फाइनेंशियल एक्सप्रेस के ग्रुप मैनेजिंग एडिटर सुनील जैन नहीं रहे

सत्येंद्र पीएस- रोज रोज मौतों की खबरें विचलित कर देती हैं। कल रात 12 बजे के पहले ही सूचना मिली कि फाइनेंशियल एक्सप्रेस के ग्रुप मैनेजिंग एडिटर सुनील जैन नहीं रहे। वह अपने जमाने मे तपे सम्पादक गिरिलाल जैन के पुत्र थे, जो कहते थे कि देश के प्रधानमंत्री से भी ताकतवर सम्पादक होता है। …

अमर उजाला बरेली के संजीव अग्रवाल का कोरोना से निधन

अमर उजाला बरेली (उत्तरप्रदेश) में विज्ञापन विभाग में कार्यरत संजीव अग्रवाल का रविवार को निधन हो गया। वह कई दिनों से बीमार थे। कोरोना संक्रमण के चलते उनका ऑक्सीजन लेबल गिरने लगा था। वह लंबे समय हिन्दुस्तान बरेली में भी विज्ञापन के अपकंट्री हेड रहे थे।

सीएम का विरोध करने वाले किसानों पर लाठीचार्ज! रबर की गोलियाँ और आंसू गैस के गोले छोड़े

अपडेट- हिसार प्रकरण में 11 सदस्यीय कमेटी के साथ प्रशासन ने किया समझौता। सभी किसान अभी रिहा होंगे । किसानों पर पुलिस कोई भी मुकदमा नही दर्ज करेगी। किसानों ने कल के लिए आंदोलन की नई घोषणा वापस ली। किसान नेता राकेश टिकैत की पहल से यह अच्छा रास्ता निकला जो स्वागत योग्य है। राजाराम …

कोरोना क़हर की सच्चाई दिखाने वाले भारत समाचार चैनल के पत्रकार पर जानलेवा हमला, देखें वीडियो

सिद्धार्थ नगर जिले के डुमरियागंज में भारत समाचार चैनल के संवाददाता अमीन फारूकी को पीटा गया। बताया जाता है कि गुंडे भाजपा से ही जुड़े थे। मारपीट का वीडियो तेज़ी से वायरल हो रहा है।

मोदी और भागवत ने अपनी कार्यशैली से हिंदुत्व के एजेंडे को पचास साल पीछे कर दिया है!

राजीव तिवारी बाबा- वैसे दूसरे नजरिए से देखें तो मोदी-भागवत ने अपनी अहंकारी, आत्ममुग्ध और अक्षम कार्यशैली से आरएसएस भाजपा और हिंदुत्व के एजेंडे को कम से कम पचास साल पीछे कर दिया है।

न्यूज़18 की video एडिटिंग टीम के हेड सुदेश वासुदेव का निधन!

रवीश कुमार- अलविदा सुदेश, पेशेवर ज़िंदगी के एक अच्छे सहयात्री के बारे में इस ख़बर का इंतज़ार तो नहीं था। एक कंपनी से दूसरी कंपनी जाने के बीच दुनिया कितनी बदल जाती है। एक लोक से दूसरे लोक में जाने के जैसा हो जाता है। तब हम जैसे सहयात्री छूट जाते हैं। पुरानी जगह के …

द टेलीग्राफ में छपी ये तस्वीर ही सबसे बड़ी खबर है!

संजय कुमार सिंह- सारे जहां से अच्छा और गांधारी का कुरुक्षेत्र द टेलीग्राफ में छपी यह तस्वीर इलाहाबाद यानी प्रयागराज की है। इस तस्वीर में शव गिन सकते हैं? पीटीआई की इस तस्वीर का कैप्शन है, कोविड-19 के दूसरे दौर में इलाहाबाद में गंगा के किनारे रेत में दबे शव जैसा शनिवार को देखा गया।

सकारात्मक रहिये!

रामा शंकर सिंह- खाँसी बुखार दर्द शुरु हुआ है? सकारात्मक रहिये, दवाई शुरु कर दीजिये! दवाईयॉं बाज़ार से ग़ायब हैं या बहुत महँगी मिल रही हैं ?सकारात्मक रहिये , लाइन में लगे रहिये , जगह जगह ढूंडिये, विधायक सांसद जी से गुहार करिये ! घर का एक सदस्य इसी काम पर लगाये रखिये, चार पाँच …

आंशिक ही सही, कोरोना का टीका कारगर है!

Satyendra PS- कोरोना के टीके पर कई मित्रों से बात हुई। इसका असर ठीक ठाक है। जिन लोगों ने टीके लगवाए थे, वहां कैजुअलिटी रेट निश्चित रूप से कम है। चिकित्सा शास्त्र में इसे भी एक प्रमाण माना जाता है।

कोराना ने छीना एक और पत्रकार, नहीं रहे हिन्दुस्तान के मधुबनी ब्यूरो प्रभारी दीपक कुमार

मूल रूप से भागलपुर के रहने वाले थे पत्रकार दीपक कुमार बेहतर इलाज के लिए सिल्लीगुड़ी गए थे दीपक कुमार, वहीं ली अंतिम सांस बिहार में जारी कोरोना के कहर ने एक और पत्रकार हमसे छीन लिया। मधुबनी के वरिष्ठ पत्रकार दीपक कुमार का शुक्रवार को कोरोना संक्रमण से निधन हो गया। उनके निधन की …

वरिष्ठ पत्रकार आनंद वर्धन सिंह ने अपने यूट्यूब चैनल पर शुरू किया चौबीस घंटे का लाइव ‘Vaccine Talkathon’

Gyanesh Tiwari- आज दिन में 12 बजे से हम लोग 24 घण्टे का एक अखण्ड कीर्तन करने जा रहे हैं, जिसके ज़रिए हम किसी कन्दरा में सो रहे नरेन्द्र मोदी को जगाने की कोशिश करेंगे कि लफ़्फ़ाज़ी छोड़ो, निद्रा तोड़ो और टीकों का इंतज़ाम करो। नाम है- “Vaccine Talkathon”

कोरोना काल में पत्रकारों की हुई छंटनी को बयां करती है ‘द लिस्ट’

नीलकंठ पारटकर, मुंबई कोविड काल में माध्यमों खासकर अखबारों को अपने आप को बचाने कई तरह के पापड़ बेलने पड़ रहे हैं. लेकिन सबसे ज्यादा मार पत्रकारों को ही झेलनी पड़ रही है. एक तरफ जान जोखिम में डालकर कवरेज करो दूसरी ओर वर्क फ्राम होम के चक्कर में ज्यादा काम और कम दाम मिल …

मोदी नहीं तो कौन?

Sanjaya Kumar Singh- मोदी नहीं तो कौन? अभी भी कुछ लोग पूछ रहे हैं, मोदी नहीं तो कौन। यह तय करना जनता का काम नहीं है। भारतीय जनता पार्टी, आरएसएस और उसके दूसरे संगठन को तय करना है कि बहुमत का कैसे उपयोग किया जाए। मोदी को बदलने की सलाह को यह कहकर अब दबा …

म्यूकोरमाइकोसिस (ब्लैक फंगस) और होमियोपैथी

डॉ एमडी सिंह- कोरोना आज अपने भयंकर वाणों से जन-जन को त्रस्त किए हुए है। भय हर तरफ व्याप्त है चाहे कोई संक्रमित हो अथवा ना। सच मानें तो यह भय ही कोरोना का सबसे बड़ा अस्त्र है। साथ ही इसके कई सगे संबंधी भी उसका सहयोग कर रहे हैं। इस समय म्यूकोरमाइकोसिस उनमें से …

चाईबासा के पत्रकार राजेश पति कोरोना से जंग हार गए!

प्रदीप पल्लव- कोई पहले से परिचय नहीं। एक दिन एका- एक अनजान नंबर से कॉल आया। मैं पूछा कौन? उधर से जबाव मिला, आप दैनिक भास्कर के पल्लव जी हैं। बोला हां। वे बोले मैं आपकी खबर पढ़ते रहता हूं। मैं भी पहले दैनिक भास्कर में काम चाईबासा से करता था।

देखिए ‘आजतक’ वाले किस तरह गोदी जर्नलिज़्म कर रहे हैं! शेम शेम!!

दीपांकर पटेल- आजतक के रोशन जयसवाल ने एक फर्जी पड़ताल की है.दावे के आधार पर दावा कर दिया है कि यूपी से लाश बहकर बिहार पहुंच ही नहीं सकती.

कोरोना से दिवंगत अपने कर्मियों के परिजनों की मदद के लिए भास्कर ग्रुप ने लिया बड़ा फ़ैसला

लोकमत समूह के बाद अब भास्कर समूह भी अपने उन कर्मियों के परिजनों की मदद में आगे आया है जिनका कोरोना के चलते निधन हो गया। इस बाबत भास्कर की तरफ़ से एक पत्र जारी किया गया है।

पटना में दूरदर्शन के डायरेक्टर रहे पी एन सिंह भी नहीं रहे!

राय तपन भारती- पटना में दूरदर्शन के डायरेक्टर रहे पी एन सिंह भी नहीं रहे। 4 दिन पहले इकलौती संतान का भी निधन हुआ था।

खबर की औकात और पत्रकारिता : आज का ‘हिंदुस्तान’

सुरेश प्रताप सिंह- खबर की औकात और पत्रकारिता… बनारस से प्रकाशित “हिन्दुस्तान” अखबार की 15 मई की दो खबरों को देखिए. एक खबर है कि “कोरोना से लड़ेंगे भी और जीतेंगे भी : मोदी” यह पहले पेज की दूसरी लीड है. और दूसरी खबर है कि “समस्या : पीएमओ तक पहुंचा टीकाकरण से उपजा असंतोष”, …

पीएम का बयान सिंगल कालम खबर लेकिन इसे पहले पन्ने की पहली हेडलाइन बना दिया गया!

रवीश कुमार- प्रधानमंत्री धीरे धीरे पहले पन्ने की पहली हेडलाइन बनने लगे हैं। धीरे धीरे इसी तरह फिर से सब सामान्य होगा। इस खबर में जो उन्होंने कहा है उसे क़ायदे से सिंगल कॉलम में छापना चाहिए था लेकिन इस दौर में मीडिया प्रधानमंत्री का पायदान बना हुआ है।

iimc से पढ़े पत्रकार कुमार दीपक चले गए

शिखा शालिनी- तुम्हारा यही आखिरी पोस्ट था दोस्त, तुम इस बार दोस्तों के ग्रुप में सवालों का जवाब भी नहीं दे पाए….तुमने कॉलेज (IIMC) से निकलने के बाद बिहार के ग्रामीण इलाकों से रिपोर्टिंग करने का विकल्प चुना था। तुम बहुत अच्छा काम कर रहे थे, सरकार और प्रशासनिक तंत्र की खामियां उजागर कर रहे …

सलाम टेलीग्राफ, एक बार फिर!

सौमित्र रॉय- क्या बात है! लगता है कि सरकार से सवाल पूछने का माद्दा सिर्फ टेलीग्राफ़ में ही बचा रह गया है। फ़ोटो सिंडिकेट तकरीबन हर बड़े अखबार के पास होता है। नरेंद्र मोदी को यूं भी फोटू खिंचवाने का बड़ा शौक है। बात चुनने की है।

अदालत ने डीटीपी ऑपरेटरों को भी मजीठिया वेज बोर्ड का लाभ देने का आदेश दिया

धर्मेंद्र प्रताप सिंह- अखबारों के डीटीपी ऑपरेटरों के लिए खुशी की खबर… कंपनी ने दावा किया था कि मजीठिया वेज बोर्ड में नहीं आते डीटीपी ऑपरेटर… सुप्रीम कोर्ट के एडवोकेट उमेश शर्मा की मेहनत फिर रंग लाई जस्टिस मजीठिया वेज बोर्ड मामले में महाराष्ट्र से एक बड़ी खबर आ रही है। यहां महाराष्ट्र के दूसरे …

युवा पत्रकार पंखुड़ी सिंह बच न सकीं कोरोना से!

हज़ारीबाग़ : युवा पत्रकार पंखुरी सिंह नहीं रही। HMCH में थी भर्ती। कोविड टेस्ट नेगिटिव आया था लेकिन सीटी स्कैन में फेफड़ा पूरी तरह संक्रमित था। झारखण्ड के हजारीबाग में हुआ निधन। विनम्र श्रधांजलि।

अंग्रेज़ी पत्रकार Jug Suraiya का ये व्यंग्य छापने की हिम्मत न दिखा सका Times of India!

शीतल पी सिंह- Jug Suraiya व्यंग्य के एक मशहूर अंग्रेज़ी पत्रकार हैं । देश के सबसे बड़े अंग्रेज़ी अख़बार Times of India में उनका प्रसिद्ध व्यंग्य कालम छपता है। आज उनका कालम एक जमाने बाद प्रिंट एडीशन में जाने से रोक दिया गया।

पीएम मोदी के कुछ नए झूठ वचन से पर्दा उठा दिए रवीश कुमार!

रवीश कुमार- टीके की खोज करने वाले ‘हमारे वैज्ञानिक’ कौन हैं, टीके निर्यात हुआ या मदद के तौर पर गया प्रधानमंत्री मोदी अक्सर कहते हैं कि ‘हमारे वैज्ञानिकों’ ने टीका बनाया है। कभी नहीं कहते कि दो प्राइवेट कंपनियों के वैज्ञानिकों ने बनाया है जिसमें भारत सरकार ने एक नया पैसा नहीं लगाया है। ख़ुद …

दिव्य भास्कर ने खोली पोल, कोरोना से मौतों को सरकारी काग़ज़ों में दूसरे रोगों के नाम दर्ज किया जा रहा!

शीतल पी सिंह- गुजरात मॉडल गुजरात ही सबसे पहले उठ कर खड़ा हो रहा है, जिसे बेचकर देश को ठग लिया गया था! गुजरात के अखबारों ने सबसे पहले केंचुल उतार दी है और सरकार के सामने आईना कर दिया है।

श्रीनिवास से मदद माँगने वाली आजतक की पत्रकार का यूटर्न!

अशोक कुमार पांडेय- ये आजतक की पत्रकार हैं। जब देवर बीमार था तो हाथ जोड़कर श्रीनिवास से मदद माँगी। श्रीनिवास ने की तो आभार भी किया।

उन्नाव गंगा लाशें : आख़िर गोदी मीडिया को सच्चाई क़ुबूल करना पड़ा!

कृष्णन अय्यर- श्रीमती प्रियंका गांधी वाड्रा ने 2 दिन पहले जब बोला था कि उन्नाव मौत का शहर बन चुका है और उन्नाव में नदी किनारे सैंकड़ो की संख्या में लाशें दबाई गई है, तब अम्बानी मीडिया ने उनका मजाक उड़ाया था..

लखनऊ के एक वरिष्ठ पत्रकार की घटिया हरकत!

सेवा में,माननीय मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी,5-कालिदास मार्ग, लखनऊ, उत्तर प्रदेश। महोदय,आपको अवगत कराना चाहता हूं कि मैं राजेश कुमार 8 अप्रैल 2021 को सिविल हॉस्पिटल में जांच कराया और 9 अप्रैल 2021 शाम तकरीबन 8:00 बजे मुझे पता चला कि मेरी रिपोर्ट कोरोना पॉजिटिव है। मैंने तत्काल अपने ऑफिस में सूचना दी उसके बाद मैंने …

अरुण पुरी जी, आपने अपने पत्रकारों की आज़ादी छीनकर ठीक नहीं किया!

समरेंद्र सिंह- आजतक और इंडिया टुडे ग्रुप के मालिक अरुण पुरी के नाम खुला पत्र आदरणीय अरुण पुरी जी, आप एक बड़ा मीडिया संस्थान चला रहे हैं। आपके पास तथाकथित तौर पर देश का नंबर वन हिंदी चैनल है। एक दो छुटभैये किस्म के दूसरे चैनल हैं। इंडिया टुडे नाम से हिंदी और अंग्रेजी की …

राष्ट्रीय सहारा के वरिष्ठ पत्रकार मोहम्मद अली को भी छीन ले गया कोरोना

नवेद शिकोह- लखनऊ में कोरोना का आकड़ा कम हो रहा है लेकिन पत्रकारों की मौतें नहीं थम रही। बृहस्पतिवार को सुबह युवा पत्रकार अखिलेश कृष्ण मोहन की मौत की खबर आई तो शाम राष्ट्रीय सहारा के वरिष्ठ सहाफी मोहम्मद अली भी चल बसे। चांद रात जब ईद का चांद दिखने की खबर आई तो उसी …

सच्चाई बताने वाली खबरों से नाराज़ योगी के अफ़सरों ने पत्रकारों को ‘सीएम मीडिया ग्रुप’ से रिमूव किया!

भास्कर ने जब यूपी सरकार के दावों की कड़वी सच्चाई बताई तो नाराज़ हो गए अफ़सर। सबक सिखाने के लिए रिपोर्टर को सीएम मीडिया whatsapp ग्रुप से रिमूव कर दिया। यूपी में ये आम चलन हो गया है कि जो समस्या बताए वही दंड पाए, समस्या को ख़त्म करने की कोई कोशिश नहीं की जाती।

‘इंडिया टुडे’ पत्रिका के बाद अब ‘आउटलुक’ ने अक्षम मोदी सरकार को दिखाया आइना!

रामशंकर सिंह- सबसे पहले दि टेलिग्राफ, हिंदू , उसके बाद डेक्कन हेराल्ड और न्यू इंडियन एक्सप्रेस फिर गुजरात समाचार , दैनिक भास्कर, इंडिया टुडे और अब आउटलुक का परिवर्तित रूप सामने आया है। धीरे धीरे हिम्मत और ग़ैरत जाग भी सकती है जैसे चेतन भगत की जगी या फिर ….. देखते हैं कि मीडिया में …

हिंदुओं का क़ब्रिस्तान!

अरविंद कुमार सिंह- किसी हिंदू ने कभी सपने में नहीं सोचा होगा कि बेबसी का वो दौर भी आयेगा, जब सम्मानजनक अंतिम क्रिया की जगह उनको शव जमीन में गाड़ना पड़ेगा। वो भी उस राज में जिसके नेता सुबह से शाम तक हिंदू जाप ही करते हों।

‘शार्ली एब्दो’ ने हिंदू धर्म पर साधा निशाना!

मीनू जैन- ‘शार्ली एब्दो’ किसी को नहीं बख़्शता! “भारत में 33 करोड़ देवी- देवता हैं मगर उनमें से एक भी ऑक्सीज़न का उत्पादन करने में सक्षम नहीं है” (यह फ्रेंच का हिंदी भावानुवाद है)

लोकमत समाचार पत्र समूह कोरोना से मृत अपने पत्रकारों के परिवारों को देगा 10 लाख तक की आर्थिक मदद!

मुंबई: कोरोना संकट ने कई लोगों की जान ले ली है। कोरोना के कारण लोकमत परिवार के कुछ सदस्यों की भी मृत्यु हो गई है।

साहेब के लिए ‘अलजज़ीरा’ न मिला तो ‘जलज़ीरा’ पकड़ लाए भक्त!

अश्विनी कुमार श्रीवास्तव- Jalzeera, The Daily Guardian और The Australia Today के बाद अंध भक्तों को उम्मीद है कि जल्द ही ये बड़े इंटरनेशनल मीडिया संस्थान, जिनके नाम नीचे लिखे हैं, वे भी मोदी की तारीफ में कुछ न कुछ छापेंगे… आप भी नजर बनाए रखिए…जैसे ही कुछ मिले, तुरंत शेयर कीजिए.

आजतक में कार्यरत रहे वरिष्ठ पत्रकार सत्येंद्र श्रीवास्तव भी चले गए

अमिताभ श्रीवास्तव- एक और काबिल पत्रकार और बेहतरीन इनसान खो दिया। टीवी टुडे के सत्येंद्र प्रसाद श्रीवास्तव के गुज़र जाने की ख़बर मिली है। क्या कहें। सत्येंद्र बहुत मेहनती, काबिल और समर्पित संपादकीय सहयोगी थे। सुलझे हुए पत्रकार, आउटपुट टीम के अगुआ दस्ते का चेहरा। मेरे बहुत भरोसेमंद साथी रहे। बहुत संतुलित , शांत, शालीन …

लखनऊ से स्तब्धकारी सूचना- सामाजिक न्याय के प्रति समर्पित पत्रकार अखिलेश कृष्ण मोहन नहीं रहे!

वीरेंद्र यादव- लखनऊ के युवा उत्साही पत्रकार अखिलेश कृष्ण मोहन Akhilesh Krishna Mohan के न रहने की सूचना अत्यंत व्यथित करने वाली है. कोरोना ने एक युवा जीवन को असमय छीन लिया. अखिलेश ‘फर्क इन्डिया’ पत्रिका और पोर्टल का संपादन संचालन करते थे. सामाजिक न्याय के प्रति समर्पित इस स्वाभिमानी -आत्मनिर्भर युवा के परिवार के …

इस प्रचंड कोरोना काल में मोदी सरकार कर रही ये तीन भयानक ग़लतियाँ!

अश्विनी कुमार श्रीवास्तव- कोरोना से संघर्ष में अभी भी मोदी सरकार तीन ऐसी बड़ी गलतियां कर रही है, जिससे यह लड़ाई न सिर्फ और लंबी खिंचने के आसार हैं बल्कि तबाही भी बढ़ने की पूरी आशंका है. ईश्वर न करे लेकिन भारत में यदि वाकई तीसरी लहर आई तो सरकार की यह तीनों गलतियां देश …

अमर उजाला वाराणसी के क्राइम रिपोर्टर पुष्पेन्द्र अब दैनिक भास्कर के हुए

दैनिक समाचार पत्र अमर उजाला के वाराणसी संस्करण में बीते पांच साल से क्राइम बीट के इंचार्ज रहे सब एडिटर पुष्पेन्द्र कुमार त्रिपाठी ने दैनिक भास्कर के डिजिटल संस्करण में वाराणसी में बतौर सीनियर रिपोर्टर नई पारी शुरू की है।

वरिष्ठ पत्रकार शिशिर द्विवेदी का लखनऊ में निधन

राजेश यादव- अत्यंत दुःखद और पीड़ादायक समाचार से मर्माहत हूं। दैनिक भास्कर, अमर उजाला, दैनिक जागरण, जनसत्ता, वीर अर्जुन सहित कई अखबारों में कार्यरत रहे पत्रकारिता में मेरे गुरु श्री शिशिर द्विवेदी सर का लखनऊ में निधन हो गया है।

इस बड़े नौकरशाह ने रिटायर होने के बाद मोदी और उनकी सरकार के बारे में ये क्या लिख दिया!

संजय कुमार सिंह- बर्बादी की दास्तान क्रमवार 25 चरण… पूर्व संस्कृति सचिव और प्रसार भारती के पूर्व सीईओ जवाहर सिरकर रिटायर नौकरशाह हैं। अपनी एक पोस्ट में उन्होंने लिखा है, राष्ट्रीय सरकारी प्रसारणकर्ता के प्रमुख के रूप में नरेन्द्र मोदी सरकार के काम-काज को देखने समझने का मुझे अनूठा मौका मिला था। इस समय हम …

द गार्जियन की फर्जी वेबसाइट और प्रधानमंत्री का मिथ्या महिमागान

विजय शंकर सिंह- झूठ बोलना एक आदत है। फासिज़्म की प्राणवायु ऑक्सीजन ही झूठ और फरेब पर आधारित है। भारत मे भी झूठ के आधार पर व्हाट्सएप्प और सोशल मीडिया के माध्यम से बहुत ही झूठी खबरे प्लांट की गई। नेहरू की वंशावली, सावरकर के भगत सिंह से सम्बंध, सावरकर की नेताजी सुभाष बाबू को …

दुनिया में तारीफ करवाने की ‘डंकापति’ की तमन्ना अब क्रूर कुंठा में तब्दील हो गई है!

कृष्ण कांत- गंगा-यमुना की धाराओं में लाशें तैर रही हैं, मगर ये चाहते हैं कि WHO और द टेलीग्राफ इनके नाम का कसीदा पढ़ें! तारीफ मिलनी चाहिए लेकिन किस बात के लिए? चुनावी रैली करके कोरोना फैलाने के लिए? कुंभ आयोजित करके आम लोगों को मौत के मुंह में झोंक देने के लिए?

महाराष्ट्र में मजीठिया क्रांतिकारियों की लॉकडाउन में हुई अदालत से शानदार जीत

निर्मलकांत शुक्ला- निर्णय के प्रमुख बिंदु- अदालत ने कंपनी श्री अंबिका प्रिंटर्स को ग्रेड-7 का नहीं बल्कि ग्रेड– 5 का माना इन कर्मचारियों में प्रत्येक का पांचवें ग्रेड से लाखों रुपये एरियर का भुगतान कंपनी को करना होगा मासिक वेतन ग्रेड-5 के हिसाब से अनुमानित 50 से 60 हजार रुपये प्रतिमाह के बीच देना होगा …

वरिष्ठ पत्रकार अरुण वर्धन जी नहीं रहे!

राहुल देव- वरिष्ठ पत्रकार अरुण वर्धन जी आज सुबह नहीं रहे। वे लंबे समय तक नव भारत टाइम्स में रहे। हम सबकी सुपरिचित कुमुद शर्मा जी के पति थे। अमरकान्त जी के बेटे थे। एक महीने से अस्पताल में थे। कई दिन से वेंटिलेटर पर थे। आज सुबह उन्हें दिल का प्राणघातक दौरा पड़ा। हमारे …

इस महाभक्त ने कर दिया एलान- छोडेंगे न हम तेरा साथ ए मोदी मरते दम तक!

शंभू नाथ शुक्ला- महाभारत में एक चरित्र है युधिष्ठिर का, जिन्हें लोग भले धर्मराज कहें लेकिन वह चरित्र मुझे सदैव कायर, भाइयों का हक़ मारने वाला और गुरु-हत्या हेतु झूठ बोलने वाला कापुरुष ही लगा। राही मासूम रज़ा ने बीआर चोपड़ा के लिए ‘महाभारत’ की जो पटकथा लिखी थी, उसमें युधिष्ठिर का अभिनय करने वाले …

वरिष्ठ पत्रकार शिव अनुराग पटैरिया को कोरोना अपना ग्रास बना गया!

देवप्रिय अवस्थी- बहुत दुख भरी खबर। जनसत्ता, मुंबई और चौथा संसार, इंदौर में हमारे साथी रहे शिव अनुराग पटैरिया को भी कोरोना अपना ग्रास बना गया। शिव जी को लेकर मिली जानकारी से स्तब्ध हूं। शिव का निधन इंदौर के बांबे हास्पिटल में आज सुबह हुआ।

न्यूज़ चैनल का मालिक ही करने लगा आक्सीजन सिलेंडर और मेडिकल उपकरणों की कालाबाज़ारी! देखें तस्वीरें

कानपुर नगर पुलिस ने एक न्यूज़ चैनल मालिक को अरेस्ट किया है। इन पर कालाबाज़ारी करने का आरोप है। विस्तार से पूरी कहानी पुलिस की प्रेस रिलीज़ में है जिसे नीचे दिया गया है। सफेद शर्ट में दाएं अश्वनी जैन!

Bjp आईटी सेल ने करवा दी मोदीजी की अंतरराष्ट्रीय बेइज्जती!

कुमार अरविंद सिंह- Bjp it सेल ने तो अपने नेता अपनी पार्टी की अंतरराष्ट्रीय बेइज्जती करवा दी! ये BJP में किसका आईडिया था कि एक The Guardian के नाम की नकल करके नकली वेबसाइट The Daily Guardian बनवा कर उस में मोदी जी की तारीफ करवा देना? उसके बाद सारे सेंट्रल मिनिस्टर ने उसको quote …

जीते जी इलाज दे नहीं पाया, मरने के बाद अब फोटो बेच रहा है, देखें

राजीव तिवारी बाबा- जीते जी इलाज दे नहीं पाया… अब मरने के बाद फोटो बेच रहा है…. शक्ल तो देखो… जाने किस बात के लिए हंसी छूट रही… तस्वीर गौर से देखिए, कितनी धूर्तता टपक रही है…

रवीश ने डॉ हर्षवर्धन से पूछा- इस्तीफ़ा कब दे रहे हैं?

रवीश कुमार- डॉ हर्षवर्धनस्वास्थ्य मंत्री, भारत सरकार आशा है आप सकुशल होंगे। बस इतना पूछना चाह रहा हूँ कि आप इस्तीफ़ा कब दे रहे हैं? क्या वाक़ई आपको अपनी सरकार के काम पर इतना भरोसा है? इतने लोगों की वेंटिलेटर, आक्सीजन, दवा, इंजेक्शन और इलाज न मिलने के कारण जो हत्या हुई है क्या उसके …

दैनिक भास्कर के फ़ीचर और फ़िल्म एडिटर चंडी कोरोना संक्रमण से उबर न सके

Tejendra sharma- मित्रो… चंडीदत्त शुक्ल के जाने से दिल के भीतर कुछ टूट सा गया है। चंडीदत्त शुक्ल जैसे मित्र और छोटे भाई का हमें छोड़ जाना भीतर तक एक ख़ालीपन छोड़ गया है। विनम्र, सम्मान देने वाला, अपने काम के प्रति सजग… ऐसे लोग जब चले जाते हैं तो सबकी आँखों का एक कोना …

TV9 भारतवर्ष की अनूठी पहल : कोरोना मरीज़ों को विशेषज्ञ डॉक्टरों से कर दे रहा कनेक्ट!

शंभूनाथ शुक्ला- कोरोना का ज़हर घोलती मीडिया! यह सच है कि मीडिया की टीआरपी में वृद्धि भय के प्रसार से ही होती है। इनमें ब्रेकिंग न्यूज़ होती है- “कोरोना आँकड़ों में शानदार इज़ाफ़ा आज का आँकड़ा साढ़े चार लाख!” और हम उस चैनल की दाद देते हुए उससे चिपक जाते हैं। लेकिन इस तरह का …

ऑक्सीजन कंसंट्रेटर और साँसों के सौदागर : सुनिए योगी के शहर से आया यह आडियो

सत्येन्द्र कुमार– महामारी के इस वक्त में सरकार से लेकर सुप्रीम कोर्ट तक ऑक्सीजन की आपूर्ति मुद्दा बना हुआ है। एक एक सांस बचाने की जद्दोजहद चल रही है। वहीं दूसरी तरफ गोरखपुर जनपद के बेतियाहाता में मेडरेव फार्मेसी संचालित करने वाला संदीप त्रिपाठी चंद लोगो को अपने साथ लेकर खुलेआम ऑक्सीजन कंसंट्रेटर की कालाबाजारी …

योगी आदित्यनाथ और नपुंसक सिस्टम ने कर दी मेरी मां की हत्या!

हिमांशु यादव- वैसे तो पूरे उत्तर प्रदेश का हाल बुरा है लेकिन मैनपुरी जिले की स्थितियों की अगर बात की जाए तो भगवा सरकार में इंसानियत के साथ जितना बुरा हो सकता है उतना बुरा मैनपुरी जिले के अधिकारी कर रहे हैं…ट्वीटर पर सब अच्छा-अच्छा का राग अलापा जा रहा है लेकिन हकीकत में न …

नीरज अम्बावता ने हरियाणा एक्सप्रेस न्यूज़ चैनल के साथ नई पारी की शुरुआत की

गुरुग्राम से न्यूज़ 18 के युवा पत्रकार रहे नीरज अम्बावता ने हरियाणा एक्सप्रेस न्यूज़ चैनल के साथ नई पारी की शुरुआत की है. अम्बावता ने अपने करियर की शुरुआत 2013 में की थी. नीरज अंबावता ने 2010 से 13 के बीच दिल्ली यूनिवर्सिटी के RLA कॉलेज से पत्रकारिता की डिग्री हासिल की. 2013 में हरियाणा …

ABP Majha leaves no stone unturned in ensuring safety at the workplace

Mumbai : As Covid-19 cases see a steep rise across the country, ABP Majha, has been laser-focused on strengthening occupational safety and health, adjusting work arrangements, and providing access to health care and paid leaves to all its employees, to tackle this new wave effectively. The channel has put certain standard operating procedures (SOPs) in …

नवीन कुमार को ये जो जीवनदान मिला है, उसने उनके चाहने वालों के प्रति उनकी जिम्मेदारी को कई गुना बढ़ा दिया है!

Abhishek Srivastava- डाक्टर सोनू कुमार भारद्वाज ने साथी Navin Kumar के उपचार की कहानी तफ़सील से लिखी है, इसे दो कारणों से पढ़ा जाना चाहिए।

मोदी-शाह को युगांडा से भी मदद लेनी पड़ी!

प्रकाश के रे- साल 2016 के चुनाव में मोदी ने केरल की तुलना सोमालिया से की थी. उनके इस बेतुके बयान को सही ठहराने के लिए अमित शाह ने आउटलुक पत्रिका के कवर पर छपे फोटो को दिखाया था.

रामपुर के पत्रकार शफ़ी अहमद का कोरोना से निधन

रामपुर में हिंदुस्तान अख़बार से जुड़े पत्रकार शफ़ी अहमद का कोरोना के चलते निधन हो गया है। उनकी जाँच रिपोर्ट नेगेटिव आई थी लेकिन लक्षण सारे कोरोना वाले थे। पढ़ें उनके बारे में छपी खबर-

राजीव प्रताप रूडी की जगह पप्पू यादव को गिरफ़्तार कर लिया गया!

प्रशांत सिंह- गिरफ्तारी होनी थी बीजेपी सांसद राजीव प्रताप रूडी की, जिसने दर्जनों एम्बुलेंस छिपाकर रखा था। लेकिन गिरफ्तारी हो रही पप्पू यादव की जिसने उनकी पोल खोली। यही है ‘सिस्टम’!

रामराज या यमराज : जनता मर रही है, सरकारें अक्षम हैं, न्यायपालिका वाले मीलॉर्ड लोग छुट्टी मनाने चले गए हैं!

श्रवण गर्ग- स्वास्थ्य ‘आपातकाल’ के बीच न्यायपालिका का अवकाश कितना न्यायोचित ? जिस समय देश के करोड़ों-करोड़ नागरिकों के लिए एक-एक पल और एक-एक साँस भारी पड़ रही है, सरकारें महीने-डेढ़ महीने थोड़ी राहत की नींद ले सकतीं हैं। यह भी मान सकते हैं कि जनता चाहे कृत्रिम साँसों के लिए संघर्ष में लगी हो …

ग़ाज़ीपुर में भी गंगा में बहती मिलीं सौ से ज़्यादा लाशें!

कृष्ण कांत- बिहार के बक्सर जिले में सोमवार को गंगा में 40 लाशें बहती देखी गईं. आज गाजीपुर में यूपी-बिहार बॉर्डर के गहमर गांव के पास गंगा में दर्जनों लाशें मिली हैं. टाइम्स नाउ चैनल का कहना है कि ये संख्या सौ से ज़्यादा है। गंगा में नाव चलाने वाले गहमर के बुजुर्ग नाविक शिवदास …

मुसलमानों की राजनैतिक चेतना चकित करती है!

सुशोभित- इधर फिर से यरुशलम में इजराइल और फलस्तीन के बीच टकराव जारी है। वो एक दूसरी कहानी है। लेकिन इस्लामिक मनोविज्ञान पर पैनी नज़र रखने के कारण मैं देख रहा हूं कि लगभग सभी प्रमुख मुस्लिम बुद्धिजीवी, कलाकार, खिलाड़ी इसमें फलस्तीन के पक्ष में आवाज़ उठाए हैं और हैशटैग वगैरा के ज़रिए अंतराष्ट्रीय समुदाय …

जबरन रिटायर किए जाने को अमिताभ ठाकुर ने कैट में चुनौती दी

यूपी के पूर्व आईपीएस अमिताभ ठाकुर ने अपने अनिवार्य सेवानिवृति के आदेश को केंद्रीय प्रशासनिक अधिकरण (कैट) की लखनऊ बेंच में चुनौती दी हैं. उन्हें गृह मंत्रालय, भारत सरकार के आदेश के क्रम में उत्तर प्रदेश शासन द्वारा 23 मार्च 2021 को अनिवार्य सेवानिवृति दी थी.

बक्सर में दर्जनों लाशें गंगा में तैरती मिलीं!

संजय झा- बिहार के बक्सर में पचास से अधिक लाशें गंगा में बहा दी गईं। यह लाशें एक किलोमीटर के दायरे में बिखरी हुई हैं। कहीं पर यह आंकड़ा सौ से अधिक भी बताया जा रहा है। जबकि अधिकारियों के मुताबिक यह मात्र दर्जन भर लाशों का मामला है।

महामानव के राज में ही संभव है कि लोग मरते रहें और सिस्टम के लोग चूतड़ दाब कर बैठे रहें!

समरेंद्र सिंह- कुछ दिन पहले खबर आयी कि नीदरलैंड से ऑक्सीजन कंसंट्रेटर मुंबई 24 घंटे में पहुंच गए। लेकिन मुंबई से इंदौर पहुंचने में उन्हें तीन दिन लगे और ड्यूटी के साथ रिश्वत भी देनी पड़ी। हमारे हुजूर ने पिछले छह साल में 18-18 घंटे की मेहनत के बाद जो Single Window Clearance और Minimum …

जब नीरव मोदी भारत आने से बचने की कोशिश करता है तो वह भारतीय मीडिया के लिए खबर नहीं होती!

संजय कुमार सिंह- नीरव मोदी (और दूसरे सरकारी मित्रों) के भागने के बाद से दसियों बार यह खबर छपी है कि फलाने का भारत आना आसान हुआ। अब आया, तब आया। अक्सर ऐसी खबरें, जिसमें भारत सरकार की भूमिका न के बराबर होती है, पहले पन्ने पर छपती है।

अरुण पांडेय की स्मृति में राष्ट्रीय सहारा ने पूरा एक पन्ना समर्पित किया!

शेषमणि शुक्ला- पत्रकार स्वर्गीय अरुण पांडेय जी को राष्ट्रीय सहारा ने जिस तरह याद किया, उदाहरण है हर मीडिया हाउस के लिए। दिलीप चौबे- अरुण पांडेय को हम क्यों याद करें..? हमारे लिए या हम जैसे बहुत से साथियों के लिए अरुण पांडेय लगभग चार दशक पुराने अजीज थे, एक ऐसे अजीज जिसकी आंखों में …

‘हंस’ वाले संजय सहाय की बीमारी की दास्तान को पाँच सितारा बताकर ‘समयांतर’ ने पूरा का पूरा छाप दिया!

अभिषेक श्रीवास्तव- हमारी प्रिय पत्रिका ‘समयांतर’ ने अपने मई अंक में हंस पत्रिका के संजय सहाय कृत ताज़ा संपादकीय को अविकल छाप दिया है, बस उप-शीर्षक बदल कर और एक लाइन का इंट्रो दे कर: “बीमारी का निजी आख्यान” और “…पांच सितारा दास्तान”!

श्मशान में तब्दील होने लगे गाँव! पढ़ें ग्राम प्रधान का ये पत्र

यशवंत सिंह- ये मेरे गाँव के बग़ल का पड़ोसी गाँव है। पढ़ लीजिए। महामारी ने गाँवों को श्मशान में तब्दील करना शुरू कर दिया है। गाँव वालों के लिए न अस्पताल है न सलाह है न डाक्टर है और न कोई शासन प्रशासन है। ये अपनी नियति पर छोड़ दिए गए हैं। मरें तो मरें। …

गुजरात के इस बड़े अख़बार ने मोदी की असलियत बयान कर दी!

रवीश कुमार- गुजरात का प्रिंट और इलेक्ट्रॉनिक मीडिया साहस के साथ जनता के पक्ष में खड़ा है। गुजरात समाचार ने बैनर हेडलाइन में लिखा है कि जब जनता मर रही थी तब लोकसेवक तानाशाह बन रहे थे। प्रधानमंत्री 22,000 करोड़ के सेंट्रल विस्ता प्रोजेक्ट में व्यस्त हैं। आप जानते हैं कि खुद को लोकसेवक कौन …

‘हिंदुस्तान’ वाले कितनी बार कम्पनी का नाम बदलेंगे?

एक बार फिर हिंदुस्तान की कंपनी बदलने का क्रम जारी हो रहा। हिंदुस्तान अखबार के पत्रकार पहले HT मीडिया के कर्मचारी थे। एक साल बाद ही ये कंपनी HMVL हो गई। मजीठिया न देना पड़े तो फिर कंपनी बदली और HTDS हो गई।

उर्दू दैनिक अवधनामा के मालिक और पत्रकार वकार रिज़वी का इंतक़ाल

अफसोसनाक खबर। उर्दू दैनिक अवधनामा के मालिक और पत्रकार वकार रिज़वी का अभी अभी निधन हो गया। कोरोना से संक्रमित थे। लखनऊ के एरा हॉस्पिटल में भर्ती थे। पढ़िए वरिष्ठ पत्रकार नवेद शिकोह का लिखा-

‘फ़ेम इंडिया’ वाले संथालिया भी नहीं रहे

राणा यशवंत- आज की सुबह मुझ पर क़हर बनकर टूटी।नींद ही बहुत बुरी खबर से टूटी। बहुत टूटा हुआ महसूस कर रहा हूँ। आपको बचाने की लड़ाई निजी तौर पर लड़ी और हार गया। जबकि मेरे लिए कोई भी लड़ाई आपने नहीं हारी सोन्थलिया जी! मेरी परेशानियों और ज़रूरतों के साथी रहे आप। मगर आपकी …

मेरठ के सीनियर रिपोर्टर अरविंद शुक्ला का कोरोना से निधन

दुखद खबर आ रही है मेरठ से। हिंदुस्तान अख़बार के सीनियर रिपोर्टर अरविंद शुक्ला का कोरोना से निधन हो गया है। वह मेरठ में ही सुभारती हॉस्पिटल में एडमिट थे।

शालू और मनु ने भास्कर डॉट कॉम ज्वाइन किया

मेरठ अमर उजाला में लम्बे समय से कार्यरत वरिष्ठ संवाददाता शालू अग्रवाल ने अमर उजाला को त्यागपत्र का अग्रिम नोटिस दे दिया है। उनके बारे में सूचना है कि उन्होंने मेरठ के लिए भास्कर डॉट कॉम ज्वाइन किया है।

इंडिया टुडे ग्रुप में कई बदलाव, राजीव का इस्तीफा, कमलेश को प्रमोशन, राहुल कंवल को अतिरिक्त जिम्मेदारी

इंडिया टुडे ग्रुप का एक इंटरनेल मेल हाथ लगा है. इस मेल को अरुण पुरी ने जारी किया है. इसमें कई बदलावों की जानकारी दी गई है. किसी ने इस्तीफा दिया है तो किसी को प्रमोट किया गया है. राहुल कंवल को बिजनेस टुडे मैग्जीन, डिजिटल और यूट्यूब चैनल ‘बिजनेस तक’ की अतिरिक्त जिम्मेदारी दे …

मोबाइल कंपनी लावा ने सीएम योगी की नाक के नीचे करोड़ों रुपये के स्मार्टफोन घोटाले का आरोप लगाया!

उत्तर प्रदेश में इस भयानक कोरोना काल में सीएम योगी की नाक के ठीक नीचे अफसरों-नेताओं के गैंग ने एक बड़ा कांड कर दिया. आंगनबाड़ी कार्यक्रम से जुड़े लोगों को स्मार्ट फोन दिए जाने के अभियान के तहत एक लाख तेइस हजार स्मार्टफोन बांटने हेतु टेंडर निकाला गया. सौ करोड़ रुपये के इस टेंडर में …

वैक्सीन लगने के बाद से बीमार चल रहे वरिष्ठ पत्रकार का निधन

दैनिक जागरण के स्थानीय संपादक रहे वरिष्ठ पत्रकार संतशरण अवस्थी का लखनऊ में निधन लखनऊ से दुःखद सूचनाओं का तांता लगा हुआ है. दैनिक जागरण के रेजिडेंट एडिटर रहे वरिष्ठ पत्रकार संतशरण अवस्थी जी भी नहीं रहे. उनका लखनऊ में इलाज के दौरान निधन हो गया.

वरिष्ठ पत्रकार अच्युतानंद मिश्र के इकलौते बेटे का कोरोना से निधन

लखनऊ से दुखद खबर आ रही है। वरिष्ठ पत्रकार अच्युतानंद मिश्र के इकलौते बेटे का कोरोना के चलते निधन हो गया है। राघवेंद्र मिश्र का समुचित इलाज चल रहा था लेकिन उन्हें बचाया नहीं जा सका।

क्या ‘आजतक’ संवाददाता की माताजी का ऑक्सीजन मास्क अस्पताल वालों ने जबरन हटा दिया?

आशीष श्रीवास्तव- मेरी माता जी KGMC के ICU में एडमिट रहीं। पिछले 6 दिनों से मैं मोनिटर कर रहा था। मुझे तो चौकाने वाले बात वहाँ के 4th क्लास एम्प्लॉई ने बताई यहां तक मुझे विश्वास नही हुआ शायद क्योंकि मैं अपनी माता को लेकर काफी ज्यादा सोच रहा था।

थाईलैंड वाली कॉलगर्ल, सात लाख रुपए और संजय सेठ का बेटा!

यूपी के समाजवादी पार्टी के नेता आईपी सिंह ने ट्वीट कर भेद खोल दिया है। विदेशी कॉल गर्ल मंगाने वाला अय्याश और कोई नहीं बल्कि लखनऊ के धन पशु संजय सेठ का बेटा है।

रूडी के एम्बुलेंस की तरह bjp नेता मनोज तिवारी ने भी कर रखा है ई-रिक्शा घोटाला!

गिरीश मालवीय- द अनटोल्ड स्टोरी ऑफ राजीव प्रसाद रूड़ी एम्बुलेंस स्कैम : कल से सोशल मीडिया पर धमाल मचा हुआ है कि बीजेपी के पूर्व केंद्रीय मंत्री व राष्ट्रीय प्रवक्ता राजीव प्रताप रूडी के अमनौर स्थित कार्यालय परिसर में 40 एंबुलेंस खड़ी है ओर जनता महामारी के इस दौर में मरीज़ो को अस्पताल पुहचाने के …

यूपी में पुलिस अफसर ने पत्रकार का मोबाइल छीन वीडियो कराए डिलीट, देखें वीडियो

यूपी में पुलिस का अदना सा सिपाही हो या बड़ा अफसर, ज्यादातर के लिए नियम कानून का कोई मतलब नहीं है. ये वर्दी के नशे में पगलाए रहते हैं. कल एक रिटायर फौजी को पीटने और थाने ले जाकर गुप्तांग में लाठी डालने की घटना पुलिस वालों ने की, आज की खबर है कि यूपी …

शेषजी, मुझे आपका इंतजार है… आइए न प्लीज : प्रोफेसर जेएस राजपूत

Prof. JS Rajput- मैं आज भी शेष जी की ही प्रतीक्षा कर रहा हूँ. उनका अनेक बार सुना वह वाक्य फिर सुनना चाहता हूँ: “डा.साहब, क्या आप फ्री हैं, मैं आ जाऊं, कुछ सत्संग होगा, अच्छा लगेगा!”. मैं भी कहना चाहता हूँ: मैं घर पर हूँ आपकी प्रतीक्षा है, आ जाइए प्लीज, मुरमुरे भी तैयार …

अंतरराष्ट्रीय मेडिकल जर्नल द लैनसेट ने अपने संपादकीय में लिखा- प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की कार्रवाइयां अक्षम्य हैं!

संजय कुमार सिंह- मोदी निर्मित आपदा…. अंतरराष्ट्रीय मेडिकल जर्नल द लैनसेट ने अपने संपादकीय में लिखा है, प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की कार्रवाइयां ‘अक्षम्य’ हैं, सरकार को अपनी गलतियों की जिम्मेदारी स्वीकार करनी चाहिए।

अक्षम, पक्षपाती और लापरवाह मोदी सरकार से सुप्रीम कोर्ट ने काम छीना!

शीतल पी सिंह- मोदी सरकार का इक़बाल ख़त्म… आक्सीजन पर सुप्रीम कोर्ट ने आज एक फ़ैसला लिया, दिया नहीं! फ़ैसला यह है कि मोदीजी की केंद्रीय सरकार जिसने आक्सीजन के देशव्यापी वितरण के सारे हक़ अपने आप अपने आपके लिए कर लिये थे , वह अपने काम को संतोषजनक ढंग से नहीं कर सकी, इसलिए …

फ़ौजी उत्पीड़न प्रकरण में पीलीभीत के एसपी ने पूरनपुर कोतवाल को भी हटाया!

निर्मलकांत शुक्ला- आपदा के समय में मानवता के कार्य में बढ़-चढ़कर हिस्सा लेकर सेवा करने में जुटे सिख समुदाय के एक सेवानिवृत्त सैनिक को बहनोई की अंत्येष्टि में जाने से रोक कर पीलीभीत जनपद के कोतवाली पूरनपुर क्षेत्र में सरेआम पीटने और थाने ले जाकर अमानवीय यातनाएं दिए जाने के गंभीर प्रकरण की खबर “भड़ास4मीडिया” …

विदेशी कॉलगर्ल की लखनऊ के अस्पताल में कोरोना से मौत

व्यापारी के बेटे ने 7 लाख खर्च कर थाइलैंड से बुलाया कालगर्ल, कालगर्ल निकली कोरोना पॉजिटिव, लोहिया अस्पताल में इलाज के दौरान मौत

अंत्येष्टि में जा रहे फौजी को यूपी पुलिस ने सरेआम पीटा, थाने में दीं अमानवीय यातनाएं, गुप्तांग में लाठी घुसेड़ा!

निर्मलकांत शुक्ला- दरोगा सस्पेंड, मुकदमा दर्ज…. आपदा के बीच उत्तर प्रदेश में पूरनपुर पुलिस का अमानवीय व बर्बर चेहरा सामने आया है। लॉक डाउन के दौरान उत्तर प्रदेश के पीलीभीत में पूरनपुर कोतवाली पुलिस ने बहनोई की अंत्येष्टि में शामिल होने लखीमपुर खीरी जा रहे रिटायर्ड फौजी की ना सिर्फ बर्बरता पूर्वक पिटाई की बल्कि …

दैनिक भास्कर जयपुर ने सात पन्नों पर शोक संदेश छापा!

दिलीप मंडल- लोग ऐसे मर रहे हैं जैसे पेड़ों से पत्ते गिरते हैं. जयपुर के दैनिक भास्कर में एक दिन में 7 पन्नों पर शोक संदेश छपे हैं. ये कौन सा क्लास और कास्ट है जो मरने पर विज्ञापन देता है? ये मोदी का वोटर क्लास है. मोदी ने अगर एक साल स्वास्थ्य सेवाओं पर …

भास्कर ने जितेंद्र ज्योति को प्रिंट में भेजा, डिजिटल की कमान प्रवीण को

बिहार के दैनिक भास्कर से खबर आ रही कि पिछले साल बिहार चुनाव के ठीक पहले जिस दैनिक भास्कर डिजिटल को वरिष्ठ पत्रकार कुमार जितेंद्र ज्योति ने राज्य में लांच कराया था, उसका जिम्मा अब बिहार सैटेलाइट एडिटर- 2 प्रवीण वर्मा को सौंप दिया गया है।

सुभाष मिश्र, शेष नारायण, ताविशी समेत तकरीबन एक सैकड़ा पत्रकार नहीं रहे

धीरेंद्र नाथ श्रीवास्तव- उत्तर प्रदेश में कोरोना का कहर सरकार केवल शोक व्यक्त करने को ही मान बैठी है दायित्व जो जीवित हैं उनमें से भी अधिसंख्य मुफलिसी के शिकार लखनऊ। जानलेवा कोरोना की दूसरी लहर ने एक माह के अंदर यूपी के तकरीबन एक सैकड़ा पत्रकारों को निगल लिया। इसे लेकर मीडिया जगत में …

एम्बुलेंस ‘चोर’ भाजपा नेता राजीव प्रताप रुडी तो लोकतंत्र का कलंक साबित हुआ!

अभिषेक सिंह- पप्पू यादव जिगरा वाला आदमी है… पूर्व केंद्रीय मंत्री और वर्तमान सांसद राजीव प्रताप रूडी के घर घुस गए और पोल खोल दी। सांसद के घर सांसद कोटे की दर्जनों एम्बुलेंस छुपा कर रखी हुई थी। आप सोचिये लोगों को ले जाने के लिए एम्बुलेंस नहीं है…प्राइवेट एम्बुलेंस वाले मनमाना पैसा वसूल रहे …

KGMU के एक छपास डॉक्टर ने सुभाष मिश्र को बुख़ार आने के वावजूद वैक्सीन लगवा दी!

हेमंत शर्मा- अरे सुभाष तुम भी……तुम्हें ऐसा नहीं करना था।तुमसे वायदा था मई में मिलना है।जुनूँ की शादी में।पर तुम अनंत में मिल गए।तुम्हें संध्या,जुनूँ और जुबिन के बारे में तो सोचना था।इतनी भी क्या जल्दी थी।जब जब तुम मुझे आईसीयू से लिखते मुझे बचाईए। मैं जबाब देता हिम्मत रखो मनोबल बनाए रखो।पर तुमने हिम्मत …

हालात कुछ संभलेंगे तो अच्छी नौकरियां अंग्रेजी वालों को मिलेंगी और मजदूरी का काम हिंदी वालों को!

उर्मिलेश- एक हिंदी-पत्रकार के तौर पर अपने लगभग चालीस वर्ष के अनुभव और देश-विदेश के अपने भ्रमण से अर्जित समझ के आधार पर पिछले कुछ वर्षो से यह बात मैं लगातार कहता आ रहा हूं. उसे आज फिर दोहराऊंगा. इस महामारी में भी नये सिरे से इसे कहने की जरुरत है. हमारा साफ शब्दों में …

सुभाष जी उत्तर प्रदेश के लिए एनसाइक्लोपीडिया जैसे थे!

श्यामलाल यादव- मित्रों, आज की सुबह भी मनहूस निकली. उनसे 25 साल की दोस्ती थी. इंडिया टुडे में लम्बा साथ रहा. शायद उन्होंने 1995 में इंडिया टुडे ज्वाइन की थी और मैंने उनसे एक साल पहले. आजकल हम दोनों अलग-अलग संस्थानों में थे.

मोदी के लिए तेल लेपन आर्टकिल लिखने वाला न्यूज़18 का यह चिरकुट पत्रकार कौन है?

जे सुशील- न्यूज़ 18 नाम की एक आला दर्जे की घटिया वेबसाइट में किसी एएनआई ने लेख लिखा है कि मोदी जी चुप क्यों हैं. पूरे लेख में सिर्फ ये समझाने की कोशिश की गई है कि मोदी जी चुप हैं यानी कि काम कर रहे हैं और ये उनकी अदा है.

Times of india के वरिष्ठ पत्रकार सुभाष मिश्र की कोरोना से मौत

राजकेश्वर सिंह- लखनऊ में मेरे सबसे करीबी मित्र और वरिष्ठ पत्रकार सुभाष मिश्र को भी कोरोना ने आज हमसे छीन लिया। सुभाष का जाना मेरी बहुत बड़ी निजी क्षति है।

shine डॉट कॉम के फ्रॉड से रहें सावधान!

Vaishali Sharma- Subject: i want to complain against Shine.com an HT media initiative मेरा नाम वैशाली शर्मा है. हाल में ही मेरी शादी हुई है. मैं इस समय रेड एफएम जबलपुर में कार्यरत हूँ . शादी इंदौर में होने के कारण मैं जॉब काफी समय से ढूंढ रही हूँ जिसके चलते कुछ महीनो पहले मुझे …

विनोद दुआ की हालत बेहतर हुई, घर पर ही चल रहा इलाज

विजय शंकर सिंह- Vinod Dua अब बेहतर हैं। वे आईसीयू में नहीं बल्कि अपने घर पर ही हैं और डॉक्टरों के संपर्क में हैं। वे कन्जेशन के कारण मुश्किल से बोल पा रहे हैं, पर उन्हें सांस लेने में दिक्कत नही है।

शेष नारायण सिंह पंचतत्व में विलीन, देखें तस्वीरें, सोशल मीडिया में श्रद्धांजलियों-संस्मरणों का ताँता!

अलविदा Shesh Narain Singh सर! तस्वीर सौजन्य : आलोक सिंह जी (नोएडा पुलिस कमिश्नर)

कोरोना ने वरिष्ठ पत्रकार राजेंद्र जोशी को छीन लिया

अविकल थपलियाल- कोरोना ने हमारे पत्रकार साथी राजेन्द्र जोशी को हमसे छीन लिया। बेहद हँसमुख मस्तमौला राजेन्द्र जोशी से बरसों बरस का साथ था। बहुत बड़ा झटका।

कोरोना मुक्त हो गए रवीश कुमार, पढ़िए उनका संदेश

रवीश कुमार- मैं ठीक हूं। कई लोगों ने कहा कि मैं कैसे ठीक हुआ, उस पर लिखूं। इस पर काफी सोचा और इस निर्णय पर पहुंचा हूं कि मैं यह नहीं लिखूंगा कि कब और कौन सी दवा ली। कोविड में मुमकिन है कि मेरा और आपका लक्षण एक हो लेकिन यह कत्तई ज़रूरी नहीं …

सत्ता के शीर्ष पर बैठे व्यक्ति के मानव मात्र होने में भी मुझे संदेह है!

समरेंद्र सिंह- एक बार हत्या पर बहस हो रही थी। किसी ने तर्क दिया कि “तुम लोग बेरहमी से कत्ल कर दिया” क्यों लिखते हो? कत्ल करने वाला तो बेरहम ही होता है और कत्ल तो बेरहमी से ही किया जाता है। पहली नजर में दलील दमदार लगती है। लेकिन ऐसा है नहीं।

अयोध्या विवाद पर अलग फ़ैसला लिखने वाले जस्टिस धर्मवीर शर्मा का कोरोना से निधन

हेमंत शर्मा- जस्टिस धर्मवीर शर्मा को भी कोरोना ने ग्रस लिया।आज उन्होंने नोयडा में अन्तिम सॉंस ली। धर्मवीर शर्मा जी इलाहाबाद हाईकोर्ट की उस पीठ के सदस्य थे जिसने रामजन्मभूमि और बाबरी मस्जिद पर फ़ैसला देते हुए विवादित स्थान को तीन हिस्सों में बॉंट दिया था।

अब भी कोई ‘भक्त’ बना हुआ हो तो शीतल सिंह का ये लिखा पढ़ ले!

शीतल पी सिंह- वे जो मरे हैं वे दरअसल मारे गए हैं दुनियाँ के सबसे अमीर लोगों के देश अमरीका के राष्ट्रपति पिछले दो सौ सालों से उसी घर में रह रहे हैं जिसे व्हाइट हाउस कहते हैं पर दुनियाँ में सबसे ज़्यादा गरीब जनसंख्या वाले देश (जिसमें लोगों की प्रति व्यक्ति आय का औसत …

वरिष्ठ पत्रकार शेष नारायण सिंह को बचाया न जा सका!

कई दिनों से कोविड से जूझ रहे वरिष्ठ पत्रकार शेष नारायण सिंह जी नहीं रहे। प्लाज़्मा समेत कई विधियों से उनकी जीवन रक्षा की कोशिश की गई लेकिन सब बेकार साबित हुईं।

अफ़वाह गैंग का नया कारनामा : इंडिया टुडे ग्रुप के ज़िंदा पत्रकार को भाजपा ने बंगाल हिंसा में मारा गया अपना कार्यकर्ता बता दिया!

गिरीश मालवीय- ये लोग ऐसे फेक न्यूज़ फैलाते है…… बंगाल में चुनाव नतीजे आने के बाद हुई हिंसा में बीजेपी की आईटी सेल ने अपने कार्यकर्ताओं के मारे जाने का दावा करते हुए शेयर किए गए वीडियो में एक ज़िंदा आदमी को ही अपना मृत कार्यकर्ता बता दिया गया बीजेपी ने जिसे अपना मृत कार्यकर्ता …

ऑक्सीजन मैन : सबकी मदद करने वाले बीवी श्रीनिवास हैं कौन?

अपूर्व भारद्वाज- आक्सीजन मैन : दिल्ली में टिवटर पर आक्सीजन के लिए जब भी कोई मदद मांगता है तो एक आदमी का नाम कहीं न कही से मेंशन जरूर होता है वो नाम है श्रीनिवास बीवी …आक्सीजन के लिए तरसने वाली हर आँख को उनके चेहरे में एक उम्मीद। नजर आती है और वो अपनी …

रूद्रपुर के युवा पत्रकार का कोरोना से निधन

Chandan bangari- एक बहुत ही दिल को झकझोरने वाली खबर हल्द्वानी के साथी धीरज से मिली है। बेहद मिलनसार, नौजवान पत्रकार और छोटा भाई राहुल जोशी कोरोना से जंग हार गया। वो काफी दिन से वेंटिलेटर पर था।

नहीं रहे वरिष्ठ पत्रकार भगवतीधर वाजपेयी

आईआईएमसी के महानिदेशक ने जताया दुख कहा- ‘राष्ट्रीय भावधारा को समर्पित था उनका जीवन’ नई दिल्ली, 6 मई। वयोवृद्ध पत्रकार और राष्ट्रीय भावधारा के लेखक श्री भगवतीधर वाजपेयी (96 वर्ष) का जबलपुर में दिल का दौरा पड़ने से निधन हो गया। उनके निधन पर भारतीय जनसंचार संस्थान(आईआईएमसी) के महानिदेशक प्रो. संजय द्विवेदी ने गहरा दुख …

वरिष्ठ पत्रकार शेष नारायण सिंह के लिए प्लाज़्मा देने मुंबई से उड़कर आए अमित!

यूथ कांग्रेस के प्रेसिडेंट बीवी श्रीनिवास ने ट्वीट कर जानकारी दी है कि वरिष्ठ पत्रकार शेष नारायण सिंह के लिए प्लाज़्मा का इंतज़ाम हो गया है। इसके लिए मुंबई से जहाज से अमित सावंत आए और प्लाज़्मा डोनेट किया।

जानिए ट्विटर पर जंता ‘गायत्री मंत्र’ क्यों ट्रेंड करा रही है!

दिलीप खान- निकम्मी मदारी सरकार के मूर्ख फ़ैसलों को याद करके लोग आज ट्विटर पर ‘गायत्री मंत्र’ ट्रेंड करवा रहे हैं. इस दौर को भूलिएगा मत. मार्च महीने की बात है. वैज्ञानिकों ने जब पूरे देश में कोरोना की दूसरी लहर की चेतावनी दी थी, तो मोदी सरकार ने AIIMS को एक अजूबा ठेका दिया …

कई चैनलों के मालिक रहे मतंग सिंह के निधन की सूचना

हमार टीवी, फ़ोकस टीवी, एनई टीवी समेत कई चैनलों के मालिक रहे मतंग सिंह के बारे में सूचना आ रही है कि कोरोना काल में उनका भी निधन हो गया।

आपदा में अवसर! : मोदी जी ने कैबिनेट की बैठक की और एक बैंक निपटा दिया!

गिरीश मालवीय- कल शाम IDBI बैंक को बेचने पर मुहर लगा दी गयी आईडीबीआई एक सरकारी बैंक था, जो 1964 में देश में बना था। शेयर बाजार के मित्र बता रहे हैं कि जमकर इनसाइडर ट्रेडिंग हुई है। कुछ लोगो को पहले से मालूम था कि आज IDBI के डिसइन्वेस्टमेंट की घोषणा होने वाली है। …