जी पुरवइया कथा : कांप्रोमाइज न करने पर प्रताड़ित की जा रही महिला पत्रकार ने खोला कच्चा चिट्ठा, दिया इस्तीफा (पढ़ें पूरा पत्र)

नमस्कार सभी को…

अब मैं ज़ी पुरवईया की हिस्सा नहीं हूं… इसलिए कुछ बातें बताना बेहद ज़रूरी है… आप सभी को ये लग रहा होगा कि अचानक आख़िर मैंने क्योँ रिज़ाइन कर दिया… मुझे पता है संपादक महोदय ठीक उसी तरह कहेंगे जैसे अभिमन्यु सर के इस्तीफे के बाद कहा गया था कि मैंने उसे निकाला है… इसलिए मैं ख़ुद उस इस्तीफ़े की कॅापी इस मेल में लगा रही हूँ… ताकि लोगों को सच्चाई भी पता चले और बहुरुपिया संपादक का काला और घिनौना चेहरा भी सामने आए… मेरे छोड़ने का कारण नीचे दिए गए त्याग पत्र की कापी में उल्लखित है….

इस्तीफ़े की कॅापी ये है…

सर,

बहुत अफ़सोस हो रहा है ये कहते हुए कि अब मैं इस चैनल में काम नहीं कर सकती… ऐसी कोई वजह ही नहीं बची अब कि मैं इस संस्थान में काम कर पाउं…. सबसे पहले यहां के सबसे उच्च अधिकारी (शिवपूजन झा) के द्वारा ‘कॉंप्रोमाइज़’ की बात की अवहेलना करना… जिसका ख़ामियाज़ा मुझे अप्रेज़ल में चुकाना पड़ा… और पिछले कुछ दिनों में बिना वजह मेरे साथ जो सौतेला व्यवहार किया जा रहा है.. अब मैं उन सभी चीज़ों से थक गई हूं….. मैंने कई दफ़े अपनी बात दिल्ली तक भी पहुंचाने की कोशिश की… पर उनको सबूत चाहिए था… एक लड़की अपने साथ हुए ‘उस व्यवहार’ का सबूत कैसे दे… ये मैं नहीं समझ पाई… क्या मुझसे उस वीडियो की उम्मीद की जा रही थी जो कॉंप्रोमाईज़ करने के बाद बतौर सबूत मैं पेश कर सकती थी…

अफ़सोस होता है सर… करियर के शुरुआत में ही ऐसा धक्का मुझे मिला है इस चैनेल से, जो मेरे शब्द भी शायद ज़ाहिर ना कर पाएं…. मिडिल क्लास से ताल्लुक रखने की वजह से ये सीखा कि चीज़ों को संभाल कर चलूं… नज़रअंदाज़ करके चलूं.. पर हूं तो आख़िर इंसान ही… ज़ी पुरवईया में काम सीखा… रोटी मिली… कुछ अच्छे रिश्ते भी बने… पर साथ ही बहुत सारी कड़वी यादें भी लेकर जाउंगी… जो भगवान ना करे मेरी उम्र की किसी लड़की के हिस्से में कभी आए…. मेरा परिवार यहीं है… बहुत ख़ुश थी जब इंटर्न बनकर यहां आई थी… पर अब मुझे यहां सिवाय मानसिक प्रताड़ना के कुछ नहीं मिल रहा… ऐसी जगह मैं बिल्कुल काम नहीं करना चाहती जहां लोग अपनी ग़लती छिपाने के लिए दूसरे की गरदन मरोड़ देते हों…. मेरा भविष्य यहां नहीं..इसलिए मुझे जल्द से जल्द यहां से आज़ाद करें… बहुत कृपा होगी क्योंकि मेरा दम अब घुटता है यहां… कृपया इस इस्तीफ़े को क़बूल करें और मुझे अतिशीघ्र इस चैनल से मुक्त करें…

धन्यवाद

प्रतिभा


इन्हें भी पढ़ें…

‘झा-झा गैंग’ बनाकर मलाई जीम रहे शिवपूजन, ‘जी पुरवैया’ चले या भाड़ में जाए

xxx

‘ज़ी पुरवइया’ ने अपने आठ मीडिया कर्मियों को नौकरी से निकाला

xxx

‘ज़ी पुरवइया’ से एंकर सैयद हुसैन का इस्तीफ़ा

xxx

भुखमरी की कगार पर पहुँच गए जी पुरवइया के स्ट्रिंगर

 

भड़ास की खबरें व्हाट्सअप पर पाएं, क्लिक करें-

https://chat.whatsapp.com/Bo65FK29FH48mCiiVHbYWi

Comments on “जी पुरवइया कथा : कांप्रोमाइज न करने पर प्रताड़ित की जा रही महिला पत्रकार ने खोला कच्चा चिट्ठा, दिया इस्तीफा (पढ़ें पूरा पत्र)

  • संपादक जी को क्या तमाचा मारा है इस लड़की ने. जी ग्रुप के बिहार-झारखंड के रीजनल न्यूज चैनल ‘जी पुरवइया’ के हेड हैं झा साहब. पत्रकारिता छोड़कर बाकी सारा काम बेहद इमानदारी से करते हैं. मांस मदिरा मैथुन मुद्रा आदि के शौकीन तो इस कदर हैं कि वे पत्रकारों रखने निकालने के मामले में इन्हीं 4एम का ध्यान रखते हैं. कई लड़कों ने उनकी शिकायत दिल्ली आफिस से की लेकिन धंधेबाज जी ग्रुप को तो ऐसे ही संपादक चाहिए. सो, झा साहब का राज चलता रहा और इस तरह चलती रही झा एक्स्प्रेस क्योंकि झा साहब चुन चुन कर झा लोगों को रखने लगे हैं. पर एक लड़की ने ऐसे तमाचा उन्हें मारा है कि उसकी झन्नाटेदार आवाज देर तक उन्हें सुनाई देती रहेगी. उम्मीद करते हैं कि झा साहब आगे से अपने बेसिक इंस्टिंक्ट्स की पूर्ति के लिए पत्रकारिता का सहारा नहीं लेंगे बल्कि छुट्टी लेकर देश-विदेश भ्रमण कर आएंगे ताकि जब वो संपादक रहें तो संपादकीय गरिमा का ध्यान ख्याल रखें.

    Reply
  • Ye shivpujan langot ka v dhila nikla….madira mans k party to karta h tha ab ye Bhai karne laga shame shame..ye kahi noukari karne k kayak nahi hai…iske ghar m Maa, bahan nahi hai kya..ye sab JHA JHA gang ksabhi log shamil hai….jaise Dhiraj Thakur, Pramod JHA, aditya jha, Abhishek JHA, sumit JHA,amit JHA sab sabhi shivpujan me dalal hai or shivpujan mahrani hai sadak movie m Jo character tha..

    Reply
  • Rajpandey says:

    Bahut ganda hai shivpujan maa bahan mar gayi ho to patni hai is tarah c nahi Karna chahiye….shivpujan k is kartut chapne k bad JHA JHA gang k sleeper cell active ho gaya …jab ye msg type kar raha honga saare shivpujan ke dalal shivpujan ke saath madira k saath man than kar rahe hai apne flat k guard room m…kaha party all night…

    Reply
  • Rajnish Jha says:

    इस्तीफे के साथ अगर न्यूजरुम में संपादक को सेंडल मारकर लड़की चैनल छोड़ती तो ज्यादा बेहतर होता…

    Reply
  • मधुबनी में “जी पुरवैया” चैनल के जो संवाददाता हैं वो सरकारी सेवा में हैं,वो सरकारी सेवा मेवा भी पा रहे हैं और मीडिया को हथियार बनाकर उसका भी फायदा उठा रहे हैं। पर पता नही क्यों ना तो यहां की प्रशासन उनके खिलाफ कुछ कर रही है ना ही मीडिया हाउस। मुझे उम्मीद है की आपके पोर्टल पे ये खबर आने के बाद कम से कम मीडिया हाउस तो जरूर इनके खिलाफ कार्रवाई करेगी।
    1. बिंदु भूषण ठाकुर जो की ज़ी मीडिया और डीडी न्यूज़ दोनों के लिए काम कर रहे हैं साथ ही साथ ये जुमिनाईल कोर्ट में बतौर मजिस्ट्रेट हैं।

    Reply
  • manoj sinha says:

    महाशय……बिहार में अभी हाल में शुरु हुये एक चैनल नयूज 11 की हीलत तो इससे भी बदतर है …..एस के राजीव अपनी टीम के साथ कशिश छोङ यहां आये तो सही लेकिन चैनल के मालिक अरुप चटर्जी को लङकी और शराब नहीं पहुंचानें के कारण बेचारे को टीम सहित नौकरी छोङनी पङी।फिलहाल चैनलों के लिये ये अव ट्रेंड सा बन गया है और इसमें वही लोग टीक रहे हैं जो अपनी आवरु को चैनल में गिरवी रख रहे हैं——ऐसे मादरजातों को सरेआम नंगा किया जाना चाहिये लेकिन हमारे आपके बीच से ही ऐसे पत्रकार हैं जो वो सारे घिनौने काम करने को तैयार है जिसकी अपेक्षा चैनल के मालिकान उनसे करते हैं——

    Reply
  • Arun tiway says:

    Sagar ratna jee shivpujan k bahut dafadar kutta hai aap jars pura office ki jaankari lijiye tab gyan dijiye… Shivpujan Jo kiya hai bahut ganda kam kiya hai…wobapni maa or bahan k saath kyo nahi kiya…pahli noukari hai sampadak k yaha Sikh raha hai kya main use shiprasuncity c jAnta hu…samjhe..bina samjhe yaha par gyan nahi dijiye…

    Reply
  • saccha aadmi says:

    ye shivpujan bada tharki kisam ka insaan hai…..saale ko me jaanta hu kaafi saalo se…..kutte ne jarur kaha hoga is ladki ko…….is kamine insaan ko kahi bhi nokri nahi milni chahiye….par kya kare…..saali ye line hi aisi hai…kare koi or bhare koi…..shivpujan MURDABAD

    Reply
  • dekho pratibha ab tumhari pratibha ki chamak feekin pad gayio isliye tumhe resgin karna pada waise purwaiya me shoshan sab din hota raha hai kabhi ladko ka kabhi ladkiyon ka koi nai baat nahi hai aur yahan jo bhi sampoadak bana usne salary se matlab rakha chaneel se nahi isliye tumhare baat me koi nayapan nahi hai prakash jha ke bhagina ne bhi bahut ladkiyon ka shoshan kiya

    Reply

Leave a Reply to saccha aadmi Cancel reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *