यूपी के मुख्यमंत्री निवास पर संवाददाता सम्मेलन की यह तस्वीर हो रही वायरल

Dilip Mandal : यह बीजेपी कार्यकर्ताओं का सम्मेलन नहीं है. यूपी के मुख्यमंत्री निवास पर हुए संवाददाता सम्मेलन की ताजा तस्वीर है. ये सब निष्पक्ष पत्रकार हैं. इनका बताया हुआ जानकर हम अपने विचार बनाते हैं. आपके प्रिय चैनल का रिपोर्टर भी यहीं है. भारतीय मीडिया एक पोंगापंथी सवर्ण पुरुष है. यूपी के मुख्यमंत्री निवास पर संवाददाता सम्मेलन की वायरल हो रही तस्वीर. पहचानिए अपने प्रिय चैनल और अखबार के पत्रकार को. वह यहीं कहीं है. गौर से देखिए. यूपी के सीएम निवास पर संवाददाता सम्मेलन की तस्वीर.

एबीपी न्यूज की एक अधूरी ‘प्रेस कांफ्रेंस’ की कहानी : क्या अखिलेश यादव वाला एपिसोड दिखवा पाएंगे दिबांग?

पिछले दिनों लखनऊ में हिंदुस्तान टाइम्स और एबीपी न्यूज का एक समिट था. इसमें सीएम अखिलेश यादव भी बुलाए गए थे. लगे हाथ प्लान हुआ कि क्यों न एबीपी न्यूज के प्रोग्राम ‘प्रेस कांफ्रेंस’ के लिए अखिलेश यादव का इंटरव्यू हो जाए. दिबांग अपनी पूरी पत्रकार मंडली के साथ समिट वाले स्थल के बगल में ही बनाए गए स्टूडियो में बैठे. अखिलेश यादव भी आ गए. प्रोग्राम शुरू हुआ.

मीडिया वालों ने प्रेस रिलीज फाड़कर हार्दिक पटेल के मुंह पर फेंकते हुए प्रेस कांफ्रेंस का बहिष्कार कर दिया

Ahmedabad : Members of Electronic and Print Media today walked out and boycotted the press conference of Patidar Anamat Andolan Samiti (PAAS) leader Hardik Patel following his rude behavior. Hardik had called the press conference at 1130 hrs at a restaurant to announce his future plan of action after the government foiled his ‘Ekta Yatra’ by arresting him from Surat on September 19. He had announced to suspend the ‘Ekta Yatra’ till the law and order in Gujarat was not restored.

क्या ABP NEWS के प्रोग्राम ‘प्रेस कॉन्फ्रेंस’ ने बदली ‘प्रेस कॉन्फ्रेंस’ की परिभाषा?

ABP NEWS ने एक नया प्रोग्राम शुरू किया है ‘प्रेस कॉन्फ्रेंस’, इस प्रोग्राम के पहले एपिसोड में जहां AAP (आम आदमी पार्टी) के नेता और दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल थे, दूसरे एपिसोड में अपने बयानों को लेकर विवादों में रहने वाले AIMIM (आल इंडिया मजलिस-ए- इत्तेहादुल मुसलमीन) के नेता और सांसद असदुद्दीन ओवेसी मौजूद थे, वहीं, तीसरे एपीसोड में BJP नेता और मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान मौजूद थे।

अनिरुद्ध बहल के न्योते पर आगे से कोई क्यों करे भरोसा

: बड़ी खबर के नाम पर बुलाया और लांच किया अपनी हास्य व्यंग्य किताब : मार्केटिंग के लिए कोबरा पोस्ट ने बोला इतना बड़ा झूठ : कोबरा पोस्ट ने नेताओं, आतंकवादियों और खुफिया एजेंसियों से जुड़ा सबसे बड़ा खुलासा किए जाने का जो दावा किया था, दरअसल वह उसका मार्केटिंग स्टंट था। कोबरा पोस्ट ने देश की सुरक्षा को लेकर बेहद असंवेदनशील हरकत इसलिए की ताकि उसके संपादक अनिरूद्ध बहल द्वारा जारी हास्य पुस्तक की पब्लिसिटी हो सके। इस छलावे का खुलासा कई जाने-माने पत्रकारों से खचाखच कमरे में खुद बहल ने ही किया। इन पत्रकारों को यह कहकर बुलाया गया था कि मंगलवार को देश की सुरक्षा को लेकर अब तक का सबसे बड़ा खुलासा किया जाएगा।

सांसद ने पत्रकारों की कीमत लगाई मात्र दो-दो सौ रुपये!

पहले नेता भ्रष्ट हुए. फिर नेताओं ने भ्रष्ट अफसरों को करीब रखकर उन्हें प्रमोट करना और उनके जरिए कमाना शुरू किया. इसके बाद भ्रष्ट नेता और भ्रष्ट अफसर ने मीडिया को भ्रष्ट कर अपने भ्रष्टाचार की पोल को खुलने से रोका, साथ ही भ्रष्टाचार के गठजोड़ को बड़ा किया. ये साबित तथ्य हैं. इसीलिए कहा जाता है कि मीडिया कोई अलग थलग भ्रष्ट नहीं है बल्कि इसे दो भ्रष्ट स्तंभों ने भ्रष्ट करने में अहम भूमिका निभाई है. देश में जब तक राजनीति अच्छी नहीं होगी, राजनीति नहीं सुधरेगी तब तक मीडिया का सुधरना मुश्किल है. इसी का ताजा उदाहरण है एक नेता द्वारा मीडिया वालों को रिश्वत देने का.