नापतोल.कॉम के फर्जी मैनेजर ने वरिष्ठ पत्रकार श्रीकांत अस्थाना की पत्नी को ठगने की कोशिश की

Shrikant Asthana : वेब खरीददारी भी आपको ठगों के जाल में फंसा सकती है। विभिन्न साइटों पर खरीदारी करने में दिया गया फोन नंबर ठगी के रैकेटों के हाथ पड़ जाते हैं और वे आपको फोन करके बताते हैं कि आपका यह इनाम निकला है। इसे हासिल करने के लिए आप अमुक खाते में इतनी रकम जमा करायें तो ईनाम आपको भेजा जाए। ऐसे ही एक ठग ने आज सुबह श्रीमती सुष्मिता को नापतोल.कॉम का मैनेजर बताते हुए किया।

राष्ट्रवाद एक मूर्खतापूर्ण विचार है : श्रीकांत अस्थाना

Shrikant Asthana : फिर दोहराना पड़ रहा है कि राष्ट्रवाद एक मूर्खतापूर्ण विचार है जो सिर्फ मनुष्य को बांटता है। कुछ अतिवादी समूह खुद को राष्ट्रवादी घोषित कर दूसरों को हीन, बाहरी या राष्ट्रविरोधी घोषित करने और उनके विरुद्ध अपनी शक्ति भर कुछ भी करने का प्रयत्न राष्ट्र के नाम पर करते हैं। भारत, अमेरिका, न्यूजीलैंड या मध्यपूर्व — हर जगह यही जहर फैल रहा है।

कई अखबारों में संपादक रहे वरिष्ठ पत्रकार श्रीकांत अस्थाना की उपरोक्त एफबी पोस्ट पर आए ढेरों कमेंट्स में से कुछ प्रमुख यूं हैं :

Paytm के प्रचार का सालाना बजट 600 करोड़ रुपए!

Shrikant Asthana : Paytm के मालिक शर्मा जी का आज इंटरव्यू पढ़ रहा था The Hindu (नाम पर मत जाइएगा) में। इसमें इन्होंने खुलासा किया कि इनका प्रचार का सालाना बजट 600 करोड़ रुपए का है। यानी 50 करोड़ रुपए महीना। यह आएगा कहां से आपने कभी सोचा भी नहीं होगा। यह आपसे ही वसूला जाएगा 4% transaction charge लगा कर।