क्या योगी के पक्ष में ट्वीट करने पर भक्तों को दो रुपए मिलते हैं? सुनें आडियो

ट्विटर पर पूर्व ias सूर्य प्रताप सिंह ने एक कथित audio अपलोड कर दावा किया है कि यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ के पक्ष में ट्वीट करने पर भक्तों को दो रुपए दिए जाते हैं।

मंगलेश डबराल धुत हो कर अशोक वाजपेयी की बेटी से बोले- तुम अपने पिता की तरह मत बनना!

विनोद भारद्वाज- यादनामा : अशोक वाजपेयी पर मेरी इस शैली में संस्मरण लिखना आसान नहीं है। बरसों पहले उनकी किसी किताब के फ़्लैप में उन्हें विवादास्पद संस्कृतिकर्मी बताया गया था। मेरा प्रकाशक मुझे विवादास्पद संस्मरणकार बताए, तो हैरानी नहीं। पर अशोक वाजपेयी पर भविष्य में कोई ईमानदारी से जीवनी लिखे, तो वह एक बड़ी उपलब्धि …

लोकतंत्र को मजबूत करने का कार्य करते हैं पत्रकार

मथुरा। ब्रज प्रेस क्लब पर आज पत्रकारिता दिवस के उपलक्ष्य में प्रिंट एवं इलेक्ट्रोनिक मीडिया के पत्रकारों का समारोह आयोजित किया गया। इस अवसर पर प्रदेश के कैबिनेट मंत्री चौ.लक्ष्मी नारायण सिंह ने कहा कि पत्रकारों का उत्पीड़न बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। पत्रकार भी निष्पक्ष रिपोर्टिंग करें फैंक न्यूजों को प्रकाशित करने से पहले उसकी …

पत्रकारों को आर्थिक सुरक्षा मिलनी चाहिये

कोरोना काल में अपनी जान दाँव पर लगाकर पत्रकारों ने काम किया है! आगरा। वर्तमान में पत्रकारिता तमाम विषम चुनौतियों का सामना कर रही है। पत्रकारों के सम्मुख आज कोरोना के कहर के बीच अपनी जान को जोखिम में डालकर काम करने की सबसे बड़ी चुनौती तो है ही इसके साथ ही छंटनी के चलते …

तीसरी लहर के लिए पत्रकार रहें तैयार : आशुतोष शुक्ला

कोविड के प्रति जनचेतना में पत्रकारिता का अभिन्न योगदान – कुलपति कोविड काल के बाद दुनिया बदली बदली होगी – प्रतीक त्रिवेदी हिंदी पत्रकारिता: कोविड काल और जनसरोकार विषयक वेबिनार का हुआ आयोजन विश्वविद्यालय के जनसंचार विभाग द्वारा हुआ आयोजित

गुलामी का बांड भराने पर ‘आर भारत’ चैनल में विद्रोह, कइयों ने दिया इस्तीफा

अर्णब गोस्वामी के चैनल आर भारत में इन दिनों अफरातफरी का आलम है. कभी खुद पत्रकार रहे अर्णब गोस्वामी इन दिनों अपने ही पत्रकारों का खून पीने के लिए कुख्यात हो गए हैं. वे अपने चैनल के कर्मियों से गुलामी का एक ऐसा बांड भरवा रहे हैं जिसे कतई कोई स्वाभिमानी मीडियाकर्मी नहीं भरेगा.

पत्रकार का जीवन और उसके संघर्ष

विनोद भारद्वाज- पत्रकारिता को लेकर एक आमधारणा है कि यह एक Glamorous Job है। बहुत कुछ है इस नौकरी में, नाम भी-पैसा भी और सामाजिक प्रतिष्ठा भी ! नेता भी खूब पूछते हैं और अधिकारी भी, और इसी ‘पूछ’ के कारण ‘तमाम काम’ आसानी से हो जाते हैं। सुख-सुविधाओं और साधन-संसाधनों की कोई कमी नहीं…कुल …

एक जूनूनी फारेस्ट गार्ड की कुर्बानी की सच्ची कहानी पर आधारित है फिल्म ‘वन रक्षक’

अजित राय- कोरोना का संकट और वन रक्षक के सबक… यह समय आक्सीजन बचाने का है। आक्सीजन आता है पेड़ों से और दुनिया भर में विकास कार्यों के लिए पेड़ काटे जा रहे हैं। इसमें व्यापारी, राजनेता, सरकारी आफिसर सब शामिल हैं। एक नई बिरादरी पैदा हुई है जिसे वन माफिया कहते हैं। यदि हम …

पत्रकारिता ख़त्म हो चुकी है : रवीश कुमार

रवीश कुमार- पत्रकारिता दिवस पर अपनी कुछ अयोग्यताओं पर बात करना चाहता हूं। पत्रकारिता एक पेशेवर काम है। यह एक पेशा नहीं है। बल्कि कई पेशों को समझने और व्यक्त करने का पेशा है। इसलिए पत्रकारिता के भीतर अलग-अलग पेशों को समझने वाले रिपोर्टर और संपादक की व्यवस्था बनाई गई थी जो ध्वस्त हो चुकी …

चौधरी चरण सिंह का निधन औऱ आलोक तोमरजी की रिपोर्ट

अरविंद कुमार सिंह- 29 मई 1987 को जब चौधरी चरण सिंह का निधन हुआ था तो उस दौर पर क्या नजारा था उसका मैं गवाह हूं। इतनी बड़ी तादाद में ग्रामीण किसी और राजनेता के निधन पर मैने नहीं देखा।

टाइम मैगज़ीन ने मोदी की फिर खटिया खड़ी कर दी!

विश्व दीपक- कल अमेरिका की मशहूर ‘टाइम’ मैगज़ीन ने बताया कि सुपर पीएम ने भारत के लोगों के लिए पर्याप्त वैक्सीन नहीं खरीदी जिसका खामियाजा पूरी दुनिया को भुगतना पड़ रहा.आज एक आरटीआई मिली जिससे साबित होता है कि ‘टाइम’ का दावा सही था. भारत तो भुगत ही रहा सात साल से अब दुनिया को …

वैक्सीन लगने के बाद संक्रमित हुए पनगड़िया की हालत नाज़ुक!

गिरीश मालवीय- पनगड़िया के करीबी की मानें तो उन्होंने इस बीमारी से करीब 10-12 दिन पहले कोवीशील्ड की दूसरी डोज SMS अस्पताल जाकर लगवाई थी। वैक्सीन लगने के बाद कुछ दिन बाद उन्हें कोविड के लक्षण महसूस हुए और उन्होंने जब जांच करवाई तो कोरोना की पुष्टि हुई।

आरएनआई ने बढ़ाई वार्षिक रिटर्न भरने की तिथि

निर्मल कांत शुक्ला- रंग लाए श्रमजीवी पत्रकार यूनियन के प्रयास… उत्तर प्रदेश श्रमजीवी पत्रकार यूनियन के प्रयास से देश के प्रकाशकों व संपादकों को आरएनआई ने बड़ी राहत प्रदान की है। देश के सभी पत्र-पत्रिकाओं को एनुअल रिटर्न भरने की समय सीमा 31 मई से बढ़ाकर 31 जुलाई कर दी गई है।

सेकुलर सावरकर अंग्रेजों से पेंशन मिलने के बाद सांप्रदायिक बन गए!

सौरभ सहज- एक सुशील कुमार वो था जिसने देश के लिए ओलंपिक से लेकर कई अन्य अंतर्राष्ट्रीय मुकाबलों में मेडल्स जीत कर देश का नाम ऊंचा किया. देश को उस सुशील कुमार पर गर्व है. एक आज का सुशील कुमार है जो संगीन अपराधों में लिप्त है, मौत का सौदागर है. देशवासियों को इससे नफ़रत …

अगर कोरोना संक्रमित होने के बाद ज़िंदा बच गए हैं तो समझिए कोरोना आगे आपका कुछ न उखाड़ सकेगा!

गिरीश मालवीय- बिग बिग ब्रेकिंग : इंडियन पब्लिक हेल्थ असोसिएशन के प्रेजिडेंट और एम्स में कोवैक्सीन ट्रायल के प्रिसिंपल इंवेस्टिगेटर प्रोफेसर डॉ. संजय राय का कहना है कि नेचुरल इम्युनिटी (संक्रमण होने के बाद मिली इम्युनिटी) किसी भी वैक्सीन की तुलना में ज्यादा वक्त तक और ज्यादा बेहतर प्रोटेक्शन दे रही है। इसलिए जिन लोगों …

सुधीर चौधरी कोरोना अटैक के बाद कैसे दिखने लगे, देखें तस्वीर

शीतल पी सिंह- सुधीर चौधरी…. कोरोना ने इनको भी न छोड़ा। कोविड किसी का सगा नहीं है। जल्द स्वास्थ्य लाभ करें। इन्होंने खुद ट्वीट करके और पोस्ट करके बताया कि फेफड़े में कुछ धब्बे हैं जिनकी दवा चल रही है। स्थिति नियंत्रण में है।

कोरोना वायरस प्राकृतिक नहीं है, इसे विशेष रूप से डिज़ाइन किया गया है!

गिरीश मालवीय- कोविड -19 का वायरस प्राकृतिक वायरस नही है यह बात वापस चर्चा में आ गयी है क्योंकि अमेरिकी राष्ट्रपति बाइडेन ने कहा है कि कोरोना वायरस की उत्पत्ति की 90 दिन के भीतर फिर से एक बड़ी पड़ताल की जाएगी…

जानें, आने वाले समय में देश में कौन-कौन सी अन्य वैक्सीन होंगी उपलब्ध

कोरोना के खिलाफ जंग में सबसे बड़ा हथियार वैक्सीन है। सरकार इस बात को भलीभांति जानती है इसलिए देश के हर नागरिक को वैक्सीन उपलब्ध हो इस प्रयास में लगी है। सरकार लगातार वैक्सीन को लेकर, बिना समय गवाएं महत्वपूर्ण फैसले ले रही है। इसी क्रम में सरकार ने कहा है कि देश में जल्द …

बीस दिन तक संघर्ष के बाद live इंडिया के वीपी (hr) अजय मेहता का निधन

Arvindr ks- बहुत ही सहृदय सरल और बेहतरीन इंसान थे श्री अजय मेहता जी …लाइव इंडिया के वाइस प्रेसिडेंट एचआर मेहता जी। काल ने उन्हें भी नहीं बख्शा।

पोर्टल वालों के मुश्किल दिन आ गए : सरकारी बाबू जिस कंटेंट पर उंगली रख देगा उसे 36 घंटे में हटाना होगा!

Soumitra Roy- 130 करोड़ से ज़्यादा के देश में बीजेपी का अराजक राज किस कदर है, इसकी एक बानगी कुछ देर पहले प्रकाश जावड़ेकर का अल्टीमेटम है। सूचना-प्रसारण मंत्री जावड़ेकर ने सभी सोशल मीडिया, डिजिटल न्यूज़ और OTT प्लेटफॉर्म से अगले 15 दिन के भीतर नए IT नियमों का अनुपालन सुनिश्चित करने को कहा है। …

देखें रिपब्लिक भारत की तरफ से कर्मचारियों को क्या मेल भेजा गया है!

रिपब्लिक मीडिया ने फिर दिखाई चिंदी चोरी… कर्मचारियों के छोड़कर जाने के डर से रिपब्लिक मीडिया तानाशाही पर उतर आया है। इसलिए तुगलकी फरमान जारी किया है। HR ने 26 मई को मेल भेजकर 27 मई तक सबसे नए बॉन्ड साइन करने का आदेश पारित कर दिया है।

योगी की मीडिया ब्रीफिंग में प्रेस पास बनाने में हुआ भेदभाव

मान्यताप्राप्त पत्रकारों तक को नहीं निर्गत हुआ पास… सिद्धार्थनगर। मुख्यमंत्री के जनपद में प्रस्तावित भ्रमण के दौरान 15 मिनट के लिए आयोजित मुख्यमंत्री के पत्रकार वार्ता के लिए अपर सूचना अधिकारी ने सिर्फ अपने चहेतों का ही पास निर्गत किया है. सरकार द्वारा मान्यता प्राप्त पत्रकारों को भी पत्रकार वार्ता से वंचित रखा गया है। …

यूएनआई के पत्रकारों ने वेतन की मांग पर रोका काम

देश की प्रसिद्ध समाचार एजेंसी यूएनआई में पिछले चार महीने से वेतन नहीं मिलने के कारण कांट्रेक्ट पर काम कर रहे पत्रकारों ने काम रोक दिया है। कर्मचारियों ने प्रबंधन को अल्टीमेटम दिया है कि जबतक वेतन नहीं दिया जाएगा काम बंद रखा जाएगा। उन्होंने कहा कि वेतन नहीं मिलने से उनकी दिनचर्या पर गंभीर …

गुना के पत्रकारों से सीखें सबक : कोरोना से दिवंगत पत्रकारों के परिजनों को दी लाख-लाख रुपये की मदद

गुना जिले के पत्रकारों ने शासन की मदद की बाट देखने की जगह खुद ही अपने दिवंगत कोरोना वारियर कलमकार साथियों के परिजनों को लाखों रुपये की शृद्धानिधि जुटाकर सच्ची शृद्धाजंलि दी है। भोपाल डेस्क देख रहे एक पत्रकार राजेन्द्र सिंह मीणा ने बताया कि मैंने 50 वर्ष की उम्र तक अनेक नगरों ओर संस्थानों …

अर्नब गोस्वामी तो अपने मीडियाकर्मियों का खून पीने पर आमादा है, ले आया गुलामी का बांड!

कभी अर्नब गोस्वामी एक ठीकठाक पत्रकार और एंकर हुआ करता था. लेकिन जबसे उसे सत्ता की दलाली का रोग लगा, वह निकृष्ट से निकृष्टतम होता चला गया. मोदी सरकार को भोंपू अर्नब गोस्वामी को मुंबई पुलिस ने जाने क्या सबक दिया कि वह अब किसी भी किस्म के विवाद से दूर रहना चाहता है. यहां …

सिर्फ पत्रकारों को ही क्यों? सिर्फ 67 को ही क्यों? सिर्फ पांच पांच लाख रुपये ही क्यों?

कोरोना से मृत सभी पत्रकारों के परिजनों को एक एक करोड़ दे मोदी सरकार! मोदी सरकार ने कोरोना से जान गंवाने वाले 40 पत्रकारों के परिजनों को पांच पांच लाख रुपये देने का फैसला किया है. इसके पहले 27 पत्रकारों को के परिजनों को ये लाभ देने का निर्णय लिया जा चुका है. इस तरह …

क्यूबा कोरोना के पांच वैक्सीन विकसित करने की राह पर!

एडवोकेट संजय पांडेय- क्यूबा एक साम्यवादी विचारों का देश है जहां भारत के कुल भूमि क्षेत्र का केवल 3.5 प्रतिशत (109,884 वर्ग किमी) और केवल 1.10 करोड़ की आबादी है। यह देश आज कोरोना के 5 वैक्सीन विकसित करने की राह पर है। यह क्यूबा और लैटिन अमेरिकी का पहला टीका है। एक बार में …

‘तेज’ चैनल की जिम्मेदारी अब आजतक के इस महिला पत्रकार के हवाले!

संजय सिन्हा के इस्तीफे के बाद आजतक समूह के तेज चैनल की जिम्मेदारी श्वेता सिंह को दे दी गई है. इस बाबत टीवी टुडे ग्रुप की मालकिन कली पुरी की तरफ से एक इंटरनल मेल जारी कर दिया गया है.

कोरोना महामारी में ग्रामीणों को मिला ‘मदद गुरु’ का साथ, पत्रकार आयुष की टीम वितरित कर रही ट्रीटमेंट किट

कोरोना महामारी का भीषण रूप और ग्रामीण क्षेत्रों में इसका बढ़ता प्रकोप देखते हुए‌ मदद गुरु संस्था द्वारा ग्रामीण क्षेत्रों में कोविड-19 ट्रीटमेंट किट उपलब्ध कराया जा रहा है. इस संस्था के संस्थापक पत्रकार पंडित आयुष ने डॉक्टर helpline तैयार किया है ताकि पिछड़े इलाक़ों के लोगों को सही सलाह मिल सके।

टाइम्स ग्रुप के नए लांच होने वाले हिंदी न्यूज़ चैनल को मिल गया संपादक!

बड़ी खबर आज तक न्यूज़ चैनल से आ रही है। पता चला है कि इस ग्रुप के ये ‘तेज’ नामक चैनल के हेड संजय सिन्हा इस्तीफा दे चुके हैं. वे टाइम्स आफ इंडिया ग्रुप के नए लांच होने वाले हिंदी न्यूज चैनल के संपादक बनाए गए हैं.

रजत शर्मा को भी नहीं पसंद है मोदी सरकार की सोशल मीडिया गाइडलाइन!

एनबीए के अध्यक्ष और इंडिया टीवी चैनल के मालिक रजत शर्मा भी राहत माँगते फिर रहे हैं। उन्होंने मोदी सरकार के मंत्री प्रकाश जावड़ेकर को एक पत्र लिखा है।

मास्क न पहनने पर यूपी पुलिस हाथ पैर में कील ठोंक देती है!

समीरात्मज मिश्रा- मास्क न पहनना इतना बड़ा जुर्म है कि यूपी पुलिस लोगों के पैरों में कील तक ठोंक देती है। लेकिन यदि पुलिस वालों को बिना मास्क पहने कोई दिखाता है तो यूपी पुलिस उसके ख़िलाफ़ एफआईआर कर देती है, पीटती है और फिर जेल भेज देती है।

राकेश टिकैत ने abp news का live show छोड़कर सही किया!

हर्ष कुमार- ABP न्यूज़ चैनल ने पिछली शाम अपने एक लाइव शो के दौरान भारतीय किसान यूनियन के नेता राकेश टिकैत से बातचीत करते हुए अचानक ही उनके सामने भारतीय किसान यूनियन के पूर्व जिलाध्यक्ष वीरेंद्र सिंह को पेश कर दिया।

मोदी राज में रामदेव ने किसके बाप को दे दी चुनौती- “किसी का बाप भी मुझे अरेस्ट नहीं कर सकता!”

संजय कुमार सिंह- यह चुनौती हमारे आपके लिए नहीं है… हिन्दी में इसके लिए अच्छा भला मुहावरा है, “सैंया भये कोतवाल ….”। और इस बात को कहने-समझने का वही संस्कारी तरीका है। लेकिन खुद से यह कहना संस्कार नहीं है कि मेरे बाप को जानो या नहीं, ये जान लो कि किसी का बाप मुझे …

हम कौन से हिन्दू हैं- जलाए गए या दफ़नाए गए?

भास्कर गुहा नियोगी- काशी। गंगा किनारे दफनाये गए हजारों की संख्या में शव पूछने लगे हैं हम कौन से हिन्दू हैं, जलाये गए या दफनाये गए? उनके इस सवाल से सत्ता मौन है और धर्माधिकारी मूर्छित। लेकिन सवाल तो प्रासंगिक है और जरूरी भी।

जिंदा हैं रोहित सरदाना!

स्वर्गीय रोहित सरदाना को याद करते हुए उनकी पत्रकार पत्नी प्रमिला दीक्षित लगातार कुछ न कुछ फेसबुक पर पोस्ट करती रहती हैं. साथ ही वे ये पोस्ट रोहित सरदाना के लाखों फालोवर वाले एफबी पेज पर भी डालती हैं. इस तरह रोहित सरदाना देह से इस दुनिया में न होते हुए भी सोशल मीडिया पर …

रोहित सरदाना की संपत्ति की ‘जांच’ करने वाले यूट्यूबरों को उनकी पत्रकार पत्नी ने दिया करारा जवाब!

यूट्यूब से कमाई करने के चक्कर में नित नए नए खुल रहे चैनलों के पास कंटेंट के नाम पर कुछ होता नहीं है, इसलिए वह चर्चित लोगों के नाम का इस्तेमाल कर कुछ भी दिखा कर अपने वीडियो वायरल करना शुरू कर देते हैं. ऐसे ही कुछ यूट्यूबरों ने रोहित सरदाना की संपत्ति का आकलन …

वरिष्ठ पत्रकार विनोद कापड़ी की किताब आई है- “1232 : द लांग जर्नी होम”

Satyendra PS- विनोद कापड़ी की किताब आई है “1232 : द लांग जर्नी होम”। जब प्रधानमंत्री ने पहली बार अचानक लाकडाउन की घोषणा की तो वह कोरोना महामारी से बड़ी आर्थिक महामारी थी, जिसके बारे में फैसला लेते समय नीति नियंताओं ने नहीं सोचा। कापड़ी ने 7 विस्थापितों की फ़िल्म बनाई, जो गाजियाबाद से 1232 …

क्या कोई एक ऐसी स्थिति है जहां मरने की चिंता न हो और जीने का खौफ नहीं!

Abhishek Srivastava- The Old Guard और After Masks के बीच बोधिसत्त्व… जन्म और मृत्यु दो सत्य हैं। दोनों में आकर्षण नहीं, समस्या है। पैदा हुए तो मुश्किल, कि कैसे जियें। मरने का डर अलग से, कि मरने के बाद क्या होगा। इनके बीच की क्या कोई एक ऐसी स्थिति है जो काम्य हो सकती है? …

कोलकाता के रिपोर्टर को सस्पेंड कर अर्नब गोस्वामी ने बचा ली अपनी गर्दन!

रिपोर्टर जब फंसता है तो बॉस लोग सबसे पहले उससे अपना नाता तोड़ लेते हैं. रिपोर्टर को स्ट्रिंगर बता देंगे. स्ट्रिंगर को कह देंगे कि वो उनके यहां काम ही नहीं करता था. इसी क्रम में रिपब्लिक भारत चैनल के एडिटर इन चीफ अर्नब गोस्वामी ने अपने कोलकाता रिपोर्टर को स्ट्रिंगर बताते हुए सस्पेंड कर …

प्रेस काउंसिल सदस्य ने अपने अध्यक्ष को ‘पदलोलुप’ कहा! तत्काल पदमुक्त करने की मांग की, देखें पत्र

भारतीय प्रेस परिषद के सदस्य अशोक कुमार नवरत्न ने एक पत्र सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय के सचिव को लिखा है. इसमें उन्होंने प्रेस काउंसिल आफ इंडिया के अध्यक्ष न्यायमूर्ति चंद्रमौली कुमार प्रसाद को पद मुक्त करने और नए अध्यक्ष के लिए चुनाव के लिए चयन प्रक्रिया शुरू कराने की मांग की है.

जितना दुख इस नौजवान पत्रकार ने झेला, उतना दर्द ईश्वर किसी को न दे… पढ़ें सिद्धार्थ की आपबीती

Yashwant Singh- कोरोना संक्रमण और ध्वस्त सिस्टम… युवा पत्रकार साथी सिद्धार्थ चौरसिया ने जो कुछ देखा, भुगता और खोया है, उसकी भरपाई कोई नहीं कर सकता। ये ज़ख़्म कभी नहीं भर सकता। सिद्धार्थ के फेसबुक प्रोफाइल से पता चलता है कि वे कई बड़े मीडिया संस्थानों में काम कर चुके हैं और इन दिनों एनडीटीवी …

प्रत्येक न्यूज वेबसाइट संचालक की कुंडली मोदी सरकार को चाहिए, आदेश जारी, भड़ास को भी आया मेल

न्यूज वेबसाइट संचालन करने वालों के पास सरकारी फरमान पहुंचने लगा है. भड़ास के पास भी आया है. सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय में एक डिजिटल मीडिया डिवीजन बन चुका है. इसी डिवीजन की तरफ से असिस्टेंट डायरेक्टर क्षितिज अग्रवाल का ग्रुप मेल आया है. मेल पाने वालों में भड़ास भी है.

ट्विटर के भारतीय आफिस में दिल्ली पुलिस के घुसने की इस पत्रकार संगठन ने की निंदा

PRESS RELEASE The National Alliance of Journalists strongly condemns the intimidatory tactics used against Twitter India by the Special Cell of the Delhi Police. On the evening of 24.03.2021 police teams reached Twitter offices in Delhi and Gurgaon, ostensibly to serve a notice regarding a complaint filed by the Congress party against leaders of the …

रिपब्लिक टीवी के कोलकाता रिपोर्टर पर अपहरण और रंगदारी का मुकदमा दर्ज, अरनब को भी छूटे पसीने!

अर्णब गोस्वामी द्वारा संचालित परम मोदी भक्त चैनल रिपब्लिक टीवी के कोलकाता रिपोर्टर के खिलाफ पश्चिम बंगाल पुलिस ने एक मुकदमा दर्ज किया है. आरोपी रिपोर्टर का नाम अभिषेक सेन गुप्ता बताया जाता है.

पार्थ सुसाइड कांड : कायस्थों का भाजपा से मोहभंग, MLC आशुतोष सिन्हा ने CBI जांच के लिए CM योगी को लिखा पत्र

मुख्यमंत्री IT सेल में कार्यरत स्व.पार्थ श्रीवास्तव के ‘आत्महत्या प्रकरण’ की CBI जाँच, पीड़ित परिवार की सुरक्षा एवं उन्हें आर्थिक सहयोग प्रदान किये जाने के संदर्भ में एमएलसी आशुतोष सिन्हा ने CM योगी को पत्र लिखा है.

दिनेश शर्मा हटेंगे, अरविंद शर्मा बनेंगे डिप्टी सीएम, योगी की कुर्सी सलामत रहेगी, लेकिन केन्द्र पेंच कसेगा

अजय कुमार, लखनऊ लखनऊ। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की लोकप्रियता के ग्राफ में तेजी आई गिरावट ने भारतीय जनता पार्टी आलाकमान के माथे की शिकन बढ़ा दी है,जो योगी अपनी कार्यशैली की वजह से देश के नंबर वन मुख्यमंत्री गिने जाने लगे थे। जिसे बीजेपी ने अपना ‘ब्रांड एम्बेसडर’ बना लिया था। किसी …

ABP News’ new offering ‘सीधे फील्ड से’ to air at 10:30 PM every week day

Noida, 26th May, 2021: Extending its commitment towards providing innovative and compelling content to its viewers, ABP News, has revealed a new offering, ‘Seedhe Field se’. This new segment provides real-time updates to the viewers on the major and developing stories of the day, directly from the ground. Seedhe Field Se covers each and every …

छवि तो आरएसएस की खराब हुई है, न कि मोदी या भाजपा की!

राजेंद्र चतुर्वेदी- आरएसएस ने फैसला किया है कि कोरोना, महंगा हवाई जहाज खरीदने और सेंट्रल विस्टा के कारण मोदी की खराब हुई छवि को चमकाने के लिए वह जल्द ही मोर्चा संभालेगा।

‘हिंदुस्तान’ के पत्रकार, ट्रेवलर और ब्लॉगर विद्युत मौर्य का निधन, कोरोना टीका लेने के बाद हुए थे बीमार!

यशवंत सिंह- मेरा मित्र Vidyut चला गया। हिंदुस्तान अख़बार दिल्ली में चीफ़ सब एडिटर थे। महीने भर तक जूझे। कोरोना वैक्सीन की पहली डोज़ लेने के बाद तबियत बिगड़ी और बिगड़ती चली गई। परिजन बेहतर इलाज के लिए दिल्ली से पटना ले गए। पर आज दुनिया हि छोड़ गए विद्युत भाई।

भाजपा नेता रमन सिंह पर भी ट्विटर का ठप्पा- मैनीपुलेटेड मीडिया!

सौमित्र रॉय- लगता है नरेंद्र मोदी सरकार के पागलपन के आगे ट्विटर झुकने को राज़ी नहीं। छत्तीसगढ़ के पूर्व सीएम रमण सिंह भी manipulated मीडिया के दायरे में आ गए हैं।

बिके हुए ‘आज तक’ ने डिबेट में रामदेव को अपनी दवा की ब्रांडिंग करने की इजाजत दे दी!

Girish Malviya- यकीन मानिए कुछ ही दिनों बाद खबर आएगी कि पतंजलि की कोरोनिल दवा की बिक्री में 200 फीसदी का इजाफा हुआ है, कुछ लोग डिबेट के एक दो शॉट देख कर लिख रहे कि डॉ लेले ने रामदेव की ले ली लेकिन हकीकत यह है कि रामदेव ने तमाम डॉक्टर की ले ली… …

कौन है जो पार्थ के हत्यारों को बचा रहा है?

पार्थ के परिजनों को इंसाफ दिलाने के लिए कायस्थों ने कसी कमर, रोहित सक्सेना ने लिखा सीएम योगी को पत्र यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ की सोशल मीडिया टीम के सदस्य पार्थ श्रीवास्तव के सुसाइड के प्रकरण को कायस्थ समाज नहीं भूलेगा. कुछ बड़े अफसरों के चलते एक होनहार युवक को सुसाइड करना पड़ा. कायस्थ …

यूपी का हाल : मंत्री स्वाति सिंह ने कहा- गड़बड़ टेंडर निरस्त करो, अफसरों ने जवाब दिया- नहीं करेंगे!

यशवंत सिंह- यूपी में योगी बाबा के राज में भयंकर अराजकता का आलम है. मंत्री की भी अफसर नहीं सुनते. बाल विकास एवं पुष्टाहार विभाग में स्मार्ट मोबाइल फोन खरीदने से संबंधित एक टेंडर सेटिंग गेटिंग के जरिए आगे बढ़ाया जा रहा था. इसकी गड़बड़ियां जब इसी टेंडर में शामिल रही एक कंपनी ने उजागर …

ग्वालियर-चम्बल अंचल के देशबंधु के वरिष्ठ पत्रकार राजेंद्र श्रीवास्तव नहीं रहे

पलाश सुरजन- ग्वालियर-चंबल अंचल में पिछले चार दशकों से देशबन्धु का प्रतिनिधित्व कर रहे श्री राजेन्द्र श्रीवास्तव कल रात अनंत यात्रा पर प्रस्थान कर गए। वे देशबन्धु परिवार के वरिष्ठतम सदस्यों में से एक थे।

क्या चुनाव से पहले भाजपा योगी को निपटा सकती है?

चंद्रभूषण- बीजेपी और आरएसएस का शीर्ष नेतृत्व अगले साल की शुरुआत में ही होने वाले यूपी विधानसभा चुनाव को लेकर लंबी-लंबी बैठकें कर रहा है। बीते इतवार को दिल्ली में हुई कई बैठकों की श्रृंखला में संघ सरकार्यवाह दत्तात्रेय होसबोले के अलावा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, गृहमंत्री अमित शाह और बीजेपी अध्यक्ष जेपी नड्डा के अलावा …

मां को बेड न मिलने पर पीएम केयर्स फंड में ढाई लाख रुपये दान देने वाले भक्त ने मोदी से पूछा ये सवाल!

प्रीति नाहर- पीएम केयर फंड में 2 लाख 51 हजार डोनेट करने वाले विजय पारीख का दर्द है ये। अहमदाबाद के विजय की मां का निधन इलाज के अभाव में हुआ। अस्पताल में बेड तक ना मिला। अब पूछ रहे हैं कि तीसरी लहर के लिए और कितना डोनेट कर दूं ? परिवार में और …

मरे हुए लोगों को भी चैन से नहीं रहने दे रही सरकार, देखें तस्वीर

शीतल पी सिंह- हिंदू धर्म को राजनीति के चौराहे पर हर चुनाव में नीलाम करने वाली पार्टी की डबल इंजन सरकार अपनी प्रशासनिक लापरवाही से मारे गए हिंदू गरीबों के शव से अपनी कारगुज़ारी छिपाने के लिए “रामनामी” का कफ़न चुरा रही है।

जमे हुए पानी को मथना ही पत्रकारिता है!

शंभूनाथ शुक्ल– एक पत्रकार का असल काम जमे हुए पानी को मथना होता है। मेरी बचपन से ही आकांक्षा खूब लिखने की थी। ख़ासकर समाज के उस वर्ग की पीड़ा, जो दबा-कुचला रह गया, और उसकी पीड़ा को कोई सुर नहीं दे रहा। तब तक पत्रकार बनना मेरा कोई लक्ष्य नहीं था। शादी के बाद …

‘आजतक’ पर डाक्टरों ने धो दिया रामदेव को! देखें वीडियो

अमिताभ श्रीवास्तव- लंबे समय बाद आज तक पर एक चर्चा देखकर मज़ा आया। इंडियन मेडिकल एसोसियेशन के प्रतिनिधि दो एलोपैथिक चिकित्सकों ने योग गुरु बाबा रामदेव की जमकर क्लास लगाई। मुद्दा एलोपैथी चिकित्सा पद्धति और एलोपैथिक चिकित्सकों के बारे में बाबा रामदेव के एक संवेदनहीन और मूर्खतापूर्ण बयान का था।

संबित पात्रा के टूलकिट को MANIPULATED बताना ट्विटर को पड़ा महँगा, पुलिस ने की छापेमारी

सौमित्र रॉय- विवादास्पद टूलकिट मामले में दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल की टीम ने ट्विटर के गुड़गाँव स्थित दफ़्तर में छापा मारी की कार्रवाई की। टूलकिट मसले पर अमित शाह की दिल्ली पुलिस द्वारा ट्विटर के दफ़्तर में रेड मारने के बड़े निहितार्थ हैं। देश पर एक नया तमाशा थोपने की तैयारी है। 2022 के …

वरिष्ठ पत्रकार प्रदीप सिंह का डिजिटल चैनल हैक हुआ!

कई मीडिया संस्थानों को सेवा दे चुके वरिष्ठ पत्रकार प्रदीप सिंह के यूट्यूब चैनल ‘आप का अखबार’ पर साइबर अटैक हुआ है। हैकर ने उनके चैनल को हैक करने के बाद उस पर यूट्यूब कम्युनिटी गाइडलाइंस का उल्लंघन करता एक वीडियो अपलोड किया, जिसके बाद यूट्यूब ने प्रदीप सिंह का चैनल बंद कर दिया।

18-44 साल वालों को बिना ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन के भी मिलेगी वैक्सीन

स्वास्थ्य मंत्रालय ने कोरोना की वैक्सीन को लेकर एक बड़ा फैसला किया है। अब 18 से 44 साल के लोग बिना ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन के भी वैक्सीन लगवा सकेंगे। ऐसे लोग अब वैक्सीनेशन सेंटर पर भी रजिस्ट्रेशन करा सकेंगे। हालांकि, ये सुविधा फिलहाल सिर्फ सरकारी सेंटर पर ही उपलब्ध होगी। प्राइवेट अस्पतालों के सेंटर पर अब …

पत्रकार को पकड़ने के लिए फ्लाइट हाईजैक करा दिया!

ankit mathur- बेलारूस ने पैसेंजर फ्लाइट को जबरन लैंड कराया, लिथुआनिया जा रही थी फ्लाइट लेकिन अचानक बेलारूस की तरफ मुड़ गई, पत्रकार गिरफ्तार.. तानाशाहों को सबसे ज्यादा सच बोलने वालों से डर लगता है. एक अधेड़ तानाशाह को एक नौजवान पत्रकार से डर लगता है. डर इतना लगता है कि उसे गिरफ्तार करने के …

पत्रकार प्रेम कुमार की कोरोना से मौत, पत्नी-बच्चों के लिए आर्थिक मदद की अपील

पटना के पत्रकार प्रेम कुमार की कोरोना से मौत हो गई। हिंदुस्तान, प्रभात खबर में वर्षों तक क्राइम रिपोर्टर के रूप में काम कर चुके प्रेम इन दिनों खुद का न्यूज पोर्टल चला रहे थे। वे अपने पीछे पत्नी और दो छोटे बच्चे छोड़ गए हैं। प्रेम की आर्थिक स्थिति ठीक नहीं थी, इसलिए कुछ …

साल भर से बीमार लखनऊ के वरिष्ठ पत्रकार सीएम त्रिपाठी का निधन

Naved Shikoh – स्वतंत्र भारत की मुफलिसी के साथी सी.एम.त्रिपाठी भी गए…. लखनऊ से प्रकशित अपने जम़ाने के चर्चित अख़बार स्वतंत्र भारत में निरंतर पच्चीस बरस सेवाएं देने वाले डेस्क के दिग्गज पत्रकार सी.एम.त्रिपाठी भी सिधार गए। वो क़रीब साल भर से बीमार चल रहे थे। स्वतंत्र भारत के परिशिष्ट उपहार और चर्चित व्यंग्य कॉलम …

एसएसपी ने धमकाया तो ‘हिंदुस्तान’ डिजिटल वालों ने दुरुस्त कर ली 50 पुलिसकर्मियों के सस्पेंसन की खबर!

यूपी के गाजीपुर जिले से खबर है कि यहां के एसएसपी ने एक खबर को लेकर बिना नाम लिए धमकाया तो ‘हिंदुस्तान’ के डिजिटल वेंचर वालों ने खबर दुरुस्त कर ली.

एक फेंकू व्यापारी टाइम्स आफ इंडिया में ऐसा विज्ञापन देकर किसे उल्लू बना रहा!

टाइम्स आफ इंडिया में आज पहले पेज पर छपा एक विज्ञापन चर्चा का विषय बना हुआ है. एक फेंकू किस्म का व्यापारी अपने लालीपाप से मोदीजी को अपनी तरफ आकर्षित करने में जुटा है. वो कह रहा है कि वो पांच सौ नब्बे बिलियन डालर का भारत में निवेश करना चाहता है… कई देशों की …

यशवंत की कोरोना डायरी (3) : महाप्रयाण के लिए माध्यम यही बीमारी तय है तब जिंदा रहने को यूं परेशां क्या होना!

यशवंत सिंह- धरती, ब्रह्मांडों और जीवन को अब तक बूझा नहीं जा सका है. कहां से आए हैं. कहां को जाते हैं. चार हजार साल बाद तक अगर मनुष्य धरती पर रह गया तो उस वक्त जो इतिहास लिखा जाएगा उसमें हम लोगों के इस दौर को को भी हड़प्पा काल में जोड़ लिया जाएगा. …

12 विपक्षी दलों ने भी दिया किसानों के 26 मई के विरोध प्रदर्शन को समर्थन

May 23, 2021 Joint Statement by 12 Major Opposition Parties We extend our support to the call given by the Samyukta Kisan Morcha (SKM) to observe a countrywide protest day on May 26 marking the completion of six months of the heroic peaceful Kisan struggle.

योगी के जिले में ही न रुक सका भ्रष्टाचार, प्रदेश कैसे ठीक होगा! देखें वीडियो

के. सत्येंद्र- गोरखपुर जनपद में सहजनवा के ठर्रापार प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र पर पिछले 13 साल से जमे चिकित्सा अधीक्षक बमुश्किल ही कभी स्वास्थ्य केंद्र पर मरीज देखते मिलते हैं। लेकिन पिछले 13 सालों से प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र के नजदीक ही अपनी प्राइवेट क्लिनिक में रोजाना मरीज देखते हैं। मरीजों से सामान्य फीस 50 रुपया और …

अस्पताल संचालक ने जी न्यूज के रिपोर्टर पर लगाया पैसे मांगने का आरोप, दी थाने में तहरीर

बिहार के मुजफ्फरपुर में अस्पताल संचालक ने जी न्यूज के पत्रकार पर खबर नहीं चलाने के लिए पैसे मांगने का आरोप लगाया है. अस्पताल संचालक ने कांटी थाना में जी न्यूज के पत्रकार शिव शंकर झा के खिलाफ लिखित शिकायत दी है.

एफआईआर में न्यूज18 के मैनपुरी के रिपोर्टर का नाम है?

यूपी के मैनपुरी जिले में आशू मिश्रा के खिलाफ पुलिस ने नामजद रिपोर्ट दर्ज किया है. कुछ लोगों का कहना है कि ये आशू मिश्रा न्यूज18 वाले रिपोर्टर आशुतोष मिश्रा हैं.

वैक्सीनेशन कैंप लगाने से पहले bjp विधायक और नेताओं की सहमति जरूरी, सुनें आडियो

नागरिक अस्पताल पलवल (हरियाणा) के वैक्सीनेशन इंचार्ज डॉ योगेश मलिक के साथ पत्रकार सतीश भूटानी की बातचीत सुनिए। पलवल के विधायक दीपक मंगला और अन्य राजनेता वैक्सीनेशन कैंप अपने हिसाब से लगवा रहे हैं।

योगी का नौकरशाही पर अंधविश्वास कहीं विधानसभा चुनाव में भट्ठा न बिठा दे!

अजय कुमार, लखनऊ लखनऊ, उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का ब्यूरोक्रेसी यानी नौकरशाही के प्रति हद से ज्यादा झुकाव योगी कैबिनेट के मंत्रियों, पार्टी के जनप्रतिनिधियों/नेताओं/कार्यकर्ताओं को रास नहीं आ रहा है। यह नाराजगी तब से जारी है जब से योगी ने कार्यभार संभाला है, लेकिन चुनाव की तारीखें नजदीक आने के साथ-साथ कोरोना …

मिडिल क्लास अब मोदी की जगह राहुल को देखना चाहता है!

शीतल पी सिंह- क्या कुछ अंदर अंदर बदल रहा है ? सुधीर एक सुधी पत्रकार हैं, नवभारत टाइम्स के लखनऊ और NCR संस्करण के संपादक हैं यानि उत्तर प्रदेश में केंद्रित हैं । उन्होंने ट्विटर पर कल से एक पोल चला रक्खा है और ये उसका रिजल्ट है!

यूपी का चुनाव बंगाल से भी ज्यादा घृणित और अनैतिक होगा!

राकेश कायस्थ- ट्विटर ने जैसे ही कांग्रेस टूलकिट मामले में संबित पात्रा की ट्वीट को फर्जी बताया, केंद्र सरकार मैदान में कूद पड़ी। सरकार ने ट्विटर इंडिया के कर्ता-धर्ताओं को अच्छी तरह हड़काया। मत पूछियेगा कि सरकार ऐसी तत्परता टीके और ऑक्सीजन सिलेंडर उपलब्ध कराने में क्यों नहीं दिखाती? प्राथमिकताएं बहुत स्पष्ट हैं।

26 मई को किसानों द्वारा आयोजित ‘काला दिवस’ को जनवादी लेखक संघ का समर्थन!

26 मई को ‘काला दिवस’ मनाने के किसान आंदोलनकारियों के आह्वान की हिमायत में चालीस आन्दोलनरत किसान संगठनों के साझा मंच, संयुक्त किसान मोर्चा ने आनेवाली 26 मई के दिन को ‘काला दिवस’ के रूप में मनाने का जो आह्वान किया है, जनवादी लेखक संघ उसके साथ है।

बेस्ट वैक्सीन का चयन करें और वैक्सीनेशन जल्द पूरा करें वरना नए वेरियंट बनते रहेंगे…

गिरीश मालवीय- क्या वैक्सीनेशन ही कोरोना वायरस के प्रसार ओर म्यूटेशन का जरिया बन गया है? यह सवाल बार बार हम सबके दिमाग मे आता है लेकिन वैज्ञानिक बिरादरी से जुड़ा हुआ कोई भी शख्स इसकी पुष्टि करना तो दूर इस पर बात तक नही करता …..लेकिन अब एक ऐसे वायरोलिस्ट सामने आए हैं जिन्होंने …

खंडित व्यक्तित्व : प्रधान जी के रुदन में भी वही विरोधाभास है!

सुशोभित- भारत के प्रधानमंत्री एक विभाजित व्यक्तित्व के स्वामी मालूम होते हैं। जान पड़ता है उनकी कल्पनाओं में वास्तविकता के भिन्न भिन्न संस्करण हैं, किन्तु सोशल नेटवर्किंग में निहित अपार संभावनाओं से भलीभांति वाकिफ होने और स्वयं फेसबुक-ट्विटर पर अत्यंत सक्रिय होने के बावजूद वो ये समझ नहीं पाते कि यूनिवर्सल एक्स्पोज़र के इस दौर …

प्रयागराज की ये अकेली तस्वीर नरसंहार का वर्णन करने को पर्याप्त है!

Brajesh Mishra- प्रयागराज की ये अकेली तस्वीर कोरोना की त्रासदी से उत्तर प्रदेश में हुए नरसंहार का वर्णन करने को पर्याप्त है। अनगिनत लोग मारे गए जिन्हें सरकार के आँकड़ों तक में स्थान न मिला।

प्रसार भारती में सीनियर एडिटर (डिजिटल) के हैं दो पद खाली

प्रसार भारती में दो पद खाली हैं सीनियर एडिटर (डिजिटल) के. मीडिया में पंद्रह साल से ज्यादा का अनुभव रखने वाले आवेदन कर सकते हैं. पत्रकारिता की डिग्री के अलावा लिट्रेचर में पीजी होना चाहिए. पांच वर्ष का डिजिटल का अनुभव भी जरूरी है.

मिडिल क्लास पर आई तबाही तो ही मोदी बने विलेन, इतनी गालियां कभी न खाई होंगी!

Ashwini Kumar Srivastava- नरेंद्र मोदी ने देश की जनता से इतनी गालियां कभी नहीं खाई जितनी इस बार कोरोना में मारे जा रहे लोगों और निजी व सरकारी अस्पताल की स्वास्थ्य व्यवस्था ध्वस्त होने के बाद उन्हें खानी पड़ रही हैं… इतने बड़े बदलाव के पीछे देश का वह मध्य आर्थिक वर्ग है, जो कि …

बिना जांच करवाए ही पत्रकार को मिल गया कोरोना पॉजिटिव का सरकारी मैसेज!

Shivam Soni- जरा आप इस लापरवाह सिस्टम की गुस्ताख़ी तो देखिए बिना किसी जांच करवाएं मुझे कोरोना पॉजिटिव का तमगा दे दिया गया. जैसे ही मैंने सुबह अपनी आंख खोली मेरे होश फ़ाख्ता हो गए.. मोबाइल पर एक के बाद एक दो मैसेज देखने को मिले. मैसज को मैंने पोस्ट में अटैच किआ है.

सीएम की नाक के नीचे हुए सुसाइड कांड में तीसरे दिन दर्ज हुआ केस!

लखनऊ : सीएम योगी आदित्यनाथ के सोशल मीडिया सेल में कार्यरत कर्मचारी पार्थ श्रीवास्तव के सुसाइड प्रकरण में काफी देर से लखनऊ पुलिस ने केस दर्ज किया है. आरोपियों और साजिशकर्ताओं को सुबूत मिटाने का पूरा मौका दिया गया. लखनऊ पुलिस कमिश्नरेट ने ट्वीट पर केस दर्ज किए जाने की जानकारी दी है.

रहस्यमय कोरोना, विधि का विधान और विज्ञान : हानि-लाभु, जीवनु-मरनु, जसु-अपजसु विधि हाथ!

डॉ दिनेश चंद्र सिंह, आईएएस किसी भी सभ्यता व संस्कृति का विकास, समय-समय पर उसके लोगों के समक्ष आए संकट और उससे उतपन्न परिस्थितियों से जूझने की उनकी व्यक्तिगत-सामूहिक क्षमता पर निर्भर करता है। वर्तमान वैश्विक महामारी कोरोना वायरस के प्रकोप से उपजी हुई चुनौतीपूर्ण परिस्थितियों से निपटने के क्रम में भी हमें विधि के …

जिन शिक्षकों की ड्यूटी पंचायत चुनाव में लगी और मौत हो गई, उन्हें कोरोना से मरा माना जाए!

CHARAN SINGH RAJPUT- पंचायत चुनाव में दम तोड़ने वाले हर शिक्षक के परिजन मुआवजे के हकदार! वैसे तो पूरे देश में कोरोना महामारी ने बुरी तरह से कहर बरपाया है पर उत्तर प्रदेश इस महामारी से सबसे अधिक प्रभावित हो रहा है। प्रदेश में कोरोना महामारी के अधिक असर की वजह स्वास्थ्य सेवाओं के चरमराने …

बहस करने के मामले में भारतीयों जैसे कमीने दुनिया में कम हुए हैं!

रंगनाथ सिंह- मुझे लगता है पोलेमिक्स या बहसबाजी मानवीय सभ्यता का सबसे पुराना व्यसन है। बौद्धिक दुनिया का सबसे प्रिय मनोरंजन भी यही है। इसका सूत्रीकरण करते हुए एक आचार्य ने कहा है- वाद-विवाद-संवाद ही ज्ञान के विकास की प्रक्रिया है। हर बौद्धिक सिपाही पोलेमिक्स के मैदान में अपने अध्ययन, तर्क और तथ्यों का तेग …

मैनिपुलेटेड मीडिया! यह शब्द आया कहाँ से?

पुष्प रंजन- “मैनिपुलेटेड मीडिया”, यह शब्द आया कहाँ से? ये शब्द दमदार है. जोड़-तोड़, हेराफेरी, मनगढंत पटकथा के बिना पर दुष्प्रचार करनेवाले सूचना तंत्र के बारे में पूरा प्रतिबिम्ब खड़ा कर देता है. “गोदी मीडिया” में वो बात नहीं, जो “मैनिपुलेटेड मीडिया” में है. किसी को बदनाम करने, दुष्प्रचार, धूर्तता और फर्ज़ीवाड़े से चलने वाले …

जयपुर के पत्रकार चंद्रप्रकाश दवे भी नहीं रहे… न जाने कब कोई चला जाए!

श्रवण सिंह राठौर- अजीज मित्र और संजीदा पत्रकार चंद्र प्रकाश दवे जी हमें छोड़कर चले गए। विश्वास ही नहीं हो रहा। अभी थोड़े दिन पहले ही तो फोन आया था। राजस्थान पत्रिका से नौकरी छूट जाने के बाद दुखी थे, लेकिन फिर सम्भाल लिया था।

यूपी में लॉकडाउन उल्लंघन में पुलिस ने सब्ज़ी वाले को इतना पीटा कि वह मर गया!

सत्येंद्र पीएस- उत्तर प्रदेश सरकार को लोगों की जान बचाने की फिक्र दिल्ली से भी ज्यादा है। दिल्ली में पुलिस फाइन लगाकर लोगों को कोरोना से बचा रही है, यूपी में पीट पीटकर।

कोरोना पीड़ित वरिष्ठ पत्रकार ओम थानवी और उनकी पत्नी अस्पताल में एडमिट, छह रेमडेसिविर इंजेक्शन लगे

ओम थानवी- तो हम भी कोविड से दो-चार हो लिए। मेरे बाद प्रेमलताजी भी। दोनों एक श्रेष्ठ अस्पताल में स्वास्थ्य-लाभ ले रहे हैं। छह रेमडेसिविर लग चुके। बुख़ार और प्राणवायु दोनों रास्ते पर हैं।

घड़ियाली आंसू और ‘द टेलीग्राफ’ में घड़ियाल की फोटो के साथ कुछ ज्ञान की बातें!

संजय कुमार सिंह- “घड़ियाली आंसू” के बारे में कुछ ज्ञान की बातें… द टेलीग्राफ की एक खबर के अनुसार प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने वाराणसी के चिकित्सकों को वर्चुअली संबोधित किया उसके बाद से ट्वीटर पर क्रोकोडाइल टीयर्स (घड़ियाली आंसू) टॉप ट्रेंड कर रहा था।

कोरोना की मार के बीच पौड़ी के पत्रकारों की रार!

-इन्द्रेश मैखुरी आम तौर पर खबर लिखने का काम पत्रकारों का है. लेकिन जब पत्रकारों पर खबर लिखी जाने लगे तो समझिए कि पत्रकारों का मामला गड़बड़ा गया है. ऐसा ही लगता है कुछ गढ़वाल मण्डल के मुख्यलय पौड़ी के पत्रकारों के साथ हो गया है.

शकुन रघुवंशी ने ‘आज समाज’ अखबार से नाता तोड़ा शुरू किया नया कामकाज

दिल्ली-चंडीगढ़ से प्रकाशित दैनिक समाचार पत्र आज समाज में फरीदाबाद ब्यूरो चीफ के रूप में वर्ष 2012 से सेवाएं दे रहे शकुन रघुवंशी ने अब अख़बार से अपना नाता तोड़ लिया है.

यूपी में पहली जून से लॉकडाउन खत्म किए जाने के आसार, चालू होगा कारोबार!

अजय कुमार, लखनऊ लखनऊ । उत्तर प्रदेश में लाकडाउन ने व्यापारियों की कमर तोड़ दी है तो लाकडाउन की आड़ में कालाबाजारी करने वालों की चांदी हो गई है। इस कारण मंहगाई काफी बढ़ गई है। दवाओं और जीवनरक्षक उपकरणों की तो कालाबाजारी हो ही रही है, इसके अलावा खाद्य पदार्थ, घी-तेल ही नहीं रोजमर्रा …

मुझे मोदी का रोना कभी झूठा नहीं लगा…

श्याम मीरा सिंह- मुझे मोदी का रोना कभी भी झूठा नहीं लगा. न मैं मानता वे कोई एक्टिंग करते हैं, असल बताऊँ तो जब भी मोदी को भाषण देते देते रोते देखता हूं तो उनसे सहानुभूति होती है, उनके लिए दुःख होता है कि एक बूढ़ा आदमी जो अंदर से निरीह बच्चे जैसा है मरते …

चले गए वरिष्ठ पत्रकार राजकुमार केसवानी!

देव श्रीमाली- मुझे इलेक्ट्रॉनिक मीडिया में राष्ट्रीय फलक से जोड़ने वाले राजकुमार केसवानी नहीं रहे वरिष्ठ पत्रकार, जबरदस्त लेखक, फिल्मी लेखन के बादशाह राजकुमार केसवानी जी अब नही रहे। दैनिक भास्कर के रसरंग में रविवार को करोड़ों पाठकों को सिर्फ फ़िल्म पर आधारित उनके कॉलम “आपस की बात” का बेसबी से इंतज़ार रहता था। अब …

पार्थ सुसाइड कांड और CM आफिस : कातिल ही मुंसिफ है!

अश्विनी कुमार श्रीवास्तव- सुसाइड नहीं सुसाइडल होना है सही रास्ता मुख्यमंत्री कार्यालय में हुई युवा की खुदकुशी से नहीं मिल जाएंगी अंधों को आंखें जीते जी जिन्होंने अन्याय किया, उन्हीं कातिलों से मरने वक्त अपने लिए न्याय की गुहार लगाना खुदकुशी से भी बड़ी नादानी

घटती TRP देख साहेब सिसक पड़े! तब से PTI और ANI दोनों रो रहे हैं, सभी चैनलों से सिसकियाँ आ रही हैं!

शीतल पी सिंह- कैमरे के लिए रोज़ सफल कंटेंट जुटाना एक मुश्किल काम है। चैनलों के संपादक/ एंकर यह बात लंबे समय से जानते हैं! इसी कठिनाई से बचने के लिए स्टूडियो युद्ध की शुरुआत हुई थी जिसमें एक एंकर कुछ कथित विशेषज्ञ बुलाकर उनमें “भेंड़ा लड़ाया करते थे/हैं”! फ़िर यह बात बहस से निकलकर …

बाइज्जत बरी हुए तरुण तेजपाल!

पंकज चतुर्वेदी- रेप केस में पत्रकार तरुण तेजपाल को बड़ी राहत मिली है. 8 साल बाद गोवा की सेशन कोर्ट ने तरुण तेजपाल को बरी कर दिया है. गोवा सरकार का कहना है कि हम फैसले को चुनौती देंगे. तहलका मैगजीन के पूर्व प्रधान संपादक तरुण तेजपाल पर 2013 में गोवा के एक लक्जरी होटल …

पिता टिहरी राजा के दरबार में कोतवाल और बेटा अखबारों में राजा के खिलाफ खबरें लिखे!

सुशील बहुगुणा- एक हिमनद बिछड़ गया… सुंदरलाल बहुगुणा के देह त्यागने के साथ ही आज जैसे एक हिमयुग का अंत हो गया. लेकिन वास्तव में देह तो उन्होंने दशकों पहले तब ही त्याग दी थी जब हिमालय और नदियों की अक्षुण्णता बनाए रखने और बांधों से उन्हें न जकड़ने की मांग को लेकर उन्होंने लंबे …

रजनीश ने खुद ही खुद को आचार्य, फिर भगवान फिर ओशो घोषित कर लिया!

रंगनाथ सिंह- अब वरिष्ठ हो चुके एक पत्रकार ने नामवर सिंह पर अपने संस्मरण में एक रोचक प्रसंग का जिक्र किया है। पत्रकार के पिता जी बनारस के नामी साहित्यकार थे। पत्रकार महोदय का शायद जेएनयू में एडमिशन हुआ या एंट्रेंस देना था। जो भी वजह उन्होंने लिखी हो अभी याद नहीं। उनके पिताजी ने …

CM ममता तो खुलकर भिड़ गईं PM मोदी से!

विक्रम सिंह चौहान- ममता बनर्जी ने मोदी से दूसरी लड़ाई का उदघोष कर दिया है. कल दो डिसीजन ममता ने लिए वो सामान्य नहीं थे. पहला मोदी के मीटिंग के तुरंत बाद उनको मीटिंग में बोलने का अवसर न देने पर किया गया प्रेस कॉन्फ्रेंस.

श्रद्धांजलि : महान पर्यावरणविद सुंदर लाल बहुगुणा की जगह कोई नहीं ले सकता!

विजय शंकर सिंह- उत्तराखंड : एम्स ऋषिकेश में भर्ती पर्यावरणविद सुंदर लाल बहुगुणा (94 वर्षीय) का शुक्रवार दोपहर 12 बजे निधन हो गया। सुंदर लाल बहुगुणा कोरोना संक्रमित थे। नहीं रहे चिपको आंदोलन के प्रणेता सुंदर लाल बहुगुणा… सुप्रसिद्ध पर्यावरणविद और चिपको आंदोलन के प्रणेता सुंदरलाल बहुगुणा जी नहीं रहे। वे एम्स ऋषिकेश में भर्ती …

दैनिक भास्कर और प्रभात खबर : कारोबारी अख़बार का आंदोलनकारी बन जाना और खुद को आंदोलनकारी कहने वाले का कारोबारी!

पुष्य मित्र- दैनिक भास्कर और प्रभात खबर : जिस साल (2010) मैने प्रभात खबर जॉइन किया था, उसी साल रांची से दैनिक भास्कर अखबार की लॉन्चिंग हुई थी। उस वक़्त हरिवंश सर प्रभात खबर अखबार के प्रधान सम्पादक थे। प्रभात खबर तब झारखंड का नम्बर वन अखबार था। जबकि दैनिक भास्कर की छवि एक ऐसे …

ट्विटर ने तो संबित पात्रा की ग़ज़ब बेइज्जती कर दी!

शीतल पी सिंह- ट्विटर प्रशासन ने बीजेपी के विवादास्पद राष्ट्रीय प्रवक्ता संबित पात्रा के ट्वीट्स पर एक शीर्षक लगाना शुरू किया है!

देखें लिस्ट, किसे किसे मिला कुलिश अवार्ड 2018 & 2019

जयपुर। राजस्थान पत्रिका समूह की ओर से उत्कृष्ट पत्रकारिता के लिए 11 हजार अमरीकी डॉलर पुरस्कार राशि वाले कर्पूर चंद्र कुलिश (केसीके) इंटरनेशनल अवार्ड फॉर एक्सीलेंस इन जर्नलिज्म के वर्ष 2018 और 2019 के विजेताओं की घोषणा कर दी गई है। वर्ष 2018 के विजेता लखनऊ के अभिषेक गौतम रहे हैं, जबकि 2019 का यह …

कुलिश पत्रकारिता पुरस्कार (मेरिट) पाने वालों की लिस्ट में पत्रकार शिवा अवस्थी का भी नाम!

कानपुर में रहकर 23 वर्षों से कर रहे हिंदी पत्रकारिता, खोजी खबरों के लिए खास पहचान कानपुर : दैनिक जागरण कानपुर के वरिष्ठ उपसंपादक और ढाई साल तक बुंदेलखंड के चित्रकूट में दैनिक जागरण के जिला प्रभारी रहे वरिष्ठ पत्रकार शिव स्वरूप अवस्थी शिवा को राजस्थान पत्रिका की ओर से दिया जाने वाला केसी कुलिश …

पार्थ सुसाइड कांड : सूचना निदेशक शिशिर को भेजे गए ट्वीट को किसने डिलीट किया?

अमिताभ ठाकुर- UP CM के IT सेल के पार्थ तक को न्याय नहीं? पार्थ के सुसाइड के बाद सूचना निदेशक शिशिर सिंह को भेजा उसका ट्वीट किसने डिलीट किया?

योगी की नाक के नीचे सूचना विभाग में चल रहा महाघोटाला! क्या ‘खेल’ करने वाले अफ़सर नपेंगे?

यूपी के सूचना विभाग का कच्चा चिट्ठा खुलने लगा है। प्रथम दृष्टया जो तथ्य सामने आए हैं वह एक महा घोटाले की तरफ़ इशारा कर रहे हैं। योगी की सोशल मीडिया टीम के एक सदस्य द्वारा सुसाइड कर लेने के बाद भ्रष्टाचारियों के चेहरे पर से नक़ाब हटना शुरू हो चुका है।

विज्ञापन न मिला तो मुस्लिम ग्राम प्रधान के विरुद्ध गोवंश-मांस खाने की फ़र्ज़ी ख़बर छाप दी, पत्रकारों पर मुकदमा दर्ज

ईद उल फितर के मौके पर विज्ञापन ना मिलने से नाराज दैनिक “आज” अखबार के तहसील संवाददाता व फोटोजर्नलिस्ट को नवनिर्वाचित ग्राम प्रधान के विरुद्ध गोवंश की हत्या की खबर छापना महंगा पड़ गया। ग्राम प्रधान ने प्रकाशित समाचार को अपने विरुद्ध प्रतिद्वंद्वियों से मिलकर षड्यंत्र रचा जाना करार देते हुए कोतवाली में तहरीर देकर …

सीएम योगी की सोशल मीडिया टीम के पार्थ ने आत्महत्या कर ली!

Abhay Singh Rathaur- सीएम योगी की सोशल मीडिया टीम में कार्यरत पार्थ श्रीवास्तव ने आत्महत्या कर ली है! पार्थ ने सुसाइड नोट में लिखा है ‘मेरी आत्महत्या एक कत्ल है जिसका जिम्मेदार उसने शैलजा और पुष्पेंद्र सिंह को ठहराया है’। नोट में प्रणय, महेंद्र और अभय का भी जिक्र है। पुष्पेंद्र सिंह पर उत्पीड़न का …

दरोगाजी ने आज सचमुच बता दिया अपराधियों से तमंचा कैसे बरामद होता है, देखें वीडियो

अपराधी चाहे जैसा हो, जब वह पकड़ा जाता है तो उसके पास से तमंचा जरूर बरामद होता है. हर अपराधी तमंचा लेकर घूमता है, ऐसा महसूस होता है. लेकिन ये बात सही नहीं है. ढेर सारे मामलों में केस तगड़ा बनाने के लिए पुलिस वाले तमंचा अपनी तरफ से लगा देते हैं. इस राज पर …

यशवंत की कोरोना डायरी (2) : हर तरफ हल्ला हो गया- रूम नंबर 8 वाले भागने के लिए कह रहे हैं!

यशवंत सिंह- अस्पताल चलें… घर पर जब आक्सीजन लेवल अट्ठासी-नब्बे के बीच चक्कर लगाने लगा था तो उसी समय भर्ती होने का तय किया. पर भर्ती कहां होऊं? हर तरफ तो बेड-आक्सीजन के लिए हाहाकार है. किससे कहूं? क्या करूं? अगर और नीचे गिरा आक्सीजन लेवल तो क्या होगा… इसलिए घर से बाहर निकलने के …

जब वे मर गए तो लोगों को आश्चर्य हुआ- अरे! वे अब तक जिंदा थे!

Alok Paradkar- वनराज भाटिया के आखिरी वर्षों की गुमनामी, उनका अकेलापन और आर्थिक संकट देखकर हैरत होती है कि एक ऐसे संगीतकार ने जिसने इतना काम किया, इतने क्षेत्रों में काम किया, इतने लंबे समय तक काम किया, उसे लोगों ने इस तरह छोड़ दिया, फिल्मी दुनिया ने उसकी खोज-खबर न ली, उसके कोई खास …