छुट्टी से लौटे रिपोर्टर को संपादक ने काम से रोका, दोनो में मारपीट होते होते बची, माहौल तनावपूर्ण

भोपाल : मजीठिया वेतनमान की मांग को लेकर दैनिक जागरण के सीईओ संजय गुप्ता के खिलाफ नई दुनिया, भोपाल के कर्मचारियों द्वारा सुप्रीम कोर्ट में अवमानना याचिका दायर होने के बाद जागरण अखबार प्रबंधन बौखला गया है। छुट्टी से लौटे रिपोर्टर को काम से रोकने पर गत दिनो यहां नई दुनिया के संपादक से मारपीट होते होते रह गई। इसके बाद दफ्तर का माहौल काफी तनावपूर्ण हो गया है।   

बताया गया है कि जागरण प्रबंधन नई दुनिया भोपाल के कर्मचारियों को प्रताड़ित करने लगा है, जिसको लेकर वहां माहौल तनावपूर्ण हो गया है। इसकी एक बानगी विगत दिनो उस समय देखने को मिली, जब नई दुनिया के सीनियर जर्नलिस्ट और क्राइम रिपोर्टर समर सिंह यदुवंशी छुट्टी से लौटकर कार्यालय ड्यूटी पर पहुंचे। 

यदुवंशी को ऑफिस में देखते ही संपादक सुनील शुक्ला ने सिटी चीफ को आदेश दे दिया कि समर से कोई काम न लिया जाए। इसके बाद शुक्ला ने समर को अपने चैंबर में बुलाकर उनसे छुट्टी से लौटने के बहाने आपत्तिजनक बातें कहीं। इस पर समर ने भी मुंहतोड़ जवाब देते हुए खरीखोटी सुना दी। दोनों के बीच लगभग बीस मिनट तक आपस में वाद-विवाद हुआ।

बताया जाता है कि मामला इतना बढ़ गया कि बीच बचाव के लिए स्टेट ब्यूरो और अन्य डेस्क के मीडियाकर्मियों को संपादक के चैंबर में घुसना पड़ा। संपादक हमला ही करने वाले थे कि उन्हें लोगों ने पकड़ कर रोक लिया। इस घटनाक्रम के बाद से यहां के संपादकीय स्टॉफ में काफी रोष है। उनका कहना है कि जिस व्यक्ति ने अपने पूरे पत्रकारीय जीवन में केवल मेडिकल बीट की रिपोर्टिंग की है, उसको जागरण मैनेजमेंट ने यहां का संपादक बना दिया है। जब तक प्रबंधन चुप था तो हम भी चुप रहे। अब यदि हमे परेशान किया जाएगा तो संपादक समेत अन्य अधिकारियों को भी लेबर कोर्ट में घसीटा जाएगा। 

  • भड़ास की पत्रकारिता को जिंदा रखने के लिए आपसे सहयोग अपेक्षित है- SUPPORT

 

 

  • भड़ास तक खबरें-सूचनाएं इस मेल के जरिए पहुंचाएं- bhadas4media@gmail.com

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *