रथयात्रा की अनुमति नहीं मिली तो जागरण ने छापा, “भाजपा को बंगाल में रैलियों की मंजूरी, रथयात्रा में पेंच”

आज यह तय करना मुश्किल रहा कि किस खबर की चर्चा की जाए। कई अखबार पलटने के बाद भी मन लायक मुद्दा नहीं मिला। जो मिला उसमें अनुवाद ज्यादा करना पड़ता। कल ही एक खबर अनुवाद किया था आज भी राजद्रोह की खबर के मामले में टेलीग्राफ की एक खबर अनुवाद करने लायक है। इसके …

देश विरोधी नारे टीवी पर दिखाना संपादकीय स्वतंत्रता है?

सत्य हिन्दी डॉट कॉम पर नीरेन्द्र नागर का एक आलेख है, “सुप्रीम कोर्ट के अनुसार, देशविरोधी नारे लगाना राजद्रोह नहीं है”। इसे पढ़कर मेरे दिमाग में एक सवाल उठा। यह सवाल मेरे दिमाग में तब भी था जब जवाहर लाल नेहरू विश्वविद्यालय में छात्रों द्वारा देश विरोधी नारे लगाने का आरोप लगा था और इससे …

सरकारी कार्रवाई का यह डरावना अंदाज किसी अखबार ने नहीं बताया

वैसे तो आज ज्यादातर अखबारों में जेएनयू मामले में तीन साल बाद और आम चुनाव से पहले दायर राष्ट्रद्रोह के मामले की चर्चा है और सबकी प्रस्तुति उनके अपने अंदाज में है। इस बारे में मैं लिखता रहा हूं। अंग्रेजी दैनिक द टेलीग्राफ में इस खबर को सबसे गंभीरता से पेश किया है और बताया …

सीकरी कांड : सोशल मीडिया ने कहा ‘ईनाम’, अखबारों ने लिखा- ‘ठुकाराया गया प्रस्ताव’

दैनिक भास्कर और राजस्थान पत्रिका के शीर्षक में पूरी बात कही सोशल मीडिया की खबरें आमतौर पर अखबारों में नहीं आतीं। लेकिन आज एक खबर कई अखबारों में प्रमुखता से है। खबर है, “जस्टिस एके सीकरी ने ठुकराया सरकार का प्रस्ताव, अब नहीं होंगे सीएसए ट्रिब्यूनल के सदस्य”। मैं जितने अखबार देखता हूं उनमें नवोदय …

टेलीग्राफ में आज पहले पन्ने की खबर सोए कुत्ते के साथ!

राकेश अस्थाना के मध्यस्थ बन गए थे सीवीसी! सीबीआई मामले में नया खुलासा ज्यादातर अखबारों में नहीं है आज एक नई सूचना के आलोक में सीबीआई प्रमुख आलोक वर्मा को हटाए जाने की खबर फिर से। सूचना कल ही आ गई थी और मैंने सोशल मीडिया पर शेयर भी किया था, “देखिए, कल गोदी मीडिया …

टेलीग्राफ ने प्रधानमंत्री से पूछा सवाल

सीबीआई में दागी अफसर लाना अपराध है तो दोषी और भी हैं !! मैंने फेसबुक पर कल एक पोस्ट लिखी थी, “आलोक वर्मा के खिलाफ जो चार आरोप कंफर्म बताए जा रहे हैं उनमें एक सीबीआई में दागी अफसरों को शामिल करने की कोशिश का भी है और राकेश अस्थाना के खिलाफ जांच का नहीं …

एंकर केंद्रित चैनल का एंकर विरोधी विज्ञापन

ज़ी हिन्दुस्तान का एक विज्ञापन आजकल चर्चा में है। कुछेक नामी-गिरामी चैनल के महत्वपूर्ण शो और उसके एंकर का नाम लेकर कुछ विज्ञापन आए हैं। उन्हीं विज्ञापनों की चर्चा चल रही है। जब चैनल एंकर पर केंद्रित प्रचार कर रहा है तो चैनल के कुछएंकर याद आते हैं जिनकी चर्चा इस मौके पर की जानी …

आलोक वर्मा पर आरोप थे लेकिन उनकी जांच कहां हुई

सीबीआई प्रमुख आलोक वर्मा पर आरोप थे, सीवीसी ने उनकी जांच की और आधी रात की कार्रवाई में प्रधानमंत्री ने उन्हें पद से हटा दिया। प्रधानमंत्री को यह अधिकार नहीं है इसलिए मामला सुप्रीम कोर्ट में गया और सुप्रीम कोर्ट ने उन्हें बहाल कर दिया। इस शर्त के साथ कि सीबीआई निदेशक नियुक्त करने वाली …

राजनीतिक मैच जिताने वाले ‘छक्के’ की खबर आपके अखबार में है?

आज लोकसभा में पेश और पास आरक्षण बिल से संबंधित दो खबरों की चर्चा। पहले, प्रधानमंत्री ने कल महाराष्ट्र के सोलापुर और उत्तर प्रदेश के आगरा में जनसभाएं की। दैनिक भास्कर ने इसे रैली में भी आरक्षण के तहत, “मैंने बिना किसी का हक काटे, गरीब उच्च जातियों के बच्चों की चिन्ता की है” शीर्षक …

एचएएल को मंच क्यों नहीं मुहैया करा रहे अखबार

आज सार्वजनिक क्षेत्र के उपक्रम हिंदुस्तान एयरोनॉटिक्स लिमिटेड (एचएएल) के बारे में। 30,000 कर्मचारियों वाली यह कंपनी कई कारणों से चर्चा में है। आप जानते हैं कि कंपनी हाल तक मुनाफे में चल रही थी और पिछले दिनों खबर थी कि कंपनी के पास नकद नहीं हैं। तनख्वाह देने जैसी जरूरतों के लिए उसे करीब …

निरस्त धारा में कार्रवाई और आरक्षण का लॉलीपॉप

ऊंची जाति के ‘गरीब’ लोगों के लिए 10 प्रतिशत आरक्षण के प्रस्ताव की खबर मिलते ही यह साफ हो गया था कि आज के अखबारों में इसे ही लीड होना है। इसलिए, मैंने कल ही तय कर लिया था कि इस खबर पर नहीं लिखना है। फिर भी आपको बता दूं कि टेलीग्राफ ने इस …

राफेल पर राहुल के सवाल और रक्षामंत्री की खुन्नस

राफेल सौदे से जुड़े मूल मुद्दे पीछे करके एचएएल की हालत, उसका ख्याल रखने जैसी जिम्मेदारी को महत्व देने की रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण की कोशिश सफल होती दिख रही है। आज के अखबारों से तो यह बिल्कुल स्पष्ट है। कल यानी इतवार को टाइम्स ऑफ इंडिया ने खबर छापी कि एचएएल को जो ऑर्डर …

यह खबर कहां गई, आज अखबारों में क्यों नहीं है?

“क्रिश्चियन मिशेल का बड़ा दावा, बीजेपी नेता ने अगस्ता वेस्टलैंड कंपनी को ब्लैक लिस्ट से हटाने की सिफारिश की थी” Agusta Westland Case: क्रिश्चियन मिशेल ने कई रसूखदार लोगों को जानने की भी बात कही है. उसने कहा कि मैं यूपीए अध्यक्ष सोनिया गांधी, चंद्रास्वामी को जानता हूं. मिशेल ने एक पूर्व वित्त मंत्री का …

रफाल पर खूब बोलीं रक्षा मंत्री, खूब छापा अखबारों ने, पर जवाब नहीं मिला

पत्रकारिता पुरस्कार बंटने के अगले दिन रिपोर्टिंग की चर्चा। लोकसभा में रफाल सौदे पर कल हुई चर्चा आज सभी अखबारों में लीड है। वैसे तो कल टेलीविजन की खबरों से पता चल गया था कि रफाल मामले में जो सवाल उठ रहे हैं उसका जवाब नहीं दिया गया है। कल रक्षा मंत्री इस मुद्दे पर …

टेलीग्राफ ने लिखा- ‘कश्मीर में हम उन्हें गोली मार देते हैं, केरल में उन्हें श्रद्धालु कहते हैं’

किसी के लिए हिंसा महत्वपूर्ण है तो किसी के लिए कांग्रेस की रणनीति अंग्रेजी अखबार, द टेलीग्राफ ने आज पहले पन्ने पर छह कॉलम में एक फोटो छापी है जिसका शीर्षक सात कॉलम में है – कश्मीर में हम उन्हें गोली मार देते हैं. केरल में उन्हें श्रद्धालु कहते हैं. इसका कैप्शन एक कॉलम में …

करण थापर के साथ नरेन्द्र मोदी का ऐतिहासिक इंटरव्यू और उसके बाद

एएनआई की संपादक स्मिता प्रकाश के साथ प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के कथित इंटरव्यू और उसके लगभग सभी अखबारों में छपने के बाद करण थापर द्वारा प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के इंटरव्यू की चर्चा भी होनी ही चाहिए। हालांकि, यह चर्चा पहले कई बार हुई है और आगे भी होगी। इस मौके पर मैं करण थापर की …

रामनाथ गोयनका नाम वाला बड़ा पत्रकारिता पुरस्कार नेता के हाथों क्यों दिया जाता है?

आज रामनाथ गोयनका पत्रकारिता पुरस्कार के बारे में। इंडियन ए्क्सप्रेस में आज पहले पन्ने पर छपी खबर के अनुसार केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह 13वें रामनाथ गोयनका पत्रकारिता पुरस्कार समारोह के मुख्य अतिथि होंगे और 18 श्रेणी में 29 विजेताओं को पुरस्कार बांटेंगे। पिछले साल यह पुरस्कार उपराष्ट्रपति एम वेंकैया नायडू ने दिए थे और उससे …

आज तो छाया हुआ है इंटरव्यू, जो आत्मप्रचार ज्यादा है

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के इंटरव्यू को कल टेलीविजन वालों ने तो खूब दिखाया ही, आज के अखबारों ने भी जस का तस छाप दिया है। अगर कल टेलीविजन पर यह इंटरव्यू आ ही गया तो आज के अखबारों में नया क्या है? अव्वल तो एक टेलीविजन समाचार एजेंसी को दिया इंटरव्यू टेलीविजन पर भले दिखाया …

तीन तलाक विधेयक से ऐसे हो रहा है सरकार को लाभ

संख्या बल के दम पर तीन तलाक विधेयक, “मुस्लिम महिला विवाह अधिकार संरक्षण बिल, 2018” लोकसभा में पास होने के बावजूद राज्यसभा में पास होने की उम्मीद नहीं है। भाजपा ने इसके बावजूद इसे राज्यसभा में पेश करने का निर्णय किया था और कल मैंने लिखा था कि यह खबर सिर्फ हिन्दुस्तान में लीड थी …

खबरें, फोटो और खाली बची जगह, बन गया अखबार

आज खबरें नहीं थी फिर भी अंडमान निकोबार द्वीप समूह का नाम बदलने वाली खबर लीड नहीं बनी। क्रिकेट में मेरी दिलचस्पी नहीं है इसलिए मैंने पहले पेज पर खबर होने के बाद भी ध्यान नहीं दिया। आज क्रिकेट की खबर भी लीड हो सकती थी। हालांकि, ये दोनों खबरें ऐसे छपतीं तो और अच्छा …

नाम बदलने की खबर का ऐसा बुरा हाल क्यों हुआ?

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कल अंडमान निकोबार द्वीप समूह के तीन द्वीपों के नाम बदलने की घोषणा की। नेताजी सुभाष चंद्र बोस द्वारा तिरंगा फहराने की 75वीं वर्षगांठ पर यह घोषणा की गई। मोदी ने अपने भाषण में कहा कि रॉस द्वीप का नाम बदलकर नेताजी सुभाष चंद्र बोस द्वीप रखा जाएगा, नील द्वीप को …

पप्पू में निवेश बेकार गया इसलिए आक्रामकता बढ़ गई है, देखिए कैसे

आज के अखबारों में दो बड़ी खबरें हैं। एक रैली में प्रधानमंत्री द्वारा कर्जमाफी को लॉलीपॉप कहना, चोरों की नींद उड़ी की सूचना और चौकीदार की ईमानदारी का एलान। इसके मुकाबले रद्द किए जा चुके अगस्ता वेस्टलैंड सौदे के बिचौलिए क्रिश्चियन मिशेल का खुलासा- मिसेज गांधी और आर नाम वाला पुत्र। आज नवभारत टाइम्स, दैनिक …

सरकार का संस्कृत प्रेम, मन की बात में संस्कृत और संस्कृत का हाल

आज सुबह हिन्दुस्तान टाइम्स और दैनिक भास्कर पलटने के बाद इंटरनेट पर टेलीग्राफ को देखना शुरू किया तो पहले पन्ने पर एक खबर दिखी, संस्कृत रीयलिटी चेक फॉर मुंशी मोदी। संस्कृत और रीयलिटी चेक  – कान खड़े हो गए। याद आया कि वीरवार को एनडीटीवी प्राइम टाइम पर खबर थी कि देश भर के संस्कृत …

आज ऐक्सीडेंटल पीएम के बहाने एक और ‘एक्सीडेंट’ की बात

आप जानते हैं कि पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह के पूर्व मीडिया सलाहकार रहे संजय बारू ने एक किताब लिखी थी, दि ऐक्सीडेंटल प्राइम मिनिस्टर। मैंने यह किताब नहीं पढ़ी। इसकी कथा कहानी छपती रही है, मैंने उसे भी कायदे से नहीं पढ़ा है। इसलिए, मुझे यह भी पता नहीं था कि इस पर फिल्म बन …

भ्रष्टाचार मिटाने की बात करने वाली सरकार का विज्ञापनों में भ्रष्टाचार

मंत्रियों के स्टिंग की खबर छापने वाले 4 PM के संपादक ने लिखा है, ..यूपी के सूचना निदेशक ने हमारे रिपोर्टर से कहा कि इस तरह की ख़बरें छापेंगे तो हम एड नही दे पायेंगे .. 4 PM इकलौता ऐसा अख़बार है जिसको दो साल मे पचास हजार का भी एड नही दिया गया . …

मंत्रियों के सचिव रिश्वत मांगते पकड़े गए, अखबारों ने दबा दी खबर

आज की सबसे बड़ी खबर है, एक टेलीविजन चैनल के स्टिंग ऑपरेशन में उत्तर प्रदेश के तीन मंत्रियों के निजी सचिव रिश्वत मांगते पकड़े गए। लखनऊ के सांध्य दैनिक 4 पीएम ने इस बार में कल ही लिखा था, “सीएम साहब! बिना मंत्री की सहमति के निजी सचिव नहीं कर सकते उनके दफ्तर में पैसों …

रांधवा की गिरफ्तारी के बहाने आज खबरों की खबर

आज एक खबर की खबर। इस स्पष्टीकरण के साथ कि मैं ज्योति रांधवा को निजी तौर पर नहीं जानता, कभी नहीं मिला और उनके किसी करीबी से भी मेरी कभी कोई मुलाकात या उनके बारे में कोई चर्चा नहीं है। आज मैं जिन खबरों की चर्चा कर रहा हूं उन्हें लिखने वालों को भी नहीं …

जमीन वापसी तो ठीक है, छत्तीसगढ़ में टाटा का प्लांट लगा क्यों नहीं

टाटा स्टील के प्लांट के लिए अधिगृहित जमीन आदिवासी किसानों को लौटाने का छत्तीसगढ़ सरकार का फैसला राजनीति दृष्टि से बहुत ही सधा हुआ है। अब लगता है कि यह काम भाजपा भी कर सकती थी। लेकिन जैसा कि जीएसटी पर उसके तेवर से लग रहा है, तीन राज्यों का चुनाव हारने से पहले उसे …

आपने “ … पुडुचेरी को वणक्कम” सुना क्या?

आपने नमो ऐप के बारे में खूब पढ़ा है। आप यह भी जानते हैं कि भाजपा और राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ का प्रबंध बूथ स्तर तक है। प्रधानमंत्री सोशल मीडिया पर सक्रिय रहते हैं। उनके लाखो फॉलोअर हैं आदि आदि। पर क्या आपने “पुडुचेरी को वणक्कम” सुना है? यह एक हफ्ते पुराना मामला है जिस …

नमाज नहीं पढ़ने का आदेश और ‘हिन्दू’ हो गए अखबार

पुलिस इंस्पेक्टर की चिट्ठी और ईज ऑफ बिजनेस का धुंआ निकल गया पर चर्चा कहीं नहीं आज के अखबारों में यह खबर प्रमुखता से छपी है कि नोएडा के एक पार्क में नमाज पढ़ने वालों को ऐसा करने से मना कर दिया गया है। और इस संबंध में इलाके की कंपनियों को चिट्ठी भेजकर अपेक्षा …