‘पत्रकार संगठनों! समाचार प्लस वाले उमेश की गिरफ्तारी पर तुम्हारी पॉलिटिक्स क्या है?’

लखनऊ के वरिष्ठ पत्रकार नवेद शिकोह ने यूपी के पत्रकार संगठनों से कहा- ‘उमेश के मुद्दे पर बोलो… तुम सब कब बोलोगे’ सोशल मीडिया पर तुम लोगों की मीटिंगों और कार्यक्रमों की रोज तस्वीरें जारी होती हैं। बयान आते हैं। वक्तव्य आते हैं। पत्रकारिता की भलाई पर तमाम तरीकों की फिक्र पर चर्चा करते हो। …

समाचार प्लस वाले उमेश कुमार के पाप का घड़ा भर गया, स्टिंगबाजी में हुआ गिरफ्तार

समाचार प्लस चैनल के मालिक उमेश कुमार के पाप का घड़ा भर गया. जिस स्टिंगबाजी के कारण उमेश कुमार शून्य से चलकर शिखर तक पहुंचा था, उसी स्टिंगबाजी ने उसे सलाखों के पीछ भिजवा दिया. उत्तराखंड पुलिस ने उमेश कुमार को अरेस्ट कर लिया है. देहरादून पुलिस ने कड़ी सुरक्षा के बीच समाचार प्लस के …

‘समाचार प्लस’ वाले उमेश को सीबीआई जांच के दायरे में लाने की तैयारी, कोर्ट ने भेजा नोटिस

प्रेस कांफ्रेंस कर कोर्ट द्वारा नोटिस भेजे जाने की जानकारी देते रघुनाथ सिंह नेगी.  उत्तराखंड में हरीश रावत जब सीएम थे तब वो एक स्टिंग आपरेशन में नंगे हो गए थे. इस प्रकरण की जांच फिलहाल सीबीआई कर रही है. इस मामले में एक नया मोड़ तब आया जब हाईकोर्ट ने स्टिंग करने वाले समाचार …

हनी ट्रैप में फंसा ‘समाचार प्लस’ चैनल का संचालक उमेश कुमार, 25 करोड़ मांगने वाले हुए गिरफ्तार

हनी ट्रैप में फंसा चैनल संचालक उमेश कुमार हनीट्रैप में फंसाकर समाचार प्लस चैनल के संचालक उमेश कुमार से 25 करोड़ रुपये की रंगदारी मांगने वाली युवती और उसके दोस्त को नोएडा थाना फेज-तीन पुलिस ने गिरफ्तार किया है। दोनों को बुधवार को उस वक्त गिरफ्तार किया गया, जब वह चैनल संचालक से रंगदारी की …

समाचार प्लस चैनल के मालिक और संपादक उमेश कुमार पर रेप का आरोप

दिल्ली के तुगलक रोड थाने से सूचना मिली है कि समाचार प्लस चैनल के पार्टनर और एडिटर इन चीफ उमेश कुमार पर एक लड़की ने रेप का आरोप लगाया है. बताया जाता है कि पीड़िता चैनल में ही वरिष्ठ पद पर कार्यरत है.

समाचार प्लस चैनल में छंटनी, दो दर्जन लोगों की नौकरी गई

समाचार प्लस न्यूज चैनल से सूचना है कि यहां करीब दो दर्जन मीडियाकर्मियों को नौकरी से निकाल दिया गया है. इन लोगों को पहले खराब परफारमेंस का मेल भेजा गया और बाद में एक एक कर फायर कर दिया गया. सूत्रों के मुताबिक यूपी उत्तराखंड चुनाव बीतने के बाद चैनल को अब ज्यादा स्टाफ की जरूरत नहीं है, इस कारण लोगों को नौकरी से निकाल दिया गया. दूसरी वजह बताई जा रही है कि चुनावों में जो रेवेन्यू टारगेट था, वह पूरा नहीं हुआ. चैनल आर्थिक संकट से घिरा है और चैनल के संचालकों में कई मुद्दों को लेकर अनबन चल रही है. इन सब वजहों से चैनल के संचालन की कॉस्ट कम की जा रही है.

‘समाचार प्लस’ चैनल का दिवालियापन : अमित शाह की रैली में मुलायम सिंह यादव को पहुंचा दिया!

उत्तर प्रदेश और उत्तराखंड केंद्रित रीजनल न्यूज चैनल ‘समाचार प्लस’ की कोई क्रेडिबिल्टी नहीं रह गई है. यह ओछी और घटिया पत्रकारिता पर उतर आया है. ऐसी ऐसी खबरें यह चैनल दिखा रहा है कि लोग माथा पकड़ ले रहे हैं. इस चैनल ने अपने यहां लिख दिया कि अमित शाह की रैली में मुलायम सिंह यादव पहुंच गए. बताइए भला, क्या यह संभव है कि भाजपा नेता अमित शाह की रैली में सपा सुप्रीमो मुलायम सिंह यादव पहुंच जाएं?

समाचार प्लस राजस्थान चैनल का शटर डाउन, यूपी-यूके चैनल भी चुनाव तक चलने के आसार!

एक बड़ी चर्चा टीवी जगत से आ रही है. खबर है कि समाचार प्लस, राजस्थान का शटर डाउन किया जा रहा है. तीस जून आखिरी वर्किंग डे होगा. इसके बाद यह चैनल नाम मात्र को रहेगा यानि केवल प्रतीकात्मक तौर पर दिखेगा. चर्चा तो यह भी है कि समाचार प्लस यूपी उत्तराखंड भी बस विधानसभा चुनावों तक का मेहमान है. कारण बताया जा रहा है कि चैनल को संचालित करने वाली कंपनी घाटे में चल रही है और फाइनेंसर ने आगे समाचार प्लस के साथ बिजनेस करने से मना कर दिया है.

हरीश रावत का स्टिंग : चैनल मालिक उमेश शर्मा यहां पत्रकार कम, भाजपा के आदमी ज्यादा लग रहे हैं

Yashwant Singh : हरीश रावत के स्टिंग से दो बातें साफ हो गई हैं. एक तो यह कि उत्तराखंड पूरी तरह लूटखंड है. सीएम तक बोलता है कि पच्चीस क्या तीस करोड़ कमा लो, मैं आंखें बंद किए रहूंगा. साथ ही ये भी कि स्टिंग करने वाले पत्रकार ने स्टिंग करने के बाद उसे तुरंत चैनल पर नहीं चलाया बल्कि भाजपा और कांग्रेस के बागियों को उसे दिया ताकि पहले वे स्टिंग का राजनीतिक फायदा उठा सकें. मतलब ये कि समाचार प्लस चैनल के मालिक उमेश शर्मा यहां पत्रकार कम, भाजपा के आदमी ज्यादा लग रहे हैं. यानि सारा कुछ भाजपा के इशारे पर उन्होंने किया?

धंधेबाज ‘समाचार प्लस’ चैनल : रिपोर्टरों को उगाही का टारगेट, पूरा न करने पर कइयों को हटाया

समाचार प्लस राजस्थान में सभी स्टिंगरों को दिया गया एक लाख से 2 लाख रुपये उगाही का लक्ष्य. नहीं देने वाले रिपोर्टरों को निकाला. 26 जनवरी यानि गणतंत्र दिवस के नाम पर उगाहने हैं लाखों रुपये. समाचार प्लस में मैं कई सालों से कार्य कर रहा था.  5 हजार रुपये मुझे मेरी मेहनत के मिलते थे. काम ज्यादा था, पैसे कम. लेकिन चैनल को कुछ और ही प्यारा था. समाचार प्लस राजस्थान टीम ने मुझे फ़ोन कर कहा-

मैनेजिंग एडिटर अमिताभ अग्निहोत्री ने ‘समाचार प्लस’ चैनल से इस्तीफा दिया

यूपी उत्तराखंड केंद्रित रीजनल न्यूज चैनल समाचार प्लस को बड़ा झटका तब लगा जब इसके मैनेजिंग एडिटर अमिताभ अग्निहोत्री ने इस्तीफा दे दिया. चैनल की लांचिंग से ही अमिताभ इसके साथ जुड़े हुए थे और चैनल के जाने माने चेहरे बन चुके थे. अमिताभ अग्निहोत्री का प्राइम टाइम डिबेट प्रोग्राम उत्तर प्रदेश और उत्तराखंड में काफी पसंद किया जाता था. उनकी नेताओं और सिस्टम पर धारधार टिप्पणियां आम दर्शकों के मन में जगह बना चुकी थीं जिसके कारण अमिताभ अग्निहोत्री की अच्छी खासी फालोइंग हो गई है. माना जा रहा है कि अमिताभ के जाने से समाचार प्लस चैनल के दर्शक वर्ग पर असर पड़ेगा.

‘समाचार प्लस’ चैनल ने मुझ स्ट्रिंगर का छह महीने का पैसा मार लिया!

समाचार प्लस चैनल की रीयल्टी. पत्रकारों का शोषण करने वाला चैनल. न्यूनतम वेतन से भी कम देने वाला चैनल. छ माह की तनख्वाह खा जाने वाला चैनल. असभ्य और बदमिजाज एडिटर वाला चैनल. अपनी बात से बार बार पलटने वाले सम्पादक. स्ट्रिगरों का हक मारने वाले. खबर के लिए चौबीस घण्टे फोन करने वाले. वेतन के लिए फोन नहीं उठाने वाले. रोज शाम राजस्थान की जनता को ज्ञान बॉटने वाले सम्पादक महोदय. एक स्ट्रिगर के सवालों का जवाब नहीं दे पाते. राजस्थान के दर्जनों पत्रकारों के मेहनत के पैसे खा जाने वाले. पत्रकारो को आईडी कार्ड नहीं देने वाले. ऐसा चैनल जिसमे एकाउण्ट और एचआर डिपार्टमेन्ट नहीं हो. गेजुएट, पोस्ट गेजुएट और बीजेएमसी पास युवाओं को मजदूर से कम वेतन देने वाले, वह भी चार माह की देरी से. ये सब करता है समाचार प्लस चैनल.

यूपी में जी मीडिया और राजस्थान में समाचार प्लस के संवाददाता मांग रहे पैसे (सुनें टेप)

: जी मीडिया का संवाददाता बाबा से मांग रहा है पांच लाख रुपये : समाचार प्लस राजस्थान के संवाददाता ने स्कूल संचालक से मांगे पैसे : इलाहबाद के पास है कौशाम्बी. यहां कुछ ऐसे लोग हैं जो मीडिया को बेच रहे हैं. कौशाम्बी में पत्रकार हैं अजय कुमार जो कथित तौर पर जी न्यूज़ में काम कर रहे हैं. इन महाशय ने तीन कैमरामैन भी रख लिया है. ये पूरा गिरोह मिलकर खबर के चलाने रोकने के नाम पर मोटी रकम की डिमांड कर रहे हैं. एक बाबा से रिपोर्टर अजय कुमार और उनके एक सहयोगी की बातचीत का आडियो वायरल हुआ है. इसमें अजय के सहयोगी धारा यादव ने बाबा से खबर न चलवाने के नाम पर जी मीडिया को विज्ञापन देने के लिए 500000 रुपये की मांग की. अजय कुमार पर शराब के नशे में बिजली विभाग के जेई से मारपीट की मामला मंझनपुर कोतवाली में दर्ज हो चुका है. टेप सुनने के लिए इस लिंक पर क्लिक करें: https://www.youtube.com/watch?v=bUP6J2nn4_Y

मजीठिया वेज बोर्ड : श्रम आयुक्त उत्तर प्रदेश की चिट्ठी से समाचारपत्र प्रबंधनों में हड़कम्प

मित्रों,

समाचारपत्र कर्मचारियों को मजीठिया वेज बोर्ड की सिफारिशों के अनुरूप वेतनमान न देना पड़े, इसके लिए पिछले चार वर्षों से अधिसंख्य अखबार प्रबंधनों द्वारा की जा रही चोट्टई से सभी भलीभांति परिचित हैं। सुप्रीम कोर्ट के स्पष्ट आदेश के बावजूद समाचारपत्र प्रबंधनों की केंद्र व राज्य सरकारों से नूरा कुश्ती जारी है। वैसे भी केंद्र सरकार को इस मामले में दिलचस्पी क्यों रहेगी, जब ज्यादातर अखबार मालिक पहले से ही उसके सामने दुम हिलाये घूम रहे हैं।

‘समाचार प्लस’ के पत्रकार पर छेड़खानी समेत कई धाराओं में मुकदमा दर्ज

उत्तर प्रदेश के ज्यादातर जिलों में समाचार प्लस नामक चैनल द्वारा जिला संवाददाता उन्हीं को बनाया गया है, जो केबिल ऑपरेटर थे। इसी के चलते ललितपुर जिले में भी केबिल ऑपरेटर शैलेन्द्र जैन को समाचार प्लस का जिला संवाददाता बनाया गया था। लेकिन शैलेन्द्र जैन साहब खबरों के अलावा अन्य सभी कार्यों के लिए जाने जाते हैं। इन्हीं कार्यो के चलते कल इनके खिलाफ ललितपुर कोतवाली में एक लड़की के साथ छेड़खानी और लड़की के साथ मारपीट का मुकदमा दर्ज किया गया है।

विधायक ने स्टिंग को बताया साजिश, ‘समाचार प्लस’ को भेजा नोटिस

स्टिंग ऑपरेशन से हुई किरकिरी के बाद अब मंगलौर विधायक सरवत करीम अंसारी ने संबंधित चैनल ‘समाचार प्लस’ को नोटिस भेजा है. साथ ही स्टिंग ऑपरेशन की सत्यता पर सवाल उठाए हैं.  उन्होंने इसे सामाजिक और राजनीतिक छवि बिगाड़ने की साजिश करार दिया है.

मंत्री करीम अंसारी उत्तराखंड सरकार गिराने के लिए 50 करोड़ में कर रहे थे सौदा, ‘समाचार प्लस’ ने कर लिया स्टिंग

उत्तराखंड के मंगलौर से विधायक / दर्जाधारी कैबिनेट मंत्री हाजी सरवत करीम अंसारी सरकार गिराने के लिए सौदेबाजी करते हुए कैमरे में कैद हुए। सरवत करीम अंसारी ने 50 करोड़ में सरकार गिराने का सौदा किया। अपने साथ 4 और विधायकों के नाम पर भी सौदेबाजी की। मंत्री ने पिटकुल के एमडी का पद दिलाने के लिए 25 लाख मांगे।