सेलरी संकट से परेशान सहारा मीडिया के कर्मियों ने प्रिंटिंग मशीन से लेकर न्यूज प्रिंट गोदाम तक में लगा दी आग!

पटना से एक बड़ी खबर आ रही है. कुछ रोज पहले वहां राष्ट्रीय सहारा की प्रिंटिंग मशीन से लेकर न्यूज प्रिंट गोदाम तक धू धू करके जल उठा. इस बारे में सहारा अखबार में खबर भी छपी है. लेकिन अंदर कई किस्म की कहानियां चल रही हैं. कुछ का कहना है कि सेलरी न मिलने से नाराज कुछ सहाराकर्मियों ने सहारा समूह के असंवेदनशील रवैये के प्रति विरोध प्रकट करने के लिए सहारा के न्यूज प्रिंट गोदाम में आग लगा दी और आग ने देखते ही देखते प्रिंटिंग मशीन से लेकर स्टोर, जनरेटर रूम को अपने घेरे में ले लिया.

सीकुराज भारद्वाज को इंसाफ दिलाने के लिए पटना में कैंडिल मार्च

पटना: जस्टिस फॉर सीकुराज भारद्वाज फोरम ने गत दिवस शहीद सीकुराज भारद्वाज के इन्साफ की मांग को लेकर पटना के कारगिल चौक से डाक बंगला चौराहे तक पद यात्रा, कैंडल मार्च निकाला। 

पटना में राष्ट्रपति के दौरे के समय न्यूज कवरेज में लगे एक और पत्रकार के घर चोरी

पटना : शहर में पत्रकार आज कल चोरो के निशाने पर हैं। अभी बीती रात एक पत्रकार के घर से चोर आठ लाख के जेवर और 25 हजार के नोट उड़ा ले गए थे। एक और पत्रकार के घर से उनका कुत्ता चोरी हो गया। पटना में जिस दिन राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी की सुरक्षा में पुलिस अमला लगा हुआ था, उसी दौरान चोर एक पत्रकार का कुत्ता उठा ले गए। 

पटना में पत्रकार के सूने घर से चोरों ने उड़ाए आठ लाख के जेवर और 25 हजार रुपए

पटना : महानगर के शास्त्रीनगर क्षेत्र स्थित पटेल नम्बर रोड पर किराए पर रह रहे एक पत्रकार अशोक सिंह के आवास से चोर आठ लाख के आभूषण और 25 हजार रुपये नकद उड़ा ले गए। पुलिस घटना में किसी पेशेवर चोर का हाथ मान रही है। 

नहीं रहे पटना के प्रखर पत्रकार अवधेश ओझा

पटना के प्रखर पत्रकार अवधेश कुमार ओझा नहीं रहे। चालीस साल से अधिक समय तक जम कर पत्रकारिता की पारी खेलने के बाद कल रात उन्होंने लगभग 70 वर्ष की उम्र में सदा-सदा के लिए आंखे मूद ली। क्राइम रिपोर्टिग के विविध आयामों को सलीके से अखबार में परोसने के कारण इन्हें प्यार से पत्रकारिता क्षेत्र में  ‘क्रिमिनल रिपोर्टर’ भी कहा जाता था। पटना के दैनिक आर्यावर्त से अपना पत्रकार जीवन प्रारंभ करने वाले अवधेश ओझा सन 1979 में ‘आज’ से जुड़े और अस्सी के दशक में हिन्दुस्तान के साथी बन गये।