मृत्यु को महोत्सव बनाने का विलक्षण उपक्रम है संथारा

जैन धर्म में संथारा अर्थात संलेखना- ’संन्यास मरण’ या ’वीर मरण’ कहलाता है। यह आत्महत्या नहीं है और यह किसी प्रकार का अपराध भी नहीं है बल्कि यह आत्मशुद्धि का एक धार्मिक कृत्य एवं आत्म समाधि की मिसाल है और मृत्यु को महोत्सव बनाने का अद्भुत एवं विलक्षण उपक्रम है। तेरापंथ धर्मसंघ के वरिष्ठ सन्त ‘शासनश्री’ मुनिश्री सुमेरमलजी ‘सुदर्शन’ ने इसी मृत्यु की कला को स्वीकार करके संथारे के 10वें दिन चैविहार संथारे में दिनांक 4 अगस्त 2018 को सुबह 05.50 बजे देवलोकगमन किया। Continue reading

कृपया हमें अनुसरण करें और हमें पसंद करें:

अब यह जैन मुनि निकला रेपिस्ट, हुआ अंदर!

Shishir Soni : बहुरूपिये समाज के तेजी से स्खलित होने का परिणाम है जैन मुनि का कुकृत्य और उनकी गिरफ्तारी. इन्हे जूते की माला पहना कर सार्वजनिक अभिनन्दन करना चाहिए. आये दिन ये खबरें आती हैं की फलां करोड़पति सांसारिक वैभव को छोड़ जैन मुनि बन गया. लेकिन उन तपस्वी मुनियों के बीच से ऐसी बजबजाती दुर्गन्ध आये तो समाज का स्वरुप क्या होगा? मन सिहरता है ये सोच कर.

अपने एक जैन मित्र के साथ कई जैन मुनियों से मिला. यकीन मानिये किसी से प्रभावित नहीं हुआ. बातों में कोई गहराई नहीं. वाणी में माधुर्यता का रसखान नहीं. बेहद सतही प्रवचन. कई तो स्वनामधन्य महा-मूर्ख भी मिले. हो सकता है ऐसे मुनि हों जिन्हें सुनने का अवसर नहीं मिला हो और वो अच्छा ज्ञान रखते हों. अच्छा कनेक्ट करने की विधा में पारंगत हों. लेकिन ज़्यदातर मुनियों की एक ही लालसा होती है कि हमारे चातुर्मास या अन्य धार्मिक समागम में बड़े-बड़े राजनेता आएं.

क्यों भाई! ये नेताओं की लालसा क्यों? क्यूंकि मुनियों में आपसी प्रतिद्वंता जबरदस्त है. खुद को दूसरे मुनियों से श्रेष्ठ दिखाने के लिए वीवीआईपी आमद कैसे बैढे इसकी खुशामद में वे कुछ जैन धन्ना सेठों का बगलबच्चा बने रहते हैं. उसके ऐवज में, धर्म की आड़ में वो धन्ना सेठ अपना उल्लू सीधा करने में लगा रहता है. ऐसा कमोबेश हर धर्म में प्रचलित रहा है. सादगी की प्रतिमूर्ती माने जाने वाले जैन धर्म गुरुओं और जैन धर्मावलम्बियों में ऐसी गंदगी तेजी से घर कर रही है. जो सर्वथा शर्मनाक है. वृहत समाज के लिए घातक भी.

दिल्ली के वरिष्ठ पत्रकार शिशिर सोनी की एफबी वॉल से.

कृपया हमें अनुसरण करें और हमें पसंद करें:

जैन टीवी वाले डाक्टर जेके जैन और उनके सुपुत्र अंकुर जैन का नया फर्जीवाड़ा… (सुनें ये आडियो टेप)

Dear Sir, I am sending a conversation between a company Vice president HR and Project GM. Company working for Indian Goverment health projects like NRHM and etc. They recruit fake doctors without any verification and they recruiting 50 above doctors from 2009 to till date.

Company also involve in NRHM scam and its ex CEO Mr Atul prakash Nigam is in Dashna Jail for NRHM scam. Without verifying of documents they can not recruit doctors because its matter of Public health and life. You can check Voice clips as a proof.

Company Name – Dr Jain Video On wheels Ltd a sister concern of Jain Studios Ltd.
Address – Scindia villa , near Hotel hayat,Ring Road sarojini Nagar -110023
Current CEO- Dr Alok Lodh
Director – Shalini Dhandha
Owner-Dr JK Jain and his Son Mr Ankur Jain

आडियो टेप यूं है…

एक मीडियाकर्मी द्वारा भेजे गए पत्र पर आधारित.

इसे भी पढ़ें…

पत्रकार की खाल में दलाल… (सुनें आडियो टेप)

xxx

आलोक तोमर के कर्जदार डा. जेके जैन को सुप्रिया ने चेताया

xxx

मीडिया घरानों को ब्लैकमेल करने वाली जोड़ी

xxx

सेठजी, मीडिया ना बन जाइए

कृपया हमें अनुसरण करें और हमें पसंद करें: