कंटेप्ट आफ कोर्ट में आईआरएस अधिकारी एसके श्रीवास्तव को जेल व जुर्माना

खबर है कि दिल्ली हाईकोर्ट ने आईआरएस अधिकारी एसके श्रीवास्तव को पंद्रह दिन की जेल और दो हजार रुपये जुर्माने की सजा सुनाई है. एसके श्रीवास्तव के खिलाफ एक अन्य महिला आईआरएस अधिकारी ने अपशब्दों के प्रयोग समेत कोर्ट के आदेश न मानने के आरोप लगाए थे. ज्ञात हो कि कोर्ट ने पहले एक आदेश में एसके श्रीवास्तव पर अनाप-शनाप न बोलने-लिखने का आदेश सुनाया था. इसका उल्लंघन करने पर अब कल उन्हें जेल व जुर्माने की सजा हुई है.

इंडिया न्यूज और टाइम्स नाऊ पर अखिलेश यादव ने गिराई गाज

खबर है कि इंडिया न्यूज नेशनल और इंडिया न्यूज रीजनल को उत्तर प्रदेश में सरकार ने ब्लैक आउट करा दिया है, यानि इसका केबल पर दिखना बंद हो गया है. बताया जाता है कि ऐसा यूपी सरकार से इंडिया न्यूज के लोगों के किसी विवाद के बाद हुआ है. कुछ कह रहे हैं कि पैसे का मामला है तो कुछ का कहना है कि कोई अन्य मसला. बताया जाता है कि सेटलमेंट के लिए एक राउंड बैठक भी हुई पर विवाद नहीं सुलझा. इसके बाद इंडिया न्यूज ने फिर से निगेटिव खबरों का प्रसारण शुरू किया तो सरकार ने इसे ब्लैकआउट करा दिया.

महिला पत्रकार सौम्या शर्मा को पुरस्कार मिलने पर रमन सिंह ने बधाई दी

मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने राजधानी रायपुर की महिला पत्रकार सुश्री सोमा शर्मा को राष्ट्रीय लाडली मीडिया पुरस्कार मिलने पर प्रसन्नता व्यक्त करते हुए उन्हें बधाई और शुभकामनाएं दी है. ज्ञातव्य है कि सुश्री शर्मा को महिला उत्थान के क्षेत्र में विशेष रिर्पोटिंग के लिए राष्ट्रीय जनसंख्या कोष और समाजसेवी संस्था पापुलेशन फर्स्ट द्वारा पिछले माह की बीस तारीख को नई दिल्ली में आयोजित कार्यक्रम में यह प्रतिष्ठित पुरस्कार प्रदान किया गया.

आशुतोष के शिकार एक आम पत्रकार की कहानी

साथी, मैं बहुत दिन से यह लिख रहा था। लेकिन अब समाचार मिला कि आशुतोष ने आप का दामन थाम लिया है। लगता है कि कुछ देर हो गई है। लेकिन जितना लिखा है, वह भेज रहा हूं। हो सके तो छापिएगा। मेरा दर्द कुछ कम होगा। और आम आदमी पार्टी को ऐसे बहरुपिए के बारे में थोड़ी जानकारी मिलेगी। जो व्यक्ति रिलायंस के इशारे पर अपने साथियों को नौकरी से निकाल देता है और अपनी नौकरी बचा लेता है, वह व्यक्ति राष्ट्र के लिए क्या लड़ेगा?

अपराध फैक्ट्री बनीं यूपी की जेलें, मंत्री जी करेंगे सुधार

यूपी के एक मंत्री हैं राजेंद्र चौधरी। वे इस समय राज्य के कारागार मंत्री भी हैं और साथ ही प्रदेश समाजवादी पार्टी के प्रदेश प्रवक्ता भी हैं, जनाब बिना नागा प्रेस विज्ञप्ति भेजते रहते हैं, इन विज्ञप्तियों में राज्य से लेकर दुनिया भर के मुद्दों पर उनकी राय होती है| चौधरी जी को जेल मंत्री बने एक अरसा हो चुका है| जिस दिन पद संभाला उस दिन तो जेल के वातावरण को सही करने का दावा किया लेकिन अभी तक मंत्री जी की ओर से कोई भी ऐसा कदम नहीं उठाया गया| इस समय आलम ये है कि आये दिन कैदियों कि मारपीट, पेशी के समय हत्या जानलेवा हमले की घटनाएं आम बात हो चुकी हैं। आइये नजर डालते हैं राजेंद्र चौधरी के वादों और जमीनी हकीकत पर।

युद्धस्व विगतज्वर: … निश्चिंत होकर युद्ध करो..

Yashwant Singh : काफी दिनों बाद कल वरिष्ठ पत्रकार कुमार संजॉय सिंह के यहां पहुंचा. काफी देर तक बैठा बतियाता रहा. गाजियाबाद के वसुंधरा स्थित जनसत्ता अपार्टमेंट वाले उनके घर में. यहां घर के दरवाजे और भीतर दीवारों पर कई पठनीय चीजें टंगी मिलीं, यह बैनर भी. इसे देख-पढ़ कर काफी देर तक हैरान परेशान सोचता रहा, ये क्या लिखा है, क्यों लिखा है. खुद से बातें करता रहा. फिर लगा, सही कहा है आदरणीय श्रीकृष्ण जी ने.

Makhanlal University lost all its image, credibility, work culture, standard and growth

: UGC inspection on 9/10 January 2014 and anomalies in Makhanlal University Bhopal : It clearly shows that Makhanlal Chaturvedi Patrakarita University at Bhopal is not running well and at the time of Mr. Kuthiala as VC (2010-14) it has lost all its image, credibility, work culture, standard and growth . The shortage of faculty (1 professor, 2 readers/ associate professor, 4 assistant professors) is  there as not a single department is filled with these positions.

मकर संक्रांति की यादें, उड़ने से पहले कटी काका की पतंग

मकर संक्रांति मेरे पसंदीदा त्यौहारों में से एक है। इस दिन मैं नहाने की छुट्टी करता हूं और पूरा दिन छत पर बिताता हूं। मैं पूरे परिवार का पहला व्यक्ति होता हूं जो सबसे पहले दिन की शुरुआत करता है। वह दिन ढेर सारे पतंगों और ‘वो काटा, वो मारा’ के शोर में बीतता है। इसके अलावा मैं मकर संक्रांति से जुड़े रहस्यों के बारे में बहुत कम जानता हूं। यह एक संयोग ही है कि मेरे जीवन में मकर संक्रांति से जुड़ी कई घटनाएं हैं जो इस दिन को और मजेदार बनाती हैं। साल 1997 की मकर संक्रांति इस मामले में अपवाद है, क्योंकि उस दिन मां ने मेरी पिटाई की थी। इसके अलावा ज्यादातर संक्रांतियां बहुत अच्छी बीतीं। यहां मैं आपको इस दिन से जुड़ी कुछ खास घटनाएं बताने जा रहा हूं। जरा गौर से सुनिए…

खोजी पत्रकारिता के लिए द संडे इंडियन के अनिल पांडेय पुरस्कृत

द संडे इंडियन हिंदी के कार्यकारी संपादक अनिल पांडेय को उनकी खोजी रिपोर्टस् के लिए पुरस्कृत किया गया है। यह पुरस्कार उन्हें सेन्टर फॉर सिविल सोसायटी की ओर से 8 जनवरी, 2014 की शाम दिल्ली के ललित होटल में दिया गया। इस दौरान कुल तीन पत्रकारों को पुरस्कृत किया गया और पुरस्कार के तहत बीस-बीस हजार रूपये नकद और शील्ड प्रदान की गई। अनिल पांडेय के अलावा यह पुरस्कार तहलका के अतुल चौरसिया और दिल्ली प्रेस के जगदीश पंवार को भी दिया गया।

चिटफंड कम्पनियों पर सेबी की नकेल, नकद निवेश पर रोक

प्रतिभूति बाज़ार की नियामक संस्था, भारतीय प्रतिभूति एवं विनिमय बोर्ड(सेबी) के प्रयास चिटफंड कम्पनियों की फर्जी योजनाओं से राहत नहीं दिला पा रहे हैं। सेबी हालांकि लगातार प्रयास कर रही है कि जनता की मेहनत की कमाई को फर्जी योजनाओं के सब्जबाग दिखा कर लूटने वाली कम्पनियों पर लगाम कस सके। ऐसा होना अभी भी मुमकिन नहीं दिख रहा है क्योंकि सरकारी नुमायंदों, सेलिब्रटीज और नेताओं का गठबंधन बार-बार आड़े आ जाता है। यहाँ तक कि खिलाड़ी और अभिनेता भी इसमें लिप्त पाये जाते है।

सैफई महोत्सव पर सलमान-माधुरी की बेढ़ंगी सफाई

सैफई महोत्सव में हुई आलोचना के बाद सलमान-माधुरी नें सफाई दी है के, हम तो चैरिटी के लिए नाचते है। उन्होनें चैरिटी के लिए २५ लाख रु भी दिए। पर, हे सलमान! जिस सैफई के रहनुमा खुद मुलायम हैं उसे आप चैरिटी करें, ये कुछ हजम नहीं होता। फिर माधुरी सब्सिडी के नाम पर डेढ़ इश्कियां के लिए पूरे डेढ़ करोड़ रुपए ले उड़ीं, ये कैसी चैरिटी? क्या उत्तर प्रदेश में डेढ़ इश्कियां, बुलेट राजा के पहले या बाद में कोई फ़िल्म रिलीज नहीं हुई.

राम बचन को रुपया नहीं पर खंडूड़ी का इलाज खर्च आठ लाख से ज्यादा

सभी की तरह मैं भी माननीय भुवन चन्द्र खंडूड़ी जी को सबसे ईमानदार मुख्यमंत्री मानता हूँ। उनकी कड़क मिज़ाजी के सभी कायल है। मुझे याद है कि मेरे पड़ोस के गाँव में बचन सिंह नामक एक व्यक्ति गम्भीर रूप से बीमार था।  उसकी घर की माली हालत बेहद खराब थी। भाजपा के स्थानीय नेताओं सहित कई समाज सेवियों ने तत्कालीन मुख्यमंत्री खंडूड़ी जी से उसके इलाज के लिए सी मुख्यमंत्री राहत कोष से इलाज के लिए कुछ मदद की अपील की। खंडूड़ी जी ने नियम बना लिया था कि वे डीएम की सिफारिश पर ही किसी को मेडिकल ऐड देंगे। तो लोगों ने पहले डीएम से अपील करने का निर्णय लिया। जिस प्रदेश में पटवारी तक से काम कराना "आम आदमी" के लिए टेड़ी खीर हो वहाँ डीएम से काम कराना कितना कठिन होगा आप सोच सकते हैं?

आरएसए के खिलाफ खबरें इसलिए कि मिल सके मनमाफिक मकान

लखनऊ। सीएम ने कई मीडिया संस्‍थानों और पत्रकारों की पोल तो अपने पीसी में खोल के रख दी है. इसके बाद से कई पत्रकार सहमे हुए हैं. ऐसा ही हाल कुछ महीने पहले लांच हुए एक अखबार के पत्रकार का भी है. वे भी सीएम के तेवर देखने के बाद तनिक सहमे हुए हैं. वैसे भी लखनऊ में पत्रकारों में लालबत्‍ती पाने की गलाकाट स्‍पर्धा रही है. एक दूसरे को निपटाने में भी ये लोग पीछे नहीं रहते हैं. सरकार से लाभ भी लेते हैं और आंखें भी तरेरते हैं, तभी तो सीएम की घुड़की के बावजूद किसी के चोंच नहीं खुले.

समस्या जो आम आदमी पार्टी में जाकर भी खत्म नहीं कर पाएंगे आईबीएन के आशुतोष

टीवी पत्रकार आशुतोष का इस्तीफा और आम आदमी पार्टी में ज्वाइन करने की खबरें देश में चर्चा का विषय बन गया। ट्व‍िटर पर उनके पक्ष और विरोध में तमाम ट्वीट्स गिरने लगे। राजनेता चुप रहे। 'आप' की ओर से कोई रिएक्शन नहीं आया। तमाम लोगों की आशाएं बंध गईं कि आम आदमी पार्टी ज्वाइन करने के बाद आशुतोष कुछ न कुछ बड़ा करके जरूर दिखायेंगे।

अनुसूचित जाति आयोग जैसा न हो लोकपाल का हाल

संसद के दोनों सदनों से मंजूरी मिलने के बाद आखिरकार देश को पांच दशक बाद भ्रष्टाचार से लड़ने के लिए बहुप्रतीक्षित लोकपाल मिल गया। आज का सवर्णपरस्त समाज अन्ना को दूसरे महात्मा की उपाधि दे दी है। प्रश्न ये है कि यह किसका लोकपाल है? सरकार का या फिर  अन्ना का? पता नहीं! फिर भी चालीस साल से इसकी मांग हो रही थी क्यों? अन्ना को अनशन क्यों करने पड़े? सांसदों को आधी-आधी रात तक माथापच्ची क्यों करनी पड़ी? अब जब यह बन गया है, अन्ना कह रहे हैं कि यह लोकपाल जिसका भी है, अच्छा है। कम से कम चालीस-पचास फीसदी भ्रष्टाचार तो इससे कम हो ही जाएगा। बताते हैं कि राहुल गांधी ने इस मामले में अगुवाई की। अब अन्ना कम से कम लोकपाल को लेकर तो अनशन नहीं करेंगे। बाकी देखा जाएगा। अन्ना अब राहुल गांधी की तारीफ करते नहीं थक रहे हैं।

‘आप’ के महिमामंडन में क्यों लगा है ‘आजतक’?

नई दिल्ली। यह बात मेरी समझ से परे है कि आजतक न्यूज चैनल आम आदमी पार्टी के मुखिया और दिल्ली के चीफ मिनिस्टर केजरीवाल के महिमामंडन में क्यों जुटा हुआ है। आजकल आजतक पर पूरी तरह से मिस्टर केजरीवाल का रंग चढ़ गया है। इसके पीछे का राज क्या है, यह तो आजतक वाले अरूण पुरी बता सकते हैं या फिर मिस्टर केजरीवाल।

सहारा छोड़ ‘रोज़नामा खबरें’ पहुंचे ज़ैन शम्सी

दिल्ली से आए दिन उर्दू अख़बारों का निकलना कोई नयी बात नहीं है मगर एक नए अख़बार 'रोज़नामा खबरें' ने कई बड़े अख़बारों के स्टाफ को अपने साथ शामिल कर कुछ अलग ही हंगामा मचाया हुआ है। फ़िलहाल दिल्ली के सबसे बड़े अख़बार 'इंक़लाब' से कई लोग इस अख़बार में शामिल हुए हैं। सहारा जैसे बड़े उर्दू अख़बार को छोड़ कर पत्रकार ज़ैन शम्सी ने भी सह संपादक के तौर पर इस अख़बार को ज्वाइन कर लिया है।

वरिष्ठ पत्रकार राधेश्याम शर्मा ने माखनलाल पत्रकारिता विवि को भेंट की अपनी पुस्तकें

भोपाल। प्रख्यात साहित्कार डा. विजयबहादुर सिंह का कहना है कि किताबें जिंदगी को रौशन करती हैं और उनका अर्पण सबसे बड़ा दान है। क्योंकि किताबें ही हमें हमारे समय के आर-पार देखना सिखाती हैं। वे यहां माखनलाल चतुर्वेदी राष्ट्रीय पत्रकारिता एवं संचार विश्वविद्यालय, भोपाल में विश्वविद्यालय के पूर्व महानिदेशक और वरिष्ठ पत्रकार राधेश्याम शर्मा द्वारा अपनी पुस्तकों को विश्वविद्यालय के पुस्तकालय हेतु भेंट किए जाने के अवसर पर अपने विचार व्यक्त कर रहे थे।

‘समाचार प्लस’ चैनल का यूपी, उत्तराखंड और राजस्थान में जोरदार प्रदर्शन जारी

नए साल के पहले हफ्ते की टीआरपी के आंकड़े बताते हैं कि 'समाचार प्लस' न्यूज चैनल का उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड और राजस्थान में शानदार प्रदर्शन जारी है. जीआरपी, टीवीआर, शेयर और टीएसयू के मामलों में चैनल यूपी और उत्तराखंड में नंबर दो की पोजीशन पर बना हुआ है और उछाल पा रहा है. यूपी-यूके में जी न्यूज के बाद समाचार प्लस का स्थान है. इटीवी और इंडिया न्यूज में नंबर तीन की पोजीशन के लिए जद्दोजहद है.

ईटीवी ने लांच किए पांच नए रीजनल चैनल

ईटीवी समूह ने पांच भाषाओं में नए रीजनल चैनल लांच किया है. ये न्‍यूज चैनल 24 घंटे खबरों का प्रसारण करेंगे. समूह ने बांग्‍ला, कन्‍नड, गुजराती भाषा के अलावा हरियाणा और हिमाचल के लिए हिंदी भाषा में चैनल की लांचिंग की है.

राज्‍यसभा टिकट नहीं दिया तो छाप रहे हैं गलत खबर : अखिलेश

यूपी के मुख्‍यमंत्री का सरकारी आवास 5 कालीदास मार्ग आज ऐसे खुलासे का गवाह बना, जो बस बातों बेबात में सुना जा रहा था. सीएम ने आज अपने प्रेस कांफ्रेंस में मुहर लगा दी कि देश का एक बड़ा और खुद को देश का बड़ा अखबार बताने वाला मीडिया घराना सीएम से केवल इसलिए नाराज है कि उन्‍होंने उसके मालिकों में एक को राज्‍यसभा का टिकट नहीं दिया. सीएम अखिलेश यादव ने दर्जनों पत्रकारों के सामने नाराजगी भरे लहजे में कहा कि एक अखबार के लोग जुआ खेलते पकड़े गए थे. इन जुआडियों को पिछले शासन में लठियाया गया था, तब सपा ही साथ खड़ी थी.

अखिलेश ने कहा- पत्रकारों ने खबर दिखाने के नाम पर दांव दिया

लखनऊ। सैफई महोत्सव पर मीडिया में उठे बवाल पर आज खुद मुख्यमंत्री अखिलेश यादव पत्रकारों के सामने सफाई देने आये। 26 दिसंबर से 8 जनवरी तक चले सैफई महोत्सव में हो रहे नाच गाने और सांस्कृतिक कार्यकर्मों पर उठ रहे सवाल, वहीँ मुजफ्फरनगर दंगे के बाद राहत शिविरों में रह रहे पीड़ितों का इस ठण्ड में बुरे हालात के ऊपर मीडिया ने लगातार खबरे दिखाई, समाचार पत्रों और न्यूज़ चैनलों पर दिखाये गए कार्यकर्मों को लेकर मुख्यमंत्री इतने खफा दिखे की उन्होंने कुछ मीडिया हाउसेज की रिपोर्टिंग पर सवाल खड़े करते हुये उनसे माफ़ी मांगने की बात भी कह डाली।

प्रेम शंकर झा, जमशेद, सुशांत, रोहित, निखिल, जैकब के बारे में सूचनाएं

खबर है कि वरिष्ठ पत्रकार प्रेम शंकर झा तहलका के कंसल्टिंग एडिटर बन गए हैं. वे पहले भी तहलका में कालम लिखते थे. वे तहलका समूह के फाइनेंशियल वर्ल्ड के मैनेजिंग एडिटर भी हैं. उधर, न्यूज एक्सप्रेस से सूचना है कि सुशांत पाठक ने स्पेशल करेस्पांडेंट, जमशेद खान ने इनवेस्टिगेशन एडिटर, रोहित बिष्ट ने डिप्टी एक्जीक्यूटिव एडिटर, निखिल दुबे ने डिप्टी एक्जीक्यूटिव एडिटर और जैकब मैथ्यू ने एक्जीक्यूटिव एडिटर के रूप में ज्वाइन कर लिया है.

कुमार आनंद का नाम गायब, बल्देव भाई शर्मा बने नेशनल दुनिया के वरिष्ठ स्थानीय संपादक

नेशनल दुनिया अखबार से खबर है कि प्रिंट लाइन से कुमार आनंद का नाम गायब हो गया है. वे समूह संपादक के बतौर अखबार से जुड़े थे और अखबार में उनका नाम भी इसी रूप में छपता था. उनकी जगह अब बल्देव भाई शर्मा का नाम वरिष्ठ स्थानीय संपादक के रूप में प्रिंटलाइन में जाने लगा है.

अखिलेश सही हों या गलत, लेकिन मीडिया को धोया बहुत सही है

Nikhil Srivastava : जिस तरह आज अखिलेश यादव ने दैनिक जागरण को बदनाम (सच के आधार पर) किया है, उससे मीडिया को सबक लेने की जरूरत है? या इसका भी कोई तर्क निकाल लिया जायेगा? कुछ भी हो… अखिलेश सही हों या गलत, धोया बहुत सही है। अर्नब गोस्वामी को भी कुछ बोले हैं। अब भी किसी को हैलीकॉप्टर में घूमना है? सीधे मुख्यमंत्री के मोबाइल पर मैसेज भेजना है?

आशुतोष का नौकरी छोड़ कर ‘आप’ के जरिए राजनीति में सक्रिय होना साहसिक फैसला

Jitendra Dixit : आशुतोष ने नौकरी छोड़ कर आप के जरिए राजनीति में सक्रिय होने का फैसला कर साहस दिखाया है। हम उनके साहस की कद्र करते हैं। आजादी आंदोलन और हिंदी पत्रकारिता की धारा साथ-साथ बही है। आशुतोष जी इस कारण बधाई के पात्र हैं कि उन्होंने सुविधा के बजाय संघर्ष की राह चुनी है।

तीन सौ करोड़ रुपये खर्च बताने वाला अखबार माफी मांगे : अखिलेश यादव

लखनऊ : सैफई महोत्सव को लेकर यूपी के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने मीडिया पर निशाना साधते हुए कहा कि पूरे महोत्सव का खर्चा 7 से 8 करोड़ रुपये था लेकिन प्रकाशित किया गया 300 करोड़ रुपये. तीन सौ करोड़ रुपये खर्चे की रिपोर्ट छापने वाले माफी मांगें.

अखिलेश ने मीडिया से संबंधित जो सवाल उठाए हैं उस पर आत्ममंथन करना ही होगा

Arvind K Singh : अखिलेश यादव के सवाल गैर वाजिब नहीं… उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव आलोचनाओं से बेचैन हैं तो स्वाभाविक ही है…सबको पता है कि सैफई में जो भी हुआ है, वो सब उनका किया धरा नहीं है…एक बड़े राजनीतिक कुनबे में कुछ उनसे उम्र में बड़े हैं, कुछ पद में बड़े हैं, कुछ कद में बड़े हैं, कुछ रिश्तों में बड़े हैं…कुछ मिनी सीएम हैं तो कुछ सुपर सीएम…ऐसी बेबसी के बीच में मीडिया भी आलोचना करे, दंगों की बात उठाए तो नाराजगी स्वाभाविक है…

आशुतोष को शुभकामना देना कठिन है, क्योंकि मैं ‘आप’ को एनजीओवादी राजनीति का स्वरूप मानता हूं

Awadhesh Kumar :  पत्रकार Ashutosh का 'आप' में जाना…  मेरे से अनेक मित्रों ने पूछा है कि मैं Ashutosh जी के प्रसंग पर खामोश क्यों हूं? हर प्रसंग पर राय देना मैं आवश्यक नहीं समझता। बावजूद अचानक मन आया कि क्यों न सोच उभर रही है उसका कुछ अंश आप सबसे बांटूं। आशुतोष जी हमारे पुराने मित्र हैं। साप्ताहिक हिन्दुस्तान के दौर से मैं उन्हें जानता हूं। हिन्दुस्तान के फीचर पृष्ठ पर उनके लिए मैंने काफी लिखा। एकाध प्रसंग में बातचीत में तनाव भी हुआ, पर उससे संबंधों पर कोई अंतर नहीं आया।

मुलायम अपने चहेते पत्रकारों से पूछें कि भैया तुम लोग बदल क्यों गए?

शंभूनाथ शुक्ल : मुलायम चचा को सलाह! माफ कीजिएगा, अपने सूबे के चहेते मुलायम चचा को एक सलाह दे रहा हूं… समाजवादी पार्टी और मीडिया में तीन और छह का आंकड़ा है। कुछ लोग इसे जातीय द्वेष बताते हैं तो कुछ की नजर में यह मुलायम सिंह के हिंदी भाषा और देसी तथा गांव के लोगों के प्रति असीम प्रेम के कारण उपजा शहरी रोष है। कुछ-कुछ दोनों बातें सही हो सकती हैं।

अबे जागरण के जुआड़ी संपादक, हिसाब बता, कैसे खर्च हुए?

Madan Tiwary :  बैक अप अखिलेश, हम तुम्हारे साथ हैं। सैफ़ई महोत्सव में 300 करोड़ खर्च हुये? अबे जागरण के जुआड़ी संपादक, हिसाब बता, कैसे खर्च हुए? सवर्णवादी मीडिया के मठाधीशों, होश मे आ जाओ, अन्यथा हाशिये पर फ़ेंक दिये जाओगे, लतियाये जाओगे, गरियाये जाओगे और अंत में रोड पर मूंगफ़ली बेचते नजर आओगे।

मौज-मस्ती का दूसरा नाम मुलायम का समाजवाद

उत्तर प्रदेश की आम जनता समाजवादियों की गुंडागर्दी से त्रस्त है। पूरे प्रदेश में चल रही भीषड़ शीत लहर से गरीबों की जिन्दगी मुहाल है। मुजफ्फरनगर में दंगा पीड़ित बच्चे, बूढ़े और महिलाये खुले आसमान के नीचे रातें बितानें को मजबूर हैं। ऐसे में सूबे के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव और समाजवादी पार्टी के मुखिया मुलायम सिंह सैफई महोत्सव में बालीबुड की नर्तकियों की थिरकन और तबले की थाप का आनंद ले रहे हैं। ये समाजवाद का नया चेहरा है। इस मौज-मस्ती के समाजवाद की चमचमाती चकाचौंध में कभी-कभी लगता है जैसे असली समाजवाद की मौत हो गयी है, और समाजवाद के ये नकली पहरुए उसका जश्न मना  रहे है। क्या, भारत जैसे लोकतांत्रिक देश में यह सब जायज है। 

श्रीकांत शंकर जोशी की प्रथम पुण्यतिथि पर श्रद्धांजलि सभा

नई दिल्ली। हिन्दुस्थान समाचार संवाद समिति के पूर्व मार्गदर्शक स्व. श्रीकांत शंकर जोशी की प्रथम पुण्यतिथि पर बुधवार को हिन्दुस्थान समाचार के केन्द्रीय कार्यालय द्वारा श्रद्धांजलि सभा तथा हवन कार्यक्रम का आयोजन किया गया। इस अवसर पर स्व. जोशी के चित्र पर माल्यार्पण किया गया तथा पुष्पांजलि अर्पित कर श्रद्धांजलि दी गई।

खबरगलीः हिंदी का नया न्यूज पोर्टल

मुम्बई के वरिष्ठ पत्रकार अमिताभ श्रीवास्तव के सम्पादन में हिंदी का एक नया न्यूज पोर्टल 'खबरगली ' शुरू किया गया है। इस पोर्टल में समाचारों के अलावा राजनीतिक, सामाजिक मुद्दों पर आलेखों के साथ सिनेमा, खेल व साहित्य विषयों का भी समावेश है। अमिताभ श्रीवास्तव के साथ दिल्ली के सुशील कुमार छौक्कर हैं जो अपने क्षेत्र को संभालेंगे। 

बड़े अधिकारी के प्रभाव में बहुगुणा, राहुल के दरबार में शिकायत

देहरादून। पूर्ववर्ती भाजपा सरकार में जहां उत्तराखण्ड शासन सारंगी के इशारों पर नाचा करता था, वहीं मुख्यमंत्री बहुगुणा की सरकार में सारंगी का पर्याय बन चुके राका की धुन पर। लेकिन इसकी धुन पर थिरकने वाले लोगों की कतार लम्बी नहीं है। कुछ लोगों ने राका के अब तक के काले कारनामों की फाईल राहुल दरबार की ओर सरका दी है। राजनीति के गलियारों में चर्चा गरम है कि राहुल भी इसकी धुन पर नाचंते हैं या नहीं। भाजपा सरकार के शासनकाल में सारंगी की धुन पर प्रदेश के आला नेता तक नाचा करते थे। सारंगी के बिना शासन के अंदर कोई भी काम नही हो पाता था। खंडूरी के शासनकाल में सारंगी द्वारा किए गए कारनामे भाजपा कार्यकर्ताओ को सरकार से दूर करते चले गए। परिणामस्वरूप भाजपा हाईकमान द्वारा खंडूरी को मुख्यमंत्री की कुर्सी से हटा दिया गया। खंडूरी के बाद मुख्यमंत्री बने निषंक के शासनकाल में सारंगी का नाम बदलकर राका हो गया। निषंक शासनकाल में राका के इशारे पर कई कारनामों को अंजाम दिया गया। जब तक निषंक कुछ समझ पाते तब तक काफी देर हो चुकी थी। भाजपा हाईकमान राका के कारनामों से इतना आजिज आ चुका था कि उसने भाजपा कार्यकर्ताओं को ही सरकार से दूर कर दिया।

खुलकर मोदी के समर्थन में आईं अन्ना की शिष्या… अब किरण बेदी को पाप नहीं लगेगा?

किरण बेदी ने अपना वोट नरेंद्र मोदी के समर्थन में देने की बात कहकर आज फिर पूरे देश को निराश किया. मुझे लगता है कि इससे उनकी टॉप कॉप और संवेदनशील नागरिक की जो छवि इतने सालों में बनी थी, उसे बहुत बड़ा धक्का लगा है. किरण बेदी अब राजनीति के चक्रव्यूह में हैं और आगे से उनकी बात में वह वजन नहीं रहेगा, जैसा अब तक था क्योंकि उनकी हर बात को उनके मोदी समर्थन से जोड़कर देखा जाएगा.

अखिलेश यादव ने जागरण वालों को उनकी औकात दिखा दी

यूपी के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने दैनिक जागरण वालों को उनकी असली औकात दिखा दी. अखिलेश ने कहा कि दैनिक जागरण के मालिक राज्यसभा के लिए दुबारा टिकट मांग रहे थे. नहीं दिया तो अब सरकार के खिलाफ खबरें छाप रहे हैं और नकारात्मक अभियान चला रहे हैं. इन दैनिक जागरण वालों के घर के लोग जुआ खेलते हुए पकड़े गए थे और पुलिस के हाथों पिटे भी. यही कारण है कि ये लोग खुन्नस में कुछ भी छाप रहे हैं. लखनऊ के वरिष्ठ पत्रकार संजय शर्मा ने इस प्रकरण पर अपने फेसबुक वॉल पर यूं लिखा है…

मजीठिया वेज बोर्ड पर सुप्रीम कोर्ट ने फैसला सुरक्षित किया

: Orders reserved on Wage Board notifications : The Supreme Court on Thursday reserved orders on a batch of writ petitions challenging the constitutional validity of the notifications the government issued to set up the Justice Majithia Wage Board for journalists and non-journalists on a new pay structure and to direct the newspaper managements to implement its recommendations.

भाजपा की एक भी वेबसाइट हिंदी और अन्य भारतीय भाषाओं में उपलब्ध नहीं है

दिनांक: 10 जनवरी 2014
 
प्रति
श्री राजनाथसिंह जी
राष्ट्रीय अध्यक्ष
भारतीय जनता पार्टी

महोदय,

आप अगले लोकसभा चुनावों की तैयारी में  व्यस्त हैं लेकिन इस देश के अधिकांश मतदाताओं की भाषा, जनजन की भाषा, भारतीय भाषाओं की घोर अनदेखी कर रहे हैं। इस बार के लोकसभा चुनाव में युवा मतदाता निर्णायक भूमिका निभाएंगे। यह युवा मतदाता अधिकांशत: ग्रामीण क्षेत्रों में निवास करता है जो जीवन के हर कदम पर अंग्रेजी से पीडि़त है। जो आपसे जुड़ सकता है, शायद समर्थन भी दे सकता है लेकिन आपकी ओर से इसे जोड़ने का कोई गंभीर प्रयास ही नहीं है। इस बार आप प्रचार के लिए अधिकांशतः इलेक्ट्रॉनिक माध्यमो पर ही निर्भर होंगे लेकिन आपकी पार्टी की एक भी वेबसाइट हिन्दी और अन्य भारतीय भाषाओं में उपलब्ध नहीं है।

मुजफ्फरनगर दंगों की लपटों की रौशनी में मनाया गया है सैफई महोत्सव

हमने रोम के शासक नीरो के बारे में सुना था कि रोम जल रहा था और नीरो बांसुरी बजा रहा था. कहानी कुछ इस तरह है कि राजमहल में पार्टी का आयोजन था, जिसमे रौशनी करने के लिए जेलों से कैदियों को निकाल कर उन्हें खंबों पर लटकाकर उनमें आग लगा दी गयी थी. लोग आग की लपटों में जल रहे थे, चीख रहे थे और राजमहल के लोग उसी आग की रौशनी में जश्न मना रहे थे. अखिलेश यादव का ‘सैफई महोत्सव’ भी ऐसा ही जश्न है, जो मुजफ्फरनगर दंगों की लपटों की रौशनी में मनाया गया है.

मुजफ्फरनगर-मातम, सैफई-डांस… हमें तो जाना है, उत्सव मनाना है…

मुजफ्फरनगर के राहत शिविरों में रह रहे लोग जब सर्दियों में ठिठुर रहे थे तो समाजवादी पार्टी के पुरोधा मुलायम सिंह यादव और उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव व सत्ताधारी दल के तमाम नेता सैफई में डांस क्यों देख रहे थे? यह सवाल चारों तरफ गूंज रहा है। मीडिया के लोग इसे और तूल दे रहे हैं। साफ लग रहा है कि किसी लेन-देन में कोई बात रह गई है, इसीलिए अखिलेश के पीछे हाथ धोकर पड़ गए हैं।

केजरीवाल कूटकर टीआरपी दे रहे चैनलों को

Vikas Mishra : जय हो अरविंद केजरीवाल की…। ये संपूर्ण इलेक्ट्रॉनिक मीडिया की तरफ से जाना चाहिए। क्योंकि अरविंद केजरीवाल ने कूटकर टीआरपी दी है। जिसने जब जब केजरीवाल दिखाया, उसके चैनल में टीआरपी की बारिश हो गई। मन से बनाया तो भी दिया, बेमन से बनाया तो भी दिया। प्रभावित होकर बनाया तो भी दिया, गरियाते हुए बनाया तो भी दिया। न्यूज रूम में भी अलग अलग माहौल है।

जब कोई पत्रकार राजनीति में जाता है तो उसका संतोष भारतीयकरण हो जाता है

Arvind K Singh :  आशुतोष की राजनीतिक पारी पर कुछ बात… राजनीतिक गर्द-गुबार में बहुत मौकों पर पत्रकार भी राजनेता बनने को उतावले हो जाते हैं… चंदूलाल चंद्राकर से लेकर एमजे अकबर तक तमाम लोग इसके उदाहरण रहे हैं… लेकिन राजनीति में उनका क्या हश्र हुआ है शायद उनको करीब से देखने वाले जानते हैं…

टीआरपी के लिए चैनलों ने गढ़े फर्जी किस्से और दर्शकों को महीनों तक बनाया बेवकूफ बनाया

Sanjay Kumar : चलिए अपने दोस्तों को टीआरपी की एक कहानी सुनाता हूं….खली को लेकर कोहराम मचा था….हर चैनल में खली को लेकर रोज आधे घंटे का प्रोग्राम बनाने की चुनौती थी…क्योंकि महाबली खली की टीआरपी छप्पर फाड़कर आ रही थी…कोई चैनल ये बता रहा था कि खली एकबार में 24 अंडे खा जाता है…कोई चैनल ये बता रहा था…कि वो एक बार में चार मुर्गा चबा जाता है…किसी ने तो यहां तक चला दिया कि वो एकबार में पूरा बकरा खा जाता है…दूध-दही, पनीर आदि की बात तो छोड़ ही दें…

मोदी ने पटेल की मूर्ति लगाने का ठेका अमेरिकी कंपनी को दिया

Anil Singh : स्वदेशी मुखौटे में विदेशी जीभ! हमारे प्रातः स्मरणीय नरेंद्र मोदी जी गुजरात में सरदार पटेल की जो 'एकता की मूर्ति' लगा रहे हैं उसका ठेका अमेरिकी कंपनी टर्नर कंस्ट्रक्शन को दिया गया है। टर्नर को ही इस प्रोजेक्ट की एक-एक चीज़ – डिजाइन से लेकर टेंडर तक, पूरी करनी है जिसके लिए वह 61 करोड़ रुपए की कंसलटेंसी फीस अलग से ले रही है।

नाच-गाने में व्यस्त रही यूपी सरकार, ठंड में कांपते रहे मुज़फ्फरनगर दंगा पीड़ित

सैफई। प्रदेश की समाजवादी सरकार के पसंदीदा कार्यक्रम सैफई महोत्सव का समापन रंगारंग तरीके से हुआ। बॉलीवुड के दबंग सलमान और डेढ़ इश्किया की बेगम पारा यानि माधुरी के ठुमकों ने सैफई का पारा चढ़ा दिया | इन दोनों का साथ दिया गलियों की रास-लीला वाले राम ने| इन फ़िल्मी कलाकारों के ठुमकों का मज़ा लेने के लिये सपा मुखिया मुलायम सिंह यादव के साथ, प्रदेश के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव और उनका पूरा कुनबा मौजूद था। महोत्सव में चमकती लाईटों और तेज़ संगीत के शोर में माधुरी अपने घाघरे को आगरे पहुंचा रही थीं। सलमान खान बीइंग ह्यूमन की टी शर्ट में अपनी दबंगई दिखा रहे थे। वहीं इस तड़क-भड़क से करीब 200 किलोमीटर की दूर मुजफ्फरनगर और शामली के राहत शिविरों के टेंट में कुछ ज़िंदगियाँ अपने जीवन को बचाने के लिए जद्दोजहद कर रही थी।

पत्रकार अभिषेक उपाध्याय ने आशुतोष की पत्रकारिता पर उठाए गंभीर सवाल

To Ashutosh ji, Boss, if it is really true and you are really going to join Aap after resigning from IBN7, then my well wishes. But there is a genuine question, you have been propogating aap and Arvind kejriwal from the very beginning on your channel, often going out of way, so will it not be considered as quid pro quo? Means blessings of aap in return of your open support to the party and kejriwal on your ex channel.

चैनल न दिखाने पर तीन डीटीएच संचालकों को नोटिस

सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय ने उपभोक्ताओं को 24 अनिवार्य चैनल मुहैया नहीं कराने को लेकर तीन निजी डायरेक्ट टू होम संचालकों को कारण बताओ नोटिस जारी किया है. मंत्रालय की ओर से तय नियमों के अनुसार सभी डीटीएच संचालकों के लिए यह जरूरी है कि वे अपने उपभोक्ताओं को 24 अनिवार्य चैनल मुहैया कराएं.

टीआरपी सिस्टम को ट्रांसपैरेंट बनाने की दिशा में ऐतिहासिक फैसला

नई दिल्ली। सरकार ने टेलीविजन चैनलों की लोकप्रियता का सूचकांक मानी जाने वाली टीआरपी रेटिंग पर नकेल कसते हुए गुरुवार को इसके लिए व्यापक दिशा निर्देशों को मंजूरी दे दी। प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह की अध्यक्षता में हुई मंत्रिमंडल की बैठक में टीआरपी दिशा निर्देशों को मंजूरी दी गई। सूचना और प्रसारण मंत्री मनीष तिवारी ने संवाददाताओं को बताया कि इस प्रस्ताव का मकसद टीआरपी प्रक्रिया को अधिक से अधिक पारदर्शी बनाना है।

सहारा समूह बाइस हजार करोड़ रुपये का स्रोत बताए अन्यथा सीबीआई जांच के लिए तैयार रहे : सुप्रीम कोर्ट

सुप्रीम कोर्ट ने सहारा समूह को चेतावनी दी कि निवेशकों को लौटाये गये 22,885 करोड़ रुपए का स्रोत बताये या फिर सीबीआई और कंपनी रजिस्ट्रार से जांच के लिये तैयार रहे। सहारा समूह ने दावा किया है कि उसने निवेशकों को 22,885 करोड़ रुपये लौटा दिये हैं।

मुलायम के समधी समेत छः पत्रकार बने सूचना आयुक्त

आखिरकार, लम्बी जद्दोजहद के बाद यूपी को नये सूचना आयुक्त मिल ही गये। राज्य सूचना आयुक्तों के सात पद पिछले दो वर्षो से भी अधिक समय से और एक पद करीब डेढ़ वर्ष से रिक्त था। इसका ख़ामियाज़ा जनसूचना अधिकार अधिनियम, 2005 के तहत जानकारी मांगने वाले भुगत रहे थे। उनकी अपील नहीं सुनी जा रहीं थीं। यह देरी क्यों हो रही थी, इसके कई कारण गिनाये जा सकते हैं, लेकिन सुप्रीम कोर्ट के सामने कोई पेंच नहीं चला और उसके सख्त रवैये के बाद उत्तर प्रदेश की नये सूचना आयुक्तों की मुराद पूरी हो गई। नव वर्ष के पहले हफ्ते में ही राज्य की जनता को आठों सूचना आयुक्त मिल गये।

जागरण वालों के खिलाफ मानवाधिकार आयोग को भेजे पत्र में पत्रकार श्रीकांत ने क्या लिखा, पढ़ें

दैनिक जागरण, नोएडा के चीफ सब एडिटर श्रीकांत सिंह ने हिम्मत का काम किया है. उन्होंने अपने शोषण, उत्पीड़न, प्रताड़ना से आजिज आकर आज मानवाधिकार आयोग को पत्र लिखा है. दैनिक जागरण प्रबंधन के शोषण, उत्पीड़न और अत्याचार के खिलाफ राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग की शरण लेकर श्रीकांत ने एक मिसाल कायम की है और बहुत से पत्रकारों को रास्ता दिखाया है. पढ़िए वो पत्र जो आयोग को भेजा है…

आशु जी, कहीं आप मुझे कक्षा मित्र ही न मानने से इनकार कर दें, इसलिए यह फोटो अपलोड कर रहा हूं

: आम आदमी की जिन्हें खोज, बहुत खास हैं वे आशुतोष : आशुतोष जी या यूं कहें आशु जी, सुना है आप आम आदमी बन गए हैं। एकायक आम आदमी से इतना मोह क्यों! आप तो आम आदमी क्या आम पत्रकार को भी अछूत मानते रहे हैं—भले ही वह आपका कक्षा मित्र ही क्यों न हो।

शोषणवादी आशुतोष और समाजवादी “आप”

IBN7 के प्रबंध सम्पादक, आशुतोष ने इस्तीफ़ा देकर "आप" पार्टी ज्वाइन करने का मन बनाया है ! सतही तौर पर ये ख़बर "आप" के नेताओं के लिए उत्साहजनक है, मगर बुनियादी तौर पर बेहद खतरनाक ! आइये देखते हैं, आशुतोष जैसे पत्रकार, "आप" जैसे समाजवाद के लिए क्यों खतरनाक हो सकते हैं ! आशुतोष वो बला हैं, जो बसपा पार्टी के संस्थापक अध्यक्ष, कांशीराम से थप्पड़ खाने के बाद, पत्रकारिता जगत में चमके थे ! तक़रीबन 10-11 साल "आज-तक" की सेवा करने के बाद 2005 में IBN7 के साथ जुड़े ! बतौर पत्रकार बहुत ख़ास नहीं हैं, पर काम की जगह नाम के बल पर तवज्जो पाने वाले हिंदुस्तान में, आशुतोष को नाम का फ़ायदा मिला ! लाखों के पैकेज़ पर उन्हें नौकरी मिलने लगी ! नामचीन बन गए !

अमर उजाला के ब्यूरो चीफ के खिलाफ राजुल माहेश्वरी को पत्र

रुद्रपुर (उत्तराखंड)। वर्तमान में समाज की सोच में जबरदस्त बदलाव आया है। पेशे की नैतिकता की बातें बेमानी हो गई हैं और हर कोई अधिक से अधिक धन, संपत्ति और आनंद लूट लेना चाहता है। अधिकांश पत्रकार भी बहती गंगा में हाथ धोने की तर्ज पर नैतिकताओं को धता बताते हुए खूब खा-कमा रहे हैं। उत्तराखंड में ऊधम सिंह नगर जिला मुख्यालय ‘रुद्रपुर’ में भी अधिकतर पत्रकार भूमि कब्जाकर मकान बनाने, बड़े लोगों/कंपनियों के गलत कामों की खबरों को दबाकर नोट पीटने में लगे हैं।

इलाहाबाद विश्वविद्यालयः पुलिस ने सहायक कुलानुशासक से की अभद्रता

पूरब के ऑक्सफोर्ड, इलाहाबाद विश्वविद्यालय में आजकल अनुशासनहीनता का बोलबाला है। कुछ छात्रों की दबंगई के चलते गुरुजनों से अभद्रता की कई घटनाएं हो चुकीं है। इनसे सबक लेते हुए विश्वविद्यालय प्रशासन ने जिला प्रशासन से सहयोग माँगा। इसके बाद विश्वविद्यालय के सभी प्रवेश द्वारों तथा अन्य महत्त्वपूर्ण स्थानों पर पुलिस तैनात की गयी। विश्वविद्यालय परिसर में प्रवेश के लिए परिचय-पत्र दिखाना भी अनिवार्य कर दिया गया।

यूपी में हिंदुस्तान के संपादकों मनोज पमार, दिनेश पाठक और नागेंद्र का होगा तबादला

लखनऊ : एक बड़ी खबर है. यूपी में हिंदुस्तान के तीन संपादकों का आपस में तबादला हो रहा है. कानपुर में तैनात दिनेश पाठक को गोरखपुर भेजा जाएगा और बनारस के मनोज पमार को कानपुर का संपादक बनाया जाएगा. गोरखपुर के संपादक नागेंद्र को बनारस की जिम्मेदारी दी जा रही है. चर्चा है कि ये फेरबदल 15 जनवरी के आसपास अमल में लाया जाएगा.

संपादक सलाउद्दीन को राजद्रोह में सात साल की सजा

ढाका। बांग्लादेश की राजधानी ढाका की एक अदालत ने आज एक अंग्रेजी के साप्ताहिक पत्र व्लिज के संपादक सलाउद्दीन शोएब चौधरी को राजद्रोह मामले में सात साल के कारावास की सजा सुनाई है। ढाका के एयरपोर्ट पुलिस थाने के तत्कालीन अधिकारी मोहम्मद अब्दुल हनीफ ने शोएब चौधरी के विरुद्ध 24 जनवरी 2004 को एक एफआईआर दर्ज की थी, जिसमें कहा गया था कि व्लिज के संपादक का संबंध इजरायल की गुप्तचर एजेंसी मोसाद से है।

…और टूट गई इन पत्रकारों की सूचना आयुक्‍त बनने की उम्‍मीद

यूपी में सूचना आयुक्‍तों के खाली पड़े पदों पर नियुक्ति की जा चुकी है. इसमें आधे से ज्‍यादा पत्रकार हैं. इनके बारे में कहा जाता है कि ये लोग नेताजी और सपा के दरबारी हुआ करते थे. अखिलेश सरकार में भी ये लोग कलम बेचकर लगे हुए थे, लिहाजा उनको इसका प्रतिफल मिल चुका है. पर अब भी वे पत्रकार इस बात को पचा नहीं पा रहे हैं, जो किसी की भी सरकार रहे, मलाई जरूर खाते थे और इस सरकार में भी सूचना आयुक्‍त बनने के लिए जी जान से जुटे हुए थे. ऐसे कई लोग इस सदमे को बरदास्‍त कर पाने की स्थिति नहीं हैं.

आजतक नम्‍बर वन पर काबिज, जी न्‍यूज खिसका

टैम ने वर्ष 2014 के पहले सप्‍ताह की टीआरपी जारी कर दी है. पिछली कई बार की तरह इस बार फिर आजतक लगातार नंबर वन के पायदान पर बना हुआ है. एबीपी न्यूज ने दूसरे पायदान पर अपना कब्‍जा बरकरार रखा है. 2013 के आखिरी सप्‍ताह में चौथे पायदान पर पहुंचा इंडिया टीवी ने तीसरे नंबर पर वापसी कर ली है. इंडिया न्‍यूज चौथे स्‍थान पर आ गया है. जी न्‍यूज तीसरे स्‍थान से खिसककर पांचवें नंबर पर पहुंच गया है. नीचे नए साल के पहले सप्‍ताह की टीआरपी..

‘साधना न्यूज’ के मालिकों के संरक्षण में चलता है स्टिंग और उगाही का गोरखधंधा!

साधना न्यूज में कार्यरत नीरज महेरे और मनोज नामक पत्रकारों ने दो लड़कियों के साथ दिल्ली के एक नेता का स्टिंग किया और बाद में पैसे के लिए धमकी देना शुरू किया. नेता की शिकायत पर मनोज और दोनों लड़कियों को नोएडा पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है. नीरज महेरे फरार है. नीरज महेरे इटावा का निवासी है और वहीं से पत्रकारिता का करियर शुरू किया था. बाद में वह नोएडा में आकर पत्रकारिता करने लगा.

पत्रकार संजय बनर्जी और पीड़िता के वायस रिकार्डिंग टेस्ट को कोर्ट ने दी मंजूरी

देहरादून: हाई प्रोफाइल यौन उत्पीड़न प्रकरण में अदालत ने आरोपी पीड़िता, सपा नेता नीरज चौहान व पत्रकार संजय बनर्जी के वाइस रेकॉर्डिग टेस्ट की अनुमति दे दी है। तीनों आरोपियों का 10 जनवरी को अदालत में टेस्ट किया जाएगा। इस मामले में बचाव पक्ष की आपत्ति को अदालत ने खारिज कर दिया।

CM lauds role of Small newspapers in publicizing government initiatives

SHIMLA : Chief Minister Shri Virbhadra Singh said that small newspapers were playing important role in publicizing the developmental and public welfare oriented policies of the Government to the farthest corners of the State. The Government was providing all possible assistance to these small newspapers and periodicals who were working with zeal despite financial constraints.

जजों के चलते वक्त चुटकी बजाने की परंपरा बंद हो

सामाजिक कार्यकर्ता डॉ नूतन ठाकुर ने आज भारत के मुख्य न्यायाधीश को इलाहाबाद हाई कोर्ट और यूपी के विभिन्न ट्रिब्यूनल में चल रही दो व्यवस्थाओं के बारे में पत्र लिखा है. उन्होंने कहा है कि वर्तमान में जजों के कोर्ट में आने से पहले उनके अर्दली आते हैं और उनकी सीट को अत्यंत दास भाव से ठीक करते हैं जिसके बाद जज आते हैं जिनके लिए अर्दली झुक कर सीट पीछे करते हैं जिस पर जज बैठते हैं, जिस प्रक्रिया में सामंती व्यवस्था साफ़ दृष्टिगोचर होती है.

मोदी या सिब्बल के खिलाफ ‘आप’ के टिकट पर चुनाव लड़ेंगे आशुतोष

आम आदमी पार्टी के अंदर से एक बड़ी सूचना निकल कर आ रही है कि आईबीएन7 से हटाए गए पत्रकार आशुतोष को नरेंद्र मोदी या कपिल सिब्बल के खिलाफ चुनाव लड़ने के लिए उतारा जा सकता है. नरेंद्र मोदी ने अगर इलाहाबाद से पर्चा भरा, जैसी की चर्चा है, तो मोदी के खिलाफ आम आदमी पार्टी की तरफ से आशुतोष पर्चा भरेंगे. अगर मोदी यूपी से चुनाव नहीं लड़ते हैं तो आशुतोष चांदनी चौक सीट से कपिल सिब्बल के खिलाफ चुनाव लड़ेंगे.

आशुतोष ने दुर्व्यवहार के लिए यशवंत से माफी मांगी

कल देर रात जब भड़ास के एडिटर यशवंत ने आईबीएन7 के मैनेजिंग एडिटर आशुतोष को फोन कर यह कनफर्म करना चाहा कि क्या उन्होंने आईबीएन7 से इस्तीफा दे दिया है तो इस पर आशुतोष भड़क गए और समय का हवाला देने लगे. उन्हें यशवंत ने बताया कि आईबीएन7 से इस्तीफे से संबंधित कई फोन आए हैं और फेसबुक पर आईबीएन7 के कुछ लोग आशुतोष की फोटो यह कहकर शेयर कर रहे हैं कि ये आफिस में अंतिम मुलाकात है, इसलिए यह जानना जरूरी है कि आपने इस्तीफा दिया है या नहीं, इस पर भी आशुतोष यही कहते घुड़कते डांटते रहे कि यह कोई वक्त है फोन करने का.

आशुतोष ने इस्तीफा नहीं दिया है, खराब परफारमेंस पर निकाला गया है

आशुतोष के आईबीएन7 से इस्तीफा देने की बात झूठी है. उन्हें निकाला गया है. ऐसा दावा नेटवर्क18 से जुड़े एक वरिष्ठ व भरोसेमंद पदाधिकारी ने भड़ास4मीडिया से बातचीत में. सूत्र का कहना है कि आशुतोष के नेतृत्व में आईबीएन7 का लगातार पतन हुआ. यह न्यूज चैनल कभी टीआरपी के मामले में नंबर चार तक पहुंच गया था लेकिन वर्षों से यह आखिरी पायदान पर पड़ा हुआ है. अब तो यह नौवें नंबर पर आ चुका है.

साधना न्‍यूज के पत्रकार ब्‍लैकमेलिंग के आरोप में गिरफ्तार

नोएडा से खबर है कि पुलिस ने ब्‍लैकमेलिंग करने के आरोप में साधना न्‍यूज के पत्रकारों को अरेस्‍ट किया है. इसमें एक पु‍रूष तथा दो महिला शामिल हैं. एक पत्रकार फरार बताया जा रहा है. पुलिस ने यह कार्रवाई दिल्‍ली के नेता की शिकायत पर किया है. तीनों को पुलिस ने सूरजपुर कोर्ट में पेश किया, जिसके बाद उन्‍हें जेल भेज दिया गया.

प्रसार भारती और जीएसटीवी में नौकरियां, आवेदन करें

प्रसार भारती की तरफ से दूरदर्शन के लिए कई तरह की वैकैंसी निकाली गई है. इसमें प्रोग्राम मैनेजर से लेकर विशेषज्ञ तक की भर्ती शामिल है. कई अन्य पद भी हैं. सारे डिटेल दूरदर्शन की साइट पर उपलब्ध है. कुल छह किस्म की नई भर्तियां की जा रही हैं.

जागरण मेरठ से अनुराग का लखनऊ तबादला, राजकुमार देखेंगे जनरल डेस्क

दैनिक जागरण मेरठ में जनरल डेस्क के इंचार्ज अनुराग गुप्ता का ट्रान्सफर लखनऊ कर दिया गया है. उन्होंने अपने ट्रान्सफर की अर्जी निजी कारणों के चलते दे रखी थी. वो फरवरी के शुरुआत में लखनऊ दफ्तर से काम करना शुरू करेंगे.

दैनिक जागरण बरेली के कर्मियों में मारपीट, दैनिक जागरण मुरादाबाद से राजीव हटे

खबर है कि कुछ रोज पहले दैनिक जागरण बरेली के एक रिपोर्टर व इसी ग्रुप के बच्चा अखबार आईनेक्स्ट बरेली के एक फोटोग्राफर के बीच मारपीट हो गई. मारपीट के कई कारण बताए जा रहे हैं. कुछ इसे इगो प्राब्लम कह रहे हैं तो कुछ फील्ड में कामकाज के दौरान की दिक्कत. वहीं कुछ अन्य चर्चाएं भी हैं. बताया जाता है कि जागरण के रिपोर्टर को नोटिस जारी कर लिखित जवाब देने को कहा गया है.

समीर अब्बास ने भी छोड़ा आईबीएन7, अब भास्कर न्यूज से जुड़े

आशुतोष के बाद समीर अब्बास ने भी आईबीएन7 छोड़ दिया है. समीर अब्बास नए लांच होने वाले न्यूज चैनल भास्कर न्यूज के साथ जुड़ गए हैं. उन्हें एक्जीक्यूटिव एडिटर बनाया गया है. वे आईबीएन7 में एसोसिएट एक्जीक्यूटिव प्रोड्यूसर हुआ करते थे. समीर अब्बास आईबीएन7 से पहले जैन टीवी, इंडिया टीवी में भी काम कर चुके हैं.

आशुतोष के इस्तीफे के बाद आईबीएन7 में उनकी जगह लेंगे विनय तिवारी

आशुतोष के आईबीएन7 से इस्तीफा देने के बाद उनकी जगह विनय तिवारी लेंगे. विनय नेटवर्क18 समूह के अंग्रेजी न्यूज चैनल सीएनएन-आईबीएन में मैनेजिंग एडिटर के रूप में कार्यरत हैं. विनय तिवारी पत्रकारिता में दो दशक से ज्यादा समय से सक्रिय हैं. वह टीवी टुडे नेटवर्क, टाइम्स ग्रुप, पायनियर आदि से जुड़े रहे हैं.

महिला पत्रकार ने मकान खाली करने के लिए लाखों रुपये मांगे!

कुरुक्षेत्र की एक महिला पत्रकार के बारे में दिल्ली की एक महिला ने प्रेस कांफ्रेंस कर सनसनीखेज खुलासा किया है। दिल्ली की रहने वाली एक महिला रेणु टूरा (पत्नी लखवीर टूरा) ने कुरुक्षेत्र में आकर एक पत्रकार वार्ता का आयोजन किया। इसमें कुरुक्षेत्र के ज्यादातर सक्रिय पत्रकार पहुंचे। महिला ने पत्रकार वार्ता शुरू करते ही महिला पत्रकार नीना गुप्ता जो कि जगमार्ग नामक एक अखबार से जुड़ी हुई हैं, के बारे में बताना शुरू किया। रेणु ने कुरुक्षेत्र की कृष्णा गेट चौकी में एक शिकायत दी हुई है।

दस साल बाद फिर दम दिखाएंगे कापड़ी और सतीश!

मीडिया की दुनिया अजीब है. जो बेकार हो जाता है, वो बेचारों के हाथ चला जाता है. यही हाल विनोद कापड़ी और सतीश के. सिंह का है. दस साल पहले ये लोग कभी एक साथ जी न्यूज में हुआ करते थे. आज मजबूरी इन्हें फिर एक नए चैनल में एक साथ एक मंच पर ले आई है. मजबूरी कामन है. पेट की मजबूरी. लाखों की सेलरी की मजबूरी. घर चलाने की मजबूरी.

सतीश के साथी इंद्रजीत, आमोद भी पहुंचे न्यूज एक्सप्रेस, संजय पांडेय बने जीएम

विनोद कापड़ी अपनी दुकान सजाने में लगे हैं. अपने अधीन सतीश के. सिंह को ले आए तो सतीश अपने साथियों को पीछे पीछे ले आए. वही पुराने नाम. इंद्रजीत राय. आमोद राय. ये दोनों पहले भी सतीश के. सिंह के साथ जी न्यूज में थे, फिर लाइव इंडिया में आए और उसके बाद पाजिटिव मीडिया ग्रुप के फोकस व हमार टीवी में. अब ये न्यूज एक्सप्रेस के हिस्से हैं.

आईबीएन7 से आशुतोष की अनआफिसियल विदाई की कुछ तस्वीरें

आईबीएन7 से इस्तीफा देने के बारे में भड़ास द्वारा फोन करने, एसएमएस करने पर मैनेजिंग एडिटर आशुतोष भले कुछ न रिप्लाई करे और बाद में किसी दूसरे नंबर से फोन किए जाने पर देर रात का हवाला देते हुए घुड़कने लगे, पर तस्वीरें बता रही हैं कि वो आईबीएन7 से जा चुका है. उसके साथ काम करने वाले लोग उसकी विदाई की तस्वीरें फेसबुक पर साझा करने लगे हैं. उन्हीं में से कुछ तस्वीरें यहां पेश हैं ताकि सनद रहे….

कांशीराम के बेडरूम में घुसने पर झापड़ खाने वाला आशुतोष पूछ रहा कि फोन करने का ये कोई टाइम है!

Yashwant Singh : अभी मैंने आशुतोष को फोन किया. आईबीएन7 वाले को. तो भाई ने बोला कि ये कोई टाइम है फोन करने का. मैंने पूछा- ''भइया, हां या ना में बता दो कि इस्तीफा दिया है या नहीं, क्योंकि आपकी विदाई की फोटो शेयर हो रही है फेसबुक पर''. तब भी भाई मुझे घुड़कता रहा, बोलता रहा कि… ''ये कोई टाइम है भला फोन करने का''.

आईबीएन7 से आशुतोष का इस्तीफा, आज आफिस में आखिरी दिन

भड़ास की सूचना सच है. आशुतोष का आईबीएन7 से इस्तीफा हो चुका है. उनका आज आखिरी दिन है. कल शाम उन्होंने आफिस से निकलते वक्त आफिस के कर्मियों के साथ खूब फोटोग्राफी कराई. आफिस के लोगों ने इसे अपने फेसबुक वॉल पर भी शेयर किया है. हालांकि जब भड़ास ने उनसे उनके इस्तीफे के बार में बात की तो उन्होंने देर रात होने का हवाला देते हुए भड़ास से ही पूछ लिया कि क्या ये वक्त होता है फोन करने का. याद रखिए, ये वही आशुतोष हैं जो काशीराम के बेडरूम में बिना बुलाए घुसकर झापड़ खा चुके हैं और आज वही खबर के लिए फोन किए जाने पर समय का हवाला दे रहे थे.

सैफई में मीडिया कैमरों के साथ प्रवेश पर प्रशासन ने लगाई रोक

लखनऊ : उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव और समाजवादी पार्टी (सपा) प्रमुख मुलायम सिंह यादव के पैतृक गांव सैफई में हो रहे सैफई महोत्सव के समापन पर बुधवार को मीडिया पर कैमरे के साथ प्रवेश पर रोक लगा दी गई। मीडिया की सैफई महोत्सव की आलोचनात्‍मक कवरेज के बाद विपक्षी दलों द्वारा सरकारी धन की बर्बादी और मुजफ्फरनगर हिंसा पीड़ितों के प्रति सरकार की असंवेदनहीनता के आरोपों की वजह से ही यह कदम उठाया गया है।

सहारा समय के पत्रकार एमबी हैदर का निधन

लखनऊ। सहारा समय के पत्रकार एमबी हैदर का बुधवार को संजय गांधी पीजीआई में निधन हो गया. हैदर पिछले एक साल से मुंह के कैंसर से पीडि़त थे. लंबे समय से उनका इलाज चल रहा था. आज उन्‍होंने एसजीपीजीआई में ही आखिरी सांस ली. वे अपने पीछे पत्‍नी और तीन पुत्र छोड़ गए हैं. हैदर …

स्‍वीडन के अपहृत दोनों पत्रकार मुक्‍त हुए

स्वीडन के जिन दो पत्रकारों का सीरिया में अपहरण कर लिया गया था, उन्हें मुक्त कर दिया गया है। बीते साल नवम्बर माह के आख़िर में इन दोनों पत्रकारों का किन्हीं अज्ञात लोगों ने अपहरण कर लिया था। पिछले दो महीने से ज्‍यादा समय से ये लोग अपहर्ताओं के ही कब्‍जे में थे।

देवरिया के जिला समाज कल्याण अधिकारी को जान की धमकी

देवरिया: समाजवादी पार्टी की सरकार में बढ़ती आपराधिक घटनाओं से आम जनता ही नहीं अधिकारी भी त्रस्त हैं। कुछ ही दिन पहले जिले के मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉक्टर अमर नाथ तिवारी के सरकारी वाहन को, भाटपाररानी क्षेत्र में, आग लगाने का प्रयास किया गया था। अब जिला समाज कल्याण अधिकारी जी. आर. प्रजापति को उनके मोबाइल फोन पर जान से मारने की धमकी एवं गालियां दी जा रही है। इन धमकियों से समाज कल्याण अधिकारी एवं उनका परिवार अत्यन्त दहशत में है।

फोटो खींचकर ब्लैकमेल कर रहा चैनल का रिपोर्टर गिरफ्तार

कुरुक्षेत्र पुलिस ने ब्लैकमेलिंग करके तीन लाख रूपए वसूलने के आरोपी इलेक्ट्रॉनिक चैनल के रिपोर्टर मेघराज मित्तल को गिरफ्तार कर लिया है। रिपोर्टर ने कुछ महिलाओं के साथ मिलकर एक व्यक्ति की आपत्तिजनक फोटो खींचकर बदनाम करने की धमकी देकर तीन लीख रूपए वसूल लिए थे। इसी मामले में पुलिस ने इससे पहले तीन महिलाओं को गिरफ्तार कर लिया था।

सिविल सेवा में जाते ही करोड़ों लेकर अपने से आधी उम्र की लड़की के साथ शादी कर लेते हैं

Tara Shanker : हर साल दर्ज़नों दोस्त देश की सबसे प्रतिष्ठित सिविल सेवा में चुने जाते हैं! कहने को तो समाज सेवा के लिए इस सेवा में जाना चाहते हैं लेकिन सिलेक्शन के छः महीने के अन्दर ही पता चलता है कि पचास लाख से लेकर दो-तीन करोड़ रुपये दहेज लेकर पूरे ताम झाम के साथ शादी की! शादी भी अपने से आधी उम्र की लड़की के साथ!

काश सैफई जैसी किस्मत यूपी के और गांवों की भी होती

Arvind K Singh : सैफई का समाजवाद… सैफई गांव अब किसी परिचय का मोहताज नहीं है..मुलायम सिंह जी का गांव है..1990 के बाद से यहां समाजवाद का रंग चढ़ा है…जब मायावती आती हैं तो यहां की इमारतें बेरौनक होती है और बादलपुर चमकने लगता है..गांव है तो सात हजार की आबादी का लेकिन यहां इतनी रकम खर्च की गयी है कि उससे कमसे कम तीन हजार गांव आबाद हो जाते…

एसएमएस करके पत्रकारों की नौकरी खा लेता है विष्णु त्रिपाठी!

दैनिक जागरण, नोएडा में निशिकांत ठाकुर राज खत्म हुआ तो अब विष्णु त्रिपाठी राज शुरू हो गया है. निशिकांत ठाकुर के जमाने के लोगों को बुरी तरह हड़काया धमकाया निकाला जा रहा है. हर राज के अपने सुख दुख होते हैं. पता चला है कि विष्णु त्रिपाठी ने अब एसएमएस करके लोगों को नौकरी से निकालने का काम शुरू कर दिया है.

सार्वजनिक मंचों से मीडिया को धमका रहे सपा के माननीय पहले खुद को सुधारें : भाजपा

लखनऊ : भारतीय जनता पार्टी ने कहा कि सपाई अराजकता के चरमोत्कर्ष पर है। सार्वजनिक मंचों से मीडिया को धमकाने पर उतरे सपा के माननीय अपनी कारस्तानियां ठीक करे तो ज्यादा बेहतर होगा। पार्टी प्रवक्ता विजय बहादुर पाठक ने कहा कि सपा के वरिष्ठ नेताओं की मौजूदगी में मीडिया को दी जा रही धमकियां सपाईयों के बढ़े हौसलों का परिणाम है।

मीडिया को धमका रहा है रामगोपाल और बेचारे मीडिया वाले चुप्पी साधे हैं

यूपी में राज कर रहे यादव बंधुओं में से एक रामगोपाल यादव ने मीडिया वालों को खुलेआम धमकी दी है कि उन्हें सबक सिखाया जाएगा और जेल भेजा जाएगा. ऐसा इसलिए क्योंकि मीडिया वालों ने खबर छापा व दिखाया कि सपा के एक विधायक के घर से अपहृत किशोरी बरामद हुई. यूपी की पुलिस और खुद रामगोपाल ने विधायक को क्लीनचिट देने के बाद खबर छापने दिखाने वालों को एजेंडे पर ले लिया है.

भारत में इस बार राजनीतिक पार्टियां नहीं बल्कि पीआर एजेंसियां चुनाव लड़ रहीं हैं

Anurag Anant : भारत में इस बार राजनीतिक पार्टियां नहीं बल्कि पीआर एजेंसियां चुनाव लड़ रहीं हैं. मोदी जिन्हें मैं 'साहेब' बुलाता हूँ. उनके तरफ से एप्को वर्ल्ड वाइड है, तो राहुल गाँधी जिन्हें सब पप्पू और मोदी शहजादे कहते है, ने जापानी पीआर कंपनी देन्त्सू इंडिया को 500 करोड़ रुपये का ठेका दिया है,  अपनी तरफ से चुनाव लड़ने के लिए.

हद है… ये भारतीय रेल है…

Satyendra Pratap Singh : अभी महाराष्ट्र में एक ट्रेन के स्लीपर क्लास में आग लगने से सात लोग मर गए। इसके पहले आंध्र प्रदेश में ट्रेन में आग लगी थी। अगर चालीस साल की दुर्घटनाओं और लाशों को गिनें तो बस लाश ही गिनेंगे। अगर ये घटना यूपी/बिहार में होती तो शायद बुद्धिजीवी लोग कह देते कि ये भुच्चड़, मूर्ख, गंवार और बीड़ी पियाक हैं, मरने के ही काबिल हैं।

‘आप’ आफिस पर हमले से पार्टी की टीआरपी में बेतहाशा वृद्धि…

Yashwant Singh : 'आप' आफिस पर हमले से पार्टी की टीआरपी में बेतहाशा वृद्धि… यकीन मानिए, चीजें खुद ब खुद जिधर जा रही हैं, उसके हिसाब से लोकसभा चुनाव नतीजों में दिखेगा कि केजरीवाल की पार्टी किंगमेकर बनकर उभरी है… तब, मजबूरी में सभी 'आप' को ही किंग बना देंगे यानि पीएम का पद दे डालेंगे… सो, तुम सितम और करो…

‘आप’ आफिस पर हमला : ये भारत के हिंदू तालिबान हैं, देश को अफगानिस्तान बनाना चाहते हैं…

Anand Pradhan : आम आदमी पार्टी के दफ्तर पर हमला और उससे कुछ महीने पहले प्रशांत भूषण पर उनके दफ्तर में हमला अभिव्यक्ति की आज़ादी पर हमला है. इन हमलों और इनका किसी भी अगर-मगर से बचाव करने या उसे ठीक ठहरानेवाले जनतंत्र के दुश्मन और फासीवाद के समर्थक है.

तो प्यारी लड़कियों… पति करोड़पति हो तब भी कमाओ, पिता अरबपति हों तब भी कमाओ!

Pallavi Trivedi : मैं आज उनतालीस वर्ष की उम्र तक भी अविवाहित रहने का साहस इसलिए कर सकी क्योंकि मैं अपने पैरों पर खड़ी हुई! मैं मुझसे शादी के लिए मिलने आये कई लड़कों को इसलिए मना कर सकी क्योंकि मैं अपने पैरों पर खड़ी हुई! मैं मेरा पैसा घूमने में खर्च करना चाहती हूँ या शॉपिंग में या चैरिटी में , ये फैसला इसलिए कर पाती हूँ क्योंकि मैं अपने पैरों पर खड़ी हुई!

पापा ने अपनी देह जब छोड़ी तब भी उनके हाथ में उस दिन का अखबार ही था जो वे पढ़ रहे थे…

Utkarsh Sinha : पापा स्मृति शेष…. वो आप ही थे पापा जिसने हमें जिंदगी सिखाई, स्मृतियों की सड़क आज पांच साल वाली उम्र में ले जा रही है जब बनारस के पिपलानी कटरा के मकान नंबर 24/44 के दरवाजे पर सुबह-सुबह आप हमारे हाथों से अखबार खरीदवाया करते थे… तब हमें मालूम ही नहीं था कि यह होता क्या है? मगर आपने आदत डलवा कर इसकी जरूरत सिखा दी…

हिन्दी की एकमात्र यहूदी उपन्यासकर सम्मानित

शुक्रवार दिनांक 3 जनवरी को सोसाइटी फॉर सोशल रिजेनेरेशन ऐंड इक्यूटी नामक ग़ैर सरकारी संगठन ने कल्याणपुर, लखनऊ स्थित अपने कार्यालय में एक समारोह में हिन्दी भाषा की एक मात्र यहूदी उपन्यासकार, शीला रोहेकर, को सम्मानित किया। पिछले ही वर्ष, 2013 में भारतीय ज्ञानपीठ ने शीला रोहेकर का तीसरा उपन्यास मिस सैमुएल: एक यहूदी गाथा प्रकाशित किया।

आईबीएन वाले आशुतोष इस्तीफा देकर ‘आप’ ज्वाइन करने वाले हैं?

आशुतोष को लेकर समय-समय पर चर्चाएं उड़ती रहती हैं. ताजी गासिप ये है कि आशुतोष आईबीएन7 के मैनेजिंग एडिटर पद से इस्तीफा देकर आम आदमी पार्टी ज्वाइन करने जा रहे हैं और लोकसभा का चुनाव लड़ेंगे. सूत्रों के मुताबिक नेटवर्क18 के मालिक अंबानी अब अपने तरीके से चैनल चला रहे हैं और उनका झुकाव मोदी की तरफ है.

टीवी जर्नलिस्ट ऋषि दत्त तिवारी के पिता का निधन

न्यूज एक्सप्रेस चैनल के नोएडा मुख्यालय में एसाइनमेंट हेड के पद पर कार्यरत ऋषि दत्त तिवारी के पिता श्री अशोक कुमार तिवारी का पिछले दिनों लखनऊ में निधन हो गया. उनकी उम्र 68 वर्ष की थी. वे यूपी स्टेट एग्रो में कार्यरत रहे. आठ वर्षों पहले वे रिटायर हुए.

एडीजी अरुण कुमार की गैर-कानूनी पोस्टिंग रद्द हो

लखनऊ : सामाजिक कार्यकर्ता डॉ नूतन ठाकुर ने आज यूपी के प्रमुख सचिव गृह तथा डीजीपी को पत्र लिख कर एडीजी अरुण कुमार के रूल्स एवं मैनुअल्स विभाग में की गयी तैनाती को निरस्त करते हुए उन्हें कानूनी रूप से अनुमन्य स्थान पर नियुक्त करने को कहा है. पत्र में डॉ ठाकुर ने कहा है कि उनके पति अमिताभ ठाकुर पूर्व में इस दफ्तर में तैनात थे और इसलिए वह जानती हैं कि इस विभाग में ना तो बुनियादी सुविधाएँ हैं और ना ही कोई काम आवंटित है. उनके पति को एक स्वतंत्र रूम नहीं होने के कारण लॉन में बैठना पड़ा था.

आप लोग रेलवे के खिलाफ क्यों नहीं लिखते?

प्रियंका ओझा भार्गव ने भड़ास को मेल कर रेलवे के बारे में अपनी पीड़ा का इजहार किया है. आम जनता से जुड़ी इस सरकारी सेवा से इन दिनों हर कोई दुखी, उदास, त्रस्त और खीझा हुआ रहता है. प्रियंका भी उन्हीं में से हैं. उन्होंने जो कुछ बातें कहीं हैं, वो इस प्रकार हैं…

चैनल के रिपोर्टर ने रिश्तेदार से ऐंठे पौने तीन लाख रुपये

मीडिया का मतलब दलाली व दलालों का अड्डा हो गया है. मीडियाकर्मियों का काम जनता के सुख-दुख से सरोकार रखने की जगह सत्ता, प्रशासन, पुलिस के साथ सांठगांठ कर खुद को मालदार व वीआईपी बनाना होता जा रहा है. यही कारण है कि अब अपराधियों का बचाने का ठेका भी मीडिया वाले लेने लगे हैं. पंजाब के मोंगा जिले में ऐसा ही कुछ मामला सामने आया है. इस बारे में एक स्थानीय अखबार में खबर भी छपी है, जो नीचे है.

विश्वनाथ सिंह, सुनील कुमार, नवदीप ठाकुर की नई पारी

इंदौर से सूचना है कि दबंग दुनिया अखबार से इस्तीफा देने वाले विश्वनाथ सिंह नामक रिपोर्टर ने दैनिक भास्कर के साथ नई पारी की शुरुआत की है. बताया जाता है कि भास्कर में अंदरुनी राजनीति ज्यादा होने के कारण यहां काम करने से लोग घबराते हैं. पिछले दिनों दूसरे अखबार के क्राइम रिपोर्टर ने भास्कर से आफर लेटर लेने का बाद यहां काम करने से मना कर दिया और अपने पुराने संस्थान लौट गया.

एटा में पत्रकार पर हमला, नौकर घायल

एटा : मिरहची कस्बे में देर शाम स्थानीय पत्रकार कुलदीप गुप्ता पर जान लेवा हमला करते हुए अज्ञात हमलावरों ने फायरिंग की। मौके पर मौजूद नौकर के गोली लगने से घायल हो गया, जिसे जिला अस्पताल भेजा गया है। मिरहची में पत्रकार कुलदीप गुप्ता की मुख्य चौराहे पर दुकान है। गुरुवार की शाम सात बजे के लगभग कुलदीप अपनी दुकान के पास खड़े थे तभी एक बाइक पर सवार दो युवक आए और फिल्मी अंदाज में बीच सड़क पर बाइक खड़ी कर उन्होंने फायरिंग शुरू कर दी।

भड़ास की तर्ज पर बनारस से ‘आईसीएन न्यूज’, राजेंद्र और अवनिंद्र को कमान

वाराणसी : भडास4मीडिया डॉट कॉम से उत्प्रेरित होकर वाराणसी जिले के कुछ मीडियाकर्मियों ने न्यूज़ पोर्टल आई.सी.एन. न्यूज़ की शुरुआत की है। समाचार संपादक पद पर जहा राजेंद्र मोहनलाल श्रीवास्तव (पप्पू) कमान सम्भाल रहे हैं वही मीडिया के नाम पर खेल खेलने वालों को बेनकाब अर्थात जनपद स्तरीय खबरों की जिम्मेदारी युवा पत्रकार अवनिन्द्र सिंह (अमन) ने ली है।

मेल टुडे से सौरभ शुक्ला का इस्तीफा, कार्तिकेय शर्मा और रिफत जावेद में विवाद

दो अपुष्ट सूचनाएं टीवी टुडे ग्रुप से मिल रही हैं. पहली तो ये कि इंडिया टुडे, हेडलाइंस टुडे के बाद इन दिनों मेल टुडे में कार्य कर रहे सौरभ शुक्ला ने इस्तीफा दे दिया है. दूसरी सूचना कार्तिकेय शर्मा को लेकर है जो आजतक न्यूज चैनल में हैं. बताया जाता है कि उनका विवाद रिफत जावेद से हो गया है जिसके बाद उन्होंने इस्तीफा दे दिया है. हालांकि कुछ लोगों का कहना है कि उन्होंने इस्तीफा नहीं दिया है.

‘रोशनी के रास्‍ते पर’ के लिए अनीता वर्मा सम्‍मानित

अनीता वर्मा की कविताएं सकारात्‍मक एवं संवेदनात्‍मक जीवन की मांग रचती कविताएं हैं जो एक ऐसे आंतरिक विश्‍वास को मुट्ठी में कसकर आगे बढ़ती हैं कि ‘हत्‍यारे समय’ में भी घर और ‘पतझड़ समय’ में हरी संवेदना का अनुरोध बचा रहे। ये कविताएं समाज की निस्‍तेज सतह के नीचे दबे पड़े अर्धपूर्ण अन्‍तर्विरोधों को उभारती हुई वृहत्‍तर समाज के दु:ख दर्द, निराशाओं उत्‍साहों, आवेगों की सहभागी होती हैं और उम्‍मीद का हाथ पकड़ कर दार्शनिक समयहीनता के वीरान में भटकने से बच जाती हैं। अनीता वर्मा की कविताएं अभियानों में शामिल होने के आग्रह की कविताएं हैं। वरिष्‍ठ कथाकार महेश कटारे ने अनीता वर्मा की कविताओं पर यह वक्‍तव्‍य उन्‍हें केदार सम्‍मान 2013 दिए जाने के अवसर पर दिया।

बद्दी (हिमाचल प्रदेश) की भ्रष्ट पत्रकारिता

: बीबीएन (बद्दी बरोतीवाला नालागढ़), जिला सोलन, हिमाचल प्रदेश : औद्योगिक नगरों के बसने पर वहां पर अनेक तरह के लोग कारोबार करने पहुंच जाते हैं। राजनीतिज्ञ जहां अपने पदों का दुरुपयोग करते हैं वहीं अधिकारी भी इन स्थानों पर आने के लिए लालायित रहते हैं। तो फिर पत्रकार बन्धुओं का कहना ही क्या जो कि हर किसी की टांग खीचने में लगे रहते हैं। वे भी इन क्षेत्रों में पत्रकारिता की दुकान खूब चलाते हैं। औद्योगिक नगरी बीबीएन में भी इस तरह की पत्रकारिता करने वालों की कमी नहीं है।

समय और समाज से मुठभेड़ कविता की अनिवार्य जरूरत : नरेश सक्‍सेना

कवि को सदैव प्रतिपक्ष में रहना होगा तभी कविता भी प्रतिपक्ष की कविता होगी। कविता को अगर सुना नहीं गया तो समझिए कवि द्वारा कहा ही नहीं गया। समय चट्टानों को बदल देता है, समय कविता को बदल रहा है, स्‍वयं मुझे बदल रहा है। फैंटेसी और यथार्थ जो भी हो पर कविता को प्रतिपक्ष में खड़ा होना चाहिए क्‍योंकि समय और समाज से मुठभेड़ कविता की अनिवार्य जरूरत है। मेरा मानना है कि भाषा से निर्मित कलाए/विधाएं मनुष्‍य बनाने के जरूरी औजार हैं। ये बातें महात्‍मा गांधी अंतरराष्‍ट्रीय हिंदी विश्‍वविद्यालय के क्षेत्रीय केंद्र इलाहाबाद द्वारा ‘समय, समाज और हिंदी कविता’ विषय पर आयोजित गोष्‍ठी के मुख्‍य अतिथि वरिष्‍ठ कवि श्री नरेश सक्‍सेना ने कही।

सुधीर चौधरी और समीर अहलूवालिया पर मुकदमा चलेगा, पुलिस की अपील कोर्ट में मंजूर

सुधीर चौधरी और समीर अहलूवालिया पर मुकदमा न चलाए जाने की सारी कवायदों पर दिल्ली की पटियाला हाउस कोर्ट ने पानी फेर दिया है. कोल ब्लॉक आवंटन से जुड़ी खबर प्रसारित न करने के बदले में कथित रूप से 100 करोड़ रुपये की उगाही के मामले में पटियाला हाउस कोर्ट स्थित अतिरिक्त सत्र न्यायाधीश धर्मेश शर्मा ने ने कहा कि मामले में पुलिस द्वारा दायर चार्जशीट रिपोर्ट के आधार पर आरोपियों पर मुकदमा चलाया जा सकता है.

भड़ास को आपकी मदद / फेवर / सहयोग की जरूरत…

भड़ास को संचालित करने के लिए इसके पाठकों से समय-समय पर आर्थिक मदद की अपील की जाती रही है. एक बार फिर नौबत आ गई है कि हम आपसे भड़ास की आर्थिक सेहत को लेकर बात करें. सरोकार व सच्चाई की अलख जगाए रखने को तत्पर भड़ास ने अपने सीमित संसाधनों में वो कर दिखाया है जो बड़े बड़े मीडिया हाउस नहीं कर पाते.

राहुल भले कहते रहें कि सीखना ‘आप’ से है, लेकिन वो नकल नरेंद्र मोदी की कर रहे हैं

Avinash Das : क्‍या आपने APCO Worldwide का नाम सुना है? यह बीजेपी के पीएम इन वेटिंग Narendra Modi के लिए पीआर का काम अपने हाथ में लेने वाली कंपनी है। यह दुनिया भर में धतकर्मों में लिप्‍त तानाशाहों की इमेज बिल्डिंग का काम करती रही है। अमेरिकी सेना की युद्धनीति के पक्ष में जनमत संग्रह से लेकर इजराइल के बर्बर चेहरे को न्‍यायप्रिय छवि के रूप में प्रचारित करने की रणनीति इसी कंपनी ने बनायी थी।

अगर दिल्ली में कांग्रेस या बीजेपी की सरकार होती तो भी क्या पुण्य यह सवाल दागते

Nadim S. Akhter :  आम आदमी पार्टी के कुमार विश्वास के एक पुराने वीडियो में जो बातें बोली कही गई हैं, वो बेहद आपत्तिजनक हैं. विश्वास ने समुदाय विशेष का मजाक उड़ाया है. अरविंद केजरीवाल और आम आदमी पार्टी के लोगों को ये समझना होगा कि अब वे सिर्फ आंदोलन से नहीं जुड़े हैं. राजनीतिक पार्टी बना ली है और बाकायदा सरकार चला रहे हैं.

Hindustan ADVT Scam : Mantoo Sharma tells Supreme Court the main reason of economic offence

By ShriKrishna Prasad, Advocate

New Delhi, January 07. In the Dainik Hindustan Advertisement Scam, the Respondent No.02, Mr. Mantoo Sharma, in his counter-affidavit to the Supreme Court in the Special Leave Petition (Criminal) No.1603 of 2013 (filed by the petitioner, Shobhna Bhartia,the Chairperson of M/S The Hindustan Times Limited, M/S H.T.Media Limited, M/S Hindustan Media Ventures Limited), has tried  his best to explain  the main reason behind this economic offence on large scale for a decade , committed by the petitioner and her  editors and publisher.

जी न्यूज के बिहार प्रभारी श्रीकांत प्रत्यूष ने दिया इस्तीफा

जी न्यूज़ के 18 वर्षों से बिहार के प्रभारी श्रीकांत प्रत्यूष ने इस्तीफा दे दिया है. श्रीकांत ने तीन दिन पूर्व अपने भेजे इस्तीफे में बिहार में चल रहे अपने प्रोडक्शन हाउस में अपनी व्यस्तता का हवाला दिया है. सूत्र बताते हैं कि जी न्यूज़ मैनेजमेंट ने उनका पर कतर कर उनके उपर किसी को बैठाने की तैयारी कर ली है. मालूम हो कि श्रीकांत प्रत्यूष कई वर्षों से पटना में अपना एक निजी न्यूज़ चैनल पीटीएन न्यूज, नवबिहार, सन्मार्ग हिंदी दैनिक का प्रकाशन कर रहे हैं.

उम्मीद की किरण हैं केजरीवाल

स्वभाव से विद्रोही, काम से एक्टिविस्ट और लक्ष्य केंद्रित व्यक्ति होने के बाद आज मुझे अरविन्द केजरीवाल का दीवाना होना चाहिए था। जैसे कि भारत के तमाम लोग हो रहे हैं। लेकिन बार-बार मस्तिष्क ऐसा होने से मना कर देता है। ये बिलकुल सही है कि केजरीवाल ने आज हिंदुस्तान की नब्ज पर हाथ रख दिया है क्योंकि आम भारतीय महँगाई, भ्रष्टाचार, भाई -भतीजावाद और तुष्टिकरण की राजनीति से गले तक आजिज आ गया है। वो इससे मुक्त होना चाह रहा है।

केजरावाल को समय दीजिए, फिर कीजिएगा आलोचना

किसी भी नई सरकार के गठन के बाद यह परंपरा रही है कि उसे अपने चुनावी घोषणापत्र पर अमल के लिए कम से कम एक वर्ष का समय अवश्य दिया जाता है। विपक्षी दल भी इससे पहले सरकार पर टीका टिप्पणी करने से परहेज करते हैं। हिमाचल प्रदेश में भी इसी कारण वीरभद्र सरकार का एक वर्ष होने तक विपक्षी दल भाजपा ने संयम बरते रखा और ऐसा हमेशा से होता आया है।

प्रकाश झा हड़प गए रिपोर्टरों का पैसा!

नमस्कार,

संपादक महोदय,

भाड़स4मडिया।

बड़े दुख के साथ आपको कहना है कि मैं बिहार में मौर्य टीवी का  रिपोर्टर हूं। पिछले अप्रैल माह से मौर्य प्रबंधन ने किसी भी रिपोर्टर को बकाया पैसे का भुगतान नही किया है। पिछले नवंबर माह में ही शायद प्रकाश झा ने चैनल को ज़ी मीडिया को बेच दिया था लेकिन रिपोर्टरों को पता तक नही चला। 15 दिसंबर तक खबरें मांगी जाती रही लेकिन पैसों का भुगतान नही किया गया।

‘ओपेन’ में अंदरुनी हलचल तेज, एडिटर इन चीफ मनु जोसेफ का इस्तीफा

'ओपेन' मैग्जीन से सूचना है कि एडिटर इन चीफ मनु जोसेफ ने इस्तीफा दे दिया है. ओपेन मीडिया नेटवर्क की तरफ से प्रकाशित 'ओपेन' मैग्जीन को मैनेजिंग एडिटर के बतौर पीआर रमेश संभालेंगे. ओपेन मैग्जीन लगातार विवादों में है. इसके पोलिटिकल एडिटर हरतोष सिंह बल ने कई तरह के आरोप लगाकर मैग्जीन से इस्तीफा दे दिया था. एक पत्रकार ने भड़ास को इस पूरे प्रकरण पर एक मेल भेजा है, जो इस प्रकार है…

जेपी जोशी सेक्स स्कैण्डल, पीड़िता बन सकती है सरकारी गवाह!

देवभूमि उत्तराखण्ड में राजनेताओं के साथ-साथ राज्य के उच्च अधिकारियों पर भी यौन शोषण के आरोप लगते रहे हैं। हाल ही में चर्चित यौन उत्पीड़न मामले में गिरफ्तार और अब निलंबित अपर सचिव जेपी जोशी और कांग्रेस नेत्री रितु कण्डियाल के खिलाफ कोर्ट में 192 पेज की चार्जशीट दाखिल की गई है। पुलिस ने इस हाई-प्रोफाईल मामले में 40 दिन के अंदर पीड़िता, डाक्टर, पुलिस रेस्ट-हाउस, नैनीताल के स्टाफ कर्मचारीयों व दिल्ली पुलिस के अफसरों समेत 22 लोगों को गवाह बनाया है।

बाबा रामदेव अर्द्धसाक्षरनुमा इंसान हैं, पढ़े-लिखे कम हैं पर चालाक ज्यादा हैं

बाबा रामदेव अर्द्धसाक्षरनुमा इंसान हैं। पढ़े-लिखे कम हैं पर चालाक ज्यादा हैं। चालाक न होते तो योग की इतनी बढ़िया मार्केटिंग कैसे करते? योग स्वस्थ रहने जरिया रहा है। रामदेव ने उसे चिकित्सा विज्ञान के विकल्प के रूप में प्रस्तुत किया। उनके "चमत्कारों" को चैनलों ने प्रसारित किया। चैनलों और रामदेव की कमाई साथ-साथ आगे बढ़ी।

मेरे कार्य क्षेत्र में कोई भी संपादकीय व प्रशासकीय हस्तक्षेप नहीं करेगा, नोएडा भी नहीं : एसएन विनोद

न्यूज़ एक्सप्रेस में विनोद कापड़ी के आगमन के साथ मेरे नाम को लेकर भी कुछ टिप्पणियां की जा रही है. सैकड़ों मेल, एसएमएस व सोशल मीडिया के माध्यम से सवाल खड़े किये जा रहे है कि मैंने अपने से अत्यंत ही कनिष्ठ विनोद कापड़ी की अधीनता कैसे स्वीकार कर ली? अपेक्षा व्यक्त की जा रही है कि मैं इस्तीफा दे दूँ. टिप्पणियां की जा रही हैं, मेरी कथित मजबूरी को ले कर,  टिप्पणियां की जा रही हैं मेरे पत्रकारीय पार्श्व, अतीत, वर्तमान और वरिष्ठता को ले कर, टिप्पणियां की जा रही हैं मेरी कथित "बेचारगी'' को ले कर! 

‘दलित दस्तक’ के पत्रकार के साथ लखनऊ में सिपाही ने की गुंडई

Akhilesh Krishna Mohan : दिल्ली से प्रकाशित दलित चिंतन की मैग्जीन 'दलित दस्तक के लखनऊ संवाददाता दिव्यांशु आज लखनऊ के अलीगंज से गुजर रहे थे तो उनके स्कूटर का पुलिसकर्मी जे. उपाध्याय ने यह कहते हुए चालान कर दिया कि तुम 'दलित दस्तक' का प्रेस स्टीकर लगाकर कैसे चल सकते हो। गाड़ी के सभी कागज मौजूद थे, दिव्यांशु हेलमेट भी लगाए हुए थे और जो लखनऊ में नहीं देखा जाता पॉल्यूशन का कागज भी दिव्यांशु के पास था। खबर है कि पुलिसकर्मी जे. उपाध्याय ने दलित विरोधी शब्द भी बोले। पत्रकार ने एसएसपी और मुख्यमंत्री से गुंडई करने वाले सिपाही जे. उपाध्याय की शिकायत करने की तैयारी की है। एक भी कागज ऐसा नहीं था जो दिव्याशु के पास नहीं था। वो हेलमेट भी पहने थे। इसके बाद भी सिपाही ने यह कहते हुए चालान किया कि तुमने 'दलित दस्तक' का स्टीकर क्यों लगाया। ऐसी गुंडई तो अगर पुलिस वाला कर रहा है तो फिर बाकी दबंग करेंगे ही।

‘आप’ के संजय सिंह शिया धर्मगुरु मौलाना कल्बे जवाद से मिलने उनके घर पहुंचे

Anil Kumar Yadav : "आप" के यूपी संयोजक, पुरातन परिचित सुल्तापुर के एक्टिविस्ट संजय सिंह से बड़े दिनों बाद कल मुलाकात हुई. रैशनल लगे जब कहा कि जाति और धर्म के मुद्दे नकली हैं हम असली मुद्दे उठाएंगे. नखलऊ का कॉफी हाउस देर तक तालियों से गूंजता रहा जब उदाहरणों के साथ उन्होंने बताया कि मेनस्ट्रीम की पार्टियां जब सत्ता का केक खाना हो बेहिचक भाजपा के साथ चली जाती है और जब जरूरत हो तो सांप्रदायिकता विरोध का नाटक करने लगती हैं.

‘बर्सन-मार्सलेटर’ नामक इस पीआर कंपनी को जनमत प्रभावित करने में महारत हासिल है

इतना तो पता चल ही गया है आपको की राहुल गांधी की छवि को सुधारने का ठेका एक विदेशी कंपनी को मिला है. लेकिन शायद ये नहीं जानते होंगे आप की वो कंपनी कौन सी है. जी हाँ. ये वही कंपनी है जिसने भोपाल में गैस के द्वारा जनसंहार करने वाली कंपनी यूनियन कार्बाइड की छवि सुधरने का जिम्मा लिया था. 'बर्सन-मार्सलेटर' नाम की इस कंपनी को जनमत को प्रभावित करने में महारत हासिल है.

पीलीभीत में हिन्दुस्तान का विरोध, प्रतियां जलायीं गयीं

पीलीभीत में हुए उर्स-ए-हशमती में हिन्दुस्तान भर के उलेमाओं और ज़ायरीनों ने शिरकत की. उर्स में एक लाख से ज्यादा की भीड़ जुटी. अमर उजाला और दैनिक जागरण अखबारों ने उर्स की अच्छी रिपोर्टिंग की पर हिन्दुस्तान अखबार ने उर्स की एक भी खबर नहीं छापी. दरगाह के लोगों ने फोन कर खबर न छापने की वजह हिन्दुस्तान अखबार के ब्यूरो चीफ से जाननी चाही. उनका का कहना था कि वे एलएच शुगर फैक्ट्री में पुलिस प्रशासन और मीडिया के बीच खेले जा रहे क्रिकेट मैच की कमेन्ट्री करने में व्यस्त हैं इसलिए उन्हे बाद में फोन किया जाए.

डिब्बा पत्रकार यानि राजदीप सरदेसाई को चंचल की सलाह

राजदीप सरदेसाई ने राहुल गांधी को सलाह दिया है कि पांच साल तक वे विपक्ष में बैठ कर राजनीति सीख लें. ये डिब्बा पत्रकार कई बार कथित राजनीतिज्ञों से भी गए गुजरे मूढ़ लगने लगते हैं. राजदीप किस विपक्ष की बात कर रहे हैं? क्या इस विपक्ष से कुछ सीखा भी जा सकता है? संसद कैसे जाम किया जाता है? पैसा लेकर कैसे सवाल पूछा जाता है? कबूतरबाजी कैसे की जाती है? दलाली, चोरी, चम्चोरी, जरायम पेशा धंधे कैसे होते हैं? बलात्कार, कुपंथ की डगर कैसे खुलती है? किसी महिला से जबरन मोहब्बत कैसे की जाती है और उसकी जासूसी कैसे होती है? दूसरे समुदाय का संहार कर के खौफ खड़ा करना और यह कहना कि हमारे यहाँ दंगा नहीं होता? यही सिखाना चाहते हैं देसाई जी?

प्रियंका के सहारे कांग्रेस की नैय्या!

महंगाई, भ्रष्टाचार, घोटालों की धड़ल्ले से दुकान चलाने के बाद अब शटर गिरने के डर से कांग्रेसी महकमे में खलबली मची हुई है। मोदी बनाम राहुल के चल रहे शीत  युद्ध में मोदी भारी पड़ रहे हैं। इससे घबराई कांग्रेस मोदी से लोहा लेने में राहुल की मदद के लिए उनकी बहन को पिछले दरवाजे से प्रवेश कराने में लगी हुई है। यह तो तय है कि आने वाले लोकसभा चुनाव में प्रियका के बलबूते कॉंग्रेसी चुनावी नैय्या पार करने की जुगत में लगे हुए हैं जिसकी बानगी के रूप प्रियंका दवारा ली गई मीटिंग को देखा जा रहा है।

रंडीखाना चलाने वाला गया का उपमहापौर मोहन श्रीवास्तव कालगर्ल के साथ गिरफ्तार

बिहार के गया जिले के डिप्टी मेयर को पटना के एक होटल के कमरे से दो काल गर्ल्स के साथ गिरफ्तार किया गया है। गया के डिप्टी मेयर का नाम मोहन श्रीवास्तव है। उसे सोमवार रात एक पुलिस छापे के दौरान पटना के एक पॉश होटल से गिरफ्तार किया गया।

हे साधना वालों, पहले भुगतान कर दो, फिर कोई नया काम बताना

दलाली व दलालों के न्यूज चैनल उर्फ साधना न्यूज के साथ जो भी जुड़ा, वह छला गया, वह रोने को मजबूर हुआ, वह पछताया. ताजा नाम पूर्वी उत्तर प्रदेश के एक जिले के पत्रकार का है. साधना न्यूज के जौनपुर के पत्रकार मनोज कुमार ने अपने चैनल के मालिकों व संपादकों के बार-बार झूठ बोलने से खफा होकर एक पत्र लिखा है जिसमें उन्होंने पुराना बकाया देने के बाद ही नया काम सौंपने के लिए कहा है. मनोज की पीड़ा है कि वे पूरी मेहनत से पिछले दो वर्षों से साधना न्यूज के साथ काम कर रहे हैं पर उन्हें आजतक एक भी पैसा नहीं दिया गया. मनोज द्वारा भेजे गया पत्र इस प्रकार है…

संजय गुप्ता से की विष्णु त्रिपाठी और किशोर झा की शिकायत

दैनिक जागरण, नोएडा में खलबली मची हुई है. चीफ सब एडिटर श्रीकांत सिंह ने दैनिक जागरण के मालिक संजय गुप्ता को एक लेटर भेजकर रेजीडेंट एडिटर विष्णु त्रिपाठी और न्यूज एडिटर किशोर झा की शिकायत की है. श्रीकांत सिंह का आरोप है कि विष्णु और किशोर लगातार उन्हें टार्चर कर रहे हैं. साथ ही ये भी कहा है कि प्रमोशन से लेकर इनक्रीमेंट, ट्रांसफर तक के मामलों में जो नीति अपनाई जाती है, वह उनके शारीरिक व आर्थिक सेहत के खिलाफ है.

यूपी के मंत्री ने अपने जन्मदिन पर बालाओं संग लगाए ठुमके

गोण्डा। पूरे देश में भले ही वीआईपी कल्चर खत्म करने और सादगी के साथ कामकाज करने की बहस चल रही हो पर यूपी इससे पूरी तरह अछूता है. सपाइयों की गुंडई और दबंगई से त्राहि-त्राहि कर रहे उत्तर प्रदेश के गोंडा जिले से खबर है कि माध्यमिक शिक्षा राज्यमंत्री विनोद कुमार उर्फ पंडित सिंह ने अपना जन्मदिन खूब तड़क-भड़क के साथ मनाया और लाखों रुपये खर्च कर डाले. उन्होंने बालाओं संग ठुमके भी लगाए.

कालगर्ल के साथ पकड़े गए मजिस्ट्रेट को बचा लिया न्यायपालिका ने!

सुप्रीम कोर्ट ने गांगुली के मामले में तेजी दिखाई लेकिन दिल्ली हाई कोर्ट (तीस हजारी कोर्ट) के एक मजिस्ट्रेट जो हरियाणा में काल गर्ल के साथ पकड़ा गया था, के मामले में चुप है। सुप्रीम कोर्ट के मुख्य न्यायाधीश पी सदाशिवम ने एक लॉ इंटर्न द्वारा अपने ब्लाग में जस्टिस गांगुली पर छेड़छाड़ के आरोप लगाने पर तेजी से कार्रवाई करते हुए जांच शुरू करवा दी लेकिन उनके नाक के नीचे दिल्ली हाई कोर्ट के एक मजिस्ट्रेट के खिलाफ कार्यवाही करने के मामले में कोई प्रगति नहीं है।

हांगकांग के मीडिया जगत में साम्राज्य स्थापित करने वाले रूनरून शा का निधन

हांगकांग। हांगकांग के मीडिया जगत में अपना साम्राज्य स्थापित करने वाले मीडिया मुगल रूनरून शा का आज निधन हो गया। शा की कंपनी टेलीविजन व्राडकास्ट लिमिटेड (टीवीबी) ने बताया कि उन्होंने अपने घर में अपने परिजनों के बीच अंतिम सांस ली। वह 107 वर्ष के थे। टीवीबी ने कहा कि श्री शा ने अपनी दूरदर्शिता और ऊर्जा से अपनी कंपनी को हांगकांग की सबसे बड़े टेलीविजन स्टेशन के रूप में स्थापित किया।

दैनिक जागरण हल्द्वानी से इस्तीफा देकर राजीव शुक्ला पहुंचे अमर उजाला

दैनिक जागरण हल्द्वानी से राजीव शुक्ला का भी इस्तीफा हो गया। इससे पहले कई लोग संस्थान से इस्तीफा दे चुके हैं। बीते काफी वक्त से संस्थान के हालात काफी खराब बताए जा रहे हैं। सुना तो यहाँ तक गया है कि संस्थान में प्रमोशन न होने, वेतन में बढ़ोतरी न होने के साथ-साथ छुट्टी न मिलने जैसे कारणों से तनाव का माहौल बना हुआ है। यही वजह है कि एक के बाद एक कई लोगों के इस्तीफों से संस्थान में संकट पैदा हो गया है।

अब हिन्दुस्तान में ‘हॉरर’ किलिंग!

बरेली की सर्दी का असर हिन्दुस्तान की डेस्क पर दिखने लगा है. शब्दों मात्राओं के हेर-फेर से भले ही अर्थ का अनर्थ हो जाए पर इस ठंड में उंगलियां कौन गलाए. इसे आप आज के हिंदुस्‍तान, बरेली में पृष्ठ 10 पर प्रकाशित एक खबर में देख सकते हैं.

हलाल होना बकरे का और मौज लूटना दढियल संपादक का

: हम्पी–डम्पी सेट ऑन अ वाल जी हां, संजय विचार मंच : दिमाग तो उर्वर था ही इन लोगों के पास. बस फिर क्या था, कुछ ही दिनों में इन लोगों ने दारूलशफा को प्रदेश के दूर-दराज से आने वाले अनजान कर्म-कामी लोगों को हलाल करने वाले कत्लगाह में तब्दील कर दिया. हालांकि संजय विचार मंच और उसके पदाधिकारियों की शौर्यगाथा खासी ख्याति पा चुकी थी और इस मेनका समेत उनके मंच को भी पैदल कर दिया गया था.

उत्तराखंड में पत्रकारों की बेकदरी

उत्तराखंड ही देश का शायद ऐसा राज्य होगा, जहां का सूचना महानिदेशक अपनी तैनाती से लेकर आज तक किसी भी पत्रकार को नहीं मिला होगा और न ही उसने किसी पत्रकार का फोन उठाया होगा.  उत्तराखंड में सूचना महानिदेशक आर. मिनाक्षी सुंदरम एक ऐसे सूचना महानिदेशक है, जिनके पास मसूरी-देहरादून विकास प्राधिकरण में वीसी के पद सहित सिडकुल जैसे महत्वपूर्ण विभाग हैं. वहीं दूसरी तरफ इसी विभाग के सचिव बंसीधर तिवारी को भी सूचना विभाग का ओएसडी बना दिया गया है. 

के.पी सिंह ने दिया जागरण से इस्तीफा, जीएम डीके शर्मा बने प्रकाशक और मुद्रक

वरिष्ठ पत्रकार के.पी सिंह ने दैनिक जागरण (पंजाब) के गुरदासपुर जिला मुख्यालय से इस्तीफा दे दिया है. के.पी सिंह यहां बतौर वरिष्ठ रिपोर्टर कार्यरत थे. के.पी सिंह पिछले 14 वर्षों से दैनिक जागरण (पंजाब) से जुड़े हुए थे. फिलहाल उनके इस्तीफा देने की वजह का पता नहीं चल पाया है. 

पीआरओ ने दी जान…!

बीते रविवार 5 जनवरी को तापमान करीब 5.5 डिग्री था. कड़ाके की इस ठंड में एक खबर ने अजमेर के पीआरओ साब माफ कीजिएगा असिस्टेंट डायरेक्टर, पब्लिक रिलेशन ऑफिसर के पसीने छुड़ा दिए. फोन पर फोन आए जा रहे थे और पीआरओ साहब सबको सफाई दिए चले जा रहे थे. 

श्री न्यूज की छवि खराब करने के लिए फैलाई जा रही हैं अफवाहें

प्रिय यशवन्त जी, 
नमस्कार मैं भी श्री न्यूज से जुड़ा हुआ हूं श्री न्यूज के बारे में आप के द्वारा प्रकाशित समाचार मैंने पढ़ा जिसको पढ़कर मैं काफी आहत हुआ. श्री न्यूज अपने सारे स्ट्रिंगरो के साथ सदैव अच्छा व्यवहार करता है और उनकी समस्याओं का समाधान भी करता है. मैं आपको बता दूं की संस्थान से निकाले गये लोगों के द्वारा यह भ्रामक खबरें प्रकाशित करवायी जा रही हैं.

एनडीटीवी, ब्लैकमनी, एसके श्रीवास्तव, जांच और जेठमलानी-चिदंबरम पत्राचार

जाने माने वकील और राज्यसभा सदस्य राम जेठमलानी ने इनकम टैक्स अधिकारी एसके श्रीवास्तव का केस अपने हाथ में ले लिया है. शासन, सत्ता, सिस्टम से प्रताड़ित आईआरएस अधिकारी एसके श्रीवास्तव ने एनडीटीवी के हजारों करोड़ रुपये की ब्लैकमनी की जांच क्या की, उन्हें भांति भांति तरीके से प्रताड़ित उत्पीड़ित किया गया है. तरह तरह के आरोप लगाए गए और कई तरह से दंडित किया गया.

एसओ ने अश्लील क्लीपिंग दिखाया तो नाराज महिला सिपाही ने कहा- मुझे इस गंदगी में नौकरी नहीं करनी

लखनऊ : विभूतिखंड एसओ पंकज कुमार सिंह पर अश्लील क्लीपिंग दिखाने का आरोप लगाने वाली महिला सिपाही ने इस्तीफा दे दिया है। डीआईजी रेंज और एसएसपी पर पूरे मामले को नजर अंदाज करने का आरोप लगाते हुए कहा कि मुझे इस गंदगी में नौकरी नहीं करनी है। महिला सिपाही के आरोप के बाद डीआईजी व एसएसपी ने चुप्पी साध ली है। वहीं आईजी (लॉ एंड आर्डर) ने उसे कार्रवाई का भरोसा दिया है।

श्रीनगर में मीडिया के तीन कार्यालयों में चोरी

श्रीनगर : जम्मू कश्मीर की ग्रीष्मकालीन राजधानी में स्थित एक होटल में बने राष्ट्रीय मीडिया के तीन कार्यालयों से कथित तौर पर चोरी की घटना हुयी है। पुलिस ने बताया कि रात में श्रीनगर शहर में स्थित होटल पाम्पोश में स्थित सीएनएन-आईबीएन, आईबीएन7 और टाइम्स नाउ के ब्यूरो कार्यालयों में चोर घुस गये।

माखनलाल चतुर्वेदी पत्रकारिता विश्वविद्यालय में एबीपी न्यूज का कैंपस

भोपाल, 6 जनवरी 2013। माखनलाल चतुर्वेदी राष्ट्रीय पत्रकारिता एवं संचार विश्वविद्यालय में सोमवार को एबीपी न्यूज चैनल के कैंपस सेलेक्शन का आयोजन किया गया। इस प्रतिष्ठित चैनल की चयन प्रक्रिया में विश्वविद्यालय में अध्ययनरत अंतिम वर्ष के छात्रों के अलावा सत्र 2012-13 के लगभग 165 विद्यार्थियों ने भाग लिया।

संजय श्रीवास्तव दैनिक जागरण, नोएडा के सेंट्रल डेस्क पर पहुंचे

दैनिक जागरण, नोएडा में सेंट्रल डेस्क पर संजय श्रीवास्तव की बहाली हुई है. वे न्यूज एडिटर के रूप में आए हैं. उनकी रिपोर्टिंग राजीव सचान को होगी. संजय पहले भी जागरण में काम कर चुके हैं. बीबीसी में कंसल्टेंट रह चुके संजय हिन्दुस्तान, अमर उजाला, आजतक, सहारा, इंडिया टीवी में भी काम कर चुके हैं.

सतीश के. सिंह ने भी स्वीकार की विनोद कापड़ी की अधीनता, परितोष भी न्यूज एक्सप्रेस पर सवार

साईं प्रसाद मीडिया के न्यूज चैनल न्यूज एक्सप्रेस में सतीश के. सिंह भी आ गए हैं. सतीश इन दिनों बेरोजगार चल रहे थे. वे जी न्यूज और लाइव इंडिया में एडिटर इन चीफ रह चुके हैं. लेकिन बेरोजगारी के कारण उन्हें विनोद कापड़ी के अधीन रहना स्वीकार हो गया.

हरिवंश, पुण्य प्रसून, आशुतोष और हेमंत सोरेन ने रांची में मासिक पत्रिका ‘नेशन संवाद’ का लोकर्पण

रांची : झारखंड की राजधानी रांची से प्रकाशित मासिक पत्रिका नेशन संवाद के लोकार्पण समारोह में न्यूज चैनल आजतक के कार्यकारी संपादक पुण्य प्रसून वाजपेयी ने कहा कि राजनीति में कॉरपोरेट हावी है और मीडिया को विकल्प के साथ खड़ा होना होगा। रांची के होटल रेडिसन ब्लू में आयोजित समारोह में वाजपेयी ने नेशन संवाद का लोकार्पण किया।

केजरीवाल की सादगी नहीं, काम परखिए

जनता ने सादगी की जितनी अपेक्षाएं केजरीवाल सरकार से लगा ली हैं, उनमें यही होना था, जो हो रहा है। उनकी हर हरकत पर पैनी नजर रखी जा रही है। तभी तो लोगों ने अरविंद केजरीवाल को टाइप सिक्स का डबल डुप्लेक्स बंगला मिलने पर इसका सबब पूछ लिया। मुख्यधारा के किसी राजनीतिक दल के किसी मुख्यमंत्री को इससे भी बड़े फ्लैट अलॉट हो जाते, तो यकीनी तौर पर सवाल नहीं उठते। अभी तक उठे भी नहीं हैं। अरविंद केजरीवाल सरकार के सामने सुशासन देने से ज्यादा बड़ी अपनी कमीज उजली रखने की चुनौती दरपेश है। कहीं ऐसा न हो कि आप न तो अपनी कमीज उजली रख पाए और न ऐसा सुशासन दे पाए, जिसकी उम्मीद पूरे हिंदुस्तान और दीगर दुनिया ने भी लगा रखी है। बंगला विवाद के बाद केजरीवाल का छोटे घर में रहने का फैसला संकेत है कि वे विरोधियों और मीडिया के दबाव में आ गए हैं। इसे अच्छा संकेत नहीं कहा जा सकता। 

उत्तराखंड श्रमजीवी पत्रकार यूनियन का गठन, हेम भट्ट बने अध्यक्ष और वीरेंद्र बिष्ट बने महासचिव

नैनीताल : उत्तराखंड श्रमजीवी पत्रकार यूनियन की नैनीताल नगर इकाई का 5 जनवरी 2014 को विधिवत तरीके से गठन हो गया है. इस यूनियन का गठन उत्तराखंड श्रमजीवी पत्रकार यूनियन की नैनीताल नगर इकाई के पूर्व नगर अध्यक्ष श्री माधव पालीवाल की अध्यक्षता में हुई बैठक के दौरान किया गया.

सहरसा में नाट्य निर्देशक आरटी राजन की पुण्यतिथि पर रंगकर्मियों का समागम

शशि सरोजनी रंगमंच सेवा संस्थान के तत्वाधान में शनिवार को सुपर बाजार, सहरसा के प्रांगण में नाट्य निर्देशक आरटी राजन की पुण्यतिथि पर आयोजित स्मृति समारोह का उद्घाटन वरिष्ठ संस्कृतिकर्मी एवं संपादक: रंग अभियान, डॉ. अनिल पतंग ने दीप प्रज्जवलित कर किया. 

आई नेक्स्ट का पटना किला भी हुआ ध्वस्त

आई नेक्स्ट के 13 एडीशन में से पटना ही एक ऐसा किला था जो पिछले पांच साल तक सुरक्षित था, लेकिन वह भी पिछले साल ध्वस्त हो गया. यहां एक के बाद एक 11 लोगों ने आई नेक्स्ट को अलविदा कह दिया.

26 श्रमिक संगठनों की प्रबंधन से मांग, लोकमत के सभी 61 कर्मचारियों को काम पर बिना शर्त वापस लें

नागपुर शहर के विभिन्न क्षेत्रों में कार्यरत 26 श्रमिक संगठनों ने लोकमत प्रबंधन से लोकमत पत्र समूह की सेवा से गैराकानूनी तरीके से हटाए गए 61 पत्रकार/गैर-पत्रकारों को बिना शर्त काम पर वापस लेने की मांग की है.

कल्पेश याग्निक जी, कलम उठाने से पहले ज़रा सोंचिए

दैनिक भास्कर के चार जनवरी के अंक में पत्र के संपादक श्री कल्पेश याग्निक का संपादकीय लेख पढ़ा। प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह के शुक्रवार को मीडिया संबोधन को लेकर संपादक महोदय ने अपने विचार लिखे है। नरेन्द्र मोदी के बारे में प्रधानमंत्री के विचारों को लेकर संपादक महोदय असहज से लगते महसूस हुोते है। मनमोहन सिंह को शांत गंभीर बताते हुए वह लिखते हैं कि नरेन्द्र मोदी को लेकर इतनी तल्ख टिप्पणी नहीं करनी चाहिए थी।

सादगीपूर्ण जीवन की मिसाल ये मुख्यमंत्री

सादगी में आठवा अजूबा नहीं केजरीवाल

देश के दूसरे गांधी कहे जाने वाले अन्ना हजारे द्वारा देश कि जनता के अंदर दूसरी आजादी का जो जूनून भरा उस का लाभ लेने कि मंशा से अपना दल बनाने वाले केजरीवाल ने सत्ता में रह कर भ्रष्टाचार ख़त्म करने कि योजना बनाई है। उनकी योजना को लोगो ने हाथो हाथ लिया और लंगड़ी ही सही पर सरकार बनाने का मौका दिया है। लेकिन केजरीवाल जिस तरह से महज़ दो दिनों में जनता से किये वादों को दरकिनार किया है वो उनकी छवि बताने के लिए पर्याप्त है। वे राजनीती में क्यों आये है दिखाने लगा है। राजनीती में आकर सादगी से जीवन जीने वाले केजरीवाल आठवां अजूबा नहीं है। राजनीति में इनसे बहुत सीनियर और मुख्यमंत्री भी है जिनके पास रहने के  के नाम पर महज दो कमरे के घर है जिसमे रहते हुए वो एक बार नहीं तीन-तीन बार से सत्ता में है और जनता कि सेवा पैदल चलकर कर रहे है। पेश है इन महान नेताओ सादगी जो केजरीवाल कि नक़ल नहीं है:

Dainik Jagran advt scam : IG asks SP to provide security to Raman Kumar Yadav

By ShriKrishna Prasad, Advocate

New Delhi, January 05.The Inspector General of Police (Tirhut Range) Mr.Pankaj Darad, has directed the Police Superintendent of Muzaffarpur in Bihar to provide all security to Mr.Raman Kumar Yadav on all particular dates whenever the hearings in the world famous Dainik Jagran Advertisement Scam take place in different courts at Muzaffarpur in Bihar in future.

चौथी दुनिया में ‘तहलका’!

चौथी दुनिया वीकली अखबार से एक बड़ी खबर आ रही है. पता चला है कि यहां भी एक 'तहलका' हो गया है. मामले को दबाने के लिए कई महिला मीडियाकर्मियों को एक साथ नौकरी से निकाल दिया गया है. यहां कार्यरत कई महिला मीडियाकर्मियों ने भड़ास4मीडिया को फोन कर बताया कि चौथी दुनिया के एडिटर इन चीफ संतोष भारतीय महिला स्टाफ से बहुत बुरा बर्ताव करते हैं. वह बात बात पर गाली गलौज करते हैं और तरह तरह से प्रताड़ित करते हैं.

Dainik Hindustan advt scam : Mantoo Sharma submits Company Dy.G.M’s letter to Supreme Court

By ShriKrishna Prasad, Advocate

New Delhi, January 05. In the Dainik Hindustan Government Advertisement Scam of Bihar, the Respondent No.-02, Mr.Mantoo Sharma, in his counter-affidavit to the Supreme Court in the Special Leave Petition(Criminal) No. 1603 of 2013 (filed by the Petitioner,Shobhana Bhartia, the Chairperson of M/S The Hindustan Times Limited/M/S H.T.Media Limited/M/S Hindustan Media Ventures Limited,New Delhi), has annexed the official letter of the Deputy General Manager of the company.The official letter of the company Deputy General Manager of M/S H.T.Media Limited,New Delhi) has , in document, proved the forgery, fraud and cheatings of the top functionaries of the company in this Dainik Hindustan Advertisement Scam of Bihar.

न्यूज नेशन (यूपी-यूके) चैनल के हेड बने रंजीत कुमार, लांचिंग 26 जनवरी को

'न्यूज नेशन' चैनल से खबर है कि यूपी-उत्तराखंड केंद्रित रीजनल न्यूज चैनल के लिए हेड रंजीत कुमार को बनाया गया है. रंजीत पहले न्यूज नेशन के ही नेशनल चैनल में महत्वपूर्ण पद पर हुआ करते थे. उसके पहले वे महुआ में थे. बताया जा रहा है कि न्यूज नेशनल यूपी यूके चैनल की लांचिंग छब्बीस जनवरी को की जाएगी. इसके लिए भर्तियों का काम लगभग पूरा हो चुका है और पूरी टीम जमकर काम कर रही है.

इस मुल्‍क के धर्मगुरुओं और मर्दों की तरह कोर्ट की सूई भी 18वीं सदी में कहीं अटक गई है

Manisha Pandey : क्‍या होगा, अगर लड़कियां कोर्ट की बात को दो कौड़ी का मानती रहीं और प्रीमैरिटल सेक्‍स से परहेज नहीं किया? क्‍या होगा, अगर लड़कियां बिना शादी के भी मां बनने का फैसला लेने लगीं? क्‍या होगा अगर लड़कियां खुद ये तय करने लगीं कि वो कब, कहां, कैसे मां बनेंगी? क्‍या होगा, अगर बच्‍चा मां के नाम से जाना जाए?

श्री न्यूज का हाल बेहाल, ऑफिस का किराया देना तक हुआ मुश्किल

श्री न्यूज के सितारे इन दिनों गर्दिश में चल रहे हैं. जहां एक तरफ चैनल में काम कर रहे लोगों को सैलरी समय से नहीं मिल रही है तो वहीं दूसरी तरफ इस चैनल के देहरादून ब्यूरो के ऑफिस का किराया ६ महीने से नहीं दिया गया है.

वो अपनी बेटी का पति बन गया!

Balendu Swami : मेरठ के समीप एक व्यक्ति की पत्नी के तीन साल पहले मर जाने पर वह व्यक्ति अपनी सबसे बड़ी बेटी के साथ बलात्कार करता रहा, वह जब सात महीने की गर्भवती हो गई तब लोगों को मालुम पड़ा! पंचायत ने शरिया कानून के अनुसार फैसला सुनाया कि शारीरिक सम्बन्ध बनाने के कारण यह पिता अब इस लड़की का पति बन गया है, और अब तुम लोग पति-पत्नी की तरह कहीं और जाकर रहो!

गलत खबर पर बिफरे पटना के एसएसपी, मानहानि का मुकदमा करने की सलाह दी

पटना के एसएसपी मनु महाराज पटना से प्रकाशित एक अखबार में रविवार को छपी एक खबर से इतने बिफरे की उन्होंने इस मामले के शिकायतकर्ता बबलू पांडेय को इस अखबार पर मानहानि का मुकदमा दायर करने की सलाह दी. इस अखबार ने रविवार को ये खबर छापी की विधायक अनंत सिंह के करीबी राजीव सिंह हत्याकांड में पुलिस कुख्यात बबलू पांडेय की तलाश कर रही है जबकि बबलू पांडे राजनीती और समाज सेवा से जुड़े एक प्रतिष्ठित व्यक्ति हैं.

भारत के आखिरी गांव में शंभूनाथ शुक्ल की एक रात

मौजा मुकबा, डाकखाना हर्षिल, तहसील भटवारी जिला उत्तरकाशी। यह एक पहचान है उस गांव की जो भारत का आखिरी गांव है। यहां से थोड़ा ऊपर चढऩे पर नेलांग चौकी है जहां से चीन की सीमा शुरू हो जाती है। इस मुकबा में सेब के बगीचे हैं और नीचे हर हर बहती भागीरथी नदी। लेकिन इस गाँव की एक और पहचान है कि यह गंगोत्री मंदिर के पुरोहितों यानी सैमवाल ब्राह्मणों का गांव है और ये इतने जिद्दी और अहंकारी होते हैं कि न तो सरकार की परवाह करते हैं न किसी सेठ साहूकार की।

समाजसेविका डॉ. नूतन ने केजरीवाल से पूछा सरकारी प्रेस कांफ्रेंस में कुमार विश्वास का क्या काम ?

लखनऊ की एक सामाजिक कार्यकर्ता डॉ. नूतन ठाकुर ने दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को 1992 बैच के आईएएस अधिकारी विजय कुमार, मुख्य कार्यकारी अधिकारी, दिल्ली जल बोर्ड द्वारा स्थापित शासकीय नीति और व्यवस्था के विरुद्ध शासकीय कार्यों में राजनैतिक व्यक्तियों को सम्मिलित किये जाने के संबंध में जांच करा कर उत्तरदायित्व निर्धारित करने का निवेदन किया है.

सिर्फ एक केजरीवाल से नहीं सुधरेगा देश

आओ-आओ, नाटक देखो। नाटक देखो। नाटक देखो, जी। यह आवाज किसी नाटक के मंच, सिनेमा के परदे से या फिर किसी ध्वनि प्रदूषण वाले माइक से नहीं बल्कि कनाट प्लेस के सौ साल पुराने ओडियन सिनेमा के सामने जुटे समवय लडके-लडकियों की झूंड से आ रही है। संवेद आवाज लगाने वाले दस-बारह तमाशाईयों के हावभाव में जबरदस्त उत्साह हैं। देखते देखते पहली जनवरी के स्याह सर्द रात में ड़ेढ दो सौ दर्शक जमा हो जाते हैं। पहले तो समझ आता है कि काले लिबास वाली युवा टोली सिनेमा जाने वालों से एतराज जताने पहुंची हैं और कहने आई हैं कि मनोरंजन के लिए कभी-कभार मंडी हाउस भी जाया करो। नाटक करने वालों का प्रोत्साहन किया करो। नाटक बचेगा, तो सिनेमा बढ़ेगा। इतना भर पैगाम होता तो भी गलत नहीं था।

यादे! कितने सरल और सहज थे अतुल माहेश्वरी

अतुल जी मालिक कम, मगर दोस्त जैसे ज्यादा थे !

आज स्व. अतुल माहेश्वरी जी की तीसरी पुण्य तिथि है। तीन साल हो गए। मगर उनके साथ के कई संस्मरण ऐसे हैं, जो जीवन भर याद रहने वाले हैं। उन संस्मरणों को याद करते वक्त कभी-कभी यह यकीन ही  नहीं होता है कि ये यह सब यादें एक मालिक और नौकर के बीच की है! उनके व्यक्तित्व की सबसे बड़ी ख़ास बात यही थी कि उन्होंने न तो खुद कभी छोटे से छोटे से कर्मचारी के साथ एक मालिक के अहंकार कोखुद पर लाद कर बात की और न ही कभी खुद यह अहसास किया कि वह एक अखबार के मालिक हैं और सामने वला उनका नौकर। अक्सर यही होता था कि एक स्वाभविक संकोच और दूरी बनाने में भी मुश्किल सी आती थी। अपने शहर से लेकर प्रदेश और देश के तमाम मुद्दों पर और उन पर स्टैंड लेने का उनका अंदाज़ अक्सर एक अखबार मालिक का नहीं था, ऐसा लगता था कि था कि जैसे कोई जनाधिकार वादी किसी से भी टकराव लेने में संकोच नहीं करता और हाँ शर्त यह है कि मुद्दा जनहित का और सत्य पर आधारित होना चाहिए। उन्होंने समझौते नहीं किये ऐसा नहीं है, मगर उन्होंने यह देख लिया कि अखबार के पार्ट पर कमी रह गयी है। जितने सख्त थे उससे कहीं जयादा नरम। मुझे तो अपने एक कर्मचारी की हैसियत से की वह तमाम बातें याद हैं जो अक्सर हतप्रभ कर जाती थी और हृदयपटल पर अंकित हो गयीं हैं।

अब आप सीएम हैं, आयकर अधिकारी की मानसिकता से बाहर आइए

अरविन्द 'हलफनामा स्कैम' को डायवर्ट करने के लिए लोग अब अन्य मुख्यमंत्रियों के निवास की बात कर करके अरविन्द को क्लीन चिट देना चाहते हैं. 'आन्तरिक लोकपाल' मानो नए-नए रूपों में प्रकट हो रहा है. ऐसे आदेशपालों से साफ़ कहिये की शाखामृग की तरह इधर-उधर उछलने से नहीं काम चलेगा. यहाँ सवाल बंगले की भव्यता का नहीं बल्कि हलफनामे के उल्लंघन का है जो कानूनन भी दंडनीय है. कार्य की प्रकृति के अनुसार इमारतों में रहना कोई बुरी बात नहीं है. महात्मा गांधी दिल्ली के बिरला हाउस में रुकते थे. शायद वो दिल्ली की उस समय सबसे भव्य इमारत रही होगी. निधन भी उनका वहीं हुआ. तो क्या इससे गांधी की सादगी पर कभी सवाल पैदा हुआ? सवाल सादगी या भव्यता का नहीं बल्कि झूठ और धोखाधड़ी का है. गलत हलफनामा देकर लोगों को गुमराह करने का है.

अधिकतम सीटों पर प्रत्याशी उतारेगी ‘आप’, अरविंद नहीं लड़ेंगे चुनाव

नई दिल्ली: दिल्ली के मुख्यमंत्री और 'आम आदमी पार्टी' के संयोजक अरविंद केजरीवाल ने कहा कि वह खुद लोकसभा चुनाव नहीं लडेंगे बल्कि पार्टी के उम्मीदवारों का प्रचार करेंगे। अपनी राष्ट्रीय रणनीति को सामने रखते हुए 'आप' ने शनिवार को कहा कि पार्टी आगामी लोकसभा चुनावों में ज्यादातक राज्यों की अधिकतम सीटों पर अपना प्रत्याशी मैदान में उतारेगी। उम्मीदवारों की पहली सूची अगले 10-15 दिन में जारी कर दी जाएगी।

वीरभद्र ने स्कूटरों से बाज़ार पहुंचाए करोड़ों के हिमाचली सेब

धर्मशाला: रिश्वत लेने के आरोपों से घिरे हिमाचल प्रदेश के मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह की परेशानियां और बढ़ने वाली हैं। उनके खिलाफ जांच में यह बात सामने आई हैं कि अपने बागान के करोड़ों रुपये के सेब की, उन्होंने टू-वीलर्स और तेल टैंकर से ढुलाई करवा ली। यह ठीक वैसा ही हास्यास्पद मामला है, जिस तरह से बिहार में चारा घोटाले की जांच में यह बात सामने आई थी कि सॉंडो को स्कूटर से एक जगह से दूसरी जगह ले जाया गया था।

उत्तर प्रदेश में सूचना आयुक्तों की नियुक्ति को हाई कोर्ट में चुनौती

आईपीएस अधिकारी अमिताभ ठाकुर ने उत्तर प्रदेश सूचना आयोग में सूचना आयुक्तों के चयन की प्रक्रिया को आज इलाहाबाद हाई कोर्ट की लखनऊ बेंच में चुनौती दी है.

दैनिक जागरण वालों ने भी फोटो समेत छाप दिया- निशिकांत ठाकुर सेवानिवृत्त

निशिकांत ठाकुर को दैनिक जागरण से निकाले जाने की खबर दैनिक जागरण वालों ने भी छाप दी है, लेकिन प्यार से. निशिकांत ठाकुर के जाने की खबर जागरण में छापे जाने का सीधा मतलब ये है कि निशिकांत ठाकुर के नाम पर दुकानदारी करने वालों और निशिकांत ठाकुर के नाम को दैनिक जागरण अखबार समझने वालों, अब संभल जाओ, अब समझ जाओ, ठाकुर का दौर खत्म. कुल मिलाकर यही संदेश दिया गया है. खबर के साथ निशिकांत ठाकुर की तस्वीर भी है, ताकि सब फोटो व नाम दोनों के आधार पर जान लें कि पत्रकारिता को भड़ैंती व दलाली का अड्डा बना देने वाला शख्स अब जागरण के साथ नहीं रहा. नीचे वो खबर है जो दैनिक जागरण की वेबसाइट पर है.

-यशवंत, एडिटर, भड़ास4मीडिया

जनसंदेश टाइम्स, गोरखपुर से रत्नेश और विनय रंजन का इस्तीफा

गोरखपुर : जनसंदेश टाइम्‍स गोरखपुर में सीनियर सब एडिटर के पद पर कार्यरत रत्‍नेश श्रीवास्‍तव और सब एडिटर विनय रंजन तिवारी ने शुक्रवार को संस्‍थान का साथ छोड दिया. लगातार पांचवें दिन भी लोगों के संस्‍थान छोड़कर जाने का सिलसिला रुकने का नाम न‍हीं ले रहा है.

भास्कर टीवी : देहरादून में हुआ दलाली का साक्षात्कार

आज मुझे एक मित्र ने बताया कि राजधानी में एक राष्टीय न्यूज़ चैनल के लिए साक्षात्कार हुआ. इसमें कई नौजवान पत्रकार साथी शामिल हुए. उनका इस न्यूज़ चैनल से जुड़ने का कारण था कि इसमें एक ऐसे शख्स संपादक बने हैं जो हाल में ही एक चैनल में ठीकठाक एंकर हुआ करते थे. इन्हें देखकर लोगों ने सोचा कि इनसे जुड़कर कुछ नया सीखने को मिलेगा. यह चैनल एक बड़े अखबार समूह के पार्टनर के द्वारा लाया जा रहा है और ब्रांड नेम अखबार का नाम ही है.

1936 में हजरतगंज में पुलिस लाठी खाने वाले इशरत अली सिद्दीकी को प्रशासन स्वतंत्रता संग्राम सेनानी नहीं मानता

लखनऊ, 04 जनवरी। वरिष्ठ पत्रकार स्वर्गीय इशरत अली सिद्दीकी को आज यू.पी. प्रेस क्लब में आयोजित शोक सभा में भावभीनी श्रद्धांजलि अर्पित की गयी। इस अवसर पर यू.पी. प्रेस क्लब ने उनके सम्मान में अच्छी पत्रकारिता के लिए हर वर्ष एक अवार्ड देने की घोषणा की। सभा ने एक प्रस्ताव द्वारा दिल्ली उर्दू अकादमी से मांग की कि उर्दू पत्रकारिता अवार्ड इशरत अली सिद्दीकी के नाम पर दिया जाय।

चेकपोस्ट वाले कह रहे हैं- कौन चेक करेगा मंत्रियों और विधायकों की गाड़ियां (देखें वीडियो)

उ0प्र0 के बलिया में यूपी बिहार सीमा के चेक पोस्ट पर समाजवादी पार्टी के मंत्री और नेताओं के रिश्तेतारों की गाड़ियां रोजाना राजस्व का चूना जमकर लगा रही हैं। चेकपोस्ट पर इनकी गाड़ियां बिना किसी रोकटोक और बिना किसी गेट पास के ही धड़ल्ले से दो राज्यों में आरपार करती नजर आ रही हैं।

जेपी जोशी प्रकरण में चैनल वन वालों की याचिका खारिज

नैनीताल से खबर है कि हाईकोर्ट ने अपर सचिव जेपी जोशी यौन शोषण प्रकरण में जांच के नाम पर दिल्ली स्थित पाल न्यूज मीडिया प्राइवेट लिमिटेड चैनल वन के कर्मचारियों के पुलिस उत्पीड़न के मामले में दायर याचिका को आधारहीन पाते हुए खारिज कर दिया है.

वरिष्ठ पत्रकार कुमार केतकर ने मोदी को नफरत का प्रतीक बताया, बीजेपी भड़की

समाचार एजेंसी भाषा की मुंबई से जारी खबर के अनुसार भारतीय जनता पार्टी के लोग महाराष्ट्र के वरिष्ठ पत्रकार कुमार केतकर से काफी नाराज हैं. महाराष्ट्र विधान परिषद में विपक्ष के नेता विनोद तावडे ने बीजेपी के मुख्यमंत्री पद के उम्मीदवार नरेंद्र मोदी को कथित रूप से नफरत के प्रतीक बताने वाले बयान पर दिग्गज पत्रकार कुमार केतकर की आलोचना की.

लगता है रिफाइनरी के ​हाथों बीना का मीडिया बिक गया है!

बीना। खबर न छापने के लिए रिफाइनरी प्रबंधन इन दिनों पत्रकारों पर बड़ा मेहरबान है। गैस लीकेज की खबरें छपीं तो प्रेस क्लब को दो लाख का चैक दिया। अध्यक्ष समेत अन्य पत्रकार गर्मजोशी से लेने भी पहुंचे। एक इलेक्ट्रॉनिक मीडिया के पत्रकार तो रिफाइनरी के पैसों से गांवों की नालियां साफ करने में लग गए।

भारत के इतिहास का मनमोहन युग.

प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह द्वारा अपने आख़िरी कार्यकाल से कुछ महीने पहले पत्रकारों को संबोधित करते हुए खुद के मूल्यांकन के लिए सबसे ज्यादा भविष्य के इतिहासकारों पर भरोसा जताना उचित ही था. आत्मविश्वास से डिगा हुआ व्यक्ति जैसे अपने आख़िरी राहत के रूप में इश्वर को याद करता है कांग्रेस जिस तरह हर कुकर्म के बाद धर्मनिरपेक्षता के बुरके में छुप जाती है वैसे ही एक कलंकित व्यक्तित्व के लिए यह उचित ही है कि वो भविष्य के इतिहासकारों पर सारा दारोमदार सौंप दें. अनुभव भी यही कहता है कि वाम पोषित इतिहासकारों ने ऐसे तत्वों को कभी निराश भी नहीं किया हो. चाहे हिंदुओं द्वारा गाय खाने की बात हो. वेद को गरडियों का गान कहने की या ‘आर्य बाहर से आये’ जैसे तथ्यों को स्थापित करने की. थके-हारे गिरोहों को वाम इतिहासकारों ने उनकी सुविधा के अनुसार हमेशा तर्क उपलब्ध कराया है. तो अगर 200 साल बाद भी वामपंथ ज़िंदा रहा तो निश्चय ही मनमोहन सिंह भी निराश नहीं होंगे. उनके उम्मीदों का इतिहास कुछ ऐसा लिखा जा सकता है:-

इमर्जेंसी को समझने के लिए “नसबंदी” या “कटरा बी आर्जू” बांच लीजिए

न संजय, न विचार, न मंच, यानी लुटियाचोरों की पौ-बारह यादों के कब्रिस्तान में सड़ांध मारता संजय-मेनका का धंधा लुच्चा कांग्रेसियों का लै-मार संगठन था संजय विचार मंच किसी भी चुनाव के रंगारंग मौके पर यादों के कब्रिस्तान से संजय विचार मंच जैसी सड़ी-गली और बेतरह दुर्गंध फैलाती लाश की याद आ ही आती है. वजह यह कि पिछले 35 बरसों के बीच के राजनीति-अखाड़ा में इतना कोई बदबूदार संगठन नहीं मिला है, जितना संजय विचार मंच.

महुआ वालों ने मेरे जीते हुए साढ़े छह लाख रुपये हड़प लिए

संपादक, भड़ास4मीडिया. महोदय, मैं अपनी पीड़ा बताना चाहता हूं. मेरा नाम कमल किशोर है. मैं झारखंड के धनबाद जिले का निवासी हूं. मैंने महुआ टीवी दवारा प्रसारित 'के बनी कडोड़पति' के माधयम से 6.40 लाख रुपये जीता था. आज दो साल बीत जाने के बाद भी मुझे एक पैसे का दर्शन नहीं हुआ.

उमेश जोशी ‘एसटीवी हरियाणा न्यूज’ से हटाए गए, दीपांशु और दानिश खान की नई पारी

एसटीवी हरियाणा न्यूज से खबर है कि एडिटर इन चीफ उमेश जोशी को मैनेजमेंट ने फायर कर दिया है. सूत्रों का कहना है कि उमेश को निकाले जाने के पीछे उनका चैनल में कार्यरत दूसरे लोगों से लगातार अनबन रखना है. उन्हें कल बोल दिया गया कि वे खुद इस्तीफा दे दें अन्यथा निकाल दिया जाएगा. बताया जाता है कि जोशी जी ने इस्तीफा लिखकर चैनल को छोड़ दिया.

एबीपी न्यूज़ की हिंदी वेबसाइट में काम कर रहे वरुण ने अमर उजाला ज्वाइन किया

एबीपी न्यूज़ की हिंदी वेबसाइट में काम कर रहे वरुण कुमार ने अमर उजाला ज्वाइन कर लिया है. अमर उजाला की हिंदी वेबसाइट में उनको सीनियर सब एडिटर / सीनियर रिपोर्टर की जिम्मेदारी सौंपी गई है. एबीपी न्यूज़ में वे बतौर जूनियर कंटेंट एक्ज़ीक्यूटिव काम कर रहे थे. वे जुलाई 2010 से स्टार न्यूज़ (एबीपी न्यूज़) के साथ जुड़े हुए थे. उन्होंने बतौर ट्रेनी स्टार न्यूज़ ज्वाइन किया था.

बेचारे विनोद कापड़ी…. बेचारे एसएन विनोद… वक्त ने किया क्या हसीन सितम….

वक्त जो न करा दे. खुद को बेबाक बोलने लिखने वाला बताने वाले वरिष्ठ पत्रकार एसएन विनोद को ये दिन भी देखना पड़ेगा और देखकर चुपचाप सहना पड़ेगा, किसी ने उम्मीद न की थी. इंडिया टीवी से हटाए गए विनोद कापड़ी मजबूरी वश जब साईं प्रसाद के न्यूज चैनल 'न्यूज एक्सप्रेस' में सीईओ व एडिटर इन चीफ बनाए गए तो सबने ये सोचा था कि वरिष्ठ पत्रकार एसएन विनोद या तो इस्तीफा दे देंगे या फिर प्रबंधन उन्हें कापड़ी को रिपोर्ट करने की मजबूरी से मुक्त रखेगा. पर दोनों न हुआ.

श्री न्यूज के एच.आर और स्ट्रिंगरो के बीच गाली-गलौज, साल भर से नहीं हुआ पेमेंट

उत्तर प्रदेश और उत्तराखंड बेस रीजनल न्यूज चैनल श्री न्यूज की हालत नए साल में और खराब होती दिख रही है. आलम ये है कि अब श्री न्यूज के एच.आर विभाग के लोग आये दिन फोन पर गालियां सुन रहे हैं. दरअसल हुआ ये है कि श्री न्यूज में पिछले अक्टूबर महीने के बाद से …

Justice for former journalist Charu Deshpande

The filing of a First Information Report (FIR) by the Thane (Rural) Police against Tata Steel official Prabhat Sharma and registration of an offence under Section 306 of the IPC for abetment of the suicide of former journalist and PR executive Charudatta Deshpande, though inordinately delayed, has been welcomed by the Press Club, Mumbai. Home Minister R R Patil had ordered a police investigation after the Press Club, senior journalists and other corporate colleagues drew his attention to the suspicious circumstances and threats that Charu Deshpande faced at his work place in Tata Steel, Jamshedpur before he took his life on June 28, this year.

केजरीवाल ‘आम’ नहीं हैं!

मुख्यमंत्री बनते ही अरविंद केजरीवाल ‘आम’ से ‘खास’ हो गए हैं। विचार से लेकर व्यवहार में भी खास हो गए हैं। उनके दावों की पोल मुख्यमंत्री बनने के पहले ही सप्ताह में खुलने लगी है। सत्ता को सेवा बताने वाले केजरीवाल ने दावा किया किया था कि उनके, मंत्री विधायक सत्ता में आने के बाद बंगले नहीं लेंगे, लाल बत्ती की सरकारी गाड़ी नहीं लेंगे। लेकिन बहुमत साबित होने के बाद ‘आप’ के रंगढंग बदल गए। बहुत साबित करने के दिन रिक्शा में विधानसभा आने वाले अब बड़ी गाड़ियों में विधानसभा आएंगे। इन लोगों को अब सरकारी वीआईपी गाड़ियों से कोई परहेज नहीं!

सोनभद्र में मार्निंगवाक करते कप्‍तान ने अखबार विक्रेता को कूट दिया

सोनभद्र के चुर्क में पुलिस कप्‍तान ने एक पत्रकार कम अखबार विक्रेता को महज इस अपराध पर बुरी तरह धुन दिया कि उसने प्रात:भ्रमण से निकले कप्‍तान को 'चच्‍चा गोड़ छुईं' कह कर अभिवादन कर दिया था। बाद में रिटायरी पर पैर लटकाये बैठे इस कप्‍तान ने पत्रकारों के सामने भड़कते हुए जवाब दिया कि इस साले ने मेरे पैर टच करने की हिमाकत की थी, इसीलिए मैंने उसे उसकी औकात बता दिया। बहरहाल, इस घटना को लेकर पूरे जिले में भारी चर्चा छेड़ चुकी है। खबर है कि अब लोग इस कप्‍तान की बाकी करतूतों का अनावरण करने पर भी आमादा हैं।

लचर प्रधानमंत्री हैं डॉ. मनमोहन सिंह

देश के प्रधानमंत्री डॉ. मनमोहन सिंह ने एक बार फिर देशवासियों को निराश किया है. जिस प्रकार प्रेस कान्फ्रेंस में उनकी लाचारी व बेबसी साफ तौर पर उनके चेहरे पर दिख रही थी. प्रधानमंत्री के पद से इस्तीफे की अटकलों पर विराम लगाते हुए उन्होंने साफ कर दिया की वह कांग्रेस को नये पीएम उमीदवार को जिम्मेदारी सौपने को तैयार हैं.

केजरीवाल, इनसे सतर्क रहियो, अपना काम दिखाओ

Om Thanvi : मंत्री का काम एक बड़ी जिम्मेदारी है, बेहिसाब लोग अपनी समस्याएं लेकर उनके पास पहुँचते हैं। मंत्री या उनके दोस्त-दुश्मन कुछ भी कहते हों, उनके पास एक अलग ठिकाना होना चाहिए। उनको वाहन और सुरक्षा भी मुहैया की जानी चाहिए। यह शासन का दायित्व है। लालबहादुर शास्त्री से अधिक सादगी वाला कौन होगा? पर घर-सुरक्षा उन्होंने ने भी ली थी।

तीन संपादक टाइप लोग इन दिनों ‘वांटेड’ हैं… देखिए पोस्टर

Yashwant Singh : तीन संपादक टाइप लोग इन दिनों 'वांटेड' हैं… गुड़गांव में इनके पोस्टर चिपकाए गए हैं… नोएडा में अखबारों के साथ लोगों के घरों में इनके कारनामों से संबंधित पंफलेट गिराए भेजे जा रहे हैं… आखिर जिस किस्म का इन लोगों ने अपराध किया है, उसमें इनकी गिरफ्तारी तो बनती ही है… अखबारों में इससे संबंधित खबर लगातार छापे जाने की नैतिकता तो बनती है… टीवी पर इन लोगों के अपराध से संबंधित डिबेट कराए जाने का पैमाना तो बनता है…

वेस्ट बंगाल पुलिस ने आरोपियों को पीड़िता से दुबारा दुष्कर्म करने और जला मारने के लिए उकसाया था!

Chandan Srivastava : पश्चिम बंगाल में नाबालिग लड़की के साथ जो कुछ हुआ, उसके बाद पुलिस की कार्यशैली से मन बहुत व्यथित है. बताया जा रहा है कि दुष्कर्म करने वाले आरोपी सत्ताधारी दल से ताल्लुक रखते थे. वो गिरफ्तार हो चुके हैं, उन पर तो फैसला अदालत करेगी. लेकिन दोस्तों पुलिस की भूमिका इस मामले मे कुछ कम सन्दिग्ध नहीं है. दुष्कर्म की शिकायत के लगभग तुरंत बाद वही आरोपी पीड़ित लड़की के साथ पुनः दुष्कर्म करते हैं, फिर से शिकायत के बाद उसे जलाकर मार डालते हैं.

केजरीवाल में सचमुच एक गांधी या अन्ना होता तो वह सरकारी घर लेने के बारे में सोचते तक नहीं

Yashwant Singh : चलिए, हमारे आपके दबाव में केजरीवाल को अकल आ गई… दोस्तों, सच्चा पत्रकार वही होता है जो अच्छाई की बिना किसी लालसा तारीफ करे और बिना किसी भय बुराई को कोसे… उम्मीद करते हैं कि केजरीवाल कम से कम उन बातों वादों से तो नहीं हटेंगे, खिसकेंगे, बदलेंगे जो उन्होंने जनता के सामने लिखित में कही है… उसी में से सरकारी घर और सरकारी गाड़ी न लेने का वादा था… अगर केजरीवाल में सचमुच एक गांधी होता तो वह यह सोचता ही नहीं कि उसे सरकारी घर चाहिए…

उत्तराखंड सूचना निदेशालय के घोटालेबाजों के खिलाफ पुलिस में शिकायत

उत्तराखंड में घपले-घोटालों का सिलसिला अनवरत जारी है। भ्रष्ट नौकरशाही और राजनेताओं की चमड़ी कमीशनखोरी करते-करते इतनी मुठिया चुकी है कि उन पर न तो किसी जांच रिपोर्ट का असर होता है और न ही उन्हें रत्तीभर शर्म ही महसूस होती है। कमीशनखोरी, घपले-घोटालों के लिए कुख्यात सूचना महकमे में बैठे भ्रष्ट अफसर तो इतने …

टेलीफोन हुआ सस्ता तो रेलवे और बिजली मंहगी क्यों!!

नब्बे के दशक के मध्य में एक नई चीज ईजाद हुई थी पेजर। बस नाम ही सुना था। जानकारी बस इतनी कि इसके माध्यम से संदेशों का आदान-प्रदान किया जा सकता था। दुनिया पेजर को जान-समझ पाती, इससे पहले ही मोबाइल फोन अस्तित्व में आ गया। हालांकि शुरू में इसे सेल्यूलर या सेल फोन के नाम से जाना जाता था। कुछ बड़े लोगों तक सीमित इस फोन से काल रिसीव करने का भी चार्ज लगता था। इस चार्ज के हटने पर मोबाइल फोन की पहुंच आम-आदमी तक हो गई।

ममता बनर्जी की मौजूदगी में पिटे पत्रकार, प्रेस क्लब ने की निंदा

कोलकाता के राज्य सचिवालय नवान्न भवन में गुरुवार दोपहर को पुलिस ने प्रशासनिक कैलेंडर के लांचिंग कार्यक्रम के बाद हुए फोटो सेशन के दौरान पत्रकारों के साथ मारपीट की. इसमें एक पत्रकार का सिर फट गया व एक अन्य घायल हो गया. घटना के समय मुख्यमंत्री ममता बनर्जी व राज्यपाल एम.के. नारायणन भी वहां उपस्थित थे.

मीडिया पर भडके वीरभद्र बोले, आई विल पुट यू इन द कार एंड सेंड टू चंडीगढ़

ऊना : हिमाचल प्रदेश के सीएम वीरभद्र सिंह इन दिनों अपने दामन पर लगे दागों को लेकर इस कदर परेशान है कि, उन्हें वो अपने गुस्से पर भी काबू नहीं कर पा रहे हैं. वीरभद्र सिंह अपने और पत्नी पर लगे भ्रष्टाचार के आरोपों पर मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह लगता है पूरी तरह बौखला गए हैं.

नक्सली हमले के शिकार पत्रकारों को शहीद का दर्जा दिलाने के लिए संघर्ष जारी

30 दिसंबर को राजधानी मार्च (रायपुर) तमाम जेबी पत्रकार संघ के असहयोग और असफल करने की कोशिश के बाद भी सफल रहा. स्व. नेमीचंद जैन और स्व. साई रेड्डी को शहीद का दर्जा देने की मांग को लेकर बूढ़ा तालाब स्थित धरना स्थल पर हमेशा सत्य-संघर्ष को प्रोत्साहित करने वाले वरिष्ठ पत्रकार व साहित्यकार आदरणीय गिरीश पंकज की उपस्थिति से मिडिया की स्वतंत्रता और सम्मान के लिए शुरू किये गए इस संघर्ष को ताकत मिली.

जनसंदेश टाइम्‍स में घमासान बढ़ा, इलाहाबाद से आनंद नारायण गए

पिछले दिनों जनसंदेश में बतौर सीईओ ज्वाइन करने के तुरंत बाद ही आरपी सिंह ने यहां की गंदगियों को एक-एक कर साफ करना शुरू कर दिया। दरअसल, जनसंदेश टाइम्स के मालिक अनुराग कुशवाहा ने ‘सफेद हाथी’ साबित हो रहे अखबार को पटरी पर लाने के लिये उन्हें खासतौर पर और विशेष उम्मीद के साथ बुलाया था। बताते हैं कि वह सारी यूनिटों के कर्ता-धर्ताओं को समझा-समझाकर थक-हार चुके थे लेकिन अखबार में कोई सुधार नहीं हुआ।

केजरीवाल के दिखाने और खाने के अलग-अलग दांत सामने आ गए

Pankaj Chaturvedi : हाथी की खाने के दांत ये हैं… अभी तक तो दिखने वाले दांतों से खूब वाहवाही लूट रहे थे केजरीवाल जी, ज़रा गौर करें…  बंगले से ज्यादा बड़ी जगह पर रहेंगे केजरीवाल, मिला 10 कमरे का डुप्‍लेक्‍स… सरकारी बंगले को लेने से मना कर चुके दिल्‍ली के मुख्‍यमंत्री अरविंद केजरीवाल को रहने के लिए 10 कमरे का डुप्‍लेक्‍स मिल गए हैं। 6 हजार वर्ग फीट में रहने की जगह और 9 हजार वर्ग फीट में इसका ग्राउंड होगा।

वाह…’आप’ तो सबके ‘बाप’ निकले… आखिर आ ही गए औकात पर…

Usmaan Siddiqui :  अब तो मरने को दिल चाहता है.. वाह…"आप" तो सबके "बाप" निकले… आखिर आ ही गए औक़ात पर… झूठा ढ़ोंग करके सबको ग़लत साबित किया और बड़ी चालाकी से ख़ुद अमर हो गए…ये तो कोई बात नहीं हुई राजधानी दिल्ली के माननीय (पाखंडी) मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल जी…"आप" तो ऐसे ना थे…जिसके चलते अब तक मैं और जनता "आप" के समर्थन में थे… लेकिन ये क्या…"आप" ने तो चार दिन में ही अपना नक़ाब उतार फेंका और अपनी असलियत पर आ गए…

अगर निशिकांत जी दोषी कहलाएंगे तो फिर संजय गुप्ता भी दोषी हुए!

जागरण नोएडा से देर शाम खबर मिली कि निशिकांत जी रिटायर हो गए। खबर पक्की की खुद निशिकांत जी ने। यानी, सचमुच निशिकांत जी के बगैर अब जागरण निकलेगा। कैसा लग रहा होगा निशिकांत जी को। 35 साल। 35 साल में दिल्ली में प्रकाशक की हैसियत से करीब 24 साल तक काम करने वाले पुरुष।

Wanted Posters of Deepak Chaurasia, Ajit Anjum and Ajay Kumar

प्रिय यशवंत जी… नया साल मुबारक हो… गुड़गांव में मीडिया के दिग्गजों के वांटेड के पोस्टर लगाए गए हैं। जागृत महिला संगठनों द्वारा गुड़गांव के स्कूलों की दीवारों पर… नगर निगम के दफ्तर की दीवारों पर… सिविल अस्पताल के गेट पर दीपक चौरसिया… अजीत अंजुम… अजय कुमार के वांटेड के पोस्टर लगा दिए गए।

अमर उजाला देहरादून में कई लोगों को प्रमोशन, कुछ का तबादला

अमर उजाला देहरादून से खबर है कि संस्थान में कई लोगों को प्रमोशन दिया गया है. संस्थान में भुवन उपाध्याय, विनोद नौटियाल और पुनीत को प्रमोशन देकर सीनियर सब एडिटर बना दिया गया है. वहीं ओम प्रकाश तिवारी का प्रमोशन करके न्यूज एडिटर बनाए जाने की खबर है, हालांकि इसकी पुष्टि नहीं हो पाई है.

आदरणीय केजरीवाल साहब, हमें आदत है बड़े लोगों को बड़े घरों में देखने की

Ashok Kumar Pandey : आदरणीय केजरीवाल साहब, सादर नमस्कार… हमें इस बात से सच में कोई फर्क नहीं पड़ता कि आप अपनी रिहाइश कहाँ बनाएँगे. कमरे चाहे कितने हों आपके घर में या लोकेशन चाहे जो हो उसकी…फर्क नहीं पड़ता हमें. आदत है बड़े लोगों को बड़े घरों में देखने की. फर्क इस बात से पड़ता है कि कहीं आप इस पानी-बिजली वाली सब्सीडी को हम जैसों की जेब से न वसूलने लगें. कहीं आपके राज में भी दिल्ली वालों को घूस देकर काम न करवाना पड़े. कहीं आप उनके बीच रहते रहते उन जैसे न हो जाएँ.

कांग्रेस ने केजरीवाल की सरकार बनवाकर इसी परिपाटी का पालन किया और नतीजा सामने है

Ravindra Bajpai :  जब परिवार में कोई लड़का हाथ से निकलने लगता है तो बड़े बुजुर्ग उसकी शादी करवाकर उसे सांसारिक बन्धनों में बाँध देते हैं। कांग्रेस ने अरविन्द केजरीवाल की सरकार बनवाकर इसी परिपाटी का पालन किया। नतीजा सामने है:: चार दिन में ही दुनियादारी में उलझ गया। मकान, गाड़ी का इंतजाम करने लगा। धीरे धीरे और जिम्मेदारियाँ भी समझ जायेगा। अंत भला तो सब भला।

xxx

कल को ये केजरीवाल कहेगा कि उन लोगों ने सौ करोड़ खाया है, हम लोग तो पचास करोड़ में ही मान गए!

Sanjay Kumar : केजरीवाल साहब ने आज बताय है…उनका बंगला 9000 वर्गफुट का है…जबकि शीला दीक्षित का 6 एकड़ का था…कल बताएंगे…उन्होंने कॉमनवेल्थ में 100 करोड़ खाया था…हम बिजली वालों से 50 करोड़ में ही मान गए…और जनता का पैसा एक जेब से निकालकर दूसरे जेब में डाल दिए…पानी का ऐसा इंतजाम किया है कि…आदमी को पानी देखकर खौफ हो…मानो किसी पागल कुत्ते ने काट खाया हो…

आम आदमी पार्टी के नेताओं के सत्‍ता सुख के लिए धीरे-धीरे पसरते हाथ

सूरज प्रकाश : आम आदमी पार्टी के नेताओं के सत्‍ता सुख के लिए धीरे धीरे पसरते हाथ देख कर जार्ज आर्वेल के शानदार उपन्‍यास एनिमल फार्म की बहुत याद आ रही है। सारे के सारे पात्र वहां मौजूद हैं। जो संवाद आज बोले जा रहे हैं, वे 65 बरस पहले के इस उपन्‍यास में जस के तसपढ़े जा सकते हैं। उपन्‍यास www.hindisamay.com पर पढ़ा जा सकता है।

साहित्यकार सूरज प्रकाश के फेसबुक वॉल से.

10 बेडरूम वाले 2 डुप्लेक्स में रहेंगे आम मुख्यमंत्री केजरीवाल

नई दिल्ली : आम आदमी पार्टी के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल आखिरकार भगवान दास रोड पर बने दो बड़े डुप्लेक्स में परिवार के साथ शिफ्ट होने जा रहे हैं। दिल्ली के नए सीएम के लिए अलॉट किए गए इन दोनों डुप्लेक्सों का साइज पूर्व मुख्यमंत्री शीला दीक्षित के बंगले के बराबर तो नहीं है लेकिन आम आदमी के घरों से तो काफी बड़ा है ही। इस तरह से केजरीवाल ने विपक्ष को सवाल उठाने का मौका दे दिया है, क्योंकि उन्होंने कहा था कि वह कोई बंगला नहीं लेंगे और आम आदमी की तरह रहेंगे।

‘आम आदमी’ जैसा नहीं है केजरीवाल का नया घर

नई दिल्ली। 7/6 डीडीए ऑफिसर्स कॉलोनी, भगवानदास रोड, नई दिल्ली। आम आदमी पार्टी के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल का यही होगा नया पता। लुटियंस दिल्ली में मुख्यमंत्री को मिलने वाला आलीशान सरकारी बंगला लेने से इनकार करने वाले अरविंद केजरीवाल को दिल्ली में सरकारी फ्लैट मिल गया है। शहरी विकास मंत्रालय के सूत्रों के मुताबिक केजरीवाल को एक दूसरे से सटे दो फ्लैट आबंटित हुए हैं। एक में उनका दफ्तर होगा और दूसरे में वो खुद रहेंगे। भगवानदास रोड पर बने ये दोनों फ्लैट ड्यूपले हैं।

जिया न्यूज से मनीष कुमार और सुरेश झा का इस्तीफा

जिया न्यूज से खबर है कि यहां से दो और लोगों ने इस्तीफा दे दिया है. सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक स्पोर्ट्स बीट देख रहे मनीष कुमार और एक अन्य सुरेश झा ने भी जिया को टाटा गुडबाय बोल दिया है. बताया जा रहा है कि इन दोनों पत्रकारों ने भी अंदरुनी उठापटक और खेमेबाजी के कारण इस्तीफा दिया है.

मनमोहन सिंह और अरविंद केजरीवाल में से ज्यादा बड़ा ढोंगी और धोखेबाज कौन है…

Manish Kumar : मनमोहन सिंह और अरविंद केजरीवाल में से ज्यादा बड़ा ढोंगी और धोखेबाज कौन है… आज मनमोहन सिंह का मुंह खुला, तो ऐसे ऐसे कुतर्क दिए कि दिमाग हिल गया.. वैसे इतिहास में उन्होंने अपनी जगह बना ली है.. इनका नाम सबसे काले अक्षरों में लिखा जाएगा.. क्योंकि यह देश के पहले ऐसे प्रधानमंत्री हैं जो झूठ बोलकर संसद में आए हैं.. ये ऐसे प्रधानमंत्री हैं जिनकी कोई सुनता ही नहीं है..

राजनीति से वीआईपी संस्कृति खत्म करने पर जोर देने वाले अरविंद केजरीवाल का नया पता जान लीजिए

Jai Prakash Tripathi : जल्दी-जल्दी…? राजनीति से वीआइपी संस्कृति समाप्त करने पर जोर देने वाले मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल का नया पता भगवान दास रोड स्थित फ्लैट नंबर-7/6, 7/7 होगा। डीडीए के इस 10 कमरे के सरकारी फ्लैट में तेजी से काम चल रहा है। 9 हजार वर्गफुट जमीन पर बने इस मकान में पांच-पांच कमरे के दो फ्लैट हैं।

पत्रकार जयप्रकाश त्रिपाठी के फेसबुक वॉल से.

अब कोई हमसे ‘आम आदमी पार्टी’ के पक्ष में कोई तर्क न करे क्योंकि…

Ashit Tyagi : अब कोई हमसे आम आदमी पार्टी पर कोई तर्क न करे :- १)इसने पहले बोला कि हम सरकारी बंगला नही लेंगे ,अब ये भगवन दास रोड पर डुप्लेक्स घर क्यों लिया, जो इन्होने सपथ -पत्र में लिख के दिया कि,सरकारी बंगला नही लेंगे.. 

अब ‘आम आदमी’ की परिभाषा बदल रही है…

Virendra Yadav : अब 'आम आदमी' की परिभाषा बदल रही है. रायल बैंक आफ स्काटलैंड की इण्डिया हेड मीरा सान्याल ने आम आदमी पार्टी में शामिल होने की घोषणा करते हुए कल कई मीडिया चैनलों पर कहा कि 'मैं आम आदमी हूँ. जो अपने परिवार की बेहतरी और बच्चों के अच्छे भविष्य का सपना देखता है वह आम आदमी है" .वे आर्थिक मसलों पर 'आप' के लिए काम करना चाहती हैं और नव उदारवादी आर्थिक नीतियों की समर्थक हैं.

झूठ भी बोलता है अरविंद केजरीवाल

Sanjay Tiwari : कल अरविन्द केजरीवाल ने दिल्ली विधानसभा में वीआईपी कल्चर को खत्म करने की बात कही. वे इसे खत्म कर भी रहे हैं. लेकिन जब वो जाम में फंसने वाली बात बोल रहे थे तब मुझे शीला दीक्षित याद आ रही थीं. मैंने कई दफा उनको आईटीओ की रेड लाइट पर जाम में फंसे हुए पाया है.

सच में फ्रॉड निकला अरविंद केजरीवाल…

Yashwant Singh : यकीन नहीं हो रहा है कि इतना जल्द गुब्बारा फूट जाएगा… सच में फ्रॉड निकला अरविंद केजरीवाल… जैसे उसने चुनाव लड़ने लड़ाने को कनॉट प्लेस पर एक बंगला ले लिया था, तो क्या उसी तरह अपने शुभचिंतकों, डोनेटरों, समर्थकों, चंदा जनित किरायों से कोई फ्लैट या बंगला या डुप्लेक्स या मकान हासिल नहीं कर सकता था .. आखिर क्यों सरकारी बंगला ही चाहिए.. अगर चाहिए था तो वादा क्यों किया था चुनाव में कि सरकारी बंगला नहीं लेंगे और न लेने देंगे…

जी न्यूज से निपट गए नवीन कुमार, जिया न्यूज के जरिए करेंगे पत्रकारिता

अपने बड़बोलेपन के लिए पहचाने जाने वाले नवीन कुमार को अंततः जी न्यूज से जाना पड़ा. उनके बुरे दिन काफी समय से चल रहे थे. अंततः उन्होंने मौके की नजाकत को समझते हुए जी न्यूज से पल्ला झाड़कर एक नए और विवादग्रस्त न्यूज चैनल जिया न्यूज का दामन थाम लिया है.

फ्री की चाय पिलाइए फिर देखिए इस ‘मनीषी’ पत्रकार की करामात

लखनऊ अजब गजब पत्रकारों की नगरी है. जो पत्रकारों के नेता हैं वो नेताओं के यहां चाटुकारिता करते हैं और जो पत्रकार हैं वह दूसरे भौकाली पत्रकारों के चिंटू बने रहते हैं. यानी यहां अजीब सी स्थिति है, पत्रकारिता के नाम पर दलाली होती है और ज्‍यादातर दलाल पत्रकार हैं. स्‍वार्थ में जितना गिरा जा सकता है तमाम पत्रकार गिरने को हर समय तैयार रहते हैं. ऐसे ही एक मनीषी पत्रकार हैं राजधानी से पांच-छह महीना पहले शुरू हुए एक अखबार में.

दैनिक जागरण से रुखसत कर दिए गए निशिकांत ठाकुर

: दिनेश चंद्र हुए रिटायर : दैनिक जागरण, नोएडा से सीजीएम निशिकांत ठाकुर की विदाई हो गई है. प्रबंधन ने उन्‍हें रुखसत करने के साथ ही मीटिंग करके स्‍पष्‍ट कर दिया है कि अब निशिकांत ठाकुर से कोई संबंध नहीं रखा जाए. सूत्रों का कहना है कि अब तक निशिकांत के रहमोकरम पर दैनिक जागरण में जिंदगी गुजारने वालों को भी ताकीद कर दिया गया है कि अगर कोई कर्मी अगर संबंध निभाने की चेष्‍टा करते पाया गया तो उसकी भी विदाई उसी समय हो जाएगी.

यूपी में सूचना आयुक्‍तों की नियुक्ति पर डा. नूतन ने जताया ऐतराज

आरटीआई कार्यकर्ता डॉ. नूतन ठाकुर ने आज प्रमुख सचिव, प्रशासनिक सुधार विभाग, उत्तर प्रदेश शासन को पत्र लिख कर सूचना आयुक्तों के चयन की प्रक्रिया के सम्बन्ध में जानकारी मांगी है. पत्र में उन्होंने कहा है कि कि उनके पति आईपीएस अधिकारी अमिताभ ठाकुर ने भी आवेदन किया था जिसमे उन्होंने वांछित शपथपत्र तथा रुपये दो हज़ार का बैंकर चेक भी भेजा था.

टीआरपी : 52वां हफ्ता : ‘इंडिया टीवी’ को पछाड़ते हुए जी न्यूज ने बनाई टॉप-3 में जगह

टैम ने वर्ष 2013 के अखिरी 52वें सप्‍ताह की टीआरपी जारी कर दी है. पिछली कई बार की तरह इस बार फिर आजतक लगातार नंबर वन के पायदान पर बना हुआ है. एबीपी न्यूज ने एक बार फिर नंबर दो के स्थान पर कब्जा कर लिया है. तो वहीं तीसरे नंबर पर विराजमान इंडिया टीवी के हाल और खस्ता होते दिख रहे हैं, इंडिया टीवी को और एक पायदान नीचे धकेलते हुए जी न्यूज ने टॉप 3 में अपनी जगह बना ली है.

दैनिक भास्कर के रफी मौहम्मद शेख को लाडली मीडिया अवार्ड

नई दिल्ली : मीडिया में लिंग संवेदनशीलता के प्रति अपने योगदान के लिए दैनिक भास्कर डीबी स्टार इंदौर के प्रिसिंपल करस्पोंडेंट रफी मोहम्मद शेख को यूनाइटेड नेश्नस पापुलेशन फंड 'लाड़ली मीडिया अवार्ड' 2012-2013 प्रदान किया गया है.

आपदा के लिए आया राशन बांटा नहीं सड़ा डाला फिर नदी में बहा डाला, भाकपा माले बेहद नाराज

पिथौरागढ़ : धारचूला के विधायक हरीश धामी के गांव मदकोट में आपदा के लिए आया राशन खराब हो जाने के बाद गोरी नदी में फेंक दिया गया. इस घटना के बाद भाकपा माले ने पिथौरागढ़ और मुनस्यारी में विधायक धामी का पुतला जलाकर जोरदार प्रदर्शन किया. 

पिथौरागढ़ में विधायक की दावत से तर पत्रकार

पिथौरागढ़ : यह कोई नई बात नहीं है कि जब पत्रकारों की दावत की बात हो रही हो इस प्रसंग को इसलिए इस बार लिखने को मजबूर हुए हैं कि पत्रकारों की आंखे खुल सके. चुनाव में करोड़ रुपये खर्च करने के बाद विधायक बनने वाले हमारे रहनुमा पांच साल में इतनी दौलत जुटा लेते है कि सात पीढ़ियों तक साहूकार रह सकें.

मनमोहन बोले : तीसरी बार पीएम पद की दौड़ में नहीं

प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह आज अपने दूसरे कार्यकाल में तीसरी प्रेस कांफ्रेंस कर रहे हैं। यूपीए-2 में पीएम की ये दूसरी कांफ्रेंस है। प्रधानमंत्री आज दिन में 11 बजे नेशनल मीडिया सेंटर पहुंचे। प्रेस कांफ्रेंस में सबसे पहले देशवासियों को नए साल की बधाई दी। प्रधानमंत्री ने विधानसभा चुनावों से लेकर भ्रष्टाचार पर चर्चा की।

कानूनी डंडे के सहारे सच छिपा रही है पुलिस, वरिष्ठ पत्रकार सुरेश गांधी को कर रही है प्रताड़ित

संतरविदास नगर भदोही के वरिष्ठ पत्रकार सुरेश गांधी के मामले में कानूनी डंडे के सहारे सच छिपाने की हर हथकंडे आजमा चुकी पुलिस अब न्यायालय को भी गुमराह करने में जुट गई है. 

कुछ रिश्तों को नाम की जरूरत नहीं होती

‘जमाना बड़ा खराब है’ – जमाने की शान में यह बात हम बचपन से सुनते आए हैं, लेकिन यह कब अच्छा होगा, इसका पुख्ता जवाब शायद ही किसी के पास हो. जमाना सौ फीसदी सही कब होगा, यह तो जमाना ही जाने, मैं तो सिर्फ इतना जानता हूं कि अगर हम खुद की भूमिका पर गौर करें तो भी हालात काफी बदल सकते हैं.

रामपुर सीआरपीएफ कैंप मामला ‘राम भरोसे’

31 दिसंबर 2007 की रात नए साल का जश्न मनाने के दौरान सीआरपीएफ जवानों द्वारा शराब के नशे में आपस में गोलियां चल गयी थीं। इस घटना को छिपाने के लिए इसे आतंकी हमला करार दिया गया था.
सीआरपीएफ कैंप रामपुर की घटना के 6 साल बाद स्थिति में कोई बदलाव नहीं आया है. इस मुकदमें में अदालती कार्रवाई के नाम पर कुछ तारीखें जो किसी उल्लेखनीय प्रगति के बिना गुजर गयी.

निवेशकों का पैसा दबाने वाले सुब्रत राय ने SC से मांगी विदेश जाने की इजाजत

नई दिल्ली : सहारा समूह के मुखिया सुब्रत राय ने कारोबार के सिलसिले में विदेश जाने के लिये उच्चतम न्यायालय की अनुमति हेतु आज न्यायालय में एक अर्जी दायर की। न्यायालय ने निवेशकों का 20 हजार करोड़ रुपया लौटाने में विफल रहने के कारण सुब्रत राय के विदेश जाने पर रोक लगा रखी है। न्यायमूर्ति के एस राधाकृष्णन और न्यायमूर्ति जे एस खेहड़ की खंडपीठ ने कहा कि इस अर्जी पर नौ जनवरी को मूल प्रकरण के साथ ही सुनवाई की जायेगी। न्यायालय नौ जनवरी को ही सहारा समूह की 20 हजार करोड़ रूपए की संपत्तियों के मालिकाना हक के दस्तावेज सेबी को सौंपे जाने से संबंधित प्रकरण पर सुनवाई करेगा।

कोलकाता में फोटो पत्रकारों से मारपीट, दो पत्रकार घायल

: कई को लगीं चोटें : कोलकाता : राज्य सचिवालय नवान्न भवन में गुरुवार को दोपहर पुलिस ने फोटो पत्रकारों के साथ मारपीट की. इसमें एक पत्रकार का सिर फट गया तथा दूसरा पत्रकार गंभीर रूप से घायल हो गया. नवान्न भवन में गुरुवार को प्रशासनिक कैलेंडर के लांचिंग कार्यक्रम के बाद वहां फोटो सेशन होना था. वहां तैनात पुलिसकर्मियों ने कुछ छाया पत्रकारों को अंदर जाने की अनुमति दे दी, लेकिन कुछ पत्रकारों को वहां प्रवेश नहीं करने दिया गया.

पत्रकार अ‍रविंद सिंह बिस्‍ट, स्‍वेदश कुमार, राजकेश्‍वर सिंह एवं विजय शर्मा समेत आठ सूचना आयुक्‍त बने

लखनऊ : करीब एक साल तक चली जद्दोजहद के बाद आखिरकार गुरुवार को राज्य सूचना आयोग में में खाली पड़े सूचना आयुक्तों के आठ पदों पर नियुक्तियां सरकार ने नियुक्तियां कर दी है। इनमें चार पत्रकार शामिल हैं। पूर्वानुमान के अनुसार मुलायम सिंह यादव के समधी और पत्रकार अरविंद सिंह बिष्‍ट के अतिरिक्‍त पत्रकार कोटे से राजकेश्‍वर सिंह, स्‍वदेश कुमार व विजय शर्मा को सूचना आयुक्‍त बनाया गया है।

डीबी स्टार, भोपाल के पांच रिपोर्टरों में से तीन पर एफआईआर, संपादक महोदय साबित हो रहे बेकार

भोपाल : जमीनी हकीकत की बेबाक और निर्भीकता के साथ रिपोर्टिंग करने वाले भास्कर ग्रुप के टैबलायड अखबार 'डीबी स्टार', भोपाल के रिपोर्टरों पर धड़ाधड़ केस दर्ज किए जा रहे हैं वहीं इसके संपादक महोदय कंबल ओढकर घी पीने में लगे हैं और अपने पत्रकारों को प्रोटेक्ट करने के मामले में बेकार संपादक साबित हो रहे हैं।

लखनऊ में नारायण दत्त तिवारी करेंगे पत्रकारों को सम्मानित

उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री नारायण दत्त तिवारी 5 जनवरी को पत्रकारों को सम्मानित करेंगे। प्रिंट एवं इलैक्ट्रानिक जर्नलिस्ट एसोसिएशन ने 5 जनवरी को प्रातः 10 बजे से लखनऊ केसरबाग स्थित गांधी भवन में अधिवेशन समारोह का आयोजन किया है। इस मौके पर एसोसिएशन की बेवसाइट का भी शुभारम्भ होगा। एसोसिएशन के राष्ट्रीय अध्यक्ष गिरीश चंद्र कुशवाह ने इस शुभ अवसर पर एसोसिएशन के सभी सदस्यों को आमंत्रित किया है।

पांच-पांच सौ रुपये में बिके नहीं बल्कि सम्मानित हुए बनारस के इले‍क्ट्रानिक मीडिया के पत्रकार!

वाराणसी में पत्रकारिता आज भी मिशन है। जहां प्रदेश व देश की राजधानी में करोड़पती व अरबपती पत्रकारों की लम्बी फेहरिस्त किसी से छुपी नहीं है| वहीं इले‍क्ट्रानिक व प्रिंट मीडिया प्रबंधन के लाख शोषण के बाद भी वाराणसी के पत्रकारों ने पूरे देश में अपना जमीर नहीं बेचा है बल्कि परचम लहराया है। अगर कोई आयोजक अपने यहां बुलाकर अपनी क्षमता के अनुरूप सम्मान करे तो इसे भीख व दलाली की संज्ञा नहीं दी जा सकती, ऐसा लेने वालों का मानना है।

आसाराम समर्थकों ने दीपक चौरसिया, अजीत अंजुम और अजय कुमार के खिलाफ जारी किया प्रेस नोट

किन्हीं prashant dwivedi नामक सज्जन ने prashant.dwivedi05@gmail.com मेल आईडी से एक प्रेस नोट भेजा है, जिसमें कई न्यूज चैनलों और नोएडा पुलिस पर सवाल उठाया गया है. प्रेस नोट में आखिर में संस्था और पदाधिकारी का नाम समेत फोन नंबर भी दिया गया है.

नेटवर्क18 को सीनियर प्रोड्यूसर की जरूरत, करें आवेदन

नौकरी डाट काम पर नेटवर्क18 वालों ने एक विज्ञापन निकलवाया है. सीनिय प्रोड्यूसर पद के लिए आवेदन मांगा है. डिटेल यूं है…

जिया न्यूज में भगदड़ जारी, वंदना और प्रसेनजीत समेत चार का इस्तीफा

जिया न्यूज में भगदड़ जारी है. कल चार लोगों ने चैनल की राजनीती और खेमेबाजी से तंग आकर इस्तीफा दे दिया है. इसमें से एक एंकर वंदना भी हैं. कंटेंट हेड प्रसेनजित डे भी संस्थान को छोड़ चुके हैं. बताया जा रहा है कि अब किसी भी वक्त स्ट्रिंगर लोग खबर भेजना बंद करने वाले हैं क्योंकि इन्हें पेमेंट नहीं दिया जा रहा है.

रोबिन सिंह न्यूज नेशन उत्तराखंड के हिस्से बने, श्रवण श्री न्यूज और विवेक अमर उजाला से जुड़े

देहरादून। न्यूज नेशन जल्द ही कई राज्यों के लिए रीजनल चैनल लाने की तैयारी में जुटा हुआ है. कई पत्रकार 'न्यूज नेशन' में जाने की तैयारी में जुटे हुए हैं. खबर है कि न्यूज नेशन ने देहरादून में अपने संवाददाता के रूप में रोबिन सिंह की तैनाती कर दी है. रोबिन सिंह इससे पूर्व नेटवर्क10 के साथ साथ कई अन्य चैनलों में भी अपनी सेवाएं दे चुके हैं. बताया जाता है कि रोबिन 15 जनवरी को न्यूज नेशन के नोएडा ऑफिस में ज्वाइन करेंगे.

सीईओ के खराब व्यवहार से नाराज संपादकीय प्रभारी और चीफ रिपोर्टर का इस्तीफा

गोरखपुर के बाद इलाहाबाद 'जनसंदेश टाइम्स' में भी इस समय काफी उथल-पुथल मची हुई है। इलाहाबाद संस्करण को लांच करने वाले वरिष्ठ पत्रकार व संपादकीय प्रभारी आनंद नारायण शुक्ला ने गुरुवार को अचानक त्यागपत्र दे दिया। हालांकि उनका त्यागपत्र अभी स्वीकार नहीं किया गया है। चर्चा है कि नये सीईओ आरपी सिंह से कुछ कहासुनी के बाद श्री शुक्ल ने त्यागपत्र दिया और वह गुरुवार को अखबार के दफ्तर नहीं आए।

अवैध खनन करने वाले कथित पत्रकार को जेल

विकासनगर : अवैध खनन करने वाले और खुद को एक चैनल का पत्रकार बताने वाले को पुलिस ने सोमवार को ज्यूडिशियल मजिस्ट्रेट की कोर्ट में पेश किया। कोर्ट ने आरोपी को न्यायिक हिरासत में जेल भेज दिया है। रविवार को माइनिंग विजिलेंस विभाग की टीम ने मुख्य अधिशासी अधिकारी संजय गुंज्याल के नेतृत्व में यमुना नदी में आवंटित प्लॉटों पर छापेमारी की। छापेमारी के दौरान ढक रानी और बाड़वाला पट्टे में बड़े पैमाने पर पट्टे की सीमाओं के बाहर अवैध खनन पाया गया।

मीडिया के लिए नियामक संस्था को लेकर सरकार को नोटिस

नई दिल्ली। प्रिंट और इलेक्ट्रॉनिक मीडिया को लेकर नियामक संस्था स्थापित करने की मांग संबंधी याचिका पर सुनवाई करते हुए सुप्रीम कोर्ट ने मामले में केंद्र सरकार एवं अन्य को नोटिस जारी कर जवाब मांगा है।

श्याम साल्वी ‘न्यूज नेशन’ से जुड़े, रजनीकांत गुप्ता दैनिक भास्कर पहुंचे, अनिल त्रिपाठी को प्रमोशन

अभी तक 'न्यूज एक्सप्रेस' के साथ टेक्नीकल हेड के बतौर जुड़े रहे श्याम साल्वी के बारे में ताजी सूचना है कि अब वे 'न्यूज नेशन' चैनल के हिस्से बने गए हैं. श्याम साल्वी ने कई न्यूज चैनलों की लांचिंग के दौरान तकनीकी सेवाएं दी हैं.

अखिलेश के व्यवहार पर पत्रकारों के नेता लोगों ने आवाज क्यों नहीं उठाई?

Kumar Sauvir : अपने सरकारी मकान में मुख्‍यमंत्री अखिलेश यादव जब पत्रकारों पर गुर्रा रहे थे, तो वहां उप्र मान्‍यताप्राप्‍त संवाददाता समिति के आला पदाधिकारी भी तो मौजूद थे। फिर इन लोगों ने अखिलेश के इस व्‍यवहार पर आवाज क्‍यों नहीं उठायी? यह लोग अगर अपनी दाढ़ी का एक बाल तक मरोड़ देते तो पत्रकार-एकता का प्रतीकात्‍मक भू-शिलान्‍यास हो जाता। है कि नहीं?

आजतक में दो साल पूरे होने पर पत्रकार विकास मिश्र का एक संस्मरण

Vikas Mishra : आज 2 जनवरी है। दो साल पहले आज ही के दिन मैंने आजतक ज्वाइन किया था। इन दो सालों में बहुत कुछ मिला। वरिष्ठों का स्नेह, साथियों का सहयोग और कनिष्ठ साथियों का भरपूर प्यार और साथ में जमकर काम करने का हौसला। मैंने यहां नीलेंदु सर की टीम में ज्वाइन किया था। वे यहां प्रोग्रामिंग हेड थे। वही मुझे आजतक लाए थे।

लखनऊ के पत्रकार संजय श्रीवास्तव ने शुरू किया ‘इंडिया एक्सप्रेस न्यूज डॉट कॉम’

लखनऊ : लखनऊ के पत्रकार संजय श्रीवास्तव ने खुद की एक वेबसाइट लांच की है. नाम है 'इंडिया एक्सप्रेस न्यूज डाट काम'. संजय लगभग 20 वर्ष से पत्रकारिता में हैं और कई राष्ट्रीय समाचार पत्रों में संवाददाता से लेकर विशेष संवाददाता के पदों पर काम करते रहे.

अथ गोरखपुर जनसंदेश (सिटी) टाइम्स कथा!

आज से ठीक दो वर्ष पहले गोरखपुर दैनिक जागरण के संपादक/प्रकाशक पद से रुखसती के बाद डा.शैलेन्द्र मणि त्रिपाठी जनसंदेश टाइम्स लेकर बाजार में आए थे। तमाम उतार-चढ़ाव झेलने और कथित घपले-घोटाले आरोपों के बाद प्रबंधन ने उनसे मुक्ति तो पा ली, लेकिन उनके चहेते जनसंदेश पर कब्जा जमाए बैठे रहे। इधर कुछ दिनों पहले जब शैलेन्द्र मणि सिटी टाइम्स लेकर लखनऊ में अवतरित हुए तो उनके चेलों के लिए आशा की किरण दिखने लगी।

लखनऊ के वरिष्ठ पत्रकार व स्वतंत्रता सेनानी इशरत अली सिद्दीकी का निधन

लखनऊ : उत्तर प्रदेश राज्य मान्यता प्राप्त संवाददाता समिति ने वरिष्ठ पत्रकार एवं स्वतंत्रता सेनानी इशरत अली सिद्दीकी के निधन पर गहरा दुख व्यक्त किया है। पद्मश्री पुरस्कार से सम्मानित इशरत अली सिद्दीकी 95 साल के थे और अंतिम दिनों तक वे पठन पाठन और लेखन में सक्रिय रहे।

10वीं विकास संवाद मीडिया लेखन फैलोशिप आवेदन आमंत्रित, अंतिम तिथि : 10 जनवरी 2014

भोपाल। वर्ष 2014 के लिए दसवीं विकास संवाद मीडिया लेखन फैलोशिप की घोषणा कर दी गई है। इस साल प्रदेश के चार पत्रकारों को सामाजिक मुद्दों पर लेखन के लिए फैलोशिप दी जाएगी। आवेदन जमा करने की अंतिम तिथि 10 जनवरी, 2014 है।

कटिहार के इन अपराधी और बलात्कारी मानसिकता वाले पत्रकारों की शर्मनाक करतूत

बिहार के कटिहार में पत्रकारों द्वारा एक शर्मनाक घटना को अंजाम दिया गया. बीते 31 दिसंबर को कटिहार के पत्रकारों ने एक बंद पड़े होटल में दो प्रेमी युगल के होने की सूचना के बाद होटल के ताले को तोड़ डाला और दोनों प्रेमी युगल की पिटाई कर दी. लडके और लड़की का पर्स और मोबाईल भी छीन लिया जिसे अब तक वापस नहीं किया गया है.

DJ Advt Scam : Muzaffarpur court will hear the Criminal Reivision Petition of Jagran Publication on 27 Jan

By ShriKrishna Prasad, Advocate

New Delhi : The Additional District & Sessions Judge of Muzaffarpur in Bihar, Mr. Subodh Kr. Srivastawa will hear the Criminal Revision Petition No. 188/ 2013 of the Chief General Manager of M/S Dainik Jagran Pubication Limited (Patna,Bihar) and the Associate Editor of Dainik Jagran, Shailendra Dixit (Patna, Bihar) on January 27, 2014 next.

संसद से सड़क तक आम आदमी

अरविंद केजरीवाल द्वारा विश्वास मत के दौरान प्रस्तुत 17 मुद्दों में से अधिकतर वही हैं जिनमें से अधिकतर 1947 को देश को आजादी मिलने के बाद से ही जस के तस पड़े हैं। रोटी, कपड़ा और मकान के बाद स्वास्थ्य, शिक्षा, पानी, बिजली, सुरक्षा जैसी उचित सुविधाओं के अभाव में जनता तब से ही त्रस्त होती रही है। उस समय की संसद और पहली विधानसभाओं में भी लगभग यही मुद्दे ऊंचे स्वरों में गूंजते रहे थे।

विजय उपाध्याय और पीयूष शर्मा की नई पारी, आनंद नारायण और अंजनी श्रीवास्तव का इस्तीफा

विजय उपाध्याय ने दैनिक भास्कर, जमशेदपुर से इस्तीफा देकर अमर उजाला, वाराणसी ज्वाइन कर लिया है. वे बनारस में दैनिक जागरण, हिंदुस्तान और आज अखबारों में काम कर चुके हैं. विजय ने सब एडिटर के पद पर ज्वाइन किया है. उधर, पीयूष शर्मा ने फेसबुक के जरिए जानकारी दी है कि वे इंडिया टुडे डिजिटल में असिस्टेंड एडिटर के पद पर ज्वाइन कर रहे हैं. संदीप दैनिक भास्कर, जनसत्ता, राज एक्सप्रेस आज समाज, पंजाब केसरी जैसे अखबारों में काम कर चुके हैं.

शुक्रिया हरिवंश जी, इस अदभुत अमेरिकी स्वामी की किताब (आटोबायोग्राफी) पढ़ाने के लिए…

शुक्रिया Harivansh जी, 'अनोखा सफर : एक अमेरिकी स्वामी की आत्मकथा' पढ़ाने के लिए. मेरे लिए नए साल का यह शानदार तोहफा है. इस किताब लेखक हैं अमेरिका के रिचर्ड नामक सज्जन जो अब स्वामी राधानाथ कहलाते हैं. उनकी मूल किताब का नाम है: 'द जर्नी होम : आटोबायोग्राफी आफ एन अमेरिकन स्वामी'. इसका हिंदी अनुवाद है 'अनोखा सफर – एक अमेरिकी स्वामी की आत्मकथा' नाम से. नए साल की सुबह से लेकर अभी तक इसे ही पढ़ता रहा और अब जाकर खत्म कर पाया हूं. न नहाना याद रहा, न खाना. न भड़ास, न मेल, न फेसबुक. बस, किताब को पढ़ता और पढ़ता ही जाता… इस किताब और स्वामी राधानाथ जी के बारे में जानने के पहले यह जान लेते हैं कि इस किताब को पढ़ने का सौभाग्य मुझे कैसे मिला..

रफ्तार न्यूज ने दो महीने तक रखने के बाद बिना पैसे दिए निकाल दिया

रफ्तार न्यूज मध्यप्रदेश-छत्तीसगढ़ में पत्रकारों को अच्छी सेलरी का वादा करके रखा जाता है और महीना पूरा होने के पहले ही नया टारगेट दे दिया जाता है. टारगेट भी किसी न्यूज का नहीं बल्कि पैसे का, जाइए मार्केट से पैसा लाइए और सेलरी लीजिए. चैनल इसी तरह पत्रकारों को रिक्रूट करके दो-तीन महीने तक काम चलाता है फिर निकालकर नया रिक्रूटमेंट कर लेता है और गोरखधंधा चलता रहता है.

कोलकाता गैंगरेप पीड़िता ने आत्महत्या नहीं की, उसे जिंदा जलाया

कोलकाता: कोलकाता में सामूहिक दुष्कर्म की पीड़िता की कथित आत्महत्या मामले में नया मोड़ आ गया है। पीड़िता के परिजनों ने बुधवार को कहा कि उनकी बेटी ने आत्मदाह नहीं किया बल्कि बलात्कारियों ने उसे जिंदा जला दिया। पीड़िता की मां ने बुधवार को कहा कि उनकी बेटी ने मृत्यु पूर्व पुलिस को दिए अपने बयान में कहा है कि उसे जिंदा जलाया गया है।

जस्टिस गांगुली पर सरकार आज ले सकती है फैसला

लॉ इंटर्न के साथ यौन शोषण के आरोपों का सामना कर रहे सुप्रीम कोर्ट के पूर्व न्यायाधीश और पश्चिम बंगाल मानवाधिकार आयोग के अध्यक्ष जस्टिस गांगुली के भविष्य पर सरकार आज फैसला कर सकती है। आज कैबिनेट की बैठक में गांगुली को हटाने के लिए राष्ट्रपति के पास अर्जी भेजने का प्रस्ताव रखा जा सकता है।

देयर वाज ए नेशन-वाइड यूनियन फॉर बैक्टीरिज, नेम्ड संजय विचार मंच

परजीवी तो समझते हैं ना आप ? परजीवी मतलब, कीट-बैक्टीरिया टाइप. तो, देयर वाज ए नेशन-वाइड यूनियन फॉर दैट टाइप सच बैक्टीरियाज, नेम्ड संजय विचार मंच. जी हां, ऐसे परजीवी लोगों का सांगठनिक गिरोह था. 

अखिल भारतीय साहित्यिक पत्रकारिता सम्मान से अलंकृत होंगे डॉ.प्रेम जनमेजय

भोपाल : हिंदी की साहित्यिक पत्रकारिता को सम्मानित किए जाने के लिए दिया जाने वाला पं. बृजलाल द्विवेदी अखिल भारतीय साहित्यिक पत्रकारिता सम्मान इस वर्ष ‘व्यंग्य यात्रा’ (दिल्ली) के संपादक डॉ. प्रेम जनमेजय को दिया जाएगा. डॉ. प्रेम जनमेजय साहित्यिक पत्रकारिता के एक महत्वपूर्ण हस्ताक्षर होने के साथ-साथ देश के जाने-माने व्यंग्यकार एवं लेखक भी हैं. वे पिछले नौ वर्षों से व्यंग्य विधा पर केंद्रित महत्वपूर्ण पत्रिका ‘व्यंग्य यात्रा’ का संपादन कर रहे हैं.

जन सहयोग से बनी फिल्म ‘नया पता’ की स्क्रीनिंग आज

नए साल की शुरूआत में ही फिल्म 'नया पता' की स्क्रीनिंग नई खुशी लेकर आने वाली है. 'नया पता' भोजपुरी में बनने वाली ऐसी पहली फिल्म है जिसका निर्माण crowd funding (जन सहयोग) से किया गया है.

आम आदमी पार्टी ने दिखाई राजनीति की नई ‘डगर’

आम आदमी पार्टी (आप) ने अपनी पहली राजनीतिक धमक से ही भाजपा और कांग्रेस जैसी राष्ट्रीय पार्टियों को नया पाठ पढ़ा दिया है. राष्ट्रीय राजधानी की इस नवोदित पार्टी ने महज सवा साल के अंदर ही अपनी विशिष्ट पहचान बना ली है. दिल्ली विधानसभा के चुनाव में इसने जोरदार जीत हासिल करके बडे-बड़े राजनीतिक ज्ञानियों को भी हैरानी में डाल दिया है.

अखिलेश यादव ने की मीडिया फोटोग्राफर्स क्लब की वेबसाइट लांच

लखनऊ : उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने नए साल के पहले दिन मीडिया के हित में एक पहल की. जिसके अंतर्गत अखिलेश यादव ने बुधवार को अपने सरकारी आवास से मीडिया फोटोग्राफर्स क्लब की वेबसाइट को लांच किया. अखिलेश यादव ने कहा कि इंटरनेट ने ज्ञान और जानकारी को सर्वसुलभ बनाने में क्रांतिकारी भूमिका निभाई है, जिसके चलते वेबसाइटों में उपयोगी विवरण को शामिल किया जाना जरूरी है.

पत्रकारों के लिए मौत का गढ़ बना मध्यपूर्व

दुनिया भर में चल रहे उठा पटक की खबर लोगों तक पहुंचाने वाले कम से कम 70 पत्रकारों ने 2013 में काम के दौरान अपनी जान गंवाई. 'कमिटी टू प्रोटेक्ट जर्नलिस्ट' संस्था के अनुसार 29 सीरिया के गृह युद्ध में और 10 इराक में मारे गए.

मिस्र में गिरफ्तार पत्रकारों की हिरासत अवधि बढ़ी

काहिरा प्रशासन ने मुस्लिम ब्रदरहुड से संबंध रखने के आरोप में गिरफ्तार किए गए पत्रकारों की हिरासत अवधि बढ़ा दी है। मिस्र के न्यायिक विभाग से मिली जानकारी के अनुसार इन तीनों पत्रकारों को दो सप्ताह के लिए हिरासत में रखे जाने का आदेश दिया गया है। इनकी हिरासत अवधि बढ़ाई भी जा सकती है।

आरोपों के घेरे में रहे रिजवान बने यूपी के पुलिस प्रमुख

लखनऊ। यूपी की अखिलेश सरकार ने अपने कार्यकाल के दौरान सांप्रदायिक दंगों और नेपाल में आईएसआई के गुर्गा रहे माफिया मिर्जा दिलशाद बेग से संबंधों के आरोपी 1978 बैच के आईपीएस रिजवान अहमद को राज्य का नया पुलिस महानिदेशक घोषित किया है। अखिलेश के शासनकाल के पौने दो साल के दौरान हुए दंगों के धब्बों से गुजर रही सरकार ने ऐसे समय पर रिजवान अहमद की तैनाती कर मुस्लिम वोट बैंक ठीक करने की कोशिश की है, लेकिन फरवरी में उनके सेवानिवृत्त होने के पहले ही डीजीपी की कुर्सी हथियाने की दौड़ भी आज से ही शुरु हो गई है।

मुलायम की बिसात पर पिटते ‘वजीर और प्यादे’

सपा प्रमुख मुलायम सिंह यादव राजनीति के मझे हुए खिलाड़ी हैं। वह बिसात बिछाते हैं तो राजनीति के प्यादे ही नहीं वजीर तक उनकी चालों में उलझकर पिटते जाते हैं। राजनीति की नब्ज पहचानने में उन्हें महारथ हासिल है। राजनीति किस करवट बैठेगी या फिर बैठने वाली है, इसके बारे में उनसे बेहतर कम ही राजनीतिज्ञ समझ पाते हैं। वह राजनीतिक नब्ज टटोल लेते हैं तो अवाम का मिजाज भी जानते हैं, भले ही उनकी राजनीति को समय रहते कोई न समझ पाये, लेकिन उनकी दूरदर्शिता को कभी कम करके नहीं आका जा सकता है। अगर ऐसा न होता वह मुजफ्फरगनर और शामली आदि जगहों में राहत कैम्पों में रह रहे लोगों के लिये इतनी सख्त टिप्पणी नहीं करते, जो उनके मजबूत वोट बैंक भी हैं।