महिला एंकर को डिप्रेशन में जाने और इस्तीफा देने तक परेशान किया गया, पढ़िए चिट्ठी

सर

मैंने 5 अप्रैल 2016 को नेशनल वॉयस चैनल में बतौर एंकर / प्रोडयूसर ज्वाइन किया था. शुरुआत काफी अच्छी रही लेकिन पिछले दो महीने से लगातार मुझे आफिस में बेवजह कोई ना कोई मुददा बनाकर परेशान किया जा रहा है. मुझे इतना परेशान किया गया था कि मैं डिप्रेशन में आ गई थी. इसके बाद ऑफिस में ही मेरी तबियत खराब हो गई. मैं कई दिन तक अस्पताल में रही. ठीक होने के बाद जब मैंने ऑफिस ज्वाइन किया तो भी मेरे सीनियर का रवैया नहीं बदला. उसके बाद भी वो लगातार मुझे मानसिक रुप से प्रताड़ित करते रहे.

उचित शर्मा से नाराज पायनियर की मार्केटिंग टीम ने दिया इस्‍तीफा

छत्‍तीसगढ़ से प्रकाशित पायनियर हिन्दी अखबार में मैनेजर उचित शर्मा के व्‍यवहार से नाराज होकर सिटी टीम ने इस्‍तीफा दे दिया है. उचित शर्मा के अनप्रोफेशनल रवैये तथा अपने लोगों की भर्ती करने के लिए प्रताडि़त करने का आरोप लगाते हुए प्रबंधन को अपना इस्‍तीफा सौंप दिया. इस्‍तीफा देने वालों में छत्‍तीसगढ़ टीम के मार्केटिंग …

उपेंद्र राय ने सीईओ और एडिटर इन चीफ पद से इस्तीफा दिया

जब मालिक पैसे नहीं देगा तो सीईओ और एडिटर इन चीफ क्या कर लेगा. लंबे समय के जद्दोजहद के बाद उपेंद्र राय ने इस्तीफा दे दिया. बात वही थी. सुब्रत राय फंड रिलीज नहीं कर रहे थे और कर्मचारियों की सेलरी की डिमांड बढ़ती जा रही थी. ऐसे में रोज रोज के किच किच से तंग आकर उपेंद्र राय ने ग्रुप एडिटर इन चीफ और ग्रुप सीईओ के दोनों पदों से इस्तीफा दे दिया है. सहारा के उच्च पदों पर आसीन लोगों ने इस खबर को कनफर्म किया है. यह भी बताया जा रहा है कि अभिजीत सरकार को अब सहारा मीडियाा की भी पूरी जिम्मेदारी दे दी गई है.

रिफ़त अब्दुल्लाह ने विशेष संवादादाता पद से इस्तीफ़ा दे दिया

Priyabhanshu Ranjan : क्या आपको श्रीनगर में तैनात ईटीवी के उस रिपोर्टर की याद है जिसने 2014 में आई बाढ़ के वक़्त अपनी जान दाँव पर लगाकर 300 लोगों की जान बचाई थी। उसका नाम है रिफ़त अब्दुल्लाह। रिफ़त ने एक बार फिर किसी डूबते को बचाने की कोशिश की है। इस बार उसने अपनी नौकरी दाँव पर लगाई है ताकि मीडिया की साख न डूब जाये। रिफ़त ने आज ईटीवी उर्दू के विशेष संवादादाता पद से इस्तीफ़ा दे दिया।

‘सामना’ के संपादक पद से प्रेम शुक्ला का इस्तीफा, भाजपा में शामिल होंगे, मंत्री या प्रवक्ता बनने के आसार

मुंबई से मीडिया जगत और राजनीति की एक बड़ी खबर सामने आ रही है. शिवसेना के मुखपत्र ‘सामना’ के संपादक प्रेम शुक्ला ने पद से इस्तीफा दे दिया है. सूत्रों के मुताबिक प्रेम शुक्ला भाजपा ज्वाइन कर सकते हैं. बताया जा रहा है कि उन्हें भाजपा में प्रवक्ता का पद दिया जा सकता है या फिर मोदी सरकार के मंत्रिमंडल में होने वाले फेरबदल में मंत्री पद से नवाजा जा सकता है.

अमर उजाला नोएडा से एक साल में एक दर्जन विकेट गिर चुके हैं

अमर उजाला नोएडा हेड ऑफिस के एक साल में एक दर्जन विकेट गिर चुके हैं। अपने मोहरे फिट करने के जुगाड़ में लगे संपादक अभी भी कई पर टेढी़ नजर रखे हैं। सबसे लेटेस्ट गिरने वाले दो विकेट सब एडिटर मनीष सिंह और सीनियर सब एडिटर अमित कुमार बाजपेयी हैं। अमर उजाला से जुड़े अधिकारियों की मानें तो ग्रेटर नोएडा के स्टार रिपोर्टर और बीते दो साल से नोएडा हेड ऑफिस में सबसे तेज एडिटिंग-पेजीनेशन करने वाले अमित कुमार ने संस्थान को गुडबाय बोल दिया है।

अखबार में छपे लेख पर भारत की आपत्ति के बाद लेखक प्रतीक प्रधान को नेपाली पीएम के प्रेस सलाहकार पद से इस्तीफा देना पड़ा

Abhishek Srivastava : बिहार चुनाव और आरक्षण पर बहस की आड़ में भारत सरकार ने चुपके से नेपाल में आर्थिक नाकाबंदी लगा दी है। नेपाल की वेबसाइटों और चैनलों पर लगातार यह ख़बर चल रही है कि किस तरह  भारत सरकार ने अपनी मर्जी का संविधान न बनने की खीझ में गाडि़यों को आज सुबह से ही सीमा पर रोकना शुरू कर दिया है और बिना किसी औपचारिक घोषणा के नेपाल में तेल की सप्‍लाई रोक दी है।

प्रताड़ना से क्षुब्ध न्यूज नेशन के रिपोर्टर ने दिया इस्तीफा, फटकार मिली कि विज्ञापन नहीं दे सकते तो फांसी पर लटक जाओ !

मऊ (उ.प्र.) : यहां न्यूज़ स्टेट/न्यूज़ नेशन के प्रतिनिधि तैनात रहे रविन्द्र माली ने डेस्क इंचार्ज (इनपुट हेड), नोएडा को अपना इस्तीफा भेज दिया है। त्यागपत्र में उन्होंने अपनी आर्थिक हालत बयान करने के साथ ही बताया है कि विज्ञापन विभाग के लोग कह रहे हैं, एड नहीं दे सकते तो फांसी पर लटक जाओ। 

श्री ग्रुप चेयरमैन मनोज द्विवेदी मेरा पैसा दबाए है, मैंने खुद नोटिस देकर इस्तीफा दिया : पंकज वर्मा

Dear Yashwant ji, Apropos our telecon of date I am forwarding you the copy of my E-mail dt 12.02.15 addressed to Mr Manoj Dwivedi, Chairman-Shri Group indicating my willingness to part from the Orgn on my own due to non-payment of salary and other expeses for over 6 months. The news carried by you quoting a so called letter dt 20.02.15 of Mr Umesh Azad, ED regarding my termination from the Orgn is totally wrong as no such letter whatsoever has been either served on me or intimated to me so far.

गुजरात दंगों में निष्पक्ष भूमिका निभाने वाले आईपीएस अफसर राहुल शर्मा को अंतत: इस्तीफा देने को मजबूर होना पड़ा

Amitabh Thakur : मैं अपने साथी और बैचमेट राहुल शर्मा (1992 बैच, गुजरात कैडर आईपीएस), जिन्होंने हाल में सेवा से इस्तीफा दे दिया को सलाम करता हूँ. राहुल को आईजी पद पर प्रोमोशन नहीं मिला, उन पर 2 विभागीय जांच थे, उन्हें एक प्रतिकूल एसीआर मिला था पर जिस तरह उन्होंने 2002 गुजरात दंगों में एसपी भावनगर के रूप में पूर्णतया निष्पक्ष और न्यायसंगत भूमिका निभायी थी.

सेक्स टेप वायरल होने के बाद अतुल अग्रवाल ने ईटीवी से दिया इस्तीफा

अतुल अग्रवाल पर भाग्य और दुर्भाग्य का ग़ज़ब का साया पड़ा रहता है. जब इंडस्ट्री के लोग अतुल अग्रवाल के करियर के अंत होने की भविष्यवाणी कर देते हैं तो यह शख्स अपने दम पर फिर से पत्रकारिता में पुनर्जीवन पाकर छा जाता है. लेकिन ज्योंही यह आदमी सफलता के चंद कदम चल पाता है कि अपनी ही किन्हीं हरकतों से धड़ाम होकर जमींदोज हो जाता है. न्यूज24 चैनल से एक गुमनाम आईडी से ग्रुप मेल भेजने के आरोप में नौकरी गई तो भास्कर न्यूज से एक लड़की से यौन दुर्व्यवहार को लेकर निकाले गए. इन दिनों ईटीवी में थे, जहां से उन्हें इसलिए इस्तीफा देना पड़ा क्योंकि उनका एक सेक्स टेप यूट्यूब पर वायरल हो गया है.

बैंक और टैक्स घोटालों को अखबार द्वारा ठीक से कवर न किए जाने पर पत्रकार ने दिया इस्तीफा

ब्रिटेन के एक बड़े अखबार ‘द डेली टेलीग्राफ’ के मुख्य राजनीतिक टिप्पणीकार ने अखबार से इसलिए इस्तीफा दे दिया क्योंकि इस अखबार ने एचएसबीसी घोटाले के प्रकरण को ठीक से कवर नहीं किया और पूरे मामले को बहुत छोटी खबर देकर निपटा दिया. भारत में दैनिक जागरण, दैनिक भास्कर, टाइम्स आफ इंडिया, हिंदुस्तान टाइम्स जैसे दर्जनों बड़े अखबारों के हजारों पत्रकार काम करते हैं लेकिन यह कभी सुनने को नहीं मिलता कि फलां पत्रकार ने फलां खबर के कम या ज्यादा कवरेज के कारण इस्तीफा दे दिया. भारतीय पत्रकार पापी पेट के लिए चुपचाप हर कुछ सहते झेलते रहते हैं. शायद भारतीय पत्रकारों के मानसिक स्तर का लोकतांत्रिक विकास अभी समुचित नहीं हुआ है.

चलो पिण्ड छूटा, धन्यवाद विजय त्रिपाठी!

3 जनवरी को फेसबुक पोस्ट और 6 जनवरी को भड़ास में लिखी अमर उजाला के नवोन्मेषक भाई साहब स्व. अतुल माहेश्वरी को दी गयी श्रद्धांजलि व व्यक्त की गयी भावनायें लगता है हमारे स्थानीय संपादक विजय त्रिपाठी को नहीं भायी है. 13 जनवरी से हमारा गैरसैंण हैड बन्द कर हमारे द्वारा पेषित समाचारों को कर्णप्रयाग हैड से लगाया जा रहा है. ये कहना उचित होगा कि उनकी ओर से हमें अमर उजाला से हटा दिया गया है. अर्थात भाई सहब के प्रति व्यक्त उद्गार को तो वे विषय नही बना पायेंगे, वे कोई मनगडंत कारण ढूंढें.

मीडिया में असहमति जताने के खतरे और सीएनएन के मशहूर पत्रकार Jim Clancy

Abhishek Srivastava : किसी पत्रकार के लिए अपने संस्‍थान के भीतर या बाहर सत्‍ता-समर्थक विचार से ”असहमति” जताना कितना घातक हो सकता है, इसका अंदाज़ा लगाना मुश्किल है। ऐसे ”असहमत” पत्रकार चाहे कितने ही पुराने क्‍यों न हों, हर संस्‍थान के लिए सनातन ख़तरा होते हैं। ताज़ा उदाहरण सीएनएन के मशहूर पत्रकार Jim Clancy का है जिनसे बीते दिनों इसलिए जबरन इस्‍तीफा ले लिया गया क्‍योंकि शार्ली एब्‍डो के मामले पर उन्‍होंने कुछ ऐसे ट्वीट किए जो इज़रायल समर्थकों को (इज़रायली स्‍वामित्‍व वाले अमेरिकी मीडिया को भी) रास नहीं आए।

तो IIT दिल्ली के प्रमुख रघुनाथ शिवगाँवकर ने इसलिए दिया इस्तीफा

Satyendra Ps : भाजपा और संघ के लुटेरे किसी भी सही आदमी को रहने नहीं देंगे। सुब्रहमन्यम स्वामी 1972 और 1991 के बीच पढाए का मेहनताना 70 लाख रुपये देने के लिए IIT दिल्ली के प्रमुख रघुनाथ शिवगाँवकर पर दबाव बनाए हुए थे। पढ़ाते क्या होंगे पता नहीं लेकिन केन्द्रीय संस्थानों में भुगतान को लेकर कोई दिक्कत नहीं होती, सब जानते हैं! साथ ही रघुनाथ से कहा जा रहा था कि सचिन तेंदुलकर को क्रिकेट अकादमी खोलने के लिए iit कैम्पस में जगह दी जाए!

आलोक सांवल का मूड फिर बिगड़ा, मृदुल त्यागी को बाहर का रास्ता दिखाया

आई-नेक्स्ट में तीन महीने पहले चौथी बार इंट्री मारने वाले मृदुल त्यागी को एक बार फिर आलोक सांवल ने मूड खराब होने के कारण निकाल बाहर किया है. एक बार फिर से एसोसिएट एडिटर श्रमिष्ठा शर्मा को कंटेंट की पूरी जिम्मेदारी सौंप दी गई है. इस संबंध में जीएम पंकज पांडे ने मेल चलाकर पूरे ग्रुप को बताया है कि मृदुल को हटा दिया गया है, उनसे कोई संबंध न रखें. मृदुल त्यागी को इससे पहले भी तीन बार आई-नेक्स्ट से विभिन्न कारणों से बाहर का रास्ता दिखाया गया था.

सुदर्शन न्यूज से मैनेजिंग एडिटर नवीन पांडेय का इस्तीफा, दैनिक भास्कर दिल्ली के संपादक राजेश उपाध्याय का तबादला

सुदर्शन न्यूज से मिली जानकारी के अनुसार नवीन पांडेय ने चैनल से इस्तीफा दे दिया है. वे मैनेजिंग एडिटर के पद पर कार्यरत थे. नवीन पांडेय कई अखबारों और चैनलों में वरिष्ठ पदों पर काम कर चुके हैं. सुदर्शन न्यूज से पहले वह चैनल वन और उससे पहले इंडिया टीवी में कार्यरत थे. सुदर्शन न्यूज में लगातार उठापटक चलता रहता है. यहां लोगों के आने और जाने का सिलसिला जारी रहता है. असल में प्रबंधन अपने पत्रकारों को बिजनेस टारगेट देता है, जिसके कारण यहां ठीकठाक लोग टिक नहीं पाते. साथ ही  इस चैनल में अचानक किसी की भी सेलरी आधी कर दी जाती है ताकि वह इस्तीफा दे दे या फिर कम सेलरी में काम करता रहे. चैनल में सीईओ के रूप में आरपी सिंह के आने के बाद से नवीन पांडेय के जाने की चर्चाएं शुरू हो गई थी.

नितिन का बीबीसी से इस्तीफा, माइक्रोसॉफ्ट से जुड़े

बीबीसी के भारत संवाददाता नितिन श्रीवास्तव ने बीबीसी से इस्तीफा दे दिया है। अक्टूबर के दूसरे हफ्ते में वे बीबीसी से कार्यमुक्त हो जाएंगे। नितिन पिछले आठ वर्षों से बीबीसी से जुड़े हुए थे।

हरवीर सिंह, नलिन मेहता और शशिकांत कोन्हेर के बारे में सूचनाएं

पत्रकार हरवीर सिंह के बारे में पता चला है कि वह भास्कर ग्रुप के हिस्से बन गए हैं. उन्हें मनी भास्कर डॉट कॉम में संपादक बनाया गया है. अभी तक मनी भास्कर के संपादक अंशुमान तिवारी हुआ करते थे जो इंडिया टुडे हिंदी में चले गए हैं. हरवीर कई अखबारों में वरिष्ठ पदों पर काम कर चुके हैं.

हिमाचल में दैनिक जागरण ने इस्तीफा मांगा तो राजेश्वर ठाकुर ने मजीठिया के लिए मुकदमा कर दिया

दैनिक जागरण हिमाचल से खबर है कि वरिष्ठ संवाददाता और बिलास पुर ब्यूरो प्रभारी राजेश्वर ठाकुर से इस्तीफा मांगा गया है. हालांकि अभी तक उन्होंने इस्तीफा नहीं दिया है और छुट्टी पर चले गए हैं. जागरण प्रबंधन ने इस  पर उनको स्थानांतरित किए बिना ही उनकी जगह धर्मशाला से विरेन को बिलासपुर भेज दिया है. सूत्रों के मुताबिक राजेश्वर ठाकुर ने भी दूसरी अखबार में जगह तलाश ली है, मगर वे जागरण को सस्ते में नहीं छोड़ना चाहते. पता चला है कि उन्होंने मजीठिया वेज बोर्ड के तहत बकाया राशि वसूलने के लिए हाईकोर्ट में केस कर दिया है. इस संबंध में जल्द सुनवाई शुरू होने की उम्मीद है.

सुमित अवस्थी ने जी न्यूज से इस्तीफा दिया, आईबीएन7 का नया चैनल हेड बनने की चर्चा

खबर है कि जी न्यूज से सुमित अवस्थी ने रिजाइन कर दिया है. उनके आईबीएन7 का नया चैनल हेड बनने की चर्चा है. सुमित जी न्यूज में रेजीडेंट एडिटर के पद पर कार्यरत थे. उन्होंने जी न्यूज के साथ पारी की शुरुआत 2013 अक्टूबर में की थी. उसके पहले वह आजतक में हुआ करते थे और उससे भी पहले आईबीएन7 में. अब दुबारा उनके आईबीएन7 जाने की संभावना है.