इंदौर ‘दंबग दुनिया’ में भगदड़, एक सप्ताह में चार ने नौकरी छोड़ी

इंदौर : यहां के हिंदी अखबार ‘दैनिक दंबग दुनिया’ में इन दिनो तो जैसे भगदड़ सी मची हुई है। पिछले एक सप्ताह के भीतर ही अखबार से एक एक कर चार लोगों ने नौकरी छोड़ दी है। पूरे स्टॉप में भारी असंतोष बताया जा रहा है।

दबंग दुनिया संपादकीय प्रबंधन पर तरह तरह के आरोप सुनने में आरहे हैं। जितने मुंह उतनी बातें पता चल रही हैं।

पिछले एक सप्ताह के भीतर संस्थान से कार्टूनिस्ट इस्माइल लहरी, क्राइम रिपोर्टर मुकेश मंगल, रिपोर्टर मुनीश शर्मा और देश-विदेश डेस्क पर कार्यरत रहे अमीन कुरैशी संस्थान छोड़ कर जा चुके हैं। अभी भी कई लोगों के नौकरी छोड़ने की सूचनाएं हैं। 

कृपया हमें अनुसरण करें और हमें पसंद करें:

‘दबंग दुनिया’ अखबार के खिलाफ अधूरी आरटीआई पर अपील की चेतावनी

इंदौर (म.प्र.) : मालवीयनगर निवासी राजेंद्र शर्मा ने आरटीआई के तहत ‘दबंग दुनिया’ अखबार के संबंध में अपीलीय अधिकारी एवं क्षेत्रीय भविष्य निधि आयुक्त से मिली अधूरी जानकारी के विरुद्ध कोर्ट में मामला दायर करने की चेतावनी दी है।

अपीलीय अधिकारी एवं क्षेत्रीय भविष्य निधि आयुक्त को उन्होंने इस संबंध में जानकारी देते हुए बताया है कि उन्होंने 24 मार्च 2015 को आरटीआई रसीद क्रम संख्या 8753 के माध्यम से दबंग दुनिया समाचार पत्र में कर्मचारियों के वेतन से प्रबंधन का अंशदान जमा कराने के नियम एवं प्रावधान की जानकारी मांगी थी। अंशदान के नियमों की अवहेलना पर उन्होंने दंड प्रावधानों की जानकारी चाही थी। साथ ही, अखबार के कर्मचारियों ने अंशदान में प्रबंधन की ओर से अपेक्षित राशि जमा न कराए जाने के संबंध में जो शिकायत की थी, उस संबंध में पूरा ब्योरा और अब तक हुई कार्रवाई की जानकारी भी वह प्राप्त करना चाहते थे। 

23 अप्रैल 2015 तक उन्हें आरटीआई के तहत जो जानकारी दी गई, उससे संतुष्ट नहीं हैं। अपीलीय अधिकारी को राजेंद्र शर्मा के वकील आशा मोपारी की ओर से बताया गया कि दबंग दुनिया अखबार नियम विरुद्ध कर्मचारियों के वेतन से स्वयं का अंशदान जमा करा रहा है। यह सीधे सीधे 420 का मामला बनता है। अपीलीय अधिकारी से जानकारी न मिलने के कारण राजेंद्र शर्मा कर्मचारियों के हित में अब कोर्ट से गुहार लगाना चाहते हैं। 

अपीलीय अधिकारी के संबंध में यह कहा कि पब्लिक डोमिन पर जानकारी उपलब्ध कराने से इनकार कर उन्होंने सीधे सीधे सूचना के अधिकार के नियम का उल्लंघन किया है। फिर भी 15 दिन के भीतर यदि अपेक्षित जानकारी नहीं मिलती है तो राजेंद्र शर्मा कोर्ट में अपील करेंगे। एडवोकेट आशा मोपारी की ओर से इस अपीलीय अधिकारी को प्रेषित चेतावनी पत्र की प्रति आरपीएफ द्वितीय प्रधान कार्यालय दिल्ली को भी दी गई है। 

कृपया हमें अनुसरण करें और हमें पसंद करें:

शैलेंद्र शर्मा आत्महत्या कांड : ‘दबंग दुनिया’ के सीईओ समेत चार पर लटकी कार्रवाई की तलवार

खंडवा (म.प्र.) : दबंग दुनिया अखबार के मार्केटिंग विभाग से जुड़े रहे शैलेंद्र शर्मा ने काम के दबाव के चलते तीन माह पहले खंडवा के एक होटल में फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली थी। अब उस मामले में खंडवा पुलिस ने दबंग दुनिया के सीईओ सहित चार लोगों के खिलाफ धारा 304 के तहत प्रकरण दर्ज करने की तैयारी कर ली है। 

गौरतलब है कि दबंग दुनिया के सीईओ द्वारा शैलेंद्र शर्मा को कार्यरत रहने के दौरान मानसिक रूप से काफी प्रताड़ित किया गया था। वह खंडवा में दबंग दुनिया के मार्केटिंग एवं सर्क्यूलेशन इंचार्ज थे।

इधर, दबंग दुनिया मैनेजमेंट ने शैलेंद्र के परिवार को अभी तक कोई सहायता राशि नहीं दी है और शैलेंद्र पर लाखों रुपए के गबन का आरोप लगा रहे हैं, जबकि कर्मचारियों ने शैलेंद्र के परिवार के लिए मार्च माह में ही एक दिन का वेतन भी कटवा दिया था। 

इस पूरे प्रकरण को ठिकाने लगवाने के लिए दबंग दुनिया के चैयरमैन किशोर वाधवानी ने अपने खास गुर्गे राजू पाठक और डाक प्रभारी विजय पाठक को लगा रखा है। शैलेंद्र के परिजन भी इस मामले में सीएम शिवराज सिंह से गुहार लगाने वाले रहे हैं।

कृपया हमें अनुसरण करें और हमें पसंद करें: