वरिष्ठ पत्रकार बच्चन सिंह नहीं रहे

वरिष्ठ पत्रकार एवं साहित्यकार बच्चन का 75 साल की आयु में सोमवार को अपराह्न करीब एक बजे हृदयाघात से निधन हो गया। वाराणसी के चोलापुर के अमरपट्टी गांव के मूल निवासी श्री सिंह अपने पुत्र विनय सिंह (आईबीएन-7 के पत्रकार) के साथ दिल्ली के मयूर विहार में रह रहे थे। बच्चन सिंह अपने पीछे तीन पुत्र और दो पुत्रियां छोड़ गए हैं। पार्थिव शरीर का अंतिम संस्कार मंगलवार को मणिकर्णिका घाट पर किया जाएगा।

भंसलिया खुद के थप्पड़ मरवैले हौ, एके कहल जाला मार्केटिंग!

बनारस के किसी पक्के महाल में एक पान की अड़ी पर एक घंटे में “भंसाली काण्ड” में इतने एंगल निकले-

पाकिस्तान हैकर ने हिंदी दैनिक समाचार पत्र विजडम इंडिया की वेबसाइट पर कब्जा जमाया

पाकिस्तान से जुड़े संदिग्ध हैकरों ने 26 जनवरी 2017 को जब देश अपने गणतंत्र की खुशियों मे लीन था उसी दिन हिंदी दैनिक समाचार पत्र विजडम इंडिया की वेबसाइट www.wisdomindia.news को हैक कर लिया और उस पर भारत विरोधी आपत्तिजनक बातें पोस्ट कर दी. वेबसाइट के होमपेज पर एक तस्वीर भी पोस्ट की गई है जिसमें कश्मीर को आजाद करने का संदेश लिखा गया है। इस हैकिंग के पीछे किसी पाकिस्तान समूह पर शक जताया जा रहा है. हैकरों ने इसमें लिखे सन्देश में आजाद कश्मीर की मांग किया है कि मुस्लिम आतंकवादी नहीं होते हैं, मुस्लिमो को मारना बंद हो.

सुप्रीम कोर्ट में 6 सप्ताह में फिर शुरू होगी मजीठिया वेज बोर्ड की सुनवाई

देश भर के प्रिंट मीडिया कर्मियों के वेतन, एरियर और प्रमोशन से जुड़े जस्टिस मजीठिया वेज बोर्ड मामले की सुनवाई  6 सप्ताह के अंदर सुप्रीम कोर्ट में फिर पहले की तरह शुरू हो जाएगी।  मीडिया कर्मियों के एडवोकेट ने इस खबर की पुष्टि खुद की है।

क्या रवीश के शो की टीआरपी ना आने की वजह से किसी को दस्त लग सकते हैं?

Nitin Thakur : क्या रवीश कुमार के शो की टीआरपी ना आने की वजह से किसी को दस्त लग सकते हैं? जी हां, लग सकते हैं। एक जाने-माने दरबारी विदूषक (विदूषक सम्मानित व्यक्ति होता है, दरबारी विदूषक पेड चाटुकार होता है) का हाजमा खराब हो गया और उसने मीडिया पर अफवाह फैलाने वाली एक वेबसाइट का मल रूपी लिंक अपनी पोस्ट पर विसर्जित कर दिया। कई बार लोग जो खुद नहीं कहना चाहते या लिखने की हिम्मत नहीं जुटा पाते वो किसी दूसरे के लिखे हुए का लिंक डाल कर बता देते हैं।

साली के खिलाफ खबर छपने से तिलमिलाए भाजपा नेता ने पत्रकार का उत्पीड़न शुरू किया

पत्नी की बहन के खिलाफ समाचार प्रकाशन से बौखलाए जांजगीर-चांपा जिले के भाजपा नवागढ़ मंडल अध्यक्ष ने पहले पत्रकार को फोन कर सत्ताधारी पार्टी के नेता होने का धौंस दिखाया, उस पर भी बात नहीं बनी तो अपने आपको पूर्व विधानसभा उपाध्यक्ष का सबसे करीबी बताते हुए उनके नाम से धमकी दी। फिर भी बात न बनते देख शिकायत कर पत्रकार की पत्नी को नौकरी से निकलवाने का भय दिखाया। अब सोशल मीडिया में उसी मामले में पत्रकार पर अवैध वसूली का आरोप लगाते हुए उसे वायरल कर रहा है। जिस समाचार को लेकर यह पूरा खेल खेला जा रहा है उसे छत्तीसगढ़ एक्सप्रेस के साथ-साथ एक इलेक्ट्रानिक मीडिया के साथी ने भी कवरेज तथा प्रसारित किया था। इसके वीडियो फुटेज भी उपलब्ध हैं।

श्रम अधीक्षक ने बहाल करने का आदेश दिया, विरोध में हिन्दुस्तान प्रबंधन गया हाईकोर्ट

झारखंड में जस्टिस मजीठिया वेज बोर्ड के मापदंडों के हिसाब से वेतन और एरियर के मामले में हिन्दुस्तान प्रबंधन के खिलाफ रिकवरी सार्टिफिकेट जारी करवाने वाले रांची के मीडियाकर्मी उमेश कुमार मलिक को हिन्दुस्तान प्रबंधन ने यह कहकर टर्मिनेट कर दिया कि इनका परफारमेंस खराब है। मजे की बात यह है कि टर्मिनेशन से पहले उमेश कुमार मलिक के वेतन में हिन्दुस्तान प्रबंधन ने दस प्रतिशत वृद्धि की थी।

मुंबई के पत्रकार शशिकांत सांदभोर का निधन

एक दुखद खबर मुंबई से है। राजनैतिक, समाजिक और अन्य क्षेत्रों पर अपनी अच्छी पकड़ रखने वाले मुंबई के पत्रकार शशिकांत सांदभोर का कल मुंबई के एक अस्पताल में निधन हो गया। वे कुछ दिनों से बीमार चल रहे थे। वे हिन्दी और मराठी दोनों भाषाओं में पत्रकारिता करत थे। इन दोनों भाषाओं के खबरिया …

महिला रेलकर्मी ने जीएम के साथ डुएट गाने से मना किया तो हुआ ट्रांसफर, थमा दी चार्जशीट

”पिछले 8 सालों से रेलवे में कल्चरल कोटे के तहत काम कर रही हूं। हर साल मंडल को नेशनल इंटर कंम्पटीशन में जिताती आ रही हूं। लेकिन आज तक कभी सम्मान या अवार्ड नहीं मिला। उल्टा अधिकारीयों की पर्सनल पार्टियों में घर जाकर गाना गाना पड़ता है। फिर चाहे दिवाली का मौका हो या न्यू ईयर का।” यह आपबीती है उस महिला सीनियर क्लर्क की जिसे रेलवे जीएम सत्येंद्र कुमार के साथ गाना न गाने पर सबसे बड़ी अनुशासन हीनता बताते हुये चार्जशीट और ट्रांसफर ऑर्डर दिया गया।

शाहजहांपुर में ग्रामीण पत्रकार एसोसिएशन के लगातार आठवीं बार जिलाध्यक्ष बने राजीव शर्मा

शाहजहांपुर : ग्रामीण पत्रकार एसोसिएशन की कार्यकारिणी गठन एवं सम्मान समारोह कार्यक्रम का आयोजन किया गया. सर्वसम्मत से आठवीं बार लगातार राजीव शर्मा को जिला अध्यक्ष नियुक्त किया गया. वहीं उत्कृष्ट कार्य करने वाले तमाम पत्रकारों को सम्मानित किया गया. रविवार को कस्बा सेहरामऊ दक्षिणी स्थिति प्रतिष्ठान पर हुए कार्यक्रम का शुभारंभ वरिष्ठ पत्रकार ओंकार मनीषी, दीप श्रीवास्तव, मास्टर हमिद फरीदी, संजीव गुप्ता, राजीव शर्मा ने संयुक्त रूप से मां शारदे के चित्र पर माल्यार्पण तथा दीप प्रज्वलित कर किया. इसके बाद कार्यक्रम का प्रारंभ हुआ.

युवा पत्रकार देवेंद्र सिंह ने अखिलेश यादव की चुनावी वार रूम टीम को ज्वाइन किया

युवा पत्रकार देवेंद्र सिंह मूलतः उत्तर प्रदेश के मथुरा से हैं। हाल ही में लखनऊ में उन्होंने मुख्यमंत्री अखिलेश यादव की चुनाव प्रचार (वॉर रूम) टीम में संचार कूटनीतिक (communication strategic) सेक्शन के सदस्य के रूप में शामिल हुए है।

कांग्रेस का ये साथ, मुसलमानों के साथ घात

राजीव गांधी द्वारा जन्मभूमि का ताला खुलवाने से कांग्रेस से बिदके थे मुसलमान

अजय कुमार, लखनऊ
 

उत्तर प्रदेश की सियासत में भगवान राम की जन्मस्थली अयोध्या से जुड़ी तीन बातों ने पिछले 30 वर्षों में खूब सुर्खिंया बटोरी हैं। इन तीन बातों ने प्रदेश की राजनीति में भूचाल ला दिया तो कहीं न कहीं समाज को बांटने का भी काम किया। तीनों ही बातें भगवान राम की नगरी अयोध्या से ताल्लुक रखती हैं और इन तीनों बातों के पीछे तीन राजनैतिक दलों ने ही मुख्य किरदार निभाया। यह तीन बातें चुनावी मौसम में हमेशा ही सुर्खिंयों की वजह बन जाती हैं, जैसा कि इस बार भी देखने को मिल रहा है। इन बातों को क्रमशः समझा जाये तो कहा जा सकता है कि 1986 में रामजन्म भूमि स्थान का ताला खुलवाने में जहां कांग्रेस का अहम किरदार रहा थो तो अस्सी-नब्बे के दशक में समाजवादी पार्टी प्रमुख मुलायम सिंह यादव ने बीजेपी की सोच के विपरीत अपनी सियासी गोटियां सेंकने के लिये अयोध्या मसले को खूब हवा दी।

टीवी पत्रकार मोहित चोपड़ा पहुंचे अखिलेश यादव के मीडिया सेल वार रूम में

मोहित चोपड़ा युवा टीवी पत्रकार हैं. कई चैनलों में काम कर चुके हैं. उन्होंने नई पारी अब अखिलेश यादव के ‘मीडिया सेल वार रूम’ के साथ की है. उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री और सपा नेता अखिलेश यादव की तरफ से चुनाव के लिए जो मीडिया सेल वार रूम बनाया गया है उसमें बड़े पैमाने पर युवा पत्रकारों को नौकरी मिली है जो दिन रात अखिलेश यादव को मीडिया और सोशल मीडिया में विविध तरीकों से प्रमोट करने के लिए जुटे रहते हैं.

देशबन्धु अखबार ले आया अपना इंटरनेट टीवी- DB LIVE

देशबन्धु समाचार पत्र समूह अपने ऑनलाइन नेटवर्क में विस्तार कर रहा है। इसके तहत इंटरनेट टेलीविजन को लांच किया गया है। DB LIVE के नाम से शुरू किए गए इस ऑनलाइन टीवी को इन्टरनेट के हर प्लेटफार्म पर उपलब्ध कराया जा रहा है। YouTube, Facebook, Twitter, व्हाट्सएप्प  तथा अन्य सोशल मीडिया नेटवर्क के अलावा DB LIVE वेबसाइट और ऐप्प के जरिए भी उपलब्ध है।

सेलरी और बकाया मांगने बीवी-बच्चों समेत सहारा आफिस पहुंचे बर्खास्त मीडियाकर्मियों ने जमकर लगाए नारे (देखें वीडियो)

गणतंत्र दिवस पर सहारा मीडिया के पीड़ित कर्मचारियों ने सहारा प्रबंधन को सरेआम ललकारा… ‘सुब्रत तेरी गुंडागर्दी नहीं चलेगी, नहीं चलेगी’। ‘जयब्रत तेरी गुंडागर्दी नहीं चलेगी, नहीं चलेगी’, ‘बेईमान प्रबंधन बाहर आओ’, ‘चोर प्रबंधन बाहर आओ’, ‘हर जोर-जुल्म की टक्कर में संघर्ष हमारा नारा है’, ‘अभी तो ली अंगड़ाई है, आगे और लड़ाई है’… ये नारे किसी रैली या जुलूस में नहीं लग रहे थे। ये नारे लग रहे थे गणतंत्र दिवस के दिन सुबह आठ बजे नोएडा के सेक्टर 11 स्थित राष्ट्रीय सहारा समाचार पत्र के मेन गेट पर.

यूपी के इस दरोगा ने खुद खोल दी अपनी पोल (सुनें टेप)

उत्तर प्रदेश के कौशांबी जिले में एक दरोगा और डॉयल-100 सिपाही के बीच बातचीत का एक ऑडियो वायरल हुआ है। इस ऑडियो में दारोगा ने डॉयल-100 के सिपाही से अपने अवैध कामकाज में दखल न देने की हिदायत दी है। इस तरह दरोगा ने खुद ही अपने तमाम अवैध कामकाज की पोल खोलकर रख दी है। दरोगा का नाम राकेश शर्मा है जो मूरतगंज पुलिस चौकी में प्रभारी के बतौर तैनात है। दरोगा की वायरल ऑडियो ने पुलिस महकमे को शर्मशार कर दिया है।

हिन्दुस्तान प्रबंधन ने जबरन इस्तीफा लिखाया, सदमे में मीडियाकर्मी की मौत

दिल्ली से हिन्दुस्तान मीडिया वेंचर लिमिटेड प्रबंधन के करतूत की एक दिल दुखा देने वाली खबर आ रही है। यहां जस्टिस मजीठिया वेज बोर्ड के अनुसार कर्मचारियों को वेतन और उनका बकाया ना देना पड़े, इसके लिये प्रबंधन उन लोगों से जबरी त्यागपत्र लिखवा रहा है और टार्गेट कर रहा है जिन्होंने अपने हक के लिए अदालत में केस नहीं लगाया है और ना ही लेबर विभाग में क्लेम किया है।

एनडीटीवी को अलविदा कहने के बाद बरखा दत्त ‘द क्विंट’ से जुड़ीं, पढ़िए उनका बयान

एनडीटीवी की लंबी पारी के बाद बरखा दत्त अब द क्विंट से जुड़ गई हैं. मोदी की मार से मुश्किल में फंसे प्रणय राय को कई बड़े नामों को अपने यहां से रुखसत करना पड़ रहा है. बरखा इन्हीं में से एक हैं. द क्विंट नामक डिजिटल मीडिया कंपनी के मालिक राघव बहल ने बरखा को अपने मीडिया कंपनी से जोड़ लिया है. खासकर यह तो तय हो चुका है कि विधानसभा चुनावों में बरखा दत्त द क्विंट के लिए काम करेंगी. इस बारे में खुद बरखा दत्त ने फेसबुक पर जो लिखा है, वह इस प्रकार है :

तीसरे हफ्ते में न्यूज नेशन को सबसे ज्यादा फायदा, अंबानी के चैनल न्यूज18इंडिया का बुरा हाल

इस साल के तीसरे हफ्ते की टीआरपी में सबसे ज्यादा फायदा न्यूज नेशन चैनल को दिख रहा है. न्यूज नेशन और न्यूज24 की टीआरपी लगभग बराबर हो गई है. दोनों ही 9.8 के साथ इंडिया न्यूज को पछाड़ने की तैयारी किए हुए हैं. सबसे खराब हालत अंबानी के न्यूज चैनल की है. आईबीएन7 से नाम बदलकर न्यूज18इंडिया किए जाने से भी चैनल का उद्धार नहीं हो पा रहा है. यह चैनल अब आठवें स्थान पर लुढ़क चुका है.

Veteran Journalist Ram Gopal Sharma Passes Away

We are shocked to learn the sudden demise of Pandit Ram Gopal Sharma (70), a veteran journalist, a writer, a poet and the former Vice-President of the Indian Federation of Working Journalists. It has come to us as a bolt from the blue. When Shri Awadhesh Bhargav, a senior journalist from Bhopal, broke this sad news to us, we could not believe to our ears.

‘आजतक’ छोड़कर ‘हिंदी खबर’ गए अभिषेक रस्तोगी

लखनऊ से खबर है कि अभिषेक रस्तोगी ने आजतक से इस्तीफा दे दिया है. वे यूपी के रीजनल चैनल हिंदी खबर में लखनऊ में बतौर क्राइम हेड ज्वाइन कर चुके हैं. अभिषेक सोशल मीडिया पर भी काफी एक्टिव रहते हैं. अभिषेक 14 साल से लखनऊ में पत्रकारिता कर रहे हैं.

ईटीवी से इस्‍तीफा देकर इंडिया टीवी पहुंचे नीरज रावत

नीरज रावत ने ईटीवी से इस्‍तीफा देकर इंडिया टीवी ज्‍वाइन कर लिया है. वे ईटीवी में सीनियर वीडियो एडिटर के पोस्‍ट पर कार्यरत थे. इंडिया टीवी में भी वह इसी पद पर गए हैं. नीरज पिछले 9 सालों से इलेक्‍ट्रानिक मीडिया से जुड़े हुए हैं. जैन टीवी से अपने करियर की शुरुआत करने वाले नीरज …

किसने किया है मुलायम को नजरबंद!

अजय कुमार, लखनऊ
समाजवादी पार्टी में पिछले कुछ महीनों में जिस तरह का घटनाक्रम चला उसके बारे में सब जानते-समझते हैं। पारिवार की लड़ाई थी। सड़क पर आई तो कुछ लोगों ने इस पर दुख जताया तो ऐसे लोगों की कमी भी नहीं थी जो अखिलेश के पक्ष में माहौल बनाते घूम रहे थे। परिवार की लड़ाई में कभी अखिलेश पक्ष तो कभी मुलायम खेमा भारी पड़ता दिखा, परंतु जीत का स्वाद अखिलेश पक्ष ने ही चखा। फिर भी ‘पिटे मोहरे’ की तरह एक बाप का फर्ज निभाते हुए नेताजी अपने सीएम बेटे को लगातार रिश्तों की अहमियत और जातिपात के सियासी समीकरण समझाते रहे।

प्रभात खबर ने हरिवंश को दी विदाई, कमान आशुतोष चतुर्वेदी ने संभाली

प्रभात खबर को गढ़ने और मजबूत बनाने वाले प्रधान संपादक हरिवंश को प्रभात खबर के स्टाफ ने विदाई दी और नए ग्रुप एडिटर आशुतोष चतुर्वेदी को वेलकम कहा. अलविदा और स्वागत का आयोजन रांची में किया गया था. हरिवंश को विदाई देते हुए सबकी आंखें नम थीं. हरिवंश ने जदयू की तरफ से राज्यसभा सदस्य बनाए जाने के बाद संपादक पद से इस्तीफा दे दिया था.

महोदय, आपकी ये अंदरखाने वाली डीलिंग मुझे काफी देर में समझ आई

सेवा में,
श्रीमान् शिव प्रसाद सेमवाल
संचालक महोदय,
पर्वत जन
मासिक पत्रिका,
देहरादून।

विषय- पत्रकारिता बनाम धंधेबाजी की आपकी शातिर चाल के चक्रव्यूह में मेरा पिस जाना

भास्कर ग्रुप का घोटाला खोलने वाले ‘स्वराज एक्सप्रेस’ चैनल के रिपोर्टर को देना पड़ा इस्तीफा

मेरे सभी सम्मानीय मित्रों एवमं मेरे सभी सहयोगियों… 

यह बताते हुए मुझे अत्यंत ख़ुशी हो रहा है कि मैंने अपने पूरे होश में मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ के रीजनल न्यूज चैनल ‘स्वराज एक्सप्रेस’ के खरसिया रिपोर्टर के पद से त्यागपत्र दे दिया है। कारण यह हैं कि यह चैनल एक समय पत्रकारों का चैनल हुआ करता था किन्तु आजकल इसमें भी कुछ दलाल किस्म के लोग सक्रिय हो गए हैं। मैंने पिछले 1 वर्ष से बिना कोई पेमेंट प्राप्त किये खुद के व्यय से अपना कैमरा, अपना कैमरामेन, अपना इंटरनेट लगाकर काम किया। सबसे ज्यादा कीमती अपना बहुमूल्य एक वर्ष का समय है जिसके मूल्य का आकलन मैं स्वयं नहीं कर सकता हूँ।

राजगढ़ के पत्रकार अमिताभ पाण्डेय को मीडिया फेलोशिप मिली, सम्मानित भी किए गए

राजगढ़ : राजगढ़ जिले के वरिष्ठ पत्रकार अमिताभ पाण्डेय को स्वास्थ्य सम्बंधी विषयो पर विशेष समाचार लिखने के लिए मीडिया फेलोशिप दिये जाने की घोषणा की गई है. यह फेलोशिप यूनाइटेड वे वर्ल्डवाइड, लिली फाउंडेशन एवं रीच नामक संस्थाओं के सहयोग से दी गई. इसके अंतर्गत पाण्डेय को एक प्रशास्ति पत्र एवं 30 हजार रुपये पुरुस्कार स्वरूप दिया गया. चेन्नई में देश के विभिन्न राज्यों से चुने गये 40 पत्रकारों के साथ पाण्डेय भी सम्मानित किए गए.

Priya Singh Paul claims that she is daughter of late sanjay gandhi!

संजय गांधी की बेटी होने का दावा… कोई न्यूज चैनल बात नहीं कर रहा… ‘छत्तीसगढ़’ नामक अखबार से लंबी बातचीत में प्रिया पॉल अपने दावे के लिए डीएनए जांच को तैयार

दिल्ली में रहने वाली, भारत सरकार के एक बड़े ओहदे पर काम चुकीं प्रिया सिंह पॉल का दावा है कि वे संजय गांधी की बेटी हैं, और वे यह संबंध साबित करने के लिए डीएनए जांच के लिए तैयार हैं। वे किसी राजनीति में नहीं हैं, और कई चैनलों में वे महत्वपूर्ण जिम्मेदारियां निभा चुकी हैं। अभी चार दिन पहले उन्होंने फेसबुक पर यह बात लिखी, और तब से लगातार इस अखबार, ‘छत्तीसगढ़’, ने लगातार उनसे बात करने की कोशिश की। वे आज सुबह इस बातचीत के लिए तैयार हुईं, और उनसे लंबे साक्षात्कार के कुछ हिस्से यहां प्रस्तुत हैं।

पांच मिनट में शास्त्रीय संगीत की अवधारणा पेश करने वाले खयाल गायक पं. सत्यशील देशपांडेय से विशेष बातचीत

खयाल गायक पं. सत्यशील देशपांडेय से मुहम्मद जाकिर हुसैन की खास बातचीत : जिसकी सांगीतिक आत्मा तड़पती है तो उसको शास्त्रीय संगीत तक आना पड़ता है… आम जनता को खुश करने के लिए नहीं है शास्त्रीय संगीत… 

पत्रकारिता की ट्रेनिंग देने का झांसा देकर युवती से दुष्कर्म

मध्यप्रदेश के खंडवा जिले में पत्रकारिता की ट्रेनिंग देने का झांसा देकर एक युवती से दुष्कर्म का मामला सामने आया है। मामले में युवती ने कोतवाली थाने में प्रकरण दर्ज कराया है। शिकायत मिलते ही पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार कर लिया। जानकारी के अनुसार 25 वर्षीय युवती को आरोपी संजय रायकवार ने विज्ञापन लाने के लिए नौकरी पर रखा। कुछ दिन बाद वह युवती से बोलने लगा कि मैं तुम्हें बहुत बड़ी पत्रकार बना दूंगा।

मोदी सरकार ने भ्रष्टाचार के क्षेत्र में उल्लेखनीय योगदान के लिए शरद पवार को पद्मविभूषण से सम्मानित किया!

Abhiranjan Kumar : एक तरफ़ कांग्रेसी थे, जिन्होंने नेताजी सुभाष चंद्र बोस, बाबा साहब भीमराव अंबेडकर, सरदार वल्लभ भाई पटेल इत्यादि को भी भारत रत्न दिये जाने लायक नहीं समझा, दूसरी तरफ़ भाजपाई हैं, जो कांग्रेस-कुल के भ्रष्ट लोगों का भी तुष्टीकरण करने में जुट गए। एक दिन वे उन्हें भ्रष्ट कहते हैं, दूसरे दिन पद्मविभूषण घोषित कर देते हैं। याद कीजिए, हालिया महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव में बीजेपी के तमाम नेताओं ने किस तरह से एनसीपी को भ्रष्टाचार का पर्यायवाची बताया था।

चैनल वन न्यूज का धंधा जारी : एक-एक लाख लेकर ब्यूरो की नियुक्ति!

चण्डीगढ़। चैनल वन न्यूज आज कल पूरी तरह धंधागिरी पर उतरा हुआ है। पंजाब के चुनावों में उम्मीदवारों से पेड खबरों के बदले धन लेने के लिए जीभ लपलपाने वाले इस चैनल की असलियत कुछ यूं भी है। गुजरs 10 नवंबर, 2016 को इस चैनल ने पंजाब के लिए एक ही समय दो-दो ब्यूरो सुनील सहारण और जगरूप शेहरावत नियुक्त किये और बदले में दोनों से एक-एक लाख रूपये बतौर सिक्युरिटी लिये। चैनल ने मौखिक रूप से चण्डीगढ़ या उसके आस-पास कार्यालय लेने, कार्यालय में स्टॉफ की नियुक्ति करने, पंजाब में चैनल के प्रचार के लिए होर्डिंग लगाने और पंजाब में पांच वाहन चलाने का हुक्म भी दिया।

पुलिस अधीक्षक खाकी के दागियों को हटाने में लगा, भास्कर का फोटो रिपोर्टर बचाने में जुटा

राजस्थान के सरहदी व संवेदनशील जिले बाड़मेर के पुलिस अधीक्षक डॉ. गगनदीप सिंगला आमजन में पुलिस की छवि को सुधारने के लिए खाकी पर सवाल उठते ही उस पर कड़ी कार्रवाही कर रहे हैं, लेकिन दैनिक भास्कर का फोटो पत्रकार उनको बचाने के जुगाड़ में लग जाता है. हाल के वाकिये के अनुसार १६ जनवरी को बाड़मेर के एक बड़े व्यापारी के यहाँ शादी में आये मेहमानों के जुआ खेलने की सूचना पर बाड़मेर कोतवाली हेड कांस्टेबल ने अपने साथियों के साथ दबिश देकर ३०-३५ जुआरियों को पकड़ लिया. लेकिन मुक़दमा दर्ज करने की जगह जुआरियों के साथ जब्त राशी जो कि २ लाख से ज्यादा थी, को हड़प लिया और प्रति जुआरी ३ हजार रूपये लेकर छोड़ दिया.

दानवीर पत्रकार आनंद साहू को मिला सकारात्मक पत्रकारिता सम्मान

छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने महासमुंद में आयोजित साहू समाज के सम्मेलन में वरिष्ठ पत्रकार आनंद साहू को सकरात्मक पत्रकारिता के लिए सम्मानित किया। दूरस्थ ग्रामीण अंचल की बालिका मानसी साहू द्वारा मोदी को लिखे पत्र पर सकारात्मक रिपोर्टिंग के लिए श्री साहू को यह सम्मान दिया गया। स्मृति चिन्ह भेंटकर मुख्यमंत्री ने श्री साहू के उज्जवल भविष्य की कामना की।

रॉबिन पहुंचे ईटीवी, कलानिधी बने ब्यूरो प्रमुख, अवनीश पर अटैक

स्टेट न्यूज़ चैनल के देहरादून संवाददाता पद से इस्तीफा दे चुके रॉबिन सिंह चौहान के बारे में सूचना है कि उन्होंने ईटीवी उत्तराखण्ड के साथ नई पारी की शुरुआत की है.

मजीठिया : ट्रिब्‍यून के वेतनमान में भी है लोचा

साथियों, नवभारत टाइम्‍स, जनसत्‍ता ही नहीं, दैनिक ट्रिब्‍यून में भी मजीठिया ढंग से लागू नहीं है। दिल्‍ली के एक साथी ने हमें चंडीगढ़ ट्रिब्‍यून में कार्यरत एक साथी की मई 2014 की सैलरी स्लिप भेजी है, जिसे देखकर तो ऐसा ही लगता है। यहां पर भी डीए की गणना 167 की जगह 189 प्‍वाइंट पर की गई है। ऊपर से डीए केवल बेसिक सैलरी पर निकाला गया है, नाकि बेसिक सैलरी और वेरियवल वे के जोड़ पर। इसलिए दोनों ही गणनाएं गलत है।

इलेक्ट्रॉनिक मीडिया एवं डिजीटल मीडिया को भी वेतन आयोग के दायरे में लायेंगे : दत्तात्रेय

भोपाल : केंद्रीय श्रम एवं रोजगार मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) बंडारु दत्तात्रेय ने कहा कि केंद्र सरकार इलेक्ट्रॉनिक मीडिया एवं डिजीटल मीडिया को भी पत्रकारों एवं गैर पत्रकारों के लिए बनाये जाने वाले वेतन आयोग के दायरे में लाने पर विचार कर रही है. दत्तात्रेय ने यहां संवाददातओं को संबोधित करते हुए कहा, ‘‘हम इलेक्ट्रॉनिक मीडिया एवं डिजीटल मीडिया को भी पत्रकारों एवं गैर पत्रकारों को वेतन आयोग में लाने पर विचार कर रहे है, ताकि इसका दायरा बढाया जा सके।”

मजीठिया जंग : हेमकांत को स्टे के बावजूद ऑफिस में न घुसने देने वाले दैनिक भास्कर प्रबंधन पर कोर्ट ने शुरू की अवमानना कार्रवाई

मजीठिया मांगने वाले हेमकांत चौधरी को ट्रांसफर पर स्टे के बावजूद ऑफिस में नहीं घुसने देने वाले दैनिक भास्कर के अफसरों पर कोर्ट ने शुरू की अवमानना कार्रवाई… तीन महीने जेल की सजा और 5000 जुर्माना होना तय, भास्कर के अफसरों में हड़कंप… मजीठिया मामले में अब तक की सबसे बड़ी खबर महाराष्ट्र के औरंगाबाद से प्रकाशित होने वाले दैनिक भास्कर के मराठी अखबार दिव्य मराठी से आई है। यहाँ प्रबंधन की लगातार धुलाई कर रहे हेमकांत चौधरी ने अबकी बार प्रबंधन के चमचों को पटखनी देते हुए एक ही दांव में न केवल धूल चटा दी है बल्कि चारों खाने चित्त कर दिया है।

ईटीवी चित्तोड़गढ़ के रिपोर्टर पीके अग्रवाल और उनके साथी अखिलेश शर्मा भी ‘जी राजस्थान’ के हिस्से हुए

ईटीवी चित्तौड़गढ़ के रिपोर्टर पीके अग्रवाल ने इस्तीफा देकर ज़ी राजस्थान का दामन थाम लिया है। पीके अग्रवाल जगदीश चंद्रा के करीबी लोगों में शामिल बताए जाते हैं। खबर यह भी है कि पीके अग्रवाल को जगदीश चंद्रा ने ईटीवी छोड़ ज़ी ग्रुप में आने के लिए मोटा पैकेज दिया है। पीके अग्रवाल के साथ …

पंजाब और गोवा में ‘आप’ दिल्ली जैसा चमत्कार करने जा रही!

Sheetal P Singh : पंजाब में सारा स्थानिक प्रिंट मीडिया और टीवी चैनल खुला “पेड न्यूज़” है। “आप” वालों की करीब तीस बड़ी सभाएँ रोज़ हो रही हैं। इनमें से चार पाँच विशाल और फैसलाकुन होती हैं। जवाब में कांग्रेस की दस के आसपास और अकाली बीजेपी की चार पाँच हो रही हैं।

शहीद DSP की पत्नी ने कोर्ट में कहा- ‘मथुरा कांड एक बड़े नेता द्वारा 300 एकड़ के पार्क पर कब्जा करने की साजिश का नतीजा’

मुकुल द्विवेदी की पत्नी अर्चना द्विवेदी ने यूपी पुलिस की जांच पर जताया अविश्वास, सीबीआई के हवाले मामले को सुपुर्द करने की अपील की….

मथुरा के जवाहर बाग में हुई हिंसा की सीबीआई द्वारा जाँच कराने की मांग पर शहीद मुकुल द्विवेदी की पत्नी अर्चना द्विवेदी की तरफ से वरिष्ठ अधिवक्ता और उत्तर प्रदेश के पूर्व महाधिवक्ता वीसी मिश्र ने हाईकोर्ट में बहस किया। उन्होंने प्रदेश सरकार पर गंभीर आरोप लगाए। उन्होंने कहा कि मथुरा कांड कोई कानून व्यवस्था का मामला नहीं है बल्कि यह एक बड़े नेता द्वारा 300 एकड़ में फैले पार्क पर कब्जा करने की साजिश का परिणाम है।

सरकारी बैग के लिए टूट पड़े रांची के पत्रकार!

एक-एक कर सभी नंगे हो गये. ये हैं रांची के पत्रकार. देखिये क्या कर रहे हैं. ये एक बैग के लिए हाय तौबा मचा रहे हैं. मामूली सरकारी बैग, जिसकी बाजार में कीमत सौ-दो सौ से ज्यादा कुछ भी नहीं. फिर भी मुफ्त के बैग में आनन्द की प्राप्ति होती है, इसलिए वे एक मामूली बैग को लेने के लिए लुच्चे व भिखारी की तरह हरकतें कर रहे हैं. जिन्हें बैग इन पत्रकारों को देना है, वे आराम से दूर से यह दृश्य देखकर, मुस्कुरा रहे होंगे.

अंग्रेजी अख़बार ‘मिल्ली गज़ट’ बंद, पढ़िए एडिटर ज़फरुल इस्लाम खान से विशेष बातचीत

एडिटर ज़फरुल इस्लाम खान ने ‘एशिया टाइम्स’ को दिए इंटरव्यू में कहा- ”भारत के मुसलमानों की प्राथमिकताओं में मीडिया शामिल नहीं”

नई दिल्ली : वर्ष 2016 के दिसंबर के अंतिम दिनों में यह खबर मिली कि सत्रह साल से जारी अंग्रेजी पाक्षिक ‘मिल्ली गजट’ ने अपने पाठकों को अलविदा कह दिया। अंतिम अंक ३१ दिसंबर को प्रकाशित हुआ। वास्तव में यह खबर बेहद दुखदहै। ‘मिल्ली गजट’ के संपादक डॉक्टर ज़फरुल इस्लाम खान ने यह अखबार सन 2000 में इस सोच के साथ शुरू किया था कि वे भारतीय मुसलमानों की आवाज़ देश -विदेश तक पहुंचाएंगे जिसे नेशनल मीडिया में कोई जगह नहीं दी जाती। लेकिन मीडिया की इस घाटी में काफी समय तक खाली हाथ यात्रा कब तक संभव है।

ईटीवी छत्तीसगढ़ के छह रिपोर्टरों को इस्तीफा देने का निर्देश

ईटीवी छत्तीसगढ़ से सूचना आ रही है कि सीनियर एडिटर ने तुगलकी फरमान जारी करते हुए अपने छह रिपोर्टरों को इस्तीफा देने के लिए कह दिया है. ईटीवी छत्तीसगढ़ के नए मुखिया सीनियर एडिटर प्रकाश चंद्र होता ने अपना रुतबा दिखाते हुए छंटनी शुरू कर दी है. खबर मिली है नए एडिटर ने 6 रिपोर्टर्स को दो दिन में इस्तीफा देने को कहा है. ये सभी लोग पुरानी एडिटर साहिबा प्रियंका कौशल के समय में आए थे.

पत्रकार अविनाश दास की फिल्म ‘अनारकली’ 24 मार्च को रिलीज होगी

Avinash Das : आज से पंद्रह साल पहले राजेंद्र यादव के आग्रह पर मैंने एक छोटा सा नाॅविल लिखा था। वह एक एेसे लड़के की कहानी थी, जो जीवन में बहुत कुछ बनना चाहता है – लेकिन एक कॉमन मैन में बदल जाता है। हम अपनी आकांक्षाओं के साथ लंबी यात्रा नहीं कर पाते। बहरहाल, मेरे मन की एक बात पूरी हो रही है। जब मेरी फिल्म अनारकली नहीं बनी थी, दोस्त पूछते थे – फिल्म कब बनाओगे? जब फिल्म बन गयी, तो पूछने लगे – रीलीज़ कब होगी?

चुनाव आयोग की सख्ती के बाद भी भदोही में बाहुबली विजय मिश्रा का आतंक

सौ से अधिक आपराधिक मामलों का आरोपी विजय मिश्रा भदोही का एक ऐसा बाहुबली है, जो अपने ही सगे-संबंधियों की हत्या कराने के लिए कुख्यात हैं। इसके इसी हरकत पर तत्कालीन मुख्यमंत्री मायावती ने पांच साल तक जेल के सलाखों के पीछे रखा। लेकिन, जैसे ही सपा की सरकार बनी, यादवी कुनबे के आकाओं की चरणवंदना कर न सिर्फ जेल से बाहर आया, बल्कि पांच साल के कार्यकाल में हर वह कुकर्म किया, जिससे जनता खौफ में जीने को विवश रही। अब जब चचा-भतीजे की लड़ाई में अखिलेश ने टिकट काट दिया है, तो उन्हें ही धमकी देते हुए कहा है वह भदोही ही नहीं, पूर्वांचल से सपा को नेस्तनाबूद कर देंगे। हालांकि यह उसका सिर्फ और सिर्फ गीदड़भभकी से अधिक कुछ नहीं है। इस धमकी के पीछे उसकी मंशा है किसी दूसरे दल में शामिल होकर टिकट हासिल करने की…

यूपी के इस बवाली और तानाशाह डीएम ने मीडियाकर्मियों को सरेआम हड़काया (देखें वीडियो)

उत्तर प्रदेश में समाजवादी पार्टी के जंगलराज में विविध प्रजातियों के अधिकारी खूब फलते-फूलते पाए जाते हैं. एक महोदय हैं बहराइच जिले के डीएम उर्फ जिलाधिकारी. इन्हें लोग प्यार से अब ‘बवाली DM’ कह कर पुकारने लगे हैं. ये खुद ही बवाल करते कराते रहते हैं. इन महाशय को तानाशाही पसंद है. जब चाहेंगे तब मीडिया को दौड़ा लेंगे. कैमरे बंद करा देंगे. डांट लगा देंगे. जब चाहेंगे तब किसी होमगार्ड को डंडे से पीट देंगे. होमगार्ड की पिटाई करने वाले डीएम के रूप में कुख्यात जिलाधिकारी अभय का ताजा कारनामा है पत्रकारों को डांट डपट कर कैमरा बंद कराना और कवरेज से रोकना.

न कोई गिफ्ट लिया और न ही खबर छापने का वादा किया था : नवीन शर्मा

Reply to the complaint of Mr. Ashok Chaudhary,

Dear Sir,

I got an Email from Ashok Chaudhary, who also informed you to take action against me. I didn’t meet with Mr. Ashok Ji even I don’t think that I know him. In the Morning at about 10.30 a. m. Mr. Neelash (I know him) called me for a press conference, he requested me to come for a press conference but I refused as it was not assigned and my camera is not functioning. then he told me AJAO AAJ MIL LETE HAI, BAHUT DIN HO GAY, in good faith I went there at about 1 Pm. I met him outside the room, after 5 min I left, even I didn’t enter in the press conference room.

दंगों के दाग और अपराधों की आग से कैसे बचेंगे अखिलेश यादव

अलीगढ़ में हुई महिलाओं से मारपीट और लूटपाट की दो घटनाओं ने बुलंदशहर कांड की याद फिर ताजा कर दी है। उत्त्तर प्रदेश में दंगों के सवाल पर सपा सरकार को विपक्षी दल पहले से ही घेरते आ रहे हैं। तो ऐसे में सवाल उठ रहा है कि चुनाव के समय अब अखिलेश यादव दंगों के दाग और अपराधों की आग से खुद और पार्टी को कैसे बचाएंगे ?

धीरज सिंह

घटनाएं होती हैं और कुछ समय बाद लोग उन्हें भूल जाते हैं मगर चुनाव आते ही राजनैतिक दल एक- दूसरे का लेखा-जोखा कुरेद कर फिर बाहर निकाल देते है। लोग जिन बातों को भूल चुके थे, चुनाव के ऐन पहले फिर से सुर्खियां बनने लगती हैं। प्रदेश में हुए दंगे और आपराधिक वारदात, कुछ ऐसे ही मुद्दे हैं जो समाजवादी पार्टी और मुख्यमंत्री अखिलेश यादव का पीछा नहीं छोड़ेंगे। मार्च 2012 में उत्तर प्रदेश का चुनाव परिणाम आने के बाद जब समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष मुलायम सिंह यादव ने अपने युवा पुत्र अखिलेश यादव को मुख्यमंत्री बनाया तो जनता प्रदेश के विकास का सपना देख रही थी। लैपटॉप मिलने की आशा में प्रदेश के युवाओं में भारी उत्साह था।

बनारस के योगेश कुमार गुप्त ‘पप्पू’ पहुंचे हैदराबाद, नमस्ते डाट इन में बने एसोसिएट डायरक्टर

योगेश कुमार गुप्त ‘पप्पू’ ने एक बार फिर बनारस छोड़ दिया है. अबकी वे हैदराबाद गए हैं जहां आनलाइन प्राइवेट लिमिटेड की वेबसाइट नमस्ते डॉट इन में बतौर एसोसिएट डाइरेक्टर कार्यभार संभाला. इससे पहले लगभग साढ़े तीन वर्ष पूर्व वे सतना (मध्य प्रदेश) से प्रकाशित नये अखबार ‘मध्य प्रदेश जनसंदेश’ में खेल सम्पादक हुआ करते …

ईटीवी बिहार के संपादक कुमार प्रबोध समेत चार ने दिया इस्तीफा, जी मीडिया के हिस्से बने

ईटीवी को हिंदी पट्टी में जमाने वाले जगदीश चंद्रा द्वारा इस्तीफा देकर जी मीडिया ज्वाइन करने के बाद कई प्रदेशों के ईटीवी के संपादकों ने इस्तीफा दे दिया और इसी कड़ी में ईटीवी बिहार के संपादक कुमार प्रबोध ने भी चैनल का टाटा बाय बाय बोल दिया है. उनके साथ ईटीवी के तीन रिपोर्टर भी जी मीडिया के हिस्से बनने जा रहे हैं जिनमें से दो ने तो इस्तीफा दे दिया है. मजेदार है कि इस्तीफा देने के घंटे भर पहले कुमार प्रबोध ने ईटीवी बिहार का प्राइम टाइम शो ‘बिग डिबेट’ की एंकरिंग की.

मुंबई प्रेस क्लब के सदस्य इरफान खान का निधन

A long-standing member of the Mumbai Press Club and veteran communications consultant, Irfan Khan passed away in Mumbai on January 22. He had been undergoing treatment for cancer. Khan started his career in 1957 as a reporter and went on to work with the Press Trust of India, Hindustan Times, Sunday Times London and The Indian Express, among others.

भुवेन्द्र त्यागी की किताब ‘ये है मुंबई’ का हुआ विमोचन, इसमें हैं मुंबई की धड़कती हुई कथाएं

मुंबई में स्टोरी मिरर के यूथ कॉन्क्लेव में वरिष्ठ पत्रकार भुवेन्द्र त्यागी की किताब ‘ये है मुंबई’ का विमोचन करते हुए वरिष्ठ कवि, आलोचक और मुंबई विशेषज्ञ विजय कुमार ने कहा, ‘इस किताब की कथाएं, रेखाचित्र और संस्मरण दंग करते हैं। इनमें 2000 के बाद मुंबई में हुए सामाजिक, आर्थिक और सांस्कृतिक बदलावों पर लेखक की पैनी नजर रही है।’

टाइम्स आफ इंडिया में प्रिंट मीडिया मालिकों के पक्ष में छपे संपादकीय का जवाब डीयूजे ने भी भेजा

A Reply to The Times of India

On the eve of the budget session and state elections the newspaper industry has made out a case for financial sops, including exemptions from the forthcoming Goods and Services tax, and higher government advertisement rates. The pretext is the losses it claims it faces as a result of paying journalists and other employees fair wages. This is a case of killing two birds with one stone: make a killing by getting more money from the government and by denying employees the dues ordered by the Majithia Wage Board.

छत्तीसगढ़ में सट्टेबाज भाजपा नेता ने ईटीवी पत्रकार पंकज शर्मा को किया परेशान

छत्तीसगढ़ में भाजपा के राज में भाजपा नेताओं की गल्तियों को छापना पत्रकारों को पड़ रहा महंगा. कुछ दिनों पहले प्रदेश के बालोद जिले में एक नगर पंचायत की महिला पार्षद के पति को क्राइम ब्रांच ने सट्टा खिलाते रंगे हाथो किया था गिरफ्तार. गिरफ्तार पार्षद पति के पास से 1 लाख रूपये की सट्टा पट्टी और कुछ रूपये नगद भी जप्त किये गए थे. उक्त घटना की न्यूज़ बनाने वाले ईटीवी के पत्रकार पंकज शर्मा के विरुद्ध महिला पार्षद ने मानसिक प्रताड़ना की शिकायत अनुसूचित आयोग में दर्ज करवाई.

संतोष मिश्र की नई पारी, सीपी श्रीवास्त और संजय सिंह से जबरन लिया गया इस्तीफा

लखनऊ से सूचना है कि संतोष मिश्र ने न्यूज वर्ल्ड इंडिया चैनल ज्वाइन कर लिया है. वे रिपोर्टिंग टीम के हिस्से बने हैं. संतोष India News Magazine और इंडिया न्यूज Channel दोनों मे बहुत पहले काम कर चुके हैं. वे दैनिक जागरण में भी सेवा दे चुके हैं.

सुप्रीम कोर्ट को ठेंगा दिखाने वाले लोकमत को पिछले साल डीएवीपी से मिला 30087544 रुपये का विज्ञापन

मजीठिया लागू न करने पर शोकॉज नोटिस भी थमाया गया… टाइम्स ऑफ़ इंडिया के सम्पादकीय पेज के मीडिया मालिकों की तरफरदारी वाले एक लेख को मराठी में छाप कर सरकार के सामने झूठ का पुलिंदा रखने वाले महाराष्ट्र के लोकमत अखबार प्रबंधन ने वेज बोर्ड के नाम पर सरकार को बेवकूफ बनाने का अच्छा ड्रामा कर लिया। अब आइये इस ड्रामे का पार्ट 2 हम आपको बताते हैं और दिखाते हैं लोकमत की एक और सच्चाई। कामगार विभाग महाराष्ट्र द्वारा जस्टिस मजीठिया वेज बोर्ड की सुप्रीम कोर्ट में भेजी गयी रिपोर्ट बताती है कि औरंगाबाद से लोकमत समाचार, लोकमत और लोकमत टाइम्स का प्रकाशन होता है। यहाँ 89 कर्मचारी काम करते हैं जबकि बाकी महाराष्ट्र में लोकमत के 373 कर्मचारी हैं।

भाजपाई कल तक जिन कांग्रेसियों को गरियाते थे, आज उन्हीं का गुणगान कर रहे!

नैनीताल। अबकी विधानसभा चुनाव में अपनी राजनैतिक संस्कृति और प्रवृति के विपरीत उत्तराखण्ड दल -बदल के दल -दल में बुरी तरह फंस गया है। हालाँकि राज्य  में सत्तारूढ़ कांग्रेस ने पार्टी के सभी उम्मीदवारों के नाम का ऐलान नहीं किया है। पर भाजपा और कांग्रेस के भीतर जबरदस्त भगदड़ मच गई है। इस चुनावी घमासान में भाजपा के शुचिता, नैतिकता, भ्रष्टाचार और बेईमानी जैसे नारों की हवा निकल गई है। देश को कांग्रेस मुक्त करने के अभियान में जुटी भाजपा उत्तराखण्ड में कांग्रेस युक्त होती जा रही है। राज्य की सत्ता की चुनावी लड़ाई में दलीय पहचान विलुप्ति के कगार पर हैं। “भाजपा ही कांग्रेस है या कि कांग्रेस ही भाजपा है” इनमें फर्क कर पाना मुश्किल होता जा रहा है।

जी पुरवइया से ब्यूरो चीफ समेत चार का इस्तीफा, पहुंचे ईटीवी

पटना से खबर आ रही है कि जी पुरवइया न्यूज चैनल के बिहार ब्यूरो चीफ आनंद अमृत राज समेत चार लोगों ने इस्तीफा दे दिया है. ये सभी ईटीवी बिहार चैनल के हिस्से बने हैं. इस्तीफा देने वालों में ब्यूरो चीफ आनंद अमृतराज के अलावा राजद बीट देख रहे अमित झा, भाजपा बीट देख रहे बृजम पांडेय और अमित कुमार भी हैं. इन सभी के इस्तीफा देकर ईटीवी बिहार ज्वाइन कर लेने से जी पुरवइया चैनल को बड़ा झटका लगा है.

पवन लालचंद के झटके से हलकान ईटीवी प्रबंधन को दिख रहा कुमार प्रबोध का डरावना सपना

आजकल ईटीवी प्रबंधन ढेर सारी चिंताओं से दुबला होता जा रहा है. जगदीश चंद्रा ने ईटीवी क्या छोड़ा, पूरे ग्रुप में हाहाकार मचा हुआ है. जहां देखो वहीं इस्तीफे हो रहे हैं. उत्तराखंड में ईटीवी संपादक पवन लालचंद ने दर्जन भर से ज्यादा मीडियाकर्मियों के साथ ईटीवी को गुडबाय कह जी मीडिया ज्वाइन किया तो प्रबंधन के होश फाख्ता हो गए. डैमेज कंट्रोल की कवायद शुरू कर दी गई. साथ ही चिंता यह कि कहीं बिहार वाले संपादक कुमार प्रबोध भी इसी तरह पूरी टीम के साथ इस्तीफा देकर जी मीडिया न चले जाएं. राजेश रैना और राहुल जोशी आदि ने पटन-रांची के दौरे शुरू किए और एक एक कर सभी वरिष्ठों से बात की.

राजेश रैना, कुमार प्रबोध, राहुल जोशी और टीम…. (फोटो साभार राजेश रैना की एफबी वॉल से)

TH TIGER HOLIDAYS वालों की इस नोटिस से कौन डरेगा!

Sanjaya Kumar Singh : इन्हें अंग्रेजी तो नहीं ही आती है, हिन्दी आती होती तो हिन्दी में ही लिखते! अगर आप किसी को कोई सेवा प्राप्त करने के लिए पैसे दें और बाद में महसूस करें कि आपको सेवा ठीक नहीं मिली, ठग लिया गया और यह भी कि आप किसी ठग या चोर कंपनी के चक्कर में फंस गए थे तो क्या करेंगे? मेरे ख्याल से सबसे पहले यही कोशिश करेंगे कि अपने सभी मित्रों-परिचितों को बताएंगे कि फलां कंपनी ठीक नहीं है, पैसे लेकर पूरी सेवा नहीं देती है, मैं ठगा जा चुका हूं आदि।

धन्य है यह ‘गभिलाश झांडेकर’ जो तीन सवाल पूछ कर 100 नंबर के साथ न्याय कर देता है!

Sarjana Sharama : मौका परस्तों की दसों उंगलियां घी में सिर कड़ाही में… ना लेफ्ट ना राईट, ना कांग्रेस ना बीजेपी, बस ‘तेलपूत’ बन जाइए यानि जिसका राज उसको तेल लगा के हो गए उसके पूत। फिर देखो, मज़े ही मज़े हैं। मध्यप्रदेश के राजे रजवाड़े कांग्रेसी नेताओं का मीडिया रिलेशन और पब्लिक रिलेशन देखने वाले मध्यप्रदेश के औसत दर्जे के एक पत्रकार हैं, मान लीजिए उनका नाम है- गभिलाश झांडेकर।

मजीठिया : रिकवरी के केस लेबर कोर्ट भेजने की तैयारी, लापरवाह जागरण कर्मी होंगे एक्‍स पार्टी

नोएडा में चल रहे जागरण कर्मियों के रिकवरी केसों को उप श्रम कार्यालय लेबर कोर्ट भेजने की तैयारी कर रहा है। सहायक श्रम आयुक्‍त एनके शुक्‍ल के यहां करीब 12 केस हैं, जिनकी सुनवाई 25 जनवरी 2017 को दोपहर 12 बजे होनी है। इस बार 20 जनवरी को उनके पास पहुंचे जागरण कर्मियों को उन्‍होंने बताया था कि अगली सुनवाई में हम केसों को लेबर कोर्ट रेफर कर देंगे। वहीं, प्रबंधन ने डेट पर नहीं आने वाले कर्मियों का एक्‍स पार्टी बनाने की मांग की थी।

डीआईजी विजय भूषण ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को ‘मनोरोगी’ बताया!

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के संसदीय क्षेत्र में तैनात डीआईजी विजय भूषण ने एक अजीबोगरीब पोस्ट को साझा किया है जिसमें प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को ‘मनोरोगी’ बताया गया है. एक बड़े पद पर आसीन पुलिस अफसर द्वारा अपने प्रधानमंत्री पर अभद्र टिप्पणी का यह मामला तूल पकड़ता, उससे पहले ही अफसर ने सफाई दे दी कि सिस्टम जनरेटेड इरर के कारण यह पोस्ट कई ह्वाट्सएप ग्रुपों में गलती से शेयर हो गया.

सहारा का हाल : अय्याशी के लिए पैसा है पर कर्मचारियों के लिए नहीं!

चरण सिंह राजपूत

सुना है कि पैरोल पर जेल से छूटे सहारा के चेयरमैन सुब्रत राय ने 18 जनवरी की शाम को दिल्ली के मौर्य होटल में भव्य कार्यक्रम आयोजित कर अपनी शादी की वर्षगांठ मनाई। इस कार्यक्रम में करोड़ों का खर्च किया गया। जनता के खून-पसीने की कमाई पर मौज-मस्ती करना इस व्यक्ति के लिए कोई नयी बात नहीं है। गत दिनों लखनऊ में अपनी पुस्तक ‘थिंक विद मी’ के विमोचन पर भी करोड़ों रुपए बहा दिए। अखबारों में विज्ञापन छपवाया कि देश को आदर्श बनाओ, भारत को महान बनाओ। दुर्भाग्य देखिए, यह सुब्रत राय अपनी संस्था और अपने आप को तो आदर्श व महान बना नहीं पाए लेकिन देश को आदर्श और महान बनाने चल पड़े हैं। गरीब जनता को ठगेंगे। कर्मचारियों का शोषण और उत्पीड़न करेंगे पर देशभक्ति का ढकोसला करेंगे। यह व्यक्ति कितना बड़ा नौटंकीबाज है। इसका अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि यदि आप सहारा के कार्यालयों में जाएंगे तो आपको वहां पर भारत माता की तस्वीर दिखाई देगी।

ईटीवी का ‘अपना उत्तराखंड’ बुलेटिन हुआ बंद

13 सालों तक उत्तराखंड की आवाज रहा ईटीवी का ‘अपना उत्तराखंड’ बुलेटिन हुआ बंद… पिछले 13 सालों में उत्तराखंड का शायद ही कोई ऐसा समाचार देखने की चाहत रखने वाला होगा, जिसे ईटीवी के शाम साढ़े सात बजे के ‘अपना उत्तराखंड’ बुलेटिन का इंतजार नहीं रहता हो… कोई अगर किन्हीं कारणों से इस बुलेटिन को नहीं भी देख पाया तो अन्यों से जरूर पूछता था कि क्या चला ‘अपना उत्तराखंड’ में? यही नहीं, सूबे की राजनीति को बदलने की ताकत रखने वाले इस बुलेटिन को राज्य के लोग उत्तराखंड की धड़कन के रूप में मानते थे। लेकिन पिछले दिनों हुए ईटीवी में व्यापक बदलाव और संपादक पवन लालचंद व उनकी टीम के इस्तीफा देकर जी मीडिया देहरादून ज्वाइन करने के बाद सबसे ज्यादा देखे जाने वाले ईटीवी के शाम के बुलेटिन को बंद कर दिया गया है।

अमर उजाला में हो रहा शोषण, 5 दिन की सेलरी देकर 6 दिन काम ले रहे नए संपादक

प्रिय भड़ास,

यह सिर्फ शिकायती पत्र नहीं है। न ही किसी एक व्यक्ति की ओर से है। यह अमर उजाला के पीड़ित और शोषित कर्मचारियों की ओर से है। इस पत्र के जरिए नव नियुक्त संपादक महोदय की तानाशाही को उजागर किया जा रहा है। AUW यानि अमर उजाला वेबसाइट में इन दिनों कर्मचारियों का जमकर शोषण हो रहा है। इस पत्र के जरिए श्रम विभाग से गुहार है कि वह कर्मचारियों के साथ हो रहे अन्याय की पड़ताल करे।

हाड़ कंपाती ठंड में सहारा के मेन गेट पर बैठे ये बर्खास्त 25 कर्मी किसी को नहीं दिख रहे!

किसी को नहीं दिखाया दे रहा सहारा का यह अन्याय… नोएडा में बड़ी संख्या में राजनीतिक व सामाजिक संगठन हैं। ट्रेड यूनियनें भी हैं। देश व समाज की लड़ाई लड़ने का दंभ भरने वाले पत्रकार भी हैं। पर किसी को इस हाड़ कंपाती ठंड में गेट पर बैठे बर्खास्त 25 कर्मचारी नहीं दिखाई दे रहे हैं। 17 महीने का बकाया वेतन दिए बिना सहारा प्रबंधन ने इन असहाय कर्मचारियों को नौकरी से निकाल दिया पर इनकी पीड़ा समझने को कोई तैयार नहीं।

मीडिया क्लब रोहतक के प्रधान बने देवेंद्र दांगी, जितेंद्र पांचाल को महासचिव की जिम्मेदारी

रोहतक। मीडिया क्लब रोहतक की आमसभा की बैठक रोहतक के कैनाल विश्राम गृह में हुई। इस बैठक में पंजाब केसरी के ब्यूरो चीफ देवेंद्र दांगी को सर्वसम्मति से मीडिया क्लब का प्रधान नियुक्त किया गया, जबकि खबर फास्ट चैनल के संवाददाता जितेंद्र पांचाल को महासचिव की जिम्मेदारी दी गई। बैठक की अध्यक्षता वरिष्ठ पत्रकार शांति प्रकाश जैन ने की। मीडिया क्लब रोहतक का गठन पत्रकारों के कल्याण के लिए किया गया है। इस क्लब में सभी वर्किंग जर्नलिस्ट्स को शामिल किया गया है।

मीडिया क्लब रोहतक के नए पदाधिकारियों के चयन के मौके पर मौजूद सदस्य व पदाधिकारी. 

डीबी कॉर्प ने मुंबई के ब्यूरो चीफ सहित कई पत्रकारों को बनाया मैनेजेरियल और एडमिनिस्ट्रेटिव स्टाफ!

मुंबई से शशिकांत सिंह की रिपोर्ट… जस्टिस मजीठिया वेज बोर्ड मामले में सबसे ज्यादा शिकायत डीबी कॉर्प लिमिटेड के अखबारों- दैनिक भास्कर, दिव्य भास्कर और दिव्य मराठी आदि के मीडियाकर्मियों ने कर रखी है। इस संस्थान के पत्रकारों ने माननीय सर्वोच्च न्यायालय सहित महाराष्ट्र के लेबर डिपार्टमेंट और मुंबई के लेबर कोर्ट में तमाम शिकायतें …

सहारा मीडिया में सेलरी संकट से त्रस्त कर्मियों ने शुरू किया मेन गेट पर धरना-प्रदर्शन (देखें वीडियोज)

सहारा मीडिया के नोएडा स्थित मुख्य आफिस के गेट पर सहारा कर्मियों ने सेलरी के लिए धरना प्रदर्शन शुरू कर दिया है. कई महीने की सेलरी दबाए बैठे सहारा प्रबंधन ने अपने कर्मियों को भूखे मरने के लिए छोड़ दिया है. इससे परेशान कई कर्मचारी अब गेट पर धरना प्रदर्शन शुरू कर चुके हैं. दूसरे मीडिया हाउसेज इस आंदोलन को इसलिए कवर नहीं कर रहे क्योंकि चोर चोर मौसेरे भाई के तहत वे एक दूसरे के घर में चलने वाले उठापटक को इग्नोर करते हैं. धरना प्रदर्शन सात जनवरी से चल रहा है. धरने में करीब 25 कर्मचारी खुल कर हिस्सा ले रहे हैं.

मिस्टर ट्रम्प! पत्रकारिता के नियम हमारे हैं, आपके नहीं

अमेरिका फर्स्ट क्यों है… क्यों वह दुनिया का चौधरी कहलाता है और आर्थिक सम्पन्नता के मामले में भी अमेरिका तमाम मंदी के बावजूद सर्वोच्च क्यों बना हुआ है..? इन सवालों के जवाब ट्रम्पकाल की शुरुआत में ही बड़ी आसानी से खोजे जा सकते हैं… लोकतंत्र की खूबसूरती दमदार विपक्ष के रूप में ही देखने को मिलती है और अमेरिकी समाज ने बता दिया कि वह तंग दिल नहीं, बल्कि खुली सोच का हिमायती है… अमेरिका के 45वें राष्ट्रपति बने डोनाल्ड ट्रम्प  ने अपनी शपथ में मेक इन अमेरिका के नारे के साथ बाय अमेरिकन-हायर अमेरिकन की बात कही है… उनके शपथ ग्रहण समारोह का बहिष्कार जहां 60 डेमोक्रेटिक सांसदों ने किया तो जाने-माने हॉलीवुड अभिनेता रॉबर्ट डी नीरो  ने भी खुलेआम खिलाफत की…

समाजवादी पार्टी की हार, मेरा इंतजार…

दोस्तों, मैं आपसे ये नहीं कहूंगा कि इस पोस्ट पर ज्यादा-से-ज्यादा कमेंट या लाइक करें। बस आपसे एक छोटी सी गुजारिश करूँगा कि आप इस पोस्ट को ज्यादा-से-ज्यादा SHARE करें और इतना share करें कि ये messege Samajwadi Party तक पहुँच जाये, ताकि उन मायूस बच्चों को आपकी मदद से लैपटॉप मिल सके और शायद उनकी जुबान से निकलती बद्दुआएं, दुआयों में बदल जाये।

बिहार में भाजपा को मोहन भागवत खा गए, यूपी में मनमोहन वैद्य ने वही काम कर दिया!

Vikas Mishra : जो काम बिहार विधानसभा चुनावों से पहले मोहन भागवत ने किया था। वही काम अब मनमोहन वैद्य ने कर दिखाया। बिहार चुनावों से ठीक पहले मोहन भागवत ने आरक्षण के खिलाफ बयान देकर बीजेपी का बेड़ा गर्क कर दिया था। लालू यादव ने भागवत के बयान को चुनावों में खूब भुनाया और बीजेपी को मुंह की खानी पड़ी। अब उसी तर्ज पर जयपुर लिटरेचर फेस्टिवल में संघ के प्रवक्ता मनमोहन वैद्य ने आरक्षण के खिलाफ आवाज उठा दी। उन्होंने हालांकि बाबा साहेब भीमराव अंबेडकर का हवाला दिया, लेकिन बात तो आरक्षण के खिलाफ ही की। इसके साथ ही बैठे-ठाले नई मुसीबत बीजेपी के गले पड़ गई। अब उत्तर प्रदेश में आरएसएस के इस सेल्फ गोल से बीजेपी कैसे उबरेगी..?

ईटीवी से इस्तीफा देकर विजय श्रीवास्तव ने थामा ‘जी राजस्थान’ का दामन

जयपुर। ईटीवी राजस्थान से लोगों के इस्तीफा देने का दौर जारी है। नई कड़ी में अब विजय श्रीवास्तव ने ईटीवी को बाय-बाय बोल दिया है। उन्होंने जी न्यूज राजस्थान का दामन थामा है। उन्हें यहां कॉरेस्पोंडेंट बनाया गया है।

भ्रष्ट पत्रकारिता पर यशवंत का लेक्चर (देखें वीडियो)

लखनऊ की चर्चित खोजी मैग्जीन ‘दृष्टांत’ के 15 बरस पूरे होने पर 14 जनवरी 2017 को आयोजित जलसे में आजकल की पत्रकारिता पर भड़ास4मीडिया के एडिटर यशवंत सिंह ने एक लंबा लेक्चर दिया. यह वीडियो वहां उपस्थित एक पत्रकार ने अपने मोबाइल से बनाया.

अखिलेश यादव पितृ हंता मुगल शासकों सरीखे! (देखें वीडियो)

आगरा में भाजपा प्रत्याशी का नामांकन कराने कलेक्ट्रेट आए सांसद राम शंकर कठेरिया ने यूपी के सीएम अखिलेश यादव की तुलना पिता के हत्यारे मुगल शासकों से कर दी. सांसद कठेरिया ने मुगल शासकों को उदाहरण देते हुए हुए बोले कि मुगल काल में शासक लोग सत्ता पाने के लिए अपने पिता तक की हत्या कर देते थे और राजपाठ पर कब्जा कर लेते थे. ठीक इसी तरह सीएम अखिलेश यादव ने अपने पिता मुलायम सिंह को अपमानित करते हुए उनकी राजनीतिक हत्या कर पार्टी में राष्ट्रीय अध्यक्ष का पद हथिया लिया.

अपने चेहरे का बीमा करवाएंगी सनी लियोन!

एक्ट्रेस सनी लियोन अपने शरीर के एक खास अंग का बीमा करवाना चाहती हैं. वह अंग है उनका चेहरा. सनी लियोन ने ये बात हाल ही में अपने एक इंटरव्यू में कही. उनसे पूछा गया कि सनी को अपना किस एक अंग से बेहद ख़ास लगाव है, तो उनका जवाब था- चेहरा.

प्रकाश चंद्र होता बने ईटीवी छत्तीसगढ़ के सीनियर एडिटर, राकेश पंडित और गौरव मिश्रा सुदर्शन न्यूज से जुड़े

ईटीवी में बदलाव का दौर जारी है. ईटीवी छत्तीसगढ़ में प्रकाश चंद्र होता ने सीनियर एडिटर के पद पर ज्वाइन किया है। प्रकाश पहले भी ईटीवी का हिस्सा रह चुके है। अभीतक ईटीवी छत्तीसगढ़ की कमान प्रियंका कौशल के पास है। जगदीश चंद्रा के इस्तीफा देने के बाद नेटवर्क18 के इशारे पर एक के बाद एक स्टेट एडिटर बदले जा रहे हैं। एक बात तो साफ़ है कि नेटवर्क18 के इशारे पर उन लोगों को निशाना बनाया जा रहा है जो जगदीश चंद्रा द्वारा लाए गए थे।

शोभना और मनीषा पीटीआई पहुंचीं, बसंत ने यूपीटीवी ज्वाइन किया

युवा महिला पत्रकार शोभना और मनीषा ने अपनी नई पारी पीटीआई-भाषा के साथ शुरू की है। यूएनआई में करीब ढ़ाई साल तक काम करने के बाद मनीषा ने भाषा ज्वाइन किया। यूएनआई से ही शोभना ने सीनियर कापी एडिटर के तौर पर पीटीआई-भाषा ज्वाइन कर लिया।

कैलाश चंद्र पंत को बृजलाल द्विवेदी सम्मान

भोपाल । हिंदी की साहित्यिक पत्रकारिता को सम्मानित किए जाने के लिए दिया जाने वाला पं. बृजलाल द्विवेदी अखिल भारतीय साहित्यिक पत्रकारिता सम्मान इस वर्ष ‘अक्षरा’ (भोपाल) के संपादक श्री कैलाश चंद्र पंत  को दिया जाएगा। श्री कैलाश चंद्र पंत  साहित्यिक पत्रकारिता के एक महत्वपूर्ण हस्ताक्षर होने के साथ-साथ देश के जाने-माने संस्कृतिकर्मी एवं लेखक हैं। पिछले तीन दशक से वे साहित्य पर केंद्रित महत्वपूर्ण पत्रिका ‘अक्षरा’ का संपादन कर रहे हैं।

रवीश के इस प्राइम टाइम शो को हम सभी पत्रकारों को देखना चाहिए

एनडीटीवी इंडिया पर कल रात नौ बजे प्राइम टाइम शो के दौरान रवीश कुमार ने पत्रकारों की विश्वसनीयता को लेकर एक परिचर्चा आयोजित की. इस शो में पत्रकार राजेश प्रियदर्शी और प्रकाश के रे के साथ रवीश ने मीडिया और पत्रकार पर जमकर चर्चा की.

चीन में रोबोट रिपोर्टर द्वारा लिखा गया पहला आर्टकिल प्रकाशित हुआ

Robot reporter in China gets its first news article published

A robot journalist made its debut in a Chinese daily today with a 300 characters-long article written in just a second, scientists say.

By: PTI | Beijing |

A robot journalist made its debut in a Chinese daily today with a 300 characters-long article written in just a second, scientists say. The article, published in the Guangzhou-based Southern Metropolis Daily, focused on the Spring Festival travel rush.

ये मीडिया को ‘विलेन बनाने’ का दौर है

Dilnawaz Pasha : ये मीडिया को ‘विलेन बनाने’ का दौर है. भारत में ‘प्रेस्टीट्यूट’ शब्द को स्वीकार कर लिया गया है और एक धड़ा जमकर इसका इस्तेमाल कर रहा है. सरकार ने मंत्रालयों में पत्रकारों की पहुंच कम कर दी है. यहां तक कि प्रधानमंत्री अपनी यात्राओं में पत्रकारों को साथ नहीं ले जा रहे हैं, जैसा कि पहले होता था.

झूठ का पुलिंदा है टाइम्स ऑफ इंडिया का संपादकीय

जयपुर। सुबह-सुबह टाइम्स ऑफ इंडिया खोलते ही संपादकीय पेज के Indian newspaper industry : Red ink splashed across the bottom line शीर्षक से प्रकाशित लेख पर निगाह पड़ गई। चूंकि मसला प्रिंट मीडिया से संबंधित था, तत्काल पढ़ डाला। पूरा लेख झूठ का पुलिंदा है। प्रिंट मीडिया के मौजूदा हालात पर आंसू (घड़ियाली) बहाए गए हैं। अपने एक भी कर्मचारी को मजीठिया वेजबोर्ड का लाभ न देने वाले टीओआई ने वेजबोर्ड को लागू करने से हो रहे नुकसानों को बताया है। अखबार लिखता है कि स्थितियां इतनी गंभीर हो चली हैं कि बड़े नेशनल डेली न्यूजपेपर्स को संस्करण (हाल में हिंदुस्तान टाइम्स ने चार संस्करणों पर ताला लगाया है) बंद करने पड़ रहे हैं, स्टाफ की छंटनी हो रही है, कास्टकटिंग जारी है, खर्चे कम करने पड़ रहे हैं। लेख में अखबारों को नोटबंदी से हुए नुकसान और आगामी जीएसटी की टैक्स दरों पर चिंता जाहिर की गई है।

चैनल वन के आरोपों का पत्रकार नरिंदर जग्गा ने दिया जवाब

चैनल वन ने अपने पत्रकार नरिंदर जग्गा को टर्मिनेट करने का लेटर भेजा तो उन्होंने जवाब में चैनल वन के झूठ का खुलासा करते हुए एक कड़ा पत्र लिखा है. पहले पढ़िए चैनल वन की तरफ से भेजा गया पत्र….

पत्रकारों को मिलता नहीं, तो रेलवे का प्रेस कोटा आखिर जाता कहां है?

रेलवे रिजर्वेशन में पत्रकारों को कोटा देती है, लेकिन ये कोटा कुछ ही पत्रकारों को मिल पाता है. जिस तरह अखबार मालिक और उनके चट्टे-बट्टे मैनेजर खुद को ‘संपादक’ या ‘रिपोर्टर’ बताकर ‘एक्रेडिटेशन कार्ड’ हथियाकर ‘सरकारी मान्यताप्राप्त पत्रकार’ बन जाते हैं और फिर सरकार की ओर से पत्रकारों को मिलने वाली मामूली से मामूली सुविधाएं भी हड़प लेते हैं, उसी तरह ये ‘तथाकथित पत्रकार’ रेलवे का रिजर्वेशन कोटा भी कब्जा लेते हैं. इसके अलावा कुछ ऐसे पत्रकार भी हैं, जो अपने लगे-सगे लोगों के लिए कोटा सुविधा का दुरुपयोग करते हैं. ऐसे में जो असली पत्रकार हैं और रेलवे कोटे जैसी सुविधाओं के असली हकदार हैं, वे बेचारे मुंह ताकते रह जाते हैं.

अपने मीडियाकर्मियों का हक मारने वाली कंपनी डी बी कार्प का तीसरी तिमाही मुनाफा बढ़कर 118 करोड़ रपये हुआ

केंद्र सरकार और सुप्रीम कोर्ट द्वारा आदेश दिए जाने के बावजूद अपने मीडिया कर्मियों को मजीठिया वेज बोर्ड के अनुसार सेलरी, भत्ता और बकाया न देने वाली भास्कर समूह की कंपनी डीबी कार्प का मुनाफा तीसरी तिमाही में 6.64 प्रतिशत बढ़ गया है. मीडिया क्षेत्र की कंपनी डी बी कार्प का एकीकृत शुद्ध लाभ चालू वित्त वर्ष की तीसरी तिमाही में 6.64 प्रतिशत बढ़कर 118.1 करोड़ रुपये हो गया है.

T H Tiger Holidays के फ्रॉड के खिलाफ खबर छापने पर भड़ास को भेजा नोटिस

Dear Sir/Mam,

Greeting From : T H Tiger Holidays

Please find the detail’s :

https://www.bhadas4media.com/article-comment/11635-fraud-company-t-h-tiger-holidays

Dear Team, you have written against company that company is as fraud. So we want to ask some question from you kindly give properly with policy/legal.

वरिष्ठ वकील प्रतीक राय ने साइकिल ट्रैक पर साइकिल चिन्ह हटाने के लिए चुनाव आयोग को पत्र लिखा

Lucknow . Senior advocate Mr Prateek Rai has written to election commission of India to consider covering or dismantlling cycle signs on cycle tracks built by Akhilesh Yadav govt. He said that one can see hundreds of cycle signs erected in Lucknow, Noida, Etawa and other cities. Now cycle is election symbol of Samajvadi Party. Thus this is against model code of conduct.

भास्कर पंजाब के मैग्जीन हेड एन नवराही का इस्तीफा, पत्रिका के नेशनल न्यूज़रूम में ज्वाइन किया

भास्कर के मैग्जीन हेड 10 साल से थे भास्कर के साथ… इंदौर भास्कर से खबर है कि वहां से पंजाब के मैग्जीन हेड एन नवराही ने भास्कर से इस्तीफा दे दिया है। वे पिछले दस साल से भास्कर से जुड़े हुए थे। भास्कर के साथ अपनी पारी उन्होंने 2006 में जालंधर से शुरू की थी। इसके बाद वे लुधियाना और चंडीगढ़ भी रहे।

Majithia : Registry has assured that the Case will be listed on the priority basis

Dear Comrades,

The office of the ‘Indian Federation of Working Journalists’ (IFWJ) has been inundated with innumerable telephone calls and emails to know as to why the date of hearing of the Majithia case, which was fixed on 17th January 2017, was not taken up? On the last of date of hearing i.e. 10th January the matter was listed for arguments on Legal Issues. The arguments remained inconclusive.

एबीपी न्यूज के पतन के कारण जी न्यूज नंबर तीन पर पहुंचा

साल 2017 के दूसरे हफ्ते की टीआरपी में जी न्यूज नंबर तीन पर पहुंच गया है. ऐसा एबीपी न्यूज चैनल की टीआरपी में भयंकर गिरावट के कारण हुआ है. न्यूज24 लगातार अच्छा प्रदर्शन कर रहा है और यह चैनल अब इंडिया न्यूज के काफी नजदीक पहुंच चुका है. इंडिया न्यूज की टीआरपी में भी सुधार है.

‘लैला बार’ में यह पत्रकार कर रहा था मनपसंद बारबाला से डांस की फरमाईश, पुलिस ने किया गिरफ्तार

फर्जी पत्रकार मो. पठान उर्फ मो. सामी

मुंबई से सटे भिवंडी में एक फर्जी पत्रकार को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है. वह एक बार में जाकर रंगदारी मांग रहा था. साथ ही मनपसंद बारबाला का डांस व मुफ्त शराब भोजन चाहता था. उसने खुद को बड़े चैनल का पत्रकार होने की धमकी दी. कोर्ट ने इस फर्जी पत्रकार को जेल भेज दिया है.

ग्रुप एडिटर राजेश रैना की मौजूदगी में प्रवीण दुबे ने संभाला ईटीवी एमपी का प्रभार

भोपाल : ज़ी एमपी से इस्तीफ़ा देकर प्रवीण दुबे ने ईटीवी एमपी में बतौर सीनियर एडिटर के रूप में नई पारी शुरू कर दी है। हैदराबाद से ग्रुप एडिटर राजेश रैना की मौजूदगी में प्रवीण दुबे ने कार्यभार संभाला। इसकी पुष्टि खुद राजेश रैना ने अपने फेसबुक पर की है। सूत्रों से मिली खबर के मुताबिक अभी तक ईटीवी एमपी की कमान संभाल रहे अश्वनी मिश्रा भोपाल कार्यालय में नहीं आए जिससे कई तरह के कयास लगाए जा रहे है।

प्रेस कांफ्रेंस में अच्छे गिफ्ट के लिए धमकाने वाले दो फोटो जर्नलिस्टों नवीन शर्मा और नईम के खिलाफ लिखित शिकायत

Subject : Request for action against Mr.Naveen Sharma, Photographer, Millennium post Dear Durbar Sir, Hope you are doing well! This is regarding a complaint against your Photographer Mr.Naveen Sharma. On Monday, 16th January, there was a press conference of my client at Hotel Le Meridien, New Delhi. I had invited all print media, electronic media …

समझदार दर्शक बाप-बेटे की फिल्म को नकार देंगे

सबने अच्छा काम किया, पर स्क्रिप्ट कमजोर थी। कहानी को थोड़ा और लंबा खिंचना था। दोनों मुख्य कलाकारों मुलायम और अखिलेश ने अच्छी एक्टिंग की। डायरेक्टर तथा सह कलाकार शिवपाल यादव ने भी अच्छा काम किया है फिल्म में। अमर सिंह का गेस्ट अपियरंस भी ठीक ठाक रहा। रामगोपाल यादव और अच्छा कर सकते थे, पर उन्हें ज्यादा मौका नहीं मिला। आजम खान का छोटा पर असरदार रोल था।

सुमित सिंघल ने एनडीटीवी छोड़ा, राजीव जायसवाल अमर उजाला पहुंचे

एनडीटीवी चैनल से सूचना है कि बरखा दत्त के बाद चैनल के वीपी प्लानिंग और स्ट्रेटजी सुमित सिंघल ने भी रिजाइन कर दिया है. सिंघल भी खुद का अपना धंधा पानी शुरू करने वाले हैं. ज्ञात हो कि एनडीटीवी से जो जो बड़े विकेट गिर रहे हैं, वे सभी खुद का धंधा पानी करने की बात कहते हुए चैनल को अलविदा कह रहे हैं. सिंघल का कहना है कि वह एक न्यूज एजेंसी शुरू करने वाले हैं. सिंघल वॉयस ऑफ इंडिया न्यूज चैनल की लॉन्चिंग टीम में भी थे. वे दिल्ली आजतक और तेज न्यूज चैनल को लांच करा चुके हैं.

मजीठिया वेज बोर्ड : अखबार मॉलिकों के खिलाफ 24 आरसी जारी, भास्कर में हड़कंप

मध्यप्रदेश के श्रम विभाग कार्यालय के काम करने के तरीके से दूसरे राज्यों के कामगार आयुक्त कार्यालयों को भी सीख लेनी चाहिए। पिछले दिनों श्रम विभाग द्वारा मध्यप्रदेश के विभिन्न समाचार पत्रों में कार्यरत पत्रकार एवं गैर पत्रकार कर्मचारियों के वेतन के मामलों का निराकरण कर 24  आर.आर.सी. जारी की गई। इनमें सबसे ज्यादा आर सी दैनिक भास्कर प्रबंधन के खिलाफ काटी गयी।

हरीश रावत ने उत्तराखंड के सात पत्रकारों को उल्लू बनाया!

उत्तराखंड के मुख्यमंत्री हरीश रावत पक्के वाले नेता है. कुछ कुछ ओवर स्मार्ट नेता हैं. काफी समय से इन्होंने कई पत्रकारों को सूचना आयुक्त बनाने का लालीपाप दे रखा था लेकिन बना किसी को नहीं रहे थे. राजीव नयन बहुगुणा तो खुद को नया सूचना आयुक्त अब बना तब बना मान कर चल रहे थे और लोगों से बधाइयां आदि भी ले रहे थे. पर हरीश रावत इतनी आसानी से किसी को कुछ देते कहां.

चुनाव आयोग बसपा द्वारा 104 करोड़ जमा कराने के मामले में तीन माह में निर्णय ले : हाईकोर्ट

बहुजन समाज पार्टी द्वारा नोटबंदी के बाद दिल्ली के करोल बाग़ स्थित यूनियन बैंक ऑफ़ इंडिया के अपने पार्टी अकाउंट में 02 दिसंबर से 09 दिसंबर 2016 के बीच 104 करोड़ रुपये के पुराने नोट जमा कराये जाने के सम्बन्ध में दायर जनहित याचिका पर इलाहाबाद हाई कोर्ट के लखनऊ बेंच ने निर्वाचन आयोग को तीन माह में निर्णय लेने के आदेश दिए हैं. यह आदेश जस्टिस अमरेश्वर प्रताप साही और जस्टिस संजय हरकौली की बेंच ने याचिकाकर्ता प्रताप चन्द्र की अधिवक्ता डॉ नूतन ठाकुर तथा निर्वाचन आयोग के अधिवक्ता मनीष माथुर को सुनने के बाद दिया.

संपादक समेत ईटीवी उत्तराखंड के 19 मीडियाकर्मियों ने दिया इस्तीफा, सभी जी मीडिया से जुड़े (देखें लिस्ट)

पवन लालचंद

एक बड़े घटनाक्रम के तहत उत्तराखंड में ईटीवी की पूरी टीम ने संपादक पवन लालचंद के नेतृत्व में इस्तीफा देकर जी मीडिया ग्रुप ज्वाइन कर लिया है. इस उलटफेर के पीछे वजह जगदीश चंद्र का ईटीवी छोड़कर जी मीडिया जाना बताया जा रहा है. जगदीश चंद्र के ईटीवी छोड़ने के बाद से उनके पीछे पीछे अब तक कई दर्जन लोग ईटीवी को अलविदा कह जी मीडिया के साथ जुड़ रहे हैं.

बरखा दत्त एनडीटीवी से मुक्त हुईं, देर सबेर रवीश कुमार भी जा सकते हैं!

बरखा दत्त ने 21 साल की नौकरी के बाद एनडीटीवी को अलविदा कह दिया. वह खुद का वेंचर शुरू करेंगी. उधर एनडीटीवी ने भी बयान जारी कर बरखा दत्त के इस्तीफे की वजह बताई है. बरखा दत्त एनडीटीवी में बतौर कंसल्टिंग एडिटर कार्यरत थीं.  आधिकारिक बयान जारी करके एनडीटीवी ने उनके लंबे समय तक चैनल के साथ कार्यकाल की तारीफ की और उनके भविष्य के लिए बधाई दी है.

दिल्ली में पत्रकार नवीन कुमार बन गए भाजपाई

पत्रकार नवीन कुमार भाजपाई हो गए हैं. वे दिल्ली में भाजपा के प्रवक्ता बनाए गए हैं. जी न्यूज समेत दर्जन भर चैनल में काम कर चुके नवीन पत्रकारिता में तीन दशक से हैं और काफी समय से किसी ठीकठाक चैनल की नौकरी के लिए प्रयासरत थे. अंतत: उन्होंने फील्ड ही बदल लिया और भाजपाई बन गए.

सुधीर चौधरी को मिला स्टे, जेल न जाएंगे

Sudhir Chaudhary : Calcutta High Court gives a stay order on the proceedings on non bailable FIR against Zee News reporter Pooja Mehta, her cameraman and me for reporting about #Dhulagarh Riots in West Bengal.

एनडीटीवी ने 36 कैमरामैनों को नौकरी से निकाला

Dilip Mandal : इंटरनेट और सोशल मीडिया के विस्तार के दौर में चैनलों और अख़बारों का सिंकुड़ना जारी। हिंदुस्तान टाइम्स के सात संस्करणों की बंदी और आनंद बाज़ार पत्रिका समूह से 400 कर्मियों की विदाई के बाद NDTV ने दिल्ली में अपने 36 कैमरामैन की छँटनी की। दिल्ली में NDTV के कुल 78 कैमरामैन थे।

प्रिंट मीडिया में विदेशी निवेश की सीमा बढ़ाकर 49 प्रतिशत करने की तैयारी

Government Considers Raising FDI Limit In Print Media To 49% … The government is considering a proposal to increase the limit for foreign direct investment (FDI) in print media sector to 49 percent. Currently, the FDI policy permits 26 percent foreign direct investment in the publishing of newspapers and periodicals dealing with news and current affairs through government approval route.

राजपूतजी, इन सवालों का जवाब देंगे तो शुक्ला और गुप्ता को जयचंद मान लेंगे

राजपूतजी ने पिछले दिनों भडास पर एक पत्र लिखकर विजय शुक्ला और विजय गुप्ता के बारे में जो बयान दर्ज कराया है उसे लेकर इंदौर, भोपाल और रायपुर के दबंग दुनिया छोड़ चुके पत्रकारों ने श्री राजपूतजी से कुछ सवाल पूछे हैं। अगर राजपूतजी इन सवालों को जवाब देंगे तो हम मान जाएंगे कि शुल्का व गुप्ता ही नहीं, बल्कि हम भी जयचंद है या फिर राजपूत स्वयं को जयचंद मानकर इतिश्री कर लें।

यूपी में उज्जवला योजना का कनेक्शन भी बंद कराएं, यह भी आचार संहिता का उल्लंघन है

सेवा में,
मुख्य चुनाव आयुक्त,
उत्तर प्रदेश
लखनऊ

विषय : उज्जवला योजना का कनेक्शन उत्तर प्रदेश में बंद कराये जाने के सम्बन्ध में |

महोदय,

जिस प्रकार आप द्वारा समाजवादी पार्टी का स्मार्ट फ़ोन पंजीकरण बंद करा दिया, ठीक उसी प्रकार आप बीजेपी के मुफ्त “उज्जवला योजना” का गैस कनेक्शन का फार्म भरवाना और कनेक्शन जारी कराना तुरंत बंद कराएँ, यह भी तो आचार संहिता का उल्लंघन है.

आतंकी होने के आरोपों से बरी 14 युवाओं पर केंद्रित किताब ‘बेगुनाह दहशतगर्द’ का लखनऊ में हुआ विमोचन

लखनऊ । कोलकाता के रहने वाले आफताब आलम अंसारी की मां आयशा बेगम ने रिहाई मंच नेता मसीहुद्दीन संजरी द्वारा लिखित आतंकवाद के आरोपों से बरी 14 नौजवानों पर आधारित ‘बेगुनाह दहशतगर्द’ किताब का विमोचन किया। यह किताब नहीं बल्कि 14 बेगुनाहों के उत्पीड़न-दमन का जीता जागता सबूत है कि किस तरह सियासत के वे शिकार बने। यूपी प्रेस क्लब, लखनऊ में रिहाई मंच द्वारा आयोजित ‘सियासत की कैद में बेगुनाह’ सम्मेलन में ‘बेगुनाह दहशतगर्द’  किताब का विमोचन करते हुए आयशा बेगम ने कहा कि जब वह पहली बार लखनऊ अपने बेटे आफताब की रिहाई के लिए आईं थीं उस मंजर को आज भी सोचकर सिहर जाती हैं और उसे याद नहीं करना चाहती हैं। उस वक्त शुऐब साहब मिले और उनसे मैंने कहा कि मेरा बेटा बेगुनाह है उसे रिहा करवा दीजिए।

स्वामी अग्निवेश ने खोला सहारा के खिलाफ मोर्चा!

राष्ट्रीय सहारा में टर्मिनेट किए गए कर्मचारियों को फोन पर किया संबोधित, डीएम को लिखा पत्र

सहारा मीडिया में हो रहे शोषण और उत्पीड़न के खिलाफ समाज सुधारक और बंधुआ मुक्ति मोर्चा के राष्ट्रीय अध्यक्ष स्वामी अग्निवेश ने मोर्चा खोल दिया है। जहां उन्होंने नोएडा के सेक्टर 11 स्थित राष्ट्रीय सहारा के मेन गेट पर चल रहे बर्खास्त 25 कर्मचारियों के धरने को मोबाइल फोन से संबोधित किया, वहीं इस मामले को लेकर गौतमबुद्धनगर के जिलाधिकारी को पत्र भी लिखा है। अपने संबोधन में उन्होंने कर्मचारियों को आश्वस्त किया कि उनके हक की लड़ाई सड़क से लेकर संसद तक लड़ी जाएगी। 17 माह का बकाया वेतन रहते हुए कर्मचारियों की बर्खास्तगी को उन्होंने अपराध करार दिया।

डेढ़ घंटे माथा फोड़ने के बाद एंकर अजय कुमार ने जाना- ये बाबा पागल है!

न्यूज नेशन के पराक्रमी एडिटर अजय कुमार को डेढ़ घंटे माथा फोड़ने के बाद पता चला कि उनके बाबा बवाली यानी ओम बाबा उर्फ स्वामी ओम का मानसिक संतुलन हिल गया है और उसे इलाज की जरूरत है. अजय कुमार को बहुत पहले जब ‘आजतक’ के साथ थे, देखा था और उन्हें बाकी पत्रकारों के मुकाबले थोड़ा संजीदा पत्रकार समझता था. लेकिन बीच के समय में कभी-कभार ही दर्शन मिले. कल उनका एक कार्यक्रम न्यूज नेशन पर देखा ‘बवाली बाबा’. देखकर लगा कि टीआरपी की हवस पत्रकार को क्या से क्या बना देती है.

जस्टिस मजीठिया वेज बोर्ड मामले में सुप्रीम कोर्ट में आज होने वाली सुनवाई टली

आज मंगलवार के दिन जस्टिस मजीठिया वेज बोर्ड मामले की सुप्रीमकोर्ट में सुनवाई होनी थी लेकिन इसे टाल दिया गया है. देश भर के मीडियाकर्मियों के वेतन, एरियर और प्रमोशन से जुड़े जस्टिस मजीठिया वेज बोर्ड मामले की 17 जनवरी 2017 को होने वाली सुप्रीमकोर्ट की सुनवाई आगे बढ़ा देने से मीडियाकर्मी निराश हैं. बहुत …

घटिया और लचर है प्रधानमंत्री का मीडिया मैनेजमेंट

Sanjaya Kumar Singh : घटिया और लचर है प्रधानमंत्री का मीडिया मैनेजमेंट… खादी एंड विलेज इंडस्ट्रीज कमीशन की डायरी और कैलेंडर पर महात्मा गांधी की फोटो हटाकर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की फोटो लगाए जाने के सवाल पर भक्त मीडिया ने पता नहीं अधिकारियों की इच्छा या आदेश पर या अपने स्तर पर ही नया पैंतरा लिया है। और, इस मामले में प्रधानमंत्री की छवि को हो सकने वाले नुकसान को धोने की कोशिश है। तर्क वही कि फोटो के उपयोग से पहले प्रधानमंत्री कार्यालय से अनुमति नहीं ली गई थी। यहां, यह खबर जब पहली बार आई थी तो आधिकारिक तौर पर क्या कहा गया था, उल्लेखनीय है। इंडियन एक्सप्रेस की साइट पर मूल खबर के साथ पीएमओ की प्रतिक्रिया भी है और इसका उल्लेख शीर्षक में ही है, “विवाद अनावश्यक है”।

दृष्टांत मैग्जीन के जलसे में लखनऊ पहुंचे यशवंत सेहत बनाने में जुटे (देखें वीडियो)

लखनऊ से प्रकाशित होने वाली खोजी पत्रिका ‘दृष्टांत’ के 15 बरस पूरे होने के जलसे में अनूप गुप्ता भाई ने मुझे लखनऊ बुलाकर होटल कंफर्ट इन के जिस 101 नंबर के कमरे में ठहराया, उसके ठीक बगल में जिम था. जीवन में कभी जिम नहीं गया. ज्यादा या कम कभी जरूरत महसूस हुई तो घर बाहर पार्क दुआर खेत में ही कहीं बंदर की तरह कूदफांद भाग कर, रामदेव स्टाइल में फूं फां कर एक्सरसाइज कर लिया. जेल प्रवास के दौरान कई किस्म के एक्सरसाइज एक बंदी योग गुरु ने सिखाए थे, जिसे बाहर के जीवन में अक्सर आजमा लिया करता हूं. इस तरह जिम जाने की नौबत नहीं आई.

इंटरव्यू : टी. जार्ज जोसेफ (वरिष्ठ आईएएस अधिकारी, रिटायर्ड)

यूपी कैडर के वरिष्ठ आईएएस अधिकारी टी. जार्ज जोसेफ भले ही कई बरस पहले रिटायर हो गए हों लेकिन उनको जानने चाहने वालों की कमी लखनऊ में नहीं है. ईमानदारी और सादगी के मामले में चर्चित जार्ज जोसेफ साहब पिछले दिनों वो दृष्टांत मैग्जीन की तरफ से आयोजित एक कार्यक्रम में लखनऊ आए तो उनसे …

इंटरव्यू : ब्रजेश मिश्रा (एडिटर इन चीफ और चेयरमैन, यूपी टीवी)

लखनऊ में हजरतगंज स्थित यूपी टीवी के मुख्यालय जाकर भड़ास के एडिटर यशवंत सिंह ने इस नए लांच हो रहे चैनल के एडिटर इन चीफ और चेयरमैन ब्रजेश मिश्रा से नए-पुराने दोनों चैनलों को लेकर विस्तार से बातचीत की. ईटीवी छोड़ने और यूपी टीवी शुरू करने के पीछ की कहानी ब्रजेश ने विस्तार से बताई. साथ ही इस बारे में भी जानकारी दी कि आखिर कैसे उनका यह नया चैनल यूपी का नंबर वन चैनल बन जाएगा. ब्रजेश मिश्र को ठीक से जानने वाले कहते हैं कि बहुमुखी प्रतिभा के धनी इस शख्स के पास अदभुत विजन और अथक मेहनत करने की क्षमता के साथ-साथ पूरी टीम को उर्जा से भरकर लगातार चलते रहने के लिए प्रेरित करते जाने की पाजिटिव एनर्जी है.

सकते में आए ईटीवी प्रबंधन ने ग्रामीण इन्फामरमरों को किया बहाल

लखनऊ। ईटीवी की टीआरपी गिरने से सहमे प्रबंधन ने 15 दिन पूर्व अपने हटाए गए ग्रामीण इनफारमरों को तत्काल बहाल कर दिया है। विधान सभा स्तर पर ईटीवी ने पिछले 5 साल से अपने इनफारमर रखे थे और उन्हें आईकार्ड देकर पत्रकार का दर्जा दिया था। कईयों को ईटीवी की तरफ से Logo भी दे दिया गया था। 25 दिसंबर के बाद अचानक सभी ग्रामीण विधान सभा के इनफारमरों को हटाने की घोषणा कर दी गई और सबको सूचित कर दिया गया।

राघवेंद्र पांडेय, मनीषा, हिमांशु दुआ और यासिर रजा के बारे में सूचनाएं

राजधानी दिल्ली के युवा पत्रकार राघवेन्द्र पाण्डेय ने ‘के न्यूज’ से इस्तीफा दे दिया है. वह अब नए वर्ष पर नई पारी की शुरुआत ‘हिन्दी खबर’ के साथ करेंगे. राघवेन्द्र यहां विशेष संवाददाता बनाए गए हैं. राघवेन्द्र ने 2015 दिसंबर में ‘के न्यूज’ को ज्वाइन किया था. राघवेन्द्र पाण्डेय मेहनती पत्रकार हैं.

‘फेम इंडिया’ के पांच राज्य में पांच संस्करण हुए

सर्वे और सेलेब्रिटी आधारित पत्रिका फेम इंडिया ने नये साल में पांच राज्यों में अपने पंख फैला लिये हैं। अब यह पत्रिका बिहार, झारखंड, राजस्थान, उत्तर प्रदेश और उत्तराखंड से एक साथ प्रकाशित हो रही है। यह पत्रिका सभी राज्यों के लिये अलग-अलग संस्करणों का प्रकाशन कर रही है जो एक अनोखा प्रयोग है। अभी तक भारत में समाचार पत्र ही विभिन्न इलाकों के लिये विभिन्न संस्करण प्रकाशित करते हैं या फिर ई टीवी और सहारा जैसे चैनल अलग-अलग राज्यों के लिये क्षेत्रीय चैनल चला रहे हैं। फेम इंडिया की तैयारी आने वाले कुछ महीनों में हर राज्य का एक संस्करण प्रकाशित कर पूरे देश में फैलने की है।

दिनेश मानसेरा ने एनडीटीवी को अलविदा कहा, न्यूज नेशन से जुड़े

एनडीटीवी के लिए उत्तराखंड में लंबे समय से कार्यरत दिनेश मानसेरा ने इस्तीफा दे दिया है. उन्होंने नई पारी की शुरुआत न्यूज नेशन चैनल के साथ की है. दिनेश पढ़े लिखे और संवेदनशील पत्रकारों में माने जाते हैं. हाल में ही उनकी एक किताब ‘दाज्यू बोले’ प्रकाशित हुई जिसका उत्तराखंड और दिल्ली में विमोचन हुआ. उत्तराखंड में आपदा की खास तौर पर रिपोर्टिंग करने वाले और टाइगर संरक्षण, वन्य जीव पर्यावरण विषयों पर महारथ हासिल रखने वाले दिनेश ने 13 साल का शानदार वक्त एनडीटीवी में गुजारा.

यूपी में ईटीवी को एक और झटका : आजमगढ़ के टीवी पत्रकार सुधीर भी पहुंचे यूपीटीवी

आजमगढ़ के तेजतर्रार पत्रकार सुधीर सिंह ‘गब्बर’ ने दिया ई0टीवी0 से इस्तीफा. वे भी UP TV से जुड़े. यूपी की पत्रकारिता के बड़े नाम ब्रजेश मिश्रा की ई0टीवी0 पर ‘सर्जिकल स्ट्राइक’ लगातार जारी है. उनके नक्शेकदम पर ई0 टीवी0 आजमगढ़ के पत्रकार सुधीर सिंह ‘गब्बर’ चल पड़े हैं. उन्होंने ई0टीवी0 को अलविदा कह ब्रजेश मिश्रा के लॉन्च हो रहे चैनल यूपीटीवी से जुड़ गए हैं.