छत्तीसगढ़ में सीडी का सच… मास्टर माइंड खुद है सरकार! (पढ़ें सन स्टार के प्रधान संपादक का पत्र)

प्रति, संपादक भड़ास फार मीडिया, नई दिल्ली विषय : छत्तीसगढ़ में सीडी का सच, मास्टर माइंड खुद है सरकार महोदय, छत्तीसगढ़ में पिछले 15 वर्षों में सीडी का जो खेल चल रहा है उसका मास्टर माइंड आखिर सामने आ ही गया। सन स्टार के खुलासे में यह साबित हो चुका है कि सीडी के खेल …

नेताओं को तेल लगाने के मामले में भास्कर समूह ने सारे मीडिया हाउसों को पछाड़ा! देखें अखबार

कहते हैं कि मीडिया निष्पक्ष होता है. वह अगर पक्षकार है तो आम जन का, गरीब जनता का, हाशिए के लोगों का. पर दैनिक भास्कर में उल्टी गंगा बहती है. छत्तीसगढ़ में सरकार से ढेर सारे अनुग्रह हासिल करने वाले दैनिक भास्कर समूह ने नेताओं को तेल लगाने के मामले में सबको पीछे छोड़ दिया. …

रमन सिंह ने रायपुर से दैनिक भास्‍कर का डेरा-डंडा उखाड़ने का आदेश दिया!

दैनिक भास्‍कर, रायपुर को 1985 में कांग्रेस द्वारा प्रेस लगाने के लिए (अविभाजित मध्‍य प्रदेश में) पट्टे पर दी गई ज़मीन को छत्‍तीसगढ़ प्रशासन ने शुक्रवार 7 जुलाई के एक शासनादेश के माध्‍यम से रद्द कर के उस पर प्रशासनिक कब्‍ज़े का आदेश दे दिया है। ज़मीन का कुल आकार 45725 वर्गफुट और अतिरिक्‍त 9212 वर्ग फुट है यानी कुल करीब 5000 वर्ग मीटर है। नजूल की यह ज़मीन रायपुर भास्‍कर को प्रेस लगाने के लिए इस शर्त पर कांग्रेस शासन द्वारा दी गई थी कि संस्‍थान अगर प्रेस लगाने के विशिष्‍ट प्रयोजन से मिली ज़मीन को किसी और प्रयोजन के लिए इस्‍तेमाल करेगा तो शासन उसे वापस ले लेगा। इस ज़मीन का पट्टा 31 मार्च 2015 को समाप्‍त हो चुका था और दैनिक भास्‍कर ने इसके नवीनीकरण के लिए अग्रिम आवेदन किया था।

सुप्रीम कोर्ट ने दिया पत्रकार गिरिराज शर्मा पर मानहानि का मामला दर्ज करने का आदेश

रायपुर। मुख्यमंत्री के प्रमुख सचिव अमन सिंह तथा उनकी पत्नी के विरूद्ध तथ्यहीन तथा दुराग्रहपूर्ण समाचार प्रकाशित करने के आरोप में रायपुर से प्रकाशित दैनिक समाचार पत्र ”पत्रिका” के तत्कालीन संपादक गिरिराज शर्मा के विरूद्ध मानहानि का फौजदारी प्रकरण दर्ज करने के आदेश दिए गए हैं. यह आदेश सुप्रीम कोर्ट ने दिया. कोर्ट ने न्यायायिक दंडाधिकारी रायपुर को प्रकरण दर्ज कर प्रतिवादी, को सम्मन जारी करने के लिये आदेशित किया है.

रायपुर साहित्य महोत्सव को लेकर जनवादी लेखक संघ की ओर से बयान जारी

12-14 दिसंबर 2014 को मुख्यमंत्री रमण सिंह के नेतृत्व में छत्तीसगढ़ की भाजपा सरकार ने जिस साहित्य-महोत्सव का आयोजन किया, उसे जनवादी लेखक संघ असहमति का सम्मान करने के स्वांग और एक राजनीतिक छलावे के रूप में देखता है. जिस राज्य की सरकार सेना और पुलिस का इस्तेमाल कर विदेशी कॉर्पोरेट हितों की पूर्ति के लिए आदिवासियों का जघन्य दमन कर रही हो, जहां मानवाधिकारों की हालत बेहद चिंताजनक हो, जहां साधनहीन तबकों के प्रति सत्तासीनों की निंदनीय लापरवाही से अभी-अभी एक-के-बाद-एक मौतें हुई हों, उस राज्य का मुख्यमंत्री इवेंट-मैनेजमेंट की विशेषज्ञ जनसंपर्क-एजेंसिओं की मदद से आयोजित कराये गए भव्य साहित्योत्सव के द्वारा, वस्तुतः, बौद्धिक वर्ग के भीतर अपनी स्वीकृति और वैधता का वातावरण निर्मित करना चाहता है, साथ ही, लेखकों तथा जनवादी रुझान के बुद्धिजीवियों के बीच विभेद और बिखराव के अपने एजेंडे को पूरा करना चाहता है.

रायपुर महोत्सव : रमन सिंह बोले- ये मेरे 11 साल पूरे होने का जलसा, अमित शाह बोले- बीजेपी सरकार ने खूब काम किया

Sharad Shrivastav : बीजेपी सरकार ने रायपुर मे हिन्दी साहित्य के एक उत्सव कराया है। रमण सिंह सरकार के 11 वर्ष पूरे होने के उपलक्ष्य मे रायपुर साहित्य सम्मेलन रचाया गया है। इस सम्मेलन मे बहुत से मूर्धन्य साहित्यकार शामिल होने गए हैं, और बहुत से बड़े साहित्यकारों ने बुलावे के बावजूद शामिल होने से इंकार किया है। ये भी पता चला है की साहित्यकारों को उनकी हैसियत के मुताबिक आने जाने का किराया और शामिल होने की फीस भी दी गयी है। इस सम्मेलन के उदघाटन मे रमण सिंह और अमित शाह दोनों थे। हिन्दी के विद्वान लोग इसलिए गए थे की वो रमण सिंह सरकार का प्रतिकार करेंगे, मंच से उनके खिलाफ साहित्य के माध्यम से आवाज उठाएंगे। लेकिन रमण सिंह और अमित शाह ने मामला पलट दिया। उदघाटन भाषण मे इस समारोह को रमण सिंह ने अपने 11 साल पूरे होने का जलसा बना दिया और अमित शाह ने बीजेपी सरकार की उपलब्धि बताने का जरिया।

साधना चैनल की तरफ से छत्तीसगढ़ के नौ रत्नों का सम्मान किया गया

जीवन की गंभीर चुनौतियों का सामना करते हुए ऊंचाईयों को छूने वाले छत्तीसगढ़ के नौ रत्नों का साधना न्यूज ने अपने खास कार्यक्रम छत्तीसगढ़ एचीवर्स अवार्डस में सम्मानित किया है। मंगलवार को रायपुर के होटल ताज गेटवे में साधना न्यूज नेटर्वक की ओर से आयोजित छत्तीसगढ़ एचीवर्स अवार्डस में कुल नौ लोगों का सम्मान हुआ। कार्यक्रम में मुख्य अतिथि डॉ. रमन सिंह ने सम्मानित लोगों को स्मृतिचिन्ह दिया।