‘समाचार प्लस’ वाले उमेश को सीबीआई जांच के दायरे में लाने की तैयारी, कोर्ट ने भेजा नोटिस

प्रेस कांफ्रेंस कर कोर्ट द्वारा नोटिस भेजे जाने की जानकारी देते रघुनाथ सिंह नेगी. 

उत्तराखंड में हरीश रावत जब सीएम थे तब वो एक स्टिंग आपरेशन में नंगे हो गए थे. इस प्रकरण की जांच फिलहाल सीबीआई कर रही है. इस मामले में एक नया मोड़ तब आया जब हाईकोर्ट ने स्टिंग करने वाले समाचार प्लस चैनल के संपादक उमेश शर्मा, तत्कालीन मंत्री हरक सिंह रावत, विधायक मदन सिंह बिष्ट को नोटिस भेजकर पूछा कि क्यों न आप सभी स्टिंग करने वालों की भी सीबीआई जांच करा दी जाए. Continue reading

कृपया हमें अनुसरण करें और हमें पसंद करें:

हनी ट्रैप में फंसा ‘समाचार प्लस’ चैनल का संचालक उमेश कुमार, 25 करोड़ मांगने वाले हुए गिरफ्तार

हनी ट्रैप में फंसा चैनल संचालक उमेश कुमार

हनीट्रैप में फंसाकर समाचार प्लस चैनल के संचालक उमेश कुमार से 25 करोड़ रुपये की रंगदारी मांगने वाली युवती और उसके दोस्त को नोएडा थाना फेज-तीन पुलिस ने गिरफ्तार किया है। दोनों को बुधवार को उस वक्त गिरफ्तार किया गया, जब वह चैनल संचालक से रंगदारी की पहली किश्त के तौर पर दो करोड़ रुपये लेने नोएडा आए थे। Continue reading

कृपया हमें अनुसरण करें और हमें पसंद करें:

समाचार प्लस चैनल के मालिक और संपादक उमेश कुमार पर रेप का आरोप

दिल्ली के तुगलक रोड थाने से सूचना मिली है कि समाचार प्लस चैनल के पार्टनर और एडिटर इन चीफ उमेश कुमार पर एक लड़की ने रेप का आरोप लगाया है. बताया जाता है कि पीड़िता चैनल में ही वरिष्ठ पद पर कार्यरत है.

सूत्रों का कहना है कि उसे दिल्ली के एक बड़े होटल में स्पेशल सूट में रहने का इंतजाम किया गया था. समाचार चैनल से जुड़े रहे एक मीडियाकर्मी ने बताया कि यह लड़की काफी समय से उमेश कुमार के साथ देखी जा रही थी. लड़की की शिकायत पर तुगलक रोड पुलिस स्टेशन में मुकदमा दर्ज कर लिया गया है. फिलहाल पुलिस मामले की जांच कर रही है.

सूत्रों के मुताबिक लड़की ने लिखित शिकायत में कहा है कि उमेश ने उसे चैनल का वाईस प्रेसीडेंट बनाया था. उसे दिल्ली के क्लेरिजस होटल में ले गया. वहां उसके साथ रेप किया. युवती ने कल शिकायत दी जिसके बाद पुलिस ने मामला दर्ज कर तफ्तीश शुरू कर दी है.

उल्लेखनीय है कि इसके पहले भी उमेश कुमार पर कई तरह के आरोप लगते रहे हैं. ढेर सारे गनर्स साथ लेकर चलने वाले उमेश कुमार का पिछले दिनों एक वीडियो वायरल हुआ जिसमें वह गनर्स के घेरे में खड़े होकर एक जमीन कब्जाने की कोशिश कर रहे हैं. जो शख्स इस जमीन पर अपना दावा करता दिख रहा है, उसे धमका रहे हैं. देखें ये वीडियो…

इसके अलावा उमेश कुमार पर पत्रकारों से लेकर नेताओं का समय-समय पर स्टिंग करते रहने का भी आरोप है. उत्तराखंड के पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत का वह स्टिंग काफी चर्चा में आया जिसमें उमेश कुमार उनका खास बनकर सरकार को बचाने को लेकर जोड़-तोड़ कर रहे हैं और इस पूरी कवायद को गुपचुप ढंग से मोबाइल में कैद भी कर रहे हैं.

कृपया हमें अनुसरण करें और हमें पसंद करें:

तिरंगे के साथ चैनल मालिक उमेश कुमार का ये कैसा सुलूक? (देखें वीडियो)

15 अगस्त के दिन गजरौला में युवा स्वाभिमान रैली निकाली गई जिसमें मुख्य अतिथि समाचार प्लस के मालिक उमेश शर्मा थे. रैली के आयोजक दीपक भड़ाना थे. ट्रैक्टर ट्रॉली में बने मंच पर नीचे तिरंगा बिछा दिया गया था. इसी तिरंगे को पांवों तले कुचलते हुए समाचार प्लस के मालिक उमेश कुमार और अन्य लोग मंच पर पहुंचे. इस बारे में जब तस्वीरें वायरल हुईं तो कुछ स्थानीय लोगों ने प्रशासन से शिकायत की. एक प्रत्यक्षदर्शी ने पूरे घटनाक्रम के बारे में विस्तार से बताया… संबंधित वीडियो देखने के लिए नीचे क्लिक करें…

कृपया हमें अनुसरण करें और हमें पसंद करें:

उमेश कुमार के बाद उनके भांजे प्रवीण साहनी को भी सिक्योरिटी मिलने का रास्ता साफ

समाचार प्लस न्यूज चैनल के डायरेक्टर उमेश कुमार किन्हीं न किन्हीं कारणों से सुर्खियों में रहते हैं. पिछले दिनों वो अस्पताल में भर्ती हो गए तो डाक्टरों ने दो महीने बेड रेस्ट की सलाह दे डाली. अब उन्हें धमकी भरा पत्र मिल गया है जिसमें उन्हें और उनके भांजे प्रवीण साहनी को उड़ाने की बात लिखी हुई है. इस बाबात पुलिस ने एफआईआर दर्ज कर लिया और नवभारत टाइम्स अखबार ने खबर छाप दिया है.

माना जा रहा है कि इस घटनाक्रम के बाद उमेश कुमार के भांजे प्रवीण साहनी को भी सरकारी सुरक्षा मिलने का रास्ता साफ हो गया है. उमेश कुमार खुद वाई प्लस सुरक्षा और कुछ अन्य प्रदेशों की सुरक्षा के चलते करीब 19 से 20 सुरक्षा गार्ड लेकर चलते हैं.

संबंधित खबर….

कृपया हमें अनुसरण करें और हमें पसंद करें:

हरीश रावत का स्टिंग : चैनल मालिक उमेश शर्मा यहां पत्रकार कम, भाजपा के आदमी ज्यादा लग रहे हैं

Yashwant Singh : हरीश रावत के स्टिंग से दो बातें साफ हो गई हैं. एक तो यह कि उत्तराखंड पूरी तरह लूटखंड है. सीएम तक बोलता है कि पच्चीस क्या तीस करोड़ कमा लो, मैं आंखें बंद किए रहूंगा. साथ ही ये भी कि स्टिंग करने वाले पत्रकार ने स्टिंग करने के बाद उसे तुरंत चैनल पर नहीं चलाया बल्कि भाजपा और कांग्रेस के बागियों को उसे दिया ताकि पहले वे स्टिंग का राजनीतिक फायदा उठा सकें. मतलब ये कि समाचार प्लस चैनल के मालिक उमेश शर्मा यहां पत्रकार कम, भाजपा के आदमी ज्यादा लग रहे हैं. यानि सारा कुछ भाजपा के इशारे पर उन्होंने किया?

राजनीतिक इशारों पर स्टिंग करने वालों का हश्र अतीत में क्या क्या हुआ, सबको पता है. कई स्टिंगबाजों ने कांग्रेस के इशारे पर लगातार भाजपा के नेताओं और भाजपा की सरकारों का स्टिंग किया. जब भाजपा को मौका मिला तो उसने सारे स्टिंगबाजों को एक एक करके टांग दिया. तो, पत्रकार के रूप में हमें किसी को यह मौका नहीं देना चाहिए कि वह किसी के पालतू या किसी के पार्टी के बतौर काम करने का लेबल लगा सके. ऐसा करके तात्कालिक फायदा, नाम, दाम तो खूब मिलता है लेकिन लांगटर्म में इसका अंजाम बुरा होता है.

बात हो रही थी उत्तराखंड के सीएम हरीश रावत के स्टिंग की. चर्चा तो और भी कई किस्म की है कि ऐसे स्टिंग करके उसकी पूरी कीमत वसूलने और इसके जरिए अच्छी खासी प्रापर्टी खड़ी करने की पूरी लंबी परंपरा रही है इस पत्रकार कम व्यवसायी कम लायजनर उमेश कुमार की. निशंक जब सीएम थे तब वो खुद उमेश शर्मा पर स्टिंग के आड़ में ब्लैकमेलिंग के आरोप लगा चुके हैं. साथ ही उमेश को सबक सिखाने के लिए दर्जनों सही गलत मुकदमे दर्ज करा चुके हैं. लेकिन आज वही निशंक खड़े हैं उमेश के साथ, क्योंकि इनकी पुरानी अदावत सेटल हो चुकी है और दोनों मिलकर तीसरे यानि कांग्रेस के हरीश रावत को निपटाने में लगे हुए हैं. इनके साथ खड़े हैं हरीश रावत से खार खाए बागी कांग्रेसी विजय बहुगुणा और उनके हाईटेक लेकिन कनफ्यूज बेटे साकेत बहुगुणा. विजय बहुगुणा के शासनकाल में उमेश शर्मा पर हर किस्म की अपार कृपा बरसी, साकेत बहुगुणा के सौजन्य से. वो दोस्ती यारी कायम है और उस नमक का कर्ज चुकाने के लिए काम कर रहे हैं उमेश शर्मा, ऐसा लोग कह रहे हैं.

फेसबुक पर एक पेज है UP-UK Live लाइव नाम से. इसने उमेश शर्मा को लेकर कई पोस्टें पब्लिश की हैं जिससे स्टिंग के दूसरे पक्ष की सच्चाई को जाना जा सकता है. यह पेज उमेश शर्मा को एक्सपोज करने का काम ज्यादा कर रहा है, उमेश द्वारा किए गए स्टिंग पर बात कम कर रहा है. मेरी निजी राय है कि उमेश ने जिन भी हालात में स्टिंग किया और जिन भी हालात में यह सार्वजनिक किया, सड़ते राजनीतिक सिस्टम के शीर्षतम करप्ट चेहरे को तो उजागर कर ही दिया है. यह काम सराहनीय है, क्योंकि इससे जनता की ट्रेनिंग स्कूलिंग ठीकठाक हो गई है और बजबजाते सिस्टम की सच्चाई सामने हाजिर है.

हो सकता है यह स्टिंग भाजपा ने कराया हो, सत्ता की लड़ाई के अंतरविरोधों के कारण सार्वजनिक कराया गया हो, लेकिन स्टिंग तो है जबरदस्त. हम अगर स्टिंग पर फोकस करें तो हाल के दिनों का यह शानदार स्टिंग है. जब सारी की सारी मीडिया चुप्पी साधे तमाशा देख रही या फिर सत्ता के इशारे पर सत्ता सुंदरम टाइप खबरें दिखा छाप रही हैं तो एक शख्स बड़ा धमाका कर पूरे सिस्टम को चैलेंज कर देता है, बेनकाब कर देता है. भले ही किसी एक मामले में किया हो, लेकिन किया तो.

हालांकि यही शख्स जब उत्तर प्रदेश पर केंद्रित होता है तो मुख्यमंत्री के जय जयकार से आगे नहीं बढ़ पाता, वहां वह सत्ता से अपनी परम नजदीकी दिखाता है. वह सत्ता के सारे बुरे कामों से आंखें मूंदे रहता है.

यही उमेेश शर्मा की पर्सनाल्टी का अंतरविरोध है. या तो वह सत्ता को साधे रखते हैं या फिर ठीक से न सधे तो सत्ता को नेस्तनाबूत करने में जुट जाते हैं ताकि अगली सत्ता में महत्वपूर्ण भूमिका हासिल कर सकें. दोनों ही हालात में वह अपना फायदा देखते हैं. इसी अपने फायदे चक्कर में कुछ ऐसा काम, कुछ ऐसे स्टिंग कर करा जाते हैं जिससे जनता को फायदा होता है, क्योंकि शीर्षतम सत्ता एक्सपोज होती है. तो ऐसे स्टिंग की तारीफ की जानी चाहिए.

कुछ लोगों का यह भी कहना है कि अगर सिर पर पीएम का हाथ हो तो सीएम से पंगा लेना कोई बड़ी बात नहीं. इस बात में कुछ सच्चाई भी है क्योंकि उमेश इस समय सत्रह से ज्यादा सुरक्षाकर्मियों से घिरे रहते हैं. दो दो राज्य सरकारों और केंद्र सरकार से मिले भांति भांति के सुरक्षा गार्डों से घिरा शख्स बिना केंद्र के संरक्षण और इशारे पर इतना बड़ा जोखिम नहीं ले सकता.

कुल मिलाकर उमेश कुमार ने समाचार प्लस और खुद को जबरदस्त टीआरपी दिलाई और पूरे देश की नजरें इन दोनों पर केंद्रित हुईं, यह भी कम बड़ी बात नहीं है. किसी का भी मूल्यांकन करने के लिए उसके सभी पहलुओं पर ध्यान केंद्रित किया जाना चाहिए. सिर्फ बुराई बुराई लिख कह देने से बात तार्किक नहीं रह जाती. उमेश में लाख बुराइयां हों लेकिन उसने जिस अंदाज में एक सीएम का स्टिंग किया व उसे सार्वजनिक कर भूचाल ला दिया, वह जबरदस्त है.

UP UK Live FB Link one

UP UK Live FB Link Two

UP UK Live FB Link Three

UP UK Live FB Link Four

UP UK Live FB Link Five

भड़ास के एडिटर यशवंत सिंह के फेसबुक वॉल से. संपर्क : yashwant@bhadas4media.com

कृपया हमें अनुसरण करें और हमें पसंद करें:

धंधेबाज ‘समाचार प्लस’ चैनल : रिपोर्टरों को उगाही का टारगेट, पूरा न करने पर कइयों को हटाया

समाचार प्लस राजस्थान में सभी स्टिंगरों को दिया गया एक लाख से 2 लाख रुपये उगाही का लक्ष्य. नहीं देने वाले रिपोर्टरों को निकाला. 26 जनवरी यानि गणतंत्र दिवस के नाम पर उगाहने हैं लाखों रुपये. समाचार प्लस में मैं कई सालों से कार्य कर रहा था.  5 हजार रुपये मुझे मेरी मेहनत के मिलते थे. काम ज्यादा था, पैसे कम. लेकिन चैनल को कुछ और ही प्यारा था. समाचार प्लस राजस्थान टीम ने मुझे फ़ोन कर कहा-

”आप ब्यूरो हैं, आपको हम 1 लाख से 2 लाख रुपये का लक्ष्य दे रहे हैं. हमे जल्दी विज्ञापन दे दो. नहीं दे सकते हो तो टीवी में दिखना कम हो जाओगे और हमें कई स्टिंगरों को इस वजह से बाहर का रास्ता दिखाना पड़ा. आप पर भी गाज गिर सकती है, इसलिए आप भी खबरें कम कर दो और विज्ञापन दो. नहीं दे सकते तो मैनेजमेंट आपको हटा देगा.”

उन लोगों ने फोन पर ही बताया कि अजमेर के ब्यूरो चीफ संतोष सोनी और उदयपुर के अब्बास रिजवी को बाहर का रास्ता टारगेट पूरा न करने के कारण दिखा दिया गया है. इनको हटाने की वजह यह कि इन्होंने पैसे देने से मना कर दिया. उसी दिन हटाकर नए स्टिंगरों को लगा दिया गया. राजस्थान के सारे स्टिंगरों को मेल पर 1 से 2 लाख रुपये देने का आदेश दे दिया गया है. आखिरकार मैनेजमेंट ने हमें बाहर क्यों निकाला. हम उन्हें हर ओकेजन पर विज्ञापन देते थे. लेकिन जब बार-बार विज्ञापन समाचार प्लस राजस्थान टीम मांग रही है तो हम कहां से दें.

अभी दीपावली पर ही लाखों रुपये के विज्ञापन दे चुके हैं. उनका ही पेमंट नहीं हुआ. लेकिन अब फिर से 1-2 लाख रुपये विज्ञापन के नाम पर मांग लिए. धंधेबाजी और उगाही की हद होती है. आप से गुजारिश है कि आप इस दुःखद मेल को अच्छे से लगायें और मीडिया कर्मियों का साथ देवें. यह सबको जानना जरूरी है कि रिपोर्टर अब चैनल के लिए कमाई करेगा. यही कारण है कि अब समाचार प्लस ग्रुप के दावे फेल होने लगे हैं. यह साबित होने लगा है कि इसका मालिक उमेश कुमार पहले से ही धंधेबाज रहा है और फिर से अपने ओरीजनल रूप में आ गया है. इसकी धंधेबाजी के चर्चे उत्तराखंड, उत्तर प्रदेश, दिल्ली समेत पूरे राजस्थान में होने लगे हैं. इसकी नेताओं अफसरों सरकारों की दल्लागिरी के कारण एडिटर अमिताभ अग्निहोत्री ने इस्तीफा दे दिया.

ग्रुप ने जिला स्तर पर राजस्थान में जो संवाददाता रखे थे, रिटेनर, उन पर मार्केटिंग का भारी दबाव बनाया जा रहा है. अब रिपोर्टर खबरें करे या विज्ञापन मांगता फिरे, समझ ही नहीं आ रहा. चैनल ने कमाई न करके देने पर बीकानेर, अजमेर समेत कई जिलों के रिपोर्टरों को हटा कर वहां स्ट्रिंगर रख दिए हैं. अब 26 जनवरी के लिए 1 लाख का टार्गेट दिया है. समझ नहीं आ रहा है कि इस चैनल के मार्केटिंग विभाग वाले क्या कर रहे हैं. बड़ी तनख्वाह पर काम कर रहे हैं और दबाव रिपोर्टर पर बना रहे हैं. सरकार के खिलाफ खबर नहीं चलाते, भले ही कुछ भी हो जाए. धमकी दी जा रही है कि रुपए नहीं उगाहे तो हटा दिया जाएगा. नीचे वो मेल है जो चैनल की तरफ से सभी को भेजा गया है>

Dear All,

this is a reminder regarding spot/scroll advt on 26 jan-2016 (Republic day ) as per instructions of Channel Head- Mr. Ajay Jha
District head quarter – advt Amount should be Rs. 1 lakh
Tahsil and others advt Amount should be Rs. 50,000 /-

Plz make sure for this target.

Thanks
Manoj Gotherwal
Manager Marketing
Samachar Plus Channel- Raj.
08233229289

भड़ास के पास राजस्थान के कई टीवी जर्नलिस्टों द्वारा भेजे गए पत्र पर आधारित.

कृपया हमें अनुसरण करें और हमें पसंद करें:

मैनेजिंग एडिटर अमिताभ अग्निहोत्री ने ‘समाचार प्लस’ चैनल से इस्तीफा दिया

यूपी उत्तराखंड केंद्रित रीजनल न्यूज चैनल समाचार प्लस को बड़ा झटका तब लगा जब इसके मैनेजिंग एडिटर अमिताभ अग्निहोत्री ने इस्तीफा दे दिया. चैनल की लांचिंग से ही अमिताभ इसके साथ जुड़े हुए थे और चैनल के जाने माने चेहरे बन चुके थे. अमिताभ अग्निहोत्री का प्राइम टाइम डिबेट प्रोग्राम उत्तर प्रदेश और उत्तराखंड में काफी पसंद किया जाता था. उनकी नेताओं और सिस्टम पर धारधार टिप्पणियां आम दर्शकों के मन में जगह बना चुकी थीं जिसके कारण अमिताभ अग्निहोत्री की अच्छी खासी फालोइंग हो गई है. माना जा रहा है कि अमिताभ के जाने से समाचार प्लस चैनल के दर्शक वर्ग पर असर पड़ेगा.

अमिताभ अग्निहोत्री चैनल से चार साल बाद गए तो कयास का दौर शुरू हो गया. कुछ लोगों का कहना है कि चैनल के मालिकों में से एक उमेश कुमार यूपी सरकार और वहां के चर्चित मीडिया मैनेजर नवनीत सहगल के इशारे पर चैनल का सरकार विरोधी टोन डाउन करने में लगे हुए थे. इसके पीछे कारण उमेश कुमार द्वारा यूपी सरकार से सुरक्षा समेत ढेर सारी सुविधाओं लाभों को हासिल किया जाना है जिसके वह किसी हालत में छोड़ना नहीं चाहते थे. इसी कारण सत्ताधारी नेताओं व अफसरों के लगातार दबाव के कारण उन्होंने अमिताभ अग्निहोत्री को यूपी सरकार के खिलाफ टिप्पणियां न करने का अघोषित निर्देश दे रखा था, जिसे लेकर अमिताभ नाराज बताए जाते हैं. इन्हीं तमाम किस्म के दबावों व तनावों के मद्देनजर अमिताभ अग्निहोत्री ने चैनल को नमस्ते करना उचित समझा.

इस बारे में जब भड़ास4मीडिया ने अमिताभ अग्निहोत्री से संपर्क किया तो उन्होंने स्वेच्छा से इस्तीफा देने की बात स्वीकार किया और कहा कि चार साल किसी एक चैनल के साथ लंबा वक्त होता है. वहां उन्होंने बहुत कुछ सीखा और बहुत कुछ पाया. वह चैनल से मिले प्यार और सपोर्ट के लिए आभारी हैं. अमिताभ ने बताया कि वह कुछ समय आराम करने के बाद फिर से नई पारी की शुरुआत करेंगे.

कृपया हमें अनुसरण करें और हमें पसंद करें:

विनोद कापड़ी की फिल्म को लेकर परेशान तमाम अशुभचिंतकों और विघ्नसंतोषियों के लिए कुछ जरूरी खबरें…

Ajit Anjum : विनोद कापड़ी की फ़िल्म को लेकर परेशान तमाम अशुभचिंतकों और विघ्नसंतोषियों के लिए ये ज़रूरी ख़बर है. विनोद की फ़िल्म को FOX STAR रिलीज़ करेगा, स्टार इंडिया ने सेटेलाइट का अधिकार ख़रीद लिया है, ये कम बड़ी उपलब्धि नहीं है. न्यूज़रूम से निकलकर फ़िल्म बना लेना उसकी क्रिएटिविटी का एक मुक़ाम है. मैं विनोद कापड़ी को क़रीब बीस सालों से जानता हूँ. क़रीब दस साल तक दूर-दूर से सिर्फ़ उनके काम के बारे में सुनकर और देखकर जानता रहा.

दस सालों से एक दोस्त के नाते बेहद क़रीब से देखा और समझा. इस शख्स में औरों से कुछ अलग करने का एक जुनून है. अपने मन की करने के लिए रिस्क लेने की हिम्मत है. तभी तो न्यूज़रूम में रहते हुए फ़िल्म बनाने की ठान ली और जब ठान लिया तो उसे पूरा करने के लिए कहानी, कैमरा और क्रू लेकर किसी गुमनाम लोकेशन पर निकल पड़ा, अपनी फ़िल्म की शूटिंग के लिए. साल दो साल पहले पहले मैंने ट्विटर पर मैंने अजय ब्रहमात्मज का एक स्टेटस पढ़ा था, जो मुझे आज भी याद है- ”इससे पहले कि कोई आपको अपने सपने पूरे करने लिए जोत दे, आप अपने सपने पूरा करने में जुट जाओ”. सार यही था, शब्द हो सकता है बदल गए हों. तो विनोद ने अपने सपने को पूरा करने का फ़ैसला किया. दिन-रात ख़ुद को झोंक दिया और तमाम अशुभचिंतकों की शुभेक्षाओं को ख़ारिज करते हुए फ़िल्म भी पूरी कर ली और अब रिलीज़ की तैयारी भी हो रही है. फ़िल्म चले न चले ये तो बाद की बात है. महान फ़िल्मकारों की फ़िल्में भी पहले दिन ही दर्शकों के लिए तरसती रह गई हैं. इसकी मिसाल सैकड़ों में हैं. विनोद को कामयाबी मिले, सपने पूरे हों, एक दोस्त के नाते हम तो यही दुआ करेंगे. उम्मीद है विनोद नए साल में बहुत कुछ नया करेंगे, मिस टनकपुर तो हाज़िर हो ही जाएगी.

रजत शर्मा के ‘इंडिया टीवी’ चैनल में नौकरी कर रहे वरिष्ठ पत्रकार अजीत अंजुम के फेसबुक वॉल से.

Vinod Kapri : BIG Day and here comes the BIG News. Sharing two good news. One of the top International studio FOX STAR STUDIOS( company owned by 20th Century Fox Studios ), which has released films like Marley and me, Life of Pi, Slumdog Millionaire, Knight and day , 127 hours , Predators , Titanic 3D , Jolly LLB , Bullet Raja Hawa Hawaii , City lights , Finding Fanny , Bang Bang is releasing and Presenting your OWN film MISS TANAKPUR HAAZIR HO . Fox Star Studios will announce release date next month. And second news is STAR TV has acquired Satellite rights of the film, which means after theatrical release – you will be able to watch MISS TANAKPUR on Star Network Channels. Proud Moment for all involved in making of Miss Tanakpur Haazir Ho. It was really really very tough process and testing time for all of us involved. But Charm and Charisma of MISS TANAKPUR saved us. Thanks a ton Miss TANAKPUR !!! We all love you so so much. We are deeply in love with you. We live you 24 hours !!! And thanks a ton friends for all your love , trust and support. Special thanks to my dearest Sakshi Joshi Kapri for having faith on me and allowing me take biggest risk of my career. Dad, aaryaman , Ahaan , uma thanks for bearing with me. Love you all. Madhu Ganesh Shastri thanks for that PPT .

xxx

I am overwhelmed and touched with your support and love for MISS TANAKPUR HAAZIR HO. कुछ एहसास बयान ही नहीं किए जा सकते। और अब भी सब किसी सपने से कम नहीं लग रहा। यक़ीन नहीं होता कि पहली फ़िल्म को मुंबई में इस तरह का रिस्पांस मिलेगा। ख़ासतौर पर कई दौर की screening के बाद Fox Star Studios का फ़िल्म के साथ जुड़ना। पर्दे के पीछे अभी कई लोगों की बड़ी बड़ी भूमिका के बारे में बताना बाक़ी है। जो धीरे धीरे आप से साझा करूँगा। कहना बस इतना है कि ये सब आपके प्यार और शुभकामनाओं की बदौलत ही है। प्यार बना कर रखिएगा। P.S – फ़िल्म बनने में बहुत समय लगता है। 15-16 बार अब तक edit हो चुकी है । अब भी काफ़ी काम बाक़ी है। आपको update करता रहूँगा।

रजत शर्मा के इंडिया टीवी चैनल में नौकरी कर चुके और ‘मिस टनकपुर’ फिल्म बनाने वाले पत्रकार विनोद कापड़ी के फेसबुक वॉल से.

Umesh Kumar : Happy To Announce That My Picture Miss Tanakpur Hajir Ho….will Be Released By One Of The Top International Company Fox Star Studios…Which Has Produced Or Presented Movies Life Of Pi, Marley and Me, 127 Hours, Predators, Slumdog Millionaire, Knight and Day, jolly LLB, Bullet Raja, Finding Fanny, Titanic 3D And Bang Bang… Fox Star Studios Will Announce The Dates Next Month…. Star Tv Acquired The Satelite Rights Which Means You Will Watch Miss Tanakpur On All The Star Tv Channels After Releasing On Theatre…… Thanks Vinod Kapri Ji For Your Endless Efforts…. Thx Vinay Tiwari ji.

समाचार प्लस चैनल के डायरेक्टर और चीफ एडिटर उमेश कुमार के फेसबुक वॉल से. उमेश कुमार समेत कुल छह लोगों ने ‘मिस टनकपुर’ फिल्म में पैसा लगाया है.

कृपया हमें अनुसरण करें और हमें पसंद करें:

समाचार प्लस के सीईओ उमेश कुमार ने एक दुखी परिवार को हर माह पांच हजार रुपये देने का वादा किया

समाचार प्लस के सीईओ उमेश कुमार ने एक लाचार, बेसहारा और आर्थिक तंगी से जूझ रहे परिवार की मदद के लिए हर महीने पांच हजार रुपये देने का वादा किया है. उन्होंने शुरुआत पांच हजार रुपये देकर कर दी है. इस परिवार के खाते में उन्होंने पांच हजार रुपए डाल दिए. उन्होंने प्रतिमाह इस परिवार को पांच हजार रुपए देने की बात कही है. असहाय महिला राजी देवी का कहना है कि उमेश जी का शुक्रिया अदा करने के लिए उनके पास शब्द नहीं है. इस आर्थिक मदद से अब उनके परिवार को दो वक्त की रोटी मिल पाएगी.  उमेश इससे पूर्व विकलांग जगदीश की भी मदद कर चुके हैं. इस परिवार की भी उमेश जी पांच हजार रुपए प्रतिमाह मदद कर रहे हैं.

रुद्रप्रयाग के सुनई (मुसाढुंग) गांव की राजी देवी का पति पिछले 28 साल से घर नहीं लौटा है. अब तो शायद ही पति कभी घर लौट पाए. इसके बाद भी मन नहीं मानता. 28 साल का वक्त कम नहीं होता है. बेटी के पैदा होने के बाद से पति का सुराग तक नहीं है. सोचा था कि बेटी उसका सहारा बनेगी. लेकिन आज वह स्वयं बेटी का सहारा बनी हुई है. बेटी बचपन से शारीरिक और मानसिक रूप से विकलांग है. कुछ बोल नहीं पाती. चल नहीं पाती. पति की राह देखते-देखते आज राजी देवी 59 वर्ष की हो चुकी है. राजी की हर सुबह उम्मीद की किरण के साथ होती है. उम्मीद पति के घर वापस लौटने की.

राजी की बेटी पैदाइश विकलांग है. बेटी के पैदा होने के बाद से पति की सूरत नहीं देखी है. बेटी को मिलने वाली विकलांग पेंशन से ही दो वक्त की रोटी नसीब हो रही है. शारीरिक और मानसिक रूप से विकलांग बेटी घुटनों के बल चलती है. न बोल पाती है और न सुन सकती है. बस इशारों की बातें समझ पाती है. उसका न तो कोई साथी है और न हमदर्द. मन ही मन मुस्कुराकर अपनी पीड़ा छुपा लेती है. घर की देहरी से बाहर शायद ही उसने कभी कदम रखा हो. राजी देवी के पास एक अदद घरोंदा भी नहीं है. वह अपनी विकलांग बेटी के साथ गौशाला में रहकर जिंदगी के एक-एक पल को काट रही है. आपदा में जमीन धंसने के कारण खेती-बाड़ी का साधन भी नहीं रहा. राजी देवी चाहती है कि उसे विधवा पेंशन मिले लेकिन मृत्यु प्रमाण पत्र के बिना विधवा पेंशन मिलना संभव नहीं है.

मोहित डिमरी के फेसबुक वाल से.

कृपया हमें अनुसरण करें और हमें पसंद करें:

27 सितंबर से लखनऊ में शुरू होगा ‘मिड डे एक्टिविस्ट’, भर्तियों के लिए विज्ञापन जारी

लखनऊ में पहली बार मीडिया के दो दिग्गजों का प्रयोग 27 सितंबर से  शुरू हो रहा है। ‘समाचार प्लस’ (न्यूज चैनल) के मालिक उमेश कुमार और ‘वीकएंड टाइम्स’ (समाचार पत्र) के मालिक संजय शर्मा के संयुक्त प्रयास से 27 सितंबर से लखनऊ में सांध्य दैनिक ‘द मिड डे एक्टिविस्ट’ की शुरुआत हो रही है। 27 सितंबर को इसका विमोचन मुख्यमंत्री अखिलेश यादव कर रहे हैं। लखनऊ भर में जबरदस्त तरीके से जिस आक्रामक अंदाज में अखबार का प्रचार किया जा रहा है उससे लग रहा है कि लखनऊ के लोगों को एक नये तेवर वाला सांध्य दैनिक मिल सकेगा।

लखनऊ की मीडिया में भी इस अखबार को लेकर काफी चर्चायें हैं। उमेश कुमार और संजय शर्मा दोनों युवा, तेजतर्रार, साहसी और सेल्फमेड पत्रकार हैं। साथ ही इन दोनों के भीतर उद्यमिता के गुण कूट कूट कर भरे हैं। इसी कारण ये लोग अक्सर नए प्रयोग करते रहते हैं, नए चैलेंज स्वीकारते रहते हैं।  ऐसे में इन दो मीडिया उस्तादों का एक साथ मिलकर एक अखबार निकालना चर्चा का विषय बना हुआ है। इस अखबार में पत्रकार अमिताभ अग्निहोत्री सलाहकार की भूमिका में हैं। अखबार आठ पृष्ठों का होगा। सभी पृष्ठ रंगीन होंगे। कीमत तीन रुपये रहेगी। अखबार में नियुक्तियों का दौर जारी हो गया है। आप भी अप्लाई कर सकते हैं। डिटेल नीचे जारी विज्ञापन में देख सकते हैं।

कृपया हमें अनुसरण करें और हमें पसंद करें: