मोदी राज आने के बाद ओम थानवी को परिचर्चा के लिए नहीं बुलाता दूरदर्शन

ओम थानवी प्रतिष्ठित हिंदी दैनिक जनसत्ता के संपादक हैं. बेहद तार्किक और जनपक्षधर पत्रकार माने जाते हैं. सत्ता की भाषा के खिलाफ जनता की भाषा कहने बताने लिखने के लिए जाने जाते हैं. वे अक्सर कई टीवी चैनलों पर परिचर्चाओं में दिख जाते हैं. उनके विरोधी भी उनकी तार्किकता और तथ्यपरकता के कायल हैं. पर जबसे मोदी सरकार केंद्र में आई है तभी से ओम थानवी को सरकारी टीवी चैनल दूरदर्शन ने ब्लैकलिस्टेड कर दिया है. ओम थानवी ने खुद इसका खुलासा अपने फेसबुक वॉल पर किया है. पढ़िए, वे क्या लिखते हैं…

#omthanvi

Om Thanvi : दूरदर्शन वाले अब हमें नहीं बुलाते। दो-ढाई महीने से। हालांकि यह मत सोचिएगा कि मुझे उनकी याद सता रही है; जाता था तब भी उन्हीं की गरज पूरी करता था। तीन-चार चैनल अब भी रोज बुलाते हैं; रोज तो नहीं पर जब-तब किसी चैनल पर हो आता हूँ अगर उस शाम कहीं नाटक, सिनेमा, भोज, समारोह आदि में न जाना हो। यानी अपनी सुविधा से। पता चला है कि एक-दो मित्र और हैं जिन्हें पहले हर दूसरे दिन दूरदर्शन के समाचार विभाग से विचार-विमर्श के लिए बुलावा आता था। अब उनकी भी जरूरत वहां सिरे से गैर-जरूरी हो चली है। यानी वे भी काली सूची में दर्ज हुए! मोदी सरकार आलोचकों से डरती है क्या? या वे सोचते हैं देर-सबेर हम भी तस्लीम की खू डालेंगे?

ओम थानवी का लिखा ये भी पढ़ सकते हैं…

लालकिले से कई अच्छी बातें करने-कहने वाले नरेंद्र मोदी रोजमर्रा की महंगाई की मार क्यों भुला गए

xxx

विनोद राय के रहस्योद्घाटन से ईमानदारी के (कठ) पुतले मनमोहन सिंह की हवा सबसे ज्यादा खिसकी है

xxx

कांग्रेस ने शास्त्री को बर्खास्त किया था, भाजपा ने बेनीवाल को बर्खास्त कर हिसाब बराबर किया!

xxx

स्व. दिग्विजय सिंह की बेटी श्रेयसी को निशानेबाजी में रजत पदक और पुराने दिनों की याद

xxx

मूढ़ताओं के लिए किसी पत्रकार को गिरफ्तार करने की मांग रखना अभिव्यक्ति के काम में खतरनाक अड़ंगा है

xxx

मोदी के सलाहकारों ने एक न्यूज चैनल के जरिए वैदिक जी को एक्सपोज करवा दिया

xxx

‘विकास पुरुष’ मोदी विकास से पहले हमें विनाश के मंजर दिखा रहे हैं!



भड़ास व्हाट्सअप ग्रुप- BWG-10

भड़ास का ऐसे करें भला- Donate






भड़ास वाट्सएप नंबर- 7678515849

Comments on “मोदी राज आने के बाद ओम थानवी को परिचर्चा के लिए नहीं बुलाता दूरदर्शन

  • Om Thanwi ji ji ne congress ke raj me bahut maza kiya h une kon nahi janta vo vampanthi hone ki notanki karte h aur gandhi parivar ke gungan, ab din badal gaye so call secular jamat me badi becheni ho rahi h unki becheni samjhi ja sakti h

    Reply
  • एक पत्रकार says:

    ओम थानवी को क्यों बुलायेगें , थानवी साहब ठहरे वामपंथी , हमेसा भाजपा और मोदी (छमा करियेगा मोदी और भाजपा कि – मोदी जी भाजपा से बड़े हो गए हैं ) की बखिया जो उधेरते रहते हैं .. हो सकता है कि निजी चैनल वाले भी थानवी जी को न बुलाएं…कुछ दिन बाद अवधेश प्रधान, अभय कुमार दुबे,उर्मिलेश और शरद प्रधान को भी न बुलाया जाय ….

    Reply
  • jai prakash tripathi says:

    थानवी जी दूरदर्शन के लिए तरस रहे होंगे। वह वामपंथी भी हैं, पहली बार पता चला है, इस तरह के वामपंथी…:)

    Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published.

*

code