जिंदल के चैनल ‘फोकस’ ने राहुल गांधी को बीजेपी उपाध्यक्ष घोषित किया

लाइव इंडिया नामक न्यूज चैनल अपने मालिक के घर के पार्टी फंक्शन को लाइव प्रसारित करने के कारण बदनाम है तो फोकस नामक चैनल नवीन जिंदल के निजी खेल, समारोह, चुनाव आदि को दिन भर लाइव दिखाने के लिए कुख्यात हो चुका है. इसी जिंदल के फोकस नामक चैनल ने अब तो राहुल गांधी को भारतीय जनता पार्टी का राष्ट्रीय उपाध्यक्ष घोषित कर दिया है. इतनी बड़ी गलती फोकस टीवी पर लाइव चली लेकिन किसी वरिष्ठ पत्रकार की नजर इस पर नहीं पड़ी.

लाखों रुपये सेलरी लेने वाले नामधारी पत्रकारों ने भी मान लिया है कि फोकस तो जिंदल के जिद पर चल रहा है इसलिए यहां पत्रकारिता करने या पढ़ने-लिखने से कोई मतलब नहीं है, सो जो कुछ चैनल पर चल दिख रहा है, उसे चलने दिखने दो. पर दर्शकों के पास कई आंख नाक कान होते हैं. भड़ास के पास कई दर्शकों ने मेल करके फोकस टीवी की गलती को मय तस्वीर भेजा है जिसे यहां प्रकाशित किया जा रहा है.

कहीं ऐसा तो नहीं कि आजकल टीवी चैनल वाले बीजेपी से इतने अधिक प्रभावित हैं कि चैनलों ने राहुल गांधी तक को भी बीजेपी का उपाध्यक्ष दिखाना शुरू कर दिया है. पिछले दिनों राहुल गांधी ने झारखंड में एक चुनावी रैली को संबोधित किया था लेकिन कांग्रेसी सांसद रहे और इन दिनों परेशान घूम रहे नवीन जिंदल के चैनल फोकस टीवी ने राहुल गांधी का परिचय बीजेपी उपाध्यक्ष के रूप में करा दिया. अब सवाल ये है कि जिस पार्टी से नवीन जिंदल संबंध रखते हैं अगर उसी पार्टी के मालिक का नाम ही सही नहीं दिखा सकते हैं तो इस चैनल में काम करने वाले लोग किसी काम के नहीं हैं.

  • भड़ास की पत्रकारिता को जिंदा रखने के लिए आपसे सहयोग अपेक्षित है- SUPPORT

 

 

  • भड़ास तक खबरें-सूचनाएं इस मेल के जरिए पहुंचाएं- bhadas4media@gmail.com

Comments on “जिंदल के चैनल ‘फोकस’ ने राहुल गांधी को बीजेपी उपाध्यक्ष घोषित किया

  • यशवंत जी नमस्कार

    राहुल गांधी को भाजपा अध्यक्ष बताने वाली खबर पढ़ी। बेहद शर्म की बात है कि अपने आप को राष्ट्रीय चैनल बताने वाला एक चैनल ने ये किया। सिर्फ और सिर्फ ज़ी न्यूज़ के खिलाफ बदले के उद्देश्य से शुरुआत हुए इस चैनल में ये तो होना ही है , वैसे फोकस चैनल को खुद के प्रमोटर का नाम भी नहीं मालूम या फिर यू कहें कि अपने अवैध बाप का नाम वो लेना नही चाहता। जो चैनल का असली मालिक है कागज में उसके नाम नहीं है और जिसके कागज़ में नाम में असल में उसकी चलती नहीं है ये हाल है फोकस चैनल का । इस चैनल का वश चले तो पोलो को राष्ट्रीय खेल घोषित करवा दे और चैनल देख कर लगता है कि देश मे घोड़ो के पोलो में केवल एकमात्र खिलाडी बचा हुआ है जिसका नाम नवीन जिंदल है,कोयला घोटाला में भ्रष्टाचार के आरोपों से लदे नवीन जिंदल चुनाव हारने के बाद इन दिनों फोकस टीवी पर पोलो खेलते नजर आ रहे है, तो कभी पुलिस मुख्यालय जाकर जी वालों पर कार्रवाई करने का दबाव बना रहे हैं, भडास ने ही एक बार बताया था कि फोकस को कांग्रेसी सांसद ने खरीद लिया लेकिन पिछले दरवाज़े से। पिछले दरवाज़े से तो वो काम करते हैं जिनके मन में चोर हो या खुद फ्राड हो। सुना है कि फोकस टीवी के स्टाफ को ये कहा गया है कि जी वालों को बदनाम करने के एक भी मौका छोड़ना नहीं है इसलिये तो फोकस पर केवल नवीन जिंदल का गुणगान चलता है और ज़ी वालों की एंटी खबर चलती है।

    निमिश
    भडास4मीडिया का एक फैन

    Reply
  • कवीन्द्र says:

    भइया, यहां सहारा समय से आए कुछ महान पत्रकारों का जलवा है, जो पी-7 को डुबोने के बाद यहां आकर बैठ गए। इतने संपन्न चैनल का इतना घटिया प्रजेन्टेशन- सही है बीबीसी की रिपोर्टिंग कर लेने भर से कोई अच्छा संपादक नहीं हो जाता।

    Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *