनके परिजनों को उम्मीद थी कि उपेंद्र राय अबकी फाइनली बाहर आ जाएंगे. पर यह आशा जल्द ही निराशा में तब बदल गई जब उन्हें पता चला कि कोलकाता में दर्ज कराए गए एक केस में उपेंद्र राय को मिली अंतरिम जमानत का विरोध करते हुए कस्टडी में लेने की कोलकाता पुलिस की मांग पर दिल्ली की अदालत में निर्णय पेंडिंग है इसलिए उन्हें रिहा नहीं किया जा सकता.

अब परिजन दिल्ली हाईकोर्ट में कोलकाता पुलिस की याचिका के खिलाफ अपील दाखिल करेंगे. माना जा रहा है कि इस पूरी प्रक्रिया और इस पर फैसला आने में हफ्ते दो हफ्ते तो लग ही जाएंगे. उपेंद्र राय के परिजनों का कहना है कि कोलाकात में मामला डाला ही इसलिए गया था ताकि उपेंद्र राय को येनकेन प्रकारेण जेल में सड़ाया जा सके.

कोलकाता में दर्ज कराए गए मामले में इतना वक्त हो जाने के बाद भी पुलिस चार्जशीट दाखिल नहीं कर सकी है. उसका पूरा जोर बस उपेंद्र राय की जमानत खारिज कराने या कस्टडी में देने की मांग करने में रहता है. उपेंद्र राय के परिजनों का आरोप है कि ईडी के जिस प्रभावशाली अधिकारी के इशारे पर उपेंद्र राय को गिरफ्तार कराया गया, उस अफसर के और अफसर के परिजनों के कोलकाता पुलिस में बेहद उच्च स्तर पर पदस्थ लोगों से बेहद नजदीकी जुड़ाव है. यही कारण है कि कोलकाता में आनन-फानन में केस दर्ज कर उपेंद्र राय को किसी हाल में जेल से न निकलने देने की व्यूह रचना कर ली गई. फिलहाल उपेंद्र के जेल से रिहा न होने से उनके परिजन और उनके जानने-चाहने वाले बेहद मायूस हैं.

संबंधित खबरें….

उपेंद्र राय अब जेल से बाहर आ सकेंगे, अंतिम केस में भी मिली जमानत

उपेंद्र राय को सीबीआई रिमांड से मुक्ति मिली तो अब पश्चिम बंगाल पुलिस पीछे पड़ी

उपेंद्र राय तिहाड़ से निकलते ही फिर हुए गिरफ्तार, देखें वीडियो

सच्चाई के साथ हूं, जीतेंगे हम लोग : उपेंद्र राय

उपेंद्र राय के भतीजे ने वीडियो जारी कर कहा- ‘चाचा की जान खतरे में…’, देखें वीडियो

भड़ास व्हाट्सअप ग्रुप- BWG-10

भड़ास का ऐसे करें भला- Donate

भड़ास वाट्सएप नंबर- 7678515849

One comment on “तिहाड़ की कैद से फिर आजाद न हो सके उपेंद्र राय!”

  • महोदय, आप भी इस करप्ट मीडिया मिडिलमैन के मुरीद लगते हैं।

    Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published.

*

code