पत्रकार ने निजी ज़िंदगी में ताकझांक करने वाले डीएम की शिकायत सीएम से की, पढ़ें लेटर

सेवा में

आदरणीय मुख्यमंत्री

उत्तर प्रदेश सरकार

विषय : झाँसी के डीएम आन्द्रा वामसी द्वारा अमर्यादित आचरण व प्रताड़ित करने के सम्बंध में।

महोदय,

अनुरोध है कि प्रार्थी लक्ष्मी नारायण शर्मा झाँसी जनपद में बतौर पत्रकार एक प्रतिष्ठित मीडिया समूह के जिला संवाददाता के रूप में कार्यरत रहा है और अपने पूरे कार्यकाल में झाँसी के डीएम आन्द्रा वामसी के व्यवहार से प्रताड़ित रहा है। पहली बार उनके खिलाफ कोई शिकायत दर्ज करा रहा हूँ क्योंकि उन्होंने अपने पद की गरिमा का उल्लंघन और सीमाओं को पार कर मेरे निजी जीवन मे ताकझांक की और मेरे चरित्र हनन के काम में सार्वजनिक रूप से खुलकर सामने आ गए हैं। प्रार्थी इस समय मानसिक अवसाद की स्थिति में है और उसके साथ होने वाली किसी भी अप्रिय घटना के लिए आन्द्रा वामसी निजी तौर पर जिम्मेदार होंगे।

महोदय, अवगत कराना है कि मैंने कोविड के पहले दौर से लेकर अब तक झांसी जनपद में स्वास्थ्य सेवाओं को लेकर आ रही समस्याओं को शासन और प्रशासन तक पहुंचाने का सम्भव प्रयास किया। महत्वपूर्ण समाचारों को डिजिटल प्लेटफार्म के माध्यम से मुख्यमंत्री कार्यालय तक भी पहुंचाने की कोशिश की। उच्च स्तर पर ऐसे समाचारों के पहुंचने से शासन ने झाँसी में दिलचस्पी दिखाई और तत्काल निराकरण की दिशा में कदम उठाने के निर्देश दिए गए। किसानों से जुड़े कई विषयों व जन प्रतिनिधियों की बातों को भी प्रमुखता से प्रकाशित कर उन्हें शासन व प्रशासन तक पहुंचाने की कोशिश की। इस दौरान जिस भी समाचार को मैंने शासन के संज्ञान में लाने की कोशिश की, वे हर बार मुझे निजी तौर पर अपने बंगले पर बुलाकर सबक सिखाने की धमकी देते रहे।

डीएम आन्द्रा वामसी ने पहली बार दिनांक 08.05.2020 को मुझे अपने बंगले पर बुलवाया और दोपहर तीन बजे से सवा चार बजे तक अपने चैंबर में मुझे बंधक बनाया और मेरी इच्छा के विरुद्ध एक घण्टे से अधिक समय तक बिठाए रहे थे और विभिन्न तरह के अपशब्द कहे व धमकी दी। यह उनके द्वारा पहली बार किया गया दुर्व्यवहार था। वे उस खबर से नाराज थे जिसमें कोविड के प्रथम चरण में बिना मास्क पहने उन्हें सड़कों पर वाहन चेक करते दिखाया गया था। यह खबर ईटीवी भारत की वेबसाइट पर अभी भी उपलब्ध है। इसके बाद उन्होंने विभिन्न खबरों को लेकर मुझसे निजी तौर पर कई बार दुर्व्यवहार किया। इनके इतने बड़े पद पर होने के कारण मैंने कभी इनके खिलाफ शिकायत करने की चेष्टा नहीं की। अपना ध्यान खबरों के लेखन पर ही केंद्रित रखा।

महोदय, पिछले कुछ समय से कृषि विभाग, सिंचाई विभाग और वन विभाग पर झांसी के किसान संगठन द्वारा लगाए गए आरोप और उनके समाचार प्रकाशन से वे बेहद नाराज थे। महोदय जब वे कानूनी रूप से कुछ कर पाने में अक्षम रहे तो सार्वजनिक रूप से मेरे चरित्र हनन पर उतर आए। महोदय उन्होंने मेरी एक तस्वीर हासिल की, जिसमें मेरी एक परिचित महिला मेरे साथ बाइक पर बैठी है। उन्होंने गलत आशय के साथ यह तस्वीर झाँसी में 19.09.2021 को सांसद अनुराग शर्मा की प्रेस कांफ्रेंस के दौरान सार्वजनिक करने की कोशिश की। मेरे द्वारा इस पर आपत्ति जताई गई और अगले दिन 20.09.2021 को झांसी के कमिश्नर से इस मामले की शिकायत की गई। शिकायत के कुछ ही घण्टे बाद उन्होंने मानवेंद्र यादव नाम के व्यक्ति द्वारा इस तस्वीर को फेसबुक से वायरल करा दी। यह तस्वीर वे झाँसी के सदर विधायक रवि शर्मा को भी दिखा चुके हैं। मेरे निजी जीवन में ताकझांक करके मेरे परिवार और निजी जीवन को भी अव्यवस्थित किया गया। 

महोदय, जब तस्वीर वायरल होने के बाद उनके खिलाफ अभियोग पंजीकृत कराने के लिए मैंने झाँसी के एसएसपी को तहरीर दी तो डीएम काफी नाराज हुए। आन्द्रा वामसी मूल रूप से दक्षिण भारत के रहने वाले हैं और अपने निजी सम्बन्धों का उपयोग कर दक्षिण भारत केंद्रित मेरे संस्थान ईटीवी भारत से मुझे निष्कासित करवा कर मेरी आजीविका भी छीन ली। महोदय मेरे शिकायतों की किसी निष्पक्ष एजेंसी से जांच कराकर इस मामले में झांसी के डीएम आन्द्रा वामसी के खिलाफ वैधानिक कार्रवाई करने का कष्ट करें।

लक्ष्मी नारायण शर्मा

पत्रकार

निवास – आईटीआई, सिद्धेश्वर नगर

झांसी – 284003

मोबाइल – 09454013045

भड़ास के माध्यम से अपने मीडिया ब्रांड को प्रमोट करें. वेबसाइट / एप्प लिंक सहित आल पेज विज्ञापन अब मात्र दस हजार रुपये में, पूरे महीने भर के लिए. संपर्क करें- Whatsapp 7678515849 >>>जैसे ये विज्ञापन देखें, नए लांच हुए अंग्रेजी अखबार Sprouts का... (Ad Size 456x78)

भड़ास की खबरें व्हाट्सअप पर पाएं, क्लिक करें- Bhadas WhatsApp News Alert Service

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *