Vastu Vihar Scam (3) : भाजपा सांसद मनोज तिवारी के खिलाफ फ्राड और चीटिंग का केस दर्ज

वाराणसी : जनता के अरबों रुपये लेकर चंपत होने वाली कंपनी वास्तु विहार के ब्रांड अंबेसडर रहे मनोज तिवारी, जो सांसद तो हैं ही, भाजपा दिल्ली के अध्यक्ष भी हैं, के खिलाफ फ्रॉड और चीटिंग का केस दर्ज कर लिया गया है. यह केस एक पीड़ित उपभोक्ता ने बिहार के दरभंगा जिले में दर्ज कराया है.

दरभंगा के चीफ मजिस्ट्रेट विद्यासागर पांडेय की अदालत में मुन्ना चौधरी नामक एक व्यक्ति ने मनोज तिवारी पर चीटिंग और फ्राड का केस दर्ज कराया है. मुन्ना चौधरी का कहना है कि उसने वास्तु विहार कंपनी से एक फ्लैट बुक कराया था लेकिन उसे न तो फ्लैट मिला और न ही कंपनी पैसे वापस दे रही है. मुन्ना चौधरी ने शिकायत में कहा है कि मनोज तिवारी वास्तु विहार कंपनी के ब्रांड अंबेसडर रहे हैं और उनकी शकल देखकर ही उन लोगों ने पैसा लगाया. अगर मनोज तिवारी जैसा शख्स इस प्रोजेक्ट से न जुड़ा होता और फ्लैट बुक करने की अपील न करता तो वो इस प्रोजेक्ट में निवेश नहीं करते.

पीड़ित मुन्ना चौधरी के मुताबिक मनोज तिवारी का चेहरा सामने होने के कारण वह वास्तु विहार कंपनी पर भरोसा कर बैठे और यह मान लिया कि यह कंपनी धोखाधड़ी इसलिए नहीं करेगी क्योंकि इसमें मनोज तिवारी की इज्जत भी दांव पर है. पर ऐसा हुआ नहीं. कंपनी ने न सिर्फ धोखा दिया बल्कि मनोज तिवारी भी चुप्पी साध गए हैं और इस प्रोजेक्ट से पल्ला झाड़ने की कोशिश कर रहे हैं जबकि सभी को पता है कि कई राज्यों में वास्तु विहार घोटाले को फलने-फूलने का पूरा काम मनोज तिवारी के चेहरे को आगे रखकर किया गया है.

मुन्ना चौधरी ने बताया कि उन्होंने वर्ष 2013 में वास्तु विहार कंपनी से फ्लैट बुक कराया. कंपनी ने एक साल में फ्लैट देने का वादा किया था. इसके बदले उसने आठ लाख रुपये लिए. अभी तक न तो कंपनी ने पैसा लौटाया और न ही फ्लैट बनाकर दिया. अब जब वो कंपनी से अपना मूल धन वापस मांग रहे हैं तो कंपनी के लोग नए नए बहाने कर रहे हैं.

ज्ञात हो कि वास्तु विहार घोटाला प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के संसदीय क्षेत्र बनारस में भी खूब फला फूला है. यहां भी सैकड़ों लोग करोड़ों रुपये गंवा कर बैठे हैं और कंपनी से अपना मूल धन वापस पाने के लिए लड़ रहे हैं लेकिन उन्हें न तो मीडिया का समर्थन मिल रहा है और न ही पुलिस प्रशासन कोई सहयोग दे रहा क्योंकि हर जगह भाजपा का राज है और मनोज तिवारी इन दिनों भाजपा के चर्चित चेहरों में से एक हैं.

बनारस से सुजीत सिंह प्रिंस की रिपोर्ट. संपर्क : 9451677071

पूरे प्रकरण को विस्तार से जानने-समझने के लिए इसे भी पढ़ें :

xxx

xxx

कृपया हमें अनुसरण करें और हमें पसंद करें:

Vastu Vihar Scam (2) : ठगी का यह कारोबार भाजपा सांसद मनोज तिवारी के संरक्षण में फला-फूला!

वाराणसी : भाजपा के दिल्ली प्रदेश अध्यक्ष और बीजेपी सांसद मनोज तिवारी के नाम पर वास्तु विहार कंस्ट्रक्शन कंपनी लगातार ठगी का खेल जनता के साथ खेल रही है… लोग मनोज तिवारी का चेहरा देखकर फंस रहे हैं और ठग कंपनी मालामाल होती जा रही है.. आपको बता दें उत्तर प्रदेश, बिहार, झारखंड समेत देश के कई हिस्सों में इस ठग कंपनी ने अपना जाल बिछा रखा है और लगातार भोले भाले लोगों को शिकार बनाया जा रहा है.

मिली जानकारी के मुताबिक विनय तिवारी के स्वामित्व वाली इस ठग कंपनी ‘वास्तु विहार कंस्ट्रक्शन’ ने 10 अलग-अलग जगहों पर अपना दफ्तर खोलकर लोगों की मेहनत की कमाई पर डाका डाला है. कंपनी कम कीमत पर फ्लैट देने का झांसा देकर उगाही का खेल खेलती है लेकिन तय वक्त गुजर जाने के बाद भी किसी को आशियाना नसीब नहीं हुआ.. पीड़ित जनता जब फ्लैट मांगने या फिर अपनी जमा रकम पाने के लिए कंपनी के दफ्तर पर पहुंचती भी है तो उन्हें झूठे आश्वासन के सिवाय कुछ नहीं मिलता है..

इस फ्रॉड कंपनी के झांसे में आने वाले कहते हैं कि वो तो कंपनी के ब्रांड एंबेस्डर मनोज तिवारी के लगे पोस्टर और उनके नाम-शोहरत को देखकर एक अदद आशियाने की आस में धोखे का शिकार हो गए.. असल में शिकार हुए लोग मनोज तिवारी को ही वास्तुविहार का मालिक समझ बैठे और विनय तिवारी की इस ठग कंपनी का छलावा देखिए कि ये महज एक रुपये में ही बुकिंग का दावा करती है.. लोग कहते हैं कि भले ही विनय तिवारी कंपनी चला रहे हों लेकिन कंपनी में जरूर अघोषित हिस्सा मनोज तिवारी का है. तभी तो वह तन मन से कंपनी के हर काम में शामिल रहते हैं और इसके दस्तावेजी प्रमाण भी हैं.. उदाहरण के तौर पर मनोज तिवारी के द्वारा बकायदा भूमि पूजन भी कराया जाता है.. भूमिपूजन उस तस्वीर को कंपनी अपने पोर्टल पर शेयर करती है…

मनोज तिवारी ने खुद को आगे करके वास्तु विहार कंस्ट्रक्शन को अरबों-खरबों दिलाए लेकिन जो निवेशक फ्लैट मांगने जाता है या पैसा वापस चाहता है तो उसे टका सा जवाब मिलता है और इंतजार करने को कहा जाता है. ऐसे में वह ठगा सा निवेश सोचता है कि उसे मनोज तिवारी और उनके गुर्गों ने लूट लिया… इस कंपनी में कोई निवेशक जब फंस जाता है तो वह कंपनी का शिकार हो चुका होता है… जब शिकार फंस जाता है तो उसके पास तिल-तिल घुटने के सिवाय कोई और चारा नहीं बचता है..

इस संदर्भ में जब भी पीड़ित कंपनी के सीएमडी विनय तिवारी को पीड़ित फोन करते हैं तो वे फोन तक नहीं उठाते हैं.. मान लीजिए अगर कभी गल्ती से फोन उठा भी लें तो झूठा भरोसा देकर फोन काट देते हैं.. वैसे वास्तुविहार की धोखाधड़ी के शिकार लोगों ने मनोज तिवारी से भी कई बार संपर्क किया तो वो अब ये कह कर पल्ला झाड़ गए कि कंपनी उनकी नहीं है, वो तो सिर्फ ब्रांड एंबेस्डर हैं.. लेकिन सवाल उठता है कि अगर कोई कंपनी उनके नाम का इस्तेमाल कर मजबूरों को ठग रही है, वे खुद कंपनी के भूमिपूजन में शामिल हो रहे हैं और उसकी तस्वीर कंपनी अपने पोर्टल से लेकर होर्डिंग तक में प्रकाशित कर रही है तो वो कैसे किनारा कर सकते हैं.. कैसे वो अपने नाम का इस्तेमाल करने दे रहे हैं…

क्या भ्रष्टाचार मुक्त देश का दावा करने वाले प्रधानमंत्री मोदी के वादे का वो माखौल नहीं उड़ा रहे हैं… या वो खुद को सबसे उपर समझ रहे हैं… सवाल उठता है कि यदि उनके नाम का गलत इस्तेमाल किया जा रहा है तो वो खुद को बेदाग कैसे कह सकते हैं… आखिर तिवारी अपनी नैतिक जिम्मेदारी से क्यों भाग रहे हैं… उन्होंने कंपनी से अपना नाता क्यों नहीं तोड़ा और छले गए निवेशकों को फ्लैट या पैसे क्यों नहीं दिला रहे हैं… अभी हाल में ही मोदी सरकार ने संसद में कानून पारित किया है जिसमें विज्ञापन करने वालों को भी ठगी के दायरे में मानने की बात कही गई है… तो क्या मनोज तिवारी एक तरह से ठगों के संरक्षक के रूप में नजर नहीं आ रहे हैं…

बनारस के एक अधिकारी ने नाम न छापने की शर्त पर बताया कि वे बीएचयू के पढ़े हैं और मनोज तिवारी का पोस्टर देखकर मान लिया कि यह प्रोजेक्ट ठीकठाक रहेगा, इसलिए निवेश कर दिया. उनका काफी पैसा फंस गया है… वे जब कंपनी से फ्लैट देने या पैसे लौटाने की बात करते हैं तो वे लोग टालते रहते हैं… उन्होंने भड़ास4मीडिया टीम से अपील की कि पूरे प्रकरण को मनोज तिवारी के समक्ष ले जाया जाए ताकि वे पीड़ित निवेशकों को न्याय दिला सकें.

देखिए कुछ तस्वीरें…

बनारस से सुजीत सिंह प्रिंस की रिपोर्ट. संपर्क : 9451677071


अगर आप भी वास्तु विहार कंस्ट्रक्शन कंपनी और इसके प्रवर्तकों / संरक्षकों द्वारा ठगे गए हैं तो पूरी जानकारी bhadas4media@gmail.com पर मेल कर दें. आपके अनुरोध करने पर आपका नाम पहचान पूरी तरह गोपनीय रखा जाएगा. -संपादक, भड़ास4मीडिया

इसे भी पढ़ें…

xxx

xxx

कृपया हमें अनुसरण करें और हमें पसंद करें:

Vastu Vihar Scam (1) : भाजपा सांसद मनोज तिवारी के ‘संरक्षण’ में एक ठग कंपनी ने जनता से की अरबों की लूट

Yashwant Singh : बीजेपी दिल्ली के अध्यक्ष और बीजेपी सांसद मनोज तिवारी ने किस तरह अपने खास लोगों को वास्तुविहार कंस्ट्रक्शन कंपनी के जरिए जनता को लूटने की छूट दी, किस तरह वे लूट के इस खेल में अप्रत्यक्ष तौर पर शामिल रहे, इसका खुलासा जल्द भड़ास पर होगा. मनोज तिवारी द्वारा ‘संरक्षित’ वास्तुविहार कंस्ट्रक्शन कंपनी के जाल में लोग मनोज तिवारी का चेहरा देखकर फंस रहे हैं और ठग कंपनी मालामाल होती जा रही है.

इस ठग कंपनी ने उत्तर प्रदेश, बिहार, झारखंड समेत देश के कई हिस्सों में जाल बिछा रखा है और लगातार भोले भाले लोगों को शिकार बनाया जा रहा है. अगर आपके संपर्क में भी किसी व्यक्ति का धन इस कंपनी में डूबा हो तो कृपया सामने आएं. डिटेल लिख कर bhadas4media@gmail.com पर भेज दें, उसे भी भड़ास पर आने वाली खबर में शामिल किया जाएगा.

याद रखिए, इस खुलासे को कोई चैनल या अखबार नहीं दिखाएगा… वजह आप खुद जानते होंगे… लगभग सारे चैनल और लगभग सारे अखबार जब धंधा बिजनेस लाभ स्वार्थ के लिए भगवा रंग में हर हर हो चुके हों तो सच्चाई सामने लाने का काम सोशल मीडिया और वेब माध्यमों को ही करना पड़ेगा… खोजी पत्रकारों के लिए बनारस की वास्तु विहार कांस्ट्रक्शन कंपनी और वास्तु विहार प्रोजेक्ट शोध का विषय है.. लग जाएं…

भड़ास के एडिटर यशवंत सिंह की एफबी वॉल से.

पूरे प्रकरण का खुलासा पढ़ने के लिए नीचे दिए शीर्षकों पर क्लिक करें :

xxx

xxx

कृपया हमें अनुसरण करें और हमें पसंद करें:

महिला शिक्षिका ने गाने की फरमाइश क्या की, बुरी तरह भड़क गया मनोज तिवारी

Ashwini Sharma : आप सांसद हैं. कम से कम अपने पद की गरिमा का तो ख्याल रखिए.. अरे वो शिक्षिका थीं.. आपसे गाने की फरमाइश ही तो कर रही थीं.. आप तो बुरी तरह भड़क गए.. शिक्षिका को भला बुरा सुनाकर मंच से ही उतार दिया.. आप भले मेरे 22 साल पुराने कॉलेज के दिनों के साथी हैं.. भले हम आपसे बहुत स्नेह करते हैं लेकिन आपके ताजा बर्ताव से बेहद आहत हैं.. अनुरोध है भाई थोड़ा संयमित होकर आपना कार्य करें ताकि जनता का दिल जीत सकें…

अरविन्द शर्मा : माननीय सांसद मनोज तिवारी जी को एक शिक्षिका का इस तरह अपमान नहीं करना चाहिए था। अगर उन्हें गाने में तकलीफ थी तो विनम्रता से मना भी कर सकते थे। जबकि विडम्बना तो यह भी है कि गायन और अभिनय उनकी पहचान है, उसकी बदौलत ही वे आज इस मुकाम पर पहुंचे हैं लेकिन उन्होंने अपने व्यवहार से न केवल एक शिक्षिका, एक महिला बल्कि अपने पेशे के साथ भी अन्याय किया है।

और, जब वह यह कहते हैं कि आपको ‘एक सांसद’ से बोलने की तमीज नहीं है तब लगता है कि हम कहीं नहीं पहुंचे जबकि देश का मुखिया खुद को प्रधान सेवक और चौकीदार कहता है वहीँ ये ‘एक सांसद’ वाला दम्भ बेहद अखरता है। आखिर क्या होता है एक सांसद होना। आप कहाँ से आते हैं, संघ लोक सेवा का कौन सा इम्तिहान देते हैं जो एक सांसद बन जाते हैं! आखिर यही श्रेष्ठता का बोध ही तो है जो सामन्तवाद को ऑक्सीजन देता है।

यूँ तो बात बेशक आई गई हो जायेगी लेकिन सार्वजनिक मंच पर आपने न जाने अपने किन संस्कारों का परिचय दिया है। मोदी जी कह रहे हैं कि हम फलदार हो गए हैं हम झुक जाना चाहिए और माननीय सांसद महोदय हैं कि एक सांसद हो जाने के हासिल को नियंत्रित नहीं कर पा रहे हैं।

पत्रकार अश्विनी शर्मा और अरविंद शर्मा की एफबी वॉल से.

कृपया हमें अनुसरण करें और हमें पसंद करें:

दिल्ली भाजपा अध्यक्ष मनोज तिवारी ने माना- ‘नोटबंदी से जनता परेशान हो रही’ (देखें वीडियो)

दिल्ली में भाजपा के नए प्रदेश अध्यक्ष बनाए गए मनोज तिवारी ने ईटीवी से एक खास बातचीत में कह डाला कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा शुरू किए गए विमुद्रीकरण से जनता को परेशानी हो रही है. वरिष्ठ पत्रकार जगदीश चंद्रा से ‘जेसी शो’ के लिए विशेष बातचीत के दौरान मनोज तिवारी से जब पूछा गया कि क्या उन्हें दिल्ली में बसे बिहारी और पूर्वांचली वोटरों को लुभाने के लिए भाजपा का प्रदेश अध्यक्ष बनाया गया है तो इस सवाल के जवाब में उन्होंने कहा कि वे दिल्ली की जनता का वर्गीकरण नहीं करना चाहते, वह ”सबका साथ, सबका विकास और दिल्ली का उल्लास” की लाइन पर काम करेंगे.

भाजपा दिल्ली के नए प्रदेशाध्यक्ष मनोज तिवारी से जगदीश चंद्रा की संपूर्ण बातचीत ईटीवी राजस्थान, ईटीवी उर्दू और न्यूज18इंडिया पर आज शाम साढ़े सात बजे व साढ़े आठ बजे देख सकेंगे.

Kindly watch Newly appointed New Delhi BJP President Manoj Tiwari – Jagdeesh Chandra Show on ETV Rajasthan and Etv Urdu today at 8.30 PM and 7.30 PM on News18-India (IBN7) also.

बातचीत की झलकियां देखने के लिए नीचे दिए गए लिंक्स पर क्लिक करें :

मनोज तिवारी बोले- नोटबंदी से जनता को असुविधा हो रही https://youtu.be/QvRaL9v6Qpc

xxx

बिहार-पूर्वांचल के वोटर लुभाने को मनोज तिवारी बने अध्यक्ष https://youtu.be/jfVn3QxPUaA

xxx

ईटीवी के चलते दुनिया मुझे देखने लगी : मनोज तिवारी https://youtu.be/UWsQOM0PYiU

भड़ास तक अपनी सूचनाएं bhadas4media@gmail.com के जरिए पहुंचा सकते हैं. आप चाहें तो अपनी खबर 9999330099 पर ह्वाट्सएप भी कर सकते हैं.

कृपया हमें अनुसरण करें और हमें पसंद करें:

बेचारे मनोज तिवारी सच बोलकर फँस गए… किरण बेदी की थानेदारी चल पड़ी…

Mukesh Kumar : बीजेपी में किरण बेदी की थानेदारी चल पड़ी है। बेचारे मनोज तिवारी सच बोलकर फँस गए। सांसदों से कार्यकर्ताओं की तरह व्यवहार करने वाली किरण बेदी ने उनकी शिकायत हाईकमान से कर दी और मनोज बाबू को झाड़ पड़ गई। बेदी के आने से दिल्ली बीजेपी में सिर फुट्व्वल का ये एक नमूना भर है। अभी बहुतेरे हैं जो नाखुश हैं और मौका मिलते ही हिसाब चुकता करेंगे।

बेदी ने हाईकमान को साध लिया है और चापलूसी में भी वे सबसे आगे निकल गई हैं। मधु किश्वर और स्मृति ईरानी को नया चैलेंजर मिल गया है। आख़िर बेदी ने मोदी को दुनिया का सबसे खूबसूरत नेता कहकर पार्टी में अपनी जगह को पुख्ता तो किया ही है, चापलूसी परंपरा को भी मज़बूती प्रदान की है। सीधी सी बात है बीजेपी में रहना है तो जय मोदी कहना होगा।

वरिष्ठ पत्रकार मुकेश कुमार के फेसबुक वॉल से.

कृपया हमें अनुसरण करें और हमें पसंद करें:

भाजपा में मोदी के बाद सर्वाधिक भीड़ बटोरू और डिमांडिंग नेता बने सांसद व गायक मनोज तिवारी!

उत्तर पूर्वी दिल्ली के सांसद और भोजपुरी फिल्म, गीत-संगीत के सुपर स्टार मनोज तिवारी के बारे में एक नई जानकारी अपडेट कर लें. हरियाणा और महाराष्ट्र चुनावों में जिस कदर इनकी सभाओं में भीड़ उमड़ी है, उसका जब एनालिसिस किया गया तो पता चला कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के बाद भाजपा में सबसे बड़े भीड़ बटोरू नेता बन गए हैं मनोज तिवारी. जी हां, यह सच है. इसी आधार पर भाजपा के अंदरखाने मनोज तिवारी को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के बाद भाजपा का सबसे बड़ा स्टार प्रचारक कहा-माने जाने लगा है. चुनावों के दौरान मनोज तिवारी की भाजपा के अंदर बढ़ती डिमांड से भी पता चलता है कि उनकी राजनीतिक हैसियत बीजेपी में काफी बड़ी हो गई है.

(हरियाणा और महाराष्ट्र के विधानसभा चुनावों के दौरान मनोज तिवारी के नाम पर जिस कदर जनता टूटकर सभाओं में पहुंची, उसने राजनीतिक पंडितों के साथ-साथ भाजपा के रणनीतिकारों को भी हैरत में डाल दिया. इन्हीं चुनावों के दौरान की कुछ तस्वीरें)


 

लोकसभा चुनाव हो या अभी हाल में हुए विधानसभा चुनाव, मनोज तिवारी की जन सभाओं में उम्मीद से ज्यादा भीड़ उमड़ी..देश के किसी भी हिस्से में इन्हें देखने सुनने के लिए जन सैलाब उमड़ता दिखा..सवाल ये है कि आखिर मनोज तिवारी में ऐसा क्या है जो जनता इनकी दीवानी है..इसके लिए हम आपको करीब बीस साल पीछे ले जाते हैं जब मनोज तिवारी काशी हिंदू विश्वविद्यालय में पढ़ाई के साथ क्रिकेट और गायकी में खुद को आजमा रहे थे..दोनों ही जगह मनोज जी ने अपनी मेहनत और लगन से अपना सिक्का जमाया..देश विदेश में क्रिकेट के साथ गायकी में भी खूब नाम कमाया और इन्हें देखने के लिए भी भीड़ उमड़ने लगी..

वैसे तो ये हर तरह के गीत गाते थे लेकिन भोजपुरी में इन्होंने जैसे क्रांति मचा कर रख दिया..गायक के साथ अभिनेता भी बने.. भोजपुरी फिल्मों के सबसे बड़े सुपर स्टार बनकर उभरे..अब तो इनकी एक झलक पाने के लिए और जबरदस्त भीड़ उमड़ने लगी..मुंबई का जुहू बीच हो या बनारस का गंगा किनारा तिल रखने की जगह नहीं होती..मुंबई में रहने वाले उत्तर भारतीय तो इनके इस कद्र दीवाने हो गए कि नफरत और भाषा की राजनीति करने वाले नेताओं ने इन पर हमले तक करवाए लेकिन मनोज जी का हौसला कम नहीं कर सके..ये अपनी मधुर आवाज से नफरत की राजनीति करने वालों को भी प्रेम का पैगाम देते रहे..आखिर में वो सब भी इनके मुरीद हो गए..

कुछ महीने पहले हुए लोकसभा चुनाव में इनकी प्रतिभा को देखकर नॉर्थ ईस्ट दिल्ली से भाजपा ने चुनाव मैदान में उतारा और इन्होंने पार्टी को निराश ना करते हुए कांग्रेसी नेता जय प्रकाश अग्रवाल को हरा दिया..खुद के लिए इन्होंने जितनी मेहनत की और प्रचार किया उससे ज्यादा जनसभाएं इन्होंने पार्टी के दूसरे उम्मीदवारों के लिए किया..देशभर में सौ से ज्यादा जनसभाएं करते हुए करोड़ों लोगों का दिल जीता..हरियाणा का फरीदाबाद, रोहतक, भिवानी हो या महाराष्ट्र का नागपुर, मुंबई, ठाणे और देश का कोई भी हिस्सा हो जहां ये गए अपने करिश्माई व्यक्तित्व से जनता का दिल जीतते रहे..एक खिलाड़ी होने की वजह से ये बिना थके बिना रुके देश भ्रमण करते रहे और जहां गए ऐतिहासिक भीड़ इनका स्वागत करती रही..इस मामले में पूछे जाने पर मनोज जी कहते हैं जब हमारे प्रधानमंत्री देश को शिखर पर पहुंचाने के लिए दिन रात मेहनत कर रहे हैं तो मैं तो सिर्फ उनका एक सिपाही मात्र हूं..मनोज जी के इस सफर का गवाह मैं ही नहीं इनके समकक्ष पढ़े और भी लोग रहे हैं..जो इनकी इस प्रसिद्धि को सलाम करते हैं और उपर वाले से दुआ करते हैं कि ये सत्ता के शिखर पर पहुंचे..

लेखक अश्विनी शर्मा पत्रकार और विश्लेषक हैं. अश्विनी मुंबई और दिल्ली में कई मीडिया हाउसों में कार्य कर चुके हैं. इन दिनों भास्कर न्यूज में वरिष्ठ पद पर कार्यरत हैं.

कृपया हमें अनुसरण करें और हमें पसंद करें: