समाजवादी पार्टी को बड़ा झटका, नेताजी के प्रतिबद्ध सिपाही गोपाल अग्रवाल ने दिया इस्तीफा

मेरठ : समाजवादी पार्टी के वरिष्ठ नेता, समाजवादी व्यापार सभा के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष तथा दो बार पार्टी के प्रदेश सचिव रहे गोपाल अग्रवाल ने समाजवादी पार्टी से आज त्यागपत्र दे दिया। गोपाल अग्रवाल विनम्र, पढ़े-लिखे और चिंतनशील नेताओं में माने जाते हैं।

पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव को लिखे पत्र में उन्होंने त्यागपत्र को तत्काल प्रभाव से कुबूल करने का अनुरोध किया। उन्होंने इस्तीफे में नेताजी मुलायम सिंह यादव, अखिलेश यादव का आभार प्रकट करने के साथ ही पार्टी के सभी नेताओं व कार्यकर्ताओं को धन्यवाद प्रेषित किया है।

मूल रूप से आगरा निवासी गोपाल अग्रवाल ने 1967 में युवजन सभा से जुड़ने के बाद जीवन में कभी समाजवादी आन्दोलन से पृथक पार्टी में प्रवेश नहीं लिया। छात्र राजनीति से पूर्णकालीन भूमिका के साथ गोपाल अग्रवाल ने हिन्द मजदूर सभा ट्रेड यूनियन गतिविधियों एवं जॉर्ज फर्नाडीज के द्वारा प्रकाशित समाचार-पत्र “प्रतिपथ” में भी कार्य किया।

वे आपातकाल में भूमिगत रहे जबकि उनकी गिरफ्तारी हेतु दबाव बनाने के लिए परिवार को कठोर यातनाएं दी गयीं। मेरठ प्रवास के दौरान उन्होंने व्यापारी राजनीति संभाली तथा मेरठ में समाजवादी पार्टी के अक्टूबर-नवंबर 2006 में आयोजित तीन दिवसीय प्रदेश महासम्मेलन के संयोजक रहे।

वे डॉ राममनोहर लोहिया के जीवन काल में ही समाजवादी पार्टी से जुड़े हुए है तथा 1974 के सम्पूर्ण क्रांति आंदोलन में लोकनायक जयप्रकाश नारायण के साथ काम करने का अवसर पा चुके हैं।

गोपाल अग्रवाल नेताजी मुलायम सिंह यादव के बेहद करीबी और प्रिय लोगों में रहे हैं।

गोपाल अग्रवाल का कहना है कि उनके परिवार की चार पीढ़ियों का समाजवादी आन्दोलन का साथ और इतिहास है। वे जीवन पर्यन्त राजनीति में सक्रिय रुप से बने रहेंगे।

भड़ास पर प्रकाशित गोपाल अग्रवाल के इन दो आलेखों को भी पढ़ सकते हैं-

अभद्र अभिव्यक्ति के पीछे का सच : ”आपका सुपुत्र क्लास में दूसरे बच्चों को गालियां देता है… ”

चन्द्रशेखर : चट्टान-सा वह समाजवादी व्यक्तित्व

भड़ास की खबरें व्हाट्सअप पर पाएंhttps://chat.whatsapp.com/BPpU9Pzs0K4EBxhfdIOldr
  • भड़ास तक कोई भी खबर पहुंचाने के लिए इस मेल का इस्तेमाल करें- bhadas4media@gmail.com

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *