1984 बनाम 2002: चुनावी समर में दंगा राजनीति

लोकसभा का चुनावी समर काफी करीब आ गया है। ऐसे में, वोट बैंक की राजनीति के नए-नए दांव चलाए जाने लगे हैं। एक-दूसरे के खिलाफ राजनीतिक चक्रव्यूह भी रचे जा रहे हैं। ताकि, आसानी से सामने वाले विपक्षी को इसमें फंसाया जा सके। यदि बात सम-सामयिक मुद्दों से ही नहीं बनती है, तो इतिहास के पन्नों को भी खंगाला जा रहा है। ताकि, विपक्ष के खिलाफ ‘इतिहास’ से कुछ कीचड़ निकाला जाए। फिर, इसी से प्रतिद्वंद्वी समूह की चमक धूमिल की जाए। कुछ इसी तरह की कोशिशें इन दिनों भाजपा और कांग्रेस के बीच दिखाई पड़ रही हैं। ‘पीएम इन वेटिंग’ बनने के बाद नरेंद्र मोदी पूरे देश में कांग्रेस के खिलाफ माहौल बनाने में जुटे हैं। वे तो कांग्रेस के विरुद्ध वातावरण बनाने के लिए हर मसाला आजमाने के लिए तैयार रहते हैं। ताकि, वे अपने ‘मिशन पीएम’ के करीब पहुंचते जाएं। कांग्रेस ने भी पलटवार की अपनी रणनीति तेज कर दी है। पार्टी के रणनीतिकार जगह-जगह लोगों को मोदी और भाजपा के ‘खतरे’ बताने में जुट गए हैं।

उत्तराखंड सरकार ने मंत्रियों, विधायकों के वेतन-भत्तों में तीन गुना तक वृद्धि की

स्कूल में एक मुहावरा पढ़ा था "अंधा बांटे रेवड़ियां, फिर-फिर अपनों को ही दे।" मैंनें आज तक ना तो किसी अंधे को रेवड़ी बांटते देखा और ना ही बार-बार अपनों को ही देते। लेकिन इस मुहावरे में अंधे की जगह सत्ता के मद में अंधे कर दिया जाए तो यह मुहावरा अक्सर सही साबित होता हुआ दिखाई देगा। 28 जनवरी को उत्तराखंड की विजय बहुगुणा सरकार के मंत्रिमंडल के निर्णय अपनों को रेवड़ी बांटने का ही नहीं, उन पर रेवड़ियों का पूरा गोदाम लुटाने की एक और मिसाल है। राज्य का कांग्रेसी मंत्रिमंडल बैठा और उसने मंत्रियों, विधायकों, विधानसभा अध्यक्ष व उपाध्यक्ष और नेता प्रतिपक्ष के वेतन भत्तों में दोगना से तीन गुना तक की वृद्धि करने की घोषणा कर डाली।

हुड्डा ने सरकारी खजाने से विज्ञापनों पर करोड़ों खर्चे, लोकायुक्त ने मांगा जवाब

नई दिल्ली। हरियाणा के मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा द्वारा अखबारों और टीवी चैनलों में करोड़ों रूपए के विज्ञापन देकर चुनाव जीतने की रणनीति पर पलीता लग गया है। सूचना अधिकार कार्यकर्ता पी.पी. कपूर की शिकायत पर हरियाणा के लोकायुक्त प्रीतमपाल ने मामले की प्रारंभिक जांच शुरू करके सरकार से जवाब मांगा है। प्रीतमपाल ने बताया कि मामले की प्रारंभिक जांच के बाद आगे की कार्रवाई की जाएगी। कपूर ने लोकायुक्त के पास बाकायदा शपथ-पत्र दाखिल करके आरोप लगाया था कि भूपेंद्र सिंह हुड्डा और लोक संपर्क महकमे के अफसर सुधीर राजपाल ने चालू वर्ष में विज्ञापनों के लिए एक सौ चैदह करोड़ रूप्ए का बजट रखा है। सूचना अधिकार के अंतर्गत प्राप्त जानकारी के अनुसार विज्ञापनों में प्रदेश में पूंजी निवेश और नौकरियां देने के दावे झूठे पाए गए हैं। कपूर ने शपथ-पत्र में कहा है कि यदि उनकी शिकायत झूठी पाई जाए तो उनके खिलाफ कार्रवाई की जाए।

सोनभद्र, चंदौली और मिर्जापुर की समस्याओं को लेकर आइपीएफ के अखिलेन्द्र करेंगे संसद पर उपवास

सोनभद्र, 29 जनवरी: सोनभद्र, चंदौली और मिर्जापुर के विकास के लिए विशेष पैकेज, वनाधिकार कानून के तहत जंगल की जमीनों पर बसे लोगों के मालिकाना अधिकार, ठेका मजदूरों के नियमितिकरण, हर मजदूर को दस हजार रूपए न्यूनतम मजदूरी, कोल को आदिवासी के दर्जे, अवैध खनन की सीबीआई जांच के लिए, आल इण्डिया पीपुल्स फ्रंट (आइपीएफ) के राष्ट्रीय संयोजक का. अखिलेन्द्र प्रताप सिंह आगामी 7 फरवरी से संसद के सम्मुख दस दिवसीय उपवास करेंगे। इस कार्यक्रम की तैयारी के लिए आज आइपीएफ की जिला संयोजन समिति की बैठक हुई।

विमलेश त्रिपाठी के कविता संग्रह “एक देश और मरे हुए लोग” का लोकार्पण

26 जनवरी, को सांस्कृतिक पुनर्निर्माण मिशन की ओर से विमलेश त्रिपाठी के दूसरे कविता संग्रह का लोकार्पण समारोह भारतीय भाषा परिषद के सभागृह में कोलकाता के रचनाकारों एवं बीएचयू के श्रीप्रकाश मिश्र, बस्ती के अष्टभुजा शुक्ल तथा कलकत्ता विश्वविद्यालय के डॉ. शंभुनाथ, प्रेसिडेंसी विश्वविद्यालय के डॉ. वेद रमण की उपस्थिति के बीच वरिष्ठ कवि केदारनाथ सिंह के हाथों संपन्न हुआ। इस अवसर पर सबसे पहले युवा कवि श्री प्रकाश मिश्र एवं अष्टभुजा शुक्ल का काव्य पाठ हुआ।

मुकेश कुमार लाइव इंडिया से जुड़े, राकेश शर्मा को प्रमोशन

दो सूचनाएं हैं. वरिष्ठ पत्रकार मुकेश कुमार ने 'लाइव इंडिया' के साथ नई पारी की शुरुआत की है. उन्होंने अबकी टीवी की जगह प्रिंट में काम करना स्वीकारा है. वे 'लाइव इंडिया' समूह की 'लाइव इंडिया' नामक मैग्जीन के एडिटर बने हैं. इसके पहले वे न्यूज एक्सप्रेस के एडिटर इन चीफ हुआ करते थे.

दिल्ली पुलिस ने फोटो जर्नलिस्ट मानस रंजन को मारा थप्पड़

दिल्ली के राजघाट पर एक पागल हाथी की तस्वीरें ले रहे फोटो जर्नलिस्ट मानस रंजन को एक पुलिसवाले ने थप्पड़ मार दिया। इस घटना पर दिल्ली के पत्रकारों ने आक्रोश व्यक्त किया है और दोषी पुलिस वाले के खिलाफ सख्त से सख्त कार्रवाई की मांग की है।  मानस रंजन ट्रिब्यून अखबार के फोटो जर्नलिस्ट हैं।

अनिल, नीरज, निर्मलेंदु, कौशल, भूप के बारे में सूचनाएं

नोएडा से प्रकाशित दैनिक राष्ट्रीय उजाला की मार्केटिंग टीम से अनिल ने भी इस्तीफा दे दिया है. सीनियर सब एडिटर नीरज श्रीवास्तव ने भी अखबार को बाय बाय कह दिया है. यहां कार्यकारी संपादक के रूप में निर्मलेंदु साहा ने ज्वाइन किया है. निर्मलेंदु पहले स्वाभिमान टाइम्स, हमवतन में हुआ करते थे.

‘श्री न्यूज’ ने स्ट्रिंगरों का बकाया भुगतान किया

श्री न्यूज प्रबंधन ने यूपी के सभी स्ट्रिंगरों को आफिस बुला कर उनका बकाया दे दिया. साथ ही एक करार के तहत निश्चित मासिक मानदेय और सुविधाएं देने का वादा किया. संस्थान के सीओओ प्रशान्त द्विेदी ने स्ट्रिंगरों की समस्याओ को सुना और सुझावों पर विचार किया.

छत्तीसगढ़ में पत्रकारों के लिए बीमा योजना शुरू

मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह की घोषणा के अनुरूप छत्तीसगढ़ में पत्रकारों के लिए संचार प्रतिनिधि व्यक्तिगत दुर्घटना योजना शुरू हो गई है। इस योजना में पत्रकारों का पांच लाख रूपए तक का बीमा किया जाएगा। योजना में शामिल होने के लिए संचार प्रतिनिधियों से आवेदन पत्र आमंत्रित किए गए हैं। आवेदन का प्रारूप और योजना का ब्यौरा राज्य के जिला जनसम्पर्क कार्यालयों से प्राप्त किया जा सकता है।

कांग्रेस को ‘अपने’ ही ठेंगा दिखाने पर उतारू

कांग्रेस के रणनीतिकार गठबंधन राजनीति को लेकर मुख्य विपक्षी दल भाजपा पर तीखे कटाक्ष करते रहते हैं। अक्सर, सवाल किया जाता है कि आखिर भाजपा नेतृत्व अपने गठबंधन के लिए ‘नए किरदार’ लाएगा कहां से? क्योंकि, अटल बिहारी वाजपेयी के दौर में एनडीए के पास दो दर्जन घटकों का जमावड़ा था। लेकिन, अब सहयोगी दलों का टोटा हो गया है। जदयू के अलग हो जाने के बाद कोई और बड़ा दल एनडीए में जुड़ने का इच्छुक नहीं है। खास तौर पर नरेंद्र मोदी की विवादित छवि के कारण एनडीए के राजनीतिक भविष्य पर सवाल खड़े हैं। जबकि, कांग्रेस अपने नेतृत्व वाले यूपीए गठबंधन पर इतराती रहा है। लेकिन, इधर उसके कई सहयोगी दलों ने भी ‘झटका’ देना शुरू कर दिया है। इससे कांग्रेस के शीर्ष नेतृत्व में खासी बेचैनी बढ़ी है।

अनिमेष शंकर, आदेश रावल, हिमानी नैथानी की नई पारी

नवीन जिंदल के मीडिया समूह पाजिटिव टीवी ग्रुप के नए लांच होने वाले नेशनल चैनल के लिए इनपुट हेड के बतौर अनिमेष शंकर ने ज्वाइन किया है. आदेश रावल ने भी न्यूज24 से इस्तीफा देकर पाजिटिव टीवी ग्रुप ज्वाइन कर लिया है. अनिमेष शंकर लंबे समय तक सहारा में काम कर चुके हैं. ज्ञात हो कि जिंदल के चैनल के एडिटर इन चीफ संजीव श्रीवास्तव हैं. अखिल भल्ला भी ज्वाइन कर चुके हैं.

कोई भी अखबार मोदी का इतना बड़ा बयान झूठ नहीं छाफ सकता, भास्कर ने छाप दिया

Rohini Gupte : कोई भी समाचार पत्र नरेंद्र मोदी का इतना बड़ा बयान झूठ नहीं छाप सकता। परदे के पीछे जरूर कुछ है जो जल्‍द ही हो सकता है कि श्रीमंत पुरोहि‍त के इस्‍तीफे के बाद सामने आए। पर एक बात तो साफ है, संघि‍यों को कुछ पढ़ तो लेना ही चाहि‍ए।

उत्तराखंड का नया मुख्यमंत्री क्या इन नौकरशाहों पर लगाम लगा पाएगा?

मुझे विजय बहुगुणा के मुख्यमंत्री पद से विदाई पर कोई हैरत नहीं है और ना ही किसी नये व्यक्ति के मुख्यमंत्री पद पर आने की खुशी, भले ही किसी के आने से पुरे फेसबुक पर भले ही उत्सव का माहोल हो जाए, मैं कुछ बातों को लेकर बहुत ज्यादा चिंतित हूँ और मेरा होना भी लाजिमी है? मेरी चिंता का कारण मुख्यमंत्री नहीं बल्कि मुख्यमंत्री से जबरन को अँधेरे में रखकर जनहित विरोधी काम करवाने वाले वे नौकरशाह हैं जिन्हें बदले बगैर इस राज्य का तकदीर नहीं बदलने वाली, भले ही मुख्यमंत्री कोई ही आ जाये, क्या फर्क पडता है, ये नौकरशाह यही सोचते है!

तेरा क्या होगा निशांत चतुर्वेदी!

एसएन विनोद ने तो अपनी लाज बचा ली. उन्होंने उम्र भर की अपनी पूंजी जाया नहीं होने दी. विनोद कापड़ी की अधीनता स्वीकार करने से मना कर दिया. पर निशांत चतुर्वेदी अब भी चुप्पी साधे हैं. निशांत चैनल हेड हुआ करते थे और उनकी तूती बोला करती थी. पर उनके उपर न सिर्फ विनोद कापड़ी को ले आया गया बल्कि अब रवि मित्तल को मैनेजिंग एडिटर बनाकर निशांत चतुर्वेदी के उपर एक और शख्स को बिठा दिया गया है.

विनोद कापड़ी न्यूज एक्सप्रेस को छह महीने में तीसरे नंबर का चैनल बना देंगे!

चर्चा है कि विनोद कापड़ी ने साईं प्रसाद मीडिया के मालिकों से वादा किया है कि वे छह महीने में न्यूज एक्सप्रेस को टीआरपी चार्ट में तीसरे नंबर का चैनल बना देंगे. इसी वादे पर यकीन करके विनोद कापड़ी को न्यूज एक्सप्रेस की पूरी जिम्मेदारी दी गई है जिसके तहत वो किसी को भी निकाल सकते हैं और किसी की भी नियुक्ति कर सकते हैं. सूत्रों के मुताबिक विनोद कापड़ी और साईं प्रसाद मीडिया के बीच जो अघोषित अनुबंध है उसके मुताबिक विनोद कापड़ी ज्वाइन करने के बाद अपनी टीम बनाएंगे और उसके बाद छह महीने के भीतर चैनल को तीसरे नंबर पर ले जाएंगे.

टीआरपी की होड़ और चरण-वंदन संस्कृति के चलते पत्रकारों की विश्वसनीयता खतरें में

इन दिनों चैनलों या अख़बारों द्वारा प्रस्तुत की जा रही खबरों पर पाठको की आने वाली टिप्पड़ियां इस बात का स्पष्ट संकेत कर रही हैं कि पाठकों की नजर में अब "पत्रकारों की विश्वसनीयता" खतरें में है। खबर चाहे प्रिंट की हो या इलक्ट्रॉनिक मीडिया की सब पर आने वाली ज्यादातर टिप्पड़ियों में पाठक खबर को दिखाने वाले पत्रकार की निष्ठा पर सवाल उठाने लगते है और उसे दलाल जैसे अमुक शब्दों से सुशोभित करते है।

विनोद कापड़ी की अधीनता स्वीकार करने से एसएन विनोद का इनकार, दिया इस्तीफा

अंततः वही हुआ जिसकी संभावना थी. वरिष्ठ पत्रकार एसएन विनोद ने विनोद कापड़ी की अधीनता स्वीकार करने से इनकार कर दिया और अपना इस्तीफा दे मारा. एसएन विनोद को साईं प्रसाद मीडिया मैनेजमेंट ने न्यूज एक्सप्रेस के महाराष्ट्र चैनल लांचिंग की जिम्मेदारी दे रखी थी. पर इसी बीच मीडिया समूह का सीईओ बनाकर विनोद कापड़ी को ले आया गया.

आशीष भारद्वाज, अंकित फ्रांसिस, निखिल भूषण और भूपेश ठाकुर ने ‘इंडिया न्यूज’ ज्वाइन किया

चार पत्रकारों के बारे में सूचना मिली है कि उन्होंने इंडिया न्यूज के साथ नई पारी की शुरुआत की है. इनमें से तीन ने इंडिया न्यूज के आनलाइन सेक्शन में आमद दी है. आशीष भारद्वाज ने इंडिया न्यूज आनलाइन में वेब बेड के बतौर ज्वाइन किया है. निखिल भूषण और अंकित फ्रांसिस ने इंडिया न्यूज आनलाइन में सीनियर सब एडिटर के रूप में दस्तक दी है. निखिल और अंकित दोनों ही आईआईएमसी के छात्र रहे हैं.

झूठे केसों से परेशान जादूगोड़ा का पत्रकार

मैं झारखंड के पूर्वी सिंहभूम जिले के छोटे से गाँव जादूगोड़ा, जो यूरेनियम खनिज के लिए विश्वविख्यात है, में रहता हूँ। पत्रकारिता जगत में मुझे मात्र दो साल हुए हैं, लेकिन इन दो सालों का मेरा अनुभव बहुत कड़वा रहा है। सच्चाई लिखने की वजह से मुझे और मेरे भाई को एक महीने तक जेल में रहना पड़ा। पुलिस की पिटाई से आयीं चोटों की वजह से चार दिन टीएमएच अस्पताल में भी रहे। लेकिन हमनें सच लिखना नहीं छोड़ा, जिसकी वजह से असामाजिक लोगो ने झूठा केस करना जारी रखा और कहते फिरते हैं कि साला जब तक सच्चाई का भूत नहीं उतार देंगे तब तक केस करवाते रहेंगे।

हरिवंश : एक सीधा, सहज और सरल संपादक

बात उन दिनों की है जब पत्रकारिता का छात्र हुआ करता था. दिल्ली में रहता था. भारत और चीन के बीच विवाद चल रहा था. सारे चैनल उसी में डूबे हुए थे. एक उन्माद की तरह दिखाया जा रहा था कि बस कल चीन भारत पर हमला करेगा और भारत की कहानी खत्म. हम दोस्तों के बीच इसी बात पर रोजाना बहस होती थी, बतकही भी. एक दिन हमारे साथी विकास ने कहा कि यार एक नई साइट है भड़ास, उस पर प्रभात खबर के संपादक हरिवंश का लेख आया है. इसी मामले पर.

‘न्यायालय बना भ्रष्टालय’ पुस्तक के लेखक की पीआईएल खारिज

उत्तर प्रदेश सरकार के नौ उर्जा कंपनियों के निदेशक मंडल में एक ही आदमी के कई पदों पर नियुक्ति के खिलाफ सामाजिक कार्यकर्ता डॉ नूतन ठाकुर और देवेन्द्र दीक्षित द्वारा दायर पीआईएल इलाहाबाद हाई कोर्ट की लखनऊ बेंच ने आज खारिज कर दी. राज्य सरकार के अधिवक्ता ने श्री दीक्षित द्वारा उच्चतर न्यायपालिका के कथित भ्रष्टाचार पर लिखित पुस्तक ''न्यायालय बना भ्रष्टालय'' के रोके जाने सम्बन्धी हाई कोर्ट का आदेश प्रस्तुत किया जिस पर जस्टिस इम्तियाज़ मुर्तजा तथा जस्टिस डी के उपाध्याय की बेंच ने पीआईएल खारिज कर दिया.

सुधीर चौधरी ‘जी न्यूज’ को ले डूबे, आईबीएन7 पतन के गर्त में

दो बड़े न्यूज चैनलों का इन दिनों बुरा हाल हुआ पड़ा है. जी न्यूज कभी देश का जाना-माना चैनल हुआ करता था, लेकिन आजकल इसके दिन गर्दिश में चल रहे हैं. जिंदल ने जी ग्रुप के संपादकों का पैसे मांगते हुए स्टिंग क्या कर लिया, इस ग्रुप के चैनल देखते ही देखते बदनाम चैनल में शुमार होते चले गए. कितनी भी कोशिश की गई पर चैनल नहीं उठा तो नहीं उठा.

सहारा, मीडिया, समय, सपने और नए सौदागर

सहारा मीडिया जब सुब्रत रॉय के भाई जयब्रत रॉय से नहीं संभला तो अब एक नई चौकड़ी लाई गई। पूर्व फिल्म अभिनेता विश्वजीत की बहू अर्पिता चटर्जी के नेतृत्व में वरुण दास, बीवी राव, गुलाटी की नई टीम को गाजे बाजे के साथ आई है। ऐसी पैकेजिंग की गई कि लगा, अब बस सहारा या तो सुधर जाएगा या बिक जाएगा। वरुण दास ने आते ही सहारा मैनेजमेंट के सामने नया चारा डाला।

‘जानो दुनिया’ : घर फूंक तमाशा देख

मैं इस कंपनी को अपने इंटरव्यू के तीन महीने बाद ज्वाइन किया एवं तीन महीनों के अंदर अलविदा कह ​दिया। अलविदा कहने के बहुत सारे कारण थे, लेकिन सबसे पहला कारण। इस चैनल के मालिक का टारगेट केवल पैसा है। अगर यकीन न आए तो इंटरनेट पर सर्च कर लें, आपको लिखा मिल जाएगा- मेरा टारगेट एक करोड़ बिलियन : संजय गुप्ता। इस चैनल के मालिक कभी आईएएस अधिकारी थे। मगर गुजरात में आए भूकंप के बाद गुजरात एवं मालिक की जिन्दगी बदल गई।

माखनलाल में वरिष्ठ पत्रकार राजेन्द्र शर्मा बोले- बलिदान की कीमत न वसूलें

: पं. माखनलाल चतुर्वेदी की पुण्यतिथि पर व्याख्यान का आयोजन : भोपाल । जिन लोगों ने देश की आजादी के लिए बलिदान दिया और उसकी कीमत वसूल ली, वे समाज और देश का भला नहीं कर सकते। पत्रकार की रीढ़ कभी नहीं झुकनी चाहिए। पं. माखनलाल चतुर्वेदी की पुण्यतिथि पर उन्हें याद करते हुए यह बात वरिष्ठ पत्रकार राजेन्द्र शर्मा ने कही। वे माखनलाल चतुर्वेदी पत्रकारिता विश्वविद्यालय की ओर से आयोजित व्याख्यान कार्यक्रम में बतौर मुख्य अतिथि उपस्थित थे।

‘पत्रिका’ और ‘भास्कर’ ने ‘नईदुनिया’ को मीलों पीछे छोड़ा

: सिमट रहा पत्रकारिता की पाठशाला रहा 'नईदुनिया' : अड़ियल संपादक और नौसिखिए स्टाफ का कारनामा : पाठक सर्वे की ताजा रिपोर्ट ने हिंदी अखबारों की दुनिया के एक पुराने अखबार 'नईदुनिया' की बदतर होती हालत बयां कर दी। मध्यप्रदेश में आज ये अखबार सिकुड़कर ख़त्म होने की कगार पर खड़ा दिखाई देता है! हिंदी अख़बारों की दुनिया में 'नईदुनिया' बरसों तक एक सुसंस्कृत समाज का सभ्य भाषा वाला सामाजिक अखबार माना जाता था!

जागरण के मुताबिक लेफ्टीनेंट जनरल से मेजर में प्रमोशन होता है!

Roy Tapan Bharati : क्या लेफ्टीनेंट जनरल से मेजर में प्रमोशन होता है… जागरण के मुजफ्फरपुर संस्करण की खबर से यह मुझे पता चला… आज मैं जागरण ई-पेपर का मुजफ्फरपर संस्करण (30 जनवरी) पढ़ रहा था. दैनिक जागरण के मुजफ्फरपुर संस्करण के पेज-5 पर पुणे में एक मेजर की प्रशिक्षण के दौरान मौत की खबर में यह बात पढ़ी…

वीरेन डंगवाल अस्पताल से घर लौटे, सुनील छंइया को ब्रेन हैमरेज

दिल्ली के अपोलो अस्पताल में कैंसर के आपरेशन के बाद वीरेन डंगवाल अब दिल्ली स्थित अपने बेटे के घर लौट आए हैं. उनका पिछले दिनों मेजर आपरेशन हुआ. कई घंटे तक वह आपरेशन थिएटर में ही रहे. बाद में उन्हें आईसीयू में शिफ्ट किया गया. अब उन्हें घर भेज दिया गया है. डाक्टरों ने कुछ जांच के लिए उन्हें अस्पताल बुलाया और पाया कि सारा कुछ ठीक रहा.

वो लाल किला तुम्हारे नहीं बल्कि हमारे बाप ने बनवाया था : अर्जीज बर्नी

Aziz Burney : (29-01-14) अबे रमा शंकर… तू जिस मोदी की बात कर रहा है, उसको आज ही तेरे शंकराचार्य ने हिंदुओं का सबसे बड़ा दुश्मन कहा है, और तू समझता है हमें आईसोलेटेड (isolated)… हम दुनिया की दूसरी सबसे बड़ी आबादी हैं और दुनिया की पहली सबसे बड़ी ताक़त हैं…

हे पत्रकार, तुमको मैं बालकनी से फेंक दूंगा!

भारत में ही नहीं, अमेरिका में भी सांसद बदमिजाज होते हैं. वॉशिंगटन से खबर है कि कैपिटल पर मंगलवार की रात रिपब्लिकन सांसद माइकल ग्रिम ने एनवाई-1 के न्यूज रिपोर्टर को धमकी दी कि वे उन्हें बालकनी से उठाकर बाहर फेंक देंगे. हालांकि सांसद ने बाद में अपनी सफाई में कहा कि उन्होंने संवाददाता को पेशेवर रवैया अपनाने के लिए मौखिक रूप से समझाया भर था.

मिस्र में 16 स्थानीय और चार विदेशी पत्रकारों पर मुकदमा चलाने की तैयारी

मिस्र में 16 पत्रकार चरमपंथी संगठनों से संबंध रखने और चार पत्रकार उनकी मदद करने या झूठी खबरें फैलाने संबंधी आरोपों का सामना कर रहे हैं. इन कुल बीस पत्रकारों में से दो ब्रिटेन, एक हालैंड और एक ऑस्ट्रेलिया का पत्रकार है. समझा जाता है कि ऑस्ट्रेलिया के वो पत्रकार पीटर ग्रेस्ट हैं, जो अल-जज़ीरा के संवाददाता हैं. इससे पहले, बीबीसी समेत अंतरराष्ट्रीय न्यूज़ नेटवर्क्स ने अल-जज़ीरा के पांच पत्रकारों की रिहाई की मांग की थी. बाकी 16 पत्रकार मिस्र के ही हैं जिन पर एक चरमपंथी संगठन से संबंध रखने, राष्ट्रीय एकता और सामाजिक शांति को नुक़सान पहुंचाने तथा अपने लक्ष्य हासिल करने के लिए चरमपंथ को एक औज़ार की तरह इस्तेमाल करने जैसे कई आरोप हैं.

मेरठ में पत्रकार दंपति ने चीफ इंजीनियर के आफिस पर आत्मदाह का प्रयास किया

मेरठ से खबर है कि एक पत्रकार दंपती ने ऊर्जा निगम के चीफ इंजीनियर के दफ्तर पर आत्मदाह का प्रयास किया. सूचना पर पहुंची दंपति को महिला थाने ले आई. पत्रकार दंपति का आरोप है कि तीन महीने पहले इंजीनियर ने उनके साथ अभद्रता की और कैमरा तोड़ दिया था. इस मामले में कहीं भी उनकी सुनवाई नहीं हुई और न ही इंजीनियर पर कोई कार्रवाई हुई.

लाइव इंडिया पर नए लोगों की ऐसी कृपा बरसी की चैनल टीआरपी लिस्ट से बाहर हो गया!

खबर लाइव इंडिया से……. चैनल पर नये लोगों की कृपा इतनी बरस रही हैं कि चैनल TRP  की लिस्ट से ही बाहर हो गया है….. लेकिन सपने और बाते और दावे और बैठकों का दौर तो ऐसा कि नंबर वन चैनल वाले भी हिल जाएं….. शरमा जाएं…… लाइव इंडिया का ऑफिस नोएडा जाने की तैयारी में है….. राय मशविरा रोजाना जारी है…. कुछ लोग पैसा बनाने के रास्तों पर जी जान से जुटे हैं….. मालिकों को विश्वास में लेने की कोशिश जारी है….

11 पारिवारिक कहानियां : रिश्‍तों के जाल में उलझे कुछ किस्‍से

दुनिया और समाज चाहे जितने बदल जाएं परिवार और परिवार की बुनियाद कभी बदलने वाली नहीं है। माहेश्वर तिवारी का एक गीत है, 'धूप में जब भी जले हैं पांव, घर की याद आई !' सार्वभौमिक सच यही है। भौतिकता की अगवानी में आदमी चाहे जितना आगे बढ़ जाए, जितना बदल जाए परिवार के बिना वह रह नहीं सकता और परिवार उस के बिना नहीं रह सकता। कहा ही जाता है कि कोई भी घर छत, दीवार और दरवाजे से नहीं बनता। घर बनता है आपसी रिश्तों से।

सात प्रेम कहानियां : मासूम दिलों के निश्‍छल प्‍यार की कथा

अकथ कहानी प्रेम की। तो कबीर यह भी कह गए हैं कि ढाई आखर प्रेम का पढ़े सो पंडित होय! कबीर के जीवन में दरअसल प्रेम बहुत था। जिस को अद्वितीय प्रेम कह सकते हैं। उन की जिंदगी का ही एक वाकया है। कबीर का विवाह हुआ। पहली रात जब कबीर मिले पत्नी से तो पूछा कि क्या तुम किसी से प्रेम करती हो? पत्नी भी उन की ही तरह सहज और सरल थीं। दिल की साफ। सो बता दिया कि हां। कबीर ने पूछा कि कौन है वह। तो बताया पत्नी ने कि मायके में पड़ोस का एक लड़का है।

चिटफंडियों के चैनल के स्टिंगर भुखमरी के कगार पर, मालिक भंगू विदेश में मौज मना रहा

कभी पीएसील तो कभी पर्ल तो कभी वाइटल तो कभी कोई नया नाम धारण करके देश की आम जनता से हजारों करोड़ रुपये लूटने वाले सरदार जी निर्मल सिंह भंगू इन दिनों आस्ट्रेलिया में मौज कर रहे हैं पर उसके न्यूज चैनल पी7न्यूज के भारतीय स्ट्रिंगर भूखों मरने के कगार पर हैं. इन्हें करीब छह महीने से उनका मेहनताना नहीं दिया गया है. पी7न्यूज चैनल के एक स्ट्रिंगर ने नाम न छापने की शर्त पर भड़ास के पास एक मेल भेजा है, जिसे हूबहू प्रकाशित किया जा रहा है.

सिनेमा सिनेमा : बड़़े पर्दे के सरोकार को बताती एक पुस्‍तक

सिनेमा के सच और समाज के सच जैसे एक दारुण सच बन गए हैं। लगता ऐसे है जैसे सिनेमा न हो तो जीवन न हो। जीवन का एक विकट सच यह भी है कि हमारे भारतीय समाज में, दुनिया में हिंदी अगर आज तमाम दुश्वारियों के बावजूद सर उठा कर खड़ी है तो उस में हिंदी सिनेमा का बहुत बड़ा योगदान है। सोचिए कि अगर हिंदी सिनेमा हिंदीमय और बाज़ार न हो तो हिंदी कौन बोलेगा? कौन सुनेगा? रोजगार से हिंदी गायब है, अदालतों से, विधाई कार्यों से, ज्ञान-विज्ञान से और तमाम हलकों में हिंदी का नामलेवा कोई नहीं है। ऐसे में हिंदी सिनेमा और उस का संगीत हिंदी की अप्रतिम ताकत है।

250 रुपए से कारोबार शुरू करने वाला यह पूर्व पत्रकार 800 करोड़ का मालिक है

नई दिल्ली : राज्यसभा का सदस्य बनने के लिए नामांकन दाखिल करने वाले सभी उम्मीदवारों में सबसे अमीर बीजेपी की ओर से प्रत्याशी रविंद्र किशोर सिन्हा हैं। उनकी और उनकी पत्नी की कुल संपत्ति करीब 800 करोड़ बताई गई है। सिन्हा के नाम दर्ज संपत्ति की कीमत 564 करोड़ रुपये जबकि उनकी पत्नी के पास 230 करोड़ रुपये कीमत की संपत्ति है। सिन्‍हा चार सालों तक पटना के एक अखबार में पत्रकार भी रहे हैं। 

20 पत्रकारों पर मुकदमा लादने की तैयारी

मिस्र में सरकारी वकीलों का कहना है कि 16 पत्रकार 'चरमपंथी संगठनों से संबंध रखने' और चार पत्रकार उनकी मदद करने या झूठी ख़बरें फैलाने संबंधी आरोपों का सामना कर रहे हैं. इन कुल बीस पत्रकारों में से दो ब्रिटेन, एक हालैंड और एक ऑस्ट्रेलिया का पत्रकार है. समझा जाता है कि ऑस्ट्रेलिया के वो पत्रकार पीटर ग्रेस्ट हैं, जो अल-जज़ीरा के संवाददाता हैं.

रीडरशिप घटाने वाला सर्वे जागरण को मंजूर नहीं

नई दिल्ली। देश के सभी समाचार पत्रों के बीच दैनिक जागरण ने लगातार 26वीं बार पहले पायदान पर अपना कब्जा बरकरार रखा है। हालांकि, आइआरएस के जून-दिसंबर, 2013 सर्वेक्षण के मुताबिक देश के ज्यादातर अखबारों की रीडरशिप घटी है, लेकिन बावजूद इसके दैनिक जागरण को देश का नंबर एक अखबार घोषित किया गया है।

दरअसल दैनिक जागरण और अमर उजाला की अपनी दिक्‍कतें हैं

जिस अखबार का प्रसार ज्यादा है, अगर उसी की रीडरशिप भी ज्यादा होगी तो क्या जरूरत है, रीडरशिप सर्वे की। कोई यह मानने को तैयार ही नहीं होता कि वह पिछड़ गया है। अपने अखबारों में पहले पेज पर खबर छाप रहा कि सर्वे गलत है। यह फर्जीबाड़ा है। तकनीक गलत है। कंपनी को कोई ज्ञान ही नहीं है। अरे .. .. .. कुछ नया करोगो नहीं। खुद को बदलोगे नहीं। जब पिछड़ोगे, तो हल्ला करोगे।

जापान के दो पत्रकार कल आयेंगे भभुआ

भभुआ : जापान की एक पत्रिका के एडिटर सहित दो सदस्यीय टीम 30 जनवरी को ग्रीन सिटी भभुआ आयेंगे. इस पत्रिका के संपादक ने यह जानकारी डीएम अरविंद कुमार सिंह को दी. दो सदस्यीय टीम ग्रीन सिटी बनाये जाने में लोगों के सहयोग की विस्तृत जानकारी लेगी. साथ ही ग्रीन सिटी के रूप में पहचान बना चुके भभुआ का भ्रमण कर अपनी पत्रिका के लिए रिपोर्ट तैयार करेंगे.

सलमान खान की गुहार- मेरे खिलाफ चल रहे सभी केस एक साथ जोड़ दिए जाएं

जोधपुर। अपनी अय्याशी के लिए हिरणों की हत्या करना सिने स्टार सलमान खान को काफी महंगा पड़ रहा है। मुंबई में फिल्मों की शूटिंग और भाजपा के पीएम पद के उम्मीदवार नरेंद्र मोदी के साथ पतंग उड़ाने के अपने व्यस्त कार्यक्रम में से समय निकाल कर उसे जोधपुर की अदालत में एक आम मुजरिम की तरह पेश होना पड़ रहा है। आज सलमान खान चार्टेड विमान से जोधपुर आए और जोधपुर की चीफ ज्यूडिशियल मैजिस्ट्रेट चन्द्रकला जैन की अदालत में पेश हुए।

एचटी ने दिल्ली-एनसीआर में खुद को नंबर वन कहा तो टाइम्स ने गोवा में खुद को नंबर दो बताया

नीचे दो खबरें हैं. एक टाइम्स आफ इंडिया में प्रकाशित हुई है. इसमें उसने खुद को गोवा में नंबर दो अखबार बताया है. दूसरी हिंदुस्तान टाइम्स में. इसमें दिल्ली एनसीआर में एचटी को नंबर वन अखबार बताया गया है. आईआरएस 2013 के आंकड़ों को सारे अखबार अपने अपने तरीके से व्याख्यायित कर अपने अपने यहां प्रकाशित कर रहे हैं.

वरिष्ठ IAS ने अधिकारी बनाने का वादा किया और बदले में मोहतरमा ने अपनी ‘सेवाएं’ अर्पित कीं…

Amit Tripathi : इस लड़की के खिलाफ आपराधिक साजिश रचने का केस क्यों दर्ज नहीं होना चाहिए? बड़ा अधिकारी बनने की 'दृढ़ इच्छाशक्ति' के साथ 23 वर्षीय मैडम ने Rajasthan Civil Services Appellate Tribunal के चेयरमैन से दोस्ती गांठी… वरिष्ठ IAS ने मैडम को शॉर्ट कट के जरिए अधिकारी बनाने का वादा किया… बदले में मोहतरमा ने उदयपुर, गोआ, चेन्नई और भरतपुर के होटलों के अलावा IAS के फ्लैट में उन्हें अपनी 'सेवाएं' अर्पित कीं…

‘भड़ैती के कुछ सीन’ सीरिज के प्रकाशन पर ‘साधना न्यूज’ वालों ने भड़ास पर किया मुकदमा

Yashwant Singh : 'एक न्यूज चैनल में भड़ैती के कुछ सीन' नामक सिरीज के प्रकाशित किए जाने पर साधना न्यूज चैनल वालों ने भड़ास पर मुकदमा किया… चार तारीख को पेशी है, दिल्ली के तीस हजारी कोर्ट में… पहले साधना वाले कोर्ट के माध्यम से मेरे पुराने पते पर नोटिस भेजते रहे.. पर वहां कोई था नहीं, इसलिए नोटिस रिसीव नहीं हुआ… उन लोगों ने मेरे एक करीबी मित्र से किसी बहाने से मेरा नया पता हासिल किया और धड़ाधड़ चार नोटिस सर्व करा दिए…

रायपुर के पत्रकारों ने दर्ज कराया मुकदमा, भड़ास को साइबर क्राइम का एक वकील चाहिए…

Yashwant Singh :  साइबर क्राइम का एक वकील चाहिए. कृपया कोई सस्ता सुंदर टिकाऊ हो तो मुझे बताएं. रायपुर के भाजपा प्रेमी कुछ पत्रकार पीछे पड़े हैं. स्टेट मशीनरी का दुरुपयोग कर भड़ास को डराने-धमकाने में लगे हैं. आईटी एक्ट का मुकदमा लिखकर खबर भेजने वाले का नाम पता पूछा जा रहा है. हम लोगों ने किसी भी हाल में बताने से इनकार कर दिया है. कानूनी लड़ाई अब कानूनी तरीके से भरपूर ढंग से लड़ने की सोच रहा हूं. कृपया आप लोग भी इस यज्ञ में आहुति दें.

आरजे सिमरन ने रेडियो सिटी दिल्ली को अलविदा कहा, राष्ट्रीय सहारा देहरादून से हरीश जोशी कार्यमुक्त

रेडियो सिटी दिल्ली की ब्रेकफास्ट शो एंकर सिमरन कोहली ने तकरीबन सात वर्ष बाद रेडियो सिटी से इस्तीफा दे दिया है. श्रोताओं के बीच अपने पहले नाम से पहचानी जाने वालीं सिमरन सुबह 7-11 बजे के शो 'ढिंचैक मोर्निंग्स' को प्रस्तुत करती हैं. शहर की सबसे मशहूर रेडियो जॉकी कोहली ने अपने करियर की शुरुआत ऑल इंडिया रेडियो के साथ की थी.

हिंदुस्तान पटना में ब्लंडर, साहित्यकारों के साथ मजाक

हिन्दुस्तान, पटना के आज के यानि बुधवार 29 जनवरी 2014 के अंक में 'पटना लाइव' परिशिष्ट के 'पटनानामा' पेज पर एक शर्मनाक भूल हुई है। इसमें महत्व के साथ एक परिचर्चा छपी है- 'क्या आज कविता पाठकों से दूर हो रही है'। इस परिचर्चा की प्रस्तुति में कवि सत्यनाराण की फोटो के नीचे उऩका नाम 'नंदकिशोर नवल, वरिष्ठ समालोचक' लिख दिया गया है।

प्रो. निशीथ राय बने डा. शकुंतला मिश्रा विश्‍वविद्यालय के वीसी

लखनऊ। डेली न्‍यूज एक्टिविस्‍ट के चेयरमैन एवं प्रोफेसर निशीथ राय ने उत्तर प्रदेश विकलांग उद्धार डा: शकुंतला मिश्रा विश्वविद्यालय के कुलपति पद का कार्यभार मंगलवार को ग्रहण कर लिया। यह जानकारी यहां देते हुए एक सरकारी प्रवक्ता ने बताया कि प्रो. राय का कार्यकाल पांच वर्ष का होगा।

दैनिक जागरण के लोकल इंचार्ज ने एनबीटी के फोटोग्राफर को हड़काया

दैनिक जागरण, लखनऊ के लोकल इंचार्ज की दबंगई संस्‍थान के अंदर और बाहर दोनों जगह एक जैसे ही चालू हैं. इनकी दबंगई का सार्वजनिक मुजाहिरा नगर निगम में सदन की कार्यवाही के दौरान देखने को मिले. मंगलवार को नगर निगम के सदन के दौरान पार्षदों के बीच हुए हंगामे के दौरान एनबीटी के फोटोग्राफ्रर आशुतोष त्रिपाठी फोटो खींच रहे थे. ये जनाब बार बार आशुतोष के सामने आकर अपने मोबाइल से फोटो क्लिक कर रहे थे. 

आईआरएस 2013 IRS 2013 : बनारस में हिंदुस्‍तान ने जागरण को पछाड़ा

आईआरएस के सर्वे में सबसे बुरी ख‍बर दैनिक जागरण के लिए आई है. लांचिंग के बाद से बनारस में नम्‍बर एक रहे अखबार को हिंदुस्‍तान ने खिसका कर दूसरे स्‍थान पर कर दिया है. दैनिक जागरण में जहां विजन की कमी और गुटबाजी हावी रही वहीं हिंदुस्‍तान की टीम एकजुट होकर काम में जुटी रही. बनारस दैनिक जागरण के गढ़ के रूप में जाना जाता रहा है. अमर उजाला, हिंदुस्‍तान, राष्‍ट्रीय सहारा, जनसंदेश टाइम्‍स के आने के बाद भी दैनिक जागरण को उसकी गद्दी से कोई उतार नहीं पाया था, परंतु 2013 के चौथी तिमाही में जागरण का राज खतम हो गया.

आईआरएस 2013 IRS 2013 : चौथे स्‍थान पर पहुंचा राजस्‍थान पत्रिका

जयपुर। आज का दिन मध्यप्रदेश और छत्तीसगढ़ के लिए ऎतिहासिक है, जब इन दोनों प्रदेशों ने एक नए प्रदेश को जन्म दिया है। यह नया प्रदेश एक नई सोच और आम आदमी के विश्वास का प्रतीक है। भारतीय पाठक सर्वेक्षण की मंगलवार को मुम्बई में जारी वर्ष 2013 की नवीनतम रिपोर्ट में "पत्रिका" ने मध्यप्रदेश व छत्तीसगढ़ में अपनी ऎतिहासिक सफलता का परचम लहराते हुए वृद्धि के आंकड़ों में शेष सभी अखबारों को पीछे छोड़ दिया है।

एक जज ने कहा- सुब्रत रॉय सेबी के बाद सुप्रीम कोर्ट को भी चुनौती दे सकते हैं (देखें वीडियो)

सुप्रीम कोर्ट की सरेआम धज्जी उड़ाई सुब्रत रॉय ने… सहारा के चीफ सुब्रत रॉय ने साफतौर पर से देश की सबसे बड़ी अदालत सुप्रीम कोर्ट से पंगा ले लिया है… कोलकाता में 27 नवंबर 2013 को सुब्रत रॉय ने सहाराकर्मियों को ज्ञान देते हुए कहा कि सुप्रीम कोर्ट 15 महीने बाद भी अपने फैसले को लागू नहीं करा पा रहा है… सुब्रत रॉय का दावा है कि भारत में एक नजीर बन गया है कि सुप्रीम कोर्ट अपने फैसले को लागू नहीं करा पा रहा है…

‘आजतक’ की सबसे बड़ी चिंता- फिल्म के सेट से सनी लियोन के अंतरवस्त्र चोरी!

Balendu Swami : देश की सबसे बड़ी चिंता, अपराध और समस्या बताई "आजतक" ने: फिल्म के सेट से सनी लियोन के अंतरवस्त्र चोरी! कल्पना करिए कि मीडिया कंपनियों का क्या स्तर हो गया है, और दोष केवल इनका ही नहीं, बात यह है कि दर्शक यही देखना, सुनना और पढना चाहते हैं! कितने महत्वपूर्ण हैं एक पोर्न स्टार के अंतर्वस्त्र! जिसके चोरी की घटना राष्ट्रीय मीडिया की खबर बन जाती है!

आईआरएस 2013 IRS 2013 : यूपी में दूसरे स्‍थान पर पहुंचा हिंदुस्‍तान

आम चुनाव अभी चंद महीने दूर हैं लेकिन पाठकों की पसंद के आधार पर जिन हिन्दी अखबारों का प्रसार तेजी से बढ़ रहा है उस सर्वे के नतीजे आ गए हैं। ‘हिन्दुस्तान’ ने दौर-दर-दौर अपनी पाठक संख्या को बढ़ाते जाने वाले इकलौते हिन्दी दैनिक के तौर पर शानदार प्रदर्शन जारी रखा है।

पुस्तक मेला के लिए युवा पत्रकारों को पंकज चतुर्वेदी का आफर

Pankaj Chaturvedi : हर साल की तरह इस बार भी विश्‍व पुस्‍तक मेला, नई दिल्‍ली 15 से 23 फरवरी 2014 के दौरान हम एक दैनिक बुलेटिन का प्रकाशन करेंगे जो हर रात को छपेगा व अगले दिन मेला परिसर में भागीदारों व आगंतुकों के बीच बंटेगा. इसमें मेले में घटित वाली और संपन्‍न होने वाली सभी गतिविधियों पर सामग्री होती है. इसके लिए हम तीन स्‍वत़ंत्र पत्रकार भी रखते हैं.

पत्रकार अज़ीज़ बर्नी ने फेसबुक पर मुस्लिमों को क्या चुनावी पाठ पढ़ाया, आप भी पढ़ें

Aziz Burney : अज़ीज़उल-हिंद एनजीओ प्लान फ़ॉर इलेक्शन 2014 (28-01-2014)… कुल 543 पार्लियामेंट्री सीटों में से 127 रिज़र्व (Reserve) सीट्स हैं जिनमें आधी से ज़्यादा सीटों पर मुस्लिम वोट फ़ैसलाकुन है, जैसे नगीना (उत्तर प्रदेश) 7 लाख, बुलंदशहर (उत्तर प्रदेश) 5 लाख से ज़्यादा। हिंदुस्तान भर की तफ़्सील मेरे पास है। इसी तरह से 100 से ज़्यादा सीट्स हैं जहां मुसलमान फ़ैसलाकुन हैं, ये तफ़्सील भी है, रिज़र्व सीट्स पर वोट किसी दलित को ही देना है। हर पार्टी का अपना उम्मीदवार होगा। कुछ रियासतों में हमारी सपोर्ट उस पार्टी को हो सकती है जिसे हमारी मर्कज़ी कमेटी तय करे। उनसे कुछ सीटें अपने उम्मीदवारों के लिए छोड़ने की बात की जा सकती है।

सोशल मीडिया पर गंदे मैसेज से परेशान महिला ने की आत्‍महत्‍या

कोच्चि से खबर है कि सोशल मीडिया पर आपत्‍तिजनक संदेश मिलने से एक महिला ने आत्‍महत्‍या कर ली. बताया जाता है कि महिला को फेसबुक पर लगातार अश्‍लील संदेश मिल रहे थे जिससे परेशान होकर उसने आत्‍मघाती कदम उठा लिए. महिला दो बच्‍चों की मां भी थी. कोच्चि के पास चेरनल्लोकर में 27 वर्षीय विवाहित महिला फेसबुक पर अश्लील संदेश डाले जाने के बाद यह अपमान नहीं सह पाई और उसने आत्महत्या कर ली.

डीडी न्यूज़ के डॉ. ओपी यादव को महात्मा गांधी मीडिया एक्सीलेंस आवार्ड

नई दिल्ली, 28 जनवरी। अशोका होटल में आयोजित 33वीं अन्तर्राष्ट्रीय एन.आर.आई. कांफ्रेंस में डीडी न्यूज नई दिल्ली के वरिष्ठ पत्राकार डॉ. ओ.पी. यादव को ‘‘महात्मा गांधी मीडिया एक्सीलेंस अवार्ड’’ से सम्मानित किया गया। यादव को यह पुरस्कार केन्द्रीय कृषि राज्य मंत्री श्री तारिक अनवर, पूर्व राज्यपाल श्री भीष्म नारायण सिंह, प्रेस काउंसिल ऑफ इंडिया के सदस्य गुरिंदर सिंह और हांगकांग जैम्स स्टोन इंडस्ट्री के चैयरमेन एवं एनआरआई. नीरज कुमार जैन ने दिया। पुरस्कार के रूप में यादव को महात्मा गांधी की तस्वीर के साथ स्वर्ण पदक और प्रमाण पत्र देकर सम्मानित किया गया।

उग्रवादियों की धमकी के बावजूद गुवाहाटी प्रेस क्लब में फहराया गया तिरंगा

गुवाहाटी। उग्रवादी संगठनों की धमकियों को दरकिनार करते हुए अन्य संगठनों और सरकारी संस्थानों के साथ गुवाहाटी प्रेस क्लब में भी 65वां गणतंत्र दिवस समारोह का आयोजित किया गया। समारोह में प्रेस क्लब के सदस्यों के साथ बड़ी संख्या में वरिष्ठ नागरिक और बच्चे शामिल हुए।

बिहार में पत्रकारों की चांदी, पांच लाख की बीमा योजना मंजूर

बिहार सरकार ने पत्रकारों को खुश करने का मन बना लिया है. मंत्रिपरिषद की बैठक में पत्रकारों के लिए ग्रुप मेडिक्लेम तथा व्यक्तिगत दुर्घटना बीमा योजना को मंजूरी दे दी गई है। लगभग तीन हजार पत्रकार इस योजना के तहत लाभान्वित होंगे। बिहार सरकार की इस योजना के तहत पत्रकारों के लिए व्यक्तिगत तौर पर पांच लाख का बीमा तथा साथ में पत्नी एवं दो बच्चों के साथ पांच लाख का पारिवारिक मेडिक्लेम भी शामिल है।

जमानत न होने देने और फंसाने के लिए तरुण तेजपाल पर लगाया गया धमकाने का आरोप!

तरुण तेजपाल ने अपने उपर लगे आरोपों की जांच कर रही महिला अधिकारी को पत्र लिखकर कई बातें कही हैं. ये पत्र उन्होंने तब लिखा जब उन्हें पता चला कि महिला अधिकारी सुशीला सावंत ने उन पर यानि तरुण तेजपाल पर धमकी देने का आरोप लगाया है और इस बारे में कोर्ट को सूचित किया है. तरुण तेजपाल ने पत्र लिखकर कहा है कि ये सब इसलिए किया जा रहा है ताकि उनको जमानत न मिले और पूरी तरह फंसाया जा सके. पत्र अंग्रेजी में है और जेल से लिखा गया है.

कई पत्रकार, समाज सेवक और कलाकार इम्वा अवार्ड से सम्मानित

गणतंत्र दिवस के मौके पर इंडियन मीडिया वेलफेयर एसोसिएशन ने पूर्वी दिल्ली के पीएसके में "यह देश है वीर जवानों का" नाम से एक सांस्कृतिक कार्यक्रम का आयोजन किया। इसमें पत्रकारिता जगत के कई जाने-मानें नामों समेत कला और समाज के अलग-अलग क्षेत्रों में उल्लेखनीय काम कर रहे लोगों को इम्वा अवार्ड से सम्मानित किया गया। यह दूसरा मौका था जब इंडियन मीडिया वेलफेयर एसोसिएशन ने सांस्कृतिक कार्यक्रम और सम्मान समारोह को एक साथ आयोजित किया।

ब्लैकमेल करने वाल पत्रकार हिमांशु जैन जेल गया, महिला पत्रकार बरखा नाग फरार

मध्य प्रदेश के बालाघाट से खबर है कि रेप के एक आरोपी को ब्लैकमेल करने वाले स्थानीय पत्रकार हिमांशु जैन को जेल भेज दिया गया है. इसी मामले में महिला पत्रकार बरखा नाग फरार है. अदालत के निर्देश पर पुलिस ने बलात्कार के मामले में कथित आरोपी को ब्लैकमेल करने के मामले में एक पत्रकार को गिरफ्तार कर अदालत में पेश किया, जहां से उसे न्यायिक अभिरक्षा में आज जेल भेज दिया गया. पुलिस ने बताया कि इसी मामले से जुड़ी एक महिला पत्रकार फरार है, जिसकी पुलिस तलाश कर रही है.

IRS 2013 – Top Magazines : आईआरएस 2013 – शीर्ष पत्रिकाएं

नीचे शीर्ष भारतीय पत्रिकाओं, शीर्ष हिंदी पत्रिकाओं और शीर्ष क्षेत्रीय पत्रिकाओं के बारे में आंकड़े दिए जा रहे हैं. ये आंकड़े मीडिया रिसर्च यूजर्स काउंसिल (एमयूआरसी) द्वारा जारी इंडियन रीडरशिप सर्वे पर आधारित हैं. हिंदी में नंबर वन पर प्रतियोगिता दर्पण मैग्जीन है. नंबर दो पर सरस सलिल और नंबर तीन पर इंडिया टुडे है. अंग्रेजी में नंबर एक पर इंडिया टुडे है. नंबर दो पर प्रतियोगिता दर्पण और नंबर तीन पर स्पोर्ट्स स्टार है. यह महत्वपूर्ण है कि मैग्जीन कैटगरी में न्यूज-व्यूज पर आधारित मैग्जीन की जगह प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी के लिए केंद्रित मैग्जीन प्रतियोगिता दर्पण कहीं नंबर एक तो कहीं नंबर दो पर है. बाकी आप खुद देख लें…

IRS 2013 Launch – Press Note Final

January 28, 2014 : The MRUC (Media Research Users Council), a not for profit industry body along with RSCI (Research Studies Council of India) has announced the launch of its all new IRS (Indian Readership Survey). The new IRS follows a completely new methodology equipped with modern technology and is much more robust, and enhanced data quality. For the first time the entire interview has been conducted on double screen CAPI (Computer Aided Personal Interview). This is a first, globally considering the large sample size. DS CAPI has ensured top quality data collection, and effectiveness in gathering better consumer insights.

आईआरएस 2013 IRS 2013 : शीर्ष अंग्रेजी अखबार Top English Newspaper

1- टाइम्स ऑफ इंडिया 7,253,000 एआईआर 

2- हिंदुस्तान टाइम्स 4,335,000 एआईआर

3- द हिंदू 1,473,000 एआईआर

4- मुंबई मिरर 1,084,000 एआईआर

5- द टेलिग्राफ 937,000 एआईआर

दूरदर्शन को लखनऊ और पीटीआई को कई शहरों में चाहिए मीडियाकर्मी, करें आवेदन

दूरदर्शन केंद्र, लखनऊ के समाचार विभाग के लिए मीडियाकर्मियों की जरूरत है. कॉपी एडिटर, एंकर सह संवाददात, संवाददाता, ट्रेनी पैकेजिंग, नॉन लीनियर विडियो एडिटर, ब्रॉडकास्ट एग्जिक्यूटिव, लाइब्रेरी असिस्टेंट, जूनियर असाइनमेंट को-ऑर्डिनेटर जैसे पदों के लिए कान्ट्रैक्ट पर नियुक्तियां की जाएंगी. इच्छुक और योग्य उम्मीदवार ''उप निदेशक (प्रशासन), दूरदर्शन केंद्र लखनऊ – 226001'' के पते पर 7 फरवरी, 2014 तक आवेदन कर सकते हैं.

राहुल गांधी ने कैंब्रिज की अपनी एमफिल डिग्री फर्जी होने का तथ्य के साथ खंडन किया

Sheetal P Singh : इस मशहूर साक्षात्कार में एक बात राहुल गांधी ने मेरे हिसाब से score की और मेरी ज़िम्मेदारी बनती है कि उसे दर्ज किया जाय, क्योंकि मैंने राहुल की आलोचना भी की है। राहुल ने कैम्ब्रिज की अपनी M Phil की डिग्री के फ़र्ज़ी होने का तथ्य के साथ खंडन किया, सुब्रमण्यम स्वामी का पुराना आरोप है कि यह डिग्री जाली है।

चंडीगढ़ से शुरू हुआ नया अखबार ‘प्रखर भारत’

चंडीगढ़ से एक नए अखबार 'प्रखर भारत' की शुरुवात हुई है। फिलहाल यह अखबार साप्ताहिक छपेगा। इस अखबार के संस्थापक दिवाकर चौधरी के अनुसार आने वाले समय में इस अखबार को डेली बनाया जाएगा। यह अखबार फिलहाल राष्ट्रीय खबरों के साथ-साथ चंडीगढ़, पंजाब, हरियाणा, उत्तर प्रदेश, हिमाचल प्रदेश की खबरों को कवर करेगा. मैनेजमेंट ने अभी मार्केट में 20 पेज का अखबार लांच किया है.

नीतीश सरकार ने पत्रकारों के लिए बीमा योजना को मंजूरी दी

पटना : बिहार की नीतीश सरकार ने पत्रकारों के लिए बीमा योजना को आज मंजूरी प्रदान कर दी. मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की अध्यक्षता में आज संपन्न राज्य मंत्रिपरिषद की बैठक के दौरान मंत्रिपरिषद ने बिहार राज्य पत्रकार बीमा योजना 2014 के स्वरुप एवं उसमें अंतर्निहित शर्तो को लागू किए जाने को अपनी मंजूरी प्रदान कर दी.

दिल्ली पुलिस का हाल बता रही हैं एबीपी न्यूज की पत्रकार पवन रेखा

धन्यवाद दीजिए अरविंद केजरीवाल और उनके लोगों को जिन्होंने दिल्ली पुलिस और नेताओं के बीच अपवित्र सांठगांठ का पर्दाफाश कर उन काले कारनामों पर सवाल उठाया जो पुलिस संरक्षण में संचालित किया जाता है. दिल्ली में सारे अवैध काम, अनैतिक काम पुलिस संरक्षण में किया जाता है. सब कुछ तय है. महीना बंधा हुआ है. नेता का, पुलिस का, सिस्टम का, सत्ता का. आम जनता मरे तो मरे. भुगते तो भुगते.

‘राष्ट्रीय उजाला’ से सुबोध, अजीत समेत कई का इस्तीफा

खबर है कि नोएडा से प्रकाशित हिंदी दैनिक राष्ट्रीय उजाला अखबार से पिछले दो महीने के अंदर आधा दर्जन से अधिक उच्च पदों पर आसीन लोगों ने इस्तीफा देकर प्रबंधन की कार्यप्रणाली पर सवाल खड़ा कर दिया है. खबर है कि कई जिलों के प्रभारियों ने भी अखबार को छोड़ दिया है. इससे अखबार की वित्तीय हालत डगमगा गई है. राष्ट्रीय उजाला से कार्यकारी संपादक सुबोध कुमार ने दीपावली के दिन इस्तीफा दिया था.

सेबी को बिना पूरा कागज दिए विदेश नहीं जा सकते सुब्रत राय : सुप्रीम कोर्ट

सुप्रीम कोर्ट से सहारा को नहीं मिली राहत… सहारा के चीफ सुब्रत रॉय की विदेश जाने की अर्जी आज सुप्रीम कोर्ट ने खारिज कर दी… देश की सर्वोच्च अदालत ने सहारा को अपने बैंक स्टेटमेंट और निवेशकों से जुड़ी जानकारी जमा करने को कहा है… मामले की अगली सुनवाई 11 फरवरी को होगी… सुप्रीम कोर्ट ने निवेशकों का धन लौटाने संबंधी विवाद में सहारा समूह के प्रमुख सुब्रत रॉय को विदेश जाने की इजाजत मंगलवार को भी नहीं दी… न्यायमूर्ति केएस राधाकृष्णन और न्यायमूर्ति जेएस केहर की खंडपीठ ने कहा कि सहारा प्रमुख तब तक देश छोड़कर नहीं जा पाएंगे जब तक वह भारतीय प्रतिभूति विनिमय बोर्ड (सेबी) को आवश्यक और मूल दस्तावेज उपलब्ध नहीं करा देते…

पत्रकारिता और जनवादी आंदोलनों से जुड़े राघवेन्द्र पर सपा सरकार के इशारे पर हमला

लखनऊ/प्रतापगढ़ : रिहाई मंच के अध्यक्ष मोहम्मद शुऐब ने कहा है कि वरिष्ठ पत्रकार एवं अल्पसंख्यक समेत हाशिए पर रह रहे लोगों की आवाज मजबूती से उठाने वाले जन आंदोलनों के नेता राघवेन्द्र प्रताप सिंह के फतेहपुर स्थित पैत्रिक आवास पर हमला सपा सरकार के इशारे पर किया गया। उन्होंने कहा कि दबंग सुनील यादव एवं उसके सैकड़ो हथियार बंद समर्थकों द्वारा बीते इक्कीस जनवरी को दिन-दहाड़े ताबड़तोड़ हमले के एक सप्ताह से ज्यादा बीत जाने के बाद भी, जनपद पुलिस प्रशासन द्वारा कोई कार्यवाई न किये जाने से आरोपियों के हौसले बुलंद है।

Senior journalist Amin Qureshi has been appointed as…

Senior journalist Amin Qureshi has been appointed as an inspecting authority in Maulana Azad education foundation by the central minister of minority affairs Mr K. Rehman Khan. The Maulana Azad Education Foundation , an autonomous body under the Ministry of Minority Affairs, Govt. of India working for the educational upliftment of educational backward Minority.

राज्यसभा के लिए आज नामांकन दाखिल करने वाले हरिवंश के बारे में कुछ बातें

बिहार से राज्यसभा चुनाव के लिए जनता दल (यू) की तरफ से आज जाने-माने पत्रकार हरिवंश ने नामांकन पत्र दाखिल किया. आज नामांकन करने का आखिरी दिन था. बिहार विधान सभा के सचिव कार्यालय कक्ष में वरिष्ठ पत्रकार हरिवंश ने नामजदगी का पर्चा दाखिल किया. इस मौके पर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और जद (यू) के प्रदेश अध्यक्ष वशिष्ठ नारायण सिंह समेत नीतीश मंत्रिमंडल के कई सदस्य और विधायक मौजूद थे.

इलाहाबाद के एनडीटीवी संवाददाता पद से मानवेंद्र का इस्तीफा, ‘न्यूज नेशन’ से जुड़ेंगे

इलाहबाद के एनडीटीवी संवाददाता मानवेन्द्र सिंह ने इस्तीफा दे दिया है. वो करीब आठ सालों से एनडीटीवी के लिए काम कर रहे थे. बीते कुछ महीनों से उनका चैनल के साथ काम को लेकर मनमुटाव-सा चल रहा था. खबर है कि मानवेन्द्र सिंह 'न्यूज़ नेशन' के साथ जुड़ने जा रहे हैं.

प्रभात रंजन दीन ने कैनविज टाइम्स की टीम साफ करने की रणनीति बना ली है!

स्वघोषित चैम्पियन सम्पादक प्रभात रंजन दीन ने कैनविज टाइम्स से मुक्त होते-होते अपने रास्ते के सबसे बड़े कांटें धर्मेंद्र सक्सेना को आखिरकार जप ही दिया। इसके पहले वह पूरी टीम को तोड़ चुके हैं। प्रभात रंजन ने जब से संस्थान छोड़ने का मन बनाया था, उसके बाद से ही वह धर्मेन्द्र सक्सेना को लगातार प्रताड़ित कर रहे थे। अक्टूबर महीने में तो उन्होंने धर्मेन्द्र सक्सेना को फोन पर एसएमएस कर कार्यालय आने से मना कर दिया था और कारण कार्यों की समीक्षा बताया था।

अहमदाबाद के ‘नीसा’ समूह और ‘जानो दुनिया’ चैनल का काला सच

अहमदाबाद से हाल ही में शुरू हुए टीवी न्यूज़ चैनल 'जानो दुनिया' नीसा समूह की प्रोपर्टी है. नीसा समूह के चेयरमैन संजय गुप्ता (पूर्व आईएस ऑफिसर) गुजरात के हैं. संजय गुप्ता कुछ समय गुजरात मेट्रो रेल प्रोजेक्ट के चेयरमैन भी रहे. कई आरोपों के कारण कुछ समय पहले उन्हें पद से बर्खास्त कर दिया गया. संजय गुप्ता को पोलिटिकल सपोर्ट खूब है.

बाड़मेर के इस गांव में, लड़की के जन्‍म पर खुशियां मनाई जातीं है

बाड़मेर: पाकिस्‍तान की सीमा से सटे राजस्थान के बाड़मेर जिले के सरहदी गांव खच्चरखड़ी की मुस्लिम बस्ती में लड़की के जन्म पर खुशियां मनाने की अनूठी परम्परा है। शिव तहसील के इस गांव में करीब चालीस परिवारों की मुस्लिम बस्ती है, जहां बेटी की पैदाइश पर खुशियां मनाई जाती हैं तथा खास तरह के नृत्य का आयोजन होता है। किसी भी घर में बेटी के जन्म पर गांव भर में गुड़ बांटा जाता है और सामुहिक भोजन की अनूठी परम्परा का निर्वाह किया जाता है।

जांच के दौरान उचित विश्राम व समय पर भोजन भी मानवाधिकार हैं

आवेदक राजेंद्र सिंह ने दिनांक 08/09/2010 से 10/09/2010 के बीच अपने आवासीय परिसर में आयकर विभाग के अधिकारियों द्वारा की गयी खोज और जब्ती की कार्यवाही के दौरान अपने मानवाधिकारों के उल्लंघन की शिकायत को लेकर बिहार मानवाधिकार आयोग से निवेदन किया था| आवेदक की शिकायत थी कि वह अल्पसंख्यक सिख समुदाय से संबंध रखता है| उसने कहा कि पटना शहर में मीठापुर में आरा मिल व लकड़ी का व्यापार कर वह अपनी आजीविका अर्जित करता था| दिनांक 08/09/2010 को श्री सौरभ कुमार, श्री सुमन झा, श्री कनकजी और श्री अचुतन नामक आयकर विभाग के अधिकारीगण छह अन्य सहयोगियों के साथ उसके घर आये और मुख्य गेट बंद कर दिया जो कि प्रवेश और निकास का एक मात्र रास्ता था| उन्होंने आवेदक और उपस्थित दूसरे लोगों के मोबाइल फोन ले लिये और छापे के दौरान उन्हें बाहर के किसी भी व्यक्ति से संपर्क करने की अनुमति नहीं दी| यहाँ तक कि उन्हें खाना पकाने के लिए भी अनुमति नहीं दी गयी| उन्होंने महिलाओं सहित परिवार के सदस्यों के साथ दुर्व्यवहार किया| उन्होंने निर्भय होकर वहां धूम्रपान किया है, शिकायतकर्ता की  धार्मिक भावनाओं को चोट पहुँचाई है, तथा सिख गुरुओं और स्वर्ण मंदिर की तस्वीरों पर सिगरेट के टुकड़े और सिगरेट के खाली पैकेट फेंक दिये| उन्हें शौचालय जाने की अनुमति भी नहीं दी गयी| आवेदक ने अपने वकील को बुलवाया किन्तु उसे वह जगह छोड़ने के लिए विवश किया गया| उन्होंने छापे के दौरान अन्य दंडात्मक कार्रवाई की धमकियां भी दीं|

किस बड़े मीडिया हाउस ने ‘बहादुर बाई आबिद सुरती’ नाम का ट्रेडमार्क अपने नाम रजिस्टर्ड करा लिया है?

पंकज शुक्ल दिल्ली में लंबे समय तक कई चैनलों में पत्रकारिता करने के बाद कई वर्षों से मुंबई में हैं. भोजपुरी फिल्म बनाया और फिर एक अखबार के लिए रिपोर्टिंग करने लगे. उन्होंने चेन्नई एक्सप्रेस फिल्म की रिलीज से पहले एक इंटरव्यू शाहरुख खान का किया था. उस इंटरव्यू के बारे में उन्होंने विस्तार से अपने ब्लाग क़ासिद पर लिखा, पिछले साल जून महीने में.

सलमान खान की अवसरवादिता और कौम के साथ गद्दारी ‘जय हो’ को मार गई!

Yashwant Singh : असल में सलमान खान एक बड़ी पावरफुल और एंबिशियस स्ट्रेटजी के तहत नरेंद्र मोदी के साथ पतंगबाजी करने और उनकी तारीफ करने को गए थे… उन्हें अब सौ, दो सौ करोड़ रुपये कमाने वाली फिल्मों से उब हो गई थी और वो इकट्ठे हजार करोड़ रुपये वाली फिल्म बनाकर फिल्म इंडस्ट्री का महारिकार्ड बनाने की तैयारी में थे…

पी7न्यूज के स्ट्रिंगर भुखमरी के कगार पर

प्रिय संपादक जी, भड़ास4मीडिया, महोदय… आपसे एक निवेदन है कि मेरी ये बात पी7न्यूज चैनल में बैठे अधिकारियों तक जरूर पहुंचायें क्योंकि ये बात उन पीड़ित स्ट्रिंगरों की है जो बिचारे दिन-रात चैनल के लिए खबरें लाते हैं और अगर किसी खबर पर शहीद हो जाएं तो चैनल वाले हमें स्ट्रिंगर नाम का तमगा देकर हाथ हटा लेते हैं. जब खबर पर फोनो या पैकेज चलना हो तो तब हमें ये 'हमारे संवाददाता' का नाम देते हैं. खैर, हम तो पत्रकारिता की दुनिया में इंसान माने ही नहीं जाते, कीड़े मकोड़ों की तरह इस्तेमाल करके मार दिए जाते हैं.   आज बहुत दुःख होता है कि हम इतनी मेहनत करते हैं और उसका भी भुगतान हमें पूरा तो करना दूर, समय पर ही दे दें, यही बहुत बड़ी बात है.

सैफई महोत्सव के मैनेजर वेदव्रत गुप्ता को अब दैनिक जागरण का पत्रकार रहना कुबूल नहीं, दिया इस्तीफा (पढ़ें पत्र)

मुलायम सिंह और उनके खानदान के नजदीकी वेदव्रत गुप्ता ने दैनिक जागरण से इस्तीफा दे दिया है. वेदव्रत गुप्ता सैफई महोत्सव के मैनेजर थे. मुलायम सिंह परिवार के नजदीकी होने के कारण उन्हें दैनिक जागरण की वो खबरें रास नहीं आईं जिनकी वजह से मुलायम सिंह, उनके कुनबे और सैफई महोत्सव पर सवालिया निशान लगा.

सुब्रत राय ने तो सुप्रीम कोर्ट-सेबी की सरेआम ऐसी-तैसी कर दी! (देखें वीडियो)

Yashwant Singh : ये सुप्रीम कोर्ट, ये सेबी, ये नियम, ये कानून.. ये सब हमारे आप जैसे गरीबों, आम लोगों के लिए हैं.. हजारों लाखों करोड़ रुपयों में खेलने वालों के लिए ये सब तो प्रहसन, उपहास, हंसी के पात्र भर हैं.. यकीन न हो तो सुब्रत रॉय का ये लेक्चर सुन लीजिए..

मुंबई प्रेस क्लब में कामतानाथ की कहानी पर बनी शार्ट फिल्म का हुआ प्रदर्शन

24 जनवरी, 2014 की शाम प्रेस क्लब, मुंबई में हिंदी के सुपरिचित कथाकार कामतानाथ द्वारा लिखित कहानी 'सारी रात' पर बनी शार्ट फ़िल्म का चित्रण किया गया। फ़िल्म के चित्रण के उपरांत फ़िल्म के कलाकारों के साथ चर्चा-परिचर्चा में मशहूर चित्रकार-लेखक आबिद सुरती, प्रतिष्ठित कथाकार श्रीमती सुधा अरोड़ा, सुप्रसिद्ध समाजसेवी, लेखक एवं आयकर आयुक्त आर.के.पालीवाल तथा मशहूर रंगकर्मी एवं फ़िल्म अभिनेत्री डॉली ठाकौर ने भागीदारी की. कार्यक्रम का संचालन कवि-शायर देवमणि पांडेय ने किया.

दिबांग बने एबीपी न्यूज के हिस्से, दीन से मुक्त हुआ कैनिवज टाइम्स, सुशील भारती के साथ जहरखुरानी

वरिष्ठ पत्रकार दिबांग अब एबीपी न्यूज में नौकरी करने लगे हैं. पहले वे आजाद पत्रकार थे और टीवी चैनलों पर डिस्कशन वगैरह में शामिल होते रहते थे. बीच में एक फिल्म मद्रास कैफे में भी दिबांग दिखे थे. दिबांग का स्वर्णिम काल एनडीटीवी के साथ रहा. तब वे वहां मैनेजिंग एडिटर हुआ करते थे और उनकी तूती बोला करती थी. अपनी तानाशाही के कारण दिबांग एनडीटीवी के भीतर और बाहर काफी अलोकप्रिय हो गए. आखिरकार एनडीटीवी ने एक दिन उनसे मुक्ति पा ली. उसके बाद दिबांग ने कहीं ज्वाइन करने की जगह विभिन्न किस्म के प्रयोग किए और आजाद पत्रकारिता की राह अपनाई. अब जानकारी मिल रही है कि एबीपी न्यूज ने उन्हें पूरी तरह अपने साथ जोड़ लिया है.

दैनिक जागरण ने हड़पे फोटोग्राफर के पैसे

दैनिक जागरण पत्रकारों के शोषक के रूप में पहले से ही जाना जाता रहा है. अब लखनऊ से खबर है कि मैनेजमेंट ने एक फोटोग्राफर का भी लगभग दस हजार रुपए मार लिया है. उक्‍त फोटोग्राफर से दो महीने काम कराया गया और जब पैसा देने की बात आई तो उसे हटा दिया गया. फोटोग्राफर कई बार प्रबंधन के वरिष्‍ठ लोगों से मिलकर अपने साथ हुए अन्‍याय की गुहार कर चुका है, परंतु मोटी चमड़ी वाले प्रबंधन पर इसका कोई असर नहीं है.

भास्‍कर न्‍यूज से जुड़े सरफराज सैफी

भास्‍कर न्‍यूज से खबर है कि सरफराज सैफी ने वीपी कारपोरेट के पर पर ज्‍वाइन किया है. वे इसके पहले इसी पद पर जय महाराष्‍ट्रा चैनल से जुड़े हुए थे. इस समूह के हिंदी चैनल लांचिंग में देरी के चलते उन्‍होंने इस्‍तीफा देकर अपनी नई पारी भास्‍कर न्‍यूज से शुरू की है.

आई नेक्‍स्‍ट के संपादक के घर चोरी दैनिक भास्‍कर व प्रभात खबर के लिए न्‍यूज नहीं

दूसरों को नैतिकता का पाठ पढ़ाने वाले मीडिया संस्‍थान प्रतिस्‍पर्धा के चक्‍कर में कितने अनैतिक हो चुके हैं, इसकी बानगी पटना में देखने को मिली. पटना में दैनिक जागरण समूह के अखबार आई नेक्‍स्‍ट के संपादक चंदन शर्मा के घर में चोरी हुई. चोरों ने तीन चार लाख का सामान साफ कर दिया. चंदन शर्मा ने चोरी की घटना की एफआईआर दर्ज कराई, इसके बाद भी दैनिक भास्‍कर और प्रभात खबर जैसे अखबारों ने चोरी की खबर प्रकाशित नहीं की.

भारतीय राजनीति की आईटम-गर्ल, अरविन्द केजरीवाल

अंग्रेज इस देश को आजाद कराने वाले महान स्वतंत्रता संग्राम सेनानी महात्मा गांधी को अव्वल दर्जे का धूर्त कहते थे। क्यों? गांधी जी ने अहिंसा के दम पर अंगरेजों की नाक में दम कर रखा था। गांधी अनशन करते। देश में अलख जगाते और प्राण त्यागने से पहले अनशन तोड़ देते (जैसा अंगरेज समझते थे)। बंदूक और तोपों के दम पर दुश्मनों से निपटने वालों के लिए यह नया अस्त्र था, सो अंगरेजों की खीज स्वाभाविक थी।

साहित्यिक-सांस्कृतिक कवरेज को लेकर गंभीर नहीं हैं लखनऊ के समाचार पत्र

पिछले दिनों लखनऊ में एक महत्वपूर्ण साहित्यिक आयोजन हुआ। शिवपूजन सहाय की स्मृति में हुए इस समारोह में गिरिराज किशोर, अरुण कमल, रवीन्द्र वर्मा, नरेश सक्सेना, वीरेन्द्र यादव, अखिलेश, आउटलुक के सम्पादक नीलाभ मिश्र सहित कई प्रमुख लेखकों, पत्रकारों ने शिरकत की। बताने की जरूरत नहीं गिरिराज किशोर, अरुण कमल, नीलाभ मिश्र सहित कई लोग दूसरे नगरों से समारोह में आए थे लेकिन रचनाकारों के   इस बड़े जमावड़े का पता दूसरे दिन के प्रमुख समाचार पत्रों से नहीं चला। एक बड़े समाचार पत्र ने तो पूरी खबर ही गोल कर दी। दूसरे ने छापी मगर सिंगल कालम, बहुत मुश्किल से उसे खोजा जा सकता था।  यह समारोह नगर के बड़े अखबारों के लिए कोई महत्वपूर्ण खबर नहीं बन सका ।

पत्रकार सुरक्षा कानून व अन्य मांगों को लेकर महाराष्ट्र के पत्रकार 17 फरवरी को आन्दोलन करेंगे

पत्रकार सुरक्षा कानून और पत्रकार पेन्शन की मांग को लेकर महाराष्ट्र के पत्रकार 17 फरवरी को राज्य के सभी जिला सूचना कार्यालयों का घेराव करेंगे। महाराष्ट्र की पत्रकार हमला विरोधी कृती समिति ने इस आंदोलन का ऐलान किया है। महाराष्ट्र के 35 जिलों के पत्रकार अपने-अपने जिले के सूचना कार्यालय के सामने बैठकर वहां के दैनिक काम का विरोध करेंगे। पत्रकार वहां अपनी मांगों के समर्थन में नारे लगायेंगे और जिला सूचना अधिकारी को ज्ञापन भी देंगे। यह जानकारी पत्रकार हमला विरोधी कृती समिति के अध्यक्ष एस. एम. देशमुख द्वारा दी गई।

केजरीवाल ने अंबानी को लिखा- मैंने आपको डिफेम किया, मीडिया ने नहीं, इसलिए मीडिया को मत धमकाओ

ये हिम्मत, ये तेवर केवल अरविंद केजरीवाल में ही हो सकता है. पिछले साल 31 अक्टूबर और 9 नवंबर को प्रेस कांफ्रेंस कर अरविंद केजरीवाल और प्रशांत भूषण ने मुकेश अंबानी पर कई तरह के आरोप लगाए थे और उस प्रेस कांफ्रेंस का लाइव प्रसारण कई न्यूज चैनलों ने किया.

पत्रकार ज्ञानेश श्रीवास्तव के साथ लूटपाट की कहानी, उन्हीं की जुबानी

Gyanesh Srivastava : मित्रों, कल यानी 25 जनवरी को मैं भी सरेशाम लूटेरों का शिकार हो गया। दो अपराधियों ने मुझे गन-प्वाइंट पर वैशाली अंसल प्लाजा के सामने डाबर रेड लाइट (तिराहा) के पास मुझे कुछ देर के लिए किडनैप कर लिया, और फिर कैश, एक अंगूठी, और कलाई घड़ी लूटने के बाद चलते बने। घटना करीब शाम आठ से साढ़े आठ बजे की है।

कुछ भी कहो, ये मुसलमान गद्दार ही रहेंगे!

Himanshu Kumar : कल मुज़फ्फरनगर में अपने एक संबंधी के साथ बैठा था. पूछने लगे कि क्या कर रहे हो आजकल? मैंने बताया कि मुज़फ्फरनगर दंगा पीड़ितों को मुफ्त कानूनी सहायता देने के लिए एक केन्द्र शुरू किया है. कहने लगे कि कुछ भी कहो, ये मुसलमान गद्दार ही रहेंगे. ये कभी इस देश के नहीं हो सकते. अब मैं अचकचाया कि बात को शुरू कहाँ से करूँ.

ये Kavita Krishnan ‘आप’ पर इतनी आक्रामक क्यों हैं चचा?

Samar Anarya : ये Kavita Krishnan 'आप' पर इतनी आक्रामक क्यों हैं चचा?

भतीजे- इनकी करतूतों के चलते भाकपा माले (लिबरेशन) में जो 'आप' में जाने के लिए भगदड़ मची है, तो बिचारी, और कर भी क्या सकती हैं?

-वो तो ठीक है चचा. पर लिबरेशन का राज्य पार्टी होने का दर्जा तो पिछले चुनाव में ही छिन गया था.

-टीवी क्रांतिकारी होने का दर्जा तो बाकी है चचा.

अरनब गोस्वामी से कोई लाइव ही टाइम्स आफ इंडिया वालों के इस करप्शन के बारे में पूछ ले

Yashwant Singh :  लगातार बोलते रहने वाले अरनब गोस्वामी से कभी किसी को लाइव ही पूछ लेना चाहिए कि हे टाइम्स आफ इंडिया के गुलाम संपादक, क्या मुंबई में जो जमीन एक रुपये में सरकार ने टाइम्स ग्रुप को अखबार निकालने के लिए दी, वहां से अब भी अखबार निकल रहा है या नहीं? उस एक रुपये में मिली सरकारी जमीन पर टाइम्स वाले बिजनेस, धंधा, बैंकिंग, किराया आदि का कारोबार कर रहे हैं और टाइम्स आफ इंडिया का आफिस कहीं और शिफ्ट कर दिया है… यह अनैतिक काम है या नहीं?

केजरीवाल एंड कंपनी, एजेंडा पत्रकारिता और कुछ तथ्य

Yashwant Singh : सोमनाथ भारती और केजरीवाल ने मीडिया वालों को गरिया क्या दिया, कुछ मीडिया वालों की सुलग गई.. न्यूज नेशन के अजय कुमार और एबीपी न्यूज के विजय विद्रोही लगे अपने कथित सरोकारी तेवर का प्रदर्शन करने… लगे प्रमाण मांगने और 'आप' को सबक सिखाने… अरे अजय और विद्रोही जी… सच्चाई आप भी जानते हैं, काहें मुंह खुलवाते हो… वैसे, मुंह खुलवाने की भी क्या जरूरत है…

सोशल मीडिया ने राष्ट्रपति प्रणव मुखर्जी को छेड़ा… जानिए, अराजकता किसे कहते हैं महामहिम!

शेखर कपूर ने बहुत साफ-साफ शब्दों में प्रणव मुखर्जी को बताया कि अराजकता किसे कहते हैं. फिल्मकार शेखर कपूर काफी समझदार और स्पष्ट विजन वाले शख्स माने जाते हैं. अभी उनके द्वारा बनाया गया 'प्रधानमंत्री' नामक एक सीरिज का प्रसारण एबीपी न्यूज पर किया गया जो काफी लोकप्रिय था. वहीं, अराजकता के मसले पर राष्ट्रपति की निशानेबाजी को लेकर फेसबुक व ट्विटर, दोनों जगह राष्ट्रपति के विरोध में कमेंट आ रहे हैं.

‘पंजाब केसरी’ वालों ने हिम्मत कर दी चिदंबरम-जेठमलानी पत्राचार के बारे में छापने की

एक मसला है जिसे उठाने, छापने की हिम्मत न तो भाजपा वालों में है और न ही किसी मेनस्ट्रीम मीडिया में. इस मसले को सबसे पहले भड़ास4मीडिया ने उठाया और धीरे-धीरे एक-एक पहलू को उजागर किया. कई तरह के दबावों, धमकियों के बावजूद भड़ास ने जब हिम्मत और सतर्कता के साथ इस गंभीर-सनसनीखेज मामले के एक-एक परत को उघाड़ना शुरू किया तो अब कई वेबसाइटें और अखबार इसको लेकर छापने लगे हैं. पर अब भी संख्या बहुत कम है.

एक लोकतान्त्रिक और गणतांत्रिक देश की वास्तविकता यहां है… पढ़िए…

Azhar Khan :

    एक लोकतान्त्रिक, गणतांत्रिक'' देश की वास्तविकता को

    गरीबों से पूछिए

    मजदूरों से पूछिए

    हर समय हर पल जातिवाद का दंश झेलते दलितों से पूछिए

    हर समय अपमान भेदभाव झेलते,  पुलिस के अधिकारीयों के द्वारा प्रताड़ना झेलते आदिवासियों से पूछिए

मुंबईवाला डाट काम ने अभिसार शर्मा और तेलगुमिर्ची डाट काम ने दीपक चौरसिया को लपेटा

न्यू मीडिया के सामने आ जाने से मेनस्ट्रीम मीडिया के महारथियों की खोज-खबर भी मिलती रहती है. इन दिनों दो वेबसाइटें काफी चर्चा में हैं. एक वेबसाइट अभिसार शर्मा को टारगेट किए हुए है तो दूसरी वेबसाइट दीपक चौरसिया को. मुंबईवाला डाट काम नामक वेबसाइट ने अभिसार शर्मा और उनकी आईआरएस अधिकारी पत्नी पर गंभीर आरोप लगाए हैं. वहीं तेलगुमिर्ची डाट काम ने दीपक चौरसिया को गिरफ्तार न किए जाने का मुद्दा उठाया है. दोनों वेबसाइटों पर खबरें अंग्रेजी में हैं.

लोकसभा चुनाव के लिए ईटीवी पर नया प्रोग्राम- ‘वोट करेगा इंडिया’

लोकसभा चुनाव की रणभेरी बजी तो ईटीवी ने भी कमर कस ली. ईटीवी ने एनटीआई मीडिया प्रोडक्शन हाउस के बैनर तले एक नए प्रोग्राम का आगाज कर दिया है। नाम है- 'वोट करेगा इंडिया'। एनटीआई मीडिया वही प्रोडक्शन हाउस है जिसने यूपी विधानसभा चुनाव में ईटीवी के लिए 'वोट करेगा यूपी' प्रोग्राम बनाया था। इस प्रोग्राम को काफी टीआरपी मिली थी।

ग्वालियर के सिर्फ एक चिटफंडी बीएल कुशवाह के पीछे हाथ धोकर क्यों पड़ा है ‘पत्रिका’ अखबार?

ग्वालियर महानगर में पिछले कई दिनों से 'पत्रिका' अखबार एक चिटफंड कंपनी के मालिक बी.एल. कुशवाह के खिलाफ छाप रहा है। 'पत्रिका' वाले चिटफंड कंपनी के मालिक कुशवाह के पीछे इतना क्यों पड़ा है, यह ग्वालियर की पूरी मीडिया जानती है लेकिन कोई इसके खिलाफ आवाज उठाने को तैयार नहीं है। इसका मुख्य कारण यह है कि 'पत्रिका' की जो डिमांड है, उसे बी.एल. कुशवाह पूरा करने से इनकार कर रहे हैं।

पत्रकार नारायण परगई दोस्त से मारपीट के मामले में जेल भेजे गए

मसूरी। दोस्त के साथ मारपीट करने पर पत्रकार नारायण परगई के खिलाफ कोतवाली पुलिस ने केस दर्ज किया है। पुलिस ने पत्रकार नारायण परगई को मजिस्ट्रेट के समक्ष पेश किया, जहां से उसे जेल भेज दिया गया।

मीडिया को बाजार के इसी एजेंडे को आगे बढ़ाना है…

Samarendra Singh : मीडिया क्या है? व्यवस्था का हिस्सा. जिसे संविधान की मूल भावना का ख्याल रखते हुए अपने कर्तव्य का निर्वहन करना है. मीडिया को नियंत्रित कौन करता है? बाजार. मतलब संविधान की मूल भावना के साथ बाजार के हितों का भी ख्याल रखना है. बाजार का हित किसमें है? यही कि मौजूदा व्यवस्था बनी रहे और बाजार को लेकर उदार होती रहे. मीडिया को बाजार के इसी एजेंडे को आगे बढ़ाना है. अगर वह ऐसा नहीं करता तो उसे मिलने वाली पूंजी घटेगी और उसका सीधा असर संस्थान की सेहत पर पड़ेगा और पत्रकार सीधे तौर पर प्रभावित होगा.

जयवीर तोमर की अंतिम यात्रा में उमड़ा जनसैलाब

बागपत : वरिष्ठ पत्रकार जयवीर सिंह तोमर का शनिवार प्रात: उनके पैतृक गांव रंछाड़ में अंतिम संस्कार कर दिया गया। इस दौरान नम आंखों से मीडिया जगत के अलावा राजनीतिक, शिक्षा व अन्य क्षेत्रों के लोगों ने उन्हें अंतिम विदाई दी। अंतिम दर्शन के लिए बागपत ही नहीं अन्य कई जिलों के लोगों का जनसैलाब उमड़ पड़ा।

जेएनयू छात्रसंघ के पूर्व अध्यक्ष संदीप ने ‘आइसा’ से इस्तीफा दिया, ‘आप’ ज्वाइन करने के आसार

जवाहर लाल नेहरू यूनिवर्सिटी, दिल्ली के छात्रसंघ के पूर्व अध्यक्ष संदीप सिंह ने आल इंडिया स्टूडेंट एसोसिएशन (आइसा)से नाता तोड़ लिया है. उनके बारे में चर्चा है कि वे आम आदमी पार्टी के साथ नई पारी शुरू करने वाले हैं. संदीप सिंह आल इंडिया स्टूडेंट एसोसिएशन के राष्ट्रीय अध्यक्ष हुआ करते थे. उनका इस्तीफा स्वीकार कर लिया गया है. आइसा के राष्ट्रीय महासचिव अभ्युदय ने उनके इस्तीफे की पुष्टि की.

ममता की मेहरबानी से उर्दू पत्रकार अहमद हसन भी जाएंगे राज्यसभा

नई दिल्ली : प्रभात खबर अखबार के प्रधान संपादक और वरिष्ठ पत्रकार हरिवंश को जहां जेडीयू ने राज्यसभा उम्मीदवार बनाने का ऐलान किया है वहीं तृणमूल कांग्रेस की तरफ से भी एक पत्रकार को राज्यसभा के लिए नामित किया गया है. इनका नाम है बंगाली दैनिक कालोम के संपादक अहमद हसन.  राज्यसभा के लिए 28 जनवरी नामांकन की अंतिम तिथि है और 7 फरवरी को चुनाव होना है.

रमन सिंह ने वरिष्ठ पत्रकार रामचन्द्र नचरानी के निधन पर शोक प्रकट किया

रायपुर : छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने राज्य के वरिष्ठ पत्रकार और राजधानी रायपुर के हिन्दी दैनिक ‘प्रतिदिन राजधानी’ के प्रधान सम्पादक रामचन्द्र नचरानी के निधन पर गहरा दुःख व्यक्त किया है। नचरानी का कल सवेरे यहां उनके निवास पर निधन हो गया।

एनजी नायर, वीरेंद्र कुमार तिवारी, एएल द्विवेदी और संजय मालवीय के बारे में सूचनाएं

जी मीडिया के एडमिन हेड एनजी नायर को यहां से जाना पड़ा है. सूत्रों के मुताबिक एडिटर इन चीफ सुधीर चौधरी से कुछ विवाद के कारण नायर को कार्यमुक्त किया गया है. इस बाबत एक आंतरिक मेल भी जारी किया जा चुका है. मेल में एनजी नायर के 18 वर्षों से जी मीडिया से जुड़ाव का जिक्र करते हुए उनके जी मीडिया कार्पोरेशन लिमिटेड (ZMCL) से जाने की जानकारी दी गई है. उनका काम फिलहाल एवीपी एडमिन रामचंद्रन के हवाले कर दिया गया है.

राज्यपाल बीएल जोशी की नियुक्ति पर गंभीर सवाल

आरटीआई कार्यकर्ता डॉ नूतन ठाकुर और देवेन्द्र दीक्षित ने उत्तर प्रदेश के राज्यपाल बी एल जोशी की नियुक्ति पर गंभीर सवाल खड़े किये हैं. राष्ट्रपति, प्रधानमंत्री और गृह मंत्री को भेजे अपने पत्र में आरटीआई कार्यकर्ताओं ने कहा है कि गृह मंत्रालय, भारत सरकार के आरटीआई उत्तर के अनुसार मंत्रालय के पास श्री जोशी द्वारा यूपी के राज्यापल बनने के पूर्व विभिन्न पदों पर कार्यरत रहने और उनके चल-अचल संपत्तियों के सम्बन्ध में कोई भी सूचना उपलब्ध नहीं है. यही उत्तर राज्यपाल सचिवालय द्वारा भी दिया गया है.

लखनऊ के प्रांतीय अधिवेशन में जर्नलिस्ट एसोसिएशन ने सरकार को सौंपा 20 सूत्रीय मांग-पत्र

बहराइच। प्रिंट एवं इलेक्ट्रानिक जर्नलिस्ट एसोसिएशन का प्रांतीय अधिवेशन एवं जर्नलिस्ट सम्मान समारोह लखनऊ के कैसरबाग स्थित गांधी भवन प्रेक्षागृह में रविवार को सम्पन्न हुआ। कार्यक्रम के मुख्य अतिथि न्यायामूर्ति उच्च न्यायालय आर. के. रस्तोगी व विशिष्ट अतिथि प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री नारायणदत्त तिवारी थे। कार्यक्रम का शुभारम्भ न्यायमूर्ति श्री रस्तोगी द्वारा मां सरस्वती के चित्र पर माल्यार्पण व दीप प्रज्जवलित कर किया गया। अपने सम्बोधन में मुख्य अतिथि ने कहा कि पत्रकारिता समाज का आइना है। मीडिया समाज के दबे कुचले लोगों की आवाज उठाने का काम करती है। मीडिया का दायित्व भी है कि वह अपनी जिम्मेदारियों का निर्वहन करते हुए समाज के दबे कुचलों को न्याय दिलती रहे। कार्यक्रम में बतौर विशिष्ट अतिथि पूर्व मुख्यमंत्री व पूर्व राज्यपाल नारायणदत्त तिवारी ने कहा कि मेरे मुख्यमंत्रित्व काल में ग्रामीण क्षेत्रों में भी पत्रकारों को पर्याप्त सुविधायें मिलती थीं। पत्रकारिता एक कठिन कार्य है। मीडिया सदैव देश की उन्नति के लिए कार्य करती रहती है। ऐसे में उनको उचित सम्मान व सुविधायें सरकार द्वारा मिलनी चाहियें। उन्होंने कहा कि पत्रकारों की जायज मांगों को प्रधानमंत्री से मुलाकात कर उनके सामने रखूंगा, प्रदेश में भी इसके लिए मुख्यमंत्री से मुलाकात कर पत्रकारों के सम्मान व हक की बात को उन तक पहुंचाऊंगा।

किस तेज टीवी चैनल पर मनीष सिसोदिया ने की है ये टिप्पणी

Manish Sisodia : एक तेज टीवी चैनल, एक समाजसेवी द्वारा बनाए गए रैन बसेरे को सरकारी बताकर, सरकार के रैन बसेरों में इंतजाम पर सवाल खड़े कर रहा है। सरकार की कमी दिखानी है तो कम से कम सरकारी रैन बसेरे में तो जाओ! कोई समाजसेवी अपनी तरफ से जितना कर पा रहा है उसका तो हमें आभार ही मानना चाहिए।

संजीव माथुर, बागची, लारी, राजा के बारे में सूचनाएं

कल्पतरु एक्सप्रेस, आगरा में कार्यरत संजीव माथुर ने इस्तीफा दे दिया है. उन्होंने नई पारी की शुरुआत दैनिक जागरण, नोएडा के साथ की है. कल्पतरु में संजीव माथुर सीनियर न्यूज एडिटर के रूप में कार्यरत थे. बताया जाता है कि वे दैनिक जागरण, नोएडा के आनलाइन सेक्शन में वरिष्ठ पद पर ज्वाइन कर रहे हैं.

टीआरपी की नई गाइलाइन के खिलाफ याचिका, ‘द हिंदू बिजनेस लाइन’ के कंटेंट और डिजाइन में बदलाव

टैम के टामियों को बड़ा बुरा लगा है. केंद्र सरकार ने टीआरपी के लिए जो नई गाइडलाइन जारी की उसके खिलाफ टामियों ने दिल्ली हाईकोर्ट में याचिका दायर कर दी है. टैम की ही एक कंपनी कंटार मीडिया की तरफ से यह याचिका दायर की गई है.

पप्पू यादव बोले- टिकट लेने से हरिवंश जी की ख्‍याति-छवि को नुकसान

Rajesh Ranjan @Pappu Yadav : बिहार से राज्‍य सभा जा रहे जदयू उम्‍मीदवारों की सूची में वरिष्‍ठ पत्रकार हरिवंश जी का नाम देखकर आश्‍चर्य हुआ। यह उम्‍मीदवारी प्रमाणित करती है कि नीतीश सरकार ने पत्रकारों से मधुर संबंध बनाकर विकास का झूठा ढ़ोल पूरे देश में पीटा है।

समीर अब्बास, मनोज पमार और नासिर गौरी के बारे में सूचनाएं

'खबर भारती' मप्र-छत्तीसगढ चैनल के भोपाल आफिस से सूचना है कि सीनियर रिपोर्टर नासिर गौरी ने किन्हीं कारणों के चलते 'खबर भारती' को अलविदा कहकर 'IBC24' न्यूज चैनल के साथ जुड़ गए हैं. श्री गौरी ने IBC24 में प्रोडूसर के पद पर ज्वाइन किया है. इससे पहले वे BAG FILMS, CHANNEL 7 और IBN7 में अपनी सेवाएं दे चुके है.

हिंदुस्तान ने जागरण से लिखित रूप में कहा- अपने दावे का सबूत पेश करे दैनिक जागरण

पटना में दैनिक भास्कर के आने के बाद पुराने दो प्रतिष्ठित हिंदी दैनिकों दैनिक जागरण और दैनिक हिंदुस्तान में अंदरखाने चल रही प्रतिष्ठा की लड़ाई सार्वजनिक हो गयी है. जिस दिन दैनिक भास्कर अखबार का लांचिंग समारोह था उस दिन दैनिक जागरण (पटना संस्करण) ने अपने पहले पेज पर खुद अपना विज्ञापन निकालते हुए "पटना का No. 1" हिंदी दैनिक होने का दावा किया.

जरा देखिए तो आचार्य बालकृष्ण की यह अनैतिकता

Subhash Chandra Kushwaha :  इस गाड़ी को आप देख रहें हैं न? उन तथाकथित बाबा की है जो भारतीय राजनीति की दिशा बदलने चले हैं. उन्हें इस बात का पता तो होना ही चाहिए की मोटर गाड़ी अधिनियम १९८८ के अनुसार कोई भी व्यक्ति निजी गाड़ी पर पदनाम/ नाम नहीं लिखेगा. उत्तर प्रदेश में तो सरकारी वाहन पर भी फ़िलहाल पदनाम/ नाम नहीं लिखा जायेगा. नंबर प्लेट सिर्फ रोमन लिपि में लिखा जाता है. अक्षरों तथा अंकों की ऊंचाई ६५ मिलीमीटर, मोटाई १० मिलीमीटर, दो अक्षरों /अंको के बीच दूरी १० मिलीमीटर होनी चाहिए. यहाँ आप देख रहें हैं न कमाल.

उस संपादक को अपनी हत्या के बारे में पता था, मौत के अगले दिन प्रकाशित होने वाला संपादकीय पहले ही लिखकर छोड़ दिया था

Abhishek Upadhyay : केजरीवाल सरकार की आलोचना क्यूं न की जाए- श्रीलंका के महान पत्रकार लसंत विक्रमातुंगा को पढ़ा। श्रीलंका के "द संडे लीडर" अखबार के संपादक। वह शख्स जिसने अपनी मौत के अगले दिन प्रकाशित होने वाला संपादकीय पहले ही लिखकर छोड़ दिया था। इस निर्देश के साथ जिस दिन मुझे मार दिया, अगले दिन के अखबार में यही संपादकीय छाप देना। 8 जनवरी 2009 को कोलंबो के निकट विक्रमातुंगा की गोली मारकर हत्या कर दी गई। अगले दिन उनका लिखा आखिरी संपादकीय "द संडे लीडर" में छपा।

‘हम’, ‘मैं’ और अख़बार में कांग्रेस का विज्ञापन

Ravish Kumar : अख़बार में कांग्रेस का विज्ञापन छपा है। मोदी के 'मैं' पर निशाना करते हुए स्लोगन है- 'मैं नहीं हम'। मगर तस्वीर 'हम' की भावना के उलट है। राहुल 'हम' से 'मैं' बन रहे हैं। 'हम' में विलीन नहीं हो रहे हैं। 'हम' के 'मैं' लगते हैं। कई लोग मोदी के सीने वाली बात पर लोट पोट हो रहे हैं। उनके लिए 'तात्कालिक कवि' रवीश कुमार की तरफ़ से ये पेश है-
जिसे देखो वही अपना कुर्ता नपवा रहा है,
कोई छप्पन तो कोई चौंतीस बता रहा है।

वरिष्ठ पत्रकार रवीश कुमार के फेसबुक वॉल से.

हरिवंश को राज्यसभा में भेजने वाले नीतीश बधाई के पात्र हैं

Pravin Bagi : नीतीश जी बधाई के पात्र हैं। उन्होंने एक अच्छी परंपरा बनाई है, पत्रकारों को राज्य सभा में भेजने की। प्रभात खबर के संपादक हरिवंश जी अब राज्य सभा में बैठेंगे। इसके पहले उन्होंने अली अनवर को भी राज्य सभा भेजा था। वे अभी भी एमपी हैं। विधान परिषद में भी यह परंपरा बननी चाहिये। अन्य दलों को भी इस पर गौर करना चाहिए। हरिवंश जी पत्रकारों के भले के लिये कुछ करेंगे, यह उम्मीद है। (बिहार के पत्रकार प्रवीण बागी के फेसबुक वॉल से.)

वसुंधरा राजे ने गहलोत सरकार का फैसला इसलिए पलटा ताकि वनमाफिया का फायदा हो

Om Thanvi : अपने क़सबे में हूँ तो सुबह-सुबह राजस्थान के अख़बार ही हाथ लगते हैं।तो आज एक ख़बर पर ध्यान अटका है: 'वसुंधरा राजे ने पलटे अशोक गहलोत के फ़ैसले'। ख़ैर, यह तो चलता रहता है। पर एक फ़ैसला पलटने की जो वजह बताई है, वह गले नहीं उतरती।

बहुत पहले हो गई थी तरुण तेजपाल के फिसलन और विचलनों की शुरुआत

विडम्बना देखिए कि मुख्यधारा की कारपोरेट पत्रकारिता और उसके नैतिक विचलनों के खिलाफ आवाज़ उठानेवाली और खुद को वैकल्पिक पत्रकारिता के साथ जोड़नेवाली पत्रिका ‘तहलका’ के प्रधान संपादक तरुण तेजपाल अपनी ही एक युवा रिपोर्टर के साथ बलात्कार और यौन उत्पीड़न के गंभीर आरोपों में जेल में हैं. यही नहीं, युवा रिपोर्टर की शिकायत पर त्वरित, उचित और कानून के मुताबिक कार्रवाई न करने, मामले को दबाने और लीपापोती करने की कोशिश के आरोप में ‘तहलका’ की प्रबंध संपादक शोमा चौधरी को भी इस्तीफा देने के लिए मजबूर होना पड़ा है.

‘आप’ और ‘कांग्रेस’ की सीधी तकरार में बरखा सिंह नमक अदायगी कर रही हैं

Om Thanvi : बरखा सिंह महिला आयोग को कांग्रेस का अखाड़ा बना रही हैं, कल टीवी पर उनके तेवर देखकर ऐसा ही जाहिर होता था। वे कांग्रेसी विधायक रही हैं, उनके पति भी। शीला दीक्षित ने ही उन्हें महिला आयोग की कुरसी दिलवाई थी। आप-कांग्रेस की सीधी तकरार में जैसे यहाँ भी नमक अदायगी हो रही है।

एक पत्रकार है जो चिल्ला रही है कि देखो मेरी ख़बर का असर हुआ…

Dilnawaz Pasha : एक पत्रकार है जो चिल्ला रही है कि देखो मेरी ख़बर का असर हुआ, तीन सिपाही निलंबित हो गए. एक पार्टी है जो कह रही है कि देखो हमारे वीडियो का असर हुआ और तीन सिपाही निलंबित हो गए. लेकिन सच यह है कि यह एक आम आदमी की जीत है. जो बुराई नहीं देख सकता. जिस व्यक्ति ने यह वीडियो बनाया वो एक आम आदमी था जो उस दिन रास्ते से गुज़र रहा था. युवक को बेरहमी से पिटते हुए देखा और उससे रहा नहीं गया.

वाराणसी और गाजीपुर का सीमा विवाद, हल के लिए पैमाइश का काम प्रगति पर

चौबेपुर(कैथी) क्षेत्र में लगभग 35 वर्ष पूर्व, गंगा-गोमती संगम के पास, गोमती की धारा में परिवर्तन के कारण कैथी गाँव की 700 एकड़ जमीन कट कर नदी के दूसरी तरफ चली गयी थी। तब से वाराणसी और गाजीपुर जिलों के मध्य सीमा विवाद चल रहा है। इस के चलते किसानो में कई बार खुनी संघर्ष हो चूका है। इस विवाद में वाराणसी के कैथी, भंदहा कला, राजवारी, नखवा और गाजीपुर के कुस्हीं, खरौना, गोपालपुर और पटना गावों की सीमायें प्रभावित हुयी हैं। विभिन्न न्यायालयों में कई वाद विचाराधीन हैं, कब्जे को लेकर प्रायः गावों के बीच मार पीट की घटनाएं हो जाती रही है। मामले से सम्बंधित समस्त पत्रावलियां  उच्च न्यायलय के आदेश से एसडीएम बांसडीह(बलिया), जो सहायक अभिलेख अधिकारी भी हैं, के कार्यालय में पड़े हैं। चकबंदी की प्रक्रिया भी ठप पड़ी हुयी है। क्षेत्र में खेती प्रभावित हो रही है।

जैसे किन्नर अमरनाथ मेयर बन गए थे, वैसे ही कोई किन्नर अब पीएम बने

: देश को अब चाहिए कि अपने गुस्से का इज़हार किसी किन्नर को अपना प्रधान मंत्री चुन कर कर दे! : लोग जब नाराज होते हैं और गुस्सा फूटता है तो कई बार अनाप-शनाप विकल्प भी चुन लेते हैं। कुछ समय पहले हमारे गोरखपुर में लोगों ने राजनीतिक विकल्पों से आजिज आ कर एक निर्दलीय किन्नर को अपना मेयर चुन लिया था। लेकिन खास बात यह है कि उस मेयर अमरनाथ ने बिना किसी राजनीतिक या प्रशासनिक अनुभव के काम भी बढ़िया किया था। बिना किसी भेदभाव के।

बागपत के वरिष्ठ पत्रकार जयवीर तोमर नहीं रहे

यकीनन बहुत दुःख होता है जब कोई अच्छा इंसान अपने बीच से चला जाता है। पश्चिमी उत्तर प्रदेश के बागपत जनपद के पत्रकार जगत के मजबूत स्तंभ वरिष्ठ पत्रकार जयवीर सिंह तोमर अब हमारे बीच नहीं रहे।

राष्ट्रीय सहारा के पत्रकार पर जानलेवा हमला

शाहजहांपुर के परौर में राष्ट्रीय सहारा अखबार के पत्रकार बृजनंदन शुक्ला को कुछ हमलावरों ने घेर कर धारदार हथियार और रायफल की बटों से पीट कर बुरी तरह घायल कर दिया.  बृजनंदन शुक्ला के परिजनों ने घटना की तहरीर परौर थाने में दर्ज करा दी है.

हरिवंश को राज्य सभा में भेजेगा जद (यू)

हिंदी दैनिक प्रभात खबर के प्रधान संपादक और देश के जाने-माने पत्रकार हरिवंश कुमार को  जनतादल (यू) ने राज्यसभा का टिकट दिया है. प्रभात खबर बिहार, झारखण्ड, पश्चिम बंगाल और असम समेत कई प्रदेशों से प्रकाशित होता है.

उनके डांस वाली खबर दिखाने से नाराज़ थे आरपीएन सिंह, इसलिए पत्रकार से की बदसलूकी

कुशीनगर। मीडिया से खार खाये केन्द्रीय गृह राज्यमंत्री आरपीएन सिंह उस समय एक पत्रकार पर बिदक उठे जब एक चैनल के रिपोर्टर ने मंत्रीजी की संवेदनहीनता को अपनें कैमरें में कैद करने का प्रयास किया। हुआ यह कि मंगलवार को केन्द्रीय गृह राज्यमंत्री श्री सिंह अपने आवास पर मीडिया से वार्ता कर बाहर निकल रहे थे। उसी दौरान सात माह से सऊदी अरब से अपने पुत्र का शव मंगवाने प्रयास कर रहा एक पीड़ित श्री सिंह के पैरों पर गिरकर अपने पुत्र का शव मंगाने के लिए फरियाद करने लगा। रोते-बिलखते फरियादी के जख्म पर मरहम रखनें के बजाए मंत्रीजी अपना पैर झटकार कर आगे बढ़ गए। मंत्री के इस संवेदनहीनता को इलेक्ट्रानिक चैनल के एक पत्रकार ने अपनें कैमरे में कैद कर लिया। यह देखते ही केन्द्रिय गृह राज्यमंत्री बिदक उठे और अपना आपा खो बैठे। गुस्सें से तिलमिलाए मंत्रीजी पहले तो दांत पीसेते और कुछ बुदबुदाते हुए पत्रकार की ओर दौड़ पड़े। यह देख वहा मौजूद मीडिया के अन्य लोग सन्न रह गए। इससे पहले कि पत्रकार कुछ समझ पाते गृह राज्यमंत्री चैनल के उस पत्रकार को धक्का देकर अपनें परिसर से बाहर निकाल दिया। पत्रकार के साथ मंत्री द्वारा की गई बदसलूकी को पत्रकारों के विभिन्न संगठनों ने निन्दा की।

गौतमबुद्ध ने राजमहल छोड़ा था, केजरीवाल का त्याग भी कम नहीं

केजरीवाल सरकार इसलिए कमजोर नहीं कि बागी बिन्नी के बाद उसके पास 27 विधायक हैं। बल्कि सरकार की आंतरिक कमजोरियां ये है कि इस सरकार के पास भ्रष्टाचार की चाशनी से निकले खनकते सिक्कों का भंडार नही है। जिसमें से खैरात के रूप कुछ पैसा मीडिया के एक खास समूह को दिया जा सके, जो दो प्रमुख दल भाजपा-कांग्रेस के बचाव पक्ष में उतरता रहा है। आप की सरकार के संपर्क में इमानदारी से पक्ष रखने के लिए इंडियन एक्सप्रेस समूह के बिक्रम राव जैसे पत्रकार नहीं है। इस सरकार के पास तो चंदन मित्रा और प्रभु चावला जैसे पत्रकार भी नहीं हैं। एनडीटीवी की बरखा, एचटी के विनोद जैसे पत्रकारों को तो इस केजरीवाल सरकार से घिन आ रही है। अपने देश में अनेक विवधाओं और संस्कृतियों के टीवी दर्शक है, जो है कि अन्ना की सहयोगी किरण बेदी को भाषा के भावार्थ को समझ रहे है।

पुष्पेंद्र सिंह, गौरव तंवर, कुलदीप बांगर और मनीष कुमार पांडेय के बारे में सूचनाएं

दैनिक जागरण, पानीपत से चीफ सब एडिटर गौरव तंवर और सीनियर सब एडिटर कुलदीप बांगर ट्रांसफर कर दिया गया है. घर से दूर तबादला होने पर कुलदीप ने नौकरी छोड़ दी है. एक अन्य जानकारी के मुताबिक मेरठ से आए पुष्पेंद्र सिंह दैनिक जागरण, पानीपत यूनिट के जनरल मैनेजर बनाए गए हैं.

न्यूज एक्सप्रेस में रविकांत मित्तल ने एमई और अमित त्रिपाठी ने सीओओ के रूप में ज्वाइन किया

न्यूज एक्सप्रेस में नए लोगों का बड़े पदों पर आना जारी है. रविकांत मित्तल ने आजतक से इस्तीफा देकर न्यूज एक्सप्रेस में मैनेजिंग एडिटर के बतौर ज्वाइन किया है. रविकांत 'आजतक' के आउटपुट का काम देखने के अलावा इसी ग्रुप के 'तेज' चैनल के हेड थे. रविकांत जी न्यूज में भी कार्य कर चुके हैं.

माफ कीजिए, मुझे शंकराचार्य पर तरस आ रहा है…

Daya Sagar : प्रश्न ये नहीं है कि एक पत्रकार को एक संत से मोदी पर सवाल पूछना चाहिए था या नहीं? असल प्रश्न ये है कि एक वयोवृद्ध शंकराचार्य अपने क्रोध पर काबू क्यों नहीं रख पाया। माफ कीजिए मुझे शंकराचार्य पर तरस आ रहा है? उन्हें अभी और साधना और तपस्या की जरूरत है। (अमर उजाला अखबार में वरिष्ठ पद पर कार्यरत पत्रकार दयाशंकर शुक्ल सागर के फेसबुक वॉल से.)

सिर्फ 85 अमीरों के पास है दुनिया की आधी संपत्ति

‘सारे रास्ते रोम की तरफ जाते हैं’ यह कहावत आधुनिक मानव-समाज के उस छोटे से हिस्से पर अक्षरशः लागू होती है जिसके पास दुनिया की आधी संपत्ति इकट्ठा हो गई है। विगत कुछेक दशकों में वैश्विक अर्थ-व्यवस्था के नियम-कायदों का अधिकाधिक लाभ इसी वर्ग को मिलने तथा दुनिया भर में लोकतांत्रिक व्यवस्था को कमजोर करने से अमीरों और गरीबों के बीच का फासला इस कदर बढ़ा है कि दुनिया की आधी आबादी के पास जितनी संपत्ति है, उतनी संपत्ति दुनिया भर के केवल 85 अमीर लोगों के पास एकत्र हो गई है।

एसपी साहेब का आदेश- केवल तीन अखबारों और एक न्यूज चैनल के पत्रकारों से बात करूंगा

बीकानेर। जिले में नए आए पुलिस अधीक्षक संतोष तुकाराम चालके ने आदेश जारी किया है कि वे केवल तीन समाचार पत्रों और एक न्यूज चैनल के प्रतिनिधियों से ही बात करेंगे. अन्य समाचार पत्रों और न्यूज चैनलों के प्रतिनिधियों को कहा गया है कि वे एसपी के नीचे के अधिकारी एएसपी से बात करें. उनका यह अजीब आदेश ई-मेल के जरिए सभी मीडियाकर्मियों को भेजा गया.

पंजाब के पत्रकार गौतम जालंधरी ने शुरू किया न्यूज पोर्टल ‘नया शिखर’

पंजाब के पत्रकार गौतम जालंधरी ने आनलाइन, अंग्रेजी एवं हिंदी न्यूज पोर्टल 'नया शिखर' शुरू किया है। गौतम जालंधरी, अजीत समाचार, दैनिक जागरण, पंजाब केसरी व दैनिक भास्कर सहित कई अन्य समाचार पत्रों में बतौर ब्यूरो चीफ अपनी सेवाएं दे चुके हैं। गौतम जालंधरी के न्यूज़ पोर्टल का पता www.nayashikhar.com है।

कोलकाता कला प्रदर्शनी में नेपाल के महावाणिज्यदूत घिमिरे ने सुनायीं कविताएं

कोलकाता : सिटी आर्ट फाउंडेशन के सहयोग से एवं सिटी आर्ट फैक्ट्री के सौजन्य से भारतीय सांस्कृतिक सम्बंध परिषद (आईसीसीआर) के अवनिंद्रनाथ टैगोर हाल में आयोजित सामूहिक कला प्रदर्शनी का उद्घाटन बुधवार की शाम कोलकाता में नेपाल के महावाणिज्यदूत चंद्र कुमार घिमिरे ने किया।

लक्सर के प्रेस क्लब और इंडियन रिपोर्टर क्लब के हुए चुनाव

लक्सर के प्रेस क्लब (रजि.) में संपन्न हुए चुनाव में आफताब खान को संरक्षक, चौ. नरेश कुमार अवाना को अध्यक्ष, डॉ. सईद हसन को महामंत्री व शमीम अहमद को कोषाध्यक्ष चुना गया। वहीं दूसरी ओर इण्डियन रिपोर्टर क्लब का भी चुनाव हुआ।

महाराजगंज के पत्रकार-अधिवक्ता और एसडीएम में हुई नोंक-झोंक

महाराजगंज जिले के निचलौल तहसील के अधिवक्ता व दैनिक जागरण समाचार पत्र के तहसील प्रभारी दिग्विजय नारायण मिश्र के साथ 22 जनवरी 2014 को एसडीएम जयचन्द्र पांडेय ने न्यायालय में बदसलूकी की। पत्रकार-अधिवक्ता मिश्र अपने एक मुवक्किल की फाइल में अपने मनमाफिक आदेश कराने के लिए एसडीएम पर दबाव बना रहे थे।

बच्चा पहले जाव अरुण पुरी से पूछ लेना!

शंभूनाथ शुक्ल : पत्रकार होने का मतलब किसी से कुछ भी पूछ लेना नहीं होता है। जगदगुरु शंकराचार्य ने मोदी के बारे में पूछे जाने पर पत्रकार को थप्पड़ जड़ दिया। लोगबाग खामखाँ में इसे तिल का ताड़ बनाए हैं। आखिर कांशीराम ने भी एक पत्रकार को थप्पड़ मारा था और सपा नेता मुलायम ने आज तक न्यूज चैनल के एक संवाददाता द्वारा कुछ ऊटपटांग पूछे जाने पर उसकी ठोड़ी पर हाथ रखकर कहा था कि बच्चा पहले जाव अरुण पुरी से पूछ लेना।

लखनऊ निवासी वयोवृद्ध पत्रकार प्रेम नारायण मिश्रा नहीं रहे

लखनऊ निवासी वयोवृद्ध पत्रकार प्रेम नारायण मिश्रा मंगलवार देर शाम इस दुनिया को अलविदा कहकर चले गए। वह 85 वर्ष के थे। उनके तीन पु़त्र हैं। दूसरे नंबर के पुत्र मुकुंद मिश्रा मेरठ दैनिक जागरण और आगरा आई नेक्स्ट में विभिन्न पदों पर कार्यरत रहे। छोटे पुत्र अनूप मिश्रा वर्तमान में नेशनल दुनिया, मेरठ में कार्यरत हैं। इससे पूर्व वे अमर उजाला, दैनिक हिंदुस्तान और दैनिक जनवाणी को भी अपनी सेवाएं दे चुके हैं।

जी एंटरटेनमेंट का मुनाफा दस फीसदी बढ़ा

जी एंटरटेनमेंट एंटरप्राइजेज लिमिटेड (जेडईईएल) ने बुधवार को बताया कि 31 दिसंबर 2013 को खत्म दूसरे क्वॉर्टर में उसका कंसॉलिडेटेड नेट प्रॉफिट 10.03 फीसदी बढ़कर 213.59 करोड़ रुपये रहा। फाइनेंशियल ईयर 2012-13 के तीसरे क्वॉर्टर में कंपनी को 194.11 करोड़ रुपये का प्रॉफिट हुआ था। चालू वित्त वर्ष की तीसरी तिमाही में जेडईईएल की टोटल इनकम 1,188.36 करोड़ रुपये रही, जो पिछले वित्त वर्ष की समान अवधि में 938.82 करोड़ रुपये थी।

वोटर जागरूकता के लिए ‘पत्रिका’ को राष्ट्रीय पुरस्कार

नई दिल्ली। चुनाव आयोग ने राजस्थान, मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ समेत पांच राज्यों में गत वर्ष हुए चुनाव के दौरान मतदाताओं को वोट डालने व अच्छे उम्मीदवारों को चुनने के लिए 'पत्रिका' की ओर से चलाए गए जागरूकता कार्यक्रमों को सर्वश्रेष्ठ मानते हुए पत्रिका को नेशनल मीडिया अवार्ड देने का ऎलान किया है। देश भर के प्रिंट मीडिया में सिर्फ पत्रिका का ही इस पुरस्कार के लिए चयन किया गया है। राष्ट्रीय मतदाता दिवस के अवसर पर राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी 25 जनवरी को नई दिल्ली में यह अवार्ड प्रदान करेंगे।

एनडीटीवी के लीगल नोटिस का मधु किश्वर ने भेजा जवाब

MADHU KISHWAR REPLY TO NDTV LEGAL NOTICE … मधु किश्वर ने एनडीटीवी के लीगल नोटिस का जो जवाब भेजा है, उसे उन्होंने अपनी वेबसाइट मानुषी डाट इन पर भी प्रकाशित किया है. वहीं से जवाब के कुछ अंश यहां प्रकाशित किए जा रहे हैं और पूरा जवाब पढ़ने के लिए नीचे आखिर में दिए गए लिंक पर क्लिक कर दें.

एनडीटीवी मनी लांड्रिंग को लेकर प्रणय राय और गुरुमूर्ति के बीच हुए पत्राचार को पढ़ें

आईआरएस अधिकारी संजय कुमार श्रीवास्तव उर्फ एसके श्रीवास्तव ने एनडीटीवी पर मनी लांड्रिंग के आरोप लगाए थे. इसमें देश के एक बड़े नेता की भी भागीदारी की चर्चाएं रहीं. इसी मसले को लेकर पिछले दिनों वकील राम जेठमलानी और कांग्रेस नेता पी. चिदंबरम के बीच पत्राचार हुए, जिसे भड़ास ने प्रकाशित किया. अब भाजपा नेता गुरुमूर्ति और एनडीटीवी के मालिक प्रणय राय के बीच पत्राचार हुआ है.

चल पड़ी जो अब है तो कभी न थमनी चाहिए…

आज अचानक से जहन में एक महान साहित्यकार, कवि, ग़ज़लकार ‘दुष्यंत कुमार’ की एक पंक्ति आ गयी. उस ग़ज़ल की उस पंक्ति को अपनी जुबान से अगर मैं बोल भी लेता हूँ तो मेरे रोंगटें खड़े हो जातें हैं. वो सदाबहार पंक्ति है, ‘हो गई है पीर पर्वत सी पिघलनी चाहिए, इस हिमालय से कोई गंगा निकालनी चाहिए’. मैं दुष्यंत कुमार के पैरों की धूल भी नहीं हूँ. और न कभी भी उनके बराबर खड़ा हो सकता हूँ आज वह हमारे बीच में नहीं है, पर प्रेरणा हैं हम जैसों के लिए.

पत्रकारों के साथ बदसलूकी करने वालों पर हो कार्रवाई

दिल्ली जर्नलिस्ट्स एसोसिएशन दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के धरने के दौरान आम आदमी पार्टी के कार्यकर्ताओं और पुलिस द्वारा पत्रकारों के साथ की गई अभद्रता की निंदा करता है और दोषियों के खिलाफ कार्रवाई की मांग करता है. मंगलवार को रेल भवन पर अपनी मांगों को लेकर धरना दे रहे केजरीवील के समर्थन में आम आदमी पार्टी के कार्यकर्ताओं ने प्रदर्शन के दौरान कवरेज कर रहे मीडियाकर्मियों के साथ न केवल धक्का मुक्की की बल्कि उन्हें अपशब्द भी कहे.

लखनऊ के कथाकार कामतानाथ की स्मृति में मुम्बई में कल एक शाम

दिनाँक 24 जनवरी, 2014, शुक्रवार को सायं 6 बजे, प्रेस क्लब, ग्लास हाउस, आजा़द मैदान, महापालिका मार्ग, मुम्बई में हिंदी साहित्य के महान लेखक स्वर्गीय कामतानाथ (22 सितम्बर 1934 – 7 दिसंबर 2012) की स्मृति में एक स्मृति सभा का आयोजन किया गया है| इस सभा में मशहूर चित्रकार-लेखक आबिद सुरती, प्रतिष्ठित कथाकार श्रीमती सुधा अरोड़ा तथा सुप्रसिद्ध समाजसेवी, लेखक एवं आयकर आयुक्त आर.के.पालीवाल स्वर्गीय कामतानाथ की स्मृति में शब्द-श्रद्धाँजलि अर्पण करेंगे।

PEARLS GROUP ‘P7 NEWS’ CHANNEL SPONSORS ‘VEER MARATHI’ AT CCL 2014

: GRAND ANNOUNCEMENT OF ASSOCIATION WITH CELEB PLAYERS : Mumbai: For a majority of Indians, Cricket is not just the most popular sport, but also a religion. Next is the Media and Entertainment industry, which has taken the nation by storm. In line with its ambitious plans the ‘Pearls group’ has secured a license to air P7 news. Mr. Waahiid Ali Khan on behalf of P7 news channel declared that P7 News Channel will be sponsoring Reitesh Deshmukh’s  ‘Veer Marathi’ team, in the 4th season of CCL 2014.

भास्कर ने पटना में पहले ही दिन छाप दी बीस दिन पुरानी खबरें!

एक मेल पटना के किसी पत्रकार साथी ने भड़ास के भेजा है. इसमें दावा किया गया है कि बिहार में दैनिक भास्कर लांच तो हुआ लेकिन उसने पहले ही दिन बीस दिन पुरानी खबरें छाप दी, और वो भी जैकेट पर. दावे तो ताज़ी खबरों के किए थे लेकिन छापी पुरानी खबर. पढ़िए पूरी मेल….

पत्रकार न हो गया चौराहे का घंटा हो, जिसका मन किया बस बजा दिया!

आशुतोष दीक्षित : बस दे दिया घुमा के झन्नाटेदार, पत्रकार न हो गया, चौराहे का घंटा हो, जिसका मन किया बस बजा दिया, अमे गुरु सवाल गलत था तो सन्नाटा थाम लेते, गरिमा का हनन हुआ तो दावा ठोक देते, पर आप तो हमार मुहल्ले के लल्लन निकले, वही ऑन द स्पॉट ठोक दिये, ऑन द स्पॉट तो ठीक है , पर अपनी आन और पत्रकार के सम्मान का तो मान रख लेते, बड़ा जल्दी गरमा गये आप ठंड़ी में…

आसाराम भी पत्रकारों को लप्पड़-झापड़-तमाचा-घूंसे मारने का उस्ताद था…

Yashwant Singh :  इस निरीह पत्रकार का चेहरा बार-बार मेरी आंखों में घूम रहा है… कितने शराफत से बस केवल यह ही बोल पाया था कि… ''स्वामी जी, अगर मोदी प्रधानमंत्री बन गए तो…'' … और स्वामी जी ने खींच के मारा चटाक… ओह.. 91 साल के इस बुजुर्ग शंकराचार्य के स्खलन पर मुझे अफसोस तनिक न हुआ क्योंकि ये प्रोफेशनल साधु-संत अपने ओरीजनल खाल में हम सामान्य मनुष्यों से भी गए गुजरे हुए हैं… आसाराम, स्वरूपानंद, रामदेव… इनकी कामनाएं, इनकी आकांक्षाएं, इनकी महत्वाकांक्षाएं, इनकी लिप्साएं, इनके भोग, इनके धत्कर्म अनंत हैं…

पार्टी का प्रवक्ता हो तो योगेंद्र यादव जैसा हो, वरना ना हो

Nadim S. Akhter : आम आदमी पार्टी के नेता योगेंद्र यादव को अपनी पार्टी के प्रवक्ताओं को ट्रेनिंग देनी चाहिए. आप किसी भी टीवी डिबेट में देख लीजिए, हिंदी चैनल हो या अंग्रेजी न्यूज चैनल, योगेंद्र यादव की नपी-तुली टिप्पणी, जानकारी, विश्लेषण, विनम्रता और अपनी बात को प्रस्तुत करने का अंदाज सबको चुप करा देता है. डिबेट में हल्ला हो रहा हो तो शांति छा जाती है. बहस सार्थक होने लगती है. विरोधी खेमा भी ये कहने को मजबूर होता है कि हम योगेंद्र जी का सम्मान करते हैं लेकिन इनकी इस बात से सहमत नहीं हैं.

किरण बेदी ने अरविंद केजरीवाल के लिए ABP NEWS पर ये कैसी भाषा का प्रयोग किया, एंकर ने टोका क्यों नहीं?

Nadim S. Akhter : देखिए किरण बेदी दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के लिए कैसी तू-तड़ाक वाली भाषा का प्रयोग कर रही हैं. किरण बेदी कहती है– "और नुकसान की तैयारी कर रहा है ये (अरविंद केजरीवाल), Imagine की अगर लोकसभा में भी जाकर ये यही हाल करे तो क्या होगा. ये (अरविंद केजरीवाल) तो शहर (दिल्ली) को और पीछे ले गया, ये बड़ा नुकसान हो गया. वो तो खुद कहता है कि मैं अनार्किस्ट हूं. वो (अरविंद केजरीवाल) तो कह रहा है….ये पहले बोल देता तो शायद लोग पहले कह देते नमस्ते इनको. अब क्यों बोल रहा है. "

आम आदमी पार्टी के मुद्दे पर Times Group सफाई क्यों दे रहा है?

Nadim S. Akhter : Times Group की तरफ से सफाई आई है. आप सब ने इस बात को नोटिस किया होगा कि अरविंद केजरीवाल के हालिया धरने और उसके परिणामों को लेकर अंग्रेजी अखबार Times of India और ग्रुप के चैनल Times Now पर जैसी खबरें छप रही थीं-दिखाई जा रही थीं, उसे लेकर पाठकों-दर्शकों ने खूब प्रतिक्रिया दी.

केंद्रीय गृह राज्य मंत्री आरपीएन सिंह ने पत्रकार से की बदसलूकी

यूपी के कुशीनगर से खबर है कि केंद्रीय गृह राज्यमंत्री आरपीएन सिंह ने स्थानीय पत्रकार हेमंत चौरसिया के साथ बदसलूकी की. आरपीएन के व्यवहार की पत्रकारों के साथ बहुजन समाज पार्टी भी विरोध और कड़ी निंदा कर रही है.

जब पत्रकार बाल मुकुंद ने अपने साथी गोविंद सिंह से कहा- मैं इस नई तरह की पत्रकारिता से ऊब गया हूं

दिसंबर के आख़िरी दिन अर्थात 31 दिसंबर, 2013 को बाल मुकुंद नव भारत टाइम्स के वरिष्ठ सम्पादक पद से चुपचाप रिटायर हो गया. और रह रह कर याद आ रहा है उसका लिखा पहला व्यंग्य ‘मुन्ना बाबू के रिटायर होने पर’. तब हम लोग नभाटा, मुंबई में ट्रेनी थे. यह लगभग 1983 की बात है. वहाँ हमारे चीफ रिपोर्टर श्रीधर पाठक हुआ करते थे. वे पुराने जमाने के पत्रकार थे. शायद मैट्रिक पास थे. तीखी नाक वाले, बड़े गुस्सैल आदमी थे. अपने मातहतों को दबा कर रखते थे.

अरविंद केजरीवाल के बाद मनोहर पर्रिकर और आजम खां ने भी मीडिया को भ्रष्ट बताते हुए निकाली भड़ास

अरविंद केजरीवाल ने मीडिया के मालिकों को कांग्रेस और भाजपा खेमे में बंटा बताते हुए निशाना साधा था तो अब गोवा के मुख्यमंत्री मनोहर पर्रिकर ने आरोप लगा दिया है कि अधिकतर राष्ट्रीय समाचार चैनलों को कांग्रेस से मदद मिलती है. एक जनसभा में पर्रिकर ने कहा- ''मैं दिल्ली के इन समाचार चैनलों से पूछना चाहता हूं कि आपको लाभ कहां से मिलता है? मुझे पता है कि उन्हें सारा धन कांग्रेस से मिलता है. वित्तीय रूप से कोई भी चैनल लाभ में नहीं चल रहा है.''

91 साल का कांग्रेसी शंकराचार्य स्वरूपानंद क्रोध पर न पा सका काबू, पत्रकार को थप्पड़ मारा

आजकल के साधु महात्माओं को जाने क्या हो गया है कि वो खुद पर संयम रख नहीं पा रहे हैं. आसाराम अपने 'काम' पर काबू नहीं रख पाया और इन दिनों जेल की हवा खा रहा है तो शंकराचार्य स्वरूपानंद अपने 'क्रोध' पर आज संयम नहीं रख पाया. मोदी से संबंधित एक सवाल पूछने पर इसने एक पत्रकार को ही थप्पड़ मार दिया. घटना मध्य प्रदेश के जबलपुर की है. यहां द्वारिका पीठ के शंकराचार्य स्वरूपानंद सरस्वती ने एक टीवी जर्नलिस्ट को थप्पड़ मार दिया. इसको लेकर पूरे देश में विवाद खड़ा हो गया है. कई न्यूज चैनलों ने थप्पड़ मारे जाने के दृश्य को लगातार दिखाना शुरू कर दिया है.

अपोलो में साढ़े चार घंटे तक चली वीरेन डंगवाल की कैंसर की सर्जरी

मशहूर कवि, पत्रकार और प्रोफेसर वीरेन डंगवाल का आज दिल्ली स्थित अपोलो हास्पिटल में गले के कैंसर की सर्जरी की गई. यह सर्जरी सुबह सात बजे शुरू हुई और दोपहर साढ़े बारह बजे खत्म हुई. अभी उन्हें आपरेशन थिएटर में ही रखा गया है. कुछ घंटे बाद उन्हें आईसीयू में शिफ्ट किया जाएगा.

फिरोजाबाद, आज तक के संवाददाता के पिता का निधन

फिरोजाबाद में आजतक के संवाददाता और प्रेस क्लब फिरोजाबाद के संयोजक सुधीर शर्मा के पिता रामेश्वर दास शर्मा का निधन हो गया है। प्रेस क्लब ने शोक सभा कर दुःख प्रकट किया तथा दो मिनट का मौन रखकर मृतक की आत्मा की शांति के लिए प्रार्थना की।

कैनविज टाइम्स का बरेली से प्रकाशन शुरू

बरेली से आज, कैनविज टाइम्स का प्रकाशन शुरू हो गया। कैनविज टाइम्स लखनऊ में अमर उजाला में छपता है। यह बरेली में भी अमर उजाला में ही छपेगा। बरेली में इसका संपादक अनुपम मारकण्डेय को बनाया गया है, सिटी चीफ मुशाहिद रफत होंगे।

आईआईएमसी के छात्र रहे ऋत्विक ने डॉक्टरों के जीवन पर लिखी अपनी पहली किताब

भारतीय जनसंचार संस्थान के छात्र रहे ऋत्विक कुकरेजा ने कलम की दुनिया में प्रवेश अपनी पहली किताब 'बियोंड हिट एंड मिस' से किया है। उनकी किताब मेडिकल साइंस की दुनिया और डॉक्टरों के जीवन की गहराइयों से आम पाठक का परिचय करवाता है। कहानी में पुराने पड़ चुके मेडिकल पाठ्यक्रम, अंग-दान के महत्व और डॉक्टरी के पेशे में ब्रेन-ड्रेन जैसे मुद्दों को उठाया गया है।

इसकी कहानी चार मेडिकल स्टूडेंट्स(आर्यन, रोहन, तरुण और यश) के इर्द-गिर्द घूमती है जो बडे-बड़े सपनों के साथ अपनी डॉक्टरी जीवन की शुरूआत करते हैं। मेडिकल कॉलेज में दाखिले के बाद वे चारों इस दुनिया की हकीक़तों से दो-चार होते हैं। वे देखते हैं कि जो पाठ्यक्रम उन्हे पढ़ाया जा रहा है वो करीब एक सदी पुराना है और पूरा ज़ोर पाठ्यक्रम को तोते की तरह रटाने पर है। वे इसके खिलाफ आवाज भी उठाते है लेकिन कोई फायदा नहीं होता। इस तरह कहानी आगे बढ़ती है और डॉक्टरों के निजी और व्यवसायिक जीवन की परेशानियों से हमें बावस्ता कराती है।

कांग्रेसी-भाजपाई जब बलात्कारी और रिश्वतखोर साबित हुए तब अराजकता नहीं फैली!

Aj Singh Anna : संसद में हमारे सांसद ब्लू फिल्म देखते हुए पकडे गये, अराजकता नहीं फैली! संसद में सांसदों ने रिश्वतखोरी के नोटों के बंडल लहराए मगर अराजकता नहीं फैली! कांग्रेस का नेता नारायण दत्त तिवारी तीन-तीन वेश्याओ के साथ पकड़ा गया, वो अराजकता नहीं थी! अभिषेक मनु सिंघवी ऐसे ही कारनामे में लिप्त था, तब भी अराजकता नहीं फैली! भवरी देवी केस में मदेरणा हत्यारा, बलात्कारी पाया गया, तभी अराजकता का प्रश्न नहीं आया!

केजरीवाल के टायलेट में न्यूज चैनलों के कैमरे, प्रेस क्लब आफ इंडिया में केजरीवाल को लेकर पत्रकारों में दो फाड़

Yashwant Singh : अभी घर लौटा हूं. अरविंद केजरीवाल को सपोर्ट करने गया था. दिल्ली पुलिस विरोधी आंदोलन के पक्ष में. प्रेस क्लब के अंदर बैठा था. केजरीवाल आए और आते ही टायलेट की तरफ जाने का अनुरोध किया. प्रेस क्लब आफ इंडिया के डायरेक्टर और वरिष्ठ पत्रकार संजय सिंह ने उन्हें टायलेट का रास्ता दिखाया. केजरीवाल के टायलेट में घुसते ही कई न्यूज चैनलों के कैमरे टायलेट के उपर टंग गए. केजरीवाल चुपचाप खड़े देखते रहे. वे लौटे. उन्होंने शिकायत की. वरिष्ठ पत्रकार संजय सिंह टायलेट की तरफ पहुंचे और सारे कैमरामैंस को डांट पिलाई. तब जाकर सभी वहां से हटे. हद है यार. ये कैसी कूपमंडूकता है. कितना नानसेंस है. न्यूज चैनल हैं या गुंडई के औजार.

आदमी लड़की से बदसलूकी करता रहा, मिड डे का फोटोग्राफर फोटो खींचता रहा

मुंबई के एक मॉल में, सलमान खान की आने वाली फिल्म 'जय हो' के प्रोमोशन के दौरान, अपने चहेते कलाकार की झलक पाने के लिए भीड़ बेकाबू हो गई। वहां मची धक्का-मुक्की का फायदा उठा कर कुछ लोगों ने लड़कियों से बदसलूकी भी की। मिड डे अख़बार ने अपनी वेबसाइट पर एक फोटो प्रकाशित किया है जिसमें एक आदमी लड़की से बदसलूकी कर रहा है। फोटो में लड़की का चेहरा बालों से ढंका हुआ है। कैमरे का पूरा फोकस असहज स्थिति में फंसी लड़की के शरीर पर है। जो आदमी उसके साथ बदसलूकी कर रहा है उसका चेहरा फोटो में पूरा नहीं है। फोटोग्राफी का ये कमाल कई सवाल खड़े करता है। फोटो पर कमेंट करते हुए लोगों ने पूछा है कि ये कैमरा एंगल का कमाल है या मिड डे ने जानबूझ कर उस आदमी का चेहरा प्रकाशित फोटो में काट दिया है।

आईपीएल विवाद को हँसते-हँसते झेलने वाली सुनंदा का यूं हार जाना संदेह पैदा करता है

जी बहुत चाहता है सच बोलें
क्या करें हौसला नहीं होता।

एक ख़ुशमिजाज सी दिखने वाली अरबपति औरत के दिल में इतना दर्द होगा ये किसी ने सोचा न था। वो जब भी सार्वजनिक जीवन में दिखतीं तो चेहरे पर एक नूरानी हँसी खिली रहती, जिसे देखकर ये भ्रम होता कि शायद खुशी ने यहाँ अपनी स्थायी जगह बना ली है। और दुनिया को वो खुश दिखे भी क्यों नहीं, बेशुमार दौलत, हुस्न का सैलाब, सफल बिज़नेसवुमेन, वाकपटुता के साथ उन्हें राजनीति में सफल एक प्रेमीनुमा पति भी मिला था, जिससे शादी करने से पहले ही वो विवादों में घिर गई थीं। पर इन तमाम सफलताओं के पीछे एक असफलता छुपी थी जिसने सुनंदा पुष्कर को इतना कमजोर कर दिया कि जिन्दगी से वो बेजार हो उठी और मौत की आगोश में सिमट गई।

कशिश न्यूज ने पत्रकार रबि झा को नौकरी से निकाला, उप-श्रमायुक्त के यहां सुनवाई

कशिश न्यूज प्रबंधन द्वारा जमशेदपुर में कार्यरत पत्रकार रबि झा को बिना कारण एवं बिना किसी पूर्व सूचना के कार्य से हटाये दिया था। इस मामले को झारखण्ड श्रमजीवी पत्रकार यूनियन की पहल पर जमशेदपुर के उप-श्रमायुक्त के सामने उठाया था। उप-श्रमायुक्त ने इस मामले को काफी गम्भीरता से लिया है। उप-श्रमायुक्त ने पत्र भेज कर कशिश प्रबंधन और झारखण्ड श्रमजीवी पत्रकार यूनियन के प्रदेश महासचिव प्रमोद कुमार झा को 28 जनवरी को उनके कार्यालय में दिन के 12:30 बजे उपस्थित होकर अपना पक्ष रखने एवं रबि झा के मामले में वार्ता के लिए बुलाया है.

गोरखपुर के वयोवृद्ध पत्रकार श्रीकृष्ण लाल गंभीर रूप से बीमार, मदद की दरकार

गोरखपुर जिले के वयोवृद्ध पत्रकार श्री श्रीकृष्ण लाल श्रीवास्तव इन दिनों गंभीर रूप से बीमार हैं। वे गोरखपुर जिला अस्पताल के प्राइवेट वार्ड में भर्ती हैं। डाक्टरों के अनुसार उनका गुर्दा खराब है। दुर्भाग्यवश श्री श्रीवास्तव के एकलौते पुत्र ने उन्हें कई वर्ष पूर्व अपने से अलग कर दिया था। इस कारण वे अपनी बड़ी पुत्री और दामाद के पास रह रहे हैं। आर्थिक रूप से कमजारे दामाद व पुत्री ही उनकी चिकित्सा आदि करा रहे हैं। श्री श्रीवास्तव दैनिक जागरण गोरखपुर से लम्बे समय तक जुड़े रहे, बाद में वे गोरखपुर के दैनिक आज से जुड़ गये। वे इस क्षेत्र के सबसे पुराने दैनिक अखबार हिन्दी दैनिक से भी जुड़े रहे। श्री श्रीवास्तव को चलता-फिरता पत्रकारिता विद्यालय माना जाता है। दैनिक जागरण के उपसंपादक और क्राइम रिपोर्ट रहे श्री श्रीवास्तव द्वारा नारायणपुर काण्ड की रिपोर्टिंग पर ही उत्तर प्रदेश की तत्कालीन, बनारसी दास के नेतृत्व वाली जनता पार्टी सरकार को इस्तीफा देना पड़ा था। आज श्री श्रीवास्तव को स्वयं मदद की दरकार है।

जनसंदेश टाइम्स में बलात्कार की शिकार बालिका का नाम छपा

जनसंदेश टाइम्स, गोरखपुर के 18 जनवरी के नगर संस्करण में पेज नंबर 5 पर दाहिनी तरफ उपर की ओर प्रकाशित एक खबर में बलात्कार पीड़िता से संबंधित खबर में उसके असली नाम का खुलासा कर दिया गया है. बालिका का नाम छापे जाने पर क्षेत्र के संवेदनशील लोगों में नाराजगी है.

उड़ीसा में अखबार के आफिस में तोड़फोड़ से नाराज मीडियाकर्मियों ने प्रदर्शन किया

राउरकेला से खबर है कि इस्पातांचल के सेक्टर-17 स्थित ओडिया दैनिक अखबार के कार्यालय में तोड़फोड़ एवं आगजनी की घटना के प्रतिवाद में मीडिया कर्मियों ने सोमवार को एडीएम कार्यालय के समक्ष प्रदर्शन किया. धरना में शामिल मीडिया कर्मियों ने काला बैच धारण कर नाराजगी का इजहार किया. धरना में शामिल मीडिया कर्मियों ने दोषियों के खिलाफ पुलिस की कार्रवाई को नाकाफी बताते हुए आंदोलन जारी रखने का एलान किया.

रिश्वत लेते पुलिस वालों की वीडियो बनाने वाले दो युवक गिरफ्तार

ग्रेटर नोएडा से खबर है कि कासना कोतवाली पुलिस ने दो युवकों को अवैध वसूली के आरोप में गिरफ्तार किया है. इनके पास से एक कार और कैमरा भी बरामद किया गया है. आरोप है कि दोनों पुलिस पर डंपर के ड्राइवर से अवैध वसूली करने का आरोप लगाकर रुपयों की डिमांड करने लगे. कैमरे में रिश्वत लेने की वीडियो बन जाने की बात कहकर पुलिसकर्मियों को दोनों ने धमकाना शुरू कर दिया. पुलिस का कहना है कि खुद को ये दोनों एक न्यूज चैनल का पत्रकार बता रहे थे. बाद में जब जांच की गई तो पता चला कि वे किसी भी चैनल में नही हैं.

चंडीगढ़ प्रेस क्लब : सेक्रेट्री जनरल ने कहा- प्रेसीडेंट और सीनियर वाइस प्रेसीडेंट मौखिक नहीं, लिखित आदेश दिया करें स्टाफ को (पढ़ें पूरा पत्र)

Chandigarh Press Club

Club Notice No.72

Dear Members

It has been found that many members, including the office bearers of the Club, are deliberately violating the Constitution and Standard Operating Procedure (By Laws) of the Club. I have already apprised the Advisors about the gross violations in The Club.

BNK MEDIA SOLUTIONS

BNK MEDIA SOLUTIONS PROVIDES

SINGLE WINDOW CONSULTANCY SERVICES FOR UPCOMING ELECTRONIC MEDIA new media VENTUTRES…

Self owned or leased/rented…

NEWS CHANNEL, NEWS WEBSITE SETUP / REGISTRATION /  LICENCE / designing LAUNCHING…

कुछ साथी केजरीवाल के धरने के बहाने पत्रकारिता में ‘निष्पक्षता’ की दुर्गति से बहुत आतंकित हैं

Navin Kumar : कुछ साथी अरविंद केजरीवाल के धरने के बहाने पत्रकारिता में 'निष्पक्षता' की दुर्गति से बहुत आतंकित हैं। वो इस ढाल का इस्तेमाल तभी करते हैं जब उनके 'नेता' के आदर्शों की लंगोट उतरने लगती है। फासीवादी हमेशा से सभ्यता, संस्कृति, परंपरा, भाषा, धर्म जैसे शब्दों की आड़ में अपने अपराधों को न्यायोचित ठहराते रहे हैं.. यह कोई नई बात नहीं है.. जैसे ही लोग इसके झांसे में आने से इनकार करने लगते हैं 'ख़ून' बहने लगता है.. अब इतिहास को तय करना है कि वह 'हत्यारे' को हत्यारा कहना जारी रखता है या 'उनके' आतंक से अपने अध्याय बदल लेता है.. (आजतक न्यूज चैनल में वरिष्ठ पद पर कार्यरत नवीन कुमार के फेसबुक वॉल से.)

दिल्ली से संचालित न्यूज पोर्टल न्यूजलीक्स को रक्षा सौदों से जुड़ी रिपोर्ट पर इटली की कंपनी ने नोटिस भेजा

From: Raffaele Cavaliere (raffaele_cavaliere@live.com)

Date: Fri, Jan 17, 2014 at 11:23 AM

Subject: Notice For Defamation Content

To: hashmi.ruman@gmail.com

Dear Admin,

आईएम के नाम पर मुस्लिम प्रताड़ित किए जाते हैं और नेता लोग जेड प्‍लस सुरक्षा पाते हैं : डा. फलाही

Rising Rahul : अभी अभी मेरी सि‍मी के पूर्व अध्‍यक्ष्‍ा डा. शाहि‍द बद्र फलाही से बात हुई। डा. फलाही का इंटरव्‍यू मैं पहले भी कर चुका हूं। उनका कहना था कि क्‍या ऐसी खबर है कि अरविंद केजरीवाल पर आईएम के हमले की साजिश रची गई है। मैंने तुरंत कहा कि आईएम की सत्‍यता अभी प्रमाणि‍त होनी बाकी है।

Zee News की घटिया पत्रकारिता : फिर साख लगी दांव पर

Nadim S. Akhter : मीडिया का आदमी हूं, सो अफसोस होता है कि नैशनल टीवी मीडिया का एक धड़ा अरविंद केजरीवाल के धरना-प्रदर्शन की एकतरफा और कई मायनों में कहें तो biased reporting कर रहा है. अब Zee News पर दिखाई गई इस खबर को ही लें. इसमें चैनल अरविंद केजरीवाल के तथाकथित झूठ का -पर्दाफाश- करने का दावा कर रहा है. वह भी चाय और खाने की बात को लेकर. Zee News कह रहा है कि अरविंद केजरीवाल झूठ बोल रहे हैं कि पुलिस धरना स्थल पर चाय और खाने का सामान नहीं लाने दे रही. और फिर एंकर कहती है कि आज हम दिखाएंगे, अरविंद केजरीवाल का झूठ. और फिर two window काट लिया जाता है.

पत्रकार विष्णु त्रिपाठी की मां और पत्रकार मधुकर आनंद के पिता का निधन

कानपुर : दैनिक जागरण के एक्जीक्यूटिव एडीटर व दिल्ली एनसीआर के संपादक विष्णु प्रकाश त्रिपाठी की मां श्रीमती बसंती देवी त्रिपाठी का रविवार रात दिल का दौरा पड़ने से देवनगर स्थित आवास पर निधन हो गया। वह 87 वर्ष की थीं। उनका अंतिम संस्कार सोमवार को भैरोघाट पर किया गया।

नभाटा के पत्रकार नरेंद्र नाथ से धरनास्थल पर पुलिस ने की मारपीट

नवभारत टाइम्स के विशेष संवाददाता नरेंद्र नाथ से अरविंद केजरीवाल के धरना स्थल पर पुलिसवालों ने मारपीट की। पत्रकार ने कहा, मैंने अपना आई कार्ड दिखाया, लेकिन पुलिसवाले समझने को तैयार नहीं थे। पुलिस ने कहा कि पत्रकार हो तो और मारेंगे।

कुमार विश्वास दुनिया के सर्वकालिक 27वें लोकप्रिय कवि!

Prabhat Ranjan : न न, मैं नहीं कह रहा। http://www.poemhunter.com ने एक सूची जारी की है दुनिया के 500 सार्वकालिक लोकप्रिय कवियों की। कल इस ओर मेरा ध्यान आकर्षित किया लेखक-मित्र प्रचंड प्रवीर ने। इस वेबसाइट की दुनिया भर में प्रतिष्ठा है।

सियासी जंग के लिए सड़क पर उतरी केजरीवाल सरकार!

आम आदमी पार्टी (आप) का नेतृत्व एक बार फिर सड़क की राजनीति करने पर उतारू हो गया है। फर्क यही आया है कि अब इस पार्टी का नेतृत्व ‘सरकार’ बन गया है। इस पार्टी के संयोजक अरविंद केजरीवाल दिल्ली के मुख्यमंत्री हैं। उनके छह प्रमुख सिपहसालार मंत्री पदों पर विराजमान हैं। पुलिस से हुए विवाद के एक मामले में पूरी सरकार अब सड़क पर आंदोलन करने पर उतारू हुई है। दिल्ली पुलिस की मनाही के बावजूद मुख्यमंत्री के नेतृत्व में उनके सभी मंत्री संसद भवन के पास धरने पर बैठ गए। इसके बाद तो नेतृत्व पर पूरी तौर से आंदोलन का रंग चढ़ गया।

गांधी जी सत्ता में आते तो शायद इसी तरह सड़क से सरकार चलाते (देखें तस्वीर)

Sanjay Tiwari : मुख्यमंत्री बनते ही इस आदमी ने सबसे पहला काम यही किया था. बेघरों के रैन बसेरों को दुरुस्त करवाया था. लेकिन बेघरों की तकलीफ महसूस करनेवाला वह मुख्यमंत्री अपने मंत्रियों के साथ पूरी रात बेघरों की तरह सड़क पर पड़ा रहा. दिल्ली की इस हाड़ कंपाती सर्दी में खुले आसमान के नीचे दो कंबल के सहारे रात गुजारकर इस 'आदमी' ने आज फिर साबित कर दिया कि वह किसी और माटी का बना पुतला है. वही माटी जिससे शायद बापू जी बने थे, विनोबा जी बने थे….

एक बार भाजपा के सीएम ने केंद्र के खिलाफ धरने की धमकी दी थी पर तब डील हो गई थी

Sachin Kumar Jain : अरविन्द केजरीवाल जानते हैं कि सरकारी आवास और सचिवालय में सत्ता के भूत रहते हैं. वहां रह कर तो वह नहीं किया जा सकता, जो वे वास्तव में करना चाहते हैं. मौजूदा "राजकता" को तो "अराजकता" से ही पलटा जा सकता है. संविधान में कहाँ लिखा है कि कोई मुख्यमंत्री धरने पर नहीं बैठेगा. मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री ने डेढ़ साल पहले केंद्र सरकार के खिलाफ धरने की "धमकी" दी थी. तैयारियां भी दिखाई गयीं थी, पर तब डील हो गयी थी. तब तो कांग्रेस की केंद्र सरकार ने तत्परता दिखाई थी; क्यों? मुझे तो बाते बहुत साफ़-साफ़ दिखाई देती हैं. यदि कोशिशों के बाद भी व्यवस्था न सुधरे तो संघर्ष करना ही पड़ता है. यह संघर्ष सचिवालय से नहीं हो सकता, यह तो लोगों के बीच ही हो सकता है. दिल्ली सरकार का काम करने का यह तरीका लोकतंत्र को लोगों के बीच ले जायेगा. (मध्य प्रदेश के सोशल एक्टिविस्ट सचिन कुमार जैन के फेसबुक वॉल से.)

केजरीवाल और रामदेव में फर्क : एक चेली के कपड़े पहनकर भागा, दूसरा सर्दी में खुले आसमान के नीचे डटा है

शंभूनाथ शुक्ल : अरविन्द और रामदेव में यही फर्क है. पुलिस ने लाठियाया तो रामदेव अपनी चेली के कपड़े पहन कर रामलीला मैदान से आधी रात को फुर्र हो लिए और अरविन्द ऐसी सर्दी में भी रात भर खुले आसमान के नीचे डटे हैं. असली योगी तो अरविन्द केजरीवाल हैं बाबा रामदेव नहीं. और असली हरयाणवी छोरा भी अपने अरविन्दजी ही हैं, रामदेव ने तो अहीरवाल की नाक कटा दी.

बेचारे भाजपा वाले, न सत्ता पा सके, न विपक्ष में रह पाए

Yashwant Singh : ये भाजपा वाले केजरीवाल से अगर कुछ सीख सकते हैं तो सीख लें… बेचारे, सबसे ज्यादा सीट पाकर भी दिल्ली की सत्ता नहीं हासिल कर सके और अब तो विपक्ष की भूमिका भी सत्ताधारी 'आप' ने छीन ली… ये कहीं के नहीं रहे… खिसियानी बिल्ली खंभा नोचे, सो ये और इनके पेड एजेंट दिन रात फेसबुक ट्विटर पर केजरीवाल का तंबू उखाड़ने और केजरीवाल को गरियाने में लगे हुए हैं… दोस्तों, जो दिन रात अपने वॉल पर केवल केजरीवाल को गाली लिखता रहे, भांति भांति एंगल से, तो समझ लेना वो भाजपा का पेड एजेंट है…. ऐसे एजेंटों से सावधान और केजरीवाल को सलाम…

आशुतोष को अंग्रेजी नहीं आती, उन्हें हिंदी में बोलना चाहिए, शायद अपना बचाव कुछ बेहतर कर सकें…

Samarendra Singh : वैसे मानना पड़ेगा अर्णब को… अर्णब गोस्वामी आज आशुतोष से अपनी दोस्ती के लिहाज में जितना विनम्र बने हुए हैं. आशुतोष उसी का नाजायज फायदा उठा कर उतनी ही नंगई कर रहे हैं. यह शर्मनाक है… वैसे, आशुतोष को अंग्रेजी नहीं आती. उन्हें हिंदी में बोलना चाहिए. शायद अपना बचाव कुछ बेहतर कर सकें…

एक पर्ची पर SHO नियुक्त हो सकता है लेकिन ठंडी रात में सीएम धरने पर बैठकर भी SHO का तबादला नहीं करा सकता

Sheetal P Singh : पूर्व गृह सचिव के अनुसार केन्द्रीय गृहमंत्री शिन्दे के यहाँ से दिल्ली के थानों में SHO लगाये जाने के लिये पुलिस कमिश्नर के पास पर्चियाँ भेजी जाती थीं। R K singh (पूर्व गृह सचिव) ने इस सूचना को प्रधानमंत्री कार्यालय के अधिकारियों और कैबिनेट सचिव को बताया था। एक पर्ची पर SHO नियुक्त हो सकते हैं पर मुख्यमंत्री ठंडी रात में धरने पर बैठा हो किसी SHO का तबादला तक नहीं करा सकता? जबकि राष्ट्रीय दामाद के ख़िलाफ़ जाँच की बात करने पर खेमका के ख़िलाफ़ CBI जाँच के आदेश दिये गये हैं! (वरिष्ठ पत्रकार शीतल पी. सिंह के फेसबुक वॉल से.)

टीवी की ‘व्युअरशिप’ को ‘इंडिया’ के साथ कन्फ़्यूज़ करने की गलतफ़हमी के ये लोग ला-इलाज रोगी हैं : उदय प्रकाश

Uday Prakash : सुबह उठते ही, जब अरविंद केजरीवाल का चेहरा सूजा हुआ था, बीच-बीच में खांसी आ रही थी, आंखें नींद की खुमारी से भारी थीं, आवाज़ भर्राई हुई थी और टीवी चैनल के कर्मचारी उनसे 'अराजकता' वगैरह के बारे में पूछ रहे थे, तब उनका जवाब था- ''देश की राजनीति बदल रही है. सारा पोलिटिकल डिस्कोर्स बदल रहा है. इस बात को राजनीतिक नेता और मीडिया वाले सीख लें…!''

आधे मीडिया मालिक मोदी के पक्षधर और आधे राहुल गांधी के साथ : केजरीवाल

अरविंद केजरीवाल ने मीडिया के भीतर की असली राजनीति को सामने ला दिया है. उन्होंने आज रेल भवन के सामने धरनास्थल पर मीडिया वालों से बातचीत के दौरान मीडिया की कड़वी सच्चाई बयान कर दी. उन्होंने कहा कि पत्रकार तो सारे ठीक होते हैं, गड़बड़ हैं उनके मालिक. अरविंद केजरीवाल ने साफ कहा कि मीडिया मालिकों में से आधे नरेंद्र मोदी से मिले हुए हैं और बाकी आधे राहुल गांधी से.

तेजपाल मामला : नीरो से जवाब मिलते आरोप पत्र दाखिल करेगी पुलिस

पणजी : तहलका के संस्थापक संपादक तरुण तेजपाल से जुड़े हुए एक महिला पत्रकार से कथित यौन शोषण मामले की जांच कर रही गोवा पुलिस को अभी तक हॉलीवुड अभिनेता रोबर्ट डी नीरो को भेजे गए सवालों का जवाब नहीं मिला है। ये सवाल पुलिस ने उन्हें भेजे थे।

वसूली करने के आरोप में दो फर्जी पत्रकार अरेस्‍ट

ग्रेटर नोएडा के कासना कोतवाली पुलिस ने दो फर्जी पत्रकारों को अरेस्‍ट करके जेल भेज दिया है। इनके पास से एक कार और कैमरा बरामद हुआ है। इन दोनों पर आरोप है कि चैनल से जुड़ा बताकर पुलिस से रुपयों की मांग कर रहे थे। बाद में जब जांच की गई तो पता चला कि वे किसी भी चैनल में नहीं है। इसके बाद पुलिस ने दोनों को हिरासत में ले लिया।

सहारा समय के रिपोर्टर ने जिला पंचायत पीलीभीत के अधिकारी को धमकाया, रिपोर्ट दर्ज

पीलीभीत। जिला पंचायत पीलीभीत के अपर मुख्य अधिकारी(ए.एम.ए.) ने सहारा समय के रिपोर्टर सौरभ सिंह और के न्यूज़ के शिवेन्द्र गौड़ के विरुद्ध गम्भीर धराओं में सदर कोतवाली, पीलीभीत में मुकदमा दर्ज कराया है। पुलिस मामले की छानबीन कर रही है।

‘जेनरिक लाइए पैसा बचाइए’: हमें दवाइयों की जरूरत है न की ब्रांडेड दवाइयों की

भारत जैसे गरीब देश में आम लोगों को सस्ती दवाइयों के बारे में जागरूक करना बहुत जरूरी है। इस संदर्भ में जेनरिक दवाइयों का प्रचलन एक रास्ता हो सकता है। उक्त बातें 'स्वस्थ भारत विकसित भारत' अभियान के अंतर्गत 'जेनरिक लाइए पैसा बचाइए' कैंपेन चला रही संस्था प्रतिभा जननी सेवा संस्थान(पी.जे.एस.एस) के नेशनल-को-आर्डिनेटर आशुतोष कुमार सिंह ने कही। वो जोगेश्वरी स्थित बिमल अपार्टमेंट में आयोजित 'जेनरिक लाइए पैसा बचाइए कैंपेन' के तहत आयोजित सेमिनार में स्थानीय महिलाओं को संबोधित कर रहे थे।

खास लोग बन रहे अब “आप” के ड्राइवर….

कोई इंसान व्यक्तिगत तौर पर ईमानदार है, इस बात का महत्व है। मगर सार्वजनिक जीवन में निजि ईमानदारी तभी मायने रखती जब उसका उपयोग सार्वजनिक जीवन में हो। लेकिन अरविन्द केजरीवाल और उनकी "आप" यहाँ पर विभाजन रेखा खींच बैठे हैं। शुरूआत शीला दीक्षित से करते हैं। ये वहीं शीला जी हैं जिन पर और जिनकी सरकार पर केजरीवाल ने बे-ईमानी का आरोप बुरी तरह लगाया। मगर अब कहते हैं कि मैं इन लोगों के खिलाफ कार्यवाही करूँगा मगर सबूत तो लाओ। अब केजरीवाल को कौन समझाए कि जब "आप" के पास सबूत नहीं था, तो किस बिना पर शीला जी और उनकी सरकार भ्रष्टाचारी थी? मगर ये केजरीवाल हैं, जिनका ख़ुमार जनता पर है। अब केजरीवाल जी, भ्रष्ट शीला जी की भ्रष्ट कॉंग्रेस के कंधे पर सवार होकर ईमानदारी का काम करने निकले हैं। ये मामला कुछ ऐसा ही है जैसे झारखंड में सरकार बनाने का मामला हो तो शीबू सोरेन और मधु कोड़ा, जैसे दागी भाजपा और कॉंग्रेस दोनों को भले लगने लगते हैं।

मुसलमानो को न आरक्षण चाहिए, न ख़ैरात, न मुआवजा: मौलाना तौक़ीर रज़ा ख़ान

इस मौलाना की सोच में दम है। हिंदुस्तान की तरक्की का एक नक्शा है इसकी आखों में। नफरत भेदभाव या तुष्टिकरण के खिलाफ मौलाना ने एक ऐसा फार्मूला दिया है कि जिस पर अमल करके मुल्क से साम्प्रदायिकता को जड़ से मिटाया जा सकता है। यही नहीं सभी कौम मिलकर देश कि तरक्की की नयी इबारत लिखें, इत्तेहाद-ए-मिल्लत के नेता तौकीर रज़ा खान का कहना है हिंदुस्तान के मुसलामानों को किसी से भीख नहीं चाहिए, उन्हें किसी और का हिस्सा भी नहीं चाहिये, अपना हक़ चाहिए। बराबरी का हक़। हमें न आरक्षण चाहिए, न खैरात, न मुआवजा। अब तक की सरकारों ने यही तो किया है और मुसलमानों को महज वोट के लिए इस्तेमाल किया। झगड़ों और दंगो के नाम पर बदनाम किया, पहले घर जलाये फिर मुआवजा देने आ गए, ऐसे लोगों को बेनकाब किया जाना चाहिए।

सीकर में निजि स्कूल की गुंडागर्दी, अभिभावक से की मारपीट

सीकर जिला मुख्यालय पर निजी शिक्षण संस्थाओं की गुंडागर्दी किस कदर हावी है इस बात का प्रमाण उस समय देखने को मिला जब शहर के पालवास रोड स्थित प्रिंस स्कूल में एक अभिभावक स्कूल के हॉस्टल में रह रहे अपने बच्चे की जानकारी मांगने पहुंचे। इस बात पर हॉस्टल वार्डन ओर स्कूल के संचालकों ने अभिभावक के साथ जमकर मारपीट की और उन्हें धक्के देकर स्कूल से बाहर निकाल दिया।

उत्तराखंड शिक्षा विभाग बना तबादला उद्योग; पीड़ित शिक्षिका को मुख्यमंत्री ने दी राहत

उत्तराखंड के शिक्षा विभाग में तबादला एक उद्योग बन गया है। ऊंची पंहुच व रसूख वालों के लिए सुगम-दुर्गम कोई मायने नहीं रखता है। नियम व कानून बेबस और लाचार लोगों के लिए ही हैं, जिनकी आवाज न तो सत्ता के शिखर पर पहुंच पाती है और नहीं उनके पास मोटी रकम चढ़ावे के लिए है। शिक्षा विभाग में जगतेश्वरी बहुगुणा का प्रकरण एक बानगी है। न जाने कितने ऐसे अन्य शिक्षक व शिक्षिकाएं और भी हैं जो विभाग के दिये जख्मों को झेलने को विवश हैं।

उत्कल मेल ने जमशेदपुर ब्यूरो-चीफ को नौकरी से निकाला, मकान का बिजली-पानी भी काटा

राउरकेला(ओडिसा) से प्रकाशित हिंदी दैनिक उत्कल मेल ने जमशेदपुर ब्यूरो-चीफ के पद पर कार्यरत अभिजीत अधरजी को बिना किसी पूर्व सूचना एवं बिना कारण बताए नौकरी से निकल दिया है। आदर्श नगर, सोनारी में अभिजीत को रहने के लिए दिए गए मकान का पानी-बिजली भी उत्कल मेल के मालिक और प्रधान संपादक पितवाश मिश्रा ने कटवा दिया है। अभिजीत के फोन, इन्टरनेट, ऑफिस भाड़ा का भुगतान भी उत्कल मेल द्वारा नहीं किया गया है।

बेहया पत्रकारिताः पत्रकार ने शिवपाल सिंह यादव के पैर छू कर माफी मांगी

खबर है कि इटावा में प्रदेश के एक प्रमुख दैनिक के संवाददाता ने लोक निर्माण मंत्री शिवपाल सिंह यादव के चरण स्पर्श करके सैफई महोत्सव के बारे में दी गयी खबर पर माफी मांगी फिर भी शिवपाल सिंह नहीं पसीजे। राज्य सरकार ने सैफई महोत्सव के असुविधाजनक कवरेज के कारण कई मीडिया प्रतिष्ठानों पर दमन चक्र चलाया है। आश्चर्य की बात यह है कि राज्य सरकार की कार्रवाई के खिलाफ जनमानस में कोई मुद्दा नहीं बन पा रहा जबकि एक समय इंडियन एक्सप्रेस के खिलाफ तत्कालीन प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी ने कार्रवाई करायी थी तो सारे देश में तूफान खड़ा हो गया था।

सीकर के पत्रकार करेंगे ‘निजि शिक्षण संस्था संघ’ की ख़बरों का बहिष्कार

'निजि शिक्षण संस्था संघ' के बुधवार को हुए जिला सम्मेलन में, प्रेस और पत्रकारों को लेकर दिये गये विवादास्पद बयानों के विरोध में सीकर के तमाम पत्रकारों में रोष व्याप्त है। इसके विरोध में गुरूवार को सीकर के तमाम पत्रकारों ने एक आपात बैठक आहूत कर 'निजि शिक्षण संस्था संघ' के सम्मेलन में, पत्रकारों पर की गई ओछी टिप्पणी की कड़े शब्दों में निन्दा की। बैठक में शेखावाटी शिक्षण संस्थान लोसल के निदेषक बीएल रणवा और झुंझुनूं निजी शिक्षण संघ के जिलाध्यक्ष सज्जन सिंह पूनियां के इस बयान पर कि ‘पत्रकारों के बच्चे स्कूलों की वजह से ही पलते हैं और स्कूलें ही प्रेस व मीडिया को चलाती है,' के जवाब में निर्णय लिया गया कि अब मीडिया निजि शिक्षण संस्थानों में होने वाले किसी भी तरह के आयोजन का बहिष्कार करेंगी और किसी तरह के समाचार प्रकाशित नहीं किये जायेंगे। वहीं बैठक में निर्णय लिया गया कि 'अभिभावक संघर्ष समिति' द्वारा निजी शिक्षण संस्थानों के विरोध में उठाने वाले तमाम मुद्दों को प्रमुखता दी जायेगी।

ऑस्कर फर्नान्डीज़ ने किया मासिक पत्रिका ‘अपना देश समाचार’ का विमोचन

नईदिल्ली, 19 जनवरी, 2014, कर्नाटक के करीब बारह हजार गांवों में सरकार और ग्रामवासियों के बीच सेतु का काम करते हुए विकास का नया अध्याय लिखने वाले स्वैच्छिक संगठन ‘अपना देश’ द्वारा प्रकाशित मासिक पत्रिका ‘अपना देश समाचार’ का आज यहां विमोचन हुआ। इस अवसर पर बोलते हुए केन्द्रीय भूतल परिवहन मंत्री ऑस्कर फर्नान्डीज़ ने कहा कि छोटी-छोटी समस्याओं के समाधान हेतु हमेशा सरकार के भरोसे बैठे रहने से काम नहीं चलेगा। इसके लिए लोगों को कुछ समस्याओं के समाधान हेतु स्वयं आगे आकर प्रयास करने होंगे। अपना देश अभियान की प्रशंसा करते हुए उन्होंने कहा कि इस के संस्थापक एवं कर्नाटक के वरिष्ठ प्रशासनिक अधिकारी भरतलाल मीणा ने सरकार और लोगों के बीच सहभागिता का जो प्रशंसनीय प्रयास आरंभ किया है उसे पूरे देश में लागू किया जाना चाहिए। इस अवसर पर वरिष्ठ पत्रकार डॉ. वेद प्रताप वैदिक, डॉ. श्याम सिंह शशि, राज्य सभा सांसद मोहम्मद अदीब, गृह मंत्रालय में अतिरिक्त सचिव गोपाल रेड्डी के अलावा ‘अपना देश’ के संस्थापक भरतलाल मीणा भी उपस्थित थे।

राजस्थान एफ.डब्ल्यू.जे. की कार्यकारिणी घोषित, लखनऊ जे.ए. का पत्रकार मिलन समारोह

राजस्थान फैडरेशन आँफ वर्किंग जर्नलिस्ट के अध्यक्ष आंनद पाल सिंह तोमर ने राजस्थान प्रदेश की कार्यकरिणी घोषित कर दी है। प्रदेश अध्यक्ष का कार्यभार समालते ही तोमर ने फैडरेशन के वरिष्ठ पत्रकारों की सलाह अनुसार महासचिव पद पर जगदीश नारायण जैमन को नियुक्त किया है। मुलचंद अग्रवाल, शंकर नागर, बसंत व्यास, एस. एन. गौतम, शरद शर्मा, भूपेन्द्र तिवारी(धौलपुर) उपाध्यक्ष पद पर नियुक्त किया गया है। नीरज मेहरा, देवेन्द्र सिंह, मांगीलाल पारीक, वसीम अकरम कुरेशी, राकेश कौशिक(गंगानगर), हेमेन्द्रशर्मा(भरतपुर) को सचिव बनाया गया है तथा कोषाध्यक्ष डी. सी. जैन को बनाया गया है।

अरविंद केजरीवाल के पक्ष में….

Yashwant Singh : आज फेसबुक पर बहुत घूमा, काफी कुछ पढ़ा लेकिन मुझे जो निजी तौर पर कुछ पोस्टें पसंद आईं, उनको भड़ास पर प्रकाशित करा दिया ताकि घनघोर सूचना विचार भ्रम बारिश के इस दौर में सही बात ज्यादा से ज्यादा लोगों तक पहुंचे… सत्ता में आने का मतलब यह कतई नहीं होता कि आप धरना प्रदर्शन नहीं करेंगे…

अपनी किताब ‘नक्सल लाइव’ के बारे में कुछ बता रहे हैं पत्रकार आरके गांधी

नक्सलवाद, माओवाद, लाल आतंकी ये शब्द बचपन से सुनता आ रहा था. लेकिन पहली तस्वीर जो ये शब्द सुनकर मेरे दिमाग में बनी थी वो "हजार चौरासी की मां"  नाम की एक फिल्म के दृश्यों ने बनाई थी. दरअसल जब मैं 2005 में पं. माखनलाल चतुर्वेदी पत्रकारिता विश्वविद्यालय भोपाल से जनसंचार में मास्टर डिग्री की पढ़ाई शुरू की थी, वहीं देश भर से चुन कर आए विद्यार्थियों को गोविन्द निहलानी की फिल्म "हजार चौरासी की मां" दिखाई गई. फिल्म की कहानी सुजाता चैटर्जी की थी जो  बैंक में काम करने वाली साधारण महिला थी, उसका जीवन अपने परिवार और कर्तव्यों के इर्द-गिर्द घूमता है.

आम आदमी पार्टी की दिल्ली पुलिस से लड़ाई बिल्कुल दुरुस्त है, उसने सही मोर्चा खोला है

Mukesh Kumar : आम आदमी पार्टी की दिल्ली पुलिस से लड़ाई बिल्कुल दुरुस्त है। उसने सही मोर्चा खोला है। अगर आप को लेकर दुराग्रहों से ग्रस्त नहीं हैं तो पूरे घटनाक्रम की तह में जाकर उसे समझिए और तब प्रतिक्रिया कीजिए। इस व्यवस्था के तहत चलने वाले ढेर सारे धतकरम पुलिस की छत्रछाया में ही चलते हैं। वह अपने आप में माफिया बन चुकी है या फिर राजनीतिक माफिया का ही एक्संटेंशन है। इसलिए उससे लड़ना बेहद ज़रूरी है।

एक सीएम के कहने पर तीन पुलिसवालों को सस्पेंड नहीं किया जा सकता तो फिर सीएम बने रहने का क्या फायदा?

Samarendra Singh : फेसबुक पर लोगों के जो पोस्ट आ रहे हैं उन्हें पढ़ कर लग रहा है कि पेंच तरीके को लेकर फंसा है. जहां तक मुद्दे का सवाल है मोटा-मोटी सभी सहमत हैं कि पुलिस चोर है. पुलिस हफ्ता वसूली करती है.

अरविन्द केजरीवाल नाम का यह धूमकेतु भारत भाग्य-विधाता हो सकता है…

Uday Prakash : आज दिल्ली की सड़कों पर जो हो रहा है, उसे देख कर लगता है कि शायद १९४७ से पहले जिस तरह हिंदुस्तान की जनता सड़कों पर निकल आई थी, अब फिर से इतने सालों बाद, उसे इसकी ज़रूरत महसूस हो रही है. इस बार का गणतंत्र दिवस पहले जैसा नहीं होगा, इसकी पूरी संभावना है. एक पथराई हुई भ्रष्ट व्यवस्था थी, जिसकी बुनियाद और गुंबदें, एक नयी लोकतांत्रिक, अहिंसावादी, विनम्र, सत्याग्रही जन-आंदोलन के कारण हिल रही हैं. यह भी लगता है कि यह आंधी व्यापक हो जायेगी. मौसम बदलेगा !

‘आईबीएन7’ वाले आशुतोष और ‘जनवाणी’ वाले सलीम की सोच

Saleem Akhter Siddiqui : राजनीति में आने से पहले आशुतोष ने अपनी मनस्थिति के बारे में आज के 'हिंदुस्तान' अखबार में लिखा है, ‘नौकरी छोड़ंगा, तो घर कैसे चलेगा? घर और कार की ईएमआई कैसे दी जाएगी? क्या सिर्फ मनीषा की बेहद मामूली तनख्वाह से घर चल पाएगा? बैंक में जमा पैसों से कुछ ही महीने घर चल सकता है। मैं एक मध्यम वर्गीय परिवार से हूं। पिताजी रिटायर हो चुके हैं। बिना सोचे-समझे राजनीति में कूदना, नौकरी छोड़ना एक बहुत ही कठिन फैसला है। पत्नी से चर्चा की। पिताजी और सास-ससुर से बात की। एकाध दोस्तों से भी पूछा। पत्नी ने जब कहा कि घर चल जाएगा, तुम चिंता मत करो, तो मन हल्का हुआ।

सिस्टम को out of the box तरीके से सुधारने वाला केजरीवाल का आइडिया जनता को खूब भा रहा है

Nadim S. Akhter : जिस देश में मंत्री-विधायक-सांसद-बड़े अफसर की गाड़ी रोकने तक पर-चेकिंग करने पर पुलिस वाले चुटकियों में सस्पेंड कर दिए जाते हैं, लाइन हाजिर कर दिए जाते हैं, जिस धरा पर मंत्री-मुख्यमंत्री राज्य पुलिस के आला अफसरों से अपने कुत्ते नहलवाते हों और अपने लिए खैनी-तम्बाकू बनवाते हों, उसी देश की राजधानी दिल्ली के मुख्यमंत्री के लाख कहने के बावजूद तीन पुलिस वाले ना तो सस्पेंड किए जाते हैं और ना ही उनका ट्रांसफर किया जाता है.

हवस के पुजारियों से इन बच्चियों को कैसे बचाया जाए! (देखें वीडियो)

बेटियां कैसे बचेंगी जब हम आप उन्हें केवल मनोरंजन का साधन समझेंगे… देखें वीडियो… एक अदभुत आवाज की धनी लड़की की दास्तान… हवस के पुजारियों से इन बच्चियों को कैसे बचाया जाए, यह बड़ा सवाल है… क्लिक करें इस लिंक पर … https://www.youtube.com/watch?v=vTSRTgV2mU4

भड़ास4मीडिया शिखर पर, सफलता के कई रिकार्ड तोड़े

भड़ास4मीडिया डाट काम इन दिनों सफलता के नए पायदान पर है. एलेक्सा रैंकिंग से पता चलता है कि भड़ास बहुत तेजी से नई उंचाइयों को छू रहा है. हिंदी में मीडिया से जुड़े समाचारों पर आधारित कोई ऐसी वेबसाइट नहीं है जो भड़ास के आसपास भी हो. भड़ास ने बहुत पहले अंग्रेजी मीडिया वेबसाइटों को पछाड़ दिया था. अब तो इनसे फासला भी डबल हो गया है.

नवीन जिंदल के टीवी चैनल ने खोली हुड्डा की पोल

हरियाणा पर आधारित कई टीवी चैनल हैं। तृणमूल कांग्रेस के राज्यसभा सांसद केडी सिंह का चैनल 'तहलका एवन' है। पूर्व केन्द्रीय मंत्री व अम्बाला शहर के विधायक पंडित विनोद शर्मा के बेटे भी 'इंडिया न्यूज चैनल' और 'आज समाज' अखबार चला रहे हैं। गीतिका कांड में कथित आरोपों के चलते सजा भुगत रहे अपने तारा बाबा के परम भक्त और सिरसा के विधायक गोपाल कांडा का भी 'हरियाणा न्यूज चैनल' है।

टीवी100 में राहुल वर्मा साइडलाइन, ब्रजेश्वर साकी ने भी छोड़ा, उदय बने सीईओ

खबर ये है कि राहुल वर्मा को टीवी100 ने साइड लाइन कर दिया है। जिस चैनल में राहुल की सहमति बगैर कोई काम नहीं होता था, आज उसी चैनल में उनकी कोई नहीं सुन रहा। बताया जाता है कि TV100 ने राहुल वर्मा को चैनल हेड से हटा कर हरिद्वार का रिपोर्टर बनाया है। चैनल अपने किसी भी स्ट्रिंगर को पैसे नहीं दे रहा।

पत्रकारों को उनके मालिकों का डायरेक्शन आया है कि ‘आप’ को फोड़ डालो!

Sheetal P Singh : दिल्ली की आप सरकार मीडिया में अचानक आलोचनाओं के निशाने पर ऐसे ही नहीं आ गई है । कल नखलऊ में मुझे हिन्दी के सबसे बड़े अख़बार के इक बड़े कारकुन ने बताया" चार पाँच दिन पहले से मालिकों का डायरेक्शन आया हुआ है"फोड़ डालो "। हनीमून ख़त्म । ऐसा ही नितीश कुमार का हुआ था BJP से नाता तोड़ते ही "विनाश"के प्रतीक हो गये थे विकास पुरुष । इस पर एक विस्तारित अध्ययन की ज़रूरत है कि "मीडिया" दक्षिण पंथ" को कितना extra कवरेज देता है और left to Center की कितनी extra धुलाई करता है ? ये मुक़ाबला बराबरी का नहीं भन्ते ….

श्रीपाल शक्तावत, भोला पांडेय, संजय भूषण पटियाला और स्वप्निल के बारे में सूचनाएं

पी7न्यूज से इस्तीफा देकर श्रीपाल शक्तावत ने इंडिया न्यूज चैनल ज्वाइन कर लिया है. श्रीपाल कई वर्षों से पी7न्यूज के साथ थे. वे राजस्थान के ब्यूरो हेड थे. उन्होंने अपनी नई पारी के बारे में फेसबुक पर घोषणा की है.

पटना में ‘हिंदुस्तान’ ने ‘जागरण’ और ‘भास्कर’ को झूठा घोषित कर दिया!

पटना में इन दिनों मजेदार अखबारी युद्ध चल रहा है. दैनिक भास्कर के यहां से लांच होने और खुद को पहले ही दिन नंबर वन बता देने के बाद दूसरे अखबारों में खलबली मची हुई है. जवाब में दैनिक जागरण ने पहले पेज पर विज्ञापन छापकर खुद को असली नंबर वन कहा. ऐसे में भला हिंदुस्तान क्यों पीछे रहता. हिंदुस्तान अखबार ने पहले पन्ने पर एक खबर प्रकाशित कर दैनिक जागरण और दैनिक भास्कर को झूठा घोषित कर दिया है. हिंदुस्तान में प्रकाशित खबर की कटिंग नीचे है, पढ़ें…

क्या भास्कर, बिहार की नियुक्तियों में पैसा चला है? (सुनें टेप)

सेवा में , संपादक जी , भड़ास 4 मीडिया, नमस्कार… महोदय, पूर्वी चम्पारण जिले में दैनिक भास्कर के लिए रिपोर्टर एवं प्रभारी नियुक्त करने के लिए भारी पैमाने पर रुपयों की उगाही की गई है… मैं एक टेप आपको भेज रहा हूं जिसमें मेरी और धनन्जय मिश्रा उर्फ मुन्ना मिश्रा (वर्तमान में प्रभारी के रूप में दैनिक भास्कर, मुजफ्फरपुर में कार्यरत) में हुई बातचीत है… इस बातचीत में मेरे से धन की मांग की गई…

जागरण के संपादकीय प्रभारी ने कहा, कल से मत आना

दैनिक जागरण इलाहाबाद के संपादकीय प्रभारी ने एक रिपोर्टर को अकारण, बिना किसी पूर्व सूचना के पैदल कर दिया। 18 जनवरी को दिनभर फील्ड में भागदौड़ के बाद रेलवे बीट के रिपोर्टर सचिन शुक्ला शाम को दफ्तर पहुंचे। वह काम शुरू करने की तैयारी में थे, इसी बीच संपादकीय प्रभारी का फरमान आ पहुंचा। प्रभारी अवधेश गुप्ता का फरमान 'कल से दफ्तर आने की जरूरत नहीं है', सुनते ही सचिन शुक्ला के पैरों तले जमीन खिसक गई।

‘श्री न्यूज’ वालों की तरफ से ‘श्री वर्ल्ड’ मैग्जीन लांच

लखनऊ : श्री मीडिया प्राइवेट लिमिटेड ने मीडिया क्षेत्र में एक और उपलब्धि हासिल की है. श्री इंफ्राटेक के चेयरमैन मनोज द्विवेदी ने श्री ग्रुप की मासिक पत्रिका का लोकार्पण किया. पिछले दो साल से श्री टाइम्स हिंदी दैनिक, उर्दू अखबार नज़र, श्री न्यूज़ वेब न्यूज पोर्टल और श्री न्यूज़ चैनल के नियमित प्रसारण के बाद श्री इंफ्राटेक के चेयरमैन मनोज द्विवेदी ने श्री ग्रुप की मासिक पत्रिका 'श्री वर्ल्ड' का लोकार्पण लखनऊ में किया.

महिला पत्रकारों ने मेट्रो स्टेशन पर निर्वस्‍त्र महिला वाले विज्ञापन के खिलाफ प्रदर्शन किया

दिल्ली के राजीव चौक मेट्रो स्टेशन पर लगे एक विज्ञापन में एक महिला को निर्वस्त्र दिखाया गया है। इसके विरोध में महिला पत्रकारों के एक समूह ने रविवार को प्रदर्शन किया। एक महिला पत्रकार ने बताया कि विज्ञापन में एक महिला को अपने बदन पर सिर्फ एक फीतानुमा टेप चिपकाए दिखाया गया है।

जिया न्यूज से राजस्थान, बिहार और छत्तीसगढ के ब्यूरो हेड्स ने दिया इस्तीफा

जिया न्यूज का पतन जारी है. इस चैनल के ब्यूरो हेड्स ने चैनल की राजनीति, स्ट्रिंगरों को पैसे न दिए जाने और खेमेबाजी से तंग आकर इस्तीफा दे दिया है. इसमें से एक हैं छत्तीसगढ़ के अनुभवी संजय शेखर. दूसरे हैं आशीष पराशर जो राजस्थान के हेड हैं. तीसरे हैं बिहार के कुलदीप भारद्वाज.

अमर उजाला मेरठ से विनोद तिवारी का बनारस तबादला

अमर उजाला मेरठ के तेजतर्रार पत्रकार विनोद तिवारी का तबादला वाराणसी हो गया है. विनोद तिवारी मेरठ में बतौर क्राइम रिपोर्टर कार्यरत थे. विनोद तिवारी दो दशकों से पत्रकारिता में है. विनोद तिवारी ने पत्रकारिता की शुरुआत देवरिया में "आज" अखबार से की.

सोनिया राहुल पर कटाक्ष कर, मेनका ने भाजपा को खुश किया

दिल्ली के तालकटोरा स्टेडियम में अखिल भारतीय कांग्रेस समिति का सम्मेलन हुआ। इसमें खास एजेंडा राहुल गांधी की ‘पदोन्नति’ का रहा। देशभर से कांग्रेसी नेताओं का जमावड़ा था। पार्टी के अंदर चौतरफा दबाव बढ़ाया गया था कि पार्टी उपाध्यक्ष राहुल गांधी को औपचारिक रूप से प्रधानमंत्री पद का उम्मीदवार बनाया जाए। क्योंकि, पार्टी के कार्यकर्ता अब अपने नेता को स्पष्ट तौर पर बड़ी राष्ट्रीय भूमिका में देखना चाहते हैं। पार्टी के इस दबाव के बावजूद रणनीतिकार इस मुद्दे पर घाटे-नफे का हिसाब लगाने में जुटे रहे। इस सम्मेलन के बहाने पार्टी के अंदर राहुल के जयकारे की गूंज तेज हुई है। कांग्रेस के इस ‘महोत्सव’ के एक दिन पहले नेहरू-गांधी परिवार की सदस्य मेनका गांधी ने अपनी जुबान कुछ ज्यादा ही पैनी कर ली है। उन्होंने अपनी जेठानी सोनिया गांधी के साथ उनके बच्चों की भी जमकर खबर ले ली है।

बसपा के लोकसभा प्रत्याशी ने दी राष्ट्रीय सहारा के रिपोर्टर को जान से मारने की धमकी (देखें वीडियो)

इटावा लोकसभा क्षेत्र से बसपा के घोषित प्रत्याशी अजय पाल जाटव द्वारा औरैया के राष्ट्रीय सहारा के रिपोर्टर अंकित गुप्ता को जान से मारने की धमकी देने का मामले प्रकाश में आया है।

सैय्यद आक़िब, त्रिभुवन ‘रिपोर्टर 24×7’ से जुड़े, पी7 के किरण को देहरादून का प्रभार

इलाहबाद से सूचना है कि सैय्यद आक़िब रज़ा ने अपनी नयी शुरुआत हाल ही में लांच हुए न्यूज़ चैनल रिपोर्टर 24×7 के साथ की है। उन्हें इलहाबाद का ब्यूरो चीफ बनाया गया है, जबकि त्रिभुवन नाथ शर्मा को कैमरामैन बनाया गया है। सैय्यद इससे पहले  तकरीबन दो साल से श्री न्यूज़ के ब्यूरो चीफ पद पर इलाहबाद में काम कर रहे थे। तीन महीने पहले इन्होने श्री न्यूज़ से रिजाइन दे दिया था। जनसंदेश और दिल्ली में लाइव इंडिया चैनल में भी कई साल काम कर चुके है।

पत्रकार कलम की वेश्या और पत्रकारिता धंधा बन गई है

उत्तर प्रदेश में मीडिया और सत्तारूढ़ पार्टी के बीच दंगल चल रहा है। प्रदेश की समाजवादी पार्टी सरकार का कोई आचरण समाजवादी नहीं है। उसकी आलोचना स्वाभाविक है लेकिन पत्रकार भी दूध के धुले नहीं हैं जिसकी वजह से जनता दोनों की लड़ाई में तटस्थ है और तमाशे की तरह यह देख रही है कि इस युद्ध में आखिर जीत किस महाबली की होगी।

अमर उ़जाला बरेली के नीरज सिंह ने दैनिक भास्कर ज्वाइन किया

अमर उजाला, बरेली से खबर है कि यहां काम कर रहे नीरज सिंह ने दैनिक भास्कर का दामन थाम लिया है। अमर उजाला, बरेली के लिए नीरज क्राइम के साथ-साथ सेना की रिपोर्टिंग भी सम्हाल रहे थे। क्राइम और सेना पर मज़बूत पकड़ होने के कारण नीरज का जाना अमर उजाला के लिए एक बड़ा झटका माना जा रहा है।

सुचित्रा सेन का जाना……जिंदगी एक दिन यह भी मोड लाती है

कोलकाता के एक अस्पताल में सुचित्रा सेन की तबीयत बिगड़ने के संकेत मिलने लगे थे। डीएनए की ट्वीट ने अस्पताल से शीघ्र ही स्वस्थ वापस आने की बात कह कर एक उम्मीद बाकी रखी थी। लेकिन दीवानों की यह खुशी का ठिकाना पल भर में काफूर होने को था। आल इंडिया रेडियो का ट्वीट बुरी खबर लेकर आया कि अभिनेत्री अब भी ख़तरे से बाहर नहीं। वक्त के साथ उनकी हालत पल-पल बिगड़ रही थी। इधर हमारी धडकनें भी उनको लेकर असमंजस में होने लगी। चाहने वाले सुचित्रा के लिए दुआएं लेकर ट्वीट कर रहे थे। इस सबके बीच में नाउम्मीद कर देने वाली बातें भी चल रही थीं। एक समाचार चैनल का ट्वीट आया कि सुचित्रा जी के ठीक हो जाने की अब बहुत कम उम्मीद है। जी में आया कि खबरिया को तुरंत हटा दूं लेकिन खबर तो फिर भी अपने जगह कायम थी। हम फिर भी दीवानों की तरह रब को मनाने में लीन रहे, बुरी खबर को टालने की कोशिश में। जितेश पिल्लई को मन ही मन धन्यवाद देता रहा कि बंदे ने हमारी दुआओं का खूब साथ दिया। जितेश ने खुदा से बस इतना मांगा कि सुचित्रा ठीक जाएं। दीवाने दुआओं में होकर करवटें बदलते रहे, ना जाने कब आंखों में अंधेरा-उजाला लेकर नींद में हो लिए पता ही नहीं चला।

सोनिया संग छपने के लिए, हुड्डा ने पत्रकारों को खिलाए लाखों के ड्राई-फ्रूट्स

ये है हमारे देश की राजनीति और मीडिया का सच| शायद ही कोई मीडिया चैनल इसे दिखाये| मगर सबसे बड़ा सवाल ये है कि छोटे-छोटे मुद्दों पर छद्म विरोध प्रदर्शन करने वाला विपक्ष अब कहाँ घोड़े बेचकर सो रहा है? आपने ये तो सुना होगा की कई पार्टियों के मुख्यमंत्री जनता को लैपटॉप, टीवी वग़ैरहा …

एनडीटीवी ने मधु किश्वर को भेजा मानहानि का नोटिस

एनडीटीवी न्यूज़ चैनल ने सामाजिक कार्यकर्ता मधु किश्वर को लीगल नोटिस भेजा है। एनडीटीवी का आरोप है कि मधु किश्वर ने इन्कमटैक्स कमिश्नर एस. के. श्रीवास्तव द्वारा उसपे लगाये गए झूठे और आधारहीन आरोपों पर अपनी वेबसाइट 'manushi.in' पर एक आर्टिकल 'NDTV & Chidambaram Accused of Money Laundering Scam of Rs. 5500 cr.' प्रकाशित किया है जिससे एनडीटीवी की मानहानि हुई है। मधु किश्वर ने आर्टिकल को प्रकाशित करने से पहले एनडीटीवी का पक्ष नहीं लिया।

मोदी के उभार से देश में साम्प्रादायिक ध्रुवीकरण बढ़ाः इंटेलिजेंस ब्यूरो की रिपोर्ट

126 साल पुरानी इंटेलिजेंस ब्यूरो(आईबी) दुनिया की सबसे पुरानी इंटेलीजेंस एजेंसियों में एक है. हर साल आईबी पर सरकार 1100 करोड़ रूपए खर्च करती है. देश की अखंडता बनाए रखने में आईबी की सबसे बड़ी भूमिका रही है. देश की आंतरिक सुरक्षा और राजनीतिक गतिविधियों पर बारीक नज़र रखना ही इस एजेंसी का काम है.

तकनीकी रूप से गलत खबर लखनऊ के बड़े पत्रकार के अप्रेजल में!

जनाब लखनऊ के बड़े पत्रकार माने जाते हैं. खुद दूसरों का इंटरव्‍यू लेते हैं लेकिन अपना देने में हिलते हैं कि कहीं पोल खुल ना जाए. इनकी खासियत है कि अपने अखबार में सपा के खिलाफ छपने वाली खबरों को एडिट कर देते हैं. खुद सरकार के पक्ष में घुमा फिराकर खबरें लिखने में महारत रखते हैं. जब तब दिल की बात भी कहते रहते हैं. जनाब कुछ महीने पहले लांच हुए पचास रुपए वाले अखबार में सीनियर पोस्‍ट पर हैं. अखबार में दो नंबर के आदमी हैं. यानी संपादक के बाद इनका ही नंबर आता है. आजकल पत्रकार महोदय अप्रेजल भरकर प्रमोशन पाने की कोशिश में लगे हुए हैं.

हिंदुस्‍तान में आलोक, अजित एवं विजय की जिम्‍मेदारियां बदलीं, जागरण से दीपा का इस्‍तीफा

हिंदुस्‍तान, लखनऊ से खबर है कि लोकल इंचार्ज आलोक उपाध्‍याय को हटाकर ब्‍यूरो में भेज दिया गया है. अब वे ब्‍यूरो में मेडिकल बीट की जिम्‍मेदारी संभालेंगे. आलोक की जगह अजित कुमार को नया लोकल इंचार्ज बनाया गया है. विजय कुमार श्रीवास्‍तव को डिप्‍टी इंचार्ज बनाया है. ये दोनों लोग लंबे समय से हिंदुस्‍तान को अपनी सेवाएं दे रहे हैं. सूत्रों का कहना है कि प्रबंधन जल्‍द ही कुछ और बदलाव करेगा. यह कार्रवाई अखबार को चुस्‍त दुरुस्‍त करने के लिए की जा रही है.

आदर्श भास्‍कर टीवी तथा नीरज दैनिक भास्‍कर से जुड़े

हरदोई से खबर है कि आदर्श त्रिपाठी ने अपनी नई पारी भास्‍कर टीवी के साथ अपनी नई पारी शुरू की है. उन्‍हें चैनल में जिला संवाददाता बनाया गया है. सीएनईबी चैनल से अपने करियर की शुरुआत करने वाले आदर्श महुआ समेत कई अखबारों को भी अपनी सेवा दे चुके हैं. ये दिल्‍ली में एक चैनल से जुड़े रहे हैं. आदर्श की गिनती हरदोई के अच्‍छे पत्रकारों में होती है.

जागरण, बरेली से देवेंद्र देवा का तबादला हल्‍द्वानी

दैनिक जागरण, बरेली से खबर है कि सीनियर सब एडिटर देवेंद्र देवा का तबादला हल्‍द्वाली यूनिट के लिए कर दिया गया है. देवेंद्र इसके पहले बदायूं के ब्‍यूरो चीफ थे. कुछ समय पहले ही उनका तबादला बरेली के लिए हुआ था. बताया जा रहा है कि संपादकीय प्रभारी सदगुरु शरण अवस्‍थी अपनी निजी खुन्‍नस के लिए देवेंद्र देवा को परेशान करने के लिए लगातार तबादले कर रहे हैं.

पाकिस्तान में वरिष्ठ पत्रकार को पुलिस वालों ने गिरा गिरा कर पीटा

पाकिस्तान के पेशावर में स्थित खैबर पख्तूनख्वा विधानसभा परिसर के अंदर एक पुलिसकर्मी ने पाकिस्तान के एक वरिष्ठ पत्रकार को दौड़ा दौड़ा कर पीटा, जिससे वह बुरी तरह जख्मी हो गया। खैबर पत्रकार संघ के उपाध्यक्ष एवं वरिष्ठ पत्रकार मोहम्मद नईम को पुलिसकर्मी ने विधानसभा परिसर के भीतर कार खड़ी करने पर कड़े शब्दों का प्रयोग किया और बुरी तरह पिटाई की। पुलिसकर्मी कथित तौर पर नईम को गोली मारने जा रहा था, लेकिन एक अन्य पत्रकार ने मामले में हस्तक्षेप करते हुए पुलिसकर्मी से बंदूक छीन ली।

सोशल मीडिया कायरों और नफरत करने वालों को घटिया बातें कहने के लिए उकसाता है : महेश भट्ट

मुंबई। टि्वटर पर सक्रिय रहने वाले फिल्मकार महेश भट्ट का मानना है कि सोशल मीडिया डरपोक लोगों को ऑनलाइन रूप से अपनी भावनाएं व्यक्त करने के लिए प्रेरित करता है। महेश भट्ट के टि्वटर पर 6 लाख से अधिक प्रशंसक हैं।

दैनिक सवेरा के पत्रकार ने शारीरिक संबंध बनाने के लिए महिला मीडियाकर्मी को दी धमकी

जालंधर से खबर है कि एक शादीशुदा महिला ने ‘दैनिक सवेरा’ के पत्रकार लखबीर सिंह तथा उसके साथी सुरेन्द्र सिंह उर्फ छिंदा पर शारीरिक संबंध बनाने के लिए धमकी देने के आरोप लगाए हैं. थाना रामा मंडी की पुलिस ने इस संबंध में पत्रकार लखबीर सिंह तथा उसके साथी छिंदा पर आई.पी.सी. की धारा 294, 354-ए, 506, 509 तथा 67-ए के अंतर्गत मामला दर्ज कर लिया है.

पटना में भास्कर को तगड़ा झटका दिया हिंदुस्तान ने, आठ मीडियाकर्मियों को तोड़ा

पटना में शुरू हुए अखबारी युद्ध में एक अदभुत दृश्य तब घटित हुआ जब लांचिंग के ही दिन भास्कर से आठ लोगों ने इस्तीफा देकर हिंदुस्तान अखबार ज्वाइन कर लिया. हिंदुस्तान के स्थानीय संपादक तीर विजय सिंह को पहले दैनिक भास्कर वालों ने झटका दिया था और एक ही दिन में दस बारह लोगों को तोड़ लिया था. अब तीर विजय सिंह ने करारा बदला लेते हुए दैनिक भास्कर को ऐन लांचिंग के दिन ही मुंहतोड़ जवाब देकर सकते में डाल दिया है.

भास्कर पटना में लांच, नंबर वन हो जाने का दावा, कल्पेश याज्ञनिक को लांचिंग से दूर रखा गया

पटना में दैनिक भास्कर लांच हो गया. हमेशा की तरह दैनिक भास्कर ने इतनी ज्यादा प्रतियां लांचिंग से पहले बुक कर ली कि उसने लांच करते ही अखबार को पटना में नंबर वन घोषित कर दिया. कंटेंट के मामले में दैनिक भास्कर कोई धमाका नहीं कर सका.

ममता बनर्जी का मीडिया से ऐलान-ए-जंग

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी का मीडिया के साथ संबंधों में उतार-चढ़ाव अब एक नए विवाद में तब्दील हो गया है. उनकी सरकार ने हावड़ा में नए सचिवालय नबन्ना के विभिन्न विभागों में पत्रकारों के उन्मुक्त विचरण पर पाबंदी लगा दी है.

महिला पत्रकार को अश्लील एसएमएस भेजने में दरोगा अरेस्ट

गाजियाबाद में कार्यरत एक दरोगा को दिल्ली पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया. उसे एक महिला पत्रकार को अश्लील एसएमएस भेजने के आरोप में पकड़ा गया है. मनचले दरोगा को सबक सिखाने वाली महिला पत्रकार ने दिल्ली के न्यू अशोक नगर थाने में शिकायत की थी.

अटेन्डेन्स पूरी करने के लिए 15 हज़ार मांग रहा उ़ज्जैन का कॉलेज

महोदय, मैं आपका ध्यान शिक्षा प्रदान करने के नाम पर व्यापार कर रहे संस्थान की ओर दिलाना चाहता हूं। उज्जैन में महाराजा कॉलेज डी. एड., बी. एड., और एम. एड. कोर्स के लिए मान्यता प्राप्त है। यहाँ कोई भी शिक्षक नेट क्वालिफाइड नहीं है, और न ही एजुकेशन में पीएचडी है फिर भी इन्हें बी. एड. और एम. एड. की मान्यता मिल गयी। यहाँ डी. एड. पढ़ाने के लिए एम. एड. शिक्षक जरुर हैं लेकिन वे ही एम. एड. और बी. एड. के विद्यार्थियों को भी पढ़ाते हैं। कॉलेज प्रबंधन क्वालिफाइड फैकल्टी इसलिए नहीं रखता क्योंकि वह 5-7 हज़ार रूपये ही वेतन देता है तो क्यों क्वालिफाइड टीचर यहाँ आयेंगे। बी. एड. के लिए 29 हज़ार रूपये फीस लेने के बाद भी विद्यार्थियों से 15-15 हज़ार रूपये वसूले जा रहे हैं और कम उपस्थिति बताकर परीक्षा फॉर्म रोका जा रहा है। यही हाल एम. एड. का है जिसकी 60 हज़ार रूपये फीस लेने के बाद भी 15-15 हज़ार रूपये लेकर उपस्थिति पूरी करने के लिए दबाव बनाया जा रहा है।

सावधान रैली: अब पिछड़ों-मुसलमानों पर फोकस करेगी बसपा

उत्तर प्रदेश में खोया जनाधार वापस हासिल करने के लिये बहुजन समाज पार्टी(बसपा) सुप्रीमों मायावती समाजवादी पार्टी को निशाने पर रखेंगी। हालांकि लड़ाई दिल्ली की हो रही है, लेकिन बसपा यूपी के मुद्दों को ही हावा देंगी, जिस तरह से 2012 के विधान सभा चुनाव में समाजवादी पार्टी ने माया के भ्रष्टाचार और तानाशाही रवैये को हवा देकर बसपा को सत्ता से बेदखल किया था ठीक उसी तरह से बसपा लोकसभा चुनाव में प्रदेश की बिगड़ी कानून व्यवस्था, मुसलमानों की सरकार से नाराजगी, सपाईयों की गुंडागर्दी को हथियार बनायेगी ताकि केन्द्र की राजनीति में सपा का दखल कम हो सके। इस बात का अहसास बसपा की सुप्रीमों मायावती ने आम चुनाव के लिये खास अंदाज में चुनावी शंखनाद करके दे दिया है। लखनऊ में उन्होंने अपनी ताकत का इजहार किया तो दिल्ली तक में इसकी गूंज सुनाई दी।

आगरा में प्रेमी जोड़ों को एक हजार रुपये में दो घंटे के लिए मिलता है होटल का कमरा (देखें वीडियो)

कहने को तो ये लड़के-लड़कियां पढ़ने जाते हैं पर पहुंच जाते हैं एक होटल… आगरा के थाना सिकंदरा इलाके में स्थित होटल ग्रीन डीलक्स में पुलिस ने छापा मार कर छह प्रेमी जोड़ो को पकड़ा… पुलिस ने सभी प्रेमी जोड़ो को आगे ऐसा न करने की हिदायत दे कर छोड़ दिया…

पहले सेतिया, अब रावत : उत्तराखंड का दुर्भाग्य

सेवानिवृत्त नौकरशाह एस.एस. रावत ने छठे सूचना आयुक्त के तौर पर कल (17 जनवरी 2014 को) शपथ ली. एस.एस. रावत की सूचना आयुक्त के तौर पर नियुक्ति से कई सवाल खड़े होते हैं. एक तो यह कि जब सूचना आयोग में 6 आयुक्तों के लायक काम ही नहीं है तो यह नियुक्ति क्यूँ की गयी? जिस समय भाजपा राज में रमेश पोखरियाल ‘निशंक’ मुख्यमंत्री थे तो राजनाथ सिंह की सिफारिश पर वे अजय सेतिया को सूचना आयुक्त बनाना चाहते थे. मुख्य सूचना आयुक्त के यह बताये जाने के बाद कि पांचवें आयुक्त की जरूरत नहीं है, सेतिया सूचना आयुक्त ना बनाए जा सके.

भड़ास को दो-तीन पत्रकारों की जरूरत

भड़ास को दो-तीन पत्रकारों की जरूरत है… अगर पत्रकारिता का डिग्री-डिप्लोमा न हो तो भी चलेगा लेकिन फटाफट तेज गति में शुद्ध हिंदी लिखने (फोनेटिक या रेमिंगटन विधि से) न आता हो तो नहीं चलेगा…

जनसत्ता के संपादक ओम थानवी की मां का निधन

वरिष्ठ पत्रकार और जनसत्ता अखबार के संपादक ओम थानवी की मां किसन प्यारी जी का अस्सी साल की उम्र में निधन हो गया. वे फेफड़े के रोग से पीड़ित थीं. जोधपुर में उनका लंबे समय से इलाज चल रहा था. बाद में डाक्टरों ने जब जवाब दे दिया तो उन्हें पैतृक गांव पोखरण में स्थित फलौदी लाया गया.

आप जनहित में काम करेंगे तो आपका रास्ता सबसे पहले पुलिस ही रोकेगी

Himanshu Kumar : दिल्ली में मंत्री पुलिस से भिड़ गए हैं. ऐसा होना बिलकुल स्वभाविक है. अगर आप जनता के हित के लिए काम करेंगे तो आपका रास्ता सबसे पहले पुलिस ही रोकेगी. भारत की पुलिस शासन की रक्षा के लिए बनाई गयी है, जनता की रक्षा के लिए नहीं. इसे अंग्रेजों ने अपने राज की रक्षा के लिए बनाया था. आज भी भारत की पुलिस राज की और राज करने वालों की रक्षा करती है.

दैनिक भास्कर आज पटना से लांच, कुमार जितेंद्र ज्योति भी जुड़े

कुमार जितेंद्र ज्योति ने दैनिक भास्कर पटना ज्वाइन किया. पटना में दैनिक भास्कर की लांचिंग आज है. पटना के एसके मेमोरियल हाल में लांचिंग समारोह का आयोजन किया गया है.

सुनंदा के शरीर पर चोट के निशान, अस्वाभाविक मौत, शशि थरूर तो गया…..

Mukund Hari : सुनंदा पुष्कर की मौत शशि थरूर के लिए न सिर्फ बड़ी परेशानी बन सकती है बल्कि कई ऐसे सवाल भी खड़े कर रही है जिनका जवाब देना भारी पड़ेगा शशि थरूर को। सबसे पहली परेशानी तो सुनंदा की मौत के वक्त शशि थरूर की वहां मौजूदगी के बारे में है। थरूर की तरफ से जारी बयान के मुताबिक सुनंदा की खराब हालत देख, थरूर ने होटल के डॉक्टर को बुलाया, जबकि पुलिस का कहना है कि डॉक्टर को पुलिस ने बुलाया। सच कई परतों में छुपा हुआ है। धीरे-धीरे परत दर परत सामने आएगा। फिलहाल तो यही काफी है कि पोस्टमॉर्टम में डॉक्टरों को सुनंदा के जिस्म पर चोट के कई निशान मिले हैं और प्रथमदृष्टया ये मौत अचानक और अप्राकृतिक रूप से हुई बताया जा रहा है, जो एक बड़ा इशारा है।

दो चैनलों के ब्‍लैकआउट पर हाई कोर्ट ने मांगा यूपी सरकार से जवाब

इलाहाबाद हाईकोर्ट की लखनऊ बेंच ने राजधानी लखनऊ सहित प्रदेश के कुछ शहरों में दो न्यूज चैनल ब्लैकआउट कर दिए जाने के मामले में मुख्य सचिव से जवाब मांगा है। जस्टिस इम्तियाज मुर्तजा एवं जस्टिस देवेन्द्र उपाध्याया की बेंच ने एक जनहित याचिका पर यह आदेश दिया।

पत्रकार संगठन ने हिमाचल के दो चैनलों को दिया नोटिस, पत्रकारों को दें उनका पैसा

हिमाचल प्रदेश के पत्रकारों ने एक नई मुहीम की शुरुआत है। पत्रकारों के संगठन PRESS REPORTERS ASSOCIATION NORTH (India-Himachal Pradesh body regd. 077) ने चैनल और अखबारों के प्रबंधन द्वारा उत्पीड़ित पत्रकारों के हक में एक सराहनीय पहल की है। कई ऐसे चैनल और अख़बार ऐसे हैं जिन्होने आज तक पत्रकारों को मेहनताना नहीं दिया है| इस संगठन ने टीवी100 और ड़े एंड नाइट न्यूज चैनल को लीगल नोटिस दे कर पूछा है कि वे 31 जनवरी तक तथ्यों सहित बताएं कि उन्होनें अपने यहां काम करने वाले पत्रकारों को मेहनताना क्यूँ नही दिया है। अगर वे ऐसा नहीं करते हैं तो सरकार से उनके चैनल को प्रतिबंधित करने के लिए सिफारिश की जाएगी।

शशी थरूर की पत्नी सुनंदा पुष्कर की दिल्ली के होटल में मौत

केंद्रीय मानव संसाधन राज्य मंत्री शशी थरूर की पत्नी सुनंदा पुष्कर की दिल्ली के लीला होटल में संदिग्ध परिस्थितियों में मौत हो गई है। उनका शव लीला होटल के कमरा नं. 345 में बेड पर मिला। उन्होनें गुरुवार को होटल में चेक-इन किया था। मामला हाई प्रोफाइल है इस लिए पुलिस  कुछ भी कहने से बच रही है।  उनके सुसाइड करने का अंदेशा लगाया जा रहा है। लेकिन अभी यकीन से कुछ नहीं कहा जा सकता।

पीएम-इन-वेटिंग: मोदी और राहुल का गेम बिगाड़ रही टीम केजरीवाल

लोकसभा की चुनावी चुनौती के लिए राजनीतिक खेल-कांटे रफ्तार पकड़ने लगे हैं। भाजपा के ‘पीएम इन वेटिंग’ नरेंद्र मोदी कई महीनों से देशव्यापी दौरे कर रहे हैं। उन्होंने अपने पक्ष में माहौल बनाने के लिए राजनीतिक लामबंदी काफी तेज की है। देश के विभिन्न हिस्सों में उनकी रैलियों में भारी भीड़ जुट रही है। राजनीतिक ‘दबंग’ बनने के लिए मोदी ठेठ राजनीतिक शैली में कांग्रेस नेतृत्व पर जमकर निशाने साध रहे हैं। वे राजनीतिक हवा बनाने के लिए जुबानी जंग भी तेज कर चुके हैं। राजनीतिक प्रहार करने का वे कोई मौका नहीं चूकना चाहते। ऐसे में, वे कांग्रेस आलाकमान सोनिया गांधी से लेकर राहुल गांधी तक की खबर लेते नजर आते हैं। देश की जनता को कुछ इस तरह के सपने दिखाने में जुट गए हैं, मानो वे सत्ता में आ गए, तो राजनीतिक व्यवस्था में ‘क्रांतिकारी’ बदलाव आ जाएंगे।

पत्रकार शैलेंद्र बाजपेई के पुत्र के हत्यारों का सुराग़ नहीं, पुलिस पर साक्ष्य मिटाने का आरोप

शाहजहांपुर। बारह साल के बालक वैभव की मौत के पीछे आखिर ऐसा कौन सा रहस्य है जिसके कारण पुलिस लगातार परिस्थितिजन्य साक्ष्यों को नजरंदाज करती रही है? घटना के तथ्यों के साथ भी न सिर्फ छेड़छाड़ की गई है, बल्कि घटना के तमाम अभिलेखीय साक्ष्य भी नष्ट कर दिए गए। पुलिस की यह करतूत तब और भी प्रासंगिक हो जाती है जब फारेंसिक जांच में हत्या की पुष्टि हो चुकी है और तमाम अफसर मौखिक तौर पर इस बात को बेहिचक मानते हैं कि घटना प्रीप्लॉन्ड मर्डर थी।

वीरेन डंगवाल का सोमवार को अपोलो में होगा एक जटिल आपरेशन

कैंसर से लड़ रहे मशहूर कवि और पत्रकार वीरेन डंगवाल की मुश्किलें कम नहीं हो रही हैं. ताजी सूचना के मुताबिक उनके गले में कैंसर का एक ट्यूमर है जो शुरुआती अवस्था में है. यह ब्रेन की नस के पास है. इसे आपरेट करके निकाला जाना है. इसी मसले पर राय मशविरा के लिए वीरेन डंगवाल को लेकर उनके परिजन मुंबई गए थे और टाटा मेमोरियल के वरिष्ठ डाक्टरों से कनसल्ट किया. मुंबई के डाक्टरों ने आपरेशन कर इसे निकलवाने के दिल्ली के डाक्टरों की सलाह को ही सही बताया और आपरेशन करा डालने को कहा.

अमर दीप ने अमर उजाला को बोला बाय-बाय, उठाई झाड़ू,

अमर उजाला में वरिष्ठ उपसंपादक/सीनियर रिपोर्टर रहे अमर दीप तिवारी ने भी आम आदमी पार्टी का झाड़ू उठा लिया है। बताया जा रहा है कि वह दिल्ली सरकार में मंत्री मनीष सिसोदिया के साथ जुड़कर काम कर रहे हैं। आम आदमी पार्टी के साथ जुड़ने की पुष्टि उन्होंने अपने फेसबुक अकाउंट के जरिये की है। इस पर उन्होंने लिखा है कि अमर उजाला से रिजाइन देकर आम आदमी पार्टी के साथ जुड़ गया हूं। आप सबके मार्गदर्शन, सहयोग, आलोचना और दुआओं की जरूरत है।

दैनिक जागरण मेरठ की याद और बिहारियों-पूरबियों की बात….

Vikas Mishra : मेरठ और उसके आसपास पश्चिमी उत्तर प्रदेश में एक बिहार विरोधी लहर चलती है। वैसे लहर तो पूरब विरोधी है, लेकिन बिहार खास तौर पर निशाने पर रहता है। मैं पांच साल वहां रहा, बिहार और पूरब विरोध के तमाम रोचक, आश्चर्यजनक पहलुओं से दो चार होता रहा। दैनिक जागरण में एक सीनियर क्राइम रिपोर्टर हुआ करते थे। उन्होंने एक खबर लिखी थी, जिसमें मालिक के घर चोरी करने वाले नौकर का जिक्र था। रिपोर्टर ने लिखा था- वो नौकर शक्ल से ही बिहारी दिखाई देता था।

ऑफर था कि पहली किस्त अभी, बाकी के पचास हजार छपने के बाद

Vikas Mishra : लखनऊ में मुफिलिसी एक अलग तरह का मजा दे रही थी। संघर्ष भीतर से सफाई कर रहा था। एक मोटरसाइकिल थी, एक किराए का मकान था और दिमाग कुछ यूं चढ़ा था कि मीडिया में अगली क्रांति हमीं करेंगे। दिमाग चढ़ाने में सबसे ज्यादा भूमिका थी विचार मीमांसा के मालिक वीएसवाजपेयी की, उन्होंने हम लोगों को स्वयंभू तोप बना दिया था। यही वजह थी कि किसी बड़ी संस्था में नौकरी करने का ख्याल तक नहीं आता था। एक बार तो घनश्याम पंकज से मिलने गया। कुबेर टाइम्स के वो संपादक थे, हफ्ते भर में कुबेर टाइम्स जागरण के लिए चुनौती बन चुका था।

पत्रकार से मंत्री बने मनीष सिसौदिया ने दिल्ली के पत्रकारों को दिखाया आइना

ऐसा कम ही होता है कि कोई प्रदेश सरकार अपनी पुलिस से ही जंग लड़े. आमतौर पर प्रदेश सरकारें पुलिस के साथ मिलकर भ्रष्टाचार में डूब जाया करती हैं. पर दिल्ली में आम आदमी पार्टी की सरकार ने दिल्ली पुलिस को, जो कि गृह मंत्रालय यानि केंद्र सरकार के अधीन है, इतना टाइट कर दिया है कि पुलिस वालों को पसीने छूट रहे हैं. इस बात की तारीफ करने की जगह दिल्ली की मीडिया पुलिस के बचाव में नजर आने लगी है. आम आदमी पार्टी के मंत्री मनीष सिसौदिया, जो पहले पत्रकार रहे हैं, ने मीडिया वालों को इसी बात को लेकर चेताया कि वो दिल्ली पुलिस के प्रवक्ता न बन जाएं.

अमर उजाला, वाराणसी में प्रमोशन को लेकर विवाद

पारदर्शिता और निष्पक्ष पत्रकारिता के लिए विख्यात अमर उजाला के वाराणसी एडिशन में स्थानीय संपादक अजित वडनेरकर ने तीन लोगों का प्रमोशन किया। दो लोग वरिष्ठ उप संपादक बनाए गए और एक जूनियर को सब एडीटर बनाया गया। 2010 में उप संपादक के रूप में ज्वाइन करने वाले अनुपम निशांत को ढाई साल में ही फायदा मिल गया।

बिजनौर के वरिष्ठ पत्रकार राधेकृष्ण शर्मा बंधु का निधन

बिजनौर के वरिष्ठ पत्रकार राधेकृष्ण शर्मा बंधु (75 वर्ष) का सात जनवरी 2014 को देर शाम निधन हो गया. बिजनौर पत्रकारिता के स्तम्भ रहे श्री बंधु ने कण्व भूमि नामक साप्तहिक पत्र स्वयं निकालकर पत्रकारिता की शुरुआत की.

रेलवे के खिलाफ गलत खबर चलाने पर ‘आजतक’ को माफी मांगने के निर्देश

भारतीय रेल की वेबसाइट आईआरसीटीसी पर एलर्ट एंड अपडेट कैटगरी में जो पहली सूचना फ्लैश हो रही है, वो ये है- IRCTC won a case against Aaj Tak in regard to a TV story (NBSA Order No. 22-2014) dated 06-Jan-2014

मनीष शर्मा, प्रताप सिंह, किशोर रावत, किरणकांत, मनमोहन भट्ट, पंकज मिश्रा, संदीप सिंह के बारे में सूचनाएं

दैनिक भास्कर, राजस्थान से खबर है कि अजमेर एडिशन के प्रोडक्शन मैनेजर मनीष शर्मा अब इस मीडिया समूह से कार्यमुक्त हो चुके हैं. नागौर एडिशन के प्रोडक्शन मैनेजर प्रताप सिंह को भी हटा दिए जाने की सूचना है.

पुरुषोत्तम अग्रवाल होंगे वर्धा के हिंदी विश्वविद्यालय के नए कुलपति!

Sanjeev Chandan : क्या पुरुषोत्तम अग्रवाल 29 जनवरी को हिंदी विश्वविद्यालय के कुलपति पद पर आसीन हो जायेंगे…….! मेरे पास उपलब्ध मंत्रालय के नोटशीट से यह स्पष्ट है कि सम्भवतः २८ जनवरी के पहले हिंदी विश्वविद्यालय को नए कुलपति मिल जायेंगे। मंत्रालय ने सरनेम के वर्णक्रम से ५ नाम राष्ट्रपति भवन को भेज दिए हैं।

भोपाल के लापता पत्रकार ताजवर अचानक प्रकट हुए

भोपाल : मध्य प्रदेश व्यावसायिक परीक्षा मण्डल (व्यापम) की प्रतियोगी एवं मेडिकल प्रवेश परीक्षाओं में हुए घोटाले से संबंधित दस्तावेज होने का दावा करने वाले चार दिनों से लापता पत्रकार कुंवर मोहम्मद अली ताजवर खान कल अपने घर लौट आए।

कमर बने 400 टेस्ट कवर करने वाले तीसरे पत्रकार

शारजाह। पाकिस्तान के अनुभवी पत्रकार कमर अहमद यहां पाकिस्तान और श्रीलंका के बीच तीसरे मैच के साथ ही एक नायाब उपलब्धि हासिल करने में सफल रहे। वह गुरुवार को 400 टेस्ट कवर करने वाले दुनिया के तीसरे व्यक्ति बन गए। उन्होंने कहा, 'बतौर पत्रकार 400 टेस्ट पूरे करना फº की बात है। मुझे इस पर गर्व है।'

एनडीटीवी वालों ने प्रकाशित की इनकम टैक्स कमिश्नर संजय श्रीवास्तव के जेल जाने की खबर

Income Tax commissioner Sanjay Srivastava sentenced to jail for contempt by Delhi High Court

Edited by Prasad Sanyal | Updated: January 17, 2014 00:27 IST

New Delhi:  A Senior Income Tax Commissioner – Sanjay Srivastava – has made history as the first income tax commissioner to be sentenced to jail for contempt by the Delhi High Court. Mr Srivastava has been sentenced to 15 days in jail by a division bench of the court today.

बिना ड्राइवर की कार अप्रत्यक्ष रूप से भूतों की ही गवाही देकर टीआरपी बटोर रही थी

: भूत तो होते ही हैं, सिर्फ अहसास चाहिये! : भूत और भगवान यानी (अल्ला, खुदा, ईश्वर, वाहे गुरू, गॉड) में कोई बड़ा फासला नहीं है। आपके कर्मो के हिसाब से से एक ही परिस्थिति और एक ही आचरण आपके मन में भूत का डर भी पैदा कर सकता है और ईश्वर में आस्था भी जगा सकता है। मैं कई ऐसे लोगो से मिला हूं जो भूत प्रेत में भरोसा नहीं करते थे, इनमें कुछ अंग्रेज़ यानी ब्रिटिश भी हैं। लेकिन उनके जीवन में कुछ ऐसा हुआ कि वो भूत पर भरोसा करने लगे। आंकड़े गवाह हैं कि दुनिया में सबसे ज़्यादा भूत प्रेत पर फिल्में हॉलीवुड में बनी हैं।

प्रसिद्ध कवि और पटकथा लेखक मुमुक्षु मुद्गल का निधन

नोएडा निवासी ज्योतिषविद् एम.एल. मुद्गल के ज्येष्ठ पुत्र मुमुक्षु मुद्गल का निधन 9 जनवरी 2014 को दिल का दौरा पड़ने के कारण हो गया है। मुमुक्षु मुद्गल का निधन उनके निवास स्थान एवर शाइन कॉलोनी, मलाड, मुंबई में हुआ। 46 वर्षीय मुमुक्षु एक प्रसिद्ध फिल्म और टीवी धारावाहिक पटकथा लेखक थे। मुमुक्षु मुद्गल ने दर्जनों …

देवरिया में जन सन्देश अखबार का कार्यालय बन्द, कर्मचारी सड़क पर

गोरखपुर 14 जनवरी। जन संदेश समाचार पत्र का हर जगह बुरा हाल है। देवरिया में भी इसका व्यूरो पिछले एक सप्ताह से कार्यालय बन्द है। सिविल लाइन्स