कांग्रेस के दिग्गी राजा संघ के करीबी शंकराचार्य की शरण में पहुंचे! (देखें वीडियो)

मध्य प्रदेश के पूर्व सीएम और कांग्रेसी नेता दिग्विजय सिंह उर्फ दिग्गी राजा पहुंचे हरिद्वार. उनके साथ संत प्रमोद कृष्णम भी थे जो कांग्रेस के करीबी माने जाते हैं. ये दोनों कनखल स्थित जगतगुरु आश्रम पहुंचे. इन लोगों ने जगतगुरु शंकराचार्य राजराजेश्वराश्रम महाराज से मुलाकात की. जगतगुरु शंकराचार्य को आरएसएस का बेहद करीबी बताया जाता है. आश्रम स्थित भगवान शंकर के मंदिर में दिग्गी ने किया जलाभिषेक. दिग्विजय के पहुंचने से लगाई जा रही हैं कई तरह की अटकलें. संबंधित वीडियो देखने के लिए नीचे क्लिक करें :

-विनीता खुराना की रिपोर्ट.

कृपया हमें अनुसरण करें और हमें पसंद करें:

शादी की खबर फैलते ही Amrita Rai ट्विटर ट्रेंड्स में सबसे टॉप पर पहुंचीं

कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह से शादी कर लेने की सूचना को पत्रकार अमृता राय ने फेसबुक पर पोस्ट किया और इस तरह शादी की अटकलों की पुष्टि कर दी. इसके कुछ घंटे के भीतर ही यह खबर मीडिया जगत में फैलने लगी. इस वक्त Amrita Rai शब्द ट्विटर पर ट्रेंडिंग में सबसे शीर्ष पर है. दरअसल आज अंग्रेजी अखबार इंडियन एक्सप्रेस ने अपने सूत्रों के हवाले से दिग्विजय और अमृता की शादी की खबर पब्लिश की है.

अखबार के मुताबिक दिग्विजय के करीबी सूत्रों ने इस बात का खुलासा किया की शादी हो गई है और दिग्विजय सिंह यूएस में हैं. पता चला है कि अमृता राय भी अपने दफ्तर से इन दिनों छुट्टी पर चल रही हैं. इंडियन एक्सप्रेस में सूत्रों के हवाले से अटकलों भरी शादी की खबर छपने के बाद Amrita Rai खुद सामने आईं और फेसबुक पर पोस्ट लिखकर रीति-रिवाजों से शादी कर लेने की बात की पुष्टि की. इसके बाद ट्विटर पर Amrita Rai एक नंबर पर ट्रेंड करने लगीं. यहां ढेर सारे लोगों ने इन दोनों को जमकर बधाई दी, वहीं विघ्नसंतोषियों ने किसिम किसिम के दुष्प्रचार भी शुरू कर दिया है.

ज्ञात हो कि कांग्रेस महासचिव दिग्विजय सिंह ने पिछले साल महिला पत्रकार अमृता राय से अपने रिश्‍ते की बात कबूल की थी. सोशल मीडिया पर इस संबंध में चर्चा गहराने के बाद दिग्विजय सिंह ने ट्वीट किया था और अमृता राय से अपना रिश्‍ता कबूल कर लिया था. साथ ही उन्‍होंने यह भी कहा कि अमृता राय से रिश्‍ता कबूलने में उन्‍हें कोई हिचक नहीं है. इसके बाद से ही ऐसे कयास लगाये जा रहे थे कि दिग्विजय और अमृता जल्‍द शादी के बंधन में बंधेंगे. अमृता राय ने भी तब ट्विटर के जरिए रिश्‍ते की बात कबूली थी और कहा है कि अपने पति से तलाक का फैसला हो जाने पर दिग्विजय सिंह के साथ शादी करेंगी. दरअसल सोशल मीडिया में दोनों की कुछ तस्वीरें जारी होने के बाद दोनों के बीच अंतरंग संबंध का खुलासा हुआ था.

संबंधित खबरें :

अमृता-दिग्विजय ने कर ली शादी, फेसबुक पर शेयर की दिल की बात

xxx

दिग्विजय सिंह और अमृता राय की शादी ने समाज को नया रास्ता दिखाया है

कृपया हमें अनुसरण करें और हमें पसंद करें:

दिग्विजय सिंह और अमृता राय की शादी ने समाज को नया रास्ता दिखाया है

Sadhvi Meenu Jain : खबर है कि दिग्विजय सिंह ने अमृता राय से विवाह कर लिया है. खबर सुनकर चुस्की लेने या सिंह की नैतिकता / अनैतिकता से इतर मैं इस बहाने एक दूसरे विषय पर बात करना चाहती हूँ. हमारा समाज विधवा / विधुर / तलाकशुदा वरिष्ठ नागरिकों को दोबारा से एक नया जीवनसाथी चुनने की इजाजत क्यों नहीं देता और जो समाज की धारणा के विपरीत जाकर ऐसा कर भी लेते हैं उनका मखौल उड़ाया जाता है. उन पर ‘चढ़ी जवानी बुढ्ढे नूं’ ‘बुड्ढा जवान हो गया’ ‘तीर कमान हो गया’ ‘बुड्ढी घोड़ी, लाल लगाम’ जैसी फब्तियां कसी जाती हैं.

क्यों भई. ऐसा क्या गुनाह कर दिया उन्होंने? न्यूक्लियर परिवारों के इस युग में जब बेटे-बेटियां अपनी अपनी गृहस्थी, परिवार व समाज की जिम्मेदारियों में व्यस्त हो जाते हैं और जीवन की आपाधापी के चलते माता-पिता से बात करने तक की फुरसत उन्हें नहीं मिलती तब ऐसे में इन बुजुर्गों का एकाकीपन इन्हें काटने को दौड़ता है.

पति या पत्नी में से एक की मृत्यु हो जाए तो हालात और भी बदतर हो जाते हैं. कहां जाएं. किसके साथ बांटें ये अपने एकाकीपन की व्यथा? यूं ही घुट-घुट कर मर जाएं? पहले ज़माना था जब परिवार संयुक्त होते थे. बुजुर्गों का मन लगा रहता था. लेकिन आज के घोर आत्मकेंद्रित परिवारों में बुजुर्गों के लिए जगह ही कहां बची है? ऐसे में अगर वे अपना अकेलापन बांटने के लिए विवाह कर लेते हैं तो इसमें बुराई क्या है? जीवन के इस पड़ाव पर स्त्री हो या पुरुष, दैहिक सुख की अपेक्षा साहचर्य सुख खोजता है.

बुजुर्गों के कल्याण के लिए काम करने वाली मुम्बई की एक स्वयंसेवी संस्था के साथ वर्षों से जुड़े होने के कारण एकाकीपन भोगते बुजुर्गों की पीड़ा को बहुत नज़दीक से महसूस किया है. कई ऐसे बच्चों को मैं व्यक्तिगत रूप से जानती हूं जिन्होंने पीछे अकेले रह गए माता या पिता के लिए स्वयं जीवनसाथी की तलाश कर उनका विवाह करवाया है. कई ऐसी स्वयंसेवी संस्थाएं हैं जो अकेले बुजुर्गों के लिए सहचर तलाशने का काम कर रही हैं.

तो मित्रों, बचपना छोड़िए और कल्पना कीजिए उस स्थिति की जब आपकी संतानें अपने-अपने परिवारों के साथ या तो विदेश चली गईं है या आपको अपने साथ नहीं रखना चाहती हैं और आपकी पत्नी या पति का देहांत हो चुका है और अकेले जीवन बिताना आपके बस की बात नहीं है. तब ऐसी स्थिति में क्या करेंगे आप? Please try to put yourself in their shoes. If you are able to sympathize and empathize with them, you will not ridicule them.

साध्वी मीनू जैन के फेसबुक वॉल से.


मूल खबर :

अमृता-दिग्विजय ने कर ली शादी, फेसबुक पर शेयर की दिल की बात

कृपया हमें अनुसरण करें और हमें पसंद करें:

अमृता-दिग्विजय ने कर ली शादी, फेसबुक पर शेयर की दिल की बात

Dayanand Pandey : अमृता राय और दिग्विजय सिंह आप दोनों को बधाई तो बनती है। बहुत-बहुत बधाई! गौरतलब है कि मध्यप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री 68 वर्षीय दिग्विजय सिंह और राज्यसभा टी वी की पत्रकार 44 वर्षीय अमृता राय ने विवाह कर लिया है। अमृता राय ने फ़ेसबुक पर अपनी वाल पर अंगरेजी में यह बात साझा करते हुए जो कुछ लिखा है, उसे हिंदी में पढ़िए :

मैंने और दिग्विजय सिंह ने हिंदू रीति रिवाज से शादी कर ली है। इस अवसर पर मैं उन सभी का शुक्रिया अदा करना चाहती हूं, जो हाल के कठिन समय में मेरे साथ खड़े रहे हैं। मेरे लिए पिछला डेढ़ साल काफी तनावपूर्ण और दर्दनाक रहा है। मैं खुद एक साइबर अपराध की शिकार थी, लेकिन मेरे साथ एक अपराधी की तरह व्यवहार किया गया। बिना किसी गलती के मुझे सोशल मीडिया पर टारगेट किया गया और मेरे लिए अपमानजनक भाषा का जमकर प्रयोग किया गया। जो लोग खुद प्यार और सम्मान में किसी तरह का भरोसा नहीं करते उन लोगों ने सोशल मीडिया पर मुझे शर्मिंदा करने की कोशिश की, लेकिन इस दौरान मैंने चुप्पी बनाए रखी। मैं अपने और अपने प्यार (दिग्विजय) के लिए काम के साथ आगे बढ़ती गई।

अमृता ने आगे लिखा है कि मैं जानती हूं कि हम दोनों के बीच उम्र के अंतर पर सवाल उठाया गया है और उठाया भी जाएगा, लेकिन मैं अपने फैसले लेने के लिए स्वतंत्र हूं और मुझे पता है कि मेरे लिए क्या अच्छा है। हम एक आधुनिक, प्रगतिशील भारत में रहते हैं और संविधान हमें यह इजाजत देता है कि हम अपने जिंदगी के फैसले खुद ले सकें। मैं यह भी जानती हूं कि मेरे इस निर्णय के लिए मेरी मंशा को जिम्मेदार ठहराए जाने की कोशिश की जाएगी। मैं एक पेशेवर महिला हूं और मैंने अपने करियर में बहुत मेहनत की है और खुद के लिए प्रतिष्ठा बनाई है। मैं अपने पेशेवर क्षमताओं में विश्वास रखती हूं। किसी भी अन्य महिला की तरह मैं भी अपने दम पर अपनी व्यक्तिगत और पारिवारिक जिम्मेदारियों का बोझ अपने कंधे पर उठाती रही हूं और आगे भी उठाती रहूंगी।

मैं दिग्विजय सिंह से प्यार के लिए शादी की है। इसलिए, मैंने पहले से ही उनसे सारी संपत्ति और पूंजी अपने बेटे और बेटियों के लिए के नाम ट्रांसफर करने का आग्रह किया है। मैं उनके साथ केवल एक सम्मानजनक और पेशेवर करियर की दिशा में आगे बढ़ना चाहती हूं। और आखिरी में एक बार फिर, हर चीज के लिए आप सभी दोस्तों, मेरे कार्यालय के सहयोगियों और शुभचिंतकों को धन्यवाद।

वरिष्ठ पत्रकार दयानंद पांडेय के फेसबुक वॉल से.

अमृता राय ने अंग्रेजी में ओरीजनली क्या लिखा है, उसे पढ़ने के लिए नीचे लिखे आ रहे Next पर क्लिक करें>>

कृपया हमें अनुसरण करें और हमें पसंद करें:

दिग्विजय-अमृता की लीक तस्वीरों के मामले में गूगल ने क्राइम ब्रांच को सौंपी रिपोर्ट

 

नई दिल्ली। कांग्रेस महासचिव दिग्विजय सिंह और राज्यसभा चैनल की एंकर अमृता राय की निजी तस्वीरें सोशल मीडिया पर लीक होने के मामले में सर्च इंजन गूगल ने दिल्ली पुलिस की क्राइम ब्रांच को अपनी रिपोर्ट सौंप दी है। गूगल ने बताया है कि फरवरी से मई तक अमृता के 1030 आइपी लॉग मिले हैं। इस अवधि के दौरान अमृता का ईमेल भारत के विभिन्न शहरों के अलावा विदेशों में 1030 बार खोला गया। अब क्राइम ब्रांच अमृता से इस संबंध में पूछताछ कर पता लगाने की कोशिश करेगी कि जहां-जहां आइपी लॉग मिले हैं वे उस समय वहां थीं अथवा नहीं।

इस वर्ष जून में सोशल मीडिया में दोनों की निजी तस्वीरें आने के बाद दिग्विजय सिंह ने ट्वीट कर अमृता से अपने रिश्ते की बात कुबूल की थी। क्राइम ब्रांच ने गूगल से अमृता के ईमेल के आइपी लॉग बताने का अनुरोध किया था। तीन महीने बाद गूगल ने जो रिपोर्ट सौंपी, उसके मुताबिक फिलीपींस की राजधानी मनीला और नीदरलैंड की राजधानी एम्सटर्डम में भी अमृता का ईमेल अकाउंट खोला गया। इसके अलावा दिल्ली, मुंबई, चेन्नई व कोलकाता में भी अकाउंट खोला गया।

कृपया हमें अनुसरण करें और हमें पसंद करें: