मोदी राज में भारतीय मोबाइल फोन मार्केट पर चीन का कब्जा, देखें आंकड़े

अभी 5 साल पहले माइक्रोमैक्स, कार्बन, लावा जैसी देसी मोबाइल कंपनियों का जलवा था। इस कदर जलवा कि सैमसंग जैसी दिग्गज कम्पनी भारत मे मोबाइल बना रही थी, फिर भी जमीन पर मुंह के बल गिरी पड़ी थी। नोकिया जैसी दिग्गज कम्पनी बिक ही गई। कृपया हमें अनुसरण करें और हमें पसंद करें:

चीन में दस लाख कट्टर मुसलमानों को सुधारने के लिए जेल में बद करके रखा गया है!

संयुक्त राष्ट्र संघ की मानव अधिकार समिति ने चीन के मुसलमानों पर होनेवाले अत्याचारों के विरुद्ध जोरदार आवाज उठाई है। चीन के उइगर और हुइ मुसलमानों पर जिस तरह के अत्याचार हो रहे हैं, यदि उनकी सच्ची कहानी प्रकट हो जाए तो भारत के मुसलमानों को पता चलेगा कि चीन के मुसलमान गुलामों से भी …

चीन एक ध्रुवीय दुनिया को लोकतांत्रिक दुनिया बनाने की पहल लेता है तो भारत को उससे लाभ होगा!

चीन की कम्युनिस्ट पार्टी की 19 वीं कांग्रेस के बारे में कामरेड अखिलेन्द्र प्रताप सिंह का विश्लेषण : टाइम्स आफ इण्डिया ने अपने सम्पादकीय में चीन की कम्युनिस्ट पार्टी के दूसरी बार चुने गए महासचिव शी जिनपिंग को नया माओ कहा है। माओ जी दोंग की जब बात होती है तो चीन ही नहीं एशिया यहां तक की विश्व कम्युनिस्ट आंदोलन में स्टालिन के बाद उसके प्रमुख प्रेणता के रूप में लोग उन्हें जानते है। दाशर्निक स्तर पर लेनिन के बाद उनकी प्रकृति, समाज, ज्ञान और वर्ग संघर्ष के बारे में द्वंद्वात्मक समझ को स्टालिन से परिपक्व और उन्नत माना जाता है। जबकि स्टालिन की द्वंद्वात्मक समझ को अधिभूतवाद से प्रभावित माना जाता है।

चीन में रोबोट रिपोर्टर द्वारा लिखा गया पहला आर्टकिल प्रकाशित हुआ

Robot reporter in China gets its first news article published

A robot journalist made its debut in a Chinese daily today with a 300 characters-long article written in just a second, scientists say.

By: PTI | Beijing |

A robot journalist made its debut in a Chinese daily today with a 300 characters-long article written in just a second, scientists say. The article, published in the Guangzhou-based Southern Metropolis Daily, focused on the Spring Festival travel rush.

बायकाट से चिढ़े चीन के सरकारी अखबार ने लिखा- ”भ्रष्टाचारियों का देश भारत केवल भौंकना जानता है”

भारत में सोशल मीडिया पर चीन के सामान के बहिष्कार की मुहिम का असर पड़ता देख चीन बौखला गया है. वहां की सरकारी मीडिया ने भारत पर अपना शनाप आरोप लगाना शुरू कर दिया है. भारत में सोशल मीडिया पर की जा रही चीनी सामान के बहिष्कार की अपील पर चीन के सरकारी अखबार ग्लोबल टाइम्स में छपे एक आर्टिकल में लिखा गया है कि भारत के प्रॉडक्ट किसी भी मामले में चीनी प्रॉडक्ट्स का मुकाबला नहीं कर सकते. भारत केवल ‘भौंक’ सकता है और दोनों देशों के बढ़ते व्यापार घाटे पर कुछ नहीं कर सकता.

चीनी अखबार का मालिक उगाही में गिरफ्तार, 70 वर्षीय चीनी पत्रकार पर गोपनीय सूचना लीक करने का आरोप

बीजिंग। चीन के एक अखबार समूह के पूर्व अध्यक्ष को बचाव के नाम पर लोगों से मोटी रकम अवैध उगाही के आरोप में गिरफ्तार किया गया है। उसके विरुद्ध सैकड़ों कंपनियों से लगभग साढ़े तीन करोड़ डॉलर की रकम वसूलने का आरोप है।  शंघाई के अभियोजकों ने 21वीं शताब्दी मीडिया लिमिटेड के अध्यक्ष और प्रशासक शेन हाव को गिरफ्तार किया है। यह संगठन 21वीं शताब्दी विजिनेस हेराल्ड का प्रकाशन करती है। अखबार मालिक के विरुद्ध अवैध उगाही, रिश्वत खोरी और कोष के दुरुपयोग का आरोप है। कंपनी के उपाध्यक्ष चेन डोंगयांग और प्रमुख वित्त अधिकारी लीबिनो के विरुद्ध आरोप लगाया गया है। शेन और चेन को शंघाई के अधिकारियों ने सितंबर में गिरफ्तार किया था। समाचार पत्र की बेवसाइट को भी बंद करने का आदेश दिया गया था।

शतायु नागरिकों में तीन-चौथाई संख्या महिलाओं की है और उनमें से अधिकांश गांवों में रहती हैं

: 100 से अधिक आयु के लगभग साठ हजार लोग हैं चीन में : नई दिल्ली : आज के समय बढ़ती जिम्मेवारियों और टेंशन के चलते उम्र लगातार कम होती जा रही है लेकिन आप इस बात को जान कर काफी हैरान रह जाएंगे कि चीन में ऐसे ज्यादादर लोग है जिनकी आयु 128 साल की है। जी हां, चीन में 58,789 लोग है जिनकी उम्र 100 साल से अधिक है। इस बात की जानकारी जेरेंटोलॉजिकल सोसायटी ऑफ चाइना ने मंगलवार को दी गई।