गाजीपुर में अरेस्ट किए गए दस युवा सत्याग्रहियों में एक महिला पत्रकार भी है!

यह है एक लड़की- प्रदीपिका सारस्वत।

इस लड़की को गाजीपुर प्रशासन ने गिरफ्तार कर देश और दुनिया को अपनी बहादुरी का सबूत दिया है। इस लड़की का अपराध है- महात्मा गांधी के सत्य और अहिंसा में आस्था।

गांधी के 150 वें जन्मदिन के अवसर पर यह लड़की उन दस सत्याग्रही युवजनों के जत्थे में शामिल है जो चौरी चौरा से चलकर राजघाट दिल्ली जा रहा था और जिसे गाजीपुर में गिरफ्तार कर लिया गया है।

यह लड़की काशी विश्वविद्यालय से पढ़ी बहादुर लड़की है। पत्रकार है।

अकेले नहीं हो, लड़ो, विश्वविद्यालय को तुम पर नाज है प्रदीपिका।

लेखक चंचल बनारस हिंदू विश्वविद्यालय के छात्रसंघ अध्यक्ष रह चुके हैं. वे जाने-माने रंगकर्मी, पत्रकार और राजनेता भी हैं. उपरोक्त कंटेंट उनके एफबी वॉल से लिया गया है.

संबंधित खबरें-

ये कौन एसडीएम है जिसने विद्रोह की धरती गाजीपुर की नाक कटा दी!

कलेट्टर के नाम खत : गाजीपुर कोई वर्जित क्षेत्र नहीं जिसकी जमीन से गुजरना कोई जुर्म बनता है!

‘नागरिक सत्याग्रह पदयात्रा’ पर निकले युवाओं को गाजीपुर में पुलिस ने अरेस्ट कर लिया!



भड़ास व्हाट्सअप ग्रुप- BWG-10

भड़ास का ऐसे करें भला- Donate






भड़ास वाट्सएप नंबर- 7678515849

Leave a Reply

Your email address will not be published.

*

code