कल्पेश याग्निक की हत्यारिन सलोनी अरोड़ा जेल से छूटी, देखें वीडियो

दैनिक भास्कर समूह के संपादक कल्पेश याज्ञनिक को ब्लैकमेल कर खुदकुशी के लिए मजबूर करने वाली हत्यारिन महिला पत्रकार सलोनी अरोड़ा जेल से छूट गई है. उसे हाई कोर्ट ने सशर्त जमानत दे दी है. कृपया हमें अनुसरण करें और हमें पसंद करें:

हाईकोर्ट ने दैनिक भास्कर को फटकार लगाते हुए अविश्वसनीय अखबार कह दिया!

जिस सलोनी अरोड़ा की ब्लैकमेलिंग से तंग आकर दैनिक भास्कर समूह के ग्रुप एडिटर कल्पेश याज्ञनिक ने सुसाइड कर लिया था, उसी सलोनी की जमानत याचिका पर आज इंदौर हाईकोर्ट में सुनवाई थी. सलोनी की तरफ से कोर्ट में उपस्थित हुईं महिला वकील ने कोर्ट से कहा कि दैनिक भास्कर ने कल्पेश याज्ञनिक की सुसाइड …

संपादक कल्पेश की हत्यारिन सलोनी की दिवाली जेल में बीतेगी, पढ़ें चार पेजी कोर्ट आर्डर

इंदौर : दैनिक भास्कर समूह के संपादक रहे वरिष्ठ पत्रकार कल्पेश याग्निक को लगातार धमकाकर, डराकर, प्रताड़ित करने के साथ 5 करोड़ की अवैध वसूली की मांग करने वाली सलोनी अरोरा की जमानत अर्जी आज जिला अदालत में अतिरिक्त जिला एवं सत्र न्यायाधीश (ए. डी.जे). कोर्ट से खारिज हो गई. कृपया हमें अनुसरण करें और …

सलोनी अरोड़ा कोर्ट में आते ही रोने लगी, नीरज याज्ञनिक को देख चिल्लाई

इंदौर : स्वर्गीय कल्पेश याज्ञनिक के भाई नीरज याज्ञनिक को कोर्ट में देखकर हत्यारिन सलोनी अरोड़ा चिल्लाने लगी और कहा- ‘मेरी मौत हुई तो इसके जिम्मेदार तुम होगे. सुसाइड करूंगी तो तुम्हारा नाम लिख जाऊंगी.’ जिस समय ये सब सलोनी बोल-कह रही थी, उस वक्त नीरज फोन पर किसी से बात कर रहे थे. वे …

भारत बंद के चलते कोर्ट में पेश न हो सकी सलोनी अरोड़ा

पेट्रोल-डीजल मूल्यवृद्धि के विरोध में कांग्रेस सहित विपक्षी दलों द्वारा किए गए भारत बंद से कल्पेश याग्निक खुदकुशी मामला भी प्रभावित हो गया। सोमवार को सलोनी अरोरा की न्यायिक हिरासत की अवधि समाप्त होने पर उसे कोर्ट में पेश किया जाना था लेकिन पुलिस अमला बंद से निपटने में लगा रहा। कृपया हमें अनुसरण करें …

सलोनी अरोड़ा से जेल में मिलने कोई परिजन नहीं पहुंचा

इंदौर से कीर्ति राणा की रिपोर्ट सलोनी की जेल अवधि 10 सितंबर तक बढाई गई…  दैनिक भास्कर के समूह संपादक वरिष्ठ पत्रकार कल्पेश याग्निक खुदकुशी मामले में न्यायिक हिरासत में जेल भेजी गई सलोनी अरोरा को जेएमएफसी कोर्ट में पेश किया गया। जहां पुलिस ने रिमांड वगैरह तो नहीं मांगा लेकिन उस पर भादवि की …

सलोनी अरोड़ा जेल गई

दैनिक भास्कर के समूह संपादक कल्पेश याग्निक खुदकुशी मामले में आरोपित महिला पत्रकार सलोनी अरोरा को जेल भेज दिया गया। उसके पहले बुधवार को रिमांड अवधि खत्म होने पर इंदौर की जेएमएफसी कोर्ट में उसे प्रस्तुत किया गया। कोर्ट ने उसे न्यायिक हिरासत में जेल भेज दिया। कृपया हमें अनुसरण करें और हमें पसंद करें:

सलोनी तीसरी बार पुलिस रिमांड पर, सिम बरामद, आदित्य चौकसे ने दिया विरोध में बयान

इंदौर। वरिष्ठ पत्रकार कल्पेश याग्निक खुदकुशी मामले में आरोपी महिला पत्रकार सलोनी अरोरा को रविवार को रिमांड अवधि खत्म होने पर इंदौर की जेएमएफसी कोर्ट में प्रस्तुत किया गया। पुलिस द्वारा कोर्ट से अनुरोध किया गया कि उसका और पुलिस रिमांड दिया जाए क्योंकि केस से संबंधित अनेक मामलों में उससे पूछताछ के साथ ही …

सलोनी अरोरा बोली- मुझे नहीं मालूम था कल्पेश आत्महत्या जैसा कदम उठाएंगे

सलोनी की रिमांड अवधि तीन दिन के लिए बढ़ी इंदौर : जिस सलोनी अरोरा की धमकियों, बदनाम करने वाले ऑडियो की वजह से घर-परिवार-रिश्तेदार-भास्कर समूह में छवि धूमिल होते जाने के कारण बेहद तनाव के चलते कल्पेश याग्निक ने आत्महत्या जैसा घातक कदम उठाया, उसी सलोनी को भी उनके इस कदम का अफसोस है। कृपया …

सलोनी अरोड़ा बोली- एक एक को देख लूंगी, तुम सबकी नौकरी खा जाऊंगी! (देखें वीडियो)

कल्पेश के लिए जी का जंजाल बनी सलोनी… अब बढ़ा रही है पुलिस का भी तनाव पत्रकार कल्पेश की जी का जंजाल बनी मुख्य आरोपी सलोनी अरोरा को गिरफ्तार करने वाली इंदौर पुलिस को रविवार को ही समझ आ गया कि उसकी पूरे वक्त कड़ी निगरानी जरूरी है।पहले पुलिस की चिंता थी कि कैसे गिरफ्तार …

कल्पेशजी की आवाज में फुसफुसाहट बता रही कि वे सलोनी के दबाव में थे

Pushya Mitra सलोनी अरोड़ा अरेस्ट हो गयी है. वही सलोनी अरोड़ा जिस पर दैनिक भास्कर के पूर्व समूह संपादक स्वर्गीय कल्पेश याग्निक ब्लैकमेल करके खुदकुशी के लिए विवश करने का आरोप है. सलोनी अरोड़ा उसी दैनिक भास्कर समूह की पूर्व पत्रकार रह चुकी है और मुंबई ब्यूरो में काम करते हुए फिल्मी जगत की खबरें …

भाषा का सवाल उठाने पर कल्पेश याग्निक ने राहुल देव को यूं दिया था करारा जवाब, देखें वीडियो

वरिष्ठ पत्रकार राहुल देव ने एक प्रोग्राम में दैनिक भास्कर के तत्कालीन ग्रुप एडिटर कल्पेश याग्निक पर आरोप लगाया कि आप हिंदी अखबार में काम करते हैं लेकिन अंग्रेजी के कई शब्द लिखते हैं. आप हिंदी अखबार के संपादक हैं लेकिन यहां आप अंग्रेजी में भाषण दे दिए… ऐसा क्यों करते हैं… ये ठीक नहीं …

सलोनी अरोड़ा हत्थे चढ़ी, बेटे से मिलने की ममता में हुई गिरफ्तार

इंदौर। वरिष्ठ पत्रकार कल्पेश याग्निक से पांच करोड़ रुपए की मांग करने वाली ब्लैकमेलर पत्रकार सलोनी अरोड़ा को पुलिस ने शनिवार शाम मुंबई से पकड़ लिया। गिरफ्तारी के लिए पुलिस ने सादे कपड़ों में सलोनी के बेटे का पीछा किया। जैसे ही वह उससे मिलने पहुंची, उसे पकड़ लिया गया। कृपया हमें अनुसरण करें और …

कल्पेश सुसाइड प्रकरण : पत्रकार सलोनी अरोड़ा कैसे ब्लैकमेल करते हुए धमकाती थी, सुनिए ये टेप

जब ये टेप मैं सुन चुका और कल्पेश जी का पुलिस को दिया गया शिकायती पत्र पढ़ चुका तो पिक्चर क्लीयर हो गई. वो आशंकाएं भी साफ हो गई जो मन में छाईं थीं. कल्पेश याग्निक अपनी इज्जत और प्रतिष्ठा के प्रति बहुत ज्यादा संवेदनशील थे. उनकी इस कमजोरी को सलोनी अरोड़ा भांप चुकी थी. …

तो आत्महत्या को इसलिए मजबूर हुए कल्पेश याग्निक…

इंदौर । कल्पेश याग्निक आत्महत्या मामले में पर्दे के पीछे कई लोग हैं। इनमें सलोनी के नज़दीकी भी हैं और इस सारे मामले को लंबे समय से जान रहे लोग भी हैं। कल्पेश के इस कदम से परिवार सदमे से जल्दी इसलिए नहीं उबर पाएगा कि कल्यपेश को जानने समझने वाले भी विश्हवास नहीं कर …

प्रश्न पूछ रही है कल्पेश की आत्महत्या!

भास्कर समूह संपादक कल्पेश याग्निक की आत्महत्या को नौ दिन हो गए हैं। पुलिस की जाँच गति से परिजनों को ढिलाई लग रही है। एक तरह से यह आत्महत्या पुलिस और ख़ासकर प्रबंधन से भी प्रश्न पूछ रही है कि ऐसे हालात बनने ही क्यों दिए कि जीवन समाप्त करना पड़ा। पुलिस को एक पखवाड़े …

कल्पेश याग्निक केस : सलोनी के भाई ने कहा- वो अपराधी है, उसने कइयों का जीवन बर्बाद किया, उसे कड़ी सजा मिले

वरिष्ठ पत्रकार कल्पेश याग्निक की मौत के मामले में पुलिस दिल्ली, मुंबई, नीमच और रतलाम में सलोनी अरोरा की तलाश कर रही है। उसकी कॉल डिटेल भी निकाली गई है, जिसमें एक फिल्म वितरक से 2483 बार बात होने की जानकारी मिली है। कृपया हमें अनुसरण करें और हमें पसंद करें:

सलोनी अरोड़ा 11 साल से कर रही थी ब्लैकमेल, पहले 25 लाख मांगा, फिर एक करोड़ और आखिर में 5 करोड़ मांगने लगी

महिला पत्रकार सलोनी अरोड़ा कितनी बड़ी ब्लैकमेलर थी, इसका अंदाजा इस बात से हो जाता है कि उसने भास्कर के ग्रुप एडिटर कल्पेश याग्निक से पहले पच्चीस लाख रुपये की मांग की. जब ये रुपए मिलने वाले थे तो उसने डिमांड एक करोड़ रुपये की कर दी. एक करोड़ देने की जब तैयारी की जाने …

कल्पेश याग्निक के मुश्किल वक्त में भास्कर समूह ने उनका साथ न दिया!

Sheetal P Singh : अब तक की पुलिस जाँच और मीडिया में हुई रिपोर्टस से पता चला है कि मृत्यु से करीब सप्ताह भर पहले इंदौर के आला पुलिस अफ़सर को कल्पेश ने एक शिकायत सौंपी थी जिसमें उन्हे यौन उत्पीड़न के एक मामले में फँसा दिये जाने का संदेह था! उक्त पुलिस अफ़सर ने …

कल्पेश को सुसाइड के लिए मजबूर करने वाली पत्रकार सलोनी अरोड़ा पर केस दर्ज

  इंदौर से खबर है कि वरिष्ठ पत्रकार कल्पेश याग्निक की आत्महत्या के मामले में पुलिस ने पत्रकार सलोनी अरोड़ा के खिलाफ आत्महत्या के लिए उकसाने सहित विभिन्न धाराओं में केस दर्ज किया है। याग्निक से पांच करोड़ रुपये की मांग पूरी नहीं किए जाने पर सलोनी दुष्कर्म के केस में फंसाने की धमकियां देती …

नवभारत, बिलासपुर के सम्पादक निशान्त शर्मा की हार्ट अटैक से मौत

स्वर्गीय निशांत शर्मा Pran Chadha : जान की बाजी लगा कर पत्रकारिता! दैनिक भास्कर के ग्रुप एडिटर कल्पेश याग्निक की मृत्यु की खबर के दो दिन बाद आज नवभारत बिलासपुर के सम्पादक निशान्त शर्मा की हार्ट अटैक से मौत हो गयी।वो 59साल के थे। उनको नर्मदा नगर में उनके निवास पर आज दोपहर दिल का …

अपने समूह संपादक की आत्महत्या पर भास्कर ग्रुप चुप्पी क्यों साधे है?

अपने आप को देश का सबसे बड़ा समाचार समूह बताने वाला दैनिक भास्कर ग्रुप अपने समूह संपादक कल्पेश याग्निक की सुसाइड पर कई तरह के सवालों से घिर गया है. दैनिक भास्कर खुद को विश्वसनीय होने का दावा करता है, पर कल्पेश याग्निक द्वारा सुसाइड किया जाने की खबर को बदलकर छापना इस दावे को …

कल्पेश याग्निक द्वारा छत से कूद कर आत्महत्या करने की खबर पर लगी मुहर

कल भड़ास4मीडिया में कल्पेश याग्निक द्वारा छत से कूदकर आत्महत्या करने की खबर छपी थी जिस पर अब अधिकृत तौर पर मुहर लग गई है. पुलिस ने आत्महत्या का केस दर्ज कर छानबीन शुरू कर दी है. कृपया हमें अनुसरण करें और हमें पसंद करें:

भाड़ में जाए ऐसी पत्रकारिता जो हमें मरने पर विवश करे!

Girish Pankaj  यह कितनी दुखदाई स्थिति है कि एक बड़े अखबार के समूह संपादक को खुदकुशी करनी पड़ जाए। दरअसल जबसे अखबारों को कारपोरेट घरानों में तब्दील कर दिया गया है, तबसे संपादक नाम की संस्था नष्ट हो गई है। संपादक को सेठ का बंधुआ मजदूर बना दिया गया है। उस पर न जाने कितने …

भास्कर ग्रुप कल्पेश याग्निक की मौत की वजह छुपा क्यों रहा है?

भास्कर समूह ने खबर प्रकाशित किया कि हार्ट अटैक के कारण कल्पेश याग्निक की जान गई. भास्कर समूह हार्ट अटैक को हाइलाइट कर रहा है. पर अब जाकर पिक्चर क्लीयर हुई है. कल्पेश याग्निक दूसरी मंजिल से नीचे गिरने से मरे हैं. कृपया हमें अनुसरण करें और हमें पसंद करें:

कल्पेश याग्निक अपनी एक रिपोर्टर से बातचीत वाले वायरल हुए आडियो के कारण बेहद तनाव में थे!

yashwant singh कल रात ‘गॉडफादर पार्ट 2’ देख रहा था. सुबह करीब ढाई बजे के लगभग फिल्म खत्म हुई तो सोेने जाने से पहले यूं ही ह्वाट्सअप पर एक सरसरी नजर मारने लगा. देखा तो दो मैसेज कल्पेश याग्निक के हार्ट अटैक से मरने के आए पड़े थे. मुझे विश्वास नहीं हुआ. मैसेज भेजने वाले …

कल्पेश याग्निक की मौत को ग्लोरिफाई मत कीजिये

Sandeep Kumar : पत्रकार साथियों, कृपा करके कल्पेश याग्निक की मौत को शहादत मत बनाइये। इस बात को प्लीज ग्लोरिफाई मत कीजिये कि खबरों का खिलाड़ी, एक कर्मवीर न्यूज रूम में चला गया, कि एक पत्रकार के लिए इससे अच्छा क्या हो सकता है…वगैरह, वगैरह। अच्छा बताइये भला आपमें से कितने लोग इसे लेकर रोमांचित …

हमारा न्यूजरूम कत्लगाह बनता जा रहा है…

Pushya Mitra न्यूजरूम में एक प्रधान संपादक का कोलेप्स कर जाना… एक बड़े हिंदी अखबार का प्रधान संपादक रात साढ़े दस बजे अपने ही न्यूज रूम में कोलेप्स कर जाता है. महज 55 साल की उम्र में. यह महज सहानुभूति और सांत्वना व्यक्त करने वाली खबर नहीं है. यह खबर कहीं अधिक बड़ी है. यह …

कल्पेश याग्निक दिल की जांच रेगुलर कराते थे, कहीं कोई प्राब्लम न थी

Aditya Pandey : एक ही शब्द में पूरा व्यक्तित्व रखना हो तो मैं कल्पेश याग्निक को ‘उत्साह’ कहता। धोतीकुर्ते में नए घर के उद्घाटन के मौके पर जिस तरह उन्होंने अर्श से फर्श तक की खूबियां गिनाईं तब में उन्हें सुन कम रहा था लेकिन इस पर मेरी नजर टिकी हुई थी कि इस बंदे …

कल्पेश याग्निक यानि कार्पोरेट जर्नलिज्म का अनूठा जुझारू

आप याद आएँगे कल्पेश जी… कार्पोरेट जर्नलिज्म का अनूठा जुझारू… आम तौर पर शोक दर्ज़ नहीं करता, पर आज रहा नहीं गया। तमाम असहमतियाँ एक तरफ़, मगर कार्पोरेट जर्नलिज्म के लिए जुझारु लगाव रखने वाले कल्पेश याग्निक का असमय जाना दुखद है। दैनिक भास्कर में हमने साथ साथ काम किया। 2001 में भास्कर समूह के …