एबीपी न्यूज का सत्यानाश हो गया, सातवें नंबर पर आंसू बहा रहा है

हाल के दिनों में अगर टीआरपी के लिहाज से किसी न्यूज चैनल का सर्वाधिक पतन हुआ है तो वो है एबीपी न्यूज. ये चैनल लगातार सातवें नंबर पर आंसू बहा रहा है. रिपब्लिक भारत और टीवी9भारतवर्ष जैसे चैनल इससे आगे निकल चुके हैं. पर एबीपी न्यूज के कर्ताधर्ता सोए पड़े हैं.

एबीपी न्यूज की कमान इन दिनों मार्केटिंग के लोगों के पास हैं जिनका इतिहास कुख्यात और दागदार रहा है. इनके अधीन जो संपादकीय टीम है, वो फ्री हैंड नहीं है. न तो नया सोच विचार है और न ही कोई विजन. ऐसे में चैनल को लुढ़कना ही था. बस देखना है कि ये चैनल दहाई में अपनी टीआरपी बचाए रख पाता है या फिर ईकाई केंद्रित टीआरपी लेकर सबसे पिटे हुए चैनलों में शुमार होता है…

देखें 27वें हफ्ते की टीआरपी में एबीपी न्यूज की स्थिति….

Weekly Relative Share: Source: BARC, HSM, TG:NCCS 15+,TB:0600Hrs to 2400Hrs, Wk 27

Aaj Tak 16.3 up 1.5
India TV 12.0 dn 0.3
TV9 Bharatvarsh 11.8 dn 1.3
Zee News 11.5 dn 0.7
Republic Bharat 10.8 dn 0.3
News18 India 10.8 up 0.5
ABP News 10.1 up 0.3
News Nation 5.4 dn 0.5
Tez 4.5 same
News 24 3.6 up 0.5
NDTV India 2.1 dn 0.4
India News 1.0 up 0.4

TG: NCCS AB Male 22+
Aaj Tak 15.5 up 1.2
India TV 12.7 dn 0.3
Zee News 12.1 dn 0.5
TV9 Bharatvarsh 11.4 dn 1.2
News18 India 10.9 up 0.9
Republic Bharat 10.8 dn 0.5
ABP News 9.9 up 0.2
News Nation 5.7 dn 0.4
Tez 3.7 up 0.2
News 24 3.7 up 0.4
NDTV India 2.5 dn 0.5
India News 1.2 up 0.6

पूरे प्रकरण को समझने के लिए इन्हें भी पढ़ें-

TRP में सेकेंड नंबर पर आया इंडिया टीवी, प्रोग्राम कॉपी करने का लगा आरोप

टीआरपी में इंडिया टीवी दूसरे नंबर पर आया तो टीवी9 वाले पत्रकारों ने किया कमेंट- ‘लगता है ईवीएम ठीक हो गई!’

टीवी9भारतवर्ष ज्वाइन करने पर इसी इंडस्ट्री के स्थापित महानुभाव मेरे लिए आत्मघाती कदम की भविष्यवाणी कर रहे थे : संत प्रसाद

रजत शर्मा को ‘सबूत’ समेत बता दी गयी उनकी रिकॉल वैल्यू!

‘आजतक’ वाले नवीन कुमार ने ‘एबीपी’ वालों की ‘सुट्टा पत्रकारिता’ का किया विश्लेषण, देखें वीडियो

एबीपी गंगा की कमान अब रोहित सांवल को, राजकिशोर नेशनल में भेजे गए

अहंकार में डूबे रजत शर्मा ने टीवी9भारतवर्ष के चार एंकरों के बारे में ये क्या कह दिया!

भड़ास की खबरें व्हाट्सअप पर पाएं
  • भड़ास तक कोई भी खबर पहुंचाने के लिए इस मेल का इस्तेमाल करें- bhadas4media@gmail.com

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *