अब सिर्फ वे ही न्यूज चैनल चलेंगे जो साहेब को खुश रख सकें या फिर हिन्दू मुस्लिम दंगा करा सकें!

Sheetal P Singh : साहेब को TV पर एब्सोल्यूट कब्जा मांगता. सिर्फ वे ही चैनल चलेंगे जो हिन्दू मुस्लिम दंगा करा सकें. ABP news में बड़े फेरबदल की खबर है. संपादक मिलिंद खांडेकर हटाये गए. चर्चित एंकर अभिसार शर्मा के ऑफ एयर होने की खबरें. कहा जा रहा है कि PMO असंतुष्ट है. स्वाति चतुर्वेदी ने भी ट्वीट किया है कि पुण्य प्रसून बाजपेयी से भी ABP न्यूज़ प्रबंधन ने इस्तीफा ले लिया है. Continue reading

कृपया हमें अनुसरण करें और हमें पसंद करें:

मिलिंद खांडेकर ने एबीपी न्यूज से दिया इस्तीफा, रजनीश आहूजा को मिला कार्यभार

एबीपी न्यूज चैनल के मैनेजिंग एडिटर मिलिंद खांडेकर ने इस्तीफा दे दिया है. उनकी जगह फिलहाल रजनीश अहूजा को कार्यभार सौंपा गया है. रजनीश एबीपी न्यूज में ही एसोसिएट मैनेजिंग एडिटर के पद पर कार्यरत हैं.

मिलिंद खांडेकर

Continue reading

कृपया हमें अनुसरण करें और हमें पसंद करें:

एबीपी न्यूज मोदी के चरण चापन में अब जी न्यूज को मात देने में जुटा (देखें वीडियो)

एक चैनल था एबीपी न्यूज. था, इसलिए क्योंकि कभी इस पर तटस्थ पत्रकारिता होती थी. सिस्टम की बखिया उधेड़ने वाली पत्रकारिता होती थी. लेकिन अब यह भगवा रंग में रंग गया है. शाजी जमां के जाने के बाद या यूं कहिए को शाजी जमां को भगवा लाबी द्वारा जबरन हटवाए जाने के बाद जो संपादक मिलिंद खांडेकर इसे देखकर रहे हैं, लगता है उन्होंने सारे आंख कान नाक बंद कर लिए हैं. वे बस ये देखते हैं कि ये खबर मोदी के पक्ष में है या खिलाफ. साथ ही ये भी देखते हैं कि ये खबर केजरीवाल के पक्ष में है या खिलाफ.

अगर खबर मोदी के पक्ष में है तो चलेगी. अगर खबर केजरीवाल के खिलाफ है तो भी चलेगी. इसी फार्मूले पर एबीपी न्यूज में उन्होंने एक खबर चलवा दी. सोशल मीडिया और ह्वाट्सएप पर जबरन दौड़ाए जाने वाली भगवा ब्रिगेड की ढेर सारी अफवाह खबरों में से एक को सच मान मिलिंद खांडेकर ने चला दिया. आखिरकार इस चैनल को थूक कार चाटना पड़ा और माफी मांगनी पड़ी.

नीचे वो वीडियो है जिसमें एबीपी न्यूज चैनल माफीनामा चला रहा है. लेकिन सवाल इस बात का है कि आप बीस घंटे झूठ चलाओ और पांच सेकेंड के लिए माफी मांग लो तो सारी खून माफ? ये कैसी गंदी पत्रकारिता है भाई. पहले केवल एक था. जी न्यूज. सारे मानक पैमाने सरोकार एक तरफ फेंककर यह दागी चैनल लगातार मोदी का चरण चापन दिखा रहा था. अब एबीपी न्यूज इसी रास्ते पर चल पड़ा है और जल्द ही मिलिंद खांडेकर अगर सुधीर चौधरी को मात देते हुए दिखें तो इसमें किसी को कोई आश्चर्य नहीं होना चाहिए.

वीडियो देखने के लिए इस लिंक पर क्लिक करें : https://www.youtube.com/watch?v=DnuHXqPHkV0

भड़ास को एक मीडियाकर्मी द्वारा भेजे गए पत्र पर आधारित.

कृपया हमें अनुसरण करें और हमें पसंद करें:

युद्ध के लिए आतुर एबीपी न्यूज और इसके एडिटर मिलिंद खांडेकर की ओम थानवी ने कुछ यूं ली खबर

Om Thanvi : भारत का कथित वार रूम। तीनों सेनाध्यक्ष और राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार। मोदी को बताया जा रहा है कि पाकिस्तान पर हम किस तरह हमला बोलेंगे। ख़बर कहती है “रेत के मॉडल” बनाकर समझाया गया है! रेत के मॉडल? हमले की इतनी सुविचारित योजना? वह भी रक्षामंत्री की अनुपस्थिति में? और योजना की या उसकी बैठक की ख़बर हमले से पहले टीवी को? … ख़बरों के नाम पर क्या-क्या नहीं हो रहा है!

Mohd Javed : सर Om Thanvi, आपको पढ़-लिखकर बहुत सीखते हैं लेकिन इसमें ग़लत क्या है? रिपोर्टर अपने सोर्स के हवाले से ख़बर चलाता है, जो उसकी बुनियादी ड्यूटी है. जो रिपोर्टर को पता चलता है उसे वो रिपोर्ट करता ही है. ये ख़बर इसकी तस्दीक़ बिलकुल नहीं करती कि हमला हो ही जाएगा.. Milind Khandekar सर ने भी ‘युद्ध के हालात’ में ऐसा होगा, ये लिखा ना कि ये कि युद्ध हो ही रहा है.. 17 जवान मार दिए गए.. इतने बड़े हमले के बाद PM इस तरह की बैठक ले सकते हैं.. इस पोस्ट में ऐसा बिलकुल नहीं लगता कि ये पत्रकारिता के उसूलों के ख़िलाफ़ हो!

Om Thanvi : मिलिंद ने किसी ख़बर का हवाला दिया है, ख़बर लिखी नहीं है। दूसरे, अगर मान भी लें कि वार का मंज़र है, वार रूम स्थापित हो चुका है, पर रक्षामंत्री की मौजूदगी के बग़ैर? कम्प्यूटर और जीपीएस के ज़माने में रेत के मॉडल?

सौजन्य : फेसबुक

कृपया हमें अनुसरण करें और हमें पसंद करें:

रिसर्च की गहराई और प्रोडक्शन की भव्यता के लिहाज़ से ‘भारतवर्ष’ जैसा काम न्यूज़ इंडस्ट्री में पहले कभी नहीं हुआ : मिलिंद खांडेकर

Milind Khandekar : हम आज रात दस बजे से भारतवर्ष शुरू करने जा रहे हैं। आपने प्रोमो देखे ही होंगे, फ़िल्म अभिनेता अनुपम खेर इस शो को प्रस्तुत करेंगे। ABP न्यूज़ का ये इस साल का सबसे बड़ा शो है। अंजु, संजय नंदन, रुचि और रजनीश प्रकाश पिछले एक साल से इस शो पर काम कर रहे हैं। प्रधानमंत्री, रामराज्य के बाद भारतवर्ष हमारा बड़ा शो है।

मैंने पिछले शो को भी नज़दीक से बनते देखा है, इस शो के बारे में बड़ी विनम्रता के साथ कह सकता हूँ कि रिसर्च की गहराई और प्रोडक्शन की भव्यता के लिहाज़ से भारतवर्ष जैसा काम न्यूज़ इंडस्ट्री में पहले कभी नहीं हुआ। भारतवर्ष आप भी ज़रूर देखें, हर शनिवार रात १० बजे और रविवार रात ८ बजे। सिर्फ़ देखें नहीं, हमें बताएं कि शो कैसा लगा।

एबीपी न्यूज के हेड मिलिंद खांडेकर की एफबी वॉल से.

कृपया हमें अनुसरण करें और हमें पसंद करें: