SEBI ने NDTV के मालिकों को BAN किया, अवैध कमाए करोड़ों रुपए लौटाने को कहा

सेबी (भारतीय प्रतिभूति और विनिमय बोर्ड) ने एनडीटीवी चैनल्स के मालिकों प्रणय रॉय और राधिका रॉय पर दो साल के लिए प्रतिभूति बाजार में कारोबार की रोक लगा दी है। यह कार्रवाई भेदिया कारोबार में संलिप्तता के चलते की गई है। सेबी ने दोनों को 12 साल पहले की भेदिया कारोबार गतिविधियों से अवैध तरीके …

पत्रकार को जिंदा जलाकर मारने वाले हत्यारे गिरफ्तार

यूपी में बलरामपुर जिले की पुलिस ने पत्रकार को जिंदा जलाकर मार डालने की घटना का खुलासा करते हुए तीन लोगों को गिरफ्तार कर लिया है।

गोदी न्यूज चैनल बेबाक पत्रकारों को चर्चा में अब नहीं बुलाते!

जयशंकर गुप्त- धन्यवाद एबीपी न्यूज! आपने वही किया जिसकी आशंका थी! आज लंबे अंतराल के बाद जब एबीपी न्यूज के गेस्ट कोआर्डिनेशन टीम से नीरज का फोन आया, तमाम तरह के परिचयों के साथ उन्होंने जताया कि हम उन्हें बखूबी जानते पहिचानते हैं, मुझे कुछ आश्चर्य सा हुआ। फिर उन्होंने बताया कि आज देव दीपावली …

पैसों का पेड़ उगाता था यह महाभ्रष्ट अफसर!

कुमार प्रियांक- ओडिशा कैडर के 1987 बैच के भारतीय वन सेवा (IFoS) के अधिकारी अभयकांत पाठक के यहाँ से सतर्कता विभाग के पड़े छापों में अरबों की कमाई का पता चला है। भारत सरकार पेड़ लगाने के पैसे देती थी तो उसमें यह अपने लिए पैसे उगाता था।

राजीव कटारा को याद करते हुए अरविंद सिंह ने एक पुरानी तस्वीर सार्वजनिक की

Arvind Kumar Singh- साथी राजीव कटारा को याद करते हुए… इस तस्वीर को गौर से देखेंगे तो एकदम बायें श्री कमर वहीद नकवी ( नकवीदा), उनके बगल में राजीव कटारा और फिर दाढी में मैं हूं। तस्वीर बोट क्लब की है और साल 1988-89 का है। राजीव गांधी की सरकार थी और बोट क्लब पर …

जाते-जाते ट्रंप ईरान पर बम बरसा सकता है!

–डॉ. वेदप्रताप वैदिक– ईरान और बाइडन की दुविधा… ईरान के परमाणु-वैज्ञानिक मोहसिन फख्रीजाद की हत्या एक ऐसी घटना है, जो ईरान-इस्राइल संबंधों में तो भयंकर तनाव पैदा करेगी ही, यह बाइडन-प्रशासन के रवैए को भी प्रभावित कर सकती है। फख्रीजाद ईरान के परमाणु-बम कार्यक्रम के अग्रगण्य वैज्ञानिक थे। उनका नाम लेकर इस्राइल के प्रधानमंत्री बेंजामिन …

‘सप्पल जैसा बड़े दिल और बड़ी विजन का मीडिया मालिक-संपादक दूसरा कोई नहीं’

सुरेशचंद्र रोहराछत्तीसगढ़ गुरदीप सप्पल होने का अभिप्राय : स्वराज एक्सप्रेस की बंदी और उठते सवाल… आजकल राज्यसभा टीवी को लांच कर के उसे ऊंचाई देने का काम करने वाले देश के वरिष्ठ संपादक, पत्रकार गुरुदीप सप्पल चर्चा में हैं. सौभाग्य से, मुझे भी उनके द्वारा प्रारंभ किए गए “हिंद किसान” बुलेटिन और बाद में ‘स्वराज …

अखबार में खबर छपवाने वाले एक्टिविस्ट के खिलाफ मानहानि की कार्रवाई पर सुप्रीम कोर्ट ने रोक लगा दी

-शशिकांत सिंह- कोई ठीकठाक वकील करने के बाद सुप्रीम कोर्ट तक जाने की अगर आपकी औकात है तो आप न्याय पा सकते हैं. निचली अदालतों के अन्याय से राहत सुप्रीम कोर्ट ही दे सकता है लेकिन सुप्रीम कोर्ट पहुंचना सबके वश की बात नहीं है. पर एक एक्टिविस्ट को सौभाग्य से एक ठीकठाक वकील मिल …

वैक्सीन असहिष्णुता में कारगर होमियोपैथिक चिकित्सा

कोविड-19 पुनः सारी दुनिया में अपनी ताकत बढ़ाने लगा है। भारत समेत अन्य देशों में कोविड-19 से बचाव के लिए वैक्सीन बनाने का कार्य अंतिम चरण में है। यह सब कुछ युद्ध स्तर पर किया जा रहा है। संभवत: मनुष्य इस व्याधि के खिलाफ जंग जीत जाएगा। विभिन्न कंपनियां अपने वैक्सीन को 60 से 90% …

181 वूमेन हेल्पलाइन में काम करने वाली महिलाएं किससे मांगें मदद?

इन महिला कर्मियों को नहीं मिल रहा है वेतन लखनऊ : प्रदेश सरकार द्वारा महिलाओं के सम्मान, सुरक्षा और आत्मनिर्भरता के लिए छः माह तक चलाया जा रहा मिशन शक्ति अभियान बिना 181 वूमेन हेल्पलाइन और महिला समाख्या जैसे महत्वपूर्ण कार्यक्रमों के पुनर्जीवन के महज नाटक है। एक तरफ प्रदेश में मिशन शक्ति के नाम …

ग्रामीण बिहार में 65.58% परिवारों के पास भूमि नहीं है!

Prakash K Ray- यह प्रश्न अक्सर पूछा जा रहा है कि कृषि क़ानूनों को लेकर बिहार के किसान आंदोलनरत क्यों नहीं है. इस प्रश्न का उत्तर निम्न सूचनाओं से पाया जा सकता है.

पत्रकारिता का पहला पाठ राजीव कटारा जी से चौथी दुनिया में सीखा था

राज शेखर- पत्रकारिता का पहला पाठ राजीव कटारा जी से चौथी दुनिया (साप्ताहिक अखबार) में सीखा था। इसी साप्ताहिक अखबार के दफ्तर में नरेंद्रपाल (एनपी सिंह) और कमेंटेटर गौस मोहम्मद से मुलाकात हुई थी। तब से हम मित्र हैं।

महाराष्ट्र के ज्यादातर पत्रकारों को महीने में पंद्रह दिन ही मिल रहा है काम

मनरेगा के मजदूरों की तरह काम करने को मजबूर है महाराष्ट्र में ज्यादातर पत्रकार, प्रबंधन के लोग देते हैं सरकारी आदेश का हवाला, महीने में 15 दिन ही मिल रहा है काम, 50 साल की उम्र से ऊपर वाले कर्मचारियों को न काम दिया जारहा है न वेतन

उत्तराखंड के वीडियो को गाजियाबाद का बताकर चला दिया!

एबीपी गंगा चैनल ने पिछले दिनों एक खबर में तेंदुए का वीडियो चलाया. इसे गाजियाबाद का बताया गया. लेकिन जांच पड़ताल से पता चलता है कि यह वीडियो उत्तराखंड का है. ऐसे प्रतिष्ठित चैनल को गलत विजुवल चलाने से बचना चाहिए.

20 साल पहले हम कैसे दिखते थे, अमर उजाला जालंधर लांचिंग की कुछ तस्वीरें

Yashwant Singh : बीस साल पहले हम कैसे दिखते थे. क्या होते थे. क्या करते थे. ये तस्वीरें बयान कर रही हैं. अमर उजाला जालंधर की लांचिंग टीम को ट्रेंड करने और लांचिंग स्मूथ बनाने के लिए डेपुटेशन पर कानपुर एडिशन से राजीव सिंह सर (वर्तमान में अमर उजाला लखनऊ के संपादक) के साथ मुझे …

पत्रकार ललित पंडित प्रकरण में पुलिस ने कोर्ट में क्या रिपोर्ट पेश की है, पढ़ें

पत्रकार ललित पंडित का दावा है कि उनके ऊपर दर्ज हुए मुकदमे में पुलिस ने जो जाँच रिपोर्ट कोर्ट में पेश की है उससे साबित होता है कि यह मामला फर्जी है. पुलिस ने जांच रिपोर्ट में आरोपों को झूठा पाया है. सिर्फ दबाव बनाने हेतु कॉलेज प्रबंधकों द्वारा मुकदमा दर्ज कराया गया है. खबर …

शेम शेम पुलिस आफिसर! ई-रिक्शा वाले को पीटने-गरियाने का वीडियो देखिए

रायबरेली : उत्तर प्रदेश में पुलिसिंग को सुधारने के साथ ही साथ पुलिस अधिकारियों को जनता से शालीनता से व्यवहार करने की चाहे जितनी दुहाई दी जाए पर कुछ वर्दीधारी सुधरने को तैयार नहीं हैं। ऐसा ही एक मामला चर्चा में आया है जिसका वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है।

पत्रकार हत्याकांड : अखिलेश यादव ने प्रेस कांफ्रेंस में भड़ास की खबर का प्रिंट लहराया, देखें तस्वीर

यूपी के पूर्व मुख्यमंत्री और सपा मुखिया अखिलेश यादव ने कल एक प्रेस कांफ्रेंस का आयोजन कर किसान आंदोलन समेत कई मसलों पर अपनी पार्टी का रुख स्पष्ट किया और बेबाक तरीके से अपनी बात रखी. वे केंद्र और राज्य सरकार पर हमलावर रहे. प्रेस कांफ्रेंस के दौरान अखिलेश यादव ने यूपी की लॉ एंड …

वरिष्ठ पत्रकार मुमताज़ अहमद तीसरी बार बने राष्ट्रीय सहारा के ब्यूरो चीफ

प्रयागराज। प्रयागराज के वरिष्ठ पत्रकार मुमताज़ अहमद तीसरी बार हिंदी दैनिक राष्ट्रीय सहारा के प्रयागराज में ब्यूरो चीफ बनाये गए हैं।

गुरदीप सप्पल के खिलाफ कई संपादकों ने मोर्चा खोला, पढ़ें पत्र

गुरदीप सप्पल ने राज्यसभा टीवी लांच कर जो इज्जत कमाई थी, उसे उन्होंने स्वराज एक्सप्रेस चैनल खोलकर गंवा दिया. चैनल के कर्मियों को भरोसे में लिए बिना चैनल को अचानक बंद कर सबकी कई महीने की सेलरी को हड़प लिया गया.

सेलरी हड़पने वाले सप्पल और कपूर कोर्ट में हाजिर नहीं हुए

अपने चैनल स्वराज एक्सप्रेस के कर्मियों की सेलरी हड़पने वाले गुरदीप सप्पल कोर्ट में इस मुद्दे पर सुनवाई के दिन 26 नवंबर को हाजिर नहीं हुए. सप्पल के अलावा सिद्धार्थ कपूर समेत कई लोगों को आरोपी बनाया गया है. कपूर भी कोर्ट नहीं पहुंचा.

रांची के पत्रकार अजय कुमार का कोलकाता में निधन

रांची प्रेस क्लब शोक व्यक्त किया रांची। पत्रकार अजय कुमार के निधन पर रांची प्रेस क्लब ने गहरा शोक व्यक्त किया है। लंबे समय से बीमार चल रहे अजय कुमार का आज कोलकाता में इलाज के दौरान मौत हो गया। उनकी मौत की सूचना से रांची के पत्रकार शोकाकुल है।

अनुज भोमिया नामक ठग ने छत्तीसगढ़ में बेरोजगार युवकों को लूटना शुरू किया

अनुज भोमिया उर्फ भौमिया उर्फ भूमिया नामक बहुरुपिया देश के कई प्रांतों में ठगी करता जा रहा है. बिहार चुनाव के दौरान इस ठग ने संपादक के बतौर एक होटल में रुकने के बाद उसका हजारों रुपये का बिल दिए बिना भाग निकला. इसके पहले भी वह कई कांड कर चुका है और पुलिस केस …

जनवरी से फिर शुरू हो सकता है स्वदेश चैनल, श्रेय शुक्ला संभालेंगे कमान!

लखनऊ से पूर्व में संचालित होने वाला चैनल स्वदेश के फिर से शुरू होने की चर्चा है. इस चैनल के मालिकों पर एफआईआर होने और उनके जेल जाने के बाद यह चैनल बंद हो गया था. बताया जा रहा है कि अब यह चैनल जनवरी 2021 से फिर से नई शुरुआत करने जा रहा है।

अजयवीर और साहिल ने नई पारी की शुरुआत की

नेशन वन न्यूज़ पोर्टल ने यूपी में अपनी नई टीम की घोषणा कर दी है. अजयवीर सिंह स्थानीय संपादक के पद पर कार्य करेंगे. इनके साथ बतौर ब्यूरो प्रमुख साहिल भारती अपना योगदान संस्थान को देंगे.

ये सब मोदी काल के भाजपा में ही हो सकता है!

-शिशिर सोनी- तभी तो भाजपा है… लालू यादव की मांद में राजद को शिकस्त देने वाले राजीव प्रताप रूढ़ी की पहले मोदी मंत्रिमंडल से विदाई हुई। फिर उन्हें ऐसा बर्फ पे लगाया गया कि आज तक ठिठुर रहे हैं। पर सार्वजनिक रूप से उफ तक नहीं कर रहे। सांसद तो हैं पर पैदल हैं। जिस …

बड़े न्यूज चैनलों में कार्यरत हृदय रोग पीड़ित दो टीवी पत्रकार भरी जवानी में चल बसे!

कुछ रोज पहले (20-22 नवंबर के दरम्यान) दो पत्रकारों का निधन हो गया. फेसबुक पर इन्हें इनके जानने वाले श्रद्धांजलि दे चुके हैं. कामन बात ये है कि दोनों भरी जवानी में हृदय रोग से पीड़ित हो गए थे. अत्यधिक तनाव लेकर नौकरी करते हुए जीना महंगा पड़ गया. उपर से ये कोरोना काल. हालांकि …

अखबारों को डुबाने में माहिर एक संपादक

कानाफूसी : जहां-जहां संतन के पैर पड़े, वहां-वहां बंटाधार। एक ऐसे ही संपादक की कहानी। कुछ लोग नसीब की खाते हैं। पर इस संपादक को तो लोग मुर्गा बनाने के लिए जाने कैसे मिल जाते हैं। यह संपादक एक घोर जातिवादी मानसिकता का व्यक्ति है। दलाली का मास्टर। आइये शुरूआत करते हैं सहारा से। इस …

चैनल मालिक पर खून का धंधा करने का आरोप!

नोएडा। बाइक बोट घोटाले के मुख्य आरोपी संजय भाटी और अन्य आरोपियों पर खून का धंधा कर करोड़ों रुपये डकारने का आरोप लगा है जिस पर कोर्ट के आदेश पर एफआईआर दर्ज किए जाने के आदेश हुए हैं। इसमें लखनऊ के लाइव टुडे चैनल के मालिक बी एन तिवारी समेत कुल 58 लोगों पर एफआईआर …

महिला दरोगा ने युवा पत्रकार को अपने इश्क में पागल कर सुसाइड के लिए उकसाया था!

यूपी के उन्नाव जिले में 12 नवंबर को युवा पत्रकार सूरज पांडेय की लाश रेलवे ट्रैक पर मिली थी. बाद में कहानी सामने आई कि पत्रकार महोदय एक महिला दरोगा के इश्क में पागल थे. चैट से पता चला कि महिला दरोगा ने इश्क में पागल युवा पत्रकार को सुसाइड के लिए उकसाया था. इसके …

एशिया का सबसे भ्रष्ट देश है भारत!

–डॉ. वेदप्रताप वैदिक– यहां भ्रष्टाचार ही शिष्टाचार है… ट्रांसपेरेन्सी इन्टरनेशनल की ताजा रपट के अनुसार एशिया में सबसे अधिक भ्रष्टाचार यदि कहीं है तो वह भारत में है। दुनिया के सबसे बड़े लोकतंत्र को इससे गंदा प्रमाण-पत्र क्या मिल सकता है? इसका अर्थ क्या हुआ? क्या यह नहीं कि भारत में लोकतंत्र या लोकशाही नहीं, …

कोरोना काल में यूपी के मेडिकल कालेजों में हो रहा मानव अंग तस्करी का खेल!

अजय कुमार, लखनऊ कोरोना काल में उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ के दो निजी मेडिकल कालेजों में सरकार की नाक के नीचे मानव अंगों की तस्करी का मामला सामने आने के बाद निजी अस्पतालों के खिलाफ जनता और योगी सरकार का गुस्सा सातवें आसमान पर है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने पूरे प्रकरण की जांच कराने …

अविनाश शर्मा अमर उजाला छोड़ने के बाद न्यूज़ ग्राफ के इंचार्ज बने

खबर है अमर उजाला, गोरखपुर से इस्तीफा देने के बाद पत्रकार अविनाश शर्मा ने नई पारी की शुरुआत कर दी है.

ABP Majha conducts ‘Majha Vision 2020’

As MVA government completes one year, leaders discuss their vision and challenges ahead Mumbai, 28th November, 2020: India’s leading Marathi News Channel, ABP Majha organised ‘Majha Maharashtra Majha Vision’, a flagship show highlighting various views and discourses on the government, the ongoing political developments, and key public issues yesterday, i.e. 27th November 2020.

कृति के सभी जीवों और तत्वों के साथ सह अस्तित्व ही आदिवासियत

नई दिल्ली। आदिवासियत या आदिवासी विमर्श को अन्य विमर्शों की तरह नहीं समझना चाहिए। आदिवासियत जीवन जीने का एक बेहतरीन तरीका है, एक दर्शन और वैचारिकी है अपितु यह एक जीवन शैली है। आदिवासी समस्त प्रकृति के तत्त्वों और मानवेतर जीव – जगत के साथ सह अस्तित्व की भावना के साथ जीता है,यही उसका मूल …

डॉ. हर्षवर्धन ने प्रो. संजय द्विवेदी से आईआईएमसी में स्वास्थ्य पत्रकारिता शुरू करने का आग्रह किया

नई दिल्ली । ”कोरोना महामारी की रोकथाम में पत्रकारों ने महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है। कोरोना वारियर्स की मेरी लिस्ट में पत्रकारों का स्थान बेहद खास है। मैं उनके जज्बे, जुनून और साहस को सलाम करता हूं।” यह विचार केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन ने भारतीय जन संचार संस्थान (आईआईएमसी) के सत्रारंभ समारोह-2020 के अंतिम दिन …

यूपी में पत्रकार को जिंदा जलाकर मार डाला

बलरामपुर मे दबंगों ने किया पत्रकार के घर पर हमला, आग लगाई, पत्रकार राकेश सिंह घायल, साथी की जलकर मौत, घायल पत्रकार राकेश सिंह की लखनऊ ट्रामा सेंटर में मौत लखनऊ, 28 नवंबर: इंडियन फेडरेशन आफ वर्किंग जर्नलिस्ट्स (आईएफडब्ल्यूजे) उपाध्यक्ष औरउत्तर प्रदेश मान्यता प्राप्त संवाददाता समिति के अध्यक्ष हेमंत तिवारी ने बलरामपुर जिले में पत्रकार …

नीतीश ने आपा क्यों खोया?

शिवानन्द तिवारी- नीतीश जी को इतना आपा खोते मैंने कभी नहीं देखा. आरोप उन्होंने तेजस्वी पर लगाया. लेकिन आरोप तो नीतीश जी पर ही लगता है. याद कीजिए चुनाव के समय उन्होंने तेजस्वी को क्या-क्या नहीं कहा! कहां से लाओगे 10 लाख लोगों को तनख्वाह देने का पैसा? बाप के पास से ले आओगे? जेल …

मीडिया वाले किसके निर्देश पर किसान आंदोलन को खालिस्तानियों से जोड़ रहे हैं?

मुकेश कुमार- इससे ज़्यादा शर्मनाक क्या हो सकता है कि किसान अपनी रोज़ी-रोटी की लड़ाई के लिए जान लड़ा रहे हैं और मीडिया उसे खालिस्तानियों से जोड़ रहा है, उनके आंदोलन में कई तरह की साज़िशें ढूँढ़ रहा है।

राजीव कटारा में फकीरी तत्व बहुत प्रबल था, कभी किसी नौकरी से चिपकने की कोशिश न की

-शेष नारायण सिंह- अलविदा राजीव… राजीव कटारा का जाना बहुत ही तकलीफदेह है. . मुझसे उम्र में करीब दस साल छोटे थे. एक बार किसी दोस्त से मैंने उनका परिचय करवाया और कहा कि राजीव पढ़ते बहुत हैं ,, लिखते बहुत अच्च्छा हैं, साहित्य , संगीत , स्पोर्ट्स, विचारधारा ,राजनीतिक हलचल आदि के अच्छे जानकार …

गोदी मीडिया किसान आंदोलन कवर करते हुए फिर नंगा हुआ!

-कृष्ण कांत- मीडिया इस पर बहस नहीं करता कि सरकार किसान विरोधी कानून क्यों लाई? मीडिया इस पर भी बात नहीं करता कि सरकार किसानों के संसाधन छीनकर कृषि बाजार को पूंजीपतियों का गुलाम क्यों बनाना चाहती है? मीडिया प्रोपेगैंडा पर बहस करता है कि किसानों को कोई ‘भड़का’ रहा है.

डिजिटल मीडिया के कुछ ही प्लेयर्स सफल आर्थिक मॉडल विकसित करने में कामयाब हुए हैं!

खबरचीबंदर डाट कॉम की औपचारिक शुरुआत न्यूज वेबसाइट खबरचीबंदर डाट कॉम की औपचारिक शुरुआत वर्चुअल तरीके से हुई. उद्घाटन माखनलाल चतुर्वेदी पत्रकारिता विश्वविद्यालय के कुलपति प्रोफेसर केजी सुरेश ने की. इस दौरान ‘कोरोना काल में डिजिटल मीडिया: योगदान और भविष्य’ नामक विषय पर परिचर्चा का आयोजन भी हुआ. परिचर्चा के दौरान प्रोफेसर केजी सुरेश ने …

अपने पूर्व डीजीपी भाई, एक इंस्पेक्टर, दो वकीलों पर हत्या की साजिश रचने का आरोप लगाने वाली बहन की लाश तक न मिली!

-सौरभ सिंह सोमवंशी- प्रयागराज : उत्तर प्रदेश के पूर्व डीजीपी आनंदलाल बनर्जी की बहन और इलाहाबाद हाईकोर्ट में पूर्व में सहायक निबंधक के पद पर तैनात रह चुकी विजयलक्ष्मी बनर्जी की पिछले दिनों प्रयागराज स्थित एक निजी अस्पताल से जांच के दौरान बाहर जाने पर संदिग्ध परिस्थितियों में मृत्यु हो गई थी। इसके बाद उनके …

Alarming journo-killing incidents rock Indian media

–Nava Thakuria– Guwahati: Largely smashed by the Covid-19 pandemic the mainstream Indian media has also witnessed an alarming number of incidents relating to journalists’ killings this year. As the year approaches the end, India turns out to be an unsafe country for professional journalists after Mexico only. The billion plus nation braces news about journo-murders …

किसान आंदोलन को खूनी संघर्ष की ओर धकेल रही मोदी सरकार!

-चरण सिंह राजपूत- मोदी सरकार के कृषि बिलों के खिलाफ दिल्ली को घेरने आये पंजाब और हरियाणा के किसानों के साथ हरियाणा-अंबाला के नजदीक सिंध बॉर्डर पर जिस तरह से पुलिस उनके साथ ज्यादती कर रही है, किसानों को तितर-बितर करने के लिए आंसू गैस का इस्तेमाल कर रही है, उससे किसान आंदोलन के हिंसक …

फोटो जर्नलिस्ट को प्रेस क्लब के मंत्री ने मारी गोली, बाल-बाल बचे

कानपुर से सूचना आ रही है कि फ़ोटो जर्नलिस्ट अर्पित श्रीवास्तव पर कानपुर प्रेस क्लब के वरिष्ठ मंत्री मनोज यादव ने अपने अपराधी साथियों के साथ सरेराह ताबड़तोड़ गोलियां बरसा दी. इस हमले में बाल बाल बच गए फ़ोटो जर्नलिस्ट अर्पित.

‘मीडिया’ नहीं बल्कि ‘सूचना’ लोकतंत्र का चौथा स्तंभ है!

नई दिल्ली, 26 नवंबर । गुरुवार को भारतीय जन संचार संस्थान (आईआईएमसी) के सत्रारंभ समारोह-2020 के चौथे दिन कार्यक्रम के प्रथम सत्र में ‘डिजिटल और सोशल मीडिया : लोकतंत्र का उभरता हुआ पांचवा स्तंभ’ विषय पर बोलते हुए माइक्रोसॉफ्ट इंडिया के डायरेक्टर, लोकेलाइजेशन श्री बालेंदु शर्मा दाधीच ने कहा कि कुछ लोग डिजिटल मीडिया को …

उपन्यास ‘इश्क़ इंक़लाब’ लव जिहाद के पीछे की साजिशें दिखाता है

क्या लव जिहाद का जवाब है ‘इश्क़ इंक़लाब’ उपन्यास…भोपाल में जन्मे हिंदू लड़के और मुस्लिम लड़की की प्रेम कहानी के पीछे का सच भोपाल के पत्रकार और लेखक अमिताभ बुधौलिया अपने नये उपन्यास ‘इश्क़ इंक़लाब’ को लेकर फिर से चर्चा में हैं। इस उपन्यास की कहानी लव जिहाद के विवादास्पद विषय से जुड़ी है। यह …

राजीव कटारा जैसे बेमिसाल मोती आसानी से नहीं मिलते!

-क़मर वहीद नक़वी- राजीव कटारा जैसे बेमिसाल मोती आसानी से नहीं मिलते। उन्हें हमने ऐसे खो दिया, इसका बड़ा मलाल है और रहेगा।

राजीव कटारा के जीवन-मृत्यु की पूरी कहानी बता रहे हैं वीरेंद्र सेंगर

-वीरेन्द्र सेंगर- अलविदा राजीव! कोरोनाकाल बहुत क्रूर होता जा रहा है। उसने हमारे प्रिय मित्र राजीव कटारा को छीन लिया। दो दिन से आशंका बनी हुई थी। वे दिल्ली के बतरा अस्पताल में वेंटीलेटर पर थे। दीवाली से ही कोरोना की चपेट में आ गये थे। उन्होंने कई दिनों तक जीवन संघर्ष किया। वे सितंबर …

इसे कोरोना से मौत नहीं बल्कि मर्डर कहना चाहिए

-संत समीर- जब से ख़बर सुनी है, सकते में हूँ। कुछ देर तक हिम्मत ही नहीं पड़ी कि कुछ लिखूँ। इसे कोरोना से हुई मौत नहीं, इलाज के ज़रिये किया गया ‘मर्डर’ कहना चाहिए। हत्या। जिन सज्जन के लिए कुछ दिनों पहले मैंने प्लाज्मा दान की अपील की थी, आज सवेरे पता चला कि अब …

अखबारों को जो काम करना चाहिए वह सिर्फ टेलीग्राफ कर रहा है!

-संजय कुमार सिंह- माईवे ऑर हाईवे यानी मेरी मानो या निकल लो व्यस्तता के कारण द टेलीग्राफ के कल के इस शीर्षक की चर्चा नहीं कर पाया। मुझे अक्सर लगता है कि अखबारों का जो काम है वह अक्सर टेलीग्राफ कायदे से करता हुआ नजर आता है। बाकी के कई अखबार अक्सर न सिर्फ सरकार …

कोरोना के कारण मित्रों, करीबियों और पत्रकार साथियों की मौतों से गहरे अवसाद में हूँ!

-अमरेंद्र राय- पिछले कुछ दिनों में कई मित्रों, करीबियों और पत्रकार साथियों की मृत्यु हुई है। गहरे अवसाद में हूं। मन कहीं नहीं लग रहा। मौत से डर नहीं लग रहा। पर कोई चीज है जो दिमाग पर दबाव बनाए हुए है। सबसे पहले गांव से खबर आई कि परिवार में चाची जी नहीं रहीं।

कोरोना से ‘कादम्बिनी’ के संपादक रहे राजीव कटारा की मौत

–चंद्रभूषण– मीडिया सर्कल में दो सबसे नजदीकी लोग कादम्बिनी में काम करते थे। कोरोना काल में ही पहले शशिभूषण गए, फिर कादम्बिनी गई और अब राजीव कटारा भी चले गए। बहुत निजी किस्म की हतक है, क्या कहूं? -अम्बरीश कुमार- पुराने साथी और कादंबनी के पूर्व संपादक राजीव कटारा भी चले गए कोरोना की वजह …

मालिकाना हक बदलने के बाद ‘हफ़पोस्ट इंडिया’ का संचालन बंद

-प्रकाश के रे- हफ़पोस्ट इंडिया के बंद होने से भारतीय मीडिया लैंडस्केप और भी दरिद्र हो गया है. इस वेबसाइट पर हमारे समय के कुछ बेहतरीन पत्रकार काम कर रहे थे. इसी के साथ हफ़पोस्ट का ब्राज़ील संस्करण भी बंद हो गया है. हफ़पोस्ट का मालिकाना वेरीज़ोन से बज़फ़ीड के पास चला गया है. इस …

कोई अखबार इतना नीचे गिर कर समझौता कर लेगा!

-Aditya Pandey- बॉलीवुड इतना पैसा बड़े अखबारों के मुंह में भर देता है कि खिलाफ बोलने की गुंजाइश ही नहीं बचती! लवण भास्कर अब उस कगार पर है जहां अपने कर्मियों को न्यूनतम वेतन देने तक में उसे रोना आ रहा है। इसलिए खबर लाने वालों से लेकर उन्हें बेहतर बनाने वालों तक को विदाई …

स्मिता, कुणाल, सत्येंद्र, प्रशांत, अमित के बारे में सूचनाएं

वरिष्ठ पत्रकार और एंकर स्मिता शर्मा ने ‘इंडिया अहेड’ चैनल ज्वाइन किया है. यहां उन्हें कान्ट्रीब्यूटिंग एडिटर बनाया गया है. स्मिता आईबीएन7, आजतक, टीवी9 भारतवर्ष आदि चैनलों में काम कर चुकी हैं. ‘इंडिया अहेड’ चैनल के के एडिटर-इन-चीफ भूपेंद्र चौबे हैं.

मुलायम के बर्थडे पर पत्रकार ने फुल पेज विज्ञापन दिया

नेताजी को वरिष्ठ पत्रकार का रिटर्न गिफ्ट राजनीतिक स्टंटबाजी में मुलायम सिंह उर्फ नेता जी के आगे सब बच्चे हैं। कहा जाता है कि मौजूदा भाजपा सरकारें मीडिया मैनेजमेंट में दक्ष हैं। देश की मीडिया सरकार की मुट्ठी में है। ये आज की बात है। लेकिन कुछ ऐसी परम्परा की जन्मदाता भाजपा नहीं यूपी का …

प्रभु चावला की इंडिया टुडे ग्रुप में वापसी, फिर करेंगे ‘आजतक’ पर ‘सीधी बात’

प्रभु चावला लंबे वक्त बाद इंडिया टुडे समूह में वापस आ गए हैं. उन्हें टीवी टुडे नेटवर्क का एडिटोरियल कंसल्टेंट बनाया गया है.

ढाई लाख से ज्यादा अखबार टाइटिल निरस्त करने वाली खबर फर्जी थी

पिछले दिनों एक खबर सोशल मीडिया पर वायरल हुई. इसे वाट्सअप, फेसबुक, ट्विटर पर खूब शेयर फारवर्ड किया गया. मोदी सरकार द्वारा ढाई लाख से ज्यादा अखबार टाइटिल निरस्त किए जाने की खबर. सैकड़ों अखबारों को डीएवीपी की सूची से बाहर कर दिए जाने की खबर.

नफरत फैलाने वाले दीपक चौरसिया को iimc के नए छात्र नापसंद करते हैं?

-Hrishikesh Sharma- आईआईएमसी के ओरिएंटेशन में ऑर्गनाइज़र के संपादक और दीपक चौरसिया जैसे लोगों को आमंत्रित किया गया है। मीडिया लिटरेसी पर ज्ञान देते प्रोफेसर्स को शर्म नहीं आएगी उनसे बातचीत करते हुए? क्या कोई भी आदर्श मीडिया संस्थान आज की तारीख में ऐसे पत्रकारों को बुलाना चाहेगा?

श्रमिक विरोधी कानूनों के खिलाफ 26 नवंबर के आम हड़ताल को इस पत्रकार संगठन ने दिया समर्थन

Hyderabad/Chandigarh, November 24: Indian Journalists Union (IJU) supported and expressed solidarity with the November 26 general strike, and other forms of agitations called by 10 central trade unions in protest against the central government’s policies including new labour and farm laws as well as privatisation of public sector units.

हिंदुस्तान अखबार में छप गया हिंदू राष्ट्र का विज्ञापन!

-Deepankar Patel- क्या अखबार पैसा लेकर कैसा भी विज्ञापन छाप सकता है? आदमी की नंगी फोटो छाप देगा? और राष्ट्र विरोधी विज्ञापन? जो हिंदू राष्ट्र बना देने की भावना है क्या वो भारतीय संविधान की पंथनिरपेक्षता की मूल भावना के खिलाफ नहीं है? तो क्या अख़बार ने संविधान विरोधी विज्ञापन छापने का फैसला सिर्फ पैसों …

कोरोना की मार के कारण छत्तीसगढ़ का एक अखबार बिकने को तैयार

कोरोना की मार से लोकतंत्र का चौथा स्तंभ भी अछूता नहीं है। निजी विज्ञापनों में आई भारी गिरावटों के बाद अखबारों को अपना खर्च निकालना भारी पड़ रहा है। कई मध्यम एवं छोटे समाचार पत्र बंद हो गए हैं। ऐसे में छत्तीसगढ़ की राजधानी रायपुर और जांजगीर चांपा से प्रकाशित दैनिक समाचार पत्र छत्तीसगढ़ एक्सप्रेस …

विधानसभा (तीन) : प्रदीप दुबे ने खुद पर लगे आरोपों की खुद की जांच, और हो गये बरी

-अनिल सिंह- चहेतों को नौकरी देने के लिये बदल दी परीक्षा एजेंसी टीसीएस की जगह ऐपटेक को दे दी गई जिम्‍मेदारी एक ही जिले के दर्जनों लोगों की हुई नियुक्ति धांधली की शिकायतों के बाद भी नहीं हुई कार्रवाई राष्‍ट्रपति एवं पीएमओ के जांच कराये जाने का आदेश रद्दी में लखनऊ : उत्‍तर प्रदेश विधानसभा …

श्रम मंत्रालय को आगे कर मोदी सरकार ने शुरू की श्रमिकों को बंधुआ बनवाने की प्रक्रिया

-चरण सिंह राजपूत- मोदी सरकार ने श्रमिकों को कंपनी मालिकों के यहां बंधुआ बनाने की ठान ली है। मोदी सरकार धीरे-धीरे श्रम कानून में संशोधन को लागू करने में लग गई है। इसके लिए उसने शातिराना रवैया अपनाया है। सरकार माहौल बनाने के लिए श्रम मंत्रालय से प्रस्ताव दिलवा रही है। अभी हाल ही में …

आयुर्वेद और एलोपेथी का मिलन

-डॉ. वेदप्रताप वैदिक- भारत सरकार ने देश की चिकित्सा-पद्धति में अब एक एतिहासिक पहल की है। इस एतिहासिक पहल का एलोपेथिक डाॅक्टर कड़ा विरोध कर रहे हैं। उनका कहना है कि यदि देश के वैद्यों को शल्य-चिकित्सा करने का बाकायदा अधिकार दे दिया गया तो देश में इलाज की अराजकता फैल जाएगी।

चिटफंड के जरिए पैसे की हेराफेरी करने वाला पत्रकार अबकी पाक्सो एक्ट में जेल गया

बनारस के पत्रकार को पाक्सो एक्ट समेत कई धाराओं में जेल भेजा बनारस से खबर है कि फास्ट न्यूज इंडिया के पत्रकार प्रभाकर द्विवेदी को सिगरा पुलिस ने पाक्सो सहित कई धाराओं में जेल भेज दिया है.

टीआरपी रेटिंग को ध्यान में रखकर जो पत्रकारिता हो रही है, वह सही रास्ता नहीं है : जावड़ेकर

आईआईएमसी के 2020-21 शैक्षणिक सत्र का शुभारंभ नई दिल्ली । भारतीय जन संचार संस्थान के शैक्षणिक सत्र 2020-21 का सोमवार को ऑनलाइन माध्यम से उद्घाटन करते हुए केंद्रीय सूचना एवं प्रसारण मंत्री श्री प्रकाश जावड़ेकर ने पत्रकारिता के छात्रों को सलाह दी कि वे अनावश्यक सनसनी और टीआरपी केंद्रित पत्रकारिता के जाल में फंसने की …

वाचमैनों को लोकल ट्रेन में जाने की इजाजत लेकिन मीडियाकर्मियों को नहीं

-शशिकांत सिंह- महाराष्ट्र में मीडियाकर्मियों को लोकल ट्रेन में जाने की इजाजत नहीं है। लोकल ट्रेन में सिर्फ उन्हीं पत्रकारों को यात्रा की इजाजत है जो मंत्रालय से मान्यता प्राप्त हैं। अब जाहिर सी बात है कि मान्यता ज्यादातर उन्ही पत्रकारों को मिलता है जो पोलिटिकल बीट कवर करते हैं। इनकी संख्या नाम मात्र है। …

नोएडा के पत्रकार ललित पंडित समेत कइयों पर केस दर्ज, पढ़ें एफआईआर, जानें उनका पक्ष

नोएडा के पत्रकार ललित पंडित के खिलाफ कोर्ट के आदेश पर मुकदमा दर्ज हुआ है। नॉलेज पार्क-2 से संचालित एक होटल मैनेजमेंट शिक्षण संस्थान के प्रबंधन से उगाही का मामला है। उगाही गैंग के मददगार के रूप में ललित पंडित का जिक्र एफआईआर के लिए दिए गए शिकायती पत्र में किया गया है।

ट्रैकिंग के दौरान फिसलकर मरने से बचें

-अश्विनी कुमार श्रीवास्तव- ट्रैवलिंग का शौक यूं तो जबरदस्त होता है लेकिन इसमें कई जोखिम भी होते हैं. अभी कल ही फेसबुक पर एक पोस्ट से पता चला कि हिमाचल में कुल्लू के नजदीक स्थित कसोल में एक पहाड़ पर दिल्ली के एक युवक की ट्रैकिंग के दौरान फिसलकर हजारों फीट गहरी खाई में गिर …

86.5 ग्राम गाँजा रखने के जुर्म में कामेडियन भारती सिंह गिरफ्तार

-संजय कुमार सिंह- नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो ने शनिवार को मशहूर स्टैंड अप कामेडियन भारती सिंह के तीन बंगलों पर छापा मारा, जिसमें ‘थोड़ी मात्रा में गांजा’ भी बरामद हुआ है। पता नहीं तीन बंगलों में गांजे की थोड़ी मात्रा बरामद करने वाला कई दिनों से तरसता हुआ पहुंच गया या तलाशी टीम में शामिल था। …

ये कौन है जो गोदी मीडिया के माध्यम से एक के बाद एक फर्जी खबरें प्लांट करा रहा है?

-सौमित्र रॉय- POK पर हमला याद है आपको? कुछ दिन पहले की ही बात है। सेना ने थोड़ी देर बाद भारत की बिकाऊ मीडिया की खबरों को रद्दी बताया था। अब एक और रद्दी खबर का खुलासा कर रहा हूं। पिछले दिनों खबर आई थी कि पूर्वी लद्दाख में गतिरोध और तनाव को कम करने …

विनोद भारद्वाज का गगन गिल के जन्मदिन पर लिखा गया बोल्ड एंड ब्यूटीफुल संस्मरण चर्चा में!

–Vinod Bhardwaj– 18 Nov 2020 : आज गगन गिल का जन्मदिन है। ढेर सारी शुभकामनाएँ। चितेरियों में मैंने बिंदास गोगी सरोजपाल को उन्नीस साल की उम्र में ही जान लिया था, लखनऊ जैसे तब के पिछड़े शहर में, सिगरेट पीने वाली, थोड़ी बहुत गालियाँ देने वाली वह चितेरी तब मेरी आदर्श थी। कवि मित्र विमल …

IFWJ Demands Industrial Tribunals to be Headed only by Sitting Judges

November 21, 2020. Indian Federation of Working Journalists ( IFWJ) has suggested to the government of India to make amendments in the GSR of the Industrial Code of 2020 particularly with regard to the constitution of the Works Committees and appointments of presiding officers for the Industrial Tribunals as contemplated in the Code. These suggestions …

हमारे आसपास अनावश्यक एवं झूठी सूचनाएं इकट्ठी हो गई हैं : पंकज चतुर्वेदी

ज्ञान के लिए पुस्तकों से बेहतर कोई विकल्प नहीं हिन्दू कालेज में ‘राष्ट्रीय पुस्तक सप्ताह’ के अंतर्गत ‘किताब की जरूरत’ विषय पर वेबिनार नई दिल्ली। ‘डिजिटल माध्यम के इस दौर में जबकि हर व्यक्ति अपने हिसाब से किसी भी बात को कह सकता है, हमारे आसपास अनावश्यक एवं झूठी सूचनाएं इकट्ठी हो गई हैं। ऐसे …

टेलीग्राफ अखबार में आज पत्रकार सिद्दीक कप्पन की फोटो के साथ पहले पन्ने पर पांच कॉलम में खबर है

-संजय कुमार सिंह- इमरजेंसी मुक्त डबल इंजन वाले राम-राज्य का हालजमानत देने से आसमान नहीं गिर पड़ेगा और नहीं देने से कहां गिरा…. एक पत्रकार के खिलाफ हत्या के लिए मजबूर करने का मृत्यु पूर्व बयान और अपने प्रभाव के दुरुपयोग का परिस्थिजन्य साक्ष्य है। पर उसे जमानत मिल गई क्योंकि जमानत देने से आसमान …

अलविदा डियर पंकज!

-यूसुफ किरमानी- अलविदा डियर पंकज… मेरा पंकज शुक्ला का साथ दैनिक जागरण बरेली में रहा। पंकज सिटी रिपोर्टर था। हम लोगों ने उसे जो भी बीट दी, उसने बहुत बेहतरीन काम किया। …वह सुर्ती मलकर बहुत खाता था, जिस पर मैं उसे चिढ़ाता भी था। लेकिन हर बार चिढ़ाने पर वह कहता – भाईसाहब लेकिन …

वरिष्ठ पत्रकार पंकज शुक्ला का कोरोना से निधन

-महेंद्र मिश्रा- अलविदा नहीं कहेंगे पंकज भाई… पंकज भाई का नाम सबसे पहले बरेली में सुना था। जब वह जागरण के ब्यूरो चीफ थे और मैं अमर उजाला में अभी ट्रेनी के बतौर इलाहाबाद से पहुंचा था। उस समय जागरण और अमर उजाला के बीच मानो युद्ध होता था। वह रोजाना का युद्ध था और …

न्यूज ब्रॉडकास्टर्स एसोसिएशन का नया बोर्ड गठित, देखें सूची

सैटेलाइट न्यूज चैनल चलाने वालों की संस्था न्यूज ब्रॉडकास्टर्स एसोसिएशन उर्फ एनबीए का नया बोर्ड गठित कर दिया गया है. इंडिया टीवी के मालिक रजत शर्मा को सर्वसम्मति से एनबीए का चेयरमैन और न्यूज24 की मालकिन अनुराधा प्रसाद को वाइस प्रेसीडेंट बनाया गया है.

क्या सहारा समूह को समाप्त करना चाहता है सेबी?

सेबी की इच्छा- निवेशकों का बकाया 62 हजार करोड़ रुपये जमा न कर पाएं तो सुब्रत राय को पकड़ लिया जाए! सिक्योरिटी एंड एक्सचेंज बोर्ड ऑफ इंडिया (SEBI) से जंग के चलते सहारा समूह बुरी तरह परेशान है. सेबी की सख्ती सहारा पर काफी भारी पड़ी है और पड़ने जा रही है. ऐसा माना जा …

बीजेपी अबकी योगी का चेहरा आगे करके लड़ेगी चुनाव

अजय कुमार, लखनऊ उत्तर प्रदेश में करीब 15 महीने बाद 2022 में होने विधान सभा चुनाव को लेकर भारतीय जनता पार्टी ने अपनी राजनैतिक गतिविधियां तेज कर दी हैं। इस बार भारतीय जनता पार्टी की रणनीति में सबसे बड़ा बदलाव यही देखने को मिल रहा है कि 2017 के विधान सभा चुनाव जहां भाजपा बिना …

आकाशवाणी गोरखपुर और जालंधर की आवाज़ खामोश करने के आदेश

गोरखपुर और जालंधर के आकाशवाणी केंद्र अब खामोश हो जाएंगे। महानिदेशालय से आए पत्र में गोरखपुर और जालधंर केंद्र को तत्काल प्रभाव से पूरी तरह बंद करने का आदेश दिया गया है।

सांप्रदायिकता भड़काने के आरोपी सुदर्शन टीवी को केंद्र सरकार ने सुधरने की चेतावनी देकर माफ कर दिया!

-संजय कुमार सिंह- जेबकतरे को फांसी, हत्यारे को चेतावनी, सुधरने का मौका! कल की एक खबर इस प्रकार है, “मोदी सरकार ने पिछले एक साल में ढाई लाख से ज्यादा अखबारों के टाइटल रद्द कर दिए हैं साथ ही सैंकड़ों अखबारों को सरकारी विज्ञापनों के लिए डीएवीपी की सूची से बाहर कर दिया है। इसके …

मोहसिन खान हम लोगों की सेलरी खा गए!

मैं सुनील राजोरिया, मेकअप आर्टिस्ट। हम कई लोग साधना प्राइम न्यूज़ में काम करते थे। मैं और मेरे दो साथियों ने मार्च-अप्रैल मई की सेलरी की मांग की तो को मोहसिन खान सर ने हमें बोल दिया कि एचआर से जाकर अपना हिसाब ले लो।

गोदी मीडिया ने pok पर एयर स्ट्राइक कर दी!

गलत फर्जी झूठी खबरें चलाने में नम्बर एक भारतीय गोदी मीडिया ने आज फिर कांड कर दिया। बिना सेना से कन्फर्म किए पाक अधिकृत कश्मीर (pok) में एयर स्ट्राइक किए जाने की खबर चला दी। बाद में सेना को बयान जारी कर खंडन छापना पड़ा।

सोशल मीडिया के साँड़ को बधिया बनाने की जुगत!

-जयराम शुक्ल- ये फितरत ही तो है जो आदमी को जानवर से अलग करती है। वह मारने के लिए बंदूक बनाता है और फिर खुद उसी बंदूक से मारा जाता। वह फितूर में अपने लिए ही आफत रचता जाता। खुद जाल बुनता है एक दिन उसी में वही फँस जाता है। शंकर ने भस्मासुर को …

मेवालाल ने इस्तीफा नहीं दिया, उन्हें बर्खास्त किया गया है!

-Pravin Bagi- क्या विवादास्पद शिक्षा मंत्री मेवालाल चौधरी को मंत्रिमंडल से बर्खास्त किया गया है ? उन्होंने खुद इस्तीफा नहीं दिया है ? राजभवन से जारी प्रेस विज्ञप्ति से तो यही संकेत मिलता है कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की सलाह पर राज्यपाल ने उन्हें मंत्री पद से बर्खास्त किया है। बर्खास्तगी तभी की जाती है …

घरेलू हिंसा और रेप के झूठे केस से पुरुषों में आत्महत्या की प्रवृत्ति को बढ़ावा

-जयदत्त शर्मा- श्वेत पत्र – अंतर्राष्ट्रीय पुरुष दिवस… पुरुष से सम्बन्धित समस्याओं पर राष्ट्रीय संसद में विचार हो, ऐसी हमारी राष्ट्रीय पुरुष दिवस के उपलक्ष में मांग है। संपूर्ण भारत वर्ष में तथा विश्व में राष्ट्रीय पुरुष दिवस को धूमधाम से मनाने हेतु प्रत्येक पुरुष अपनी मूंछ और दाढ़ी को इस नवंबर माह में खुशी …

प्रेस क्लब के अध्यक्ष महोदय भाजपा के प्रत्याशी बन गए!

-उग्रसेन राव- प्रेस क्लब विवाद पर अभिमत… लेकसिटी प्रेस क्लब, उदयपुर इन दिनो गंभीर संकट में है। संकट का कारण क्लब के अध्यक्ष श्री प्रतापसिंह राठौड़ का भारतीय जनता पार्टी के टिकट पर बेदला गाँव से पंचायत समिति सदस्य पद के लिए चुनावी मैदान में उतर जाना है। श्री राठौड़ अपना कार्यक्षेत्र बदलने के लिए …

अखबार मालिक ने पत्रकार को दी जान से मारने की धमकी!

दबंग दुनिया अखबार मालिक किशोर बाधवानी पर आरोप लगा है कि उन्होंने अपने अखबार के चीफ रिपोर्टर रहे भोपाल के वरिष्ठ पत्रकार नितिन दुबे को दी जान से मारने की धमकी दी है।

दैनिक जागरण ने पटाखों को विलेन न बनने दिया!

-दीपांकर पटेल- देश भर के अखबार और मीडिया पोर्टल ये बता रहे हैं कि रीता बहुगुणा जोशी की पोती अपने दोस्तों साथ “पटाखे फोड़ते समय” जल गई थी, इसके बाद उसकी इलाज के दौरान मौत हो गई. लेकिन दैनिक जागरण की पूरी ख़बर से “पटाखों से खेलने” का जिक्र ही खत्म कर दिया गया. पूरी …

प्रभाष जोशी जी को रिटायरमेंट के वक़्त 30 हजार रुपये के करीब मिलते थे!

-शम्भूनाथ शुक्ल- जब मैंने जनसत्ता बतौर सब एडिटर ज्वाइन किया था, यानी 1983 में। तब मैं सब एडिटर था और प्रभाष जी संपादक। मेरी तनखा उस समय 1463 रुपए थी और प्रभाष जी को 4200 रुपए मिलते थे। प्रभाष जी को 1995 में रिटायरमेंट के समय 30 हज़ार के क़रीब मिलते थे और मैं तब …

करोना दंश से मौत के मुंह में जाकर वापस लौटने वाले पत्रकार की मर्मस्पर्शी कहानी है ‘बनारस लॉकडाउन’

-रामजी प्रसाद भैरव–(साहित्यकार एवं लेखक, चंदौली) जब कभी निष्पक्ष और निर्भीक पत्रकारिता की बात उठेगी तो बनारस के वरिष्ठ पत्रकार विजय विनीत जेहन में स्वतः कौंध जाएंगे । यह इत्तिफ़ाक़ नहीं है कि विजय विनीत ने कोई किताब लिखी है, बल्कि उन्होंने 75 दिनों की इस जिंदगी को बड़ी संजीदगी से जिया है, जो अब …

अर्णब पत्रकार नहीं, सक्रिय राजनीतिक कार्यकर्ता और सफल बिजनेसमैन है!

-निरंजन परिहार– अर्णब की ताकत के मुकाबले शिवसेना का सच! अर्णब दिखने में भले ही पत्रकार हैं, लेकिन उनकी रगों और धमनियों में बहता रक्त शुद्ध रूप से राजनीतिक है। पैसे की कमी उन्हें कभी खली नहीं और शान से जीना उनके शौक का हिस्सा है। असम के बरपेटा जिले के अर्णब गोस्वामी के दादा …

सुशांत केस से रिलेटेड फर्जी खबरों के वीडियो बनाकर यूट्यूब-फेसबुक से लाखों रुपए कमाए

-शीतल पी सिंह- सुशांत सिंह राजपूत के मामले में कांसपिरेसी थ्योरियों को बेचने वाले यू ट्यूबर्स और फ़ेसबुक पेज वालों ने करोड़ों रुपये कमाए । मुंबई पुलिस की जाँच में बिहार से ओरिजिनेट किये गये ऐसे एक अकाउंट को ही चार महीनों में यू ट्यूब ने क़रीब पंद्रह लाख रुपये का भुगतान किया था ।

कुणाल कामरा से कसमसाई सरकार ट्वीटर पर चिल्लाई

-संजय कुमार सिंह- सूत्रों की इस खबर के अनुसार, संसदीय समिति ने ट्वीटर अधिकारियों से पूछा है कि सुप्रीम कोर्ट के खिलाफ कॉमेडियन कुणाल कामरा के ट्वीट क्यों रहने दिए गए। अगर यह खबर सही है तो इसका मतलब यह हुआ कि ट्वीटर को यह अधिकार दिया जा रहा है वह तय कर ले कि …

अवैध खनन में एसएसपी आगरा की भूमिका की जाँच की मांग

एक्टिविस्ट डॉ नूतन ठाकुर ने आगरा के खैरागढ़ तथा अन्य इलाकों में अवैध खनन में एसएसपी आगरा बबलू कुमार की भूमिका की जाँच की मांग की है. 

ज़ी न्यूज़ में दिल्ली में बड़े पदों पर नई ज्वाइनिंग, मुंबई से लगा तगड़ा झटका

ज़ी न्यूज़ में उठा पठक जारी है। निखिल दुबे और परितोष चतुर्वेदी ने एबीपी न्यूज़ से ज़ी न्यूज़ में वापसी की है। परितोष बतौर एक्जीक्यूटिव एडिटर आउटपुट की कमान संभालेंगे तो निखिल को एग्जेक्यूटव एडिटर पद के साथ सुधीर चौधरी के शो डीएनए को संभालने की बड़ी ज़िम्मेदारी सौंपी गई है। फिलहाल डीएनए प्रोड्यूस करने …

श्वेता भट्टाचार्य ने ज़ी हिंदुस्तान संग नई पारी शुरू की

अपने बेबाक़ अंदाज़ के लिए पहचानी जाने वालीं पत्रकार व सीनियर एंकर श्वेता भट्टाचार्य ने अपनी नई पारी का आग़ाज़ Zee Hindustan से किया है.

आनंद ज्वेलर की ये खबर दैनिक भास्कर ने पूरी तरह दबा दी

-आदित्य पांडेय- इंदौर : खबरों से आपको क्यों और कैसे दूर रखा जाता है इसका षड्यंत्र आप कथित बड़े अखबार से समझिए। कल एक ज्वैलर के बीस कर्मचारी उस संक्रमण से ग्रस्त मिले जिसका दुनिया भर में खौफ है और जिसकी सावधानी न रखने पर आम लोगों ने पुलिसिया डंडे भी खूब खाए। अखबार को …

इस प्रेस रिलीज के जरिए नवनीत सहगल यूपी के पत्रकारों से कहना क्या चाहते हैं?

पत्र सूचना शाखा सूचना एवं जनसम्पर्क विभाग, उ0प्र0 केन्द्र सरकार द्वारा पत्रकारों की मदद के लिए पत्रकार कल्याण योजना संचालित लखनऊ: 17 नवम्बर, 2020 उत्तर प्रदेश के अपर मुख्य सचिव, सूचना श्री नवनीत सहगल ने आज यहां बताया कि केन्द्र सरकार द्वारा पत्रकारों की मदद के लिए पत्रकार कल्याण योजना संचालित की जा रही है।

दैनिक भास्कर ने महिला रेजिडेंट एडिटर की नियुक्ति कर इतिहास रचा

-अभिषेक उपाध्याय- ये हमारे वक़्त की सबसे शानदार खबर है। हमारी प्यारी दोस्त उपमिता वाजपेयी उपमिता दैनिक भास्कर की पहली महिला रेजिडेंट एडिटर (भोपाल एडिशन) नियुक्त हुई है।

खुद करोड़ों का पैकेज लेने वाले संपादक पत्रकारिता के मिशन का बोझ दूसरों के कंधों पर डाल देते हैं!

-अश्विनी कुमार श्रीवास्तव- मीडिया की अपनी आखिरी नौकरी बिज़नेस स्टैंडर्ड अखबार में करते समय लगभग हर मीटिंग में हमारे ग्रुप एडिटर अशोक कुमार भट्टाचार्य उर्फ एकेबी कहा करते थे- हम यहां पैसे कमाने नहीं आये हैं। हम लोग पत्रकार हैं। हम पढ़े लिखे लोग हैं। पैसे ही कमाने होते तो वह तो हम सरसों का …

विधानसभा (दो) : उम्र एवं शैक्षिक अर्हता नहीं, फिर भी बन गये सहायक समीक्षा अधिकारी

-अनिल सिंह- आवेदन पत्र में गलत सूचनाएं दिये जाने के बावजूद दे दी गई नियुक्ति जांच के बाद हटाये जाने के आदेश, फिर भी कर रहे हैं नौकरी विस सचिवालय में लंबे समय से चल रहा है गलत नियुक्तियों का खेल ताकतवर लोगों के रिश्‍तेदारों को नौकरी देकर साधते हैं प्रमुख सचिव लखनऊ : बीते …

भाजपा से धर्मनिरपेक्षता की राजनीति से नहीं लड़ा जा सकता

-कंवल भारती- जिस तरह उत्तर प्रदेश में भाजपा ने मायावती को मुख्यमंत्री बनाकर अपना जनाधार बढ़ाया, उसी तरह उसने बिहार में नितीश कुमार को मुख्यमंत्री बनाकर अपनी ताकत बढ़ाई. मायावती और नितीश दोनों सामाजिक परिवर्तन और धर्मनिरपेक्ष राजनीति के चेहरे थे, पर भाजपा ने दोनों को ही हिंदुत्व का चेहरा बना दिया. सिर्फ चेहरा ही …

विकास दुबे से बातचीत में ये किस सचिन अवस्थी का नाम आ रहा है? सुनें आडियो

गैंगस्टर विकास दुबे मुठभेड़ में मारे जाने से तीन दिन पहले अपने एक परिचित से फोन पर बात करता है. इस बातचीत में सचिन अवस्थी का जिक्र आता है. ये सचिन अवस्थी है कौन?

जब मैं शशिशेखर के लॉलीपॉप में फंस गया!

–Yograj Singh– शशिशेखर ने हिन्दुस्तान को बर्बाद कर दिया, इसे फिर से खड़ा करने में 10 साल और लगेंगे भगवान के घर देर है, अंधेर नहीं है, यह कहावत चरितार्थ जरूर होती है। सन् 2000 की बात है, दैनिक जागरण से हिन्दुस्तान में छलांग लगाई। वहां पहुंचने का रास्ता भी बेढंगा ही है, अजय जी …

विकास शुक्ला रेजिडेंट एडिटर तो बनाए गए लेकिन हाथ-पांव बांध दिए गए!

राष्ट्रीय सहारा लखनऊ के चीफ रिपोर्टर विकास शुक्ला को अचानक प्रमोट कर रेजीडेंट एडिटर बना दिया गया. इस बाबत आदेश जारी हो गया. अब एक नया आदेश जारी हुआ है जिसमें विकास शुक्ला किसको किसको रिपोर्ट करेंगे, ये बताया गया है.

अरनब तो पीएम की चमचई करता है, ये संपादक तो महापौर के चरणों में बैठा है!

छत्तीसगढ़ की राजधानी रायपुर में एक बड़े अखबार का सबसे बड़ा वाला संपादक अरनब गोस्वामी को यहां-वहां घूम घूमकर गाली बकता है, लेकिन खुद क्या है। छत्तीसगढ़ में सबसे घटिया पत्रकारिता देखना है तो रायपुर का इसका अखबार पढ़ लो। अर्णब तो कम से कम प्रधानमंत्री की चमचई कर रहा है, तुम तो शहर के …

राष्ट्रीय सहारा के मीडियाकर्मियों की सूनी रही दीपावली

दिल्ली सहित लखनऊ, गोरखपुर, पटना, कानपुर, देहरादून, वाराणसी से प्रकाशित हिंदी दैनिक राष्ट्रीय सहारा की हालत बेहद खस्ता है। एक ओर जहां अन्य संस्थान दीपावली के अवसर पर अपने कर्मचारियों को भांति भांति के उपहार दे रहे हैं, घाटे में होने के बावजूद 8.33% बोनस दे रहे हैं वहीं दूसरी ओर राष्ट्रीय सहारा अपने कर्मचारियों …

प्रेस क्लब आफ इंडिया के पदाधिकारी रहे पत्रकार दिनेश तिवारी का निधन

प्रेस क्लब ऑफ इंडिया के पूर्व उपाध्यक्ष दिनेश तिवारी न हीं रहे. उनका निधन आज सुबह चार बजे हार्ट अटैक के चलते हुआ.

क्या योगी कभी मोदी की जगह ले पाएंगे?

-Jagdish Singh- ”क्या योगी कभी मोदी की जगह ले पाएंगे?” बहुतों को ऐसा लिखते हुए पढ़ता हूँ। मेरी समझ से तो नहीं। योगी काफ़ी कुछ उच्छृंखल स्वभाव के व्यक्ति हैं। कठोर निर्णय तो ले सकते हैं, पर नई सोच का संपूर्ण अभाव है। देश के बाहर की दुनियाँ की कोई ख़बर नहीं रखते। रचनात्मक दृष्टिकोण …

शराब को हाथ तक न लगाया लेकिन लीवर फेल हो गया!

–Ashwini Kumar Srivastava– मेरे बचपन का अभिन्न मित्र और लखनऊ के महानगर ब्वॉयज इंटर कॉलेज (अब Montfort) में सहपाठी रह चुके ध्रुव प्रकाश श्रीवास्तव, जिसे हम सब मित्र मंडली में डीपी या बॉबी के नाम से भी पुकारते हैं, इन दिनों हस्पताल में भर्ती है। डीपी ने अपनी जिंदगी में कभी शराब को हाथ तक …

अवैध निर्माण देखते ही उगाही के लिए सक्रिय हो जाता है पत्रकारों का ये दल, मुकदमा दर्ज

गाजियाबाद पुलिस ने जीडीए जेई प्रकरण में पार्षद और तथाकथित पत्रकारों पर मुकदमा पंजीकृत किया… गाजियाबाद विकास प्राधिकरण के जेई रमेश चंद ने सपा के पार्षद हाजी आसिफ और तथाकथित पत्रकार फुरकान मलिक, हैदर अली के खिलाफ आरोप लगाये हैं। इसके बाद विजयनगर पुलिस ने संगीन धाराओं में मुकदमा पंजीकृत कर लिया है।

विपक्ष के पास नहीं है बीजेपी के ‘हिन्दुत्व’ का तोड़!

अजय कुमार, लखनऊ गैर भाजपाई दलों के लिए उत्तर प्रदेश की सियासी डगर लगातार ‘पथरीली’ होती जा रही है। 2022 के विधान सभा चुनाव से पूर्व सम्पन्न अंतिम उप-चुनाव के नतीजों ने यह बात एक बार फिर साबित कर दी है। सात में से छहः विधान सभा सीटों पर बीजेपी उम्मीदवार का जितना काफी कुछ …

आईस्टार नामक यूट्यूब चैनल ने दर्जन भर कर्मियों की कई महीने की सेलरी हड़प ली

एक यूट्यूब चैनल है आईस्टार नाम से. इनका आफिस नोएडा सेक्टर आठ में स्थित है. यहां 13 से भी ज्यादा लोग काम किया करते थे. लेकिन सभी कर्मियों को अभी तक सैलरी नहीं दी गई है. कुछ लोगों को नवंबर-दिसंबर 2019 से सैलरी नहीं दी गई है. वही कुछ लोगों को जनवरी, फरवरी और मार्च …

दिवाली के वक्त भी बकाया सेलरी न मिलने पर ‘नेशनल वॉइस’ कर्मियों ने काम किया बंद, देखें वीडियो

नोएडा से संचालित नेशनल वॉइस नामक चैनल का हाल बहुत खराब है. यहां काम करने वाले सेलरी के लिए तरस गए हैं. तीन से चार माह तक की सेलरी नहीं मिली है. दिवाली भी काली होती देख नेशनल वायस के कर्मियों ने एकजुट होकर काम बंद कर दिया और प्रबंधन से जुड़े लोगों का घेराव …

कोल माफिया और मीडिया नेक्सस की जांच के लिए पत्रकार ने पीएमओ को पत्र भेजा

Guwahati: The issue of much discussed coal mafia-media nexus in Assamhas reached Prime Minister’s Office in New Delhi as a city basednationalist scribe has sent a memorandum to Prime Minister NarendraModi urging for a probe into the matter involving illegal taxcollections in tune of crores of rupees. The PMO has already sent itsacceptance message (PMOPG/E/2020/0978435) …