जूतों पर पॉलिश ना देखकर भड़क उठे संपादक, दुखी रिपोर्टर ने भेजा इस्तीफ़ा

ज़ी न्यूज़ के संवाददाता विनोद मित्तल द्वारा असाइनमेंट हेड को भेजा गया इस्तीफा पढ़ें-

सेवा में,
आदरणीय श्रीमान प्रमोद शर्मा जी,
असाइनमेंट हेड, ज़ी मीडिया
फिल्म सिटी नोएडा

विषय- ज़ी न्यूज़ चैनल से इस्तीफा देने बारे।

महोदय,
श्रीमान जी मैंने ज़ी मीडिया समूह को 1 अप्रैल 2014 को ज्वाइन किया था। इस अंतराल में मेरा यह प्रयास रहा कि संस्थान को अच्छा काम करके दिखाऊं और मेरी वजह से संस्थान का नाम कहीं भी खराब ना हो। हमेशा आप जैसे उच्च अधिकारियों का जो भी आदेश मुझे मिला मैंने उसे पूरा करने का हर संभव प्रयास किया। कल मैं जब आपके पास आया तो मेरे ऊपर वह सभी आरोप लगाए गए जो मुझसे कोसों दूर है। मैंने अपनी पत्रकारिता में किसी से कोई लिफाफा या पैसे नहीं लिए शायद यही कारण है कि आज भी मैं दो पहिया वाहन पर ही घूम कर अपना काम करता हूं।

आदरणीय संपादक श्री दिलीप तिवारी जी ने जो कहा उनमें से कोई भी बात जरा भी सच नहीं है। हां यह सच है कि मेरे जूतों पर पॉलिश नहीं थी, लेकिन मैंने कभी भी किसी को धमकाया नहीं और चैनल के नाम पर कभी कोई दुकानदारी नहीं की। यहां तक की इन 7 सालों में जो भी लोकसभा, विधानसभा या स्थानीय निकाय के चुनाव हुए मैं वहां पर किसी भी प्रत्याशी के पास विज्ञापन और पैसे मांगने के लिए भी नहीं गया। न ही मैंने किसी को यह कह कर धमकाया कि मैं वैश्य समाज से हूं और ऊपर बड़े लोगों को जानता हूं। लेकिन फिर भी मुझ पर इस तरह के कई लांछन आपके सामने लगाए गए।

महोदय, संस्थान मेरे काम से खुश नहीं है तो मुझे कोई अधिकार नहीं है कि मैं ज़ी मीडिया में आगे काम कर सकूं। इसलिए महोदय मैं आपके पास अपना इस्तीफा और चैनल की आईडी प्रेषित कर रहा हूं। अगर इस दौरान मुझसे कोई गलती हुई है तो उसके लिए मैं आपसे बारंबार क्षमा प्रार्थी हूं। आपको मैंने अपने पिता का दर्जा दिया है इसलिए आपसे स्पेशल माफी मांग रहा हूं। आपका आशीर्वाद मेरे ऊपर बना रहे और मैं किसी दूसरे संस्थान में काम करूं इसी कामना के साथ आपको प्रणाम करता हूं।

चैनल की आईडी में आपको कोरियर कर रहा हूं। फिर कभी यदि मुझे दोबारा मौका मिला तो मैं आपके सानिध्य में और अच्छा काम करके दिखाऊंगा।

आपका
विनोद मित्तल
9871496644



भड़ास व्हाट्सअप ग्रुप- BWG-10

भड़ास का ऐसे करें भला- Donate






भड़ास वाट्सएप नंबर- 7678515849

Leave a Reply

Your email address will not be published.

*

code