कश्मीर पर बोल्ड स्टेप उठाने वाले मोदी-शाह के लिए भड़ास संपादक यशवंत ने क्या लिखा, पढ़ें

यशवंत (एडिटर, भड़ास)

Yashwant Singh : भारत के लिए दशकों से नासूर बनी एक समस्या को प्यार मोहब्बत से हल न किया जा सका तो अब कड़वी दवाइयों के जरिए इलाज शुरू। ये भी सर्जिकल स्ट्राइक से कम नहीं! बहुत बड़ा निर्णय। बहुत साहसिक फैसला। इसकी धमक देर तक और दूर तक सुनाई देगी।

इन फैसलों का साइड इफेक्ट देखा जाना बाकी है। मोदी-शाह की जोड़ी ने इस ऐलान के बाद देश के आम जन मानस में अपनी पहुंच जबरदस्त तरीके से बढ़ा ली है। मेरी निजी राय है कि कश्मीर समस्या के हल के लिए एकमात्र यही रास्ते बचे थे। अन्य मामलों में ढेर सारी वैचारिक असहमतियों के बावजूद इस कश्मीर मुद्दे पर बोल्ड स्टेप उठाने के लिए मोदी-शाह को बधाई!


राज्यसभा में वाईको ने कश्मीर बिल के साइड इफेक्ट के भयावह पक्ष को प्रभावशाली तरीके से रखा। उम्मीद है केंद्र सरकार के कर्ता धर्ता अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर कूटनीतिक जीत हासिल करेंगे। चीन, पाकिस्तान, तालिबान को कश्मीर पॉलिटिक्स से एलिमिनेट कर सकेंगे, ये भी कामना है।


जैसे मूढ़ संघिये-भजपइये अपने वैचारिक विरोधियों के लिखे का स्क्रीनशाट लेकर अपने भीड़ के बीच शिनाख्त कराते हुए लिहो लिहो कहने-करने के लिए उत्प्रेरित करते रहे हैं, उसी तरह कुछ लंगोटधारी कामरेड भी कश्मीर मसले पर केंद्र सरकार के फैसले का स्वागत करने वाले गैर-भाजपाई पत्रकारों-साहित्यकारों के लिखे का स्क्रीनशाट लेकर इनकी शिनाख्त कर लिए जाने, इन्हें जमा कर लिए जाने का आह्वान पोस्ट कर रहे हैं. बहुत मूर्ख और बहुत समझदार आदमियों में ज्यादा फर्क नहीं होता है शायद! अरे भइया, अपना मत-विचार-स्टैंड लिखो, अपना कमेंट लिखो, अपनी बात कहो, काहें जबरन दूसरों का ठेका लिए लादे घूमते हो प्रभु. 😀

भड़ास के संस्थापक और संपादक यशवंत की उपरोक्त तीन एफबी पोस्ट्स पर आए सैकड़ों कमेंट्स में से कुछ प्रमुख यूं हैं-

Kamta Prasad लाल सलाम कॉमरेड। थोड़ा समझाकर और तनिक विस्तार से लिखते। आपकी बाकी पोस्टों के मुकाबले यह पोस्ट अत्यंत छोटी लग रही है।

Yashwant Singh यह त्वरित प्रतिक्रिया है। विस्तार से भी लिखेंगे कामरेड।

Vinod Bhaskar मुझे तो उल्टा लग रहा है. ७१ में पाकिस्तान ने यही गलती पूर्वी पाकिस्तान में की थी. एक नया देश बांग्लादेश बन गया.

Yashwant Singh मैंने कहा है कि साइड इफेक्ट देखना बाकी है। पर अगर कश्मीर भारत का अभिन्न अंग है तो इस अभिन्न अंग को ढंग से अभिन्न बना लेने में क्या दिक्कत?

Kumaril Mishra आप तो भक्तों की तरह बोल रहे है। गुस्ताखी माफ दादा ।

Yashwant Singh जबरदस्ती का विरोध और जबरदस्ती का समर्थन, दोनों ही ग़लत है। सही को सही और ग़लत को ग़लत कहने का साहस रखने वाला कभी भक्त नहीं हो सकता क्योंकि भक्त तो अपने ‘भगवानों’ के ऑलवेज / हर हाल में समर्थक होते हैं, इसीलिए किसी लोकतंत्र के लिहाज से वे चूतिया कैटगरी के प्राणी होते हैं।

सूर्य कांत सिंह सही-ग़लत का फ़ैसला भक्त ही कर रहे हैं। बाक़ी लोग ग़लत-ग़लत ही हैं।

Yashwant Singh सत्य वचन। तभी तो उन्हें ‘भक्त’ कहा जाता है!

DrMandhata Singh तथाकथित लोगों के राय के खिलाफ लिख दिया। विरोध भी झेलने होंगे। एक बड़े कांग्रेसी नेता ने ट्वीट कर महबूबा का समर्थन किया है। इस जमात के जो नहीं बोल रहे हैं वे भी मोदी-शाह के विरोध का कोई मौका नहीं छोड़ते भले ही देश का भी विरोध क्यों न करना पड़े। महबूबा अभी जो कर रही हैं वह पूर्णतः देशविरोधी गतिविधियां हैं फिर एकजुटता के नाम पर उनका समर्थन माने ही देशविरोध है। आखिर आप जैसा सुलझा इंसान भी मान रहा है कि कश्मीर को अब इसी कड़वे इलाज की जरूरत है।

Ramesh Sharma देश ने जब परमाणु परीक्षण किया था तब भी कूटनीतिक मोर्चे पर संकट था जो देश की एकजुटता के आगे एलिमिनेट हो गया। आज भी वैसी ही चुनौती है।

Madan Tiwary आज जश्न का दिन है

P.c. Rath 370 हटाने के लिए मोदी जी को धन्यवाद परंतु एक प्रश्न जो हम कानून और संविधान एक्सपर्ट्स से पूछना चाहते हैं कि क्या 370 हटाने और जम्मू-कश्मीर के पुर्नगठन करने वाली बात से पाक अधिकृत कश्मीर पर हमारा दावा समाप्त हो गया क्या अब हम पाक अधिकृत कश्मीर को भारत का अंग नहीं मानते हैं ?

Ashish Rai Kaushik निष्पक्ष लेखनी भैया। जहां विरोध वहां विरोध, जहां समर्थन वहां समर्थन। ये भी एक तरह का बड़ा फैसला और सर्जिकल स्ट्राइक ही है

Rajesj Tyagi फौजी बूटों की थाप ही कशमीर का हल है राजनीतिक नही धार्मिक समस्या है

Akhilesh Tripathi देश की अखंडता और एकता के लिए उठाया गया महत्वपूर्ण स्वागतेय कदम

Ashish Mehta कश्मीर पर ऐतिहासिक फैसले की सभी देशवासियों को बधाई। भाजपा सरकार को साधुवाद।

Mukesh Singh जियो दोस्त, बेबाक राय रखने के लिए ।

Satya Prakash Srivastava 100% सहमति

Pankaj Chandra Joshi ऐतिहासिक फैसला

Shashikant Singh लाजवाब सर

Kunal Verma बिल्कुल सही लिखा

Mohit Soni धारा370 हटाने का में समर्थन करता हूं!

Dushyant Rai वाह! बहुत साहसी और ईमानदार पोस्ट, बधाई

Jhala Raj Singh Th-Sardaya बहुत खूब भैयाजी…सटीक विश्लेषण…

Tarun Kumar Tarun दिल से बधाई यशवंत भैया !

Sanjay Bhattacharya प्रधानमंत्री जी को हार्दिक बधाई।

आशीष मिश्रा Dadda aise topic pr itti chhoti post.lambi post kb aayegi aapki?

Ashok Anurag लेकिन बिहार के मुख्यमंत्री भोकार पार के लोट लोट के रो रहे हैं

Manjeet Singh बेबाक टिप्पणी, जय हो

Manoj Anuragi आपने बिल्कुल सही कहा

Ved Ratna Shukla ऐतिहसिक दिन की बधाई।

ये भी पढ़ें-

मोदी विरोधी कई साहित्यकारों-पत्रकारों ने भी कश्मीर पर साहसिक फैसले के लिए कहा- शाबास सरकार!

कश्मीर पर फैसला भारतीय अवाम का नहीं, सिर्फ संघ का एजेंडा : उर्मिलेश

मोदी-शाह ने सांप भी मार डाला, लाठी भी न टूटने दी! जानें कैसे क्या खेल हुआ कश्मीर पर….



भड़ास व्हाट्सअप ग्रुप- BWG-10

भड़ास का ऐसे करें भला- Donate






भड़ास वाट्सएप नंबर- 7678515849

One comment on “कश्मीर पर बोल्ड स्टेप उठाने वाले मोदी-शाह के लिए भड़ास संपादक यशवंत ने क्या लिखा, पढ़ें”

  • शानदार पोस्ट लेकिन भड़ासी बाबा इसपर बहुत कम लिखे है ।

    Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published.

*

code