चिन्मयानंद का नंगे होकर छात्रा से तेल मालिश कराने का वीडियो लीक

चिन्मयानंद के नाम के आगे स्वामी लगता है. वह बेहद ताकतवर हैं. केंद्र सरकार में एक जमाने में केंद्रीय गृह राज्य मंत्री रह चुके हैं. कई आश्रम, कालेज के अलावा बेशुमार संपत्ति के मालिक हैं. उनके शौक बड़े निराले हैं. वे रोजाना तेल मालिश कराते हैं. वे महिलाओं या लड़कियों से तेल मालिश कराना ज्यादा पसंद करते हैं. बात जब तक सहमति से करने-कराने की होती है, तो कोई बात नहीं. पर अगर जिनसे तेल लगवाया जा रहा है, वह चिन्मयानंद के कालेज की छात्रा हो, साथ ही आरोप लगा रही हो कि चिन्मयानंद उस जैसी बहुत सी लड़कियों का जीवन बर्बाद कर चुके हैं, तो मामला गंभीर हो जाता है.

ऐसा भी नहीं है कि ये आरोप कोई पहली बार लगा हो. आठ साल पहले चिन्मयानंद की एक शिष्या ने बड़े गंभीर आरोप लगाए थे. उसने भी कहा था कि स्वामी जी शराब पीकर महिलाओं से तेल लगवाते हैं. ये मामला सुर्खियों में भी आया लेकिन अपने ताकत के बल पर स्वामी ने सब कुछ दबवा दिया.

कहा जाता है कि योगी सरकार में स्वामी चिन्मयानंद की खूब चलती है. यही वजह है कि हाल ही में कानून की छात्रा द्वारा गंभीर आरोप लगाए जाने के बाद भी स्वामी चिन्मयानंद का बाल तक बांका नहीं हुआ.

पर अब लग नहीं रहा कि स्वामी चिन्मयानंद के आगे के दिन आराम से कटेंगे. छात्रा ने अपने आरोपों में अपने पास शोषण-उत्पीड़न के जिन प्रमाणों-सुबूतों के होने की बात कही है, उसका एक हिस्सा लीक हो चुका है. यूं भी कह सकते हैं कि इसे रणनीतिक तौर पर लीक करा दिया गया है. सभी मीडिया हाउसेज के पास स्वामी चिन्मयानंद की वो क्लीपिंग पहुंच चुकी है जिसमें वह नंगे होकर छात्रा से तेल लगवा रहे हैं. आइए जानते हैं इन क्लीपिंग्स में क्या खास बात है और इसे कैसे रिकार्ड किया गया.

भड़ास4मीडिया के पास मौजूद ढेर सारी क्लीपिंग्स को देखने से पता चलता है कि जो क्लिप्स लीक कराए गए हैं, वे सभी एक ही दिन के रिकार्ड किए हुए हैं, 31 जनवरी 2014 को. मतलब पांच साल पहले यह वीडियो रिकार्ड किया गया था.

सवाल ये भी उठता है कि अब तक इन वीडियोज को क्यों संभाल कर रखा गया था और जब रिकार्ड किया गया था तभी क्यों नहीं इन वीडियोज के जरिए स्वामी पर आरोप लगाए गए? ऐसे सवाल उठना स्वाभाविक है. जाहिर है, इसका जवाब छात्रा ही दे सकती है. पर आरोप जब भी सप्रमाण लगे तो उसकी जांच होनी ही चाहिए.

वीडियो में डेट-टाइम रिकार्ड है. डेट तो 31 जनवरी 2014 है और समय रात के नौ से ग्यारह बजे के बीच का दर्ज है. पर ऐसा लगता है कि खुफिया कैमरे की डिवाइस में समय की सेटिंग सही नहीं है. वक्त सुबह नौ से ग्यारह के बीच का प्रतीत होता है क्योंकि वीडियो में चिड़ियों के बोलने की आवाजें हैं, खिड़की से काफी रोशनी आ रही है. एक वीडियो में लड़की पूछती है कि आपको कुछ देना तो नहीं है. तब स्वामी चिन्मयानंद पूछते हैं कि क्या. तब वह जवाब देती है- जैसे मंजन या कुछ और.

तो ये जो मंजन की बात है, यह सुबह होने का ही सुबूत है.

छात्रा ने चश्मे वाले खुफिया कैमरे से वीडियो शूट किया है. जिस वक्त स्वामी चिन्मयानंद तेल लगवाते हुए पेट के बल लेट जाते हैं उस समय छात्रा काफी सहज होकर चश्मे से रिकार्ड करती है. वह कभी कभी चश्मे को निकाल कर दूर टेबल पर रख देती है ताकि फ्रेम में वह खुद भी आ सके. ज्यादातर वक्त छात्रा चश्मा पहने ही रहती है. यही वजह है कि जब वह वाशरूम जाती है तो आइने में उसका चेहरा उसका चश्मा रिकार्ड करता है. इन तस्वीरों को आप नीचे देख सकते हैं जो वीडियो क्लिप्स में से स्क्रीनशाट लेकर बनाए गए हैं.

नीचे के वीडियो लड़की ने खुफिया कैमरे लगे चश्मे को आंखों पर पहनकर रिकार्ड किया है. इन तस्वीरों में वो तेल भी दिख रहा है जिससे चिन्मयानंद की मालिश हो रही है. चार पांच वीडियो क्लिप्स में जो कुछ खास बातें हैं उसमें एक ये भी है कि पूरे वीडियो में कोई अश्लील संवाद नहीं है. चिन्मयानंद छात्रा से उसके खो गए महंगे मोबाइल फोन के बारे में पूछ रहे हैं. उसकी परीक्षा को लेकर पूछ रहे हैं. किस विषय का पहला पेपर है, यह पूछने पर लड़की बताती है, क्रिमिनलोजी. मतलब साफ है कि लड़की कानून की पढ़ाई कर रही है. एक दफे चिन्मयानंद पूछते हैं कि तुम ब्रा क्यों नहीं पहनती हो. तो लड़की कहती है कि पहनती हूं. इस पर वह कहते हैं कि लटक जाएगा. तुम्हें अपने शरीर पर ध्यान देना चाहिए. पूरे वीडियो से ऐसा लगता है कि दोनों लोग बिलकुल सहज हैं. एक मालिश करने में, दूसरा मालिश कराने में.

ऐसा लगता है कि वीडियो के जो अंश लीक कराए गए हैं, उसके अलावा भी ढेर सारे वीडियोज हैं. छात्रा ने चिन्मयानंद पर रेप के भी आरोप लगाए हैं. जाहिर है, उसके पास इसके भी प्रमाण वीडियो में मौजूद होंगे. छात्रा ने प्रेस कांफ्रेंस में दावा भी किया है कि उसके पास पूरे सुबूत हैं और वह वक्त आने पर इसे सामने रख देगी. ऐसे में कहा जा सकता है कि चिनमयानंद की फेवर की केंद्र व राज्य सरकारें होने के बावजूद उनका इस मामले में बच पाना मुश्किल है. सुप्रीम कोर्ट द्वारा केस को सीधे अपनी निगरानी में लेने से ये चर्चा आम है कि कहीं चिन्मयानंद का हाल आसाराम जैसा वाला न हो जाए कि एक बार अंदर गए तो फिर निकल पाना मुश्किल हो!

इस लीक हुए वीडियो को लेकर स्वामी चिन्मयानंद का पक्ष क्या है और कुछ नए वीडियोज के सामने आने के बाद पूरा प्रकरण उगाही-ब्लैकमेलिंग का कैसे लगने लगा है, जानने के लिए नीचे दिए शीर्षक पर क्लिक करें-

चिन्मयानंद कांड में सामने आए कुछ नए वीडियोज से सनसनी, एक गैंग ने बनाया स्वामी को शिकार! देखें क्लिप्स


उपरोक्त प्रकरण से संबंधित शुरुआती खबरें ये हैं-

पूर्व गृह राज्यमंत्री स्वामी चिन्मयानन्द पर यौन शोषण का एक और आरोप!

चिन्मयानंद पर संगीन आरोपों से भाजपा में भूचाल, लापता छात्रा राजस्थान में मिली

चिन्मयानंद कांड : सुप्रीम कोर्ट में पेश छात्रा नहीं लौटना चाहती यूपी, 4 दिन दिल्ली में रहेगी

इलाहाबाद हाईकोर्ट की निगरानी में होगी स्वामी चिन्मयानंद केस की एसआईटी जांच

चिन्मयानंद पर रेप का आरोप लगाने वाली छात्रा ने कहा- यूपी पुलिस पर मुझे बिलकुल भरोसा नहीं!

चिन्मयानंद द्वारा छात्रा से रेप करने के मामले का हाईकोर्ट ने लिया संज्ञान

भड़ास की खबरें व्हाट्सअप पर सब्सक्राइब करें- https://chat.whatsapp.com/I6OnpwihUTOL2YR14LrTXs
  • भड़ास तक अपनी बात पहुंचाएं- bhadas4media@gmail.com

Comments on “चिन्मयानंद का नंगे होकर छात्रा से तेल मालिश कराने का वीडियो लीक

    • ये स्वामी नही हरामी है,,, मजे की बात ये मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का गुरु भाई है।योगी से इसके रिश्ते बड़े करीबी हैं

      Reply
  • Abhinav Pandey says:

    Ye Ek hawas ke shikaari hai jo …apne ko sabse shareef aur acche vicharo ka ban kar , logo ko fyada uthate hain.
    ..par bhakht bhi bahut hain..
    ..wah re ye desh , wah yha ki janta

    Reply
  • अनिल कुमार श्रीवास्तव says:

    यदि चिन्मयानन्द दोषी हैं तो उन्हें आसाराम से भयानक दण्ड मिलना चाहिये क्योंकि ये पूर्व गृह राज्यमन्त्री व सत्ताधारी पार्टी के दबंग नेता भी हैं।।

    Reply
  • यह प्रायोजित कार्यक्रम भी हो सकता है, पूरी योजना के साथ बनाया गया, वरना कोई spycam लेकर मालिश करने जाता है? और जैसा आपने लिखा कि उगाही blackmailing का मामला हो सकता है, तो बिल्कुल ऐसा हो सकता है और इसमें दूसरा पक्ष यह भी माना जा सकता है कि चिन्मयानंद को किसी प्रकार का नशीला पदार्थ खिलाकर उनसे ऐसा कराया गया हो, क्योंकि इस चित्र में ज़बरदस्ती की जाती नहीं दिखाई दे रहा दोनों की सहमति से हो रहा।

    Reply
  • और यदि ऐसा नहीं है तो चिन्मयानन्द के खिलाफ कड़ी से कड़ी कार्यवाही की जाए और सख्त से सख्त सजा दी जाए जिससे पीड़िता को न्याय मिले

    Reply
  • बहुत ही बेशर्म और ख़तरनाक है ये साधारण आदमी करे तो अपराध है मगर स्वामी के वेश में और बड़ा अपराधी है ये इसको कड़ा से कड़ा दंड मिले विडीओ बनाने वाले को बधाई

    Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *